कौन सी ऐसी परिस्तिथियाँ होंगी जब एक महिला वाक़ई में आज़ाद महसूस करेंगी?...


user

Kavita Panyam

Certified Award Winning Counseling Psychologist

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आजादी जो है एक छोटा शब्द है लेकिन उसके बहुत सारे मीनिंग हम ले सकते हैं आजादी जब दिमाग से होती है तब सोच अलग हो सकती है पर एग्जांपल जब एक लड़की पैदा होती है अपने घर में उसी घर में एक बेटा पैदा होता है तो कई माता पिता जितना फ्रीडम उस बेटे को देते हैं बेटी को नहीं देते घर में काम करवाते हैं बेटियों से और बेटों से इतना काम नहीं कर पाते क्योंकि मैं लगता है कि बेटा उनका ख्याल रखेगा और बेटी पराई है लेकिन आज के जमाने में बेटी की अपने बूढ़े माता-पिता का ख्याल रख रही है और बेटा नहीं तो डेफिनेटली बेटी होना एक बहुत ही पुण्य का काम है अगर उसकी परवरिश अगर आप सही करें माता-पिता होकर तो डेफिनेटली हमारे समाज में जो कुछ भी हो रहा है उसमें काफी बदलाव एक बेटी ही ला सकती है डेफिनेटली और फ्रीडम से मैं यह भी कहना चाहूंगी कि यह इक्वालिटीज के लिए जो लड़ रहे हैं वह गलत है क्योंकि जब तक बायोलॉजी के लिए एक औरत ही मां बन सकती है तब तक एक आदमी और औरत एक पल नहीं हो सकते जिस दिन ए का अभी भी बच्चा क्यारी कर पाएगा बायोलॉजिकली उसी दिन एक विलेन के पिक भगवान ऐसा बनाया है कि ओनली अब वन कैन गेट प्रेगनेंट और जब तक यह सच्चाई हमारे सामने हैं मैन वूमेन कैन वे दोनों समान नहीं हो सकते तो सूरज संपल बायोलॉजिकल सिंह अगर ऐसा देखा जाए तो फ्रीडम इज एक औरत आराम से घूम सके बिना किसी टेंशन के बिना किसी डर के जो चाहे वह कर सकेंगे सेंड सेट प्रोफेशनली पर्सनली अपने टेक्निशियंस खुद ले सके और अपने आप को पर डांस कर सके अपने आप को पहला रख सके अपने लाइफ में और अपने लिए जी सके खुद खुश रहे तभी दूसरों को एक औरत खुशी दे सकती है तो अपने लिए जीना जब और सीख ले तो डेफिनिटी वह असली फ्रीडम होगा

dekhiye azadi jo hai ek chota shabd hai lekin uske bahut saare meaning hum le sakte hain azadi jab dimag se hoti hai tab soch alag ho sakti hai par example jab ek ladki paida hoti hai apne ghar mein usi ghar mein ek beta paida hota hai toh kai mata pita jitna freedom us bete ko dete hain beti ko nahi dete ghar mein kaam karwaate hain betiyon se aur beto se itna kaam nahi kar paate kyonki main lagta hai ki beta unka khayal rakhega aur beti parai hai lekin aaj ke jamane mein beti ki apne budhe mata pita ka khayal rakh rahi hai aur beta nahi toh definetli beti hona ek bahut hi punya ka kaam hai agar uski parvarish agar aap sahi kare mata pita hokar toh definetli hamare samaj mein jo kuch bhi ho raha hai usme kaafi badlav ek beti hi la sakti hai definetli aur freedom se main yah bhi kehna chahungi ki yah ikwalitij ke liye jo lad rahe hain vaah galat hai kyonki jab tak biology ke liye ek aurat hi maa ban sakti hai tab tak ek aadmi aur aurat ek pal nahi ho sakte jis din a ka abhi bhi baccha kyari kar payega bayolajikli usi din ek villain ke pic bhagwan aisa banaya hai ki only ab van can gate pregnant aur jab tak yah sacchai hamare saamne hain man women can ve dono saman nahi ho sakte toh suraj sampal biological Singh agar aisa dekha jaaye toh freedom is ek aurat aaram se ghum sake bina kisi tension ke bina kisi dar ke jo chahen vaah kar sakenge send set professionally personally apne teknishiyans khud le sake aur apne aap ko par dance kar sake apne aap ko pehla rakh sake apne life mein aur apne liye ji sake khud khush rahe tabhi dusro ko ek aurat khushi de sakti hai toh apne liye jeena jab aur seekh le toh definiti vaah asli freedom hoga

