देश को RSS जैसे संघ से क्या लाभ मिलता है?...


play
user

Ravi Sharma

Advocate

1:29

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर आप RSS का इतिहास उठा कर देखेंगे तो उस की मूल भावना चुकी स्वयं सेवा की है उसको जानने का आप को मौका मिलेगा RSS जैसे संग भारत के विकास के लिए बहुत ही आवश्यक हैं एकता अखंडता की भावना जिस प्रकार से RSS ने भारत की नसों में गोली है उससे भारत के आम नागरिक को भारत के प्रति जो राष्ट्रप्रेम है जो देश भक्ति है उसको जानने व उसका निर्माण करने का एक उचित अवसर प्राप्त हुआ है यदि आप पुराने स्वयंसेवको को जानेंगे तो आपको पता लगेगा कि अपना परिवार व्यवस्थाएं नौकरी सब कुछ छोड़कर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ जैसे संगठनों से जुड़ने का उनका एक ही लक्ष्य होता था वह होता था राष्ट्र सेवा किसी भी धर्म जाति संप्रदाय से ऊपर उठकर राष्ट्र की सेवा में लगे हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ताओं को मैं हार्दिक अभिनंदन करता हूं वह उनका चरण वंदन करता हूं कि जिस प्रकार उन्होंने भारत में पिछले अपने 70 से 80 सालों में अपने निर्माण के बाद जिस प्रकार से योगदान दिया है भारत की एकता अखंडता व राष्ट्रभक्ति के समर्पित लोगों को जिस प्रकार से उन्होंने खड़ा किया है एक से बढ़कर एक नेता चाहे वह अटल बिहारी वाजपेई जी हूं चाहे वह नरेंद्र मोदी जी वह उनको अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय मंच पर लाकर खड़ा किया है ऐसे RSS को मेरा शत-शत प्रणाम धंयवाद

agar aap RSS ka itihas utha kar dekhenge toh us ki mul bhavna chuki swayam seva ki hai usko jaanne ka aap ko mauka milega RSS jaise sang bharat ke vikas ke liye bahut hi aavashyak hain ekta akhandata ki bhavna jis prakar se RSS ne bharat ki nason mein goli hai usse bharat ke aam nagarik ko bharat ke prati jo rashtraprem hai jo desh bhakti hai usko jaanne va uska nirmaan karne ka ek uchit avsar prapt hua hai yadi aap purane swayansevako ko jaanege toh aapko pata lagega ki apna parivar vyavasthaen naukri sab kuch chhodkar rashtriya swayamsevak sangh jaise sangathano se judne ka unka ek hi lakshya hota tha vaah hota tha rashtra seva kisi bhi dharm jati sampraday se upar uthakar rashtra ki seva mein lage hue rashtriya swayamsevak sangh ke karyakartaon ko main hardik abhinandan karta hoon vaah unka charan vandan karta hoon ki jis prakar unhone bharat mein pichle apne 70 se 80 salon mein apne nirmaan ke baad jis prakar se yogdan diya hai bharat ki ekta akhandata va rashtra bhakti ke samarpit logo ko jis prakar se unhone khada kiya hai ek se badhkar ek neta chahen vaah atal bihari vajpayee ji hoon chahen vaah narendra modi ji vaah unko antararashtriya aur rashtriya manch par lakar khada kiya hai aise RSS ko mera shat shat pranam dhanyvad

अगर आप RSS का इतिहास उठा कर देखेंगे तो उस की मूल भावना चुकी स्वयं सेवा की है उसको जानने का

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  381
WhatsApp_icon
8 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Abhay Pratap

