आयुर्वेदिक चिकित्सा के बारे में डॉक्टर क्या सोचते हैं?...


user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमें लगता है कि जितने भी आयुर्वेदिक डॉक्टर हैं उनके घर आए लिया जाए तो उनके मन में जरूर बात पोस्ट आयुर्वेदिक दवा बहुत अच्छा काम करता है जो उन्होंने पढ़ाई की वहां बेहतर शिक्षा नहीं मिल पाया उनकी पोटली ज्ञान नहीं मिल पाया यही कारण है कि वह मजबूरी बस इलाज नहीं कर पा रहे हैं और इनकी तरफ भाग रहे हैं लेकिन उन्हें भी इस बात को चलता है कि अगर सही में अगर जानकारी के लिए आयुर्वेदिक दवा यही इलाज हम लोग करें और रूप में देखते हैं कि कोई और ऐसे ही कोई मेडिसिन है केवल प्रचार ओएमआर करके चले गए इस कंडीशन में भी बहुत काम कर जाता है अगर वही पूरी जानकारी वापिस कब का देश है इसका रस रत्नाकर इलाज कराओ आयुर्वेदिक डॉक्टर किस बात पर जरूरत है और जानकारी हो तो तुषार कर पाते लेकिन जानकारी के अभाव के कारण कोई एलोपैथिक दूसरी रास्ता

hamein lagta hai ki jitne bhi ayurvedic doctor hain unke ghar aaye liya jaaye toh unke man mein zaroor baat post ayurvedic dawa bahut accha kaam karta hai jo unhone padhai ki wahan behtar shiksha nahi mil paya unki potli gyaan nahi mil paya yahi karan hai ki vaah majburi bus ilaj nahi kar paa rahe hain aur inki taraf bhag rahe hain lekin unhe bhi is baat ko chalta hai ki agar sahi mein agar jaankari ke liye ayurvedic dawa yahi ilaj hum log kare aur roop mein dekhte hain ki koi aur aise hi koi medicine hai keval prachar OMR karke chale gaye is condition mein bhi bahut kaam kar jata hai agar wahi puri jaankari vaapas kab ka desh hai iska ras ratnakar ilaj karao ayurvedic doctor kis baat par zarurat hai aur jaankari ho toh tushaar kar paate lekin jaankari ke abhaav ke karan koi allopathic dusri rasta

हमें लगता है कि जितने भी आयुर्वेदिक डॉक्टर हैं उनके घर आए लिया जाए तो उनके मन में जरूर बात

Romanized Version
Likes  41  Dislikes    views  450
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Dr Amit Mishra

Ayurveda Dr /Yoga Consultant

0:35

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उनका भी कोई चेंज हो रहा है जहां पर हम अपने लाइफ के बारे में जरा विचार करते हैं और खान पान के बारे में जाना विचार करते हैं कि हम बीमार नहीं होना चाहिए लोगों का जो जुकाम है याद गति कितना बड़ा है

unka bhi koi change ho raha hai jaha par hum apne life ke bare mein zara vichar karte hain aur khan pan ke bare mein jana vichar karte hain ki hum bimar nahi hona chahiye logo ka jo zukam hai yaad gati kitna bada hai

उनका भी कोई चेंज हो रहा है जहां पर हम अपने लाइफ के बारे में जरा विचार करते हैं और खान पान