देखिए आजादी जो है एक छोटा शब्द है लेकिन उसके बहुत सारे मीनिंग हम ले सकते हैं आजादी जब दिम

Romanized Version
Likes  62  Dislikes    views  1069
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr. Priya Shatanjib Jha

Psychologist|Counselor|Dentist

1:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्ते दोस्तों मेरी यानी डॉक्टर प्रिया झा के तरफ से आप सब को दिन की बहुत सारी शुभकामनाएं और जो मैं बोलने वाली हूं कि बहुत ही इंपॉर्टेंट है बहुत बहुत बहुत इंपॉर्टेंट है और मेरी यह अनुमति है आप सब लोगों से लड़कों से स्पेशल प्लीज प्लीज अगर मेरे आप अगर मेरी आवाज सुन रहे हो तो मेरी आपसे विनती है बहुत अच्छे से कि आपके इर्द-गिर्द जो भी औरतें हैं जो भी बचा है बड़ी औरतें हैं बुरी हैं सबको प्लीज आप रिस्पेक्ट दें प्लीज ट्राय टू अंडरस्टैंड अच्छे कपड़े या छोटे कपड़े पहन लेने से कोई अटेंशन अगर मांग रही है तो वह भी एक चलो ठीक है एड्रेस ओके ओके की याद रिंग अटेंशन पर इसका मतलब यह नहीं है कि आप उनको चिप कमेंट कह सकते हैं यहां कि आप उनको गंदे नजर से देख सकते हैं आप उनके बॉडी पार्ट्स को भूल सकते हो और गंदी गंदी उनके तरफ से सारे करो या बातें करो उनके पीठ पिछे हंसो यह सारी चीजें बहुत गंदी है मेरी आपसे सिर्फ एक का गुजारिश है आप इमेजिन करो आपकी मम्मी रोड पर चले रिया की मम्मी को बाकी मर्द से देख रहे हैं आपको कैसा लगेगा हां आपके जो हाथ में जो पूरे चमड़ी हैड्रोसिल आज आपको एहसास होगा कि आपका चमड़ी निकल गया है तो प्लीज जो भी लोग हैं आप के आजू-बाजू लड़कियां हैं मैं भी एक औरत हूं मैं लड़की हूं जो भी व्हाट ए ब्रिटिश बट आई अंडरस्टैंड मे मुझे पता था मुझे यह चीज मालूम है कि वे स्पोर्ट्स ली तो मैं काफी छुड़ा दूंगा यह सब चीजें मैं तो मैं मैं कुछ भी कर सकती हूं दूसरों को बचाने के लिए खुद को बचाने के लिए लेकिन इस अंजाना साइक्लोजिस्ट आल्सो आल्सो मैंने काफी ऑफ जोक किया है बचपन से यह सारी चीजें बहुत गलत लगता है मैं मेरी बात आप मान गया ऐसा कोई भी ऐसी कोई लड़की नहीं है जिसको अच्छा लगेगा कि उसको कोई सेक्शुअली तंग करें और उस मतलब आप समझ रहे हो मैं क्या कह रही हूं सो प्लीज ट्राय टू रिस्पेक्ट एफबी वूमेन वर्सेस बेरिंग कुछ भी पहनी है उससे हमको फर्क नहीं पड़ना चाहिए प्लीज रिस्पेक्ट ईमेल प्लीज ओके थैंक यू

