क्या UPSC को क्रैक करने के लिए तैयारी का केवल एक वर्ष पर्याप्त है?...


user

Ansh jalandra

Motivational speaker & criminal lawyer

0:32
Play

Likes  109  Dislikes    views  2330
WhatsApp_icon
11 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

N Vasudevan

Indian Forest Services

2:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी बात करनी है तो हो जाएगा लेकिन पहले से थोड़ा सा फोन में है मतलब थोड़ा सा शुरू से ही उन्होंने कहा है उसने बहुत लोगों से किया भी है अगर आप जनपद पंचायत परफेक्ट डाल दूंगा अपना अपना अहमदाबाद जा तुझे वापस आपको लगता है कि एक एक बार लगने के बाद एक बार थोड़ा सा तो कोई प्रॉब्लम नहीं है

abhi baat karni hai toh ho jaega lekin pehle se thoda sa phone mein hai matlab thoda sa shuru se hi unhone kaha hai usne bahut logo se kiya bhi hai agar aap janpad panchayat perfect daal dunga apna apna ahmedabad ja tujhe wapas aapko lagta hai ki ek ek baar lagne ke baad ek baar thoda sa toh koi problem nahi hai

अभी बात करनी है तो हो जाएगा लेकिन पहले से थोड़ा सा फोन में है मतलब थोड़ा सा शुरू से ही उन्

Romanized Version
Likes  85  Dislikes    views  2437
WhatsApp_icon
play
user

Pradeep Mishra

UPSC Aspirant

0:40

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी आपके ऊपर का टोटली डिपेंड करता है मैंने ऐसे बहुत सारे लोगों को दिखाएं बॉबी कटारिया को देखिए उसकी रेन को देखिए और मन करता है आप कितनी जल्दी पूरे सिलेबस को पर कर पाते हैं उसके पर डिपेंड करता है आपने कितने बार आंसर राइटिंग प्रैक्टिस किया है आपने कितने माफ इंटरव्यू सेटिंग किया आपके आपके ऊपर आकर प्रिपरेशन के ऊपर डिपेंड करता है शॉपिंग क्या आप कर सकते हैं 1 साल में

abhi aapke upar ka totally depend karta hai maine aise bahut saare logo ko dikhaen bobby katariya ko dekhiye uski rain ko dekhiye aur man karta hai aap kitni jaldi poore syllabus ko par kar paate hain uske par depend karta hai aapne kitne baar answer writing practice kiya hai aapne kitne maaf interview setting kiya aapke aapke upar aakar preparation ke upar depend karta hai shopping kya aap kar sakte hain 1 saal mein

अभी आपके ऊपर का टोटली डिपेंड करता है मैंने ऐसे बहुत सारे लोगों को दिखाएं बॉबी कटारिया को द

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  193
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपने सवाल यह किया है कि क्या यूपीएससी को क्रय करने के लिए केवल 1 साल पर्याप्त आंखें जो भी कोई अगर ऐसा बात कह रहे हैं कि 1 साल में मात्र प्रिपरेशन हो जाता है तो उस मेरे अनुसार तो इतना कहना अच्छा क्योंकि आप समझते हैं कि यूपीएससी का पेपर आज के दौर में उस हिसाब से साल भर के दौरान की बात अगर आप करेंगे तो पॉसिबल नहीं यूपीएससी की ट्रेन डे है कि आप छठी से लेकर के 12वीं तक के पेपर्स कितनी जो सिलेबस हैं उनके क्वेश्चन को रेस करने का प्रयास करते हैं लेकिन उन्हें क्वेश्चन ओं को कुछ नए और कुछ पुराने के तथ्यों को जोड़कर बताता है उदाहरण के लिए कर मैं आपसे क्वेश्चन बनाऊं यूपी में किस तरह के क्वेश्चन कोरेज करते हैं तो मेरे सवाल यह होता है कि वर्तमान परिस्थितियों को केंद्र में रखते हुए नारीवादी समस्याओं को इतिहास से किस प्रकार एक विविधता पूर्ण स्थिति रही है क्या आज भी इतिहास और वर्तमान को केंद्र में रखते हुए नारियों की समीक्षा एक घरेलू स्तर पर किया जा सकता है या नहीं विवेचना कीजिए तो इस क्वेश्चन में वर्तमान और प्रदेश सारे चीजों को इकट्ठा करके करना होगा और ऐसे में समझ नहीं आएगा एक क्वेश्चन कि हां हमने कहां से उठाया और कहां पर खत्म करती तो यूपीएससी की तैयारी केवल 1 साल प्राप्त करना पर्याप्त नहीं है आपको अंडरस्टैंडिंग करना बहुत जरूरी है यू हैव कंसीडर्ड ए बिल्डिंग व्हाट यू आर व्हाट एवर यू ऑफ बॉक्सिंग इन योर लाइफ एंड ऑल दैट यू हैव टू द फिनोमिना व्हाट इस सिग्निफिकेंट फॉर यू एस ए सिविल सर्वेंट्स कर सकते हैं लेकिन आप अगर कहीं न कहीं भी हो जाए तो कहेंगे कि नहीं थोड़ा गलत है कुछ ऐसा हुआ तो ऐसा नहीं मानकर भी चलिए जो भी आप पढ़िए उसको अनुराज कीजिए स्टडी के रूप में समझी एक परीक्षण कीजिए सिविल सर्विसेज उनको लेकर के पढ़ाई को लेकर के वह आपको आपके दिमाग में मेमोराइज करने का प्रयास नहीं करती है बल्कि आपको परीक्षण करने का मौका देती है धन्यवाद

