हमारे देश को किसकी ज़रूरत पहले है- बुलेट ट्रेन की या भुखमरी मिटाने की?...


user

Ravi Sharma

Advocate

1:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में जहां भुखमरी बेरोजगारी व गरीबी का प्रभाव चारों तरफ देखा जा सकता है ऐसे में बुलेट ट्रेन चलाने से पहले जरूरी है कि भारत की मूलभूत आवश्यकताएं जो है जैसे गरीब से गरीब इंसान की भूख मिटाना उनको रोजगार के समान अवसर प्रदान करना तथा शिक्षित बेरोजगारी को दूर करना पर सबसे अधिक महत्वपूर्ण है बजाय इसके कि हम आधुनिक मंच पर एक दिखावे के लिए बुलेट मेट्रो व अन्य परियोजनाओं को आडंबर जनता के सामने रखें परंतु यह भी उतना ही सत्य है कि भारत एक विकासशील अर्थव्यवस्था है वह अंतरराष्ट्रीय मंच पर भारत को एक अच्छा निवेश स्थल दिखाने के लिए पहुंच को शोकेस करने के लिए हमें जरूरी है कि हम अंतर्राष्ट्रीय मंच पर अति आधुनिक सुविधाओं को निवेशकों के समक्ष प्रस्तुत करें और इसी प्रकार से प्रस्तुत किया जा सकता है कि भारत में नवीन उत्तम टेक्नोलॉजी व तकनीक का प्रयोग भारत की जनता और भारत के राजनेता कर रहे हैं इसी के माध्यम से हम अंतर्राष्ट्रीय मंच पर भारत के अच्छी छवि बना सकते हैं परंतु यह भी उतना ही महत्वपूण है कि जितना निवेश अमित अत्याधुनिक परियोजनाओं में कर रहे हैं वह भी करदाताओं के पैसो से उतना ही निवेश हम करदाताओं के पैसों से उनके कल्याण के लिए भी करें आज कर दाता सबसे अधिक वंचित है स्वास्थ्य रोजगार व शिक्षा जैसी जरूरी व मूलभूत आवश्यकताओं के लिए उनकी आवश्यकता है पूरा होना भी उतना ही महत्वपूण जितना इन अत्याधुनिक सुविधाओं का निर्माण होना अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय मंच पर धन्यवाद

bharat mein jahan bhukhmari berojgari v gareebi ka prabhav charo taraf dekha ja sakta hai aise mein bullet train chalane se pehle zaroori hai ki bharat ki mulbhut aavashyakataen jo hai jaise garib se garib insaan ki bhukh mitana unko rojgar ke saman avsar pradan karna tatha shikshit berojgari ko dur karna par sabse adhik mahatvapurna hai bajay iske ki hum aadhunik manch par ek dikhaave ke liye bullet metro v anya pariyojanaon ko aandabar janta ke saamne rakhen parantu yah bhi utana hi satya hai ki bharat ek vikasshil arthavyavastha hai vaah antararashtriya manch par bharat ko ek accha nivesh sthal dikhane ke liye pahunch ko showcase karne ke liye hamein zaroori hai ki hum antarrashtriya manch par ati aadhunik suvidhaon ko niveshako ke samaksh prastut karen aur isi prakar se prastut kiya ja sakta hai ki bharat mein naveen uttam technology v takneek ka prayog bharat ki janta aur bharat ke raajneta kar rahe hain isi ke madhyam se hum antarrashtriya manch par bharat ke achi chhavi bana sakte hain parantu yah bhi utana hi mahatwapun hai ki jitna nivesh amit atyadhunik pariyojanaon mein kar rahe hain vaah bhi kardataon ke paiso se utana hi nivesh hum kardataon ke paison se unke kalyan ke liye bhi karen aaj kar data sabse adhik vanchit hai swasthya rojgar v shiksha jaisi zaroori v mulbhut avashayaktaon ke liye unki avashyakta hai pura hona bhi utana hi mahatwapun jitna in atyadhunik suvidhaon ka nirmaan hona antararashtriya aur rashtriya manch par dhanyavad

भारत में जहां भुखमरी बेरोजगारी व गरीबी का प्रभाव चारों तरफ देखा जा सकता है ऐसे में बुलेट ट

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  265
WhatsApp_icon
21 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Minhaj Ahmed

Journalist

0:42

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भुखमरी की तो जरूरत है ही है अभी बुलेट ट्रेन की इतनी जरूरत नहीं है पहले जो ट्रेनें हैं उसी ने 90 को बढ़ाने की जरूरत है ना कि नए सिरे से बुलेट ट्रेन लाने के बारे में चार पांच लोगों को गायब है वहां 14 1516 घंटा लेट हो रही है

bhukhmari ki toh zaroorat hai hi hai abhi bullet train ki itni zaroorat nahi hai pehle jo trainen hain usi ne 90 ko badhane ki zaroorat hai na ki naye sire se bullet train lane ke bare mein char paanch logon ko gayab hai wahan 14 1516 ghanta let ho rahi hai

भुखमरी की तो जरूरत है ही है अभी बुलेट ट्रेन की इतनी जरूरत नहीं है पहले जो ट्रेनें हैं उसी

Romanized Version
Likes  60  Dislikes    views  850
WhatsApp_icon
user

Rahul Bharat

राजनैतिक विश्लेषक

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे सबसे बड़ी चीज जो है कि हमारे देश में भुखमरी नहीं है इस चीज को आप मानिए आप भारत के किसी भी कोने में जाएंगे कहीं भी आपको इस तरह के लोग नहीं मिलेंगे जो भूख से मर रहे हैं या जो पोषण के शिकार हो कुपोषण की व्यवस्था के लिए सरकार की विभिन्न योजनाएं चल रही हैं और समय-समय पर इसके लिए कार्य किए जाते हैं आगनवाड़ी समूह इसीलिए गठित किए गए हैं ताकि कोई ऐसा बच्चा कुपोषण का शिकार ना हो तो एक तरह से कहा जाए कि हमारे देश में भुखमरी समस्या नहीं है हम बुलेट ट्रेन और विकास की समस्या है हमारे देश में हमारे देश में जिस गति से विकास होना चाहिए था उस गति से विकास नहीं हुआ है पिछले 70 सालों में जब कांग्रेस की सरकार रही है तो विकास को छोड़ बाकी सारे चीजों पर कार्य किया गया और जो भी कार्य किए गए उसकी बड़ी बुरी अवस्था रही है उनके प्रधानमंत्री श्री राजीव गांधी ने स्वयं स्वीकार किया क्या मैं कृपया कर भेजते हैं तो 15 पैसा लोगो तक पहुंचता है उस चीज को हमारे प्रधानमंत्री मोदी जी ने खत्म कर दिया है अगर ₹1 गरीबों को देना है तो वह ₹1 सीधे उनके खाते में पहुंच रहा है डिजिटल लाइफ इंडिया का यह सबसे बड़ा फायदा हुआ है कि गरीबों को जो चीज मिलनी चाहिए वह मिल रहे हैं और बुलेट ट्रेन हमारी जरूरत है बुलेट ट्रेन की आवश्यकता हमारे पूरे देश को है ताकि हम दोनों को हम लोगों के विकास में समय की बचत हो सके बुलेट ट्रेन रहती है तो उसकी वजह

