क्या यह हिंदू के बारे में गलत धारणा है कि यदि आप समाचार नहीं पढ़ते हैं, तो आप सिविल सेवा परीक्षा को क्रैक नहीं कर पाएंगे?...


user

Dr. Guddy Kumari

UPSC Coach / Ph.d

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने कहा कि क्या हिंदू के बारे में गलत धारणा है कि यदि आप समाचार नहीं पढ़ते तो आप सभी से अपेक्षा को क्रैक नहीं कर सकते लिखिए ऐसी कोई बात नहीं हिंदू के संबंध में यह गलत धारणा जरूर बन गई है कि यदि आप यूपी से क्लियर करना चाहते हैं तो आप हिंदू पढ़िए ऐसा जरूरी नहीं है कि आपके यहां जो भी पेपर आता हो प्रभात खबर हिंदुस्तान दैनिक जागरण जोश के शुरू के फर्स्ट पेज से आपसे फर्स्ट सेकंड थर्ड फोर्थ इसमें खेल खेल का पेज इकोनॉमिक का पेज और देश दुनिया का तेज किसी भी पेपर का रोज पढ़ें बस आपको कुछ तैयारी नहीं करना है आपके दिमाग में सारे करंट अफेयर्स अपडेट रहेंगे इसलिए हिंदू वाली जो खो गया है इसको दिमाग से निकाल ले ऐसे बहुत सारे ऐसे रंग कर सकता जिन्होंने हिंदू को नहीं पड़ा है योजना नहीं पड़ा कुरुक्षेत्र में पड़ा है लेकिन फिर भी टॉपलाइन करते हैं इसीलिए आप इस तरह की बातों को दिमाग से निकाल देना

aapne kaha ki kya hindu ke bare me galat dharana hai ki yadi aap samachar nahi padhte toh aap sabhi se apeksha ko crack nahi kar sakte likhiye aisi koi baat nahi hindu ke sambandh me yah galat dharana zaroor ban gayi hai ki yadi aap up se clear karna chahte hain toh aap hindu padhiye aisa zaroori nahi hai ki aapke yahan jo bhi paper aata ho prabhat khabar Hindustan dainik jagran josh ke shuru ke first page se aapse first second third fourth isme khel khel ka page economic ka page aur desh duniya ka tez kisi bhi paper ka roj padhen bus aapko kuch taiyari nahi karna hai aapke dimag me saare current affairs update rahenge isliye hindu wali jo kho gaya hai isko dimag se nikaal le aise bahut saare aise rang kar sakta jinhone hindu ko nahi pada hai yojana nahi pada kurukshetra me pada hai lekin phir bhi taplain karte hain isliye aap is tarah ki baaton ko dimag se nikaal dena

आपने कहा कि क्या हिंदू के बारे में गलत धारणा है कि यदि आप समाचार नहीं पढ़ते तो आप सभी से अ

Romanized Version
Likes  283  Dislikes    views  2785
WhatsApp_icon
22 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Ansh jalandra

Motivational speaker & criminal lawyer

0:30
Play

Likes  130  Dislikes    views  2569
WhatsApp_icon
user

Dr Devansh Yadav

Additional Deputy Commissioner at ADC Bordumsa, Government of Arunachal Pradesh

0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत लिमिटेड ग्रुप में ठीक है इनके बारे में लोग जंगली जिला की खबर और भी बहुत सारे अखबार है इसमें जो कि आपका इंडियन करंट अफेयर्स का समुद्र है आप एक बार में पूरा ही नहीं सकते आप हिंदू से ज्यादा से ज्यादा खबर

bahut limited group mein theek hai inke bare mein log jungli jila ki khabar aur bhi bahut saare akhbaar hai isme jo ki aapka indian current affairs ka samudra hai aap ek baar mein pura hi nahi sakte aap hindu se zyada se zyada khabar

बहुत लिमिटेड ग्रुप में ठीक है इनके बारे में लोग जंगली जिला की खबर और भी बहुत सारे अखबार है

Romanized Version
Likes  53  Dislikes    views  5111
WhatsApp_icon
user

Anil Ramola

Yoga Instructor | Engineer

0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे इसके बारे में जाना है

mujhe iske bare me jana hai

मुझे इसके बारे में जाना है

Romanized Version
Likes  337  Dislikes    views  4819
WhatsApp_icon
user

Vinod uttrakhand Tiwari

Author,Youtube(rastraniti)

1:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तो द हिंदू न्यूज़ पेपर के बारे में सवाल पूछा गया है कि अगर आप द हिंदू नहीं पाएंगे तो कभी सफल नहीं होंगे दुकान सर है तू तू कुत्ता है ऐसा कुछ है ही नहीं हां द हिंदू अन्य अखबारों की तुलना में व्यापक कवरेज देता है और सिविल सेवा के दृष्टिकोण से जो महत्वपूर्ण सवाल होते हैं उन्हें वह बदस्तूर कवर करता है लेकिन आज की डेट में विजन आईएएस की मैगजीन है दृष्टि आईएएस के समाचार आते हैं और कई सारी योजना है कुरुक्षेत्र मैगजीन आती है जिन्होंने द हिंदू की प्रासंगिकता एक जमाने में जो थी उसको आप समाप्त कर दिया है तो अगर आपको वेरियस रिसोर्सेज से पढ़ते हैं पीआईबी हिंदी से पढ़ते हैं पीआरएस की वेबसाइट से पढ़ते हैं सरकार के जो मंत्रालय वेबसाइट है उन पर विजिट करते हैं तो हिंदू भाट आवश्यक नहीं माना जा सकता अगर आप सिविल सेवा से जुड़ी हुई वीडियोस देखना चाहते हैं तो आप हमारे चैनल पर विजिट कर सकते हैं यूट्यूब के सर्च बॉक्स में जाकर के टाइप करें विनोद उत्तराखंड तिवारी और आपको उसके नीचे चैनल मिलेगा थॉट ऑफ़ सक्सेस उस चैनल को सब्सक्राइब कर सकते हैं

toh the hindu news paper ke bare me sawaal poocha gaya hai ki agar aap the hindu nahi payenge toh kabhi safal nahi honge dukaan sir hai tu tu kutta hai aisa kuch hai hi nahi haan the hindu anya akhbaron ki tulna me vyapak coverage deta hai aur civil seva ke drishtikon se jo mahatvapurna sawaal hote hain unhe vaah badastur cover karta hai lekin aaj ki date me vision IAS ki magazine hai drishti IAS ke samachar aate hain aur kai saari yojana hai kurukshetra magazine aati hai jinhone the hindu ki parasangikta ek jamane me jo thi usko aap samapt kar diya hai toh agar aapko veriyas resources se padhte hain PIB hindi se padhte hain PRS ki website se padhte hain sarkar ke jo mantralay website hai un par visit karte hain toh hindu bhaat aavashyak nahi mana ja sakta agar aap civil seva se judi hui videos dekhna chahte hain toh aap hamare channel par visit kar sakte hain youtube ke search box me jaakar ke type kare vinod uttarakhand tiwari aur aapko uske niche channel milega thought of success us channel ko subscribe kar sakte hain

तो द हिंदू न्यूज़ पेपर के बारे में सवाल पूछा गया है कि अगर आप द हिंदू नहीं पाएंगे तो कभी स

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  174
WhatsApp_icon
play
user

Rajkumar

Mentor

1:20

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं ऐसी कोई बात नहीं है हिंदी पढ़ने की बात नहीं है हिंदू टेंपल रन फ्री की एक बहुत ही है आइनों वाइडर उनका जो कवरेज है वह इंटरनेशनल नौटंकी तहत और जो गवर्नमेंट की ठा करके पॉलिसी जो होती है उसका एक क्रिटिसिजम के तहत उन्हीं का जो है वह पेपर का हर कोई भी कमेंट करता है ताकि ज्यादा से ज्यादा डाटा आपको जो प्रिपरेशन कर रहे थे उसको मिल सकते मगर अभी फिलाल में बात करके जो है आ जाओ महाराष्ट्र और उसके ऊपर नोट इंडिया में आता है तब इन सोशल और इकोनॉमी का ढंग से लेकर प्रकाश इंफॉर्मेशन आप कोई भी एक मुझ पर है अगर उसको ज्यादा डिटेल में करते हो और उसमें सपोर्टिंग में आकर आप हिंदू नहीं कर रहे हो कोई मैगजीन कर दे तो भी ठीक है

main aisi koi baat nahi hai hindi padhne ki baat nahi hai hindu temple run free ki ek bahut hi hai ainon wider unka jo coverage hai wah international nautanki tahat aur jo government ki tha karke policy jo hoti hai uska ek criticism ke tahat unhi ka jo hai wah paper ka har koi bhi comment karta hai taki zyada se zyada data aapko jo preparation kar rahe the usko mil sakte magar abhi filal mein baat karke jo hai aa jao maharashtra aur uske upar note india mein aata hai tab in social aur economy ka dhang se lekar prakash information aap koi bhi ek mujh par hai agar usko zyada detail mein karte ho aur usme supporting mein aakar aap hindu nahi kar rahe ho koi magazine kar de toh bhi theek hai

