क्या सड़क पर दौड़ना घुटनों के लिए बुरा है?...


play
user

Dr Raj Kumar Kochar

Ayurvedic Doctors ( Researcher )

0:26

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप यदि किसी भी कड़क जगह पर जो रिकॉर्डिंग भेजो आपका फ्लैक्सिबिलिटी कम हो जाएगा इसलिए वह घुटनों के लिए बुरा माना जाता है लेकिन बहुत जगह है जहां पर घास के मैदान नहीं है तो इंसान मजबूर है सड़क पर दौड़ने के लिए लेकिन जहां तक संभव हो आपको काश के अंदर ही तोड़ना चाहिए

aap yadi kisi bhi kadak jagah par jo recording bhejo aapka flaiksibiliti kam ho jayega isliye wah ghutno ke liye bura mana jata hai lekin bahut jagah hai jahan par ghas ke maidan nahi hai toh insaan majboor hai sadak par daudne ke liye lekin jahan tak sambhav ho aapko kash ke andar hi todana chahiye

आप यदि किसी भी कड़क जगह पर जो रिकॉर्डिंग भेजो आपका फ्लैक्सिबिलिटी कम हो जाएगा इसलिए वह घुट

Romanized Version
Likes  121  Dislikes    views  2345
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
2:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आर्मी क्वेश्चन किया क्या सड़क पर दौड़ा घुटनों के लिए बुरा है तो सर अगर आपको ऐसा लग रहा है कि सड़क पर दौड़ने से हमारे घुटनों में प्रॉब्लम हो सकती है आप जूस का इस्तेमाल करो क्योंकि अक्सर ऐसा होता है कि जब आप नंगे पैर रेगुलर दौड़ते हो तो आपके पैर में प्रॉब्लम आ सकती हैं आ जाती है जो आपके ना सोते हैं वह बाहर दिखाई देने लगते हैं अगर आप किसी की शक्ल की तैयारी कर रहे हो किसी की जान की तो आप उसका इस्तेमाल करके रेगुलर डाउन है इससे आपके पैर पर या घुटनों में कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा आप बेफिक्र होकर आप तैयारी कर सकते हो अगर आपको प्रॉब्लम से सड़क पर दौड़ने की आप किसी ग्राउंड में भी आप दौड़ सकते हो जो कच्चे फील्ड होते हैं इसी स्टेडियम में भी आप जाकर कि आप अपनी रेस को दौड़ना स्टार्ट कर सकते हैं और वहां पर भी आप अच्छी तरह से तैयारी कर सकते हो लेकिन फिर से अगर आप दो-तीन किलोमीटर से अधिक की रेस आप कर रहे हो तो आप सूट पहनकर ही दौड़े हर प्रकार से आपके शरीर के लिए फायदेमंद होगा और आपके लिए भी अगर आप अपने स्वास्थ्य के लिए ही डालना चाहते हैं तो आप नंगे पैर ही दौड़े सी ग्राउंड में या स्टेडियम में जो आपके शरीर के लिए फायदेमंद होगा

army question kiya kya sadak par dauda ghutno ke liye bura hai toh sir agar aapko aisa lag raha hai ki sadak par daudne se hamare ghutno mein problem ho sakti hai aap juice ka istemal karo kyonki aksar aisa hota hai ki jab aap nange pair regular daurte ho toh aapke pair mein problem aa sakti hain aa jaati hai jo aapke na sote hain vaah bahar dikhai dene lagte hain agar aap kisi ki shakl ki taiyari kar rahe ho kisi ki jaan ki toh aap uska istemal karke regular down hai isse aapke pair par ya ghutno mein koi prabhav nahi padega aap befikra hokar aap taiyari kar sakte ho agar aapko problem se sadak par daudne ki aap kisi ground mein bhi aap daudh sakte ho jo kacche field hote hain isi stadium mein bhi aap jaakar ki aap apni race ko daudana start kar sakte hain aur wahan par bhi aap achi tarah se taiyari kar sakte ho lekin phir se agar aap do teen kilometre se adhik ki race aap kar rahe ho toh aap suit pehankar hi daude har prakar se aapke sharir ke liye faydemand hoga aur aapke liye bhi agar aap apne swasthya ke liye hi daalna chahte hain toh aap nange pair hi daude si ground mein ya stadium mein jo aapke sharir ke liye faydemand hoga

आर्मी क्वेश्चन किया क्या सड़क पर दौड़ा घुटनों के लिए बुरा है तो सर अगर आपको ऐसा लग रहा है

Romanized Version
Likes  35  Dislikes    views  748
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां बिल्कुल सड़क पर दौड़ने से हमारे जो पांव के एक्यूप्रेशर रहते हैं वह झटका जब हम सड़क को पहले तो जमीन हमारी कड़क रहती है यह सीमेंट का रोड हो डामर रोड हो तो नीचे नहीं लगती और नीचे दबने से हमेशा अप्लाई करते हैं और प्रेशर की वजह से हमारे रिटर्न पर हमारे गांव के ऊपर अपने होता है तो इससे हमारे जो घुटने के बीच में जो लिक्विड भरा रहता है जो हमारे इस में ज्वाइन रहता है वह खराब होने के चक्कर है इसलिए सड़क पर दौड़ना घुटनों के लिए बुरा है और जोड़ना चाहते हो तो हमारा ग्राउंड मैदान जा जहां पर सड़क ना हो सीमेंट का रोड ना हो वहां पर आप जोड़ सकते हैं वहां पर पर को कोई खतरा नहीं हुआ पर मां की मौत होती है और नीचे भी है और हमारे पास ज्यादा नुकसान है उसका इसलिए

haan bilkul sadak par daudne se hamare jo paav ke accupressure rehte hain wah jhatka jab hum sadak ko pehle toh jameen hamari kadak rehti hai yeh cement ka road ho damar road ho toh neeche nahi lagti aur neeche dabane se hamesha apply karte hain aur pressure ki wajah se hamare return par hamare gaon ke upar apne hota hai toh isse hamare jo ghutne ke beech mein jo liquid bhara rehta hai jo hamare is mein join rehta hai wah kharaab hone ke chakkar hai isliye sadak par daudana ghutno ke liye bura hai aur jodna chahte ho toh hamara ground maidan ja jahan par sadak na ho cement ka road na ho wahan par aap jod sakte hain wahan par par ko koi khatra nahi hua par maa ki maut hoti hai aur neeche bhi hai aur hamare paas zyada nuksan hai uska isliye

हां बिल्कुल सड़क पर दौड़ने से हमारे जो पांव के एक्यूप्रेशर रहते हैं वह झटका जब हम सड़क को

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  63
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!