dekhe sabse badi cheez jo hai ki hamare desh mein bhukhmari nahi hai is cheez ko aap maniye aap bharat ke kisi bhi kone mein jaenge kahin bhi aapko is tarah ke log nahi milenge jo bhukh se mar rahe hain ya jo poshan ke shikaar ho kuposhan ki vyavastha ke liye sarkar ki vibhinn yojanaye chal rahi hain aur samay samay par iske liye karya kiye jaate hain aganvadi samuh isliye gathit kiye gaye hain taki koi aisa baccha kuposhan ka shikaar na ho toh ek tarah se kaha jaye ki hamare desh mein bhukhmari samasya nahi hai hum bullet train aur vikas ki samasya hai hamare desh mein hamare desh mein jis gati se vikas hona chahiye tha us gati se vikas nahi hua hai pichhle 70 salon mein jab congress ki sarkar rahi hai toh vikas ko chhod baki saare chijon par karya kiya gaya aur jo bhi karya kiye gaye uski badi buri avastha rahi hai unke Pradhanmantri shri rajeev gandhi ne swayam sweekar kiya kya main kripya kar bhejate hain toh 15 paisa logo tak pahunchta hai us cheez ko hamare Pradhanmantri modi ji ne khatam kar diya hai agar Rs garibon ko dena hai toh wah Rs seedhe unke khate mein pahunch raha hai digital life india ka yeh sabse bada fayda hua hai ki garibon ko jo cheez milani chahiye wah mil rahe hain aur bullet train hamari zaroorat hai bullet train ki avashyakta hamare poore desh ko hai taki hum dono ko hum logon ke vikas mein samay ki bachat ho sake bullet train rehti hai toh uski wajah

देखे सबसे बड़ी चीज जो है कि हमारे देश में भुखमरी नहीं है इस चीज को आप मानिए आप भारत के किस

Romanized Version
Likes  90  Dislikes    views  1242
WhatsApp_icon
user

Hima Agarwal

Journalist

0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज नहीं है कि हमें दोनों की आवश्यकता है विकास के लिए सामाजिक समरसता होनी जरूरी है सामाजिक समरसता के लिए हम इन दोनों चीजों की आवश्यकता जरूरी है और जो समरसता है वह समाज पर केंद्रित होनी चाहिए हमारी

aaj nahi hai ki hamein dono ki avashyakta hai vikas ke liye samajik samarsata honi zaroori hai samajik samarsata ke liye hum in dono chijon ki avashyakta zaroori hai aur jo samarsata hai vaah samaaj par kendrit honi chahiye hamari

आज नहीं है कि हमें दोनों की आवश्यकता है विकास के लिए सामाजिक समरसता होनी जरूरी है सामाजिक

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  405
WhatsApp_icon
user

Rajesh Rishi

Indian Politician

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

निकलिए तोहरा भी जानता है कि जब तक पेट में अब नहीं होगा तो बुलेट ट्रेन में सफर कैसे करेगी पहले हमें देखने के लिए चाहिए गरीबों को एक अच्छा रोजगार का अवसर देना चाहिए संविधान के अनुसार

nikliye teohar bhi jaanta hai ki jab tak pet mein ab nahi hoga toh bullet train mein safar kaise karegi pehle humein dekhne ke liye chahiye garibon ko ek accha rojgar ka avsar dena chahiye samvidhan ke anusaar

निकलिए तोहरा भी जानता है कि जब तक पेट में अब नहीं होगा तो बुलेट ट्रेन में सफर कैसे करेगी प

Romanized Version
Likes  34  Dislikes    views  625
WhatsApp_icon
user

Sandeep Kumar

Journalist

2:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे देश को सबसे पहले जरूरत है यहां भुखमरी मिटाने की लेकिन बुलेट ट्रेन आ रही हमारा आयात निर्यात यार हम हमारा जो आना जाना आवागमन बोलते हैं हम भी हमारे यहां से एक स्थान से दूसरे स्थान तक जाना तो उसके लिए तो पहले से ही बहुत सारी तकलीफ है हमारे पास तो हमारे पास हमें सबसे पहले क्या चाहिए हमें हमारे देश को हमारे भारत के सबसे पहले चाहिए यहां से भुखमरी को मिटाया जाए और भुखमरी मिटेगी किसी भी तरह से प्रदूषण को कंट्रोल किया जाए यहां की पॉलिटिकल है उसमें भी कहीं ना कहीं बात हमारी काम में आती है कि यहां इतनी बड़ी कमी है जिसमें अच्छी है उसे भी यहां से गवर्नमेंट की मदद चाहिए मुझे वास्तव में मदद चाहिए होती है मदद नहीं पहुंच पाती क्योंकि राजनीतिक दलों की स्थिति को लेने से ऐसी डिसीजन पर आएंगे हिंदी में मुहावरा है के वहां अंधा बाटे तीन विज्ञापनों को देखता है कि राजनीति करते हैं और जो लोग वहां तक एक्चुअल में महत्वपूर्ण लाभ नहीं पहुंच पाता तो मेरा तो मानना यह है कि हमारा भारत देश की सबसे पहली जरूरत है भुखमरी मिटाने की बुक मेरी मीटिंग यह प्रगति होगी देश आगे बढ़ेगा बुलेट ट्रेन बुलेट ट्रेन की जगह 10 बुलेट ट्रेन आ जाएगी क्यों क्योंकि वह लोग भी हमारे साथ आएंगे हमारे साथ आगे बढ़ेंगे और हमारे साथ काम करेंगे प्रति पर आएंगे और इन्हीं लोगों में से किसी की जरूरत है उन्हीं लोगों में हमारे देश में खड़े होने हमारे देश में प्रधानमंत्री अभी हमारी सुनने में आता कि हमारे देश के भारत देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी और कुछ लोग बोलते हैं कि वह चाय बेचने वाले थे डफ जामुन की धमकी ऐसा भी हो सकता है लेकिन उन्हें साहित्य मिली उन्हें मोटिवेशन मिला कहां तक पहुंचे और तो ऐसा हो सकता है जो हमारे देश में भुखमरी चल रही है जो जरूर आने वाले समय में हमारे देश में कुछ बना पाएंगे

hamare desh ko sabse pehle zaroorat hai yahan bhukhmari mitaane ki lekin bullet train aa rahi hamara aayaat niryat yaar hum hamara jo aana jana aavagaman bolte hain hum bhi hamare yahan se ek sthan se dusre sthan tak jana toh uske liye toh pehle se hi bahut saree takleef hai hamare paas toh hamare paas humein sabse pehle kya chahiye humein hamare desh ko hamare bharat ke sabse pehle chahiye yahan se bhukhmari ko mitaya jaye aur bhukhmari mitegee kisi bhi tarah se pradushan ko control kiya jaye yahan ki political hai usmein bhi kahin na kahin baat hamari kaam mein aati hai ki yahan itni badi kami hai jisme acchi hai use bhi yahan se government ki madad chahiye mujhe vaastav mein madad chahiye hoti hai madad nahi pahunch pati kyonki raajnitik dalon ki sthiti ko lene se aisi decision par aayenge hindi mein muhavara hai ke wahan andha baate teen vigyapanon ko dekhta hai ki rajneeti karte hain aur jo log wahan tak actual mein mahatvapurna labh nahi pahunch pata toh mera toh manana yeh hai ki hamara bharat desh ki sabse pehli zaroorat hai bhukhmari mitaane ki book meri meeting yeh pragati hogi desh aage badhega bullet train bullet train ki jagah 10 bullet train aa jayegi kyon kyonki wah log bhi hamare saath aayenge hamare saath aage badhenge aur hamare saath kaam karenge prati par aayenge aur inhin logon mein se kisi ki zaroorat hai unhin logon mein hamare desh mein khade hone hamare desh mein Pradhanmantri abhi hamari sunane mein aata ki hamare desh ke bharat desh ke Pradhanmantri shri narendra modi ji aur kuch log bolte hain ki wah chai bechne wale the duff jamun ki dhamki aisa bhi ho sakta hai lekin unhein sahitya mili unhein motivation mila kahaan tak pahuche aur toh aisa ho sakta hai jo hamare desh mein bhukhmari chal rahi hai jo zaroor aane wale samay mein hamare desh mein kuch bana payenge