namaste doston meri yani doctor priya jha ke taraf se aap sab ko din ki bahut saree subhkamnaayain aur jo main bolne wali hoon ki bahut hi important hai bahut bahut bahut important hai aur meri yah anumati hai aap sab logo se ladko se special please please agar mere aap agar meri awaaz sun rahe ho toh meri aapse vinati hai bahut acche se ki aapke ird gird jo bhi auraten hain jo bhi bacha hai badi auraten hain buri hain sabko please aap respect de please try to understand acche kapde ya chote kapde pahan lene se koi attention agar maang rahi hai toh vaah bhi ek chalo theek hai address ok ok ki yaad ring attention par iska matlab yah nahi hai ki aap unko chip comment keh sakte hain yahan ki aap unko gande nazar se dekh sakte hain aap unke body parts ko bhool sakte ho aur gandi gandi unke taraf se saare karo ya batein karo unke peeth pichhe hanso yah saree cheezen bahut gandi hai meri aapse sirf ek ka gujarish hai aap imejin karo aapki mummy road par chale riya ki mummy ko baki mard se dekh rahe hain aapko kaisa lagega haan aapke jo hath mein jo poore chamadi hydrocele aaj aapko ehsaas hoga ki aapka chamadi nikal gaya hai toh please jo bhi log hain aap ke aju baju ladkiyan hain main bhi ek aurat hoon main ladki hoon jo bhi what a british but I understand mein mujhe pata tha mujhe yah cheez maloom hai ki ve sports li toh main kaafi chuda dunga yah sab cheezen main toh main main kuch bhi kar sakti hoon dusro ko bachane ke liye khud ko bachane ke liye lekin is anjaana psychologist aalso aalso maine kaafi of joke kiya hai bachpan se yah saree cheezen bahut galat lagta hai meri baat aap maan gaya aisa koi bhi aisi koi ladki nahi hai jisko accha lagega ki usko koi sekshuali tang kare aur us matlab aap samajh rahe ho main kya keh rahi hoon so please try to respect FB women versus bearing kuch bhi pahani hai usse hamko fark nahi padhna chahiye please respect email please ok thank you

नमस्ते दोस्तों मेरी यानी डॉक्टर प्रिया झा के तरफ से आप सब को दिन की बहुत सारी शुभकामनाएं औ

Romanized Version
Likes  83  Dislikes    views  1418
WhatsApp_icon
user

Mehnaz Amjad

Certified Life Coach

1:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है कौन सी ऐसी परिस्थिति होगी जब एक महिला वाकई में आजाद महसूस करें सच माने तो ऐसी कोई परिस्थिति शायद कभी होगी ही नहीं क्योंकि एक आइडियल स्टेट है या ने एक ऐसी इच्छा जो शायद बहुत पर्फेक्ट स्टेट हो जहां पर एक औरत या एक महिला अपने आप को आजाद महसूस करें इस बात की आजादी के वह क्या सोचे कैसे जिए क्या पहने कैसे रहे इसके लिए समाज का बहुत हाईएस्ट लेवल पर समाज को ऑपरेट करना पड़ेगा जिसमें बचपन से ही एक लड़की को इस बात की आजादी दी जाएगी कि वह लड़की है और वह हर चीज कर सकती है फिर उसकी पूरी जीवन मतलब बचपन से लेकर बुढ़ापे तक उसके हर क्षेत्र में हर रिश्ते में उसे आजादी दी जाएगी एक महेश सोच अच्छी है इसकी तरफ हम काम कर सकते हैं आइडियल स्टेट है मतलब यह रियल रियलिटी से काफी दूर है तो हम इसको एक्सटेंडेड रखी इस तक पहुंचने की कोशिश कर सकते हैं पर रियालिटी में ऐसा पूरी तरह हो पाना नामुमकिन है धन्यवाद

aapka sawaal hai kaun si aisi paristithi hogi jab ek mahila vaakai mein azad mehsus kare sach maane toh aisi koi paristithi shayad kabhi hogi hi nahi kyonki ek ideal state hai ya ne ek aisi iccha jo shayad bahut perfect state ho jaha par ek aurat ya ek mahila apne aap ko azad mehsus kare is baat ki azadi ke vaah kya soche kaise jiye kya pehne kaise rahe iske liye samaj ka bahut highest level par samaj ko operate karna padega jisme bachpan se hi ek ladki ko is baat ki azadi di jayegi ki vaah ladki hai aur vaah har cheez kar sakti hai phir uski puri jeevan matlab bachpan se lekar budhape tak uske har kshetra mein har rishte mein use azadi di jayegi ek mahesh soch achi hai iski taraf hum kaam kar sakte hai ideal state hai matlab yah real reality se kaafi dur hai toh hum isko extended rakhi is tak pahuchne ki koshish kar sakte hai par reality mein aisa puri tarah ho paana namumkin hai dhanyavad

आपका सवाल है कौन सी ऐसी परिस्थिति होगी जब एक महिला वाकई में आजाद महसूस करें सच माने तो ऐसी

