UPSC परीक्षा में ऑप्शनल विषय को बदलते समय हमें किन मुख्य बातों का ध्यान में रखना चाहिए?...


user
5:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सबसे पहले तो यह जानना जरूरी है कि आप ऑप्शनल बदल क्यों रहे हैं क्या आप जो ऑप्शन अभी पढ़ रहे थे उसमें आपकी इंटरेस्ट नहीं है रुचि नहीं या आपकी उसमें अंडरस्टैंडिंग नहीं बन पा रही थी या आप एक बार उसमें एग्जाम दे चुके हैं और आप उसमें आपके मार्क्स अच्छे नहीं आ रहे हैं या अंडरस्टैंडिंग नहीं बन रही है या उसमें आप आंसर प्रेम नहीं कर पा रहे तो क्या कारण हैं उन सभी कारणों को ध्यान में रखते हुए आपको नया ऑप्शनल ऑफ करना चाहिए तो और समय वही और करण करें जिसको आप अच्छे से प्रिपेयर कर सके ऐसा ऑप्शनल जिसको आप 1 साल डेढ़ साल उसके साथ निभा सके उसको कंटिन्यू कर सके क्योंकि ऑप्शनल की तैयारी बहुत ही अच्छे तरीके से करनी होती तो ऑफिस में बहुत अच्छे मार्क्स लाने होते हैं कि मेरिट उसी हिसाब से बनेगी क्योंकि ऑप्शन में जितने आप 500 देशों की 2 पेपर हैं तो उसमें जितने अधिक मास चला पाएंगे तो आप की मेरिट में उतनी ज्यादा मार्क्स होंगे तो मेरिट में ऊपर आर्डर में आने के चांसेस होंगी तो इसलिए ऐसा ही सब्जेक्ट चुने जिसमें आप बेस्ट दे सके तो बेस्ट आप किस में दे सकते हैं यह देखिए तो फिर उसके लिए फिर भी उसकी जो है थोड़ी तैयारी होना जरूरी है कंप्रेसिव आप जब पहरी उसकी कर पाएंगे एक विस्तृत और व्यापक तरीके से गहन अध्ययन के साथ उसी सब्जेक्ट में आप बहुत अच्छा वोट वोट दे पाएंगे तो ऐसा सब्जेक्ट चुने चुनना चाहिए तो इसमें या तो आपका सब जगह होना चाहिए जो आपने ग्रेजुएशन में किया है 3 साल क्यों क्या 3 साल उसमें पढ़ चुके हैं तो उसमें आपको ज्यादा पढ़ने की जरूरत नहीं पड़ेगी केवल आपको उसमें एच लाने के लिए क्यों पॉलिश करना पड़ेगा फिर सब करना पड़ेगा और आप उसको उसके लिए तैयार हो पाएंगे एक तो यह है और दूसरा यह भी है कि ऐसा सब्जेक्ट हो जो कि जीएस में इंटरलिंक करता हूं जनरल स्टडी के पेपर से अस्पष्ट से या सेकंड से राजस्थान से जिस से भी तो वह पेपर उससे शासन या संबंधित कोई भी सब्जेक्ट आप जो है ऑप्शन ले सकते हैं तो अगर आप भेजो हिस्ट्री लेंगे आइकॉन मिक्स में यह सोशलॉजी या पॉलिटिकल साइंस तो बेटा और अच्छा है तू इनसे अगर संबंध कोई विषय लेंगे तो आपका ऑप्शनल तो तैयार होगा ही साथ में ओवरलैपिंग जीएस की रिसेप्शन है वह भी आसानी से पेपर हो जाएंगे 7 साल पहले में तो एक टाइम कंजूमिंग बचेगी और आप एक ही चीज को ऑप्टिमम प्रिपरेशन कर पाएंगे एक ही शब्द की क्योंकि एक यह भी है कि आपको हो सकता है कि आप कोई सब्जेक्ट बहुत ही आप थोड़ा अलग लेना चाह रहे हैं तो जो भी सब्जेक्ट नाच आ रहे हैं माली जी आपकी इंटरेस्ट है और वह सब्जेक्ट लेना चाहें तो ऐसा सब्जेक्ट है यह भी देखना चाहिए कि उस सब्जेक्ट की जो बुक्स हैं जो स्टैंडर्ड बुक है वह अवेलेबल है उसका जो सिलेबस है उसे जो भी टॉपिक से जुड़े हुए हैं यह जो भी कंटेंट है उसे जुड़ा हुआ मार्केट में अवेलेबल है या वह सब्जेक्ट समझने के लिए उस तरह की टीचर अवेलेबल है उस मतलब कि उसके लिए जो गाय जो है गाइडलाइंस चाहिए जो कोई गाइड करने वाला चाहिए वह चीज अवेलेबल है तो अगर टीचिंग गाइडेंस अवेलेबल है तो वहीं सब्जेक्ट होना चाहिए अगर माली से कोई ऐसा सब्जेक्ट जिसके लिए कोई कोई कोचिंग नहीं है या कोई गाइडेंस ही नहीं है आपके पास तो आपको उसे पर उसे पेपर करने में बहुत परेशानी आने वाली है और एक और बात है जिसमें यह कह समझ सकते हैं कि यह भी देखना चाहिए कि कुछ शब्द ऐसे होते इसमें मार्क्स यूपीएससी में बहुत कम आ रहे होते हैं तो उन सब्जेक्ट को चुने से बचना चाहिए जिसमें मार्क्स यूपीएससी बहुत कम दे रही है तो यह देख लेना चाहिए और कुछ सब्जेक्ट जैसे ट्रेन में चलते रहते हैं तब लेकिन फिर भी यह देखना चाहिए सब सारी बातें कर मिला लें तो कन्फ्यूजन यही निकलता है कि सब्जेक्ट आपको पूछना चाहिए कि जिसमें आप अपनी एक तो इंटरेस्ट है दूसरा उसमें आप अपना टैलेंट अपना बेस्ट दे सके अपनी कैपेसिटी पूरी कैप सिटी हंड्रेड पर्सन कैपेसिटी के साथ उसको अंडरस्टैंड कर सके और उसे जो है अलग-अलग डायमेंशन से उसे अलग-अलग यू फाइंड से उसको तैयार कर सके तो यह एक तरीका है इन सारी चीजों को ध्यान में रखते हुए और सुना चाहिए और सबसे जरूरी बात इसमें यह निकल कर आती है और सब्जेक्ट चुने सही नहीं होता है या केवल उसे पढ़ने से ही नहीं होता आप उसमें आंसर राइटिंग वह चीज है रिप्लाई कर पा रहे हो जो आपके माइंड में चल रही है या जो भी चीजें आपने पड़े वह चीजें आप आंसर राइटिंग में दे पा रहे हो चली आपको आंसर राइटिंग सीमा मिलने आपकी जो प्रजेंट टेबल वह मोड है आप प्रजेंट कैसे करते हैं अगर आप उन चीजों को रिपीट रिपीट नहीं कर पा रहे हैं रिप्लाई नहीं करा पा रहे अपने आंसर ओं में तो फिर वह चीज इतने अच्छे मार्क्स नहीं आएंगे तो ऑप्शनल सब्जेक्ट को भी अब तैयारी कर रहे हैं या जो भी बदलने वाले तो जो पहले अपने बदल बदलने वाले हैं तो पहले जो गलतियां की थी वह गलतियां भी ना करें और अगर आंसर राइटिंग की वजह से आपकी प्रॉब्लम तो आंसर राइटिंग की प्रैक्टिस बहुत ज्यादा करें

sabse pehle toh yah janana zaroori hai ki aap optional badal kyon rahe hain kya aap jo option abhi padh rahe the usme aapki interest nahi hai ruchi nahi ya aapki usme understanding nahi ban paa rahi thi ya aap ek baar usme exam de chuke hain aur aap usme aapke marks acche nahi aa rahe hain ya understanding nahi ban rahi hai ya usme aap answer prem nahi kar paa rahe toh kya karan hain un sabhi karanon ko dhyan me rakhte hue aapko naya optional of karna chahiye toh aur samay wahi aur karan kare jisko aap acche se prepare kar sake aisa optional jisko aap 1 saal dedh saal uske saath nibha sake usko continue kar sake kyonki optional ki taiyari bahut hi acche tarike se karni hoti toh office me bahut acche marks lane hote hain ki merit usi hisab se banegi kyonki option me jitne aap 500 deshon ki 2 paper hain toh usme jitne adhik mass chala payenge toh aap ki merit me utani zyada marks honge toh merit me upar order me aane ke chances hongi toh isliye aisa hi subject chune jisme aap best de sake toh best aap kis me de sakte hain yah dekhiye toh phir uske liye phir bhi uski jo hai thodi taiyari hona zaroori hai kampresiv aap jab pahari uski kar payenge ek vistrit aur vyapak tarike se gahan adhyayan ke saath usi subject me aap bahut accha vote vote de payenge toh aisa subject chune chunana chahiye toh isme ya toh aapka sab jagah hona chahiye jo aapne graduation me kiya hai 3 saal kyon kya 3 saal usme padh chuke hain toh usme aapko zyada padhne ki zarurat nahi padegi keval aapko usme h lane ke liye kyon polish karna padega phir sab karna padega aur aap usko uske liye taiyar ho payenge ek toh yah hai aur doosra yah bhi hai ki aisa subject ho jo ki GS me intaralink karta hoon general study ke paper se aspast se ya second se rajasthan se jis se bhi toh vaah paper usse shasan ya sambandhit koi bhi subject aap jo hai option le sakte hain toh agar aap bhejo history lenge icon mix me yah sociology ya political science toh beta aur accha hai tu inse agar sambandh koi vishay lenge toh aapka optional toh taiyar hoga hi saath me ovaralaiping GS ki reception hai vaah bhi aasani se paper ho jaenge 7 saal pehle me toh ek time kanjuming bachegi aur aap ek hi cheez ko optimum preparation kar payenge ek hi shabd ki kyonki ek yah bhi hai ki aapko ho sakta hai ki aap koi subject bahut hi aap thoda alag lena chah rahe hain toh jo bhi subject nach aa rahe hain maali ji aapki interest hai aur vaah subject lena chahain toh aisa subject hai yah bhi dekhna chahiye ki us subject ki jo books hain jo standard book hai vaah available hai uska jo syllabus hai use jo bhi topic se jude hue hain yah jo bhi content hai use juda hua market me available hai ya vaah subject samjhne ke liye us tarah ki teacher available hai us matlab ki uske liye jo gaay jo hai gaidalains chahiye jo koi guide karne vala chahiye vaah cheez available hai toh agar teaching guidance available hai toh wahi subject hona chahiye agar maali se koi aisa subject jiske liye koi koi coaching nahi hai ya koi guidance hi nahi hai aapke paas toh aapko use par use paper karne me bahut pareshani aane wali hai aur ek aur baat hai jisme yah keh samajh sakte hain ki yah bhi dekhna chahiye ki kuch shabd aise hote isme marks upsc me bahut kam aa rahe hote hain toh un subject ko chune se bachna chahiye jisme marks upsc bahut kam de rahi hai toh yah dekh lena chahiye aur kuch subject jaise train me chalte rehte hain tab lekin phir bhi yah dekhna chahiye sab saari batein kar mila le toh confusion yahi nikalta hai ki subject aapko poochna chahiye ki jisme aap apni ek toh interest hai doosra usme aap apna talent apna best de sake apni capacity puri cap city hundred person capacity ke saath usko understand kar sake aur use jo hai alag alag dimension se use alag alag you find se usko taiyar kar sake toh yah ek tarika hai in saari chijon ko dhyan me rakhte hue aur suna chahiye aur sabse zaroori baat isme yah nikal kar aati hai aur subject chune sahi nahi hota hai ya keval use padhne se hi nahi hota aap usme answer writing vaah cheez hai reply kar paa rahe ho jo aapke mind me chal rahi hai ya jo bhi cheezen aapne pade vaah cheezen aap answer writing me de paa rahe ho chali aapko answer writing seema milne aapki jo present table vaah mode hai aap present kaise karte hain agar aap un chijon ko repeat repeat nahi kar paa rahe hain reply nahi kara paa rahe apne answer on me toh phir vaah cheez itne acche marks nahi aayenge toh optional subject ko bhi ab taiyari kar rahe hain ya jo bhi badalne waale toh jo pehle apne badal badalne waale hain toh pehle jo galtiya ki thi vaah galtiya bhi na kare aur agar answer writing ki wajah se aapki problem toh answer writing ki practice bahut zyada kare

सबसे पहले तो यह जानना जरूरी है कि आप ऑप्शनल बदल क्यों रहे हैं क्या आप जो ऑप्शन अभी पढ़ रहे

Romanized Version
Likes  163  Dislikes    views  1494
WhatsApp_icon
21 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr. Guddy Kumari

UPSC Coach / Ph.d

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार यूपीएससी परीक्षा में ऑप्शनल विषय विषय को बदलते समय हमें किन मुख्य बातों का ध्यान रखना चाहिए यूपीएससी एग्जाम जो है यदि अपने एग्जाम देते हैं एक बार रजिस्ट्रेशन हो जाता है तो आप जो ऑप्शनल सब्जेक्ट सुनते हैं तो हमेशा वही रहता है आप उसे चेंज नहीं कर सकते इसलिए बहुत ही ध्यान से आप अपने ऑफ कीजिए क्योंकि बीपीएससी वगैरह में वह हो सकता है इससे एग्जाम होते हैं तो उसमें आफ ऑप्शनल बदल सकते हैं लेकिन सेंट्रल गवर्नमेंट के यूपीएससी के एग्जाम में बार-बार आप अपना ऑप्शनल नहीं बदल सकते एक बार रजिस्ट्रेशन हो गया अपने जो सब्जेक्ट डाल दिया उसे सब्जेक्ट को आप हमेशा उसी से आपको करना होता है धन्यवाद

namaskar upsc pariksha me optional vishay vishay ko badalte samay hamein kin mukhya baaton ka dhyan rakhna chahiye upsc exam jo hai yadi apne exam dete hain ek baar registration ho jata hai toh aap jo optional subject sunte hain toh hamesha wahi rehta hai aap use change nahi kar sakte isliye bahut hi dhyan se aap apne of kijiye kyonki BPSC vagera me vaah ho sakta hai isse exam hote hain toh usme of optional badal sakte hain lekin central government ke upsc ke exam me baar baar aap apna optional nahi badal sakte ek baar registration ho gaya apne jo subject daal diya use subject ko aap hamesha usi se aapko karna hota hai dhanyavad

नमस्कार यूपीएससी परीक्षा में ऑप्शनल विषय विषय को बदलते समय हमें किन मुख्य बातों का ध्यान र

Romanized Version
Likes  264  Dislikes    views  3639
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऑप्शनल विषय बदलते समय ध्यान देना चाहिए कि हम जो विषय बदल रहे हैं क्या उसमें भी हमारा कुछ बोली है या नहीं आप कुछ भी नॉलेज नहीं है तो उसको भी बदलने व्यस्त है क्योंकि आप नहीं जा स्थल है उन पर ज्यादा फोकस करके तो अच्छा लगता है

optional vishay badalte samay dhyan dena chahiye ki hum jo vishay badal rahe hain kya usme bhi hamara kuch boli hai ya nahi aap kuch bhi knowledge nahi hai toh usko bhi badalne vyast hai kyonki aap nahi ja sthal hai un par zyada focus karke toh accha lagta hai

ऑप्शनल विषय बदलते समय ध्यान देना चाहिए कि हम जो विषय बदल रहे हैं क्या उसमें भी हमारा कुछ ब

Romanized Version
Likes  470  Dislikes    views  4761
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

1:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यूपीपी परीक्षा में अपने बच्चे को बदलते समय हमें किन बातों को ध्यान रखने के लिए चांस नहीं होता लेकिन आवेदन करते समय ही आप एडिट करके अपना विचार बदल सकते हैं लेकिन बदलते समय यह ध्यान रखें कि आपने जिन विषयों का चुनाव किया है उस विषय पर आपको नॉलेज होना चाहिए उसके विषय में आपको जानकारी होनी चाहिए उसके प्रति इंटरेस्ट होना चाहिए उसका की मलाई से कहीं ना कहीं नजदीकी संबंध होना चाहिए हमारे जीवन में ट्रैक्टर रूप में अपनाए जाने वाला विषय होना चाहिए कि वह किसी डिग्री का ज्ञान के सब्जेक्ट से संबंधित ना हो परियों वाली कॉपी भारी हो

upp pariksha me apne bacche ko badalte samay hamein kin baaton ko dhyan rakhne ke liye chance nahi hota lekin avedan karte samay hi aap edit karke apna vichar badal sakte hain lekin badalte samay yah dhyan rakhen ki aapne jin vishyon ka chunav kiya hai us vishay par aapko knowledge hona chahiye uske vishay me aapko jaankari honi chahiye uske prati interest hona chahiye uska ki malai se kahin na kahin najdiki sambandh hona chahiye hamare jeevan me tractor roop me apnaye jaane vala vishay hona chahiye ki vaah kisi degree ka gyaan ke subject se sambandhit na ho pariyon wali copy bhari ho

यूपीपी परीक्षा में अपने बच्चे को बदलते समय हमें किन बातों को ध्यान रखने के लिए चांस नहीं ह

Romanized Version
Likes  432  Dislikes    views  5874
WhatsApp_icon
user

Rakesh Tiwari

Life Coach, Management Trainer

1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है यूपीएससी परीक्षा में ऑप्शनल विषय को बदलते समय हमें किन मुख्य बातों को ध्यान में रखना चाहिए और अगर आप बदलना चाहते हैं जो भी विशाखा आप चुनाव करते हैं उस विषय पर आप की पकड़ आप की विशेषज्ञता आपका ध्यान आपके सक्षम का विशेष होना चाहिए स्पेशल होना चाहिए क्योंकि उससे संबंधित जो विश्लेषणात्मक प्रश्न है जो सोच प्रश्न है जो वस्तुनिष्ठ प्रश्न ऐसे प्रश्नों की विश्लेषणात्मक क्षमता गहन अध्ययन विषय पर पकड़ आपको यूपीएससी परीक्षा के इलेक्शन में मदद करेगी इसलिए विशेष रुप से ध्यान रखें और पेपर का चुनाव करते हैं और कोई विषय चुनते हैं वह आपको सामान्य ज्ञान होना चाहिए और उस विषय के प्रति आपकी रुचि विशिष्ट ज्ञान प्राप्त करने के लिए अवश्य होनी चाहिए जिससे कि आप परीक्षा में सफल हो सके

aapka prashna hai upsc pariksha me optional vishay ko badalte samay hamein kin mukhya baaton ko dhyan me rakhna chahiye aur agar aap badalna chahte hain jo bhi vishakha aap chunav karte hain us vishay par aap ki pakad aap ki visheshagyata aapka dhyan aapke saksham ka vishesh hona chahiye special hona chahiye kyonki usse sambandhit jo vishleshanatmak prashna hai jo soch prashna hai jo vastunisth prashna aise prashnon ki vishleshanatmak kshamta gahan adhyayan vishay par pakad aapko upsc pariksha ke election me madad karegi isliye vishesh roop se dhyan rakhen aur paper ka chunav karte hain aur koi vishay chunte hain vaah aapko samanya gyaan hona chahiye aur us vishay ke prati aapki ruchi vishisht gyaan prapt karne ke liye avashya honi chahiye jisse ki aap pariksha me safal ho sake

आपका प्रश्न है यूपीएससी परीक्षा में ऑप्शनल विषय को बदलते समय हमें किन मुख्य बातों को ध्यान

Romanized Version
Likes  317  Dislikes    views  3079
WhatsApp_icon
user

Sadhu Yograj

UPSC/ MPPSC Coach

2:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत बेहतरीन प्रश्न पूछा है आपने कि यूपीएससी में अगर अपन में अपना ऑफिस तबीयत अगर चेंज कर रहे हैं तो उसके लिए में किन किन सावधानियों को ध्यान में रखना चाहिए देखें सबसे पहली बात तो यह है कि सब्जेक्ट चेंज करना आपने आपने बहुत कठिन फैसला होता है लेकिन जब हमें एक अध्ययन के बाद ही समझ चुके होते हैं कि हमारा इस सब्जेक्ट में वह और नहीं हो पाएगा तो हम सोच ने सबसे पहली चीज होनी चाहिए कि आप का सब्जेक्ट छोड़ने के पीछे मुख्य कारण क्या है अगर आप अन्य लोगों के वोट देकर अपने सब्जेक्ट को सोचें कि को छोड़ने का अगर पैसा लेना गलत भी हो सकता है लेकिन आपको अपनी क्षमताओं के अनुसार उस विषय में सामान किसी की कमी नजर आती है तो फिर नया सब्जेक्ट में आपको सावधानी रखनी चाहिए को चुन रहे हैं उसकी मूलभूत जानकारी से आप कितना बाकी है और कम से कम 15 से 20 दिन आप उसकी फुल के सिलेबस के जगदीश टॉपिक पड़े आंसर राइटिंग करें मैं शांत राइटिंग करें नासिर के पेपर उत्तर की प्रतीक्षा करें और जो भी आपके सीनियर हैं अगर क्लास में है या मिलने वाले हैं उनसे अपने उत्तरों का आकलन करवाएं कि आप वास्तव में उस विशेष शैली के साथ न्याय कर पा रहे हैं क्या उस सब्जेक्ट फ्रेंड के अकॉर्डिंग आप लिख पा रहे हैं क्या आपको वह सारी शर्म जो है वह अच्छे से आप अपने आश्रम में डाल पा रहे हैं अगर हां ऐसा है तो निश्चित रूप से वह सब्जेक्ट आपके लिए अच्छा होता है कभी-कभी क्या होता है कि हम जीएस में जो ग्राफी पढ़ते हैं तो हमें लगता है कि वह हमारे लिए ही हो गया है लेकिन ऐसा नहीं है जब आपने जो ग्राफी रखते हैं और आप नॉर्मल जियोग्राफी दिस कॉन्टिनेंट एचआरए और किस प्रकार से यह आधार बनाता है किस प्रकार के पैकेट में जो है वह भेजना सिद्धांत का समर्थन करती है साथी पागलपन सिद्धांत के लिए एक सकारात्मक पक्ष प्रस्तुत करता है तो वहां पर आपको क्या होता है आंसर बन जाता पर आपको सब ठीक है ध्यान रखना जिओ सिम है भूषण हिंदी में बोलते हैं जब आप सब्जेक्ट चुने तो कम से कम 15 से 20 दिन 25 दिन 1 महीने को चुन रहे हैं उसके आंसर एंट्री करके देखें अपने सीनियर से चला दे आपको लगता कि आप उस विषय की गहराई में उतर सकते हैं आपको ही करनी चाहिए और अगर आप तो फिर कोई मुश्किल नहीं होता है