मैं ऐसी कोई बात नहीं है हिंदी पढ़ने की बात नहीं है हिंदू टेंपल रन फ्री की एक बहुत ही है आइ

Romanized Version
Likes  72  Dislikes    views  1423
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपने कहा है आपने तो पूछा सवाल आपको है क्या या हिंदू के बारे में गलत धारणा है कि यदि आप समाचार नहीं पड़ेंगे मतलब नहीं आप पढ़ते हैं तो आप सिविल सेवा की परीक्षा को क्रैक नहीं कर पाएंगे आधे कि मैं जरूर कहूंगा कि यह गलत धारणा है कि हिंदू पेपर को अगर आप नहीं पढ़ेंगे तो आप सिविल सेवा को क्रैक नहीं कर पाएंगे बहुत ज्यादा मिस छोटा-छोटा अच्छे होते हैं और उसे सीबी सर्विस की जो मकसद होते हो पूरे होते हैं जरूरी नहीं है कि आज करेंगे आप किसी भी एक पेपर को पढ़े पढ़े और उस पेपर पेपर से ध्यान रखें कि जिस हिंदू पेपर में कंटेंट आते हैं उस टाइप से मिलते जुलते हैं या नहीं इसे आप जैसे संबंधित या फिर क्वेश्चन कानूनी बदलाव या फिर देश के अंतरराष्ट्रीय संबंधों के ऊपर बहस बाजी की बेटी या ऐसे उस उसके बारे में आपको ध्यान देना होता है तो जरूर नहीं कि आप हिंदू के बारे में पड़े हिंदू हिंदू समाचार को पड़े कभी आपसे विश्वा को करें करेंगे यह फालतू भ्रामक अब दूर रह जाते हैं अगर आप हिंदू पढ़ते हैं तो आपके लिए बहुत अच्छा है पर अगर आप नहीं भी पढ़ते हैं आपको समझ नहीं आता तो बिल्कुल आप पर तनाव ना लें आप अन्य पेपरों से भी अपना काम चला सकते हैं

namaskar aapne kaha hai aapne toh poocha sawaal aapko hai kya ya hindu ke bare mein galat dharana hai ki yadi aap samachar nahi padenge matlab nahi aap padhte hain toh aap civil seva ki pariksha ko crack nahi kar payenge aadhe ki main zaroor kahunga ki yah galat dharana hai ki hindu paper ko agar aap nahi padhenge toh aap civil seva ko crack nahi kar payenge bahut zyada miss chota chota acche hote hain aur use CB service ki jo maksad hote ho poore hote hain zaroori nahi hai ki aaj karenge aap kisi bhi ek paper ko padhe padhe aur us paper paper se dhyan rakhen ki jis hindu paper mein content aate hain us type se milte julte hain ya nahi ise aap jaise sambandhit ya phir question kanooni badlav ya phir desh ke antararashtriya sambandhon ke upar bahas baazi ki beti ya aise us uske bare mein aapko dhyan dena hota hai toh zaroor nahi ki aap hindu ke bare mein pade hindu hindu samachar ko pade kabhi aapse vishva ko kare karenge yah faltu bhramak ab dur reh jaate hain agar aap hindu padhte hain toh aapke liye bahut accha hai par agar aap nahi bhi padhte hain aapko samajh nahi aata toh bilkul aap par tanaav na le aap anya peparon se bhi apna kaam chala sakte hain

नमस्कार आपने कहा है आपने तो पूछा सवाल आपको है क्या या हिंदू के बारे में गलत धारणा है कि यद

Romanized Version
Likes  62  Dislikes    views  301
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

1:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

से बचने की क्या यह हिंदू के बारे में गलत धारणा है कि यदि आप समाचार नहीं पढ़ते हैं तो आप सिविल सेवा परीक्षा को पिक नहीं कर पाएंगे मैं यह तो नहीं कहूंगा कि हिंदू समाचार पत्नी पढ़ते हैं तो हां यह जरूर कहूंगा कि हिंदू के पढ़ने से आपको इंग्लिश के प्रभार में और इंग्लिश के नॉलेज में आपको काफी 2 मिनट होगा लेकिन समाचार पत्र पढ़ना कंपलसरी है बिना समाचार पत्रों की हम जनरल नॉलेज अपडेट नहीं हो सकते कम से कम सरकारी सरकार की नीतियों को छोड़ दीजिए बाकी राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय सूचना हेतु समाचार पत्र में छपी है यह डाटा गलत छपते ही कोई बात नहीं लेकिन जो नीचे हैं सरकार की ओर से सरकारों की दूसरे देशों की उसके विषय में अपडेट होना जरूरी है क्योंकि समाचार पत्र से जो कैंडिडेट अपडेट रहता है वह करने में काफी हद तक सफल रहता है क्यों क्योंकि करीब करीब 20 प्रश्न क्वेश्चन समाचार पत्रों पर आधारित होते हैं साथ में मैगजीन काढून भी करना जरूरी है कंपटीशन चतरिया कंपटीशन रिव्यू प्रतियोगिता दर्पण या प्रतियोगिता में प्रथम राज्य में जो भी मां की आरती हो चुकी से रिलेटेड

se bachne ki kya yah hindu ke bare mein galat dharana hai ki yadi aap samachar nahi padhte hain toh aap civil seva pariksha ko pic nahi kar payenge main yah toh nahi kahunga ki hindu samachar patni padhte hain toh haan yah zaroor kahunga ki hindu ke padhne se aapko english ke parbhar mein aur english ke knowledge mein aapko kaafi 2 minute hoga lekin samachar patra padhna compulsory hai bina samachar patron ki hum general knowledge update nahi ho sakte kam se kam sarkari sarkar ki nitiyon ko chod dijiye baki rashtriya antarrashtriya soochna hetu samachar patra mein chhapi hai yah data galat chupte hi koi baat nahi lekin jo niche hain sarkar ki aur se sarkaro ki dusre deshon ki uske vishay mein update hona zaroori hai kyonki samachar patra se jo candidate update rehta hai vaah karne mein kaafi had tak safal rehta hai kyon kyonki kareeb kareeb 20 prashna question samachar patron par aadharit hote hain saath mein magazine kadhun bhi karna zaroori hai competition chatriya competition review pratiyogita darpan ya pratiyogita mein pratham rajya mein jo bhi maa ki aarti ho chuki se related

से बचने की क्या यह हिंदू के बारे में गलत धारणा है कि यदि आप समाचार नहीं पढ़ते हैं तो आप सि

Romanized Version
Likes  112  Dislikes    views  1044
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देश विदेश की जानकारी मैं आपको हिंदी आता तो आपको गलत नहीं होता है

desh videsh ki jaankari main aapko hindi aata toh aapko galat nahi hota hai

देश विदेश की जानकारी मैं आपको हिंदी आता तो आपको गलत नहीं होता है

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  177
WhatsApp_icon
user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

1:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जय हिंदू के बारे में गलत धारणा है कि आप समाचार नहीं पढ़ते हैं तो आप सिविल सेवा परीक्षा के क्रेट नहीं कर सकते लेकिन यह गलत धारणा है कि न्यूज़ पेपर में पढ़ते हैं तो आपको शायद देखा है नेशनल इंटरनेशनल जॉब है उसके घटनाक्रम की थोड़ी जानकारी कम हो पाती है इस कारण से प्रॉब्लम हो सकती है लेकिन ऐसा कुछ नहीं है आप मैगजीन पढ़ सकते हैं करंट अफेयर की मैगजीन आता है और भी बहुत सारी चीजें आती है जिसके माध्यम से आप तैयारी करो छत्तीसगढ़ धारणा को क्यों हिंदू मुस्लिम हो किसी भी संप्रदाय का व्यक्ति को आसानी से कर सकते हैं और आप आसानी से अपने कपड़े मैगजीन पड़े और भी सारी चीजें पड़ी और वहां से कर सकते हैं

jai hindu ke bare me galat dharana hai ki aap samachar nahi padhte hain toh aap civil seva pariksha ke crate nahi kar sakte lekin yah galat dharana hai ki news paper me padhte hain toh aapko shayad dekha hai national international job hai uske ghatanaakram ki thodi jaankari kam ho pati hai is karan se problem ho sakti hai lekin aisa kuch nahi hai aap magazine padh sakte hain current affair ki magazine aata hai aur bhi bahut saari cheezen aati hai jiske madhyam se aap taiyari karo chattisgarh dharana ko kyon hindu muslim ho kisi bhi sampraday ka vyakti ko aasani se kar sakte hain aur aap aasani se apne kapde magazine pade aur bhi saari cheezen padi aur wahan se kar sakte hain

