क्या वर्तमान समाज में दहेज प्रथा अभी भी महिलाओं के लिए एक बड़ी समस्या है?...


user

S Bajpay

Yoga Expert | Beautician & Gharelu Nuskhe Expert

1:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी भी महिलाओं के लिए बहुत बड़ी समस्या है जहां गरीब कम पढ़ी-लिखी लड़की है तो उसकी शादी होना बहुत मुश्किल हो जाता है क्योंकि हर लड़की के मां-बाप चाहते हैं या भाई-बहन चाहते हैं कि लड़की की शादी अच्छे घर में हो कम से कम हमसे ज्यादा तो संपन्न होगी तो दिखता है जहां-जहां जाता वहां पर केवल यही क्या व्यवस्था कर सकते आपने कितना ऊंचा है क्या करेंगे अब यह बताइए अगर कोई इंसान ₹100000 खर्चा कर सकता है मुश्किल से तो वह 1000000 रुपए कहां से लाएगा इस चक्कर में ढूंढ ढूंढ के परेशान हो जाता है और लड़की के लिए अच्छा खबर नहीं मिलता है मैंने पढ़ी लिखी है काफी काफी उम्र हो जाती है लड़कियों की और उनकी शादी नहीं हो पाती और मेरे मुझे तो लगता है इसका सभी कारण चाहिए लोगवा सोचते कि मेरा बेटा इतना अच्छा तुम्हारा इतना पैसा है मेरे पास मेरा भी उतना ही मान सम्मान होना चाहिए लेकिन आप कुछ लोग ऐसे भी हैं जो कर लेते सोच बदली है इसीलिए लड़के लड़कियां अनु जाति में शादी कर लेते हैं और महिलाओं की समस्या दूर हो

abhi bhi mahilaon ke liye bahut badi samasya hai jaha garib kam padhi likhi ladki hai toh uski shaadi hona bahut mushkil ho jata hai kyonki har ladki ke maa baap chahte hain ya bhai behen chahte hain ki ladki ki shaadi acche ghar me ho kam se kam humse zyada toh sampann hogi toh dikhta hai jaha jaha jata wahan par keval yahi kya vyavastha kar sakte aapne kitna uncha hai kya karenge ab yah bataiye agar koi insaan Rs kharcha kar sakta hai mushkil se toh vaah 1000000 rupaye kaha se layega is chakkar me dhundh dhundh ke pareshan ho jata hai aur ladki ke liye accha khabar nahi milta hai maine padhi likhi hai kaafi kaafi umar ho jaati hai ladkiyon ki aur unki shaadi nahi ho pati aur mere mujhe toh lagta hai iska sabhi karan chahiye logva sochte ki mera beta itna accha tumhara itna paisa hai mere paas mera bhi utana hi maan sammaan hona chahiye lekin aap kuch log aise bhi hain jo kar lete soch badli hai isliye ladke ladkiya anu jati me shaadi kar lete hain aur mahilaon ki samasya dur ho

अभी भी महिलाओं के लिए बहुत बड़ी समस्या है जहां गरीब कम पढ़ी-लिखी लड़की है तो उसकी शादी होन

Romanized Version
Likes  323  Dislikes    views  2483
WhatsApp_icon
8 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