Advocate | Social Welfare Activist

1:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महान देश भारत में आर्य उसकी गरिमा है जब भी देश पर कोई आफत आई सनातन धर्म पर कोई आफत आए तब r.s.s. संघ ने ऐसी समस्याओं का निराकरण में अतुल्य सहयोग दिया संघ का मूल उद्देश्य राष्ट्र की गरिमा राष्ट्र के व्यक्ति की संप्रभुता और उनको श्रेष्ठ बनाना ही मार्गदर्शन के रूप में स्वीकार करती हैं भेदभाव से रहित और हिंदुत्व की प्रखर दीप की तरह संघ विश्व में कल्याण की अभिलाषा रखता है आर एस हर हिंदुत्व के लिए एक गरिमा है जिससे लोगों को जोड़ना चाहिए सही बात लाभ के दो लाभ तो आपके विचारों से आपको मिल सकता है और बिछड़ सकता है लेकिन आर एस एस संघ से भारत को बहुत लाभ हुआ आर एस एस के ही याद सेवक या हम कह सकते हैं कि आर एस एस के छोटे-छोटे चौकीदार कह सकते हैं उन्हें जो नरेंद्र मोदी हैं और अनेकों ऐसे नेता है जो आर एस एस के छोटे से सिपाही है लेकिन आज भी गरिमा है राष्ट्र की तो इसलिए आर एस एस भारत के लिए सबसे बड़ी यूनिवर्सिटी है सबसे बड़ी औद्योगिक क्रांति में छेत्र है और सबसे महान संग है

mahaan desh bharat mein arya uski garima hai jab bhi desh par koi afat I sanatan dharm par koi afat aaye tab r s s sangh ne aisi samasyaon ka nirakaran mein atulya sahyog diya sangh ka mul uddeshya rashtra ki garima rashtra ke vyakti ki samprabhuta aur unko shreshtha banana hi margdarshan ke roop mein sweekar karti hain bhedbhav se rahit aur hindutv ki prakhar deep ki tarah sangh vishwa mein kalyan ki abhilasha rakhta hai R s har hindutv ke liye ek garima hai jisse logo ko jodna chahiye sahi baat labh ke do labh toh aapke vicharon se aapko mil sakta hai aur bichhad sakta hai lekin R s s sangh se bharat ko bahut labh hua R s s ke hi yaad sevak ya hum keh sakte hain ki R s s ke chote chhote chaukidaar keh sakte hain unhe jo narendra modi hain aur anekon aise neta hai jo R s s ke chote se sipahi hai lekin aaj bhi garima hai rashtra ki toh isliye R s s bharat ke liye sabse badi university hai sabse badi audyogik kranti mein chetra hai aur sabse mahaan sang hai

महान देश भारत में आर्य उसकी गरिमा है जब भी देश पर कोई आफत आई सनातन धर्म पर कोई आफत आए तब r

Romanized Version
Likes  96  Dislikes    views  384
WhatsApp_icon
user
0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देश में आर एस एस जैसे संघ से बहुत लाभ होता है यह एक ऐसा किला संगठन है आज के दिनों में हमारे देश में जो स्वयं सेवा करके पूरे राष्ट्र की सेवा कर रहा है यह ना ही अपने को स्वयंसेवक है बल्कि पूरे राष्ट्र के सेवक बनकर पूरी राष्ट्रीय जनता की सेवा कर रहे हैं और सही मायने में यही देश के भक्त हैं

desh me R S S jaise sangh se bahut labh hota hai yah ek aisa kila sangathan hai aaj ke dino me hamare desh me jo swayam seva karke poore rashtra ki seva kar raha hai yah na hi apne ko swayamsevak hai balki poore rashtra ke sevak bankar puri rashtriya janta ki seva kar rahe hain aur sahi maayne me yahi desh ke bhakt hain

देश में आर एस एस जैसे संघ से बहुत लाभ होता है यह एक ऐसा किला संगठन है आज के दिनों में हमार

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  123
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न है देश को आगे से जैसे तंग से क्या लाभ मिलता है आपकी जानकारी के लिए मैं बता दूं आदि त्याग तपस्या बलिदान देश हित के लिए अपना बलिदान देने के लिए तत्पर रहते हैं चाहे वह भारत चीन का युद्ध हो उसने भी संघ के कार्यकर्ताओं ने युद्ध में अपने प्रधानमंत्री के एक बुलावे पर हजारों कार्यकर्ता इकट्ठे हो गए या किसी देश में किसी भी प्रकार की आपदा बिना में यह तैयार रहता है समाज की छोटी से छोटी इकाई तक यह अपनी सेवाएं उठ जाता है तथा राष्ट्र को एक अवैध युद्ध के रूप में खड़ा करने के लिए यह दिन रात तक रहता है सनकी कार्यकर्ता निस्वार्थ भाव से इस राष्ट्र की सेवा में लगे हुए रहते हैं इसलिए कह तो आज के समय में राष्ट्रहित के लिए आदित्य बहुत ही अच्छा संगठन है और इसके लिए और भी संगठन बनने चाहिए धन्यवाद