bahut behtareen prashna poocha hai aapne ki upsc me agar apan me apna office tabiyat agar change kar rahe hain toh uske liye me kin kin savdhaniyo ko dhyan me rakhna chahiye dekhen sabse pehli baat toh yah hai ki subject change karna aapne aapne bahut kathin faisla hota hai lekin jab hamein ek adhyayan ke baad hi samajh chuke hote hain ki hamara is subject me vaah aur nahi ho payega toh hum soch ne sabse pehli cheez honi chahiye ki aap ka subject chodne ke peeche mukhya karan kya hai agar aap anya logo ke vote dekar apne subject ko sochen ki ko chodne ka agar paisa lena galat bhi ho sakta hai lekin aapko apni kshamataon ke anusaar us vishay me saamaan kisi ki kami nazar aati hai toh phir naya subject me aapko savdhani rakhni chahiye ko chun rahe hain uski mulbhut jaankari se aap kitna baki hai aur kam se kam 15 se 20 din aap uski full ke syllabus ke jagdish topic pade answer writing kare main shaant writing kare nasira ke paper uttar ki pratiksha kare aur jo bhi aapke senior hain agar class me hai ya milne waale hain unse apne utaron ka aakalan karvaaein ki aap vaastav me us vishesh shaili ke saath nyay kar paa rahe hain kya us subject friend ke according aap likh paa rahe hain kya aapko vaah saari sharm jo hai vaah acche se aap apne ashram me daal paa rahe hain agar haan aisa hai toh nishchit roop se vaah subject aapke liye accha hota hai kabhi kabhi kya hota hai ki hum GS me jo graafi padhte hain toh hamein lagta hai ki vaah hamare liye hi ho gaya hai lekin aisa nahi hai jab aapne jo graafi rakhte hain aur aap normal geography this Continent HRA aur kis prakar se yah aadhar banata hai kis prakar ke packet me jo hai vaah bhejna siddhant ka samarthan karti hai sathi pagalpan siddhant ke liye ek sakaratmak paksh prastut karta hai toh wahan par aapko kya hota hai answer ban jata par aapko sab theek hai dhyan rakhna jio sim hai bhushan hindi me bolte hain jab aap subject chune toh kam se kam 15 se 20 din 25 din 1 mahine ko chun rahe hain uske answer entry karke dekhen apne senior se chala de aapko lagta ki aap us vishay ki gehrai me utar sakte hain aapko hi karni chahiye aur agar aap toh phir koi mushkil nahi hota hai

बहुत बेहतरीन प्रश्न पूछा है आपने कि यूपीएससी में अगर अपन में अपना ऑफिस तबीयत अगर चेंज कर र

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  55
WhatsApp_icon
user

Sanjeev Pandey

Mentor - UPSC - IAS EXAM

1:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत ही अच्छा सवाल पूछा है आपने यूपीएससी परीक्षा में ऑप्शनल विषय के बदलते समय में किन बातों का ध्यान रखना चाहिए कि सबसे पहले ऑप्शन में ध्यान नहीं देना चाहिए सबसे पहले उसका कांटेक्ट है बल्ले बल्ले कि नहीं है दूसरा अगस्त को अगर आप का ऑप्शन साइंटिफिक भेज दे तो आपको ज्यादा नंबर पेज करके देगा सेंटिफिक बेस्ट का मतलब है कि जो जो कि साइंस भेज दो जैसे कि आपका एंथ्रोपोलॉजी हो गया जो लॉजी हो गया पत्नी हो गया फिक्स हो गया मैप्स हो गया आपका जागृति हो गया ठीक है मिश्रा का ऑप्शन सबको अच्छे नंबर कैसे कर देते हैं बड़े द सेम टाइम आपको यह भी ध्यान देना कि जो सिलेबस है वह कवरेबल होना चाहिए मतलब उसे कवर कर सके टाइम टू टाइम और सबसे इंपॉर्टेंट बात है कि यूपीएससी निवेश के लिंग जैसी टेक्निक यूज करता है शायद आपने को बराबरी पर लाने के लिए नंबर तो देखिएगा कमाएंगे तो ज्यादा हो जाएंगे ज्यादा जाएंगे तो कम हो जाएंगे यह क्या रूल है बट आपको जिस चीज का ध्यान रखना है कि आफ्टर शुरू करने से पहले ध्यान रखिएगा दिमाग में की ऑप्शन शुरू करने का मतलब यह होता कि खाली पढ़ लिया पढ़ने के साथ आपको लिखना माधुरी लिखोगे तभी आप जो है इसमें अच्छा कर पाओगे तो ऑप्शन से लेकर कोई भी आपको सवाल हो तो आप मेरे को मेरे को कल हैंडल पर एक बार कांटेक्ट कर सकते हैं आई विल डेफिनटली टो आंसर योर इतना अच्छे से मैं जानता हूं उसके बारे में ठीक है आगे आने वाले समय के शुभकामनाएं धन्यवाद

bahut hi accha sawaal poocha hai aapne upsc pariksha mein optional vishay ke badalte samay mein kin baaton ka dhyan rakhna chahiye ki sabse pehle option mein dhyan nahi dena chahiye sabse pehle uska Contact hai balle balle ki nahi hai doosra august ko agar aap ka option scientific bhej de toh aapko zyada number page karke dega sentifik best ka matlab hai ki jo jo ki science bhej do jaise ki aapka anthropology ho gaya jo laji ho gaya patni ho gaya fix ho gaya maps ho gaya aapka jagriti ho gaya theek hai mishra ka option sabko acche number kaise kar dete hain bade the same time aapko yah bhi dhyan dena ki jo syllabus hai vaah kavarebal hona chahiye matlab use cover kar sake time to time aur sabse important baat hai ki upsc nivesh ke ling jaisi technique use karta hai shayad aapne ko barabari par lane ke liye number toh dekhiega kamayenge toh zyada ho jaenge zyada jaenge toh kam ho jaenge yah kya rule hai but aapko jis cheez ka dhyan rakhna hai ki after shuru karne se pehle dhyan rakhiega dimag mein ki option shuru karne ka matlab yah hota ki khaali padh liya padhne ke saath aapko likhna madhuri likhoge tabhi aap jo hai isme accha kar paoge toh option se lekar koi bhi aapko sawaal ho toh aap mere ko mere ko kal handle par ek baar Contact kar sakte hain I will definatali toe answer your itna acche se main jaanta hoon uske bare mein theek hai aage aane waale samay ke subhkamnaayain dhanyavad

बहुत ही अच्छा सवाल पूछा है आपने यूपीएससी परीक्षा में ऑप्शनल विषय के बदलते समय में किन बातो

Romanized Version
Likes  240  Dislikes    views  1601
WhatsApp_icon
user

Kinjalk Pancholi

Entrepreneur educator

2:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ओपन प्रदीप काका के बारे में 2 बातें बहुत महत्वपूर्ण है पहला तो यह कि अगर आपके ऑप्शनल सब्जेक्ट चेंज कर लेंगे हम करने हैं तो उसमें आप काफी बिजी हूं ना और तेरे मास्को में अगर आपको दो सब्जेक्ट में बिल्कुल रूचि भी नहीं है और अगर आपने किसी के कहने में या किसी कोचिंग क्लास के गाने नए पुराने आदमी की उसमें अच्छे मां शारदे उसकी भाभी की ब्रा पंती करना आप भी जानिए कि आपकी रुचि है कि नहीं कर पाती और विषय में अगर आप की परीक्षा में गणित का पेपर अत्यंत उसकी परीक्षा के पेपर में भी हमको लाभकारी तत्व इन दोनों कंपनियों का इंटरनेशनल राजनीति विज्ञान जो है डिमांड होगी परंतु ऐसा जरूरी नहीं है कि सब लोग यह पॉलिटिकल साइंस अगर किसी का मान लिखिए क्वेश्चन मैथमेटिक्स को बहुत अच्छी पकड़ है तो बिल्कुल हमको मैथमेटिक्स ऑफ कर लेना चाहिए यह अलग बात है कि आगे से कोई संबंध नहीं रहेगा पर अगर उनकी कमाल है उस पर उनकी रूचि है मैथमेटिक्स में उन्होंने बहुत अच्छे से उसको पड़ा है इनमें से कोई थैंक यू

open pradeep kaka ke bare mein 2 batein bahut mahatvapurna hai pehla toh yah ki agar aapke optional subject change kar lenge hum karne hain toh usme aap kaafi busy hoon na aur tere moscow mein agar aapko do subject mein bilkul ruchi bhi nahi hai aur agar aapne kisi ke kehne mein ya kisi coaching class ke gaane naye purane aadmi ki usme acche maa sharde uski bhabhi ki bra panti karna aap bhi janiye ki aapki ruchi hai ki nahi kar pati aur vishay mein agar aap ki pariksha mein ganit ka paper atyant uski pariksha ke paper mein bhi hamko labhakari tatva in dono companion ka international raajneeti vigyan jo hai demand hogi parantu aisa zaroori nahi hai ki sab log yah political science agar kisi ka maan likhiye question mathematics ko bahut achi pakad hai toh bilkul hamko mathematics of kar lena chahiye yah alag baat hai ki aage se koi sambandh nahi rahega par agar unki kamaal hai us par unki ruchi hai mathematics mein unhone bahut acche se usko pada hai inme se koi thank you

ओपन प्रदीप काका के बारे में 2 बातें बहुत महत्वपूर्ण है पहला तो यह कि अगर आपके ऑप्शनल सब्जे

Romanized Version
Likes  65  Dislikes    views  764
WhatsApp_icon
user

Greeshma Nataraj

Psychology Counseling, Life Coach, NLP, Cognitive Behavioral Therapist, Motivational Speaker, Handwriting Signature Analyst.

5:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुड आफ्टरनून देखिए ऑप्शनल सब्जेक्ट को जो चूस करना होता है यूपीएससी के एग्जाम के लिए इट इज लाइक चूजे न्यूरॉन्स 500 बिफोर डिसाइडिंग अपऑन योर रोशन ऑल सब्जेक्ट आप पहले ही प्रीपेड कर लीजिएगा 15 दिन पहले दूसरी चीज यह है कि आप यूपीएससी की वेबसाइट में जाकर लेटेस्ट जो भी सिविल सर्विसेस के नोटिफिकेशन से उसे डाउनलोड कर लीजिएगा दूसरी बात आप यह ध्यान रखिएगा कि ऑप्शनल लिस्ट नोटिफिकेशन की क्या है उसमें सब्जेक्ट होते हैं और उसमें से आप स्ट्राइकिंग आउट कर लीजिएगा जिसको आप आपको लगता है कि यू डेफिनेटली नो दैट एंड यू कैन नॉट ए का तो यह आप पहले नोट करना स्ट्राइकिंग करना शुरू कर दीजिये फॉर एग्जांपल देखिए आप एक मैकेनिकल इंजीनियर ग्रेजुएट हो और आपको मेडिकल साइंस अगर दिख रहा है या एकाउंटेंसी या कॉमर्स दिखा टॉम यू कैन स्ट्राइक दम आउट स्ट्राइकिंग ऑफ द सब्जेक्ट आपको यह भी कंसीडर करना है कि आपकी जो एप्टिट्यूड है एक पार्टिकुलर सब्जेक्ट के लिए फॉर एग्जांपल देखिए आपका बैकग्राउंड ही मैंने t96 फिलॉसफी हो तो आप अगर फिजिक्स केमिस्ट्री देखोगे तो इनको आप स्ट्राइक ऑफ कर सकते हो इन एनी केस अगर आपको लगता है कि डिटेल सिलेबस इस नॉट प्रोवाइडेड इन द नोटिफिकेशन तो बिफोर राइटिंग ऑफर पार्टिकुलर सब्जेक्ट वह भी आप थोड़े बहुत डिटेल्स चेक करते कर सकते हो दूसरी चीज की आदत चॉइस कम होती जाती है एलिमिनेट शब्द सब्जेक्ट भी ज्यादा हो जाते हैं तो एलिमिनेट ऑल सब्जेक्ट ओनली आफ्टर बीन हंड्रेड परसेंट सूअर यह मैं आपको कहना चाहूंगी कि आप हंड्रेड परसेंट अगर शुगर हो तो ही वह सब्जेक्ट को एलिमिनेट कीजिएगा और उसके बाद आपके पास दो या तीन ऑप्शन छोड़े जाते हैं तो आईडियली वन ऑफ द सब्जेक्ट आउट ऑफ 3 उसमें आप ग्रेजुएट होना कंपलसरी है फॉर एग्जांपल देखिए अगर आप एक डॉक्टर होटल ऑलरेडी आपको मेडिकल साइंस पता है तो यू कैन टेक दर्शन ऑप्शनल सब्जेक्ट फॉर सोम रीजन इफ यू डोंट लाइक दिस सब्जेक्ट और आपको साइकोलॉजी और जूलॉजी में से पिक अप करना है तो आई वुड कमेंट कि आप जिस में ग्रेजुएट किया है या थोड़ा बहुत आप को जो नॉलेज है जो स्ट्रांग नॉलेज इन दोनों में से एक पिकअप कर लीजिएगा उसके बाद इट इज ऑलवेज गुड पिक सब्जेक्ट विच हैव मोर प्रेडो व जनरल स्टडीज पेपर डेट वेयर प्रिपरेशन भी एक अच्छी तरह से कर सकते हो और थोड़े से टाइम में कर सकते हो एंड यू मस्ट बे रियली केयरफुल कि आपके जो ऑप्शन से रिपीटेडली जो सिलेबस लेवल चांसेस आप जो भी पढ़ रहे हो कहीं ना कहीं आपके बाकी सब्जेक्ट में भी उसके बारे में थोड़ी जानकारी होनी चाहिए फिर नेक्स्ट लेवल परमेश्वर की आपके पास जो मटीरियल है अवेलेबल जो आपने सब्जेक्ट यूज किए हैं वह बहुत अच्छी हो इसमें इफ एनी ऑफ द थ्री फॉल्स शॉर्ट एंड डिस्काउंट ऑप्शनल कैन बी एलिमिनेटेड अगर आपके पास गुड रिसोर्सेज नहीं है या सोर्सेस नहीं है तो फिर आप उसमें से भी एलिमिनेट कर सकते हो पर एग्जांपल अगर आपके पास लिटरेचर है जैसे और उसमें अगस्त स्पेशल नहीं है तो आप उसको स्ट्राइक ऑफ करने का रख सकते हो द नेक्स्ट इंपॉर्टेंट क्राइटेरिया इज कंसीडर बेदर्द ऑप्शनल सब्जेक्ट कैन बी स्टडीड सेल्फ प्रिपरेशन या उसको एडिशनल गाइडेंस की जरूरत है अगर एडिशनल गाइडेंस की जरूरत है तो प्लीज यूनिट चेक बेडशीट दरार गुडमेंट ऑफ टीचर्स इंस्टीट्यूट ऑनलाइन ऑफलाइन है क्या नहीं अवेलेबल वह आपको चेक करना जरूरी है और अगर है तो क्या वह आपके नियर बाई है या कहीं और है लाइक्स आप रहते होंगे कन्याकुमारी में और इंस्टीट्यूट रहेगी दिल्ली में तो वह भी एक थोड़ा आपको जूस करना जरूरी है प्रॉपर्ली फाइनली व्हेन यू गो थ्रू द प्रीवियस ईयर्स पेपर्स ऑफ यूपीएससी फॉर सिलेक्टेड ऑप्शनल सब्जेक्ट मिक्सर द क्वेश्चन सेट आफ कैन बी टेकन टू गाइडेंस दैट यू हैव एनीथिंग दैट द क्वेश्चन ऑफ दो नॉट कम फ्रॉम विकिसोर्स यू हैव एंड डिफरेंट थिंग्स बाद में आप एक सब्जेक्ट पर ऑप्शनल सब्जेक्ट पर जीरो डाउन कर लीजिएगा और उसके सोर्सेस बुक्स और जो भी लेटेस्ट अपडेट से वह आपके पास कितने कर लीजिएगा अपने एटीट्यूटस के ऊपर एंड यू कैन स्टडी पीरियड कंफर्टेबल जोन हीरो डिपॉजिट यू आर अंडर नो कंपल्शन टो स्टे विद यू यू कैन अलसो अनदर ऑप्शन एस पर योर एटीट्यूड आई थिंक आफ गिवन बाय फीडबैक ऑफ हाउ टू चेंज द सब्जेक्ट ऑफ ऑप्शनल फॉर यूपीएससी

good afternoon dekhiye optional subject ko jo chus karna hota hai upsc ke exam ke liye it is like chuje neurons 500 before deciding upon your roshan all subject aap pehle hi prepaid kar lijiega 15 din pehle dusri cheez yah hai ki aap upsc ki website mein jaakar latest jo bhi civil services ke notification se use download kar lijiega dusri baat aap yah dhyan rakhiega ki optional list notification ki kya hai usme subject hote hain aur usme se aap striking out kar lijiega jisko aap aapko lagta hai ki you definetli no that and you can not a ka toh yah aap pehle note karna striking karna shuru kar dijiye for example dekhiye aap ek mechanical engineer graduate ho aur aapko medical science agar dikh raha hai ya accountancy ya commerce dikha tom you can strike dum out striking of the subject aapko yah bhi Consider karna hai ki aapki jo eptityud hai ek particular subject ke liye for example dekhiye aapka background hi maine t96 philosophy ho toh aap agar physics chemistry dekhoge toh inko aap strike of kar sakte ho in any case agar aapko lagta hai ki detail syllabus is not provided in the notification toh before writing offer particular subject vaah bhi aap thode bahut details check karte kar sakte ho dusri cheez ki aadat choice kam hoti jaati hai eliminate shabd subject bhi zyada ho jaate hain toh eliminate all subject only after bin hundred percent suar yah main aapko kehna chahungi ki aap hundred percent agar sugar ho toh hi vaah subject ko eliminate kijiega aur uske baad aapke paas do ya teen option chode jaate hain toh aidiyali van of the subject out of 3 usme aap graduate hona compulsory hai for example dekhiye agar aap ek doctor hotel already aapko medical science pata hai toh you can take darshan optional subject for Som reason if you dont like this subject aur aapko psychology aur zoology mein se pic up karna hai toh I would comment ki aap jis mein graduate kiya hai ya thoda bahut aap ko jo knowledge hai jo strong knowledge in dono mein se ek pickup kar lijiega uske baad it is always good pic subject which have mor predo va general studies paper date where preparation bhi ek achi tarah se kar sakte ho aur thode se time mein kar sakte ho and you must be really keyarful ki aapke jo option se repeatedly jo syllabus level chances aap jo bhi padh rahe ho kahin na kahin aapke baki subject mein bhi uske bare mein thodi jaankari honi chahiye phir next level parmeshwar ki aapke paas jo material hai available jo aapne subject use kiye hain vaah bahut achi ho isme if any of the three FALSE short and discount optional can be eliminated agar aapke paas good resources nahi hai ya sources nahi hai toh phir aap usme se bhi eliminate kar sakte ho par example agar aapke paas literature hai jaise aur usme august special nahi hai toh aap usko strike of karne ka rakh sakte ho the next important criteria is Consider bedard optional subject can be studied self preparation ya usko additional guidance ki zarurat hai agar additional guidance ki zarurat hai toh please unit check bedshit daraar gudment of teachers institute online offline hai kya nahi available vaah aapko check karna zaroori hai aur agar hai toh kya vaah aapke near bai hai ya kahin aur hai likes aap rehte honge kanyakumari mein aur institute rahegi delhi mein toh vaah bhi ek thoda aapko juice karna zaroori hai properly finally when you go through the previous years papers of upsc for selected optional subject mixer the question set of can be taken to guidance that you have anything that the question of do not kam from vikisors you have and different things baad mein aap ek subject par optional subject par zero down kar lijiega aur uske sources books aur jo bhi latest update se vaah aapke paas kitne kar lijiega apne etityutas ke upar and you can study period Comfortable zone hero deposit you R under no compulsion toe stay with you you can alaso another option s par your attitude I think of given bye feedback of how to change the subject of optional for upsc

गुड आफ्टरनून देखिए ऑप्शनल सब्जेक्ट को जो चूस करना होता है यूपीएससी के एग्जाम के लिए इट इज

Romanized Version
Likes  229  Dislikes    views  2867
WhatsApp_icon
play
user

Ravi

Director, Ravi IAS Academy

1:46

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यूपीएससी में आप तो सब्जेक्ट को लेते समय हम को निम्न बातों का ध्यान देना चाहिए जैसे पहला की सब्जेक्ट का स्टडी मैटर अवेलेबल उपलब्ध है या नहीं यदि उपलब्ध है तो दूसरा कि उसके क्वेश्चन को सॉल्व करके देखें क्वेश्चन पढ़ने के बाद समझ आ रहा है और लगभग 50% क्वेश्चन के बारे में कुछ लिख सकते हैं तो उस अप्रैल को ले सकते हैं और तीसरा बाद कि उस असलम को पढ़ाने वाला या गाय भैंस के लिए आपकी नजर में कोई अच्छा शिक्षक उपलब्ध है या नहीं आप साहब जैसे दिल्ली जैसे शहर से आते हैं तो कोई बड़ी बात नहीं है लेकिन यदि आप छोटे शहर से आते हैं आपको यूपीएससी के ऑप्शनल सब्जेक्ट ले लेते समय बहुत ध्यान देने की बात तब क्योंकि उसके टीचर छोटे शहरों में अच्छे शिक्षक उपलब्ध नहीं होते हैं अतः शिक्षक भी बहुत शिक्षा का डिटेल्स भी यूपीएससी ऑप्शनल में बहुत इंपोर्टेंट पैदा करता है उत्पन्न करता है अतः पहला तो अब सिलेबस देखें दूसरा उसके लिए बुक लिस्ट देखें और उसके लिए स्टडी मैटेरियल अवेलेबल है या नहीं तीसरा की माध्यम कौन सा विषय ले जो आपके माध्यम को सूट करता है यदि हिंदी मीडियम का है तो हिंदी मीडियम वाले ले इंग्लिश मीडियम का है तो आप इंग्लिश मीडियम में कौन से मीडियम में आप उस सब्जेक्ट को लिख पाते हैं अच्छे से तीसरा नेक्स्ट कि उसके शिक्षक उपलब्ध है या नहीं इन सारी बातों को ध्यान रखने के बाद ही आंखों से आंसू लेकर

upsc mein aap toh subject ko lete samay hum ko nimn baaton ka dhyan dena chahiye jaise pehla ki subject ka study matter available uplabdh hai ya nahi yadi uplabdh hai toh doosra ki uske question ko solve karke dekhen question padhne ke baad samajh aa raha hai aur lagbhag 50 question ke bare mein kuch likh sakte hain toh us april ko le sakte hain aur teesra baad ki us aslam ko padhane vala ya gaay bhains ke liye aapki nazar mein koi accha shikshak uplabdh hai ya nahi aap saheb jaise delhi jaise shehar se aate hain toh koi badi baat nahi hai lekin yadi aap chote shehar se aate hain aapko upsc ke optional subject le lete samay bahut dhyan dene ki baat tab kyonki uske teacher chote shaharon mein acche shikshak uplabdh nahi hote hain atah shikshak bhi bahut shiksha ka details bhi upsc optional mein bahut important paida karta hai utpann karta hai atah pehla toh ab syllabus dekhen doosra uske liye book list dekhen aur uske liye study material available hai ya nahi teesra ki madhyam kaun sa vishay le jo aapke madhyam ko suit karta hai yadi hindi medium ka hai toh hindi medium waale le english medium ka hai toh aap english medium mein kaun se medium mein aap us subject ko likh paate hain acche se teesra next ki uske shikshak uplabdh hai ya nahi in saree baaton ko dhyan rakhne ke baad hi aankho se aasu lekar

यूपीएससी में आप तो सब्जेक्ट को लेते समय हम को निम्न बातों का ध्यान देना चाहिए जैसे पहला की

Romanized Version
Likes  178  Dislikes    views  4371
WhatsApp_icon
user

Raushan Priya

Director at PERFECTION IAS

2:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखे यूपीएससी में ऑप्शन विषय जो आपका डिसीसी होता है आपके बैंक बिल्डिंग को लेकर इसलिए जब भी आप ऑक्शन विषय को चुनने की बात करें तो उसमें मुख्य बात कुछ मुख्य बातें हैं उसको ध्यान में रखना आवश्यक हुआ पहली यह चीज कि आप जिस भी ऑप्शन सब्जेक्ट को ऑफ कर दें सिलेक्ट करते हैं वह अपना सब्जेक्ट या तो आपके ग्रेजुएशन के पेपर से कई को कई बार यह प्रश्न भी पूछे हम पूछते हैं स्टूडेंट्स लोकेश क्या मैं जिस सब्जेक्ट से ग्रेजुएशन किया हूं उसी सब्जेक्ट को लेना होगा ऑप्शन में तो हमारा आंसर होगा कि नहीं नहीं ऐसा एक ऐसा बिल्कुल भी नहीं होता ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कि आप वही सब्जेक्ट को नहीं आप वह आप पर डिपेंड करता है कि आप किस सब्जेक्ट को लेते हैं दूसरी यह चीज है कि उस सब्जेक्ट में आप जिस शब्द आपका जवाब सेट किए उस सब्जेक्ट में आपकी इंटरेस्ट होनी चाहिए रुचि होनी चाहिए ठीक है अगर ड्यूटी नहीं होगी तो फिर इतने लंबे सब्जेक्ट को लंबे पेपर को आप अच्छे से पढ़ नहीं पाते दूसरी चीज है कि जब भी आप ऑप्शन सेलेक्ट करते हो तो एक चीज जो ध्यान में रखनी है वह देखनी है कि आप अगर आप जब रेजिस्टेंट है तो आप ऐसे ऑप्शन खोलें जिसमें मार्क्स अच्छे होते हैं जब मैं आपसे बात करेंगे अच्छे होते हैं तो यह आपके बैंक बिल्डिंग में यह आपके मुलायम को आगे बढ़ाने में हेल्प करेगा यह है कि जब भी आप ऑप्शन को सिलेक्ट करते हो तो आप कभी यह तो जरूर सर्च कर लेना कि इस सब्जेक्ट को आप ऑफ कर रहे हो सब्जेक्ट के स्टडी मैटेरियल उस सब्जेक्ट बुक्स मार्केट में अवेलेबल है या नहीं लव इंडिया की मार्केट में अवेलेबल है या नहीं अगर उस सब्जेक्ट की बुक्स अवेलेबल नहीं है तो थोड़ी मुश्किल होगी आपको नोट सुनाने में ही चुके यूपीएससी की तैयारी में समय तैयारी करते करते समय थोड़ा घट जाता है कम हो जाता है तो ऑप्शन वैसे ऑप्शन को लेना थोड़ा घातक सिद्ध हो सकता है जब आपके पास समय की कमी और उसके सारी चीजें आप ही को कदर करनी हो उसके बाद फिर नोट्स बनाने हो तो थोड़ा थोड़ा सा मुश्किल हो जाता है कि नोट्स तो बना नहीं है ऑप्शन लेकिन फिर क्या द रिंग कलेक्शन ऑफ मेटल्स कलेक्शन ऑफ टॉपिक्स भी एक बहुत इंपोर्टेंट वर्क हो जाता है अगर आपके पास यहां ऑथेंटिक स्टडी मैटेरियल अवेलेबल नहीं होता तो यह सारी चीजें ध्यान में रखते हुए आप ऑप्शन को सिलेक्ट करें ऑल द बेस्ट फोर ईयर एग्जाम थैंक यू

likhe upsc mein option vishay jo aapka DCC hota hai aapke bank building ko lekar isliye jab bhi aap auction vishay ko chunane ki baat kare toh usme mukhya baat kuch mukhya batein hain usko dhyan mein rakhna aavashyak hua pehli yah cheez ki aap jis bhi option subject ko of kar de select karte hain vaah apna subject ya toh aapke graduation ke paper se kai ko kai baar yah prashna bhi pooche hum poochhte hain students lokesh kya main jis subject se graduation kiya hoon usi subject ko lena hoga option mein toh hamara answer hoga ki nahi nahi aisa ek aisa bilkul bhi nahi hota aisa bilkul bhi nahi hai ki aap wahi subject ko nahi aap vaah aap par depend karta hai ki aap kis subject ko lete hain dusri yah cheez hai ki us subject mein aap jis shabd aapka jawab set kiye us subject mein aapki interest honi chahiye ruchi honi chahiye theek hai agar duty nahi hogi toh phir itne lambe subject ko lambe paper ko aap acche se padh nahi paate dusri cheez hai ki jab bhi aap option select karte ho toh ek cheez jo dhyan mein rakhni hai vaah dekhni hai ki aap agar aap jab resistant hai toh aap aise option kholen jisme marks acche hote hain jab main aapse baat karenge acche hote hain toh yah aapke bank building mein yah aapke mulayam ko aage badhane mein help karega yah hai ki jab bhi aap option ko select karte ho toh aap kabhi yah toh zaroor search kar lena ki is subject ko aap of kar rahe ho subject ke study material us subject books market mein available hai ya nahi love india ki market mein available hai ya nahi agar us subject ki books available nahi hai toh thodi mushkil hogi aapko note sunaane mein hi chuke upsc ki taiyari mein samay taiyari karte karte samay thoda ghat jata hai kam ho jata hai toh option waise option ko lena thoda ghatak siddh ho sakta hai jab aapke paas samay ki kami aur uske saree cheezen aap hi ko kadar karni ho uske baad phir notes banane ho toh thoda thoda sa mushkil ho jata hai ki notes toh bana nahi hai option lekin phir kya the ring collection of metals collection of topics bhi ek bahut important work ho jata hai agar aapke paas yahan authentic study material available nahi hota toh yah saree cheezen dhyan mein rakhte hue aap option ko select kare all the best four year exam thank you

लिखे यूपीएससी में ऑप्शन विषय जो आपका डिसीसी होता है आपके बैंक बिल्डिंग को लेकर इसलिए जब भी

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  823
WhatsApp_icon
user

Debidutta Swain

IAS Aspirant | Life Motivational Speaker,Daily Story Teller

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिखा पर्सनल को चूत करते हैं तो उनके पति आपका इंटरेस्ट को पहले पर किए क्या का कितना इंटरेस्ट है उनके लिए और इस विषय का दूसरे जीएस पेपर के ऊपर कितना सिमिलरिटी है क्या इस समय का सही सदुपयोग और प्रत्यय में उसके लिए टीचर बुक में मिल रहा है कि नहीं और एजेंट नंबर कैसे मिल रहा है यह चीजो के ऊपर ध्यान रखना

dikha personal ko chut karte hain toh unke pati aapka interest ko pehle par kiye kya ka kitna interest hai unke liye aur is vishay ka dusre GS paper ke upar kitna similriti hai kya is samay ka sahi sadupyog aur pratyay mein uske liye teacher book mein mil raha hai ki nahi aur agent number kaise mil raha hai yah cheejo ke upar dhyan rakhna

दिखा पर्सनल को चूत करते हैं तो उनके पति आपका इंटरेस्ट को पहले पर किए क्या का कितना इंटरेस्