जय हिंदू के बारे में गलत धारणा है कि आप समाचार नहीं पढ़ते हैं तो आप सिविल सेवा परीक्षा के

Romanized Version
Likes  237  Dislikes    views  1596
WhatsApp_icon
user

Pooja mahajan

Work At Bank

1:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या जी हिंदू के बारे में गलत धारणा है कि यदि आप समाचार नहीं पड़ती है तो आप सिविल सेवा परीक्षा को परखने कर पाएंगे देखिए आशा किस किस सेक्टर में लिखा है या किस संविधान में लिखा गया न्यूज़ पेपर नहीं पढ़ रहे हो तो आप शिक्षा को क्लियर नहीं कर सकते ऐसा कुछ भी नहीं होता करंट अफेयर की सारी लेट होता है मोसली आई एग्जाम होता है हिंदू मुस्लिम सिक्ख और इसाई के लिए नहीं होता है ऐसे नहीं होता कि हां हिंदू ने पढ़ा था मुस्लिम जाएगा उसने पढ़ा तो वोट नहीं यह था कि एससी बीसी ओबीसी जनरल का स्टूडेंट हिसाब से इसका चयन किया जाता है और यह गलत धारणा है कि आप समाचार नहीं पढ़ते तक रागनी कर्मपाल क्यों आज के टाइम इंटरनेट काफी सारी ऐसे करंट अफेयर के हमने यूट्यूब से देख रहे हैं सारा कुछ न्यूज़ देख रही है अगर समाचार अभी तो लोग धन की वजह से समाचार पत्र वैसे भी नहीं आ रही है तो क्या आपको इंफॉर्मेशन लेना छोड़ देंगे आप टीवी देख रहे हो राज्यसभा लोकसभा के चैनल देख रहे हो वही सबसे आप अपनी नॉलेज में डालो यह जरूरी नहीं है कि न्यूज़पेपर पढ़ोगे तो फिर यह न्यूज़ पेपर के हिसाब से बात करो सबसे बेस्ट न्यूज़ पेपर कौन सा है जो सारे शिकवे पर करवा देगा योगिता के हिसाब से करो आप बिल्कुल और यह क्या कर सकते हो

kya ji hindu ke bare me galat dharana hai ki yadi aap samachar nahi padti hai toh aap civil seva pariksha ko parkhane kar payenge dekhiye asha kis kis sector me likha hai ya kis samvidhan me likha gaya news paper nahi padh rahe ho toh aap shiksha ko clear nahi kar sakte aisa kuch bhi nahi hota current affair ki saari late hota hai mosli I exam hota hai hindu muslim sikkh aur isai ke liye nahi hota hai aise nahi hota ki haan hindu ne padha tha muslim jaega usne padha toh vote nahi yah tha ki SC BC OBC general ka student hisab se iska chayan kiya jata hai aur yah galat dharana hai ki aap samachar nahi padhte tak ragni karmapal kyon aaj ke time internet kaafi saari aise current affair ke humne youtube se dekh rahe hain saara kuch news dekh rahi hai agar samachar abhi toh log dhan ki wajah se samachar patra waise bhi nahi aa rahi hai toh kya aapko information lena chhod denge aap TV dekh rahe ho rajya sabha lok sabha ke channel dekh rahe ho wahi sabse aap apni knowledge me dalo yah zaroori nahi hai ki Newspaper padhoge toh phir yah news paper ke hisab se baat karo sabse best news paper kaun sa hai jo saare shikve par karva dega yogita ke hisab se karo aap bilkul aur yah kya kar sakte ho

क्या जी हिंदू के बारे में गलत धारणा है कि यदि आप समाचार नहीं पड़ती है तो आप सिविल सेवा परी