हमारे देश को सबसे पहले जरूरत है यहां भुखमरी मिटाने की लेकिन बुलेट ट्रेन आ रही हमारा आयात न

Romanized Version
Likes  113  Dislikes    views  2516
WhatsApp_icon
user
0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में दोनों चीजों की जरूरत है बुलेट ट्रेन विकास के लिए आवश्यक है और भुखमरी के लिए रोजगार की आवश्यकता दोनों की जरूरत अपनी अपनी जगह पर है और उसी को देखते हुए सरकार कदम उठाती है काम करती है

bharat mein dono chijon ki zaroorat hai bullet train vikas ke liye aavashyak hai aur bhukhmari ke liye rojgar ki avashyakta dono ki zaroorat apni apni jagah par hai aur usi ko dekhte hue sarkar kadam uthaati hai kaam karti hai

भारत में दोनों चीजों की जरूरत है बुलेट ट्रेन विकास के लिए आवश्यक है और भुखमरी के लिए रोजगा

Romanized Version
Likes  299  Dislikes    views  3941
WhatsApp_icon
user

Sachin Sinha

Journalist

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत अच्छा कुसुम भारत धूप होने वाले देशों में सबसे पहला स्थान प्राप्त कर दिया है यह हमारे देश में विकास एक गजब तरीके का विकास हुआ है और मुझे लगता है कि सबसे पहले भोपाली मिटाने की जरूरत थी लेकिन लोगों ने भुखमरी मिटाने के लिए बुलेट ट्रेन को ज्यादा क्या तो विकास कुछ अद्भुत तक के हुए और हम पाकिस्तान आम नजरिया जाने साउथ अफ्रीका जैसे देशों पर चढ़कर आज नंबर 1 कॉर्बेट यह विकास हो गया हमारी लेकिन मेरी नजर में आप समझे तो भुखमरी मिटाने की ज्यादा हो सकता थी ना कि बुरा टंकी धन्यवाद

bahut accha kusum bharat dhoop hone waale deshon mein sabse pehla sthan prapt kar diya hai yah hamare desh mein vikas ek gajab tarike ka vikas hua hai aur mujhe lagta hai ki sabse pehle bhopali mitaane ki zaroorat thi lekin logon ne bhukhmari mitaane ke liye bullet train ko zyada kya toh vikas kuch adbhut tak ke hue aur hum pakistan aam najariya jaane south africa jaise deshon par chadhakar aaj number 1 corbett yah vikas ho gaya hamari lekin meri nazar mein aap samjhe toh bhukhmari mitaane ki zyada ho sakta thi na ki bura tanki dhanyavad

बहुत अच्छा कुसुम भारत धूप होने वाले देशों में सबसे पहला स्थान प्राप्त कर दिया है यह हमारे

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  144
WhatsApp_icon
user

Abhay Pratap

Advocate | Social Welfare Activist

0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखो बुलेट ट्रेन और भूखमरी दोनों जीवन के अनंत काल तक चलने वाले विचार हैं अतः विकास होने पर ही भुखमरी मिटा सकते हैं अब आप समझी कि आपके लिए किस तरह की योजनाएं उचित होगी उसे भुखमरी से ज्यादा परेशान हो तो आप भारत के कुछ महान धर्मस्थल ऐसे हैं जहां पर निशुल्क सेवाएं की जाती है वहां का उपयोग कर सकते हैं

dekho bullet train aur bhukhmaree dono jeevan ke anant kaal tak chalne waale vichar hain atah vikas hone par hi bhukhmari mita sakte hain ab aap samjhi ki aapke liye kis tarah ki yojanaye uchit hogi use bhukhmari se zyada pareshan ho toh aap bharat ke kuch mahaan dharmasthal aise hain jahan par nishulk sevayen ki jaati hai wahan ka upyog kar sakte hain

देखो बुलेट ट्रेन और भूखमरी दोनों जीवन के अनंत काल तक चलने वाले विचार हैं अतः विकास होने पर

Romanized Version
Likes  101  Dislikes    views  631
WhatsApp_icon
user
5:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार मैं एडवोकेट पीएसबीएस राठौड़ जयपुर से बहुत ही उम्दा प्रश्न आपका हमारे देश को किस-किस जरूरत पहले है बुलेट ट्रेन को यह भुखमरी मिटाने को तो बहुत ही उम्दा प्रश्न आपने किया है मैं आपको इसके बारे में जरूर बहुत अच्छा उत्तर दे पाऊंगा जहां तक मेरी कोशिश रहेगी बुलेट ट्रेन बुलेट ट्रेन देश की प्रगति के लिए आवश्यक है लेकिन अति आवश्यक नहीं है अवश्य कैसे हैं वह मैंने बताऊंगा और अति आवश्यक नहीं है वह मैं भी बताऊंगा कैसे नहीं अपने पास में अभी जो रेलवे रास्ता है वह सुचारू रूप से चल रही है और जो व्यवस्था है उसमें जो एक्चुअल में जो नीड है वह टाइमिंग बढ़ाने की ट्रेन की संख्या बढ़ाने की और उसके रनिंग टाइम को बढ़ाने की है अभी जो ट्रेन चल रही थी उनको और सुविधाजनक बनाने की आवश्यकता थी हम केवल मात्र 1 रूट को कवर करने के लिए और 50 से 100 रूप में सुधार कर सकते थे उतना पैसा उसमें लगा दें और उसके बाद में उसका एक्सपेंस जो किराया जो आएगा बुलेट ट्रेन का वह कहीं अधिक होगा सिर्फ चंद चुनिंदा लोगों के लिए वह व्यवस्था शुरू की है जिसमें रईस और अमीर वर्ग का आदमी ही व्यक्ति उस में सफर कर सकता है इससे बेहतर क्योंकि हमें समाज में रहते हैं भारत एक लोकतंत्र है बहुत बड़ा देश है जिसमें मध्यमवर्गीय लोग और उसके नीचे के स्तर के लोगों की संख्या अति ज्यादा है ज्यादा ही संख्या है इस वजह से ऐसे लोगों के लिए सुविधाओं को ज्यादा बढ़ाया जाना चाहिए ने की बुलेट ट्रेन की चंद जोग धनपति लोग हैं या बड़े लोग हैं उनके लिए सुविधा को शुरू कर देना चाहिए यह सही नहीं है अब पहले भी ट्रेन चल रही थी 15 तक लाने के लिए अगर जो बुलेट ट्रेन का किराया मैं नाचता हूं तो एक प्लेन की किराए से भी ज्यादा पड़ रहा है तो उसकी आवश्यकता ज्ञानी धीमान लोग बुलेट ट्रेन से जाएगा उसी रोड पर तो 3 घंटे लगेंगे और प्रेम से जाएगा तो 2 घंटे लगेंगे तो प्लेन ज्यादा पेट्रोल ऑप्शन है मेरे ख्याल से प्रेम की बजाई और किराया भी कम है बुलेट ट्रेन किस देश में आवश्यकता बेसिकली नहीं थी हमारे जितने भी ब्रॉड गेज ट्रेन चल रही है पहले मीटर फोन करती थी जिसको में बंद करके और बांग्लादेश को दे दिया है ब्रॉडगेज जो सेवा शुरू हुई है उसको विस्तारित करने की आवश्यकता थी उसको और सुविधाजनक बनाने की आवश्यकता थी उसके रोड बनाने के बढ़ाने की आवश्यकता थी हर कनेक्ट करने की आवश्यकता की आवश्यकता थी कि देश में भुखमरी बहुत ज्यादा बढ़ गई है और नितांत आवश्यकता है मैं इस बात की कि हम कैसे भी करके इस बुक में भी कोई इलाज निकाले यदि इस प्रकार से भुखमरी बढ़ती रही तो आने वाले समय में भूखों मरने वाले लोगों की संख्या अधिक हो जाएगी इतने अधिक हो जाएगी कि आपको अपने मन से अपने आप से गिलानी होने लगेगी कि हम काश हम इनके लिए कुछ कर पाते क्योंकि बेसिक लिए क्या जनसंख्या हमारे देश की सारे विश्व में इंटरनेशनल ही देखते हैं तो बहुत ज्यादा स्पीड से बढ़ रही है दूसरी चीज रिसोर्सेज की कमी हो रही है कि हमारा खुद का कोई डेवलपमेंट नहीं है ध्यान में रखते हुए अगर हम देखते हैं तो भुखमरी कि आने वाले समय में और भी संख्या में वृद्धि होने वाली है उसका समय रहते हमें कोई ना कोई इलाज ढूंढना पड़ेगा और उसका निदान करके ही कार्य होगा तो बेसिकली आज के टाइम में हमें जो बुलेट ट्रेन थी वह किसी प्रकार से आवश्यक नहीं है हम ब्रॉडगेज जो ट्रेन आज चला रहे हैं वह ज्यादा बैटर थी ज्यादा बैटर चंदा मीटर गेज हम पहले ही जो हमारे पड़ोसी मुल्क है बांग्लादेश को देने को दे चुके हैं और रुक्मणी का इलाज हमारे लिए सबसे पहले होना चाहिए तो सबसे पहले जो इलाज हमें भुखमरी मिटाने का करना चाहिए कि बुलेट ट्रेन 9:00 का की बुलेट ट्रेन के जब आपके पास में सचिन ऑप्शन एरोप्लेन है उतने ही किराए में आपको लेकर जा रहे हैं तो बुलेट ट्रेन किस देश को कोई आवश्यकता नहीं मेरे ख्याल से आपको मेरा जवाब समझ में आ गया होगा और नहीं आया है तो कोई बात नहीं आप मेरा नंबर नोट कर सकते 94685 80261 कभी मुझे कॉल करें मैं आपको और अच्छी तरीके से निदान करके दूंगा के साथ में इस प्रश्न को यहीं समाप्त करना चाहता हूं जय हिंद जय भारत

namaskar main advocate PSBS rathaud jaipur se bahut hi umda prashna aapka hamare desh ko kis kis zaroorat pehle hai bullet train ko yah bhukhmari mitaane ko toh bahut hi umda prashna aapne kiya hai main aapko iske bare mein zaroor bahut accha uttar de paunga jahan tak meri koshish rahegi bullet train bullet train desh ki pragati ke liye aavashyak hai lekin ati aavashyak nahi hai avashya kaise hain vaah maine bataunga aur ati aavashyak nahi hai vaah main bhi bataunga kaise nahi apne paas mein abhi jo railway rasta hai vaah sucharu roop se chal rahi hai aur jo vyavastha hai usmein jo actual mein jo need hai vaah timing badhane ki train ki sankhya badhane ki aur uske running time ko badhane ki hai abhi jo train chal rahi thi unko aur suvidhajanak banaane ki avashyakta thi hum keval matra 1 root ko cover karne ke liye aur 50 se 100 roop mein sudhaar kar sakte the utana paisa usmein laga dein aur uske baad mein uska expense jo kiraaya jo aayega bullet train ka vaah kahin adhik hoga sirf chand chuninda logon ke liye vaah vyavastha shuru ki hai jisme raees aur amir varg ka aadmi hi vyakti us mein safar kar sakta hai isse behtar kyonki hamein samaaj mein rehte hain bharat ek loktantra hai bahut bada desh hai jisme madhyamwargiye log aur uske neeche ke sthar ke logon ki sankhya ati zyada hai zyada hi sankhya hai is wajah se aise logon ke liye suvidhaon ko zyada badhaya jana chahiye ne ki bullet train ki chand jog dhanpati log hain ya bade log hain unke liye suvidha ko shuru kar dena chahiye yah sahi nahi hai ab pehle bhi train chal rahi thi 15 tak lane ke liye agar jo bullet train ka kiraaya main nachta hoon toh ek plane ki kiraye se bhi zyada pad raha hai toh uski avashyakta gyani dhiman log bullet train se jaega usi road par toh 3 ghante lagenge aur prem se jaega toh 2 ghante lagenge toh plane zyada petrol option hai mere khayal se prem ki bajai aur kiraaya bhi kam hai bullet train kis desh mein avashyakta basically nahi thi hamare jitne bhi broad gauge train chal rahi hai pehle meter phone karti thi jisko mein band karke aur bangladesh ko de diya hai bradagej jo seva shuru hui hai usko vistarit karne ki avashyakta thi usko aur suvidhajanak banaane ki avashyakta thi uske road banaane ke badhane ki avashyakta thi har connect karne ki avashyakta ki avashyakta thi ki desh mein bhukhmari bahut zyada badh gayi hai aur nitant avashyakta hai main is baat ki ki hum kaise bhi karke is book mein bhi koi ilaj nikale yadi is prakar se bhukhmari badhti rahi toh aane waale samay mein bhukhon marne waale logon ki sankhya adhik ho jayegi itne adhik ho jayegi ki aapko apne man se apne aap se gilani hone lagegi ki hum kash hum inke liye kuch kar paate kyonki basic liye kya jansankhya hamare desh ki saare vishwa mein international hi dekhte hain toh bahut zyada speed se badh rahi hai dusri cheez resources ki kami ho rahi hai ki hamara khud ka koi development nahi hai dhyan mein rakhte hue agar hum dekhte hain toh bhukhmari ki aane waale samay mein aur bhi sankhya mein vriddhi hone waali hai uska samay rehte hamein koi na koi ilaj dhundhana padega aur uska nidan karke hi karya hoga toh basically aaj ke time mein hamein jo bullet train thi vaah kisi prakar se aavashyak nahi hai hum bradagej jo train aaj chala rahe hain vaah zyada better thi zyada better chanda meter gauge hum pehle hi jo hamare padosi mulk hai bangladesh ko dene ko de chuke hain aur rukmani ka ilaj hamare liye sabse pehle hona chahiye toh sabse pehle jo ilaj hamein bhukhmari mitaane ka karna chahiye ki bullet train 9 00 ka ki bullet train ke jab aapke paas mein sachin option aeroplane hai utne hi kiraye mein aapko lekar ja rahe hain toh bullet train kis desh ko koi avashyakta nahi mere khayal se aapko mera jawab samajh mein aa gaya hoga aur nahi aaya hai toh koi baat nahi aap mera number note kar sakte 94685 80261 kabhi mujhe call karen main aapko aur achi tarike se nidan karke dunga ke saath mein is prashna ko yahin samapt karna chahta hoon jai hind jai bharat