vivek sharma

BANK PO| Astrologer | Mutual Fund Advisor। Career Counselor

1:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या वर्तमान समाज में दहेज प्रथा अभी भी महिलाओं के लिए एक बड़ी समस्या है इस समय महिलाएं अपने हिसाब से बर्तन सकती हैं पति चुन सकती हैं और उनकी मर्जी के बिना कोई भी उनकी शादी नहीं कर सकता तो आज के समय में बड़ी समस्या नहीं है क्योंकि महिलाएं अपने पैरों पर खड़ी हो रही हैं आगे बढ़ रही हैं बड़े-बड़े अचीवमेंट प्राप्त कर रही हैं ऐसा कोई डिपार्टमेंट नहीं जिनमें की उच्च पदों पर महिलाएं ना हो तो उल्टा जो जो मेल है पुरुष है उनको ही परेशानी आ रही है शादी करने में लेकिन ऐसा भी देखा गया है कि जब लड़कियां पंडित जाती हैं उनके मां-बाप के पास पैसा होता है तो वह खुद आगे बढ़कर पैसा खर्च करते हैं शादी के अंदर जो कि स्वीकार योग्य नहीं है और उन लोगों की इसकी वजह से और लोग भी यह एक्सपेक्ट करते हैं कि हमारे लड़के के लिए भी कोई लड़की की शादी हो तो इसी तरह का करें अभी इस समय में मैंने देखा कि कई ऐसे लोग हैं कि वह करोड़ों रुपए अपने बच्चे की शादी में खर्च करते हैं और तू यह संदेश समाज के अंदर जाता है तो दहेज प्रथा खत्म होने के बाद में भी जो अपने आप से खर्च करने वाले लोग हैं अपनी लड़की की शादी में उनकी बजे समाज के अंदर गलत मैसेज जाता है लड़की वाले ऐसे लड़की वालों को चाहिए कि वह समझदारी से काम ले कर इस तरह की प्रथा को बढ़ावा ना दें

kya vartaman samaj me dahej pratha abhi bhi mahilaon ke liye ek badi samasya hai is samay mahilaye apne hisab se bartan sakti hain pati chun sakti hain aur unki marji ke bina koi bhi unki shaadi nahi kar sakta toh aaj ke samay me badi samasya nahi hai kyonki mahilaye apne pairon par khadi ho rahi hain aage badh rahi hain bade bade achievement prapt kar rahi hain aisa koi department nahi jinmein ki ucch padon par mahilaye na ho toh ulta jo jo male hai purush hai unko hi pareshani aa rahi hai shaadi karne me lekin aisa bhi dekha gaya hai ki jab ladkiya pandit jaati hain unke maa baap ke paas paisa hota hai toh vaah khud aage badhkar paisa kharch karte hain shaadi ke andar jo ki sweekar yogya nahi hai aur un logo ki iski wajah se aur log bhi yah expect karte hain ki hamare ladke ke liye bhi koi ladki ki shaadi ho toh isi tarah ka kare abhi is samay me maine dekha ki kai aise log hain ki vaah karodo rupaye apne bacche ki shaadi me kharch karte hain aur tu yah sandesh samaj ke andar jata hai toh dahej pratha khatam hone ke baad me bhi jo apne aap se kharch karne waale log hain apni ladki ki shaadi me unki baje samaj ke andar galat massage jata hai ladki waale aise ladki walon ko chahiye ki vaah samajhdari se kaam le kar is tarah ki pratha ko badhawa na de

क्या वर्तमान समाज में दहेज प्रथा अभी भी महिलाओं के लिए एक बड़ी समस्या है इस समय महिलाएं अप

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  284
WhatsApp_icon
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

0:60
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है क्या वर्तमान समाज में दहेज प्रथा अभी भी महिलाओं के लिए एक बड़ी समस्या है जी हां यह दहेज प्रथा अभी भी महिलाओं के लिए बड़ी समस्या है जिस लड़की के माता-पिता होते हैं उनके लिए भी बड़ी समस्या है जब तक दहेज प्रथा बंद नहीं होगी लड़की आत्महत्या करती रहेगी माता-पिता भी आत्महत्या करते जिनके पास धन दौलत शोहरत है वह तो दहेज प्रथा प्रथा अपनी पूरी करेगी लेकिन जिनके पास धन दौलत शोहरत नहीं है उतनी वह दहेज प्रथा कैसे पूरी करें तो समझ में यह दहेज प्रथा बंद होनी चाहिए अभी छोटे-छोटे गांव में यह प्रथा चलती है कभी-कभी बड़े सिटी में भी यह प्रथा चलती है इसको बंद करना चाहिए थोड़ा और स्ट्रीट ज्यादा करना चाहिए तो लोग सुनते ही यह दहेज प्रथा बंद कर दें तो इस देश का उद्धार होगा और बाकी दूसरी कंट्री का भी उद्धार होगा आपका दिन शुभ हो धन्यवाद

aapka prashna hai kya vartaman samaj mein dahej pratha abhi bhi mahilaon ke liye ek badi samasya hai ji haan yah dahej pratha abhi bhi mahilaon ke liye badi samasya hai jis ladki ke mata pita hote hain unke liye bhi badi samasya hai jab tak dahej pratha band nahi hogi ladki atmahatya karti rahegi mata pita bhi atmahatya karte jinke paas dhan daulat shoharat hai vaah toh dahej pratha pratha apni puri karegi lekin jinke paas dhan daulat shoharat nahi hai utani vaah dahej pratha kaise puri kare toh samajh mein yah dahej pratha band honi chahiye abhi chhote chhote gaon mein yah pratha chalti hai kabhi kabhi bade city mein bhi yah pratha chalti hai isko band karna chahiye thoda aur street zyada karna chahiye toh log sunte hi yah dahej pratha band kar de toh is desh ka uddhar hoga aur baki dusri country ka bhi uddhar hoga aapka din shubha ho dhanyavad

आपका प्रश्न है क्या वर्तमान समाज में दहेज प्रथा अभी भी महिलाओं के लिए एक बड़ी समस्या है जी

Romanized Version
Likes  369  Dislikes    views  6495
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

1:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या वर्तमान समाज में दहेज प्रथा भीगी महिलाओं के लिए बड़ी समस्या है जी हां कुछ महीनों में अभी भी महिलाओं के लिए दहेज प्रथा एक बड़ी समस्या है क्योंकि अक्सर देखा गया है कि जो परिवार दहेज की डिमांड करते हैं फिर कानूनी है लेकिन महिलाओं के लिए अभिभावकों को हो चुका पाना है ले कर पाना अगर संभव नहीं होता है तो कर्ज लेकर उधार लेकर किसी तरह अपनी बेटी का विवाह करते हैं लेकिन यह समस्या तो है ही है और गंभीर समस्याएं दूर देहात गांव में बहुत मिस पता है अभी भी गाना प्रथा भी है दहेज प्रथा भी है और इसे शिक्षा जब तक हमारे शिक्षा जब तक लेटेस्ट इलेक्शन नहीं बढ़ेगा तब तक यह समस्या जरूर रहने वाली है और लड़कियों को बोझ समझा जाता है लेकिन शहरों में इसका प्रमाण आपको मौका है क्योंकि शहरों में शिक्षा का पता है अच्छी तरह से हुआ है और शहर की लड़कियां अपने हक के प्रति भी जागरूक होती है इसलिए पता अभी भी एक बड़ी समस्या बनी हुई है धन्यवाद

kya vartaman samaj mein dahej pratha bheegi mahilaon ke liye badi samasya hai ji haan kuch mahinon mein abhi bhi mahilaon ke liye dahej pratha ek badi samasya hai kyonki aksar dekha gaya hai ki jo parivar dahej ki demand karte hain phir kanooni hai lekin mahilaon ke liye abhibhavakon ko ho chuka paana hai le kar paana agar sambhav nahi hota hai toh karj lekar udhaar lekar kisi tarah apni beti ka vivah karte hain lekin yah samasya toh hai hi hai aur gambhir samasyaen dur dehaant gaon mein bahut miss pata hai abhi bhi gaana pratha bhi hai dahej pratha bhi hai aur ise shiksha jab tak hamare shiksha jab tak latest election nahi badhega tab tak yah samasya zaroor rehne wali hai aur ladkiyon ko bojh samjha jata hai lekin shaharon mein iska pramaan aapko mauka hai kyonki shaharon mein shiksha ka pata hai achi tarah se hua hai aur shehar ki ladkiyan apne haq ke prati bhi jagruk hoti hai isliye pata abhi bhi ek badi samasya bani hui hai dhanyavad