namaskar aapne sawaal yah kiya hai ki kya upsc ko kray karne ke liye keval 1 saal paryapt aankhen jo bhi koi agar aisa baat keh rahe hain ki 1 saal mein matra preparation ho jata hai toh us mere anusaar toh itna kehna accha kyonki aap samajhte hain ki upsc ka paper aaj ke daur mein us hisab se saal bhar ke dauran ki baat agar aap karenge toh possible nahi upsc ki train day hai ki aap chathi se lekar ke vi tak ke papers kitni jo syllabus hain unke question ko race karne ka prayas karte hain lekin unhe question on ko kuch naye aur kuch purane ke tathyon ko jodkar batata hai udaharan ke liye kar main aapse question banau up mein kis tarah ke question korej karte hain toh mere sawaal yah hota hai ki vartaman paristhitiyon ko kendra mein rakhte hue narivadi samasyaon ko itihas se kis prakar ek vividhata purn sthiti rahi hai kya aaj bhi itihas aur vartaman ko kendra mein rakhte hue nariyon ki samiksha ek gharelu sthar par kiya ja sakta hai ya nahi vivechna kijiye toh is question mein vartaman aur pradesh saare chijon ko ikattha karke karna hoga aur aise mein samajh nahi aayega ek question ki haan humne kahan se uthaya aur kahan par khatam karti toh upsc ki taiyari keval 1 saal prapt karna paryapt nahi hai aapko understanding karna bahut zaroori hai you have kansidard a building what you R what ever you of boxing in your life and all that you have to the phenomenon what is significant for you s a civil servants kar sakte hain lekin aap agar kahin na kahin bhi ho jaaye toh kahenge ki nahi thoda galat hai kuch aisa hua toh aisa nahi maankar bhi chaliye jo bhi aap padhiye usko anuraj kijiye study ke roop mein samjhi ek parikshan kijiye civil services unko lekar ke padhai ko lekar ke vaah aapko aapke dimag mein memorize karne ka prayas nahi karti hai balki aapko parikshan karne ka mauka deti hai dhanyavad

नमस्कार आपने सवाल यह किया है कि क्या यूपीएससी को क्रय करने के लिए केवल 1 साल पर्याप्त आंखे

Romanized Version
Likes  42  Dislikes    views  316
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बीपीएससी की तैयारी करना शुरू करता है तब तो सोचा कि आपने अपना नेट एग्जाम 50 महीने पहले बात करते हैं कि आपको अपनी बेटी को बहुत जरूरी है कि आप पहले दिन भैया की शादी होती है

BPSC ki taiyari karna shuru karta hai tab toh socha ki aapne apna net exam 50 mahine pehle baat karte hain ki aapko apni beti ko bahut zaroori hai ki aap pehle din bhaiya ki shadi hoti hai

बीपीएससी की तैयारी करना शुरू करता है तब तो सोचा कि आपने अपना नेट एग्जाम 50 महीने पहले बात

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  460
WhatsApp_icon
user
0:23
Play

Likes  2  Dislikes    views  115
WhatsApp_icon
user
0:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां यह किसी को क्रैक करने के लिए 11 की तैयारी बहुत

haan yah kisi ko crack karne ke liye 11 ki taiyari bahut

हां यह किसी को क्रैक करने के लिए 11 की तैयारी बहुत

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  105
WhatsApp_icon
user
0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं मेरे हिसाब से 1 वर्ष की तैयारी से कुछ नहीं होता है मैं बैठा था साल का हूं लेकिन मैं अभी से पीएससी की तैयारी कर रहा हूं मुझे पूरा यकीन है कि आने वाले समय में जब तक मैं रिक्शा लेकर जाएगी वहीं पर आकर करूंगा और इसका महत्व पहुंच करूंगा धन्यवाद

nahi mere hisab se 1 varsh ki taiyari se kuch nahi hota hai main baitha tha saal ka hoon lekin main abhi se PSC ki taiyari kar raha hoon mujhe pura yakin hai ki aane waale samay me jab tak main riksha lekar jayegi wahi par aakar karunga aur iska mahatva pohch karunga dhanyavad

नहीं मेरे हिसाब से 1 वर्ष की तैयारी से कुछ नहीं होता है मैं बैठा था साल का हूं लेकिन मैं अ

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  81
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  3  Dislikes    views  109
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यूपीएससी के बारे में एकदम है यह दुनिया की सबसे मुश्किल प्रशासनिक सेवा का इंतिहान है इसमें सफल होना एक या दो प्रयासों में संभव नहीं है और की अनवरत प्रयास के बाद ही संभव है हमने मुलाकात की है और कुछ आईआरएस अफसरों से जिन्होंने इस भ्रम को निर्मूल सिद्ध किया पहला बहु प्रचलित भ्रम तो यह है कि साक्षात्कार लेने वाले आपसे बहुत कठिन सवाल पूछते हैं ऐसे सