क्या किसी को ये हक़ की वो किसी के धर्म और जाति पर क्वेश्चन कर सकता है?...


user
0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल नहीं किसी को भी हक यह तो आर्टिकल ही किसी को हक नहीं दिया है कि किसी को यह हक है कि वह किसी धर्म और जाति पर क्वेश्चन कर सकता है देखिए सब अपने अपने धर्म और जाति है और जाति के हिसाब से आरक्षण है अगर कोई पार्टी अगर कोई चाहत 50% आरक्षण मांगता है तो यह गलत है जो भी पार्टी है जिस आर्टिकल के हिसाब से जितना है हां मैं यह मानता हूं कि पॉपुलेशन के हिसाब से है तो इस पर सरकार को एक बिल पास करना चाहिए और सरकार का एक वादा है कि सबका साथ सबका विकास दुबे दिल को उसी माध्यम से उसी बात को मध्य नजर देखे बिल पास करनी चाहिए और इस तरह का प्रॉब्लम खत्म करना चाहिए

bilkul nahi kisi ko bhi haq yah toh article hi kisi ko haq nahi diya hai ki kisi ko yah haq hai ki vaah kisi dharm aur jati par question kar sakta hai dekhiye sab apne apne dharm aur jati hai aur jati ke hisab se aarakshan hai agar koi party agar koi chahat 50 aarakshan mangta hai toh yah galat hai jo bhi party hai jis article ke hisab se jitna hai haan main yah manata hoon ki population ke hisab se hai toh is par sarkar ko ek bill paas karna chahiye aur sarkar ka ek vada hai ki sabka saath sabka vikas dubey dil ko usi madhyam se usi baat ko madhya nazar dekhe bill paas karni chahiye aur is tarah ka problem khatam karna chahiye

बिल्कुल नहीं किसी को भी हक यह तो आर्टिकल ही किसी को हक नहीं दिया है कि किसी को यह हक है क

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  162
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

NotInterested

NotInterested

0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हर जाति और हर धर्म का अपना महत्व है हर जाति और हर धर्म बराबर है कोई किसी से कम ज्यादा आगे पीछे नहीं है अगर आपको किसी की जाति या धर्म के बारे में जानना है तो आप कोई भी प्रश्न कर सकते हैं लेकिन आपको यह हक नहीं बनता कि आप किसी भी जाति या किसी भी धर्म के खिलाफ कोशिश करें

har jati aur har dharm ka apna mahatva hai har jati aur har dharm barabar hai koi kisi se kam zyada aage peeche nahi hai agar aapko kisi ki jati ya dharm ke bare mein janana hai toh aap koi bhi prashna kar sakte hain lekin aapko yah haq nahi banta ki aap kisi bhi jati ya kisi bhi dharm ke khilaf koshish karen

हर जाति और हर धर्म का अपना महत्व है हर जाति और हर धर्म बराबर है कोई किसी से कम ज्यादा आगे

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  165
WhatsApp_icon
play
user

Watan Ibrahim

Studying in journalism

0:44

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए अगर बात करें प्रश्न या कहां तक की बात है तो आप किसी भी धर्म और जाति के बारे में प्रश्न कर सकते हैं अगर लोगों ने प्रश्न किया होता तो सती प्रथा बाल विवाह जातिवाद आदि कुरीतियां हमारे समाज में खूब फल-फूल रही होती हैं लेकिन लोगों ने इन कुरीतियों के खिलाफ आवाज उठाई एवं उन्हें समाप्त करने के लिए हरसंभव कोशिश की गई और अंदर धरना समाप्त किया गया हे ईश्वर चाहता दूसरे पति है क्या अगर ईश्वर चाहता कि जो जैसा चल रहा है हम उसे बिना सोचे समझे स्वीकार कर लें तो हम हैं सोचने के लिए मस्तिष्क मस्तिष्क खिला देता और अंत में यह कहूंगा कि अगर आपके द्वारा किए गए तर्क का उत्तर मिलता है तो वह चीज मांगने लायक है अन्यथा वह एक विद्या या के छाले

dekhiye agar baat kare prashna ya kahaan tak ki baat hai toh aap kisi bhi dharm aur jati ke bare mein prashna kar sakte hain agar logo ne prashna kiya hota toh sati pratha baal vivah jaatiwad aadi kuritiyan hamare samaj mein khoob fal fool rahi hoti hain lekin logo ne in kuritiyon ke khilaf awaaz uthayi evam unhe samapt karne ke liye harasambhav koshish ki gayi aur andar dharna samapt kiya gaya hai ishwar chahta dusre pati hai kya agar ishwar chahta ki jo jaisa chal raha hai hum use bina soche samjhe sweekar kar le toh hum hain sochne ke liye mastishk mastishk khila deta aur ant mein yah kahunga ki agar aapke dwara kiye gaye tark ka uttar milta hai toh vaah cheez mangne layak hai anyatha vaah ek vidya ya ke chhale

देखिए अगर बात करें प्रश्न या कहां तक की बात है तो आप किसी भी धर्म और जाति के बारे में प्रश