क्या वर्तमान समाज में दहेज प्रथा भीगी महिलाओं के लिए बड़ी समस्या है जी हां कुछ महीनों में

Romanized Version
Likes  64  Dislikes    views  1270
WhatsApp_icon
user

Ruchi Garg

Counsellor and Psychologist(Gold MEDALIST)

0:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी बिल्कुल ऐसा अभी भी है कि वर्तमान समाज में दहेज प्रथा अभी भी चल रही है और यह महिलाओं के लिए बहुत ही बड़ी प्रॉब्लम क्रिएट करती है समझने वाली बात यह है कि सारी जो परेशानी है वह यहां सोचती है और ऐसा नहीं है कि महिलाएं दुखी होती है उनके परिवारजनों को भी उतना ही कष्ट उठाना पड़ता है यहां पर जो सबसे ज्यादा सोचने की बात है वह यह है कि जो पुरानी सोच सुरतिया रही है उसमें बदलाव करने की जरूरत है तब ही समाज में बदलाव आएगा

ji bilkul aisa abhi bhi hai ki vartaman samaj mein dahej pratha abhi bhi chal rahi hai aur yah mahilaon ke liye bahut hi badi problem create karti hai samjhne wali baat yah hai ki saree jo pareshani hai vaah yahan sochti hai aur aisa nahi hai ki mahilaye dukhi hoti hai unke parivarajanon ko bhi utana hi kasht uthana padta hai yahan par jo sabse zyada sochne ki baat hai vaah yah hai ki jo purani soch surtiya rahi hai usme badlav karne ki zarurat hai tab hi samaj mein badlav aayega

जी बिल्कुल ऐसा अभी भी है कि वर्तमान समाज में दहेज प्रथा अभी भी चल रही है और यह महिलाओं के

Romanized Version
Likes  83  Dislikes    views  1343
WhatsApp_icon
user

Dr. Priya Shatanjib Jha

Psychologist|Counselor|Dentist

1:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्ते दोस्तों मेरी रानी डॉक्टर प्रिया झा की तरफ से आप सब को दिन की बहुत सारी शुभकामनाएं दी हम सब जानते हैं आप भी जानते हो मैं भी जानती हूं कि दहेज जो है कि अभी भी जो प्रथा है यह चलती आ रही है लेकिन जो जो लड़के हैं जो पुरुष हैं जो इस चीज को समझ के ना करते हैं और जो इसके ऊपर उठते हैं भले ही उनके घर वाले दहेज चाहते हो लेकिन वह जो लड़का है वह सोचता है कि नहीं यह गलत बात है जो इंपॉर्टेंट मेरी वाइफ का मेरी लाइफ में होगा और जो कॉन्ट्रिब्यूशन उनका घर के तरफ होगा अपनी लाइफ को चलाने में भी होगा और मेरी तरफ भी होगा जो लड़का है यह तीनों चीज को समझ सकता है कि जो वाइफ है वह घर को बनाती हैं शिव समंद हुआ श्रीमान टेंट हाउस इस नोट है कि नहीं मैं सही बोल रही हूं और वह खुद पर भी ध्यान देती हैं वह भी ध्यान देती है टिकट बुकिंग पर्सन आल्सो और अगर काम नहीं कर रही हूं तो फिर भी बहुत बड़ा कॉन्ट्रिब्यूशन होता है घर को चलाना या आप जान सकते हो आप जब तक आप अनमैरिड लड़के हो आपको मालूम है कि खुद का मतलब जो अगर आप हॉस्टल में हो तो हॉस्टल में ही है जो जितना छोटा सा रूम है उसको ठीक रखना आपके सर पर आता होगा हैं आप महीने में एक बार रूम साफ करते होंगे मैं समझ सकती हूं और हां जो लड़के हैं जो इनको साफ सफाई का बहुत शौक है वह हफ्ते में एक बार कर लेते होंगे लेकिन घर को हमेशा रखना अच्छे से किचन को संभालना चीजें मंगाना रखना पकाना इतने सारे चुका नहीं रही है चलो भाई भी है लेकिन जस्ट कीप द हाउस सेल मतलब उस में शांति बनाए रखना ही बहुत बड़ी चीज है तो महिलाओं का काम बहुत बड़ा होता है और जो इंसान जो लड़का के जानता है जो दहेज को बिल्कुल न करता है जो लात मारता है बहुत बड़ी बात है बहुत ही बड़ी बात है यह करनी चाहिए तो फिर भी दहेज तो चले आ रही हैं लेकिन यह गलत बात है थैंक यू