नमस्कार मैं एडवोकेट पीएसबीएस राठौड़ जयपुर से बहुत ही उम्दा प्रश्न आपका हमारे देश को किस-कि

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  286
WhatsApp_icon
user
0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे देश में सबसे पहले जरूरत है क्या मतलब हर एक बार के हर एक नागरिक आ नहीं रहे इसलिए पहले वह सरकार जाने चाहिए और इस सर काम कर रहे हैं बढ़ी कीमतों में गेहूं खरीद कर ₹2 पर कि मैं भरोसा का कोई सो जाओगे कोई गरीब नारायण कोई किसी तरह से कोई अपना रिपोर्ट भी जरूरी है इसलिए सबसे पहले भारत हर एक भारतीय नागरिक सुरक्षा और उनके व्यक्तित्व की जरूरत है

hamare desh mein sabse pehle zaroorat hai kya matlab har ek baar ke har ek nagarik aa nahi rahe isliye pehle vaah sarkar jaane chahiye aur is sir kaam kar rahe hain badhi kimton mein gehun kharid kar Rs par ki main bharosa ka koi so jaoge koi garib narayan koi kisi tarah se koi apna report bhi zaroori hai isliye sabse pehle bharat har ek bharatiya nagarik suraksha aur unke vyaktitva ki zaroorat hai

हमारे देश में सबसे पहले जरूरत है क्या मतलब हर एक बार के हर एक नागरिक आ नहीं रहे इसलिए पहले

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  376
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे देश को सबसे पहले जरूरत है यहां भुखमरी मिटाने की विधि बुलेट ट्रेन आ रही हमारा आयात निर्यात हम हमारा जो आना-जाना आवागमन बोलते हैं हम हिंदी में हमारे यहां से एक स्थान से दूसरे स्थान तक जाना है तो उसके लिए तो पहले से ही बहुत तकलीफ है हमारे पास तो हमारे देश को हमारे भारत देश में सबसे पहले चाहिए यहां से भुखमरी को मिटाया जाए और भुखमरी मिलेगी किसी भी तरह से पापुलेशन को कंट्रोल किया जाए यहां की पॉलीटिकल है उसमें भी कहीं ना कहीं यह बात हमारी काम में आती है कि यहां इतनी बड़ी कमी है 120 एडिट बैकग्राउंड अच्छी है उसके बीच में गवर्नमेंट की मदद से है जो वास्तव में मदद चाहिए मदद नहीं पहुंच पाती क्योंकि जब राजनीतिज्ञ लोग ही इस भजन को लेने से ऐसी डिसीजन पर आएंगे के एक मुहावरा है कि वहां अंधा बांटे रेवड़ी अपने अपने को दे इसमें यह होता है कि राजनीतिक लोग भी सबसे पहले अपना कुछ उस करते हैं

hamare desh ko sabse pehle zaroorat hai yahan bhukhmari mitaane ki vidhi bullet train aa rahi hamara aayaat niryat hum hamara jo aana jana aavagaman bolte hain hum hindi mein hamare yahan se ek sthan se dusre sthan tak jana hai toh uske liye toh pehle se hi bahut takleef hai hamare paas toh hamare desh ko hamare bharat desh mein sabse pehle chahiye yahan se bhukhmari ko mitaya jaaye aur bhukhmari milegi kisi bhi tarah se population ko control kiya jaaye yahan ki political hai usmein bhi kahin na kahin yah baat hamari kaam mein aati hai ki yahan itni badi kami hai 120 edit background achi hai uske beech mein government ki madad se hai jo vaastav mein madad chahiye madad nahi pahunch pati kyonki jab rajanitigya log hi is bhajan ko lene se aisi decision par aayenge ke ek muhavara hai ki wahan andha bante revadi apne apne ko de isme yah hota hai ki raajnitik log bhi sabse pehle apna kuch us karte hain

हमारे देश को सबसे पहले जरूरत है यहां भुखमरी मिटाने की विधि बुलेट ट्रेन आ रही हमारा आयात नि

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  175
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे देश को किस की जरूरत पहले है बुलेट ट्रेन की या भूख भरी मिटाने की हमारे देश में बहुत से लोग गरीब हैं और उन लोगों की समस्या यह है कि उनको हर रोज का खाना मिलना चाहिए कोई भी भूखे पेट नहीं सोना चाहिए तो इसके लिए हमें सोचना चाहिए कि हमारा देश कृषि प्रधान देश है और हमारे देश में ज्यादा पैदा हो इसके लिए हमने कोई उपाय नहीं करनी चाहिए कि जिससे ज्यादा ज्यादा मात्रा में अनाज पैदा हो और हमारे देश का हर गरीब को हर रोज का खाना मिलना चाहिए कोई भी भूखे पेट ना सोए यही हमारे देश की सबसे बड़ी समस्या है बुलेट ट्रेन तो बाद में सोचेंगे लेकिन अगर हमारे यहां बुक से लोग मरने के लगेंगे तो इससे और लाइन चैनल पर और कोई बात नहीं हो सकती और यह समस्या हमने सुलझा पाएंगे तो फिर बुलेट ट्रेन के बारे में और दूसरी कोई प्रगति करने के बारे में हम का सचिन देखने की सबसे बड़ी समस्या है तो यही है यह समस्या अगर हमारे आप आए तो बाकी की समस्या सुलझाने में

hamare desh ko kis ki zaroorat pehle hai bullet train ki ya bhukh bhari mitaane ki hamare desh mein bahut se log garib hain aur un logon ki samasya yah hai ki unko har roj ka khana milna chahiye koi bhi bhukhe pet nahi sona chahiye toh iske liye hamein sochna chahiye ki hamara desh krishi pradhan desh hai aur hamare desh mein zyada paida ho iske liye humne koi upay nahi karni chahiye ki jisse zyada zyada matra mein anaaj paida ho aur hamare desh ka har garib ko har roj ka khana milna chahiye koi bhi bhukhe pet na soye yahi hamare desh ki sabse badi samasya hai bullet train toh baad mein sochenge lekin agar hamare yahan book se log marne ke lagenge toh isse aur line channel par aur koi baat nahi ho sakti aur yah samasya humne suljha payenge toh phir bullet train ke bare mein aur dusri koi pragati karne ke bare mein hum ka sachin dekhne ki sabse badi samasya hai toh yahi hai yah samasya agar hamare aap aaye toh baki ki samasya suljhane mein