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  229
WhatsApp_icon
user

Sefali

Media-Ad Sales

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी की जाति या धर्म के बारे में किसी को भी कोई भी गलत बोलने का कोई अधिकार नहीं है। पहली बात तो सिर्फ इंसानियत सबसे बड़ी तभी बनती है जब आप एक दूसरे की जाति या धर्म को वही सेम ईक्वालिटी देते हैं और वह सेम रिस्पेक्ट देते हैं। आप अगर वह नहीं दे सकते तो भी आपको कोई हक नहीं है कि आप उन्हें नीचा दिखाए। हां आप अगर किसी नया कल्चर या कोई रिलिजन के बारे में नया जानना चाहते हैं, ऐसे एक्स्प्लोर करना चाहते उनके ट्रेडिशनस के बारे में, वो अलग बात होती है। पर उनके बारे में गलत बोलने या फिर नीचे दिखाना, यह कोई समझदारी या फिर कोई इंसानियत की बात नहीं। आप अगर उनको नहीं दे सकते रिस्पेक्ट तो आपको भी जो सामने वाला है वह रिस्पेक्ट नहीं दे सकता।

kisi ki jati ya dharm ke bare mein kisi ko bhi koi bhi galat bolne ka koi adhikaar nahi hai pehli baat toh sirf insaniyat sabse badi tabhi banti hai jab aap ek dusre ki jati ya dharm ko wahi same ikwaliti dete hain aur vaah same respect dete hain aap agar vaah nahi de sakte toh bhi aapko koi haq nahi hai ki aap unhe nicha dekhiye haan aap agar kisi naya culture ya koi religion ke bare mein naya janana chahte hain aise explore karna chahte unke tredishanas ke bare mein vo alag baat hoti hai par unke bare mein galat bolne ya phir niche dikhana yah koi samajhdari ya phir koi insaniyat ki baat nahi aap agar unko nahi de sakte respect toh aapko bhi jo saamne vala hai vaah respect nahi de sakta

किसी की जाति या धर्म के बारे में किसी को भी कोई भी गलत बोलने का कोई अधिकार नहीं है। पहली ब

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  274
WhatsApp_icon
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आदित्य ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कि किसी के पास जो है वह किसी और के जातीय धर्म पर जो है वह कमेंट करने का याद किसी को उठाया नहीं था कहने का बिल्कुल भी हक़ है जीने हर धर्म के लोग हर जाति के लोग आजकल जो है वह बहुत सारे लोग जो यह सब चीजों को पीछे छोड़ चुके हैं और और एक ऐसा जो है मुंबई की खुशी से रहते हैं और एक दूसरे से कंधे से कंधा मिलाकर काम करते हैं और अपने देश की उन्नति और विकास के लिए जो है अपना योगदान देते हैं आ रही है सब जो चीज है वह पुरानी हो गई है लेकिन अभी भी कई पॉलिटिशन जो है वह जाति और धर्म के नाम पर जो है वह अपना वोट किसने का जो है वह पूरा पूरा कोशिश करते हैं दो गुटों में झगड़ा करवा देते हैं इसके अलावा देते हैं भड़काऊ भाषण देते हैं तो यह लो कोई मैसेज ऐसे करूंगा कि लोगों को जो है यह लिरिक्स को फॉलो नहीं करना चाहिए उनकी बातों में नहीं आना चाहिए और मैं चाहता हूं कि पूरी दुनिया में खाली एक ही धर्म है और वह है इंसानियत का धर्म एक ही जाती है और वह है इंसानियत की जाती लोग और जो है अपने अपने आसपास के लोगों को खुश रखना चाहिए और हम मिल बांट के अच्छे से खुशी से काम करना चाहिए

aditya aisa bilkul bhi nahi hai ki kisi ke paas jo hai vaah kisi aur ke jatiye dharm par jo hai vaah comment karne ka yaad kisi ko uthaya nahi tha kehne ka bilkul bhi haq hai jeene har dharm ke log har jati ke log aajkal jo hai vaah bahut saare log jo yah sab chijon ko peeche chod chuke hain aur aur ek aisa jo hai mumbai ki khushi se rehte hain aur ek dusre se kandhe se kandha milakar kaam karte hain aur apne desh ki unnati aur vikas ke liye jo hai apna yogdan dete hain aa rahi hai sab jo cheez hai vaah purani ho gayi hai lekin abhi bhi kai politician jo hai vaah jati aur dharm ke naam par jo hai vaah apna vote kisne ka jo hai vaah pura pura koshish karte hain do guton mein jhagda karva dete hain iske alava dete hain bhadkau bhashan dete hain toh yah lo koi massage aise karunga ki logo ko jo hai yah lyrics ko follow nahi karna chahiye unki baaton mein nahi aana chahiye aur main chahta hoon ki puri duniya mein khaali ek hi dharm hai aur vaah hai insaniyat ka dharm ek hi jaati hai aur vaah hai insaniyat ki jaati log aur jo hai apne apne aaspass ke logo ko khush rakhna chahiye aur hum mil baant ke acche se khushi se kaam karna chahiye

आदित्य ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कि किसी के पास जो है वह किसी और के जातीय धर्म पर जो है वह कम

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  173
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!