namaskar aapka prashna hai desh ko aage se jaise tang se kya labh milta hai aapki jaankari ke liye main bata doon aadi tyag tapasya balidaan desh hit ke liye apna balidaan dene ke liye tatpar rehte hain chahen vaah bharat china ka yudh ho usne bhi sangh ke karyakartaon ne yudh me apne pradhanmantri ke ek bulaave par hazaro karyakarta ikatthe ho gaye ya kisi desh me kisi bhi prakar ki aapda bina me yah taiyar rehta hai samaj ki choti se choti ikai tak yah apni sevayen uth jata hai tatha rashtra ko ek awaidh yudh ke roop me khada karne ke liye yah din raat tak rehta hai sanaki karyakarta niswarth bhav se is rashtra ki seva me lage hue rehte hain isliye keh toh aaj ke samay me Rastrahit ke liye aditya bahut hi accha sangathan hai aur iske liye aur bhi sangathan banne chahiye dhanyavad

नमस्कार आपका प्रश्न है देश को आगे से जैसे तंग से क्या लाभ मिलता है आपकी जानकारी के लिए मैं

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  124
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

RSS का मतलब होता है राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ जो कि आम आदमी आने की हम जैसे आम आदमियों के लिए मदद लेकर हर जगह पहुंच जाते हैं कहीं भी कोई बाधा आती है कहीं भी किसी इंसान का काम नहीं हो रहा होता है कहीं भी कोई मजदूर कोई गरीब इंसान किसी मुसीबत में होता है तो वह हमेशा मदद के लिए तैयार रहते हैं यह लोग कभी शादी नहीं करते अपना परिवार नहीं बताते और हमेशा अपना पूरा समय और देश के लिए अर्पण कर देते हैं तो यह कहना बिल्कुल सही होगा कि देश को RSS जैसे संघ की बहुत ज्यादा जरूरत है और बहुत ज्यादा लाभ भी मिलता है और जब हम सभी जानते हैं कि हमारे प्राइम मिनिस्टर मोदी जी भी पहले rss में ही काम करते थे और उसके बाद उन्होंने भारतीय जनता पार्टी ज्वाइन की और भारतीय जनता पार्टी तो RSS की ही देन है RSS के लोगों ने इस पार्टी को बनाया था क्योंकि आज हमारे इंडिया में प्राइम मिनिस्टर भी उसी पार्टी से बिलोंग करते हैं

RSS ka matlab hota hai rashtriya swayamsevak sangh jo ki aam aadmi aane ki hum jaise aam adamiyo ke liye madad lekar har jagah pohch jaate hain kahin bhi koi badha aati hai kahin bhi kisi insaan ka kaam nahi ho raha hota hai kahin bhi koi majdur koi garib insaan kisi musibat mein hota hai toh vaah hamesha madad ke liye taiyar rehte hain yah log kabhi shadi nahi karte apna parivar nahi batatey aur hamesha apna pura samay aur desh ke liye arpan kar dete hain toh yah kehna bilkul sahi hoga ki desh ko RSS jaise sangh ki bahut zyada zarurat hai aur bahut zyada labh bhi milta hai aur jab hum sabhi jante hain ki hamare prime minister modi ji bhi pehle R mein hi kaam karte the aur uske baad unhone bharatiya janta party join ki aur bharatiya janta party toh RSS ki hi then hai RSS ke logo ne is party ko banaya tha kyonki aaj hamare india mein prime minister bhi usi party se belong karte hain

RSS का मतलब होता है राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ जो कि आम आदमी आने की हम जैसे आम आदमियों के लिए

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  192
WhatsApp_icon
user

Sameer Tripathy

Political Critic

0:56
Play

Likes  1  Dislikes    views  39
WhatsApp_icon
user

Janak

An Enthusiastic Entrepreneur.