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  86
WhatsApp_icon
user

नरसिंह भाटी"कवि नीशू बीकानेरी"।

समाजसेवी,कवि,राजनीतिज्ञ प्रदेश महामंत्री प्र.मंत्री मन की बात राजस्थान।

1:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शुभ संध्या मित्रों इसमें हिंदू मुस्लिम की बात का है अगर आप सिविल सेवा की परीक्षा में हैप्पी रोना चाहते हैं तो आपका आज की दुनिया में क्या हो रहा है इसके बारे में आपका नॉलेज ई अपडेट होना चाहिए और day-to-day क्या घर में क्या हो रहा है आपके आसपास जैसे दुनिया में इसके लिए समाचार पत्र आज के टाइम में अच्छा जरिया है आजकल तो ईपेपर भी आने लगे हैं और वह उसी में भी मिल जाते हैं इसलिए आपको पैसे भी खर्च करने जरूरत नहीं है इसलिए आप ऐसे ग्रुप से ऐसे पेपर्स के साथ जुड़िए और ईपेपर वापसी जी जो कि सिविल सेवा परीक्षा एक पैदा कर की पिक्चर होती है इसमें ऑल न्यू क्या कर रहा है इसकी जानकारी आपको जरूर होनी ही चाहिए और यह आपके काम आने वाली चीज है इसलिए इसमें हिंदू मुस्लिम का प्रश्न नहीं है जो विश्व सिविल सेवा परीक्षा में उत्तीर्ण सभी होने से उसको समाचार पत्र पढ़ने की चाहिए चाहे वह हार्ड कॉपी पुणे या ई-पेपर उससे कोई ओके सर दोनों सहित आपका मित्र मार्गदर्शक अविनाश सिंह भाटी ने सुनी करने

shubha sandhya mitron isme hindu muslim ki baat ka hai agar aap civil seva ki pariksha me happy rona chahte hain toh aapka aaj ki duniya me kya ho raha hai iske bare me aapka knowledge E update hona chahiye aur day to day kya ghar me kya ho raha hai aapke aaspass jaise duniya me iske liye samachar patra aaj ke time me accha zariya hai aajkal toh ipepar bhi aane lage hain aur vaah usi me bhi mil jaate hain isliye aapko paise bhi kharch karne zarurat nahi hai isliye aap aise group se aise papers ke saath judiye aur ipepar wapsi ji jo ki civil seva pariksha ek paida kar ki picture hoti hai isme all new kya kar raha hai iski jaankari aapko zaroor honi hi chahiye aur yah aapke kaam aane wali cheez hai isliye isme hindu muslim ka prashna nahi hai jo vishwa civil seva pariksha me uttirna sabhi hone se usko samachar patra padhne ki chahiye chahen vaah hard copy pune ya E paper usse koi ok sir dono sahit aapka mitra margadarshak avinash Singh bhati ne suni karne

शुभ संध्या मित्रों इसमें हिंदू मुस्लिम की बात का है अगर आप सिविल सेवा की परीक्षा में है

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  105
WhatsApp_icon
user
2:23
Play

Likes  22  Dislikes    views  313
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गलत विचारधारा गलत है नहीं पढ़ते तो आप ऐसा नहीं कर सकते समाचार पढ़ना चाहिए लेकिन बहुत सारे ऐसे हैं जो देहात में से हैं उनको समाचार 2 दिन नहीं मिलता वह किताबों से ही तैयारी करें क्या ऐसे बच्चे नहीं आगे बढ़ते बहुत सारे बच्चे हैं आगे बढ़ने वाले बहुत सारे जगह पर अच्छी-अच्छी जगह पर आईएसपीसीएस फौज में अन्य केसों में गए हैं अधिकारी के रूप में एक गलत धारणा है मैं इस धारणा का खंडन करती हूं

galat vichardhara galat hai nahi padhte toh aap aisa nahi kar sakte samachar padhna chahiye lekin bahut saare aise hain jo dehaant me se hain unko samachar 2 din nahi milta vaah kitabon se hi taiyari kare kya aise bacche nahi aage badhte bahut saare bacche hain aage badhne waale bahut saare jagah par achi achi jagah par ISPCS fauj me anya keson me gaye hain adhikari ke roop me ek galat dharana hai main is dharana ka khandan karti hoon

गलत विचारधारा गलत है नहीं पढ़ते तो आप ऐसा नहीं कर सकते समाचार पढ़ना चाहिए लेकिन बहुत सारे

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  81
WhatsApp_icon
user
0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आजकल

aajkal

आजकल

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  91
WhatsApp_icon
user

Usha Devi Urawat Krishna

हाउस वाईफ

4:03
Play

Likes  19  Dislikes    views  211
WhatsApp_icon
user

Shubham

.............