namaste doston meri rani doctor priya jha ki taraf se aap sab ko din ki bahut saree subhkamnaayain di hum sab jante hain aap bhi jante ho main bhi jaanti hoon ki dahej jo hai ki abhi bhi jo pratha hai yah chalti aa rahi hai lekin jo jo ladke hain jo purush hain jo is cheez ko samajh ke na karte hain aur jo iske upar uthte hain bhale hi unke ghar waale dahej chahte ho lekin vaah jo ladka hai vaah sochta hai ki nahi yah galat baat hai jo important meri wife ka meri life mein hoga aur jo contribution unka ghar ke taraf hoga apni life ko chalane mein bhi hoga aur meri taraf bhi hoga jo ladka hai yah tatvo cheez ko samajh sakta hai ki jo wife hai vaah ghar ko banati hain shiv samand hua shriman tent house is note hai ki nahi main sahi bol rahi hoon aur vaah khud par bhi dhyan deti hain vaah bhi dhyan deti hai ticket booking person aalso aur agar kaam nahi kar rahi hoon toh phir bhi bahut bada contribution hota hai ghar ko chalana ya aap jaan sakte ho aap jab tak aap unmarried ladke ho aapko maloom hai ki khud ka matlab jo agar aap hostel mein ho toh hostel mein hi hai jo jitna chota sa room hai usko theek rakhna aapke sir par aata hoga hain aap mahine mein ek baar room saaf karte honge main samajh sakti hoon aur haan jo ladke hain jo inko saaf safaai ka bahut shauk hai vaah hafte mein ek baar kar lete honge lekin ghar ko hamesha rakhna acche se kitchen ko sambhaalna cheezen maangna rakhna pakana itne saare chuka nahi rahi hai chalo bhai bhi hai lekin just keep the house cell matlab us mein shanti banaye rakhna hi bahut badi cheez hai toh mahilaon ka kaam bahut bada hota hai aur jo insaan jo ladka ke jaanta hai jo dahej ko bilkul na karta hai jo laat maarta hai bahut badi baat hai bahut hi badi baat hai yah karni chahiye toh phir bhi dahej toh chale aa rahi hain lekin yah galat baat hai thank you

नमस्ते दोस्तों मेरी रानी डॉक्टर प्रिया झा की तरफ से आप सब को दिन की बहुत सारी शुभकामनाएं द

Romanized Version
Likes  84  Dislikes    views  1325
WhatsApp_icon
user

RAJNISH SINGH

Teacher/Singer/Business.. What'sAp .7491907565

0:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या वर्तमान में समाज में दहेज प्रथा और उनकी महिलाओं के लिए बड़ी समस्या है जी बहुत बड़ी समस्या इसीलिए तो लोग क्या करते हैं कि बेचारी बच्चे को घर में मार देते हैं ठीक है जो गलत है इसका मेन कारण देखा जाए तो दहेज प्रथा ही हुआ ठीक है यह सब लड़कों वालों को समझना चाहिए कि मां की लड़कियां भी जन्म दे दिया और लड़की भी जान लेते फिर हम लोग करते हैं मुझे समझ नहीं आता है क्या कीजिएगा प्लीज कुछ समझ ही नहीं है उसको क्या मालूम है ठीक है