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  514
WhatsApp_icon
user

Dr. Mitramahesh

Ayurvedic Doctors

9:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आयुर्वेद और एलोपैथिक की चिकित्सा केंद्र कोई चिकित्सक डॉक्टर लोग कुछ नहीं सोचते हैं आयुर्वेद में हमने जो मारा अनुसंधान से बताया है कि आज के युग में मात्र एक सामी रामदेव जी ने आयुर्वेद का अध्यन किया स्वामी रामदेव जी एक योग्य के और आयुर्वेद के महा विद्वान है महान दिलानी है और स्वामी दयानंद सरस्वती ने जो वेदों की पर पर पठन-पाठन की जो एजुकेशन डीजे सिस्टम बताइए सत्यार्थ प्रकाश में उसके अनुसार पढ़कर के आर्य समाज के हरियाणा के गुरुकुल से वह निकले हुए व्यक्ति हैं और उनके चरित्र में कोई दोस्त नहीं है आज है जो हिंदुत्व के अर्थात जिसको हम लोग पौराणिक बोलते हैं पानी के बड़े-बड़े महात्मा लोगों ने अपने चरित्र में हानि बता कर के कोई जेलों में चले गए कोई भाग गए कोई यूरोप गया कोई अमेरिका गया पर कुछ बन गया ऐसा होता है लेकिन आर्य समाज का जो चरित्र है वह एक आंतरिक रहे ऋषि मुनियों का चरित के स्वामी रामदेव जी ने जो किया और एक बहुत बड़ी मात्रा में अरबपति उन्होंने खड़ी की है और उन्होंने उसके अनुसार कम मात्र में उसे देख करके पूरी मेडिकल सिस्टम चला करके उसका लाभ दिया है लेकिन परंतु जो एलोपैथिक डॉक्टर है पिछले 222 साल से वह लुगाई अपने एलोपैथिक मेडिकल साइंस को ही सर्वोपरि स्थान और मेडिकल साइंस को ही मात्र विज्ञान मेडिकल विज्ञान बोलते हो और दूसरी जो साइन से उसमें आई फर्स्ट आता है तो उनको असिस्टेंट सिस्टम बोला है मेडिकल असिस्टेंट मतलब रुपए भेजना है और उसके बारे में उनका बहुत ही गंदा अभिप्राय है वह आयुष को मात्र कुछ बकवास मानते हैं और इन लोगों को कोई नॉलेज की नहीं है इस बारे में कुछ बात कर सके जबकि दूसरी साइड में डॉक्टर चंद्रशेखर चुटकुले मुरारी देसाई प्राइम मिनिस्टर के फैमिली और डॉक्टर थे वह आयुर्वेदिक एबीपी आचार्य थे और वह बी बी एस डॉक्टर की थी वही थे वह डॉक्टर की भर्ती के डॉक्टर भी है और आयुर्वेद के बड़े जानकारी कार्य संबंधी डॉक्टर जी दिल्ली के अंदर है जो एलोपैथिक भी डॉक्टर से और बड़े बहुत बड़े आदमी रक्षा की थी इसी प्रकार से यह सारी बातें चलती है और जो एलोपैथी के डॉक्टर मात्रे हमारे स्पष्ट दिखाई है कि जो सर्जिकल एक्सीडेंट ली बातें के ऊपर आयुर्वेद को कोई परमिशन नहीं है गवर्नमेंट की और ऐसी कोई पढ़ाई के अंदर वह बात चलाई भी नहीं जाती है चरक संहिता और उसे शिव संहिता के अंदर 100 से अधिक के सर्जिकल रिलेशंस का उल्लेख हटाए उसमें सिर्फ 70 प्रकार के जतन से मेडिकल साइंस वाली एलोपैथिक के पूरे वर्ल्ड में उपयोग में लेते हैं 30 40 एस ए वेपन से जिसको कि वह व्यक्ति की आंखें कैसे होंगे कैसे है कैसे नहीं है उसका किसी के