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शाहरुख खान ताबू क्वेश्चन मेरे सामने हिंदू के बारे में गलत धारणा है कि यदि आप समाचार नहीं पढ़ते हैं तो आप सिविल सेवा परीक्षा को करें कि नहीं कर पाएंगे तो मैं आपको बताना चाहूंगा फ्रेंड की पेपर 120 है सिविल सेवा परीक्षा की इसमें करंट अफेयर्स और बहुत सारे ऐसे फैक्ट्स हैं जो कि उसके लिए बहुत ज्यादा इंपोर्टेंट है तू और पेपर न्यूज़पेपर बहुत ही ज्यादा इंपोर्टेंट है सिविल सेवा परीक्षा के लिए और मैं आपको एडवाइजर ने चाहूंगा कि इसके बिना बिना न्यूज़पेपर के बड़े बहुत ही ज्यादा मुश्किल हो सकता है क्रय करना जरूर जॉब रक्षा को

shahrukh khan tabu question mere saamne hindu ke bare me galat dharana hai ki yadi aap samachar nahi padhte hain toh aap civil seva pariksha ko kare ki nahi kar payenge toh main aapko batana chahunga friend ki paper 120 hai civil seva pariksha ki isme current affairs aur bahut saare aise facts hain jo ki uske liye bahut zyada important hai tu aur paper Newspaper bahut hi zyada important hai civil seva pariksha ke liye aur main aapko advisor ne chahunga ki iske bina bina Newspaper ke bade bahut hi zyada mushkil ho sakta hai kray karna zaroor job raksha ko

शाहरुख खान ताबू क्वेश्चन मेरे सामने हिंदू के बारे में गलत धारणा है कि यदि आप समाचार नहीं प

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  128
WhatsApp_icon
user
0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सिविल सेवा परीक्षा में अखबार का भूत मध्यम समाचार पत्र नहीं पढ़ पाते हैं तो जल्दी अपडेट नहीं हो पाती कि देश में क्या हो रहा है इसमें किसी हिंदू या मुस्लिम खीरी से जोड़ना कविता

civil seva pariksha me akhbaar ka bhoot madhyam samachar patra nahi padh paate hain toh jaldi update nahi ho pati ki desh me kya ho raha hai isme kisi hindu ya muslim Kheeri se jodna kavita

सिविल सेवा परीक्षा में अखबार का भूत मध्यम समाचार पत्र नहीं पढ़ पाते हैं तो जल्दी अपडेट नही

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  109
WhatsApp_icon
user
0:34
Play

Likes  3  Dislikes    views  118
WhatsApp_icon
user

Pragti Tripathi

upsc Aspirant Motivational Speaker For Small Stages

1:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखें द हिंदी न्यूज़पेपर जो मारा है ठीक है यह सारे फ्रेंड पढ़ते हैं ठीक सही है ऐसा ही नहीं है कि हिंदू पड़ती आप यूपीएससी क्लियर कर सकते हो एक हथेली खानी है ठीक है प्रिंसेस द हिंदू प्रति उनका मतलब हुआ है ठीक है बहुत लोग हैं जो इंडियन एक्सप्रेस पढ़ते हैं दैनिक जागरण पढ़ते हैं जागरण जोश भरते हैं बहुत सारी न्यूज़ पेपर लेकिन उनको कौन सा न्यूज़पेपर उनकी आदत बन चुका है वह बात है ठीक है और रही बात इसका एक मेल लॉजिक होता है कि दिल्ली के रहने वाले लोग ज्यादा कर के आया सी तारीख में है और डिस्टिक किया और स्टेट के नहीं करते हैं ऐसी बात नहीं है बस दिल्ली का के न्यूज़पेपर ज्यादा स्पेशल है इसीलिए वहां फिर से फेमस है हर स्टेट का अलग-अलग जैसे उत्तर प्रदेश में यहां पर दैनिक जागरण से स्टेट के हैं ऐसे न्यूज़पेपर चेंज होते हैं मीन बात यह है कि आप न्यूज़ को अच्छी तरह कवर कहां से कर पा रहे हो ठीक है यह हिंदू ही पड़ेगा समझ नहीं आ रहा है और मन लग रहा है मेरे ख्याल से ऐसा नहीं है कि दा हिंदू दैनिक जागरण पढ़ने वाले को आज ही न्यूज़ दी जाती है हिंदू पढ़ने वाले को पूरी न्यूज़ दी जाती है जागरण जोश पढ़ने वाले को और ज्यादा न्यूज़ दी जाती है ठीक है उसको जानकारी ऐसा कुछ नहीं है ठीक है सारी न्यूज़ पेपर निकाले गए हैं तो उसमें सारी जानकारियां दी जाती है समझने के लिए आपको कैसे समझाऊं ठीक है

dekhen the hindi Newspaper jo mara hai theek hai yah saare friend padhte hain theek sahi hai aisa hi nahi hai ki hindu padti aap upsc clear kar sakte ho ek hatheli khaani hai theek hai Princes the hindu prati unka matlab hua hai theek hai bahut log hain jo indian express padhte hain dainik jagran padhte hain jagran josh bharte hain bahut saari news paper lekin unko kaun sa Newspaper unki aadat ban chuka hai vaah baat hai theek hai aur rahi baat iska ek male logic hota hai ki delhi ke rehne waale log zyada kar ke aaya si tarikh me hai aur district kiya aur state ke nahi karte hain aisi baat nahi hai bus delhi ka ke Newspaper zyada special hai isliye wahan phir se famous hai har state ka alag alag jaise uttar pradesh me yahan par dainik jagran se state ke hain aise Newspaper change hote hain meen baat yah hai ki aap news ko achi tarah cover kaha se kar paa rahe ho theek hai yah hindu hi padega samajh nahi aa raha hai aur man lag raha hai mere khayal se aisa nahi hai ki the hindu dainik jagran padhne waale ko aaj hi news di jaati hai hindu padhne waale ko puri news di jaati hai jagran josh padhne waale ko aur zyada news di jaati hai theek hai usko jaankari aisa kuch nahi hai theek hai saari news paper nikale gaye hain toh usme saari jankariyan di jaati hai samjhne ke liye aapko kaise samjhau theek hai

देखें द हिंदी न्यूज़पेपर जो मारा है ठीक है यह सारे फ्रेंड पढ़ते हैं ठीक सही है ऐसा ही नहीं

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  116
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत सारे टॉपर ऐसे हुए हैं जिन्होंने बिना हिंदू पढ़े ही यह परीक्षा का किया है लेकिन सवाल ये है कि आपको दिन प्रतिदिन की सूचनाएं दुनिया में और भारत में जो हो रही हैं इसकी जानकारी आपको मिलने का अगर कोई और सुलभ सोर्स आपके पास है तो बेशक भी हिंदू पढ़ने की कोई जरूरत नहीं है लेकिन अगर यह सुलभ से उपलब्ध नहीं है जानकारी और इसे आप अपने बोलचाल की भाषा एवं आपके लिखित भाषा इसमें प्रयोग नहीं कर सकते तो यह सीखने के लिए आपको एक अखबार से सीखना पड़ता है और दी हिंदू छुट्टी विद्वानों ने लिखा है इसमें रीजनल राजनीति के बारे में खबर कमर नेशनल राजनीति के बारे में थोड़ी ज्यादा होती है इसलिए यह माना जाता है कि यह सबसे उपयुक्त पत्र पेपर

bahut saare topper aise hue hain jinhone bina hindu padhe hi yah pariksha ka kiya hai lekin sawaal ye hai ki aapko din pratidin ki suchnaen duniya me aur bharat me jo ho rahi hain iski jaankari aapko milne ka agar koi aur sulabh source aapke paas hai toh beshak bhi hindu padhne ki koi zarurat nahi hai lekin agar yah sulabh se uplabdh nahi hai jaankari aur ise aap apne bolchal ki bhasha evam aapke likhit bhasha isme prayog nahi kar sakte toh yah sikhne ke liye aapko ek akhbaar se sikhna padta hai aur di hindu chhutti vidvaano ne likha hai isme regional raajneeti ke bare me khabar kamar national raajneeti ke bare me thodi zyada hoti hai isliye yah mana jata hai ki yah sabse upyukt patra paper

बहुत सारे टॉपर ऐसे हुए हैं जिन्होंने बिना हिंदू पढ़े ही यह परीक्षा का किया है लेकिन सवाल य

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  123
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां यह सही है भ्रम करंट अफेयर नहीं पड़ेगी तुम्हें करंट करंट में होने वाली जानकारी नहीं मिल पाएंगे इसे की करंट पिक बहुत सुंदर

haan yah sahi hai bharam current affair nahi padegi tumhe current current mein hone wali jaankari nahi mil payenge ise ki current pic bahut sundar

हां यह सही है भ्रम करंट अफेयर नहीं पड़ेगी तुम्हें करंट करंट में होने वाली जानकारी नहीं मिल

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  110
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
baat nahin kar payenge ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!