Romanized Version
Likes  80  Dislikes    views  805
WhatsApp_icon
user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यूपीएससी परीक्षा में आप सभी विषय में बदलते समय मुख्य बातों का ध्यान रखना चाहिए नंबर वन डिकेड ध्यान नहीं रखना चाहिए कि जब आप अब से सब्जेक्ट भेजिए सेट कर ले रहे हैं तो क्या आप उसकी बेहतर तैयारी कर सकते हैं क्या उससे संबंधित आपके अच्छे नोट्स अच्छे हाथरस की बुक अवेलेबल है क्या आपको पूरा कमांड है पूरा विश्वास है क्या किस को बेहतर ढंग से लिख पाएंगे और क्या आपको इसकी कंटेंट की पूरी सही जानकारी हो गई है जिसमें आसानी से आप लिख सकते हैं तो बस ऐसी चीजों को ध्यान में रखकर के आपको तैयारी करते हैं तो निश्चित तौर पर बेहतर परिणाम की ग्रेजुएशन में अपने जो सब्जेक्ट 3 साल तक पढ़ा है और बहुत अच्छी जानकारी होगी होगी लेकिन जवाब ऑप्शनल यहां बदल कर के ले रहे हैं तो उसको ध्यान में रखना होगा कि हम किस तरह से उस ऑप्शन सब्जेक्ट को बेहतर और बेहतर ढंग से लिख सकते

upsc pariksha me aap sabhi vishay me badalte samay mukhya baaton ka dhyan rakhna chahiye number van decade dhyan nahi rakhna chahiye ki jab aap ab se subject bhejiye set kar le rahe hain toh kya aap uski behtar taiyari kar sakte hain kya usse sambandhit aapke acche notes acche hathras ki book available hai kya aapko pura command hai pura vishwas hai kya kis ko behtar dhang se likh payenge aur kya aapko iski content ki puri sahi jaankari ho gayi hai jisme aasani se aap likh sakte hain toh bus aisi chijon ko dhyan me rakhakar ke aapko taiyari karte hain toh nishchit taur par behtar parinam ki graduation me apne jo subject 3 saal tak padha hai aur bahut achi jaankari hogi hogi lekin jawab optional yahan badal kar ke le rahe hain toh usko dhyan me rakhna hoga ki hum kis tarah se us option subject ko behtar aur behtar dhang se likh sakte

यूपीएससी परीक्षा में आप सभी विषय में बदलते समय मुख्य बातों का ध्यान रखना चाहिए नंबर वन डिक

Romanized Version
Likes  250  Dislikes    views  2787
WhatsApp_icon
user

Dr. P. N. Jha

TOPPERS IAS app. Sr.Facuty, IAS Coaching.

6:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऑफिस बदलते समय आपको तीन चार बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए कि ऑफिस में बदलने का मुख्य कारण क्या है क्या वही दोस्त जो आप ऑप्शनल नया लेने जा रहे हैं उसमें भी प्राप्त है या नहीं है इस बात की समीक्षा करनी बहुत आवश्यक है दूसरी बात क्या उसने विषय के पाठ्यक्रम में कुछ ऐसा भाग है जो जन्म स्टडीज के पाठ्यक्रम से मिलता है इस पर भी गौर करना बहुत आवश्यक है क्योंकि इससे आपके समय की बचत भी होती है और दोनों को दोनों तरीके से एक बार पढ़ने पर एक प्रकार की स्पेस लाइसेंस भी वह देखने को मिलती है तो आप इसका भी ध्यान रखें तीसरी बार जो आपको ध्यान रखनी है वह यह है कि और दोनों में विषय में किस प्रकार से अलगाव है या विषय में किस प्रकार से नजदीक इससे कुछ ऐसे सब्जेक्ट है जिसके चैप्टर्स बिल्कुल एक दूसरे से मिलते नहीं ऐसे में अगर आपको एक क्वेश्चन चैप्टर वन से आ गया और दूसरा उसी क्वेश्चन का दूसरा भाग चैप्टर नाइंथ का टाइम चाहिए अंतिम चैप्टर 4 है तो वहां पर लिखने की गुंजाइश बहुत ही कम हो जाते अगर आपने सिलेक्टेड रिलीज किया है और अगर आप अपने सभी चैप्टर्स को अलग-अलग अच्छी तरीके से नहीं पढ़ लिया है कुछ विषय होते हैं जिनके चैप्टर सिक्स से मिले होते हैं और अगर आपने 12 को समझ लिया है तीसरे चौथे को समझने में आपको आसानी महसूस होगी आपको दिक्कत नहीं होगा जैसे किधर राम बात करें पंकज कि अगर हम बात करते हैं समाचार सके थिंकर्स के सौदागर प्रकार वादी दृष्टिकोण को गर्म समझ लेते हैं तो दुर्खीम पार्षद मटन इन तीनों को तीनों सिलेबस में बिल्कुल आसान अगर आपने दुर्खीम कुछ समझ लिया तो प्रशंसकों भी बहुत हद तक समझ जाएंगे मटन को भी अगर स्टेशन कम भी हो तो भी एक औसत दर्जे की समझ विकसित हुई जाएगी इस बात का भी ध्यान रखना है कि आपको दृष्टिकोण कहां कैसे सेक्स करता है तो अगर आप इस पर गौर करते हैं किसी अच्छे फीचर्स के साथ बैठकर या अपने सीनियर के साथ बैठकर तो कहीं ना कहीं आप एक पेज ले पाएंगे अपने एग्जामिनेशंस में इंसानों को ध्यान रखे आपको चेंज कर सकते हैं और इतनी बात की है उसमें बहुत भरोसा तो नहीं कह सकता जैसे कि यह मानकर चला जाता है कि जिस विषय में अधिकाधिक छात्र छात्रों की संख्या होती है उसके परिजन भी उसमें नंबर ऑफ सक्सेसफुल कैंडिडेट की अधिक होते हैं क्योंकि वह सब के साथ अन्याय होता है और वह संख्या के अनुरूप ही उतना ही 75 सक्सेसफुल छात्रों की प्रतिशतता सभी चमेली जैसे आज तकरीबन होती है तो कुछ आप ऐसा विषय डालें जो विषय में आंसर लिखने वालों की संख्या ही दो हो तीनो 510 तो ऐसे में एक परसेंट निकालने का भी महत्व नहीं है इसलिए वह ऐसे विश्व कोचीन प्रयास करें जो हमसे हो जिसमें आपकी मम्मी दाल निकल कर सामने आती हो ऐसे विश्व बोले कुछ ऐसे विषय भी है जिसमें आपको अधिक मेहनत करने की जरूरत होती है जैसे कि अगर किसी ने मेडिकल साइंस दिया है तो जाहिर सी बात है कि मेडिकल साइंसेस को लिखने वाले छात्र निश्चित रूप से एमबीबीएस होने और उनकी एक्सपर्टीज होगी उसमें थोड़ी बहुत कम भी हो सकती है सुनकर लोगों का रिजल्ट आ सकता है रुक सकता है लेकिन अगर किसी ने हिस्सा लिया है कितने स्वर जी लिया है तो उनको इंजीनियर भी हो सकते हैं डॉक्टर भी हो सकते हैं कॉमर्स का जोड़ सकते हैं मैनेजमेंट वाले को इसमें आपकी मेरा निकल कर सामने आती है तो बड़े बड़ी संख्या में लोग उसको देखते हैं संभावना है थोड़ी अधिक होती है और आपको एक कंपनी में निवेश करने पर आपकी मैदा खुद की निकल कर सामने आ सकती हैं यह विषय को पढ़ते वक्त दूसरी बातें कि इस इस इस कोर्स को करने के साथ ही साथ आपके बहुत सारे जो पाठ से वह आज भी उस पर पवन में है और जीएस पेपर 4 में है तो जाहिर सी बात है कि समय भी बचता है क्योंकि आजकल कोई भी एक ऐसा विषय लेने से पहले आप सोचना चाहिए कि कनेक्टिविटी कहीं ना कहीं जिससे है कि नहीं अगर नहीं है तो कीजिए एक मेजर पसंद है चार पेपर है उसके साथ ऐसे भी है तो कोई ऐसा फल है जो ऐसे सैया जी से कहीं न कहीं आप जैसे अगर आपने इतिहास लिया हो समाचार के लिए और तो बहुत हद तक या पब्लिक एंड ट्रेन के विषय है तो बहुत हद तक आप टीवी का मन कर सकते हैं लेकिन अगर बिल्कुल ही खेत का विषय है जो एकदम से सामाजिक यथार्थ उसे दूर है तो बॉटनी है जूलॉजी है इस तरह के विषय में आपको ऐसे पेपर में बहुत मजबूती हासिल नहीं होगी तो ऐसे बच्चों को देखा भी ज्यादा की कुल का ज्वाइंट एक्शन होता है और साइंटिफिक ओरियंटेशन लिखने का होता है और तब तक मत बोले वह योग्य छात्रों होते हैं गरीब की दुनिया में सोशल साइंस और आर्ट वालों की तुलना में उनकी पोजीशन बहुत अच्छी होती है लेकिन ऐसे लिखने टाइम में जो 250 मार्क्स होते हैं वह स्थान जो है वह उनके दिमाग से आते हैं वह 80 90 वहां पर जा कर रुक जाते हैं जबकि हॉस्टल जोशी सब्जेक्ट वाले बच्चे हैं या फिर राशि वाले बच्चे हैं उनके जो मार्क्स होते हैं वह ऐसे में पशुधन अंडर 20 अंडर 5000 के आसपास में की जा सकती अलग-अलग कारों की बात कहते हैं उसके ऊपर तो आप अकबर पास करना दूसरों पर जाना है और अच्छे-अच्छे मार्च को लाना है तो इसलिए इन सब को जानकर कि आप और सोचिए अगर आप मुझे ऑप्शन को नाम अगर आपने मुझे बताया होता तो आज भी मुझे सोने दो कि आपको अच्छी-अच्छी पॉइंट बताने के लिए देखिए किस विषय को आप छोड़ना चाह रहे और फिर से कॉपी लेना चाहें तो मैं और अच्छी तरीके से अपनी समीक्षा आपके सामने प्रस्तुत कर सकता और नेक्स्ट टाइम आप चाहे तो मुझे विषय के नाम के साथ प्रश्न करें तब मैं और तरीके बता पाऊंगा टाइम नहीं ऑल द बेस्ट