पास कोई कल्पना नहीं है और उसका कोई रिसर्च भी हुए हो रहा है नहीं हो रहा है ऐसी बातें तो आयुर्वेद की जो है सिस्टम में वह सिस्टम को चरक और सुशील के अनुसार चलाने का कोई प्रयत्न भी नहीं है गुजरात के अंदर कुछ लोगों के बीच बपालाल बगैर के प्रयत्न से जामनगर में आई यूनिवर्सिटी बन गई और आर्य समाज के कारण हरिद्वार में गुरुकुल कांगड़ी फार्मेसी और गुरुकुल कांगड़ी यूनिवर्सिटी बन गई और वहां की बकरी के अध्यक्ष पकरी की सारी शिक्षा भाई तो यह बात तो के ऊपर मात्रे जोलो के पुराने शास्त्रों वेदों के मानने वाले लोग थे और जो वेदों के अनुसरण करने वाले जो आर्य समाज की जो विचार वाली जो लोग हैं उन लोगों ने ही आई थी उसका रियल में सुधार किया है और लोगों के पास इतना नॉलेज नहीं है इतनी जानकारी भी नहीं है और इसमें उन लोगों का प्रयत्न भी नहीं तुम आयुर्वेदिक e-tourist पद्धति को पूरी नॉलेज को नहीं समझ करके एलोपैथी के ज्यादातर डॉक्टर से अच्छा भी पहेली रखते हैं और जो बैलों पर्ची की फार्मासिस्ट फार्मासिस्ट पल्स कंपनी है वह तो द हाथ धो कर चाय उसके पीछे पड़ी है कि हमारी दवाइयों का ही प्रचार हो आयुर्वेद नर्सिंग कचरा है आप एलोपैथिक डॉक्टर कि हम जो करते हैं उसी ट्रीटमेंट करिए और कोई बात तो करनी है कोई देसी दवाई की गोलियां खाइए अब हम जो करते हैं वही करिए और आदमी मर जाएगा मेरी मौसी का लड़का बेचारा या आयुर्वेद हॉस्पिटल में था कंपाउंडर के तौर पर गवर्नमेंट में और उसको भी डॉक्टर नेता बताया और बोला था ठीक है मजा करो इतना खाया इतना तेज बढ़ा बढ़ा हुआ कि हम भी मुझसे देकर भी आप कुछ ट्रक कंट्रोल करो नहीं किया और बुरी मौत से मर गया तो मैं मर गया तो उसके बाद उसकी वाइफ ने मुझे दूसरे दिन बताया रोते-रोते की डॉक्टर ना बोला था कि आपका वही चीज है उसकी दवाइयां मत करना आप हम बोलते हैं वही दवाई करो और उसने मेरा पति मर गया उसको नहीं नहीं वह वहीं मर गई उसके बाद भी हमारे भाई ने बोला तो भाई उसके आधार कितना हुआ कि 7 दिन के बाद मात्र 7 से 8 दिन के अंदर इसका खर्च में वह भी अचको करके मर गए तो मर गया तो फिर उसके लड़के ने बताया कि आपको मां के लिए हुए आपके भाई ने जो बोला समस्या की भाई ने कि वह वह इसकी दवाई मत करना हमारी डॉक्टर की दवाई करना और उसे आप अच्छे हो जाएंगे आशिक बाबा को बच्चों के अंदर 22025 साल लाखों रुपए खर्च करके हमारी मम्मी भी मर गई और उसके हाथ में मेरे पिताजी भी मर गए और यह एलोपैथिक के चिकित्सकों के ऊपर इतना आकर विश करके अंधभक्ति थे कि आपको भी नहीं बताया था कि वह एलोपैथिक दवाई ले रहे और दवाई खाते खाते ही वह 25 साल के बाद वह भी मर गए हमने उनको आयुर्वेद की कोई पर लगाने वाली दवाइयां उसे देख करके उनके शरीर का कचरा साफ किया तो बोले वाह वाह ताज मुझे लगाएं कि सभी के अंदर बड़ी शांति हुई बड़ा अच्छा लगा लेकिन फिर दूसरे दिन डॉक्टर के पास बोले कि बोले कि ऐसे मत करना आपकी आंखें फटी जाएगी और टॉयलेट लगाने वाली दवाई लेनी है तो आपकी आंखें आपकी टॉयलेट तो आपकी आंखें फट जाएगी डिहाइड्रेशन हो जाएगा शरीर से पानी निकल जाएगा मर जाओगे और उनकी दवाई 2525 साल तक किया फिर भी उनकी कुत्ते जिंदगी मौत से हमारे भाई बड़े भाई साहब जी मौसी के लड़के और उनकी वाइफ आशा बिन मर गए लाखों लाखों रुपए का खर्चा हुआ लॉक खोला तो कई 15 25 लाख के डीजे ना कोई कौड़ी का फायदा नहीं हुआ तो सोचते कि ठीक है बाकी voice.apk क्लियर बात नहीं है बहुराष्ट्रीय कंपनियों ने आई10 का भयानक विरोध किया है कोलगेट वाला आज तक पोस्ट देखी नमक का उपयोग मत करो बाबू जब तुरंत पांचवी छठी में उस समय पेपरों में आ जाती थी रैलियों में आ जाती थी और उसे का उपयोग पर बेस्ट में मत करो वह पूरा ना तो पेट में चला जाएगा उसे पायलिया हो जाएगा कैंसर हो जाएगा नमक का उपयोग मत करो मर जाओगे कैंसर हो जाएगा यह होगा वह होगा आज और वह आ जाए वह कोलगेट वाले यह प्रचार कर रहा है कि नमक वाला लॉन्ग वाला कॉल से वाला है वह यह सारी बातें जी स्वामी रामदेव जी का हम भी भविष्य में हमारा डरते हुए पैसे निकालने के दांतो की लेकिन आज की तारीख में आयुर्वेद में सर्वश्रेष्ठ औसत स्वामी रामदेव जी की जो पेस्टिंग शरीर में महू के अंदर निकाल देता है दांतों को बहुत फायदा देता है और इसी तरह से करता रे हमारे पास से आयुष के कुछ ऐसे मंडल भी हमारे कच्चे हैं जो व्यक्ति उसको बहुत ही उच्च कोटि का फायदा पहुंचाता है आप हमारा जो उसे धोखा लिस्ट बिल्डिंग कर सकते हैं और आर्य समाज आयुर्वेद हॉस्पिटल डॉट कॉम हमारी वेबसाइट में हमारे इलेक्ट्रिक भी आप सुन सकते हैं और हमारा संपर्क भी कर सकते हैं और आयुर्वेद और होम्योपैथी या यूनानी क्या है क्या नहीं है मुसलमानों के आक्रमण के बाद एक यूनानी चिकित्सा भी खड़ी हो गई इसको इतना नहीं बोलता है उसकी एक मुसलमानों ने किया कि देश के अंदर उन्होंने सात भारतीय शास्त्रीय संगीत में परिवर्तन ला खिला दिया राज मिला मियां मल्हार राग तोड़ी राग दरबारी राग अली अरे क्या किया इन लोगों ने नहीं किया पूरे भारतीय संस्कृति और साइंस को मिटाने के लिए एक क्रिश्चियनिटी और यह लोगों ने एक वैचारिक के दिवालियापन प्रकट कर रहे हैं लोग और कुछ अच्छा नहीं है और राष्ट्रीय कंपनी का हीरो का मृतक की है और हजारों अरब चुका उनके पास है बिजनेस है उसके पास से आयुर्वेद जोगी रे इतनी शक्ति के साथ भी नहीं है एक पात्र रामदेव की कंपनी आ चुकी है और आर्य समाज जाएगी गए थे मेडिसिंस का हमारा दिवाली लेवल पर बहुत नींद के भविष्य में आ जाएगा और यह सब लोगों के सामने हम अपना सकती है एक वैज्ञानिक धर्म से रख कर के पूरे भारत तो क्या पूरे वर्ल्ड के अंदर क्रांति लाने वाले हैं आप हमारा संपर्क कर सकते हैं धन्यवाद