हमारे देश को किस की जरूरत पहले है बुलेट ट्रेन की या भूख भरी मिटाने की हमारे देश में बहुत स

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  362
WhatsApp_icon
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरा ऐसा मानना है कि अभी भारत उच्च स्तर तक नहीं पहुंचा है जहां इसे बुलेट ट्रेन की जरूरत है क्योंकि सबसे पहले हमारी सरकार को देश में भुखमरी और दूसरी समस्याओं को दूर करने के कदम उठाने चाहिए क्योंकि जिस देश में अभी लोगों को मूलभूत सुविधाएं ही नहीं मिल पा रही हैं वहां बुलेट ट्रेन कितनी कामयाब होगी यह सोचने का विषय है हमारे देश में अभी भी कई लोग ऐसे हैं जिंहें दो वक्त की रोटी नसीब नहीं हो पाती है और वह भुखमरी के कगार पर खड़े हैं या भुखमरी के शिकार हो जाते हैं तो अगर किसी देश में लोग भूख की वजह से मर रहे हैं तो उस देश की सरकार को सबसे पहले इस समस्या से निपटने के कदम उठाने चाहिए और ना कि करोड़ों और अरबों रुपए बुलेट ट्रेन में वेस्ट करना चाहिए जैसा कि मोदी सरकार अभी जापान की मदद से बुलेट ट्रेन अपने देश में चलाने की कोशिश कर रही है तो इसमें बहुत पैसे लगने वाले हैं और अगर यही पैसों का इस्तेमाल गरीब लोगों को ऊपर उठाने के लिए किया जाए तो यह काफी अच्छा होगा

mera aisa manana hai ki abhi bharat ucch sthar tak nahi pahuncha hai jahan ise bullet train ki zaroorat hai kyonki sabse pehle hamari sarkar ko desh mein bhukhmari aur dusri samasyaon ko dur karne ke kadam uthane chahiye kyonki jis desh mein abhi logon ko mulbhut suvidhaen hi nahi mil paa rahi hain wahan bullet train kitni kamyab hogi yah sochne ka vishay hai hamare desh mein abhi bhi kai log aise hain jinhen do waqt ki roti nasib nahi ho pati hai aur vaah bhukhmari ke kagar par khade hain ya bhukhmari ke shikaar ho jaate hain toh agar kisi desh mein log bhukh ki wajah se mar rahe hain toh us desh ki sarkar ko sabse pehle is samasya se nipatane ke kadam uthane chahiye aur na ki karodo aur araboon rupaye bullet train mein west karna chahiye jaisa ki modi sarkar abhi japan ki madad se bullet train apne desh mein chalane ki koshish kar rahi hai toh isme bahut paise lagne waale hain aur agar yahi paison ka istemal garib logon ko upar uthane ke liye kiya jaaye toh yah kafi accha hoga

मेरा ऐसा मानना है कि अभी भारत उच्च स्तर तक नहीं पहुंचा है जहां इसे बुलेट ट्रेन की जरूरत है

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  255
WhatsApp_icon
user
1:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुड मॉर्निंग मैं तो यह चाहता हूं कि पहले बेरोजगारी और भुखमरी मिट्टी की बेरोजगारी शास्त्र से पढ़ रहा हूं कुमारी का पढ़ना आता है इसलिए मेरा मानना है कि सेंट्रल गवर्नमेंट तो है बुलेट ट्रेन का जो प्रोजेक्ट है कभी रोक दें क्योंकि अभी आने पर लाइट बहुत ज्यादा है और बुक पढ़ी है मैं तो यही चाहता हूं क्योंकि मैं भी एक के एक रिपोर्ट में देखा था कि हमारा देश अभी भी कर्ज में डूबा हुआ है मुझे एक अच्छे होता है कि नरेंद्र मोदी जी कहते कि मैं काम काम काम मैं सोता भी नहीं हूं 12 घंटे बाद 18 घंटे काम करता तो फिर मेरा देश कर्ज में क्यों डूब रहा है यह सवाल बनता है ना और 110001 ओर करो प्रोजेक्ट है अगर 110000 करोड़ इंडियन रेलवे का खर्च कर दिया है तू जो अभी जो 10 घटनाएं हो रही है यह घटना यह दुख जाएगी तेरी पटरी टूटा हुआ पाया जाता है कहीं फ्रेंड को लग जाती है कभी ट्रेन का ट्रेन पटरी से नीचे हो जाती है इसका क्या कारण है और कितने कर्मचारी जो है अभी ट्रेन में खाली है नहीं है अभी बहाली रुकी हुई है 3 साल से बाहर ही रोक योगी सरकार को इस पर ध्यान देना चाहिए ना की बुलेट ट्रेन पर बुलेट ट्रेन तो 2 राज्य के लिए हैं और कार्य में थोड़ा देर तक आएगा मुंबई से गुजरात के लिए इसलिए प्रोजेक्ट जो है नहीं होनी चाहिए

good morning main toh yah chahta hoon ki pehle berojgari aur bhukhmari mitti ki berojgari shastra se padh raha hoon kumari ka padhna aata hai isliye mera manana hai ki central government toh hai bullet train ka jo project hai kabhi rok dein kyonki abhi aane par light bahut zyada hai aur book padhi hai main toh yahi chahta hoon kyonki main bhi ek ke ek report mein dekha tha ki hamara desh abhi bhi karj mein dooba hua hai mujhe ek acche hota hai ki narendra modi ji kehte ki main kaam kaam kaam main sota bhi nahi hoon 12 ghante baad 18 ghante kaam karta toh phir mera desh karj mein kyon doob raha hai yah sawaal banta hai na aur 110001 aur karo project hai agar 110000 crore indian railway ka kharch kar diya hai tu jo abhi jo 10 ghatnayen ho rahi hai yah ghatna yah dukh jayegi teri patri tuta hua paya jata hai kahin friend ko lag jaati hai kabhi train ka train patri se neeche ho jaati hai iska kya karan hai aur kitne karmchari jo hai abhi train mein khaali hai nahi hai abhi bahali ruki hui hai 3 saal se bahar hi rok yogi sarkar ko is par dhyan dena chahiye na ki bullet train par bullet train toh 2 rajya ke liye hain aur karya mein thoda der tak aayega mumbai se gujarat ke liye isliye project jo hai nahi honi chahiye

गुड मॉर्निंग मैं तो यह चाहता हूं कि पहले बेरोजगारी और भुखमरी मिट्टी की बेरोजगारी शास्त्र स