office badalte samay aapko teen char baaton ka dhyan zaroor rakhna chahiye ki office me badalne ka mukhya karan kya hai kya wahi dost jo aap optional naya lene ja rahe hain usme bhi prapt hai ya nahi hai is baat ki samiksha karni bahut aavashyak hai dusri baat kya usne vishay ke pathyakram me kuch aisa bhag hai jo janam studies ke pathyakram se milta hai is par bhi gaur karna bahut aavashyak hai kyonki isse aapke samay ki bachat bhi hoti hai aur dono ko dono tarike se ek baar padhne par ek prakar ki space license bhi vaah dekhne ko milti hai toh aap iska bhi dhyan rakhen teesri baar jo aapko dhyan rakhni hai vaah yah hai ki aur dono me vishay me kis prakar se alagav hai ya vishay me kis prakar se nazdeek isse kuch aise subject hai jiske chapters bilkul ek dusre se milte nahi aise me agar aapko ek question chapter van se aa gaya aur doosra usi question ka doosra bhag chapter ninth ka time chahiye antim chapter 4 hai toh wahan par likhne ki gunjaiesh bahut hi kam ho jaate agar aapne selected release kiya hai aur agar aap apne sabhi chapters ko alag alag achi tarike se nahi padh liya hai kuch vishay hote hain jinke chapter six se mile hote hain aur agar aapne 12 ko samajh liya hai teesre chauthe ko samjhne me aapko aasani mehsus hogi aapko dikkat nahi hoga jaise kidhar ram baat kare pankaj ki agar hum baat karte hain samachar sake Thinkers ke saudagar prakar wadi drishtikon ko garam samajh lete hain toh durkhim parshad mutton in tatvo ko tatvo syllabus me bilkul aasaan agar aapne durkhim kuch samajh liya toh prashansako bhi bahut had tak samajh jaenge mutton ko bhi agar station kam bhi ho toh bhi ek ausat darje ki samajh viksit hui jayegi is baat ka bhi dhyan rakhna hai ki aapko drishtikon kaha kaise sex karta hai toh agar aap is par gaur karte hain kisi acche features ke saath baithkar ya apne senior ke saath baithkar toh kahin na kahin aap ek page le payenge apne egjamineshans me insano ko dhyan rakhe aapko change kar sakte hain aur itni baat ki hai usme bahut bharosa toh nahi keh sakta jaise ki yah maankar chala jata hai ki jis vishay me adhikadhik chatra chhatro ki sankhya hoti hai uske parijan bhi usme number of successful candidate ki adhik hote hain kyonki vaah sab ke saath anyay hota hai aur vaah sankhya ke anurup hi utana hi 75 successful chhatro ki pratishatataa sabhi chameli jaise aaj takareeban hoti hai toh kuch aap aisa vishay Daalein jo vishay me answer likhne walon ki sankhya hi do ho teeno 510 toh aise me ek percent nikalne ka bhi mahatva nahi hai isliye vaah aise vishwa cochin prayas kare jo humse ho jisme aapki mummy daal nikal kar saamne aati ho aise vishwa bole kuch aise vishay bhi hai jisme aapko adhik mehnat karne ki zarurat hoti hai jaise ki agar kisi ne medical science diya hai toh jaahir si baat hai ki medical sciences ko likhne waale chatra nishchit roop se MBBS hone aur unki eksapartij hogi usme thodi bahut kam bhi ho sakti hai sunkar logo ka result aa sakta hai ruk sakta hai lekin agar kisi ne hissa liya hai kitne swar ji liya hai toh unko engineer bhi ho sakte hain doctor bhi ho sakte hain commerce ka jod sakte hain management waale ko isme aapki mera nikal kar saamne aati hai toh bade badi sankhya me log usko dekhte hain sambhavna hai thodi adhik hoti hai aur aapko ek company me nivesh karne par aapki maida khud ki nikal kar saamne aa sakti hain yah vishay ko padhte waqt dusri batein ki is is is course ko karne ke saath hi saath aapke bahut saare jo path se vaah aaj bhi us par pawan me hai aur GS paper 4 me hai toh jaahir si baat hai ki samay bhi bachta hai kyonki aajkal koi bhi ek aisa vishay lene se pehle aap sochna chahiye ki connectivity kahin na kahin jisse hai ki nahi agar nahi hai toh kijiye ek major pasand hai char paper hai uske saath aise bhi hai toh koi aisa fal hai jo aise saiya ji se kahin na kahin aap jaise agar aapne itihas liya ho samachar ke liye aur toh bahut had tak ya public and train ke vishay hai toh bahut had tak aap TV ka man kar sakte hain lekin agar bilkul hi khet ka vishay hai jo ekdam se samajik yatharth use dur hai toh botany hai zoology hai is tarah ke vishay me aapko aise paper me bahut majbuti hasil nahi hogi toh aise baccho ko dekha bhi zyada ki kul ka joint action hota hai aur scientific orientation likhne ka hota hai aur tab tak mat bole vaah yogya chhatro hote hain garib ki duniya me social science aur art walon ki tulna me unki position bahut achi hoti hai lekin aise likhne time me jo 250 marks hote hain vaah sthan jo hai vaah unke dimag se aate hain vaah 80 90 wahan par ja kar ruk jaate hain jabki hostel joshi subject waale bacche hain ya phir rashi waale bacche hain unke jo marks hote hain vaah aise me pashudhan under 20 under 5000 ke aaspass me ki ja sakti alag alag kaaron ki baat kehte hain uske upar toh aap akbar paas karna dusro par jana hai aur acche acche march ko lana hai toh isliye in sab ko jaankar ki aap aur sochiye agar aap mujhe option ko naam agar aapne mujhe bataya hota toh aaj bhi mujhe sone do ki aapko achi achi point batane ke liye dekhiye kis vishay ko aap chhodna chah rahe aur phir se copy lena chahain toh main aur achi tarike se apni samiksha aapke saamne prastut kar sakta aur next time aap chahen toh mujhe vishay ke naam ke saath prashna kare tab main aur tarike bata paunga time nahi all the best

ऑफिस बदलते समय आपको तीन चार बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए कि ऑफिस में बदलने का मुख्य कारण

Romanized Version
Likes  194  Dislikes    views  3137
WhatsApp_icon
user
1:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यूपीएससी परीक्षा में ऑप्शनल विषय को बदलते समय कुछ महत्वपूर्ण बातों का ध्यान बहुत आवश्यक होता है देने के लिए से ऑप्शन भी ऐसा विषय होता है जो आप किसी की सलाह से नहीं कर सकते बल्कि स्वयं इस विषय में रुचि हो ऑप्शनल का वैकल्पिक का मतलब ही होता है ऐसा कि जिसमें हम इधर अपने से भी अपने कुछ विचार धाराओं को जोड़ सकते हैं और वह विचारधारा जोहोर भी हमारी वह तर्कसंगत विचारधारा होगी तो आप सुनाओ जब भी वैकल्पिक विषय का चयन आए तो आप स्वयं अपना आकलन करो कि कौन सा विषय है जिसमें हम अपनी बातों को भी जोड़ सकते हैं पर उस पर टिप्पणी भी कर सकते हैं उसके नकारात्मक पहलुओं को भी दृष्टिकोण हम दे सकते हैं सकारात्मक पहलुओं का दृष्टिकोण दे सकते हैं इस विषय पर इन्हीं कुछ बातों का हमेशा ध्यान रखना होता है अगर यह बातों का ध्यान रखते हैं कि किस में किस विषय में मैं अपनी एक्टिविटी दिखा सकता हूं इसमें नहीं दिखा जिसमें आप दिखा सकते हैं और कर सकते हो और जिसमें नहीं दिखा पा रहे हो कुछ विचारधारा दे रहे हो हो हो सकता है स्वार्थ बस आपकी अपनी व्यक्तिगत की विचारधारा हो या किसी समुदाय से हो तो फिर आप उसमें ज्यादा देर नहीं कर सकते इसलिए ऐसे ही विषय का चयन करो और उसमें अपनी पर्सनल एक्टिविटी का भी बस विशेष आपकी जो रूचि है विशेष जो दृष्टिकोण है जिसमें अधिक बन रहा है जिसमें तर्कसंगत का अधिकार ही है कुरैशी अधिक हो रही है उसका ही आपको ध्यान रखना अनिवार्य होगा

upsc pariksha me optional vishay ko badalte samay kuch mahatvapurna baaton ka dhyan bahut aavashyak hota hai dene ke liye se option bhi aisa vishay hota hai jo aap kisi ki salah se nahi kar sakte balki swayam is vishay me ruchi ho optional ka vaikalpik ka matlab hi hota hai aisa ki jisme hum idhar apne se bhi apne kuch vichar dharaon ko jod sakte hain aur vaah vichardhara johor bhi hamari vaah tarksangat vichardhara hogi toh aap sunao jab bhi vaikalpik vishay ka chayan aaye toh aap swayam apna aakalan karo ki kaun sa vishay hai jisme hum apni baaton ko bhi jod sakte hain par us par tippani bhi kar sakte hain uske nakaratmak pahaluwon ko bhi drishtikon hum de sakte hain sakaratmak pahaluwon ka drishtikon de sakte hain is vishay par inhin kuch baaton ka hamesha dhyan rakhna hota hai agar yah baaton ka dhyan rakhte hain ki kis me kis vishay me main apni activity dikha sakta hoon isme nahi dikha jisme aap dikha sakte hain aur kar sakte ho aur jisme nahi dikha paa rahe ho kuch vichardhara de rahe ho ho ho sakta hai swarth bus aapki apni vyaktigat ki vichardhara ho ya kisi samuday se ho toh phir aap usme zyada der nahi kar sakte isliye aise hi vishay ka chayan karo aur usme apni personal activity ka bhi bus vishesh aapki jo ruchi hai vishesh jo drishtikon hai jisme adhik ban raha hai jisme tarksangat ka adhikaar hi hai qureshi adhik ho rahi hai uska hi aapko dhyan rakhna anivarya hoga

यूपीएससी परीक्षा में ऑप्शनल विषय को बदलते समय कुछ महत्वपूर्ण बातों का ध्यान बहुत आवश्यक हो

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  134
WhatsApp_icon
user

Pooja mahajan

Work At Bank

3:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका क्वेश्चन है कि यूपीएससी परीक्षा में ऑप्शनल विषय को बदलते समय हमें किन बातों का ध्यान में रखना चाहिए सबसे पहले मैं आपको जो भी अच्छे भेजो पिक्चर दीजिए कुछ सुधार परीक्षा नहीं होती है यह बहुत ही महत्वपूर्ण विषयों की परीक्षा होती है जो हमें हमारे कर्तव्य हमारी जिम्मेदारियां और हमें इस कदर तक कहां तक जोगिया बनाती है जो पैसे की उपेक्षा क्या में देश की जनता की कैसे भुलाई करनी है कैसे उनका मैटर सॉल्यूशन निकालना कैसे और कुछ और करना कैसे करें कि कल प्रॉब्लम को फेस करना ठीक है और मैं आपको यह बता रही थी कि इस परीक्षा के लिए हमें बहुत सारी तैयारी बहुत सारा चित्रकला करना पड़ता कहीं भी इतने सारे आप पढ़े लिखे इंसान भी होते हैं जो इस परीक्षा में बार-बार प्रयास करने के बाद सफल हो तो जाते पर उनको काफी सारी मेहनत करनी पड़ती काफी सारा संघर्ष करना पड़ता है ठीक है आपने क्वेश्चन क्या-क्या परीक्षा में ऑप्शनल विषय को बदलते समय में इन बातों का ध्यान रखना चाहिए लेकिन अगर आपने प्रिय कंप्लीट कर लिया फ्री में सक्सेस हो तो आपको उसके बाद फ्री के बाद मीन की परीक्षा के लिए फोकस करना पड़ता और फोकस फोकस तब होता जब आप ऑप्शनल सब्जेक्ट और जीएस 1234 कंप्लीट कर लेते हो ठीक है ऑप्शनल का जो दोस्त जैकपोट डिस्कवर gstr-4 एग्जाम मध्य ठीक है आर्थिक विकास आर्थिक हिस्ट्री पॉलिटिकल हो जाना ठीक है और आपको इन बातों का ध्यान रखना चिंटू का ध्यान रखना चाहिए सबसे पहले आपने जो अभी ऑप्शनल में सब्जेक्ट पर चुना उसकी आपको भली भांति जानकारी होनी चाहिए देखें अगर आपने वह सब्जेक्ट में इंटरेस्टेड आर आर सी है ना वह सब जाकर बचत इंटरेस्टेड है तो आप तो वहीं सब्जेक्ट ऑप्शनल में अवॉइड सेट करने पड़ेंगे जो आपके मदर लैंग्वेज के द्वार पर दिया ठीक है आपको पता भी है कि आई इस सब्जेक्ट में आपकी दीदी आपको पता है अब प्लीज वही सब यात्री के नंबर दो फिर मैं आपको यह कहोगे कि यूपीएससी ऑप्शनल सब्जेक्ट लेते समय सबसे पहले उस सब्जेक्ट के बारे में जानकारी लिखो इसके अलावा उस सब्जेक्ट की स्पीड बढ़ाओ ताकि आपको लिखने में कोई दिक्कत ना आए इसके अलावा मैं आपको जीत होगी कि इस परीक्षा को पूरे ध्यान में ध्यान पूर्वक रहकर बजे परीक्षा को परीक्षा में एग्जाम देना चाहिए क्योंकि यह परीक्षा कोई साधारण से परीक्षा तो होती नहीं है कि आप जैसे दिल के लिए आपने जो भी क्वेश्चन पुट किया है जो भी क्वेश्चन आपने लिखना है उसकी आलोचना के लिए पूरी जानकारी के साथ विस्तार के साथ देखिए मेन टू मेन पॉइंट 2 पॉइंट लिखिए और एक होंगे कि आप जितना ज्यादा में लिखोगे मेन टॉपिक वाला मेंटल सारा कुछ लिखो कि ऑप्शनल में उतने ही ज्यादा आपको मार्क्स आएंगे तुम्हें ज्यादा बताओगे तो आप प्लीज इन बातों को ध्यान में रखें इन विश्व को बदल समय ध्यान में रखे कि आप वही विशाल लोग जो जिससे आप जो आपके आपके नॉलेज में हैं