ayurveda aur allopathic ki chikitsa kendra koi chikitsak doctor log kuch nahi sochte hain ayurveda me humne jo mara anusandhan se bataya hai ki aaj ke yug me matra ek shami ramdev ji ne ayurveda ka adhyan kiya swami ramdev ji ek yogya ke aur ayurveda ke maha vidhwaan hai mahaan dilani hai aur swami dayanand saraswati ne jo vedo ki par par pathan pathan ki jo education DJ system bataiye satyarth prakash me uske anusaar padhakar ke arya samaj ke haryana ke gurukul se vaah nikle hue vyakti hain aur unke charitra me koi dost nahi hai aaj hai jo hindutv ke arthat jisko hum log pouranik bolte hain paani ke bade bade mahatma logo ne apne charitra me hani bata kar ke koi jailon me chale gaye koi bhag gaye koi europe gaya koi america gaya par kuch ban gaya aisa hota hai lekin arya samaj ka jo charitra hai vaah ek aantarik rahe rishi muniyon ka charit ke swami ramdev ji ne jo kiya aur ek bahut badi matra me arabpati unhone khadi ki hai aur unhone uske anusaar kam matra me use dekh karke puri medical system chala karke uska labh diya hai lekin parantu jo allopathic doctor hai pichle 222 saal se vaah lugai apne allopathic medical science ko hi sarvopari sthan aur medical science ko hi matra vigyan medical vigyan bolte ho aur dusri jo sign se usme I first aata hai toh unko assistant system bola hai medical assistant matlab rupaye bhejna hai aur uske bare me unka bahut hi ganda abhipray hai vaah ayush ko matra kuch bakwas maante hain aur in logo ko koi knowledge ki nahi hai is bare me kuch baat kar sake jabki dusri side me doctor chandrashekhar chutkule murari desai prime minister ke family aur doctor the vaah ayurvedic ABP aacharya the aur vaah be be S doctor ki thi wahi the vaah doctor ki bharti ke doctor bhi hai aur ayurveda ke bade jaankari karya sambandhi doctor ji delhi ke andar hai jo allopathic bhi doctor se aur bade bahut bade aadmi raksha ki thi isi prakar se yah saari batein chalti hai aur jo allopathy ke doctor matre hamare spasht dikhai hai ki jo surgical accident li batein ke upar ayurveda ko koi permission nahi hai government ki aur aisi koi padhai ke andar vaah baat chalai bhi nahi jaati hai charak sanhita aur use shiv sanhita ke andar 100 se adhik ke surgical rileshans ka ullekh hataye usme sirf 70 prakar ke jatan se medical science wali allopathic ke poore world me upyog me lete hain 30 40 S a weapon se jisko ki vaah vyakti ki aankhen kaise honge kaise hai kaise nahi hai uska kisi ke paas koi kalpana nahi hai aur uska koi research bhi hue ho raha hai nahi ho raha hai aisi batein toh ayurveda ki jo hai system me vaah system ko charak aur sushil ke anusaar chalane ka koi prayatn bhi nahi hai gujarat ke andar kuch logo ke beech bapalal bagair ke prayatn se jamnagar me I university ban gayi aur arya samaj ke karan haridwar me gurukul kangadi pharmacy aur gurukul kangadi university ban gayi aur wahan ki bakri ke adhyaksh pakari ki saari shiksha bhai toh yah baat toh ke upar matre jolo ke purane shastron vedo ke manne waale log the aur jo vedo ke anusaran karne waale jo arya samaj ki jo vichar wali jo log hain un logo ne hi I thi uska real me sudhaar kiya hai aur logo ke paas itna knowledge nahi hai itni jaankari bhi nahi hai aur isme un logo ka prayatn bhi nahi tum ayurvedic e tourist paddhatee ko puri knowledge ko nahi samajh karke allopathy ke jyadatar doctor se accha bhi paheli rakhte hain aur jo bailon parchi ki pharmacist pharmacist pulse company hai vaah toh the hath dho kar chai uske peeche padi hai ki hamari dawaiyo ka hi prachar ho ayurveda nursing kachra hai aap allopathic doctor ki hum jo karte hain usi treatment kariye aur koi baat toh karni hai koi desi dawai ki goliya khaiye ab hum jo karte hain wahi kariye aur aadmi mar jaega meri mausi ka ladka bechaara ya ayurveda hospital me tha compounder ke taur par government me aur usko bhi doctor neta bataya aur bola tha theek hai maza karo itna khaya itna tez badha badha hua ki hum bhi mujhse dekar bhi aap kuch truck control karo nahi kiya aur buri maut se mar gaya toh