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे पसंद नहीं तो यह लगता है कि RSS जैसे संघों से देश को लाभ होता है वह यूनिटी का होता है और लोग एक साथ आते हैं एक जैसे विचार वाले लोग एक साथ आते हैं ऑर्गेनाइजेशन बनाते हैं लाइन नए नए लोगों से मिलते हैं और एक ही रोटी बनाते हैं काम करते हैं जब भी भी एक इमरजेंसी की इमरजेंसी जनरेट हो देश में जब भी कुछ प्रॉब्लम है तो उन्हें पता है कि हमारे फोन के पास उनकी पूरी टीम है जो भी काम कर सकती है और देश की भलाई कर सकती है वही कंप्लीटली नेशनल सर्विस स्कीम है जो उसे फॉर सेक्स और समाज सेवा के लिए काम करती है ना ही इसमें कुछ ना कुछ बेनिफिट नहीं उनको इस चीज यह सब करने से कुछ पैसे मिलते हैं नहीं ऐसा कुछ होता है कंप्यूटर आर्गेनाईजेशन है जो आंख से देश के हित के लिए काम करती है

mujhe pasand nahi toh yah lagta hai ki RSS jaise sanghon se desh ko labh hota hai vaah unity ka hota hai aur log ek saath aate hain ek jaise vichar waale log ek saath aate hain organization banate hain line naye naye logo se milte hain aur ek hi roti banate hain kaam karte hain jab bhi bhi ek emergency ki emergency generate ho desh mein jab bhi kuch problem hai toh unhe pata hai ki hamare phone ke paas unki puri team hai jo bhi kaam kar sakti hai aur desh ki bhalai kar sakti hai wahi completely national service scheme hai jo use for sex aur samaj seva ke liye kaam karti hai na hi isme kuch na kuch benefit nahi unko is cheez yah sab karne se kuch paise milte hain nahi aisa kuch hota hai computer organisation hai jo aankh se desh ke hit ke liye kaam karti hai

मुझे पसंद नहीं तो यह लगता है कि RSS जैसे संघों से देश को लाभ होता है वह यूनिटी का होता है

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  129
WhatsApp_icon
user

Vatsal

Engineering Student

0:60
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वी आर एस एस का मतलब राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ आर्गेनाइजेशन ऐसे ही मतलब ऐसे मेंबर से हिंदू धर्म की रक्षा करने के लिए मौजूद है एक उद्देश्य हिंदूवादी फैलाना तो हिंदू भी बातें करना हिंदूवाद के बारे में बातें करना और हिंदुओं के दोहे और उनके धर्म की रक्षा करना जरुरत नहीं है क्योंकि सब समान धर्म को सब समान स्टेटस के रहते हैं यहां पर प्रदेश में सबका सम्मान प्रकार है और हर धर्म की आड़ जाति के लोग रहते हैं वह चीज अलग है की कोई जाति कोई धर्म अपने आपको ऐसा महसूस करेगी उसके खिलाफ अन्याय हो रहा है तो उसके लिए ऐसे संग ऐसे आर्गेनाइजेशन खड़े हो जाते हैं और उसकी मौजूदगी वर्ष के लिए लेकिन अगर देखा जाए तो ऐसी चीजों को केवल धर्म को जातिवाद को बटवारे की राजनीति के बंटवारे का कारण पैदा होता है इन चीजों की वजह से स्क्रीन की कोई जरूरत नहीं है

v R s s ka matlab rashtriya swayamsevak sangh organisation aise hi matlab aise member se hindu dharm ki raksha karne ke liye maujud hai ek uddeshya hinduvaadi faillana toh hindu bhi batein karna hinduvad ke bare mein batein karna aur hinduon ke dohe aur unke dharm ki raksha karna zarurat nahi hai kyonki sab saman dharm ko sab saman status ke rehte hain yahan par pradesh mein sabka sammaan prakar hai aur har dharm ki aad jati ke log rehte hain vaah cheez alag hai ki koi jati koi dharm apne aapko aisa mehsus karegi uske khilaf anyay ho raha hai toh uske liye aise sang aise organisation khade ho jaate hain aur uski maujudgi varsh ke liye lekin agar dekha jaaye toh aisi chijon ko keval dharm ko jaatiwad ko batware ki raajneeti ke batware ka karan paida hota hai in chijon ki wajah se screen ki koi zarurat nahi hai

वी आर एस एस का मतलब राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ आर्गेनाइजेशन ऐसे ही मतलब ऐसे मेंबर से हिंदू धर

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  149
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!