Romanized Version
Likes  116  Dislikes    views  4334
WhatsApp_icon
user

Vikas Singh

Political Analyst

1:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जिस दिन हमारे देश में पुरुष और महिला के बीच का भेदभाव खत्म हो जाएगा उस दिन महिलाएं अपने आप को स्वतंत्र महसूस करेंगे हमारे देश में अभी भी पुरुषों की संख्या अधिक है महिलाओं की संख्या थोड़ी कम है लेकिन प्रधानमंत्री मोदी जी ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान चालू किया था उसके माध्यम से हमारे देश में बेटियों के प्रति लोगों की भावना में सुधार हुआ है अच्छी भावना आई है लोगों के बीच लोगों के मन में देश सुधारने देश देश को सुधारने में थोड़ा टाइम लगेगा देखिए अगर हमारे देश को या पूरी दुनिया में किसी भी देश को आगे बढ़ाने में पुरुषों का योगदान होता है तो उससे कहीं अधिक अधिकार महिलाओं का होता है पुरुष टैलेंटेड होते हैं तो महिलाएं मल्टी टैलेंटेड होती हैं महिलाएं कई काम एक साथ कर लेती हैं बच्चे को खिलाती रहती हैं बच्चे को पढ़ाती रहती हैं पोछा झाड़ू भी करती रहती खाना भी बनाती रहती है और टीवी भी देखती रहती हैं सारा काम एक साथ करती रहती हैं लेकिन अगर कोई पुरुष है वह अगर कोई काम कर रहा है तो एक ही काम कर सकता है तो महिलाएं मल्टी टैलेंटेड होती हैं और महिलाओं के ऊपर काफी ध्यान देना होगा महिला सशक्तिकरण के ऊपर काफी ध्यान देना होगा तभी हमारे देश में विकास होगा तभी हमारा देश आगे बढ़ेगा आइए हम सभी लोग मिलजुलकर अपना महत्वपूर्ण बोर्ड भारतीय जनता पार्टी को करें ताकि महिला सशक्तिकरण के ऊपर ध्यान दिया जा सके हमारे देश में महिलाएं महिलाएं हमारे देश को आगे बढ़ा सकें और हमारा देश भी आगे बढ़ सके तरक्की कर सके धन्यवाद

jis din hamare desh mein purush aur mahila ke beech ka bhedbhav khatam ho jaega us din mahilaye apne aap ko swatantra mehsus karenge hamare desh mein abhi bhi purushon ki sankhya adhik hai mahilaon ki sankhya thodi kam hai lekin pradhanmantri modi ji ne beti bachao beti padhao abhiyan chaalu kiya tha uske madhyam se hamare desh mein betiyon ke prati logo ki bhavna mein sudhaar hua hai achi bhavna I hai logo ke beech logo ke man mein desh sudhaarne desh desh ko sudhaarne mein thoda time lagega dekhiye agar hamare desh ko ya puri duniya mein kisi bhi desh ko aage badhane mein purushon ka yogdan hota hai toh usse kahin adhik adhikaar mahilaon ka hota hai purush talented hote hain toh mahilaye multi talented hoti hain mahilaye kai kaam ek saath kar leti hain bacche ko khilati rehti hain bacche ko padhati rehti hain pocha jhadu bhi karti rehti khana bhi banati rehti hai aur TV bhi dekhti rehti hain saara kaam ek saath karti rehti hain lekin agar koi purush hai vaah agar koi kaam kar raha hai toh ek hi kaam kar sakta hai toh mahilaye multi talented hoti hain aur mahilaon ke upar kaafi dhyan dena hoga mahila shshaktikaran ke upar kaafi dhyan dena hoga tabhi hamare desh mein vikas hoga tabhi hamara desh aage badhega aaiye hum sabhi log miljulakar apna mahatvapurna board bharatiya janta party ko kare taki mahila shshaktikaran ke upar dhyan diya ja sake hamare desh mein mahilaye mahilaen hamare desh ko aage badha sake aur hamara desh bhi aage badh sake tarakki kar sake dhanyavad

जिस दिन हमारे देश में पुरुष और महिला के बीच का भेदभाव खत्म हो जाएगा उस दिन महिलाएं अपने आप

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  396
WhatsApp_icon
user

Jyotti Kapoor Mendha

I'm just a call or message away.. Call me before putting your thoughts into action🙏🏼 NLP Life Career Coach/ Multiple Intelligence and Personality Analyst

1:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महिलाएं सही मायने में आजादी तब महसूस करेंगे जब उनकी इज्जत होगी जब उन्हें अपना भविष्य के बारे में सोचने की

mahilaen sahi maayne mein azadi tab mehsus karenge jab unki izzat hogi jab unhein apna bhavishya ke bare mein sochne ki

महिलाएं सही मायने में आजादी तब महसूस करेंगे जब उनकी इज्जत होगी जब उन्हें अपना भविष्य के बा

Romanized Version
Likes  122  Dislikes    views  1288
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!