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  143
WhatsApp_icon
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अधिक इस सवाल का जवाब मैंने पहले भी दिया हुआ है और मैं समझता हूं कि इस देश में बुलेट ट्रेन चलाना जो जरूरी है जो देश की सभी अवस्था है वर्तमान अवस्था है उस पर उनको कार्य करने की जरूरत है ना की बुलेट ट्रेन जो है वह इस साल इंडिया में किया जाए और उसको चलाया जाए क्योंकि अभी जो एग्जिट सिंह का हमारे दैनिक वाक्य वही कंप्लीट तरह से जो है वह अभी फाइनल नहीं करता है अभी आज दिन में देखने को मिलता है यहां एक्सीडेंट हुआ यार पटरी से ट्रेन उत्तर गई वहां पर एक्सीडेंट हुआ वह मतलब अभी सरकार जो है वह करंट है रेलवे को ही ठीक से नहीं चला पा रही है तो बुलेट ट्रेन ला कर पता नहीं क्या गवर्नमेंट दिखाना चाहती है मैं समझता हूं कि पहले सरकार को जो करंट अफेयर ग्रीटिंग रेलवे उसका हूं उसको हंड्रेड परसेंट पर शक करना चाहिए और उसके बाद जो बाकी अवस्था है अब हमारे देश की आर्थिक अवस्था हुई स्वास्थ्य अवस्था और आज भुखमरी से लोग मर रहे हैं तो यह सब बेकार में को ध्यान देना चाहिए अब बोलें ट्रेंड टीचर के हिसाब से ठीक है लेकिन मेरी समझ में क्या क्या मिलाना चाहिए

adhik is sawaal ka jawab maine pehle bhi diya hua hai aur main samajhata hoon ki is desh mein bullet train chalana jo zaroori hai jo desh ki sabhi avastha hai vartmaan avastha hai us par unko karya karne ki zaroorat hai na ki bullet train jo hai vaah is saal india mein kiya jaaye aur usko chalaya jaaye kyonki abhi jo exit Singh ka hamare dainik vakya wahi complete tarah se jo hai vaah abhi final nahi karta hai abhi aaj din mein dekhne ko milta hai yahan accident hua yaar patri se train uttar gayi wahan par accident hua vaah matlab abhi sarkar jo hai vaah current hai railway ko hi theek se nahi chala paa rahi hai toh bullet train la kar pata nahi kya government dikhana chahti hai main samajhata hoon ki pehle sarkar ko jo current affair Greeting railway uska hoon usko hundred percent par shak karna chahiye aur uske baad jo baki avastha hai ab hamare desh ki aarthik avastha hui swasthya avastha aur aaj bhukhmari se log mar rahe hain toh yah sab bekar mein ko dhyan dena chahiye ab bolen trend teacher ke hisab se theek hai lekin meri samajh mein kya kya milana chahiye

अधिक इस सवाल का जवाब मैंने पहले भी दिया हुआ है और मैं समझता हूं कि इस देश में बुलेट ट्रेन

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  181
WhatsApp_icon
user

Ridhima

Mass Communications Student

0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बुलेट ट्रेन का पहला आना जरूरी नहीं है बल्कि भुखमरी मिटाना है हमारे देश में हमारे देश मानवता एक ऐसा देश है जिसमें पावर्टी बहुत ज्यादा है जिसमें पुटकी स्कारसिटी बहुत है और यह सब अगर पहले जब तक वह सब नहीं पावर्टी जब तक नहीं हटाया गया भुखमरी नहीं हटाई गई तब तक हमारा देश बढ़ेगा नहीं डेवलप नहीं होएगा तो जब तक वह फूड और भुखमरी और पावर्टी नहीं हटाए तब तक ना उनको एजुकेशन का एक मौका मिलेगा ना उनको आगे बढ़ने का मौका तो मेरे हिसाब से बुलेट ट्रेन ठीक है वह एक डेवलपमेंट का एक साइन है बट उसका पॉइंट कुछ नहीं रहेगा जब एक पोर्शन हमारे देश का एक-एक परसेंटेज भुखमरी में रहे

bullet train ka pehla aana zaroori nahi hai balki bhukhmari mitana hai hamare desh mein hamare desh manavta ek aisa desh hai jisme poverty bahut zyada hai jisme putki skarasiti bahut hai aur yah sab agar pehle jab tak vaah sab nahi poverty jab tak nahi hataya gaya bhukhmari nahi hatai gayi tab tak hamara desh badhega nahi develop nahi hoega toh jab tak vaah food aur bhukhmari aur poverty nahi hataye tab tak na unko education ka ek mauka milega na unko aage badhne ka mauka toh mere hisab se bullet train theek hai vaah ek development ka ek sign hai but uska point kuch nahi rahega jab ek portion hamare desh ka ek ek percentage bhukhmari mein rahe

बुलेट ट्रेन का पहला आना जरूरी नहीं है बल्कि भुखमरी मिटाना है हमारे देश में हमारे देश मानवत

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  188
WhatsApp_icon
user

Janak

An Enthusiastic Entrepreneur.

1:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अजी हां का सवाल काफी इंटरेस्टिंग है और काफी मीनिंग फुल है मुझे नहीं लगता कि देश को भी बुलेट ट्रेन की जरूरत है क्योंकि हमारे लोग आज भी यह सब चीजों में विश्वास नार्मल नार्मल ट्रांसपोर्टेशन में जो रहते हैं वह उनके लिए फिजिकल है बुलेट ट्रेन शायद उनके लिए फिजिकल ना हो और अगर सरकार को इतने सारे पैसे इस प्रोजेक्ट में इन्वेस्ट करने है तो उससे अच्छा गरबे प्रोजेक्ट असलम सर इन्वेस्ट करे हुए प्रोजेक्ट उनके घर बनाने में इन्फेक्शन वेस्ट करें या जो लोग जो जिनकी डेथ हो रही है या उनकी हैल्थ हो हेल्थ खराब हो रही है ड्यूटी और जो मिल उद्योग सब्सिडी जो चीजें मिलती है यू जूली लोगों को वह उनके होम के ना मिलने पर झुमके हेल्थ खराब हो रही है उस पर अगर ध्यान दिया जाए तो बैठा रहा बैठा रहेगा सरकार के लिए अभी के लिए बुलेट ट्रेन पर इन्वेस्ट करना यूज़ रस है क्योंकि जरुरी नहीं है क्या अगर टेक्नोलॉजी बढ़ रही है तो उसके साथ तो हमें ऐसी चीजों पर रेस्ट करना चाहिए पहले हमारा फाउंडेशन अगर स्ट्रांग हो पहले हमारे लोग यहां के स्ट्रांग हो तब जाकर वही टेक्नोलॉजी समझ पाएगी तो इससे अच्छा बुलेट ट्रेन पर चादर लोकल प्रॉब्लम है जो लोगों की प्रॉब्लम है उस पर अगर कंसंट्रेट किया जाए तो बेहतर रहेगा सरकार के लिए

aji haan ka sawaal kafi interesting hai aur kafi meaning full hai mujhe nahi lagta ki desh ko bhi bullet train ki zaroorat hai kyonki hamare log aaj bhi yah sab chijon mein vishwas normal normal transportation mein jo rehte hain vaah unke liye physical hai bullet train shayad unke liye physical na ho aur agar sarkar ko itne saare paise is project mein invest karne hai toh usse accha garabe project aslam sir invest karen hue project unke ghar banaane mein infection west karen ya jo log jo jinki death ho rahi hai ya unki health ho health kharaab ho rahi hai duty aur jo mil udyog subsidy jo cheezen milti hai you julie logon ko vaah unke home ke na milne par jhoomke health kharaab ho rahi hai us par agar dhyan diya jaaye toh baitha raha baitha rahega sarkar ke liye abhi ke liye bullet train par invest karna use ras hai kyonki zaroori nahi hai kya agar technology badh rahi hai toh uske saath toh hamein aisi chijon par rest karna chahiye pehle hamara foundation agar strong ho pehle hamare log yahan ke strong ho tab jaakar wahi technology samajh payegi toh isse accha bullet train par chadar local problem hai jo logon ki problem hai us par agar concentrate kiya jaaye toh behtar rahega sarkar ke liye