main mar gaya toh uske baad uski wife ne mujhe dusre din bataya rote rote ki doctor na bola tha ki aapka wahi cheez hai uski davaiyan mat karna aap hum bolte hain wahi dawai karo aur usne mera pati mar gaya usko nahi nahi vaah wahi mar gayi uske baad bhi hamare bhai ne bola toh bhai uske aadhar kitna hua ki 7 din ke baad matra 7 se 8 din ke andar iska kharch me vaah bhi achako karke mar gaye toh mar gaya toh phir uske ladke ne bataya ki aapko maa ke liye hue aapke bhai ne jo bola samasya ki bhai ne ki vaah vaah iski dawai mat karna hamari doctor ki dawai karna aur use aap acche ho jaenge aashik baba ko baccho ke andar 22025 saal laakhon rupaye kharch karke hamari mummy bhi mar gayi aur uske hath me mere pitaji bhi mar gaye aur yah allopathic ke chikitsakon ke upar itna aakar wish karke andhbhakti the ki aapko bhi nahi bataya tha ki vaah allopathic dawai le rahe aur dawai khate khate hi vaah 25 saal ke baad vaah bhi mar gaye humne unko ayurveda ki koi par lagane wali davaiyan use dekh karke unke sharir ka kachra saaf kiya toh bole wah wah taj mujhe lagaye ki sabhi ke andar badi shanti hui bada accha laga lekin phir dusre din doctor ke paas bole ki bole ki aise mat karna aapki aankhen fati jayegi aur toilet lagane wali dawai leni hai toh aapki aankhen aapki toilet toh aapki aankhen phat jayegi dehydration ho jaega sharir se paani nikal jaega mar jaoge aur unki dawai 2525 saal tak kiya phir bhi unki kutte zindagi maut se hamare bhai bade bhai saheb ji mausi ke ladke aur unki wife asha bin mar gaye laakhon laakhon rupaye ka kharcha hua lock khola toh kai 15 25 lakh ke DJ na koi kaudi ka fayda nahi hua toh sochte ki theek hai baki voice apk clear baat nahi hai bahuraashtreeya companion ne I ka bhayanak virodh kiya hai colgate vala aaj tak post dekhi namak ka upyog mat karo babu jab turant paanchvi chathi me us samay peparon me aa jaati thi railiyo me aa jaati thi aur use ka upyog par best me mat karo vaah pura na toh pet me chala jaega use payliya ho jaega cancer ho jaega namak ka upyog mat karo mar jaoge cancer ho jaega yah hoga vaah hoga aaj aur vaah aa jaaye vaah colgate waale yah prachar kar raha hai ki namak vala long vala call se vala hai vaah yah saari batein ji swami ramdev ji ka hum bhi bhavishya me hamara darte hue paise nikalne ke daanto ki lekin aaj ki tarikh me ayurveda me sarvashreshtha ausat swami ramdev ji ki jo pasting sharir me mahu ke andar nikaal deta hai danton ko bahut fayda deta hai aur isi tarah se karta ray hamare paas se ayush ke kuch aise mandal bhi hamare kacche hain jo vyakti usko bahut hi ucch koti ka fayda pohchta hai aap hamara jo use dhokha list building kar sakte hain aur arya samaj ayurveda hospital dot com hamari website me hamare electric bhi aap sun sakte hain aur hamara sampark bhi kar sakte hain aur ayurveda aur homeopathy ya unani kya hai kya nahi hai musalmanon ke aakraman ke baad ek unani chikitsa bhi khadi ho gayi isko itna nahi bolta hai uski ek musalmanon ne kiya ki desh ke andar unhone saat bharatiya shashtriya sangeet me parivartan la khila diya raj mila miyan malhar raag todi raag darbari raag ali are kya kiya in logo ne nahi kiya poore bharatiya sanskriti aur science ko mitane ke liye ek krishchiyaniti aur yah logo ne ek vaicharik ke diwaliyapan prakat kar rahe hain log aur kuch accha nahi hai aur rashtriya company ka hero ka mritak ki hai aur hazaro arab chuka unke paas hai business hai uske paas se ayurveda jogi ray itni shakti ke saath bhi nahi hai ek patra ramdev ki company aa chuki hai aur arya samaj jayegi gaye the medisins ka hamara diwali level par bahut neend ke bhavishya me aa jaega aur yah sab logo ke saamne hum apna sakti hai ek vaigyanik dharm se rakh kar ke poore bharat toh kya poore world ke andar kranti lane waale hain aap hamara sampark kar sakte hain dhanyavad

आयुर्वेद और एलोपैथिक की चिकित्सा केंद्र कोई चिकित्सक डॉक्टर लोग कुछ नहीं सोचते हैं आयुर्वे

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  155
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!