पूर्व प्रधानमंत्री नोटबंदी को महा घोटाला संगठित लूट बता रहे हैं क्या मनमोहनजी झूठे हैं?...


play
user

Neha S

UPSC कोच

0:59

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

न्यूज़ में एक और पक्ष के लोग नोटबंदी की तारीफ नहीं करते रुकते कि काला धन आ जाएगा लगाम लग जाएगी बेस्ट सारा काला दुनिया तो बाहर आ जाएगा या बर्बाद हो जाएगा और दूसरे पक्ष के लोग नेता यह कहते हैं कि सरकार का एक बहुत बड़ा घोटाला है नोटबंदी से गरीब पर वार किया जा रहा है इस नोटबंदी समीर पर इतना सारा इतना असर नहीं पड़ेगा जितना कि गरीब बेचारा मर जाएगा इसमें मेरा एक छोटा सा कि मनमोहन सिंह जो भी कह रहे हैं उनका एक अपना आउटलुक है अगर विचार किया जाए तो प्राइम मिनिस्टर साहब भी गलत नहीं है अगर उनके कुछ योजनाओं के बारे में विचार करें तो लगता है कि जैसे ही सभी योजना इसी वक्त की तैयारी के लिए किसी की धन जन धन योजना इस योजना के तहत सभी अमीर गरीब लोगों को बैंक खाता होना उनकी मेहनत की कमाई बैंक में जमा होती उनके पास ATM कार्ड होता प्लास्टिक मनी ₹1 और आज एक वक्त था जो अपनी जरुरत का सामान साफ करके खरीदने होते हैं इतना ज्यादा ही नौकरी Politics हो गया है कि यह सारी चीजें नहीं हो पाई थोड़ा समय देना चाहिए और विपक्ष और पक्ष पक्ष

news mein ek aur paksh ke log notebandi ki tareef nahi karte rukte ki kaala dhan aa jaega lagaam lag jayegi best saara kaala duniya toh bahar aa jaega ya barbad ho jaega aur dusre paksh ke log neta yah kehte hain ki sarkar ka ek bahut bada ghotala hai notebandi se garib par war kiya ja raha hai is notebandi sameer par itna saara itna asar nahi padega jitna ki garib bechaara mar jaega isme mera ek chota sa ki manmohan Singh jo bhi keh rahe hain unka ek apna outlook hai agar vichar kiya jaaye toh prime minister saheb bhi galat nahi hai agar unke kuch yojnao ke bare mein vichar kare toh lagta hai ki jaise hi sabhi yojana isi waqt ki taiyari ke liye kisi ki dhan jan dhan yojana is yojana ke tahat sabhi amir garib logo ko bank khaata hona unki mehnat ki kamai bank mein jama hoti unke paas ATM card hota plastic money Rs aur aaj ek waqt tha jo apni zaroorat ka saamaan saaf karke kharidne hote hain itna zyada hi naukri Politics ho gaya hai ki yah saree cheezen nahi ho payi thoda samay dena chahiye aur vipaksh aur paksh paksh

न्यूज़ में एक और पक्ष के लोग नोटबंदी की तारीफ नहीं करते रुकते कि काला धन आ जाएगा लगाम लग ज

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  315
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!