अजी हां का सवाल काफी इंटरेस्टिंग है और काफी मीनिंग फुल है मुझे नहीं लगता कि देश को भी बुले

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  136
WhatsApp_icon
user

amitkul

CA student,pursuing bcom too

1:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए मेरे हिसाब से तो देश में जो बुलेट ट्रेन का जो फैसला लिया गया है वह इस समय जरूरी नहीं है भारत को इतनी भी कोई जरूरत नहीं है बुलेट ट्रेन की और उसके ऊपर से जो रूट थी उसकी आज्ञा बुलेट ट्रेन के लिए इसे कहते हैं मुंबई में मुंबई टू अहमदाबाद रूट पर इतना भी कोई बुलेट ट्रेन की आवश्यकता नहीं है मुंबई से जो अहमदाबाद लगभग 6 घंटे लगते हैं और रोज सुबह 7:00 बजे मुंबई से जो ट्रेन निकलती है तो बुलेट ट्रेन का जो फैसला है कोई इतना भी जरूरी नहीं लग रहा है और अहमदाबाद टू मुंबई की फ्लाइट जो है वह भी इतनी ज्यादा महंगी नहीं आती है और जो फ्लाइट के जो रेट से उसने ही बुलेट ट्रेन की भी रेट होने वाली है तो बुलेट ट्रेन का फैसला भारत बुलेट ट्रेन के लिए जय भारत इस समय इतनी तैयार नहीं है भारत के सरकार को बुलेट ट्रेन पर खर्च करने की जगह शिक्षा और गरीबी मिटाने पर गरीबी और बेरोजगारी थोड़ी कम करने पर जो है ध्यान देना चाहिए

dekhiye mere hisab se toh desh mein jo bullet train ka jo faisla liya gaya hai vaah is samay zaroori nahi hai bharat ko itni bhi koi zaroorat nahi hai bullet train ki aur uske upar se jo root thi uski aagya bullet train ke liye ise kehte hain mumbai mein mumbai to ahmedabad root par itna bhi koi bullet train ki avashyakta nahi hai mumbai se jo ahmedabad lagbhag 6 ghante lagte hain aur roj subah 7 00 baje mumbai se jo train nikalti hai toh bullet train ka jo faisla hai koi itna bhi zaroori nahi lag raha hai aur ahmedabad to mumbai ki flight jo hai vaah bhi itni zyada mehengi nahi aati hai aur jo flight ke jo rate se usne hi bullet train ki bhi rate hone waali hai toh bullet train ka faisla bharat bullet train ke liye jai bharat is samay itni taiyar nahi hai bharat ke sarkar ko bullet train par kharch karne ki jagah shiksha aur gareebi mitaane par gareebi aur berojgari thodi kam karne par jo hai dhyan dena chahiye

देखिए मेरे हिसाब से तो देश में जो बुलेट ट्रेन का जो फैसला लिया गया है वह इस समय जरूरी नहीं

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  145
WhatsApp_icon
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर हम यह सवाल का उत्तर देना चाहता सबसे बड़ा नहीं बताना चाहूंगा कि दोनों ही बहुत ही जरूरी है तो मेरे हिसाब से यह मैसेज एक जूस करना या फिर से एक को प्यार देना बैंक को बहुत ही मुश्किल है पर फिर भी मैं पर भुखमरी मिटाने के पहले मैं आ जाऊंगा कि की भुखमरी बहुत ही ज्यादा है अगर हम पिछले कई सालों से भारत के फूटे देखने की कमाई लोग मर रहे तो मेरे जैसे लोग तुम्हारी सबसे पहले सरकार को कम करने से कोई कुमारी नहीं हो या बिल्कुल ना के बराबर तभी जाकर हम देश में बुलेट ट्रेन बना सकते हैं परंतु सबसे पहले भुखमरी मिट्टी चाहिए

agar hum yah sawaal ka uttar dena chahta sabse bada nahi bataana chahunga ki dono hi bahut hi zaroori hai toh mere hisab se yah massage ek juice karna ya phir se ek ko pyar dena bank ko bahut hi mushkil hai par phir bhi main par bhukhmari mitaane ke pehle main aa jaunga ki ki bhukhmari bahut hi zyada hai agar hum pichhle kai salon se bharat ke phute dekhne ki kamai log mar rahe toh mere jaise log tumhari sabse pehle sarkar ko kam karne se koi kumari nahi ho ya bilkul na ke barabar tabhi jaakar hum desh mein bullet train bana sakte hain parantu sabse pehle bhukhmari mitti chahiye

अगर हम यह सवाल का उत्तर देना चाहता सबसे बड़ा नहीं बताना चाहूंगा कि दोनों ही बहुत ही जरूरी

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  141
WhatsApp_icon
user

Vatsal

Engineering Student

1:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसे सवाल उठाया हमें दोनों तेलुगु पत्र भेजो नहीं कर सकते सबसे पहले भारत को डेवलप करना डेवलप करने के लिए केवल बुलेट ट्रेन चलाना डेवलपमेंट का मतलब हमारी गरीबी इन सब चीजों का खत्म करना एंप्लॉयमेंट बढ़ाने समृद्धि जीवन सब को भरपेट दो वक्त की रोटी बन पाए तो एंप्लॉयमेंट देना पड़ेगा गरीबी खत्म करने के एक्सीडेंट होते हैं 20 20 10 10 20 20 घंटे लेट चलती हैं तो पहले तो आपको मौजूदा स्थिति को सही करना पड़ेगा दूसरी नहीं जी जाने से पहले ट्रेन की बातें बहुत ही अच्छी चीज है अपने देश कोई जरूरत है जो और डेवलपिंग नेशन जमाना है अपना स्टैंड ले कर खड़ा होना टेक्नोलॉजी हमें बढ़ाने की जरूरत है टेबल पर नहीं कर पाएगा तो यह सब चीजों को भी ध्यान में रखना पड़ेगा लेकिन हर एक फ्रेंड जरूरी है लेकिन यदि प्रार्थी की बात करें तो बुलेट ट्रेन से पहले भुखमरी में जाना जरूरी है - जरूरी एंप्लॉयमेंट बनाना

aise sawaal uthaya hamein dono telugu patra bhejo nahi kar sakte sabse pehle bharat ko develop karna develop karne ke liye keval bullet train chalana development ka matlab hamari gareebi in sab chijon ka khatam karna employment badhane samridhi jeevan sab ko bharapet do waqt ki roti ban paye toh employment dena padega gareebi khatam karne ke accident hote hain 20 20 10 10 20 20 ghante let chalti hain toh pehle toh aapko maujuda sthiti ko sahi karna padega dusri nahi ji jaane se pehle train ki batein bahut hi achi cheez hai apne desh koi zaroorat hai jo aur developing nation jamana hai apna stand le kar khada hona technology hamein badhane ki zaroorat hai table par nahi kar payega toh yah sab chijon ko bhi dhyan mein rakhna padega lekin har ek friend zaroori hai lekin yadi prarthi ki baat karen toh bullet train se pehle bhukhmari mein jana zaroori hai zaroori employment banana

ऐसे सवाल उठाया हमें दोनों तेलुगु पत्र भेजो नहीं कर सकते सबसे पहले भारत को डेवलप करना डेवलप

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  200
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!