गस्त बिल को राष्ट्रपति ने कब मंजूरी दी यानी कौन सी तारीख को मंजूरी की?...


user

Roshan Prasad Jaiswal

Junior Volunteer

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीएसटी का पूरा नाम है गुड्स एंड सर्विस टैक्स यह एक अप्रत्यक्ष कर है जो कि इनडायरेक्ट टैक्स भी कर सकता है जिसके तहत वस्तुओं और सेवाओं पर पूरे देश में एक समान टैक्स लगाया जाता है तो जीएसटी लागू होने से पहले वस्तुओं और सेवाओं पर केंद्र और राज्य द्वारा अलग-अलग प्रकार के कई टैक्स लगाए जाते हैं इंटेक्स में प्रमुख थे सेंट्रल एक्साइज ड्यूटी सर्विस ट्रेडिशनल कस्टम ड्यूटी सीबीडी स्पेशल एडीशनल ड्यूटी ऑफ कस्टम एबीएसएल टैक्स आदि को जीएसटी लागू होने के बाद से यह सभी टैक्स खत्म हो गए और इनकी जगह पूरे देश में सिर्फ एक टेक्स आ गई जिसका नाम है जीएसटी लगने लगा यानी एक एक कर एक बाजार

gst ka pura naam hai goods and service tax yah ek apratyaksh kar hai jo ki indirect tax bhi kar sakta hai jiske tahat vastuon aur sewaon par poore desh mein ek saman tax lagaya jata hai toh gst laagu hone se pehle vastuon aur sewaon par kendra aur rajya dwara alag alag prakar ke kai tax lagaye jaate hai intex mein pramukh the central excise duty service traditional custom duty CBD special additional duty of custom ABSL tax aadi ko gst laagu hone ke BA ad se yah sabhi tax khatam ho gaye aur inki jagah poore desh mein sirf ek tax aa gayi jiska naam hai gst lagne laga yani ek ek kar ek BA zaar

जीएसटी का पूरा नाम है गुड्स एंड सर्विस टैक्स यह एक अप्रत्यक्ष कर है जो कि इनडायरेक्ट टैक्स

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  392
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Gulnaz

लेवल 1 (बिगिनर)

0:17

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीएसटी बिल को राष्ट्रपति ने 30 अप्रैल 2017 को मंजूरी दी और यह जो है सारे दे इंडिया के सारे देश में जीएसटी लागू किया गया वह फर्स्ट जुलाई 2017 से लागू हुआ था

gst bill ko rashtrapati ne 30 april 2017 ko manjuri di aur yah jo hai saare de india ke saare desh mein gst laagu kiya gaya vaah first july 2017 se laagu hua tha

जीएसटी बिल को राष्ट्रपति ने 30 अप्रैल 2017 को मंजूरी दी और यह जो है सारे दे इंडिया के सारे

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  176
WhatsApp_icon
user

Anukrati

Journalism Graduate

0:41
Play

Likes    Dislikes    views  29
WhatsApp_icon
user

Geet Awadhiya

Aspiring Software Developer

0:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

केंद्रीय जीएसटी कानून भारत के प्रधानमंत्री ने 2017 जुलाई में लागू किया

kendriya gst kanoon bharat ke pradhanmantri ne 2017 july mein laagu kiya

केंद्रीय जीएसटी कानून भारत के प्रधानमंत्री ने 2017 जुलाई में लागू किया

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  401
WhatsApp_icon
user
0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

केंद्रीय जीएसटी कानून को भारत के राष्ट्रपति ने 1 जुलाई 2017 को लागू किया था और यह जो कानून है इसका मतलब है गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स जो कि हम प्रोडक्ट यूज करते हैं जैसे कि कुछ भी जैसे कि मुझे प्रोडक्ट भी हो तो सिमरिया सभी उस करते हैं गुंजन सर्दी से जो बीमारी भारत की है उस पर टैक्स लगाया जाता है

kendriya gst kanoon ko bharat ke rashtrapati ne 1 july 2017 ko laagu kiya tha aur yah jo kanoon hai iska matlab hai goods and services tax jo ki hum product use karte hai jaise ki kuch bhi jaise ki mujhe product bhi ho toh simaria sabhi us karte hai gunjan sardi se jo bimari bharat ki hai us par tax lagaya jata hai

केंद्रीय जीएसटी कानून को भारत के राष्ट्रपति ने 1 जुलाई 2017 को लागू किया था और यह जो कानून

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  308
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
केंद्रीय जीएसटी कानून को भारत के राष्ट्रपति ने कब सहमति प्रदान की ; केंद्रीय gst कानून को भारत के राष्ट्रपति ने कब सहमति प्रदान की है ; केंद्रीय जीएसटी कानून को भारत के राष्ट्रपति ने कब सहमति प्रदान की है ; जीएसटी कानून को भारत के राष्ट्रपति ने कब सहमति प्रदान की ; gst kanoon ko bharat ke rashtrapati ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!