kya vartaman me samaj me dahej pratha aur unki mahilaon ke liye badi samasya hai ji bahut badi samasya isliye toh log kya karte hain ki bechari bacche ko ghar me maar dete hain theek hai jo galat hai iska main karan dekha jaaye toh dahej pratha hi hua theek hai yah sab ladko walon ko samajhna chahiye ki maa ki ladkiya bhi janam de diya aur ladki bhi jaan lete phir hum log karte hain mujhe samajh nahi aata hai kya kijiega please kuch samajh hi nahi hai usko kya maloom hai theek hai

क्या वर्तमान में समाज में दहेज प्रथा और उनकी महिलाओं के लिए बड़ी समस्या है जी बहुत बड़ी सम

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  271
WhatsApp_icon
user

मनोज राम

सामाजिक कार्यकर्ता

1:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां वर्तमान समाज में दहेज प्रथा अभी भी महिलाओं के लिए एक और बड़ी समस्या बनी हुई है क्योंकि दहेज के नाम पर जिस तरह महिलाओं पर अत्याचार हो रहे हैं इसकी संख्या बढ़ती जा रही है आजकल के समाचार पत्रों में इसी तरह के समाचार भरे पड़े रहते हैं भाई चिंता की बात यह है कि महिलाएं ही इस प्रथा को ज्यादातर कायम रखने का सही है क्योंकि हुए ही अपने बच्चों के लिए दहेज की मांग कर रहे हैं उनके लिए बच्चों के आदर्श कुछ भी नहीं है उन्हें तो सिर्फ दहेज चाहिए शिव दहेज फिर बाद में यही महिलाएं अपनी बेटी की शादी में रोना-धोना करती है और अपनी बेटी के ससुराल में दुखी देखकर यह भी दुखी हो जाती है यह समझते हैं कि यह जो पड़ता है एक नहीं पड़ता है तू शर्मनाक है इसे बंद होना चाहिए हम इस तरह अपनी बेटी की खुशी चाहते हैं उसी तरह हम जब बहू को घर मिला है उससे भी एक बेटी का सम्मान दे रही सही मायने में दहेज प्रथा का विरोध होगा और दहेज प्रथा खत्म होगी धन्यवाद जय हिंद

haan vartaman samaj me dahej pratha abhi bhi mahilaon ke liye ek aur badi samasya bani hui hai kyonki dahej ke naam par jis tarah mahilaon par atyachar ho rahe hain iski sankhya badhti ja rahi hai aajkal ke samachar patron me isi tarah ke samachar bhare pade rehte hain bhai chinta ki baat yah hai ki mahilaye hi is pratha ko jyadatar kayam rakhne ka sahi hai kyonki hue hi apne baccho ke liye dahej ki maang kar rahe hain unke liye baccho ke adarsh kuch bhi nahi hai unhe toh sirf dahej chahiye shiv dahej phir baad me yahi mahilaye apni beti ki shaadi me rona dhona karti hai aur apni beti ke sasural me dukhi dekhkar yah bhi dukhi ho jaati hai yah samajhte hain ki yah jo padta hai ek nahi padta hai tu sharmnaak hai ise band hona chahiye hum is tarah apni beti ki khushi chahte hain usi tarah hum jab bahu ko ghar mila hai usse bhi ek beti ka sammaan de rahi sahi maayne me dahej pratha ka virodh hoga aur dahej pratha khatam hogi dhanyavad jai hind

हां वर्तमान समाज में दहेज प्रथा अभी भी महिलाओं के लिए एक और बड़ी समस्या बनी हुई है क्योंकि

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  78
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!