क्या हत्या या शारीरिक रूप से प्रताड़ित करने की खुली धमकी देने वाले लोगो को कानून द्वारा सज़ा दी जानी चाहिए?...


user

Ansh jalandra

Motivational speaker

0:26
Play

Likes  132  Dislikes    views  2538
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी मुझे लगता है कि छोटी मोटी लड़ाइयां होना तो हमारे देश में आम बात हैं और ऐसी धमकियां भी रोज ही दी जाती हैं तो हर छोटी धमकी पर अगर इसे सजा होने लगी तो सब लोग ही जेल में बैठ जाएंगे और दूसरी तरफ में यह भी कहना चाहूंगी एक उदाहरण के साथ कैसे पद्मावती मूवी जो है उसके रिलीज को लेकर इतने ज्यादा प्रदर्शन हो रहा है और धमकी दी गई है दीपिका पादुकोण के संजय लीला भंसाली के सिर काटने की तो ऐसे मामलों में मुझे लगा कि छोटी मोटी लड़ाई उनसे ज्यादा ध्यान ना देखूं तो ऐसे बड़े मामले हैं बड़े से मेरा मतलब सिर्फ और फेमस लोगों से नहीं है बल्कि ऐसे की लड़ाई बढ़ चुकी है लड़ाई बहुत ज्यादा है तो सरकार को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि ऐसे धमकी देने देने वाले लोगों पर सख्त कार्रवाई हो कि हम नहीं समझ सकते कि जो इंसान धमकी दे रहा है वह सेक्स मतलब आप डराने के लिए कर रहा है कि वह सच में मैं सटा मटाक कर सकता है तो अगर आज जिसके जिसको लेकर यह धमकी दी गई है जिस इंसान को एकदम से दिख रही है उससे पुलिस के पास जाना चाहिए और बोलना चाहिए कि उसकी जान को खतरा है और ऐसे ऐसे लोगों ने धमकी दी है और पुलिस को तक उस इंसान को पकड़कर उसे जरूर छोटी मोटी है बड़ी उसके उसके हिसाब से उस उस सिचुएशन की गंभीरता के हिसाब से उसे वह सजा देनी चाहिए ताकि सब धमकी धमकी अच्छाई में ना बदल जाए

dekhi mujhe lagta hai ki choti moti ladaiyan hona toh hamare desh mein aam baat hain aur aisi dhamkiyan bhi roj hi di jaati hain toh har choti dhamki par agar ise saza hone lagi toh sab log hi jail mein baith jaenge aur dusri taraf mein yah bhi kehna chahungi ek udaharan ke saath kaise padmavati movie jo hai uske release ko lekar itne zyada pradarshan ho raha hai aur dhamki di gayi hai deepika padukone ke sanjay leela bhansali ke sir katne ki toh aise mamlon mein mujhe laga ki choti moti ladai unse zyada dhyan na dekhu toh aise bade mamle hain bade se mera matlab sirf aur famous logo se nahi hai balki aise ki ladai badh chuki hai ladai bahut zyada hai toh sarkar ko yah sunishchit karna chahiye ki aise dhamki dene dene waale logo par sakht karyawahi ho ki hum nahi samajh sakte ki jo insaan dhamki de raha hai vaah sex matlab aap darane ke liye kar raha hai ki vaah sach mein main sata matak kar sakta hai toh agar aaj jiske jisko lekar yah dhamki di gayi hai jis insaan ko ekdam se dikh rahi hai usse police ke paas jana chahiye aur bolna chahiye ki uski jaan ko khatra hai aur aise aise logo ne dhamki di hai aur police ko tak us insaan ko pakadakar use zaroor choti moti hai badi uske uske hisab se us us situation ki gambhirta ke hisab se use vaah saza deni chahiye taki sab dhamki dhamki acchai mein na badal jaaye

देखी मुझे लगता है कि छोटी मोटी लड़ाइयां होना तो हमारे देश में आम बात हैं और ऐसी धमकियां भी

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  26
WhatsApp_icon
user

.

Hhhgnbhh

1:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए अगर हम बात करें भारत देश की तो यहां पे अगर दो बच्चे भी लड़ जाते हैं, तो वह मासूमियत में बोल देते हैं कि मैं तुझे मार दूंगा पर उनका मतलब वह नहीं होता ताकि वे सही में मारने वाले हैंl सो धमकियो में से या में को कहना चाहिए हजार धमकियों में से एक धमकी सच होती हैl तो ऐसे अगर हम हर धमकी देने वाले को अगर हम लोग आज कानूनी सजा देना शुरु कर देंगे, तो मैं को लगता है कि हाँ हजार लोग जो धमकियां देने वाले होंगे वो घटकर सिर्फ दस हो जाएंगेl ज्यादा लोग धमकिया नहीं देंगे सजा के डर से पर अगर हो सकता है कि जो ९९० लोगों ने धमकिया नहीं दी है उन्ही में से वो एक व्यक्ति हो जिसने अपने दिल के अंदर वो भावना छुपा ली हो और वो बाद में वो चीज़ कर सकता हैl तो अगर हम लोग बोलने वालों को भी अगर हम सजा देने लगेंगे तो मुझे नहीं लगता कि वो एक सलूशन होगा क्योंकि जिसने जो करना होगा वो तो वह करके रहेगा हीl हमें अगर किसी से थ्रेट लगता है या ऐसा कुछ होता है, तो हमें उसी टाइम कंप्लेन करनी चाहिए ताकि हमें पुलिस से सुरक्षा मिले, मिल पाए और उस व्यक्ति को कुछ फाइन वगैरह हम लगा सकते हैंl जो भी धमकी देगा ऐसी उसको हम लोग हाँ का एक छोटा मोटा फाइन जरुर लगा सकते हैं पर उसे पनिश पर उसे जेल में डालना है ,उसको से ज्यादा बड़ी पनिशमेंट देना थोड़ी गलत बात होगीl

dekhiye agar hum baat kare bharat desh ki toh yahan pe agar do bacche bhi lad jaate hai toh vaah masumiyat mein bol dete hai ki main tujhe maar dunga par unka matlab vaah nahi hota taki ve sahi mein maarne waale hai so dhamkiyo mein se ya mein ko kehna chahiye hazaar dhamkiyo mein se ek dhamki sach hoti hai toh aise agar hum har dhamki dene waale ko agar hum log aaj kanooni saza dena shuru kar denge toh main ko lagta hai ki haan hazaar log jo dhamkiyan dene waale honge vo ghatakar sirf das ho jaenge zyada log dhamkiyan nahi denge saza ke dar se par agar ho sakta hai ki jo 990 logo ne dhamkiyan nahi di hai unhi mein se vo ek vyakti ho jisne apne dil ke andar vo bhavna chupa li ho aur vo baad mein vo cheez kar sakta hai toh agar hum log bolne walon ko bhi agar hum saza dene lagenge toh mujhe nahi lagta ki vo ek salution hoga kyonki jisne jo karna hoga vo toh vaah karke rahega hi hamein agar kisi se threat lagta hai ya aisa kuch hota hai toh hamein usi time complain karni chahiye taki hamein police se suraksha mile mil paye aur us vyakti ko kuch fine vagera hum laga sakte hai jo bhi dhamki dega aisi usko hum log haan ka ek chota mota fine zaroor laga sakte hai par use punish par use jail mein dalna hai usko se zyada baadi punishment dena thodi galat baat hogi

देखिए अगर हम बात करें भारत देश की तो यहां पे अगर दो बच्चे भी लड़ जाते हैं, तो वह मासूमियत म

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  10
WhatsApp_icon
user

Anukrati

Journalism Graduate

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह पहले ही हमारे कानून में शामिल है आईपीसी 506 के तहत किसी को भी हत्या या शारीरिक रूप से प्रताड़ित करने की खुली धमकी देने वालों के खिलाफ कंप्लेंट दर्ज की जा सकती है मुझे लगता है ऐसा सही भी है क्योंकि ऐसी धमकियों से विक्रम सीमेंट ली है रात होते हैं और इसके लिए धमकी देने वाले को रिस्पॉन्सिबिलिटी उठानी चाहिए

yah pehle hi hamare kanoon mein shaamil hai ipc 506 ke tahat kisi ko bhi hatya ya sharirik roop se pratarit karne ki khuli dhamki dene walon ke khilaf complaint darj ki ja sakti hai mujhe lagta hai aisa sahi bhi hai kyonki aisi dhamkiyo se vikram cement li hai raat hote hain aur iske liye dhamki dene waale ko rispansibiliti uthani chahiye

यह पहले ही हमारे कानून में शामिल है आईपीसी 506 के तहत किसी को भी हत्या या शारीरिक रूप से प

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  140
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
सटा मटाक ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!