क्या भारत में हिन्दू और मुस्लिम कभी एक हो पाएँगे?...


user

Chandraprakash Joshi

Ex-AGM RBI & CEO@ixamBee.com

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आई थिंक हिंदू मुस्लिम को एक करना तो कोई एजेंडा है, नहीं क्योंकि वह अलग अलग भी बहुत अच्छे हैं| अलग अलग होने का मतलब यह नहीं है, कि वह लोग रोज झगड़ा करते रहे| आप किसी भी देश में, किसी भी और समाज में देखिए तो अलग-अलग समुदाय के लोग, अलग-अलग क्षेत्र के लोग, अलग अलग भाषा के लोग आपस में शांति से रहते हैं| और वही मकसद होना चाहिए हिंदू और मुस्लिमों का साथ चलने का| जरूरी नहीं है कि एक दुसरे को आप हमेशा ही गले लगाए रखो लेकिन एक दुसरे से नफ़रत मत करो| आप मेरी आज़ादी समझो में आपकी आजादी समझूंगा ये उद्देश्य होना चाहिए| और यह जरुर हो सकता है आप किसी भी बड़े देश में देखिए, किसी भी डेवलप्ड कंट्री में देखिये अलग-अलग समुदाय के लोग रहते हैं और शांति से रह रहे| क्या जरुरत है, कि मैं वो बनू जो आप हो और आप वह बनो जो मैं हूं| मैं अपने आप में अच्छा| आप अपने आप में अच्छे| लेकिन हम एक दूसरे की बुराई ना करें| एक दूसरे से झगड़ा ना करें| वह हमारा प्रयास होना चाहिए| और वो हो सकता है|

I think hindu muslim ko ek karna toh koi agenda hai nahi kyonki vaah alag alag bhi bahut acche hain alag alag hone ka matlab yah nahi hai ki vaah log roj jhadna karte rahe aap kisi bhi desh mein kisi bhi aur samaj mein dekhiye toh alag alag samuday ke log alag alag kshetra ke log alag alag bhasha ke log aapas mein shanti se rehte hain aur wahi maksad hona chahiye hindu aur muslimo ka saath chalne ka zaroori nahi hai ki ek dusre ko aap hamesha hi gale lagaye rakho lekin ek dusre se nafrat mat karo aap meri aazadi samjho mein aapki azadi samjhunga ye uddeshya hona chahiye aur yah zaroor ho sakta hai aap kisi bhi bade desh mein dekhiye kisi bhi developed country mein dekhiye alag alag samuday ke log rehte hain aur shanti se reh rahe kya zaroorat hai ki main vo banu jo aap ho aur aap vaah bano jo main hoon main apne aap mein accha aap apne aap mein acche lekin hum ek dusre ki burayi na kare ek dusre se jhadna na kare vaah hamara prayas hona chahiye aur vo ho sakta hai

आई थिंक हिंदू मुस्लिम को एक करना तो कोई एजेंडा है, नहीं क्योंकि वह अलग अलग भी बहुत अच्छे ह

Romanized Version
Likes  36  Dislikes    views  760
KooApp_icon
WhatsApp_icon
30 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!