क्षेत्रीय संगठनों को बनाने का क्या उद्देश्य है?...


user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राष्ट्रीय हो चाहे किसी प्रकार के जो चाहे वो हमसे जुड़े

rashtriya ho chahen kisi prakar ke jo chahen vo humse jude

राष्ट्रीय हो चाहे किसी प्रकार के जो चाहे वो हमसे जुड़े

Romanized Version
Likes  463  Dislikes    views  4634
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Pragati

Aspiring Lawyer

0:58

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्षेत्रीय संगठनों को बनाने का सबसे बड़ा उद्देश्य तो यही होता है कि वहां के कितने क्षेत्रीय लोग होते हैं उनका लाभ हो सके उनकी कोई भी मजबूरी उनकी कोई भी परेशानी हो वह सरकार तक पहुंचा जा सके उन संगठनों के द्वारा और इन संगठनों से कभी कभी आगे चल कर लो पार्टी अभी ज्वाइन कर लेते हैं और जिस से कि अपना पॉलिटिकल करियर स्टार्ट कर सकता है तू चिट्ठी संगठनों का तो सबसे ज्यादा लाभ उन लोगों को होता है जो उसके अंतर्गत आते हैं या नहीं अगर आपने छोटे से क्षेत्र के लोग हैं और वहां पर आप ने एक संगठन का बनाया तो उसे क्षेत्र के जितने भी लोग होंगे सारी परेशानियां ऑन तक ले कर जाएंगे और वह सुन परेशानियों को बड़े पॉलिटिकल लीडर तक लेकर जाएंगे आप जनसत्ता में है वह उन तक ले कर जाएंगे और वहां से वह परेशानी आगे बढ़ बढ़ के ऊपर तक पहुंच सकती है जिससे कि उन लोगों का भला हो सकेगा उन लोगों की परेशानियों का समाधान मिल सकता है

kshetriya sangathano ko BA naane ka sabse BA da uddeshya toh yahi hota hai ki wahan ke kitne kshetriya log hote hai unka labh ho sake unki koi bhi majburi unki koi bhi pareshani ho vaah sarkar tak pohcha ja sake un sangathano ke dwara aur in sangathano se kabhi kabhi aage chal kar lo party abhi join kar lete hai aur jis se ki apna political career start kar sakta hai tu chitthi sangathano ka toh sabse zyada labh un logo ko hota hai jo uske antargat aate hai ya nahi agar aapne chote se kshetra ke log hai aur wahan par aap ne ek sangathan ka BA naya toh use kshetra ke jitne bhi log honge saree pareshaniya on tak le kar jaenge aur vaah sun pareshaniyo ko BA de political leader tak lekar jaenge aap jansatta mein hai vaah un tak le kar jaenge aur wahan se vaah pareshani aage BA dh BA dh ke upar tak pohch sakti hai jisse ki un logo ka bhala ho sakega un logo ki pareshaniyo ka samadhan mil sakta hai

क्षेत्रीय संगठनों को बनाने का सबसे बड़ा उद्देश्य तो यही होता है कि वहां के कितने क्षेत्रीय

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  132
WhatsApp_icon
user

Anukrati

Journalism Graduate

0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे लगता है कि क्षेत्रीय संगठनों को बनाने का सबसे बड़ा उद्देश्य यही है कि हर हर क्षेत्र की समस्याएं और परेशानियां सरकार तक पहुंचा जा सके हर क्षेत्र के संगठन की अपनी कमियां और खूबियां होती है किस क्षेत्र में जनता को किस चीज से ज्यादा असुविधा हो रही है या वहां की जनता तक सरकार की मदद या योजनाएं पहुंच रही है या नहीं इन सब के बारे में संगठन को जो मुख्य संचालक होते हैं वह कार्य करते हैं भारत जैसे विशाल देश को इस तरह संगठनों से काफी सहायता मिलती है विभिन्न क्षेत्रों से संगठनों द्वारा सरकार को जानकारी रहती है उस प्रदेश के बारे में और सरकार उस प्रदेश की समस्याओं को अपने स्तर पर सुलझाने की कोशिश करती है

mujhe lagta hai ki kshetriya sangathano ko BA naane ka sabse BA da uddeshya yahi hai ki har har kshetra ki samasyaen aur pareshaniya sarkar tak pohcha ja sake har kshetra ke sangathan ki apni kamiya aur khubiya hoti hai kis kshetra mein janta ko kis cheez se zyada asuvidha ho rahi hai ya wahan ki janta tak sarkar ki madad ya yojanaye pohch rahi hai ya nahi in sab ke BA re mein sangathan ko jo mukhya sanchalak hote hai vaah karya karte hai bharat jaise vishal desh ko is tarah sangathano se kaafi sahayta milti hai vibhinn kshetro se sangathano dwara sarkar ko jaankari rehti hai us pradesh ke BA re mein aur sarkar us pradesh ki samasyaon ko apne sthar par suljhane ki koshish karti hai

मुझे लगता है कि क्षेत्रीय संगठनों को बनाने का सबसे बड़ा उद्देश्य यही है कि हर हर क्षेत्र क

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  182
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
chetriya sangathan kise kahate hain ; kshetriya sangathan kise kahate hain ; chetriya sangathan kya hai ; sangathan ke uddeshya ; क्षेत्रीय संगठन किसे कहते हैं ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!