namaskar aapka question hai ki upsc pariksha me optional vishay ko badalte samay hamein kin baaton ka dhyan me rakhna chahiye sabse pehle main aapko jo bhi acche bhejo picture dijiye kuch sudhaar pariksha nahi hoti hai yah bahut hi mahatvapurna vishyon ki pariksha hoti hai jo hamein hamare kartavya hamari zimmedariyan aur hamein is kadar tak kaha tak jogiya banati hai jo paise ki upeksha kya me desh ki janta ki kaise bhulai karni hai kaise unka matter solution nikalna kaise aur kuch aur karna kaise kare ki kal problem ko face karna theek hai aur main aapko yah bata rahi thi ki is pariksha ke liye hamein bahut saari taiyari bahut saara chitrakala karna padta kahin bhi itne saare aap padhe likhe insaan bhi hote hain jo is pariksha me baar baar prayas karne ke baad safal ho toh jaate par unko kaafi saari mehnat karni padti kaafi saara sangharsh karna padta hai theek hai aapne question kya kya pariksha me optional vishay ko badalte samay me in baaton ka dhyan rakhna chahiye lekin agar aapne priya complete kar liya free me success ho toh aapko uske baad free ke baad meen ki pariksha ke liye focus karna padta aur focus focus tab hota jab aap optional subject aur GS 1234 complete kar lete ho theek hai optional ka jo dost jaikpot discover gstr 4 exam madhya theek hai aarthik vikas aarthik history political ho jana theek hai aur aapko in baaton ka dhyan rakhna chintu ka dhyan rakhna chahiye sabse pehle aapne jo abhi optional me subject par chuna uski aapko bhali bhanti jaankari honi chahiye dekhen agar aapne vaah subject me interested R R si hai na vaah sab jaakar bachat interested hai toh aap toh wahi subject optional me avoid set karne padenge jo aapke mother language ke dwar par diya theek hai aapko pata bhi hai ki I is subject me aapki didi aapko pata hai ab please wahi sab yatri ke number do phir main aapko yah kahoge ki upsc optional subject lete samay sabse pehle us subject ke bare me jaankari likho iske alava us subject ki speed badhao taki aapko likhne me koi dikkat na aaye iske alava main aapko jeet hogi ki is pariksha ko poore dhyan me dhyan purvak rahkar baje pariksha ko pariksha me exam dena chahiye kyonki yah pariksha koi sadhaaran se pariksha toh hoti nahi hai ki aap jaise dil ke liye aapne jo bhi question put kiya hai jo bhi question aapne likhna hai uski aalochana ke liye puri jaankari ke saath vistaar ke saath dekhiye main to main point 2 point likhiye aur ek honge ki aap jitna zyada me likhoge main topic vala mental saara kuch likho ki optional me utne hi zyada aapko marks aayenge tumhe zyada bataoge toh aap please in baaton ko dhyan me rakhen in vishwa ko badal samay dhyan me rakhe ki aap wahi vishal log jo jisse aap jo aapke aapke knowledge me hain

नमस्कार आपका क्वेश्चन है कि यूपीएससी परीक्षा में ऑप्शनल विषय को बदलते समय हमें किन बातों क

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  32
WhatsApp_icon
user

नरसिंह भाटी"कवि नीशू बीकानेरी"।

समाजसेवी,कवि,राजनीतिज्ञ प्रदेश महामंत्री प्र.मंत्री मन की बात राजस्थान।

1:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां मित्रों मोदी के लिए बहुत अच्छा प्रश्न है कि यूपीएससी एग्जाम में ऑप्शनल सब्जेक्ट के परिवर्तन के समय आपको क्या सावधानी बरतनी चाहिए सुमित्र मिल जाए तो यह रहेगी कि आप ओपन सब्जेक्ट की क्या आपने पड़ाव है किस सब्जेक्ट में इस विषय में आपकी रुचि रही है और इस सब्जेक्ट पर आपकी शहर में अच्छी कोचिंग अच्छी किताबें उपलब्ध है यह कुछ बात पर है जनता आप ख्याल रखेंगे तो आपको अच्छा ऑप्शन सब्जेक्ट सेंड करने में क्या उपयोग में यह करने के बाद अच्छे परिणाम गले में कुछ उनसे मिल जाएगा इन बातों का ख्याल रखें और सुरक्षा सेंड करते हो आपको सफलता अवश्य मिलेगी और यही यूपी जिला शुक्रिया शुभ संध्या आदाब आपका मित्र भागवत सर कभी न सिंह भाटी निशा बीकानेर

ji haan mitron modi ke liye bahut accha prashna hai ki upsc exam me optional subject ke parivartan ke samay aapko kya savdhani bartani chahiye sumitra mil jaaye toh yah rahegi ki aap open subject ki kya aapne padav hai kis subject me is vishay me aapki ruchi rahi hai aur is subject par aapki shehar me achi coaching achi kitaben uplabdh hai yah kuch baat par hai janta aap khayal rakhenge toh aapko accha option subject send karne me kya upyog me yah karne ke baad acche parinam gale me kuch unse mil jaega in baaton ka khayal rakhen aur suraksha send karte ho aapko safalta avashya milegi aur yahi up jila shukriya shubha sandhya adab aapka mitra bhagwat sir kabhi na Singh bhati nisha bikaner

जी हां मित्रों मोदी के लिए बहुत अच्छा प्रश्न है कि यूपीएससी एग्जाम में ऑप्शनल सब्जेक्ट के

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  123
WhatsApp_icon
user
0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऑप्शनल को बदलते समय हमें किन बातों का ध्यान रखना चाहिए जिससे ऑप्शनल को हम लेने जा रहे हो उस सब्जेक्ट में हमारे इंटरेस्ट है कि नहीं इसके अलावा उस सब्जेक्ट में अच्छे मार्क्स आ रहे हैं कि नहीं उस सब्जेक्ट में हमारा पकड़ कहते हैं इन सारी बातों को ध्यान रखना बहुत जरूरी है

optional ko badalte samay hamein kin baaton ka dhyan rakhna chahiye jisse optional ko hum lene ja rahe ho us subject mein hamare interest hai ki nahi iske alava us subject mein acche marks aa rahe hain ki nahi us subject mein hamara pakad kehte hain in saree baaton ko dhyan rakhna bahut zaroori hai

ऑप्शनल को बदलते समय हमें किन बातों का ध्यान रखना चाहिए जिससे ऑप्शनल को हम लेने जा रहे हो उ

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  2
WhatsApp_icon
user

Rahul Prajapati

Teaching Maths

0:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आश्रम विषय को बदलते समय ध्यान देना चाहिए कि उस विषय से आपकी जीएस की पेपर की कंप्लीट हो रही है कि वह अलग से तैयारी करनी पड़ती अगर अलग से तैयारी करनी पड़े तो उसके ल ल टाइम देना पड़ेगा

aashram vishay ko badalte samay dhyan dena chahiye ki us vishay se aapki GS ki paper ki complete ho rahi hai ki vaah alag se taiyari karni padti agar alag se taiyari karni pade toh uske l l time dena padega

आश्रम विषय को बदलते समय ध्यान देना चाहिए कि उस विषय से आपकी जीएस की पेपर की कंप्लीट हो रही

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  5
WhatsApp_icon
user

Pragti Tripathi

Pharmacist

0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ओम यूपीएससी परीक्षा में अफसोस विषय को बदलते समय यूपीएससी ऑप्शनल पेपर होते हैं वह आपको वहीं सेलेक्ट करनी होगी जिसमें आप एकदम हीरो ठीक है थोड़ा सा पकड़ा दिया जाता पूरा पकड़ लो उसके लिए ओके आपको अच्छा क्या लगता है कौन सी सब्जी सबसे मोस्ट इंपॉर्टेंट लगता हूं आपको अच्छा लगता है पढ़ने में इंटरेस्टिंग लगता हूं तो आप उसी को सेलेक्ट करो

om upsc pariksha me afasos vishay ko badalte samay upsc optional paper hote hain vaah aapko wahi select karni hogi jisme aap ekdam hero theek hai thoda sa pakada diya jata pura pakad lo uske liye ok aapko accha kya lagta hai kaun si sabzi sabse most important lagta hoon aapko accha lagta hai padhne me interesting lagta hoon toh aap usi ko select karo

ओम यूपीएससी परीक्षा में अफसोस विषय को बदलते समय यूपीएससी ऑप्शनल पेपर होते हैं वह आपको वहीं

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  110
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यूपीएससी की परीक्षा में ऑप्शनल विषय को बदलते समय हमें मुख्य जो विषय है जिसे यूपीएससी की तैयारी बेटर हो जाती है उस पर हमें विशेष रूप से जोड़ देना चाहिए

upsc ki pariksha mein optional vishay ko badalte samay hamein mukhya jo vishay hai jise upsc ki taiyari better ho jaati hai us par hamein vishesh roop se jod dena chahiye

यूपीएससी की परीक्षा में ऑप्शनल विषय को बदलते समय हमें मुख्य जो विषय है जिसे यूपीएससी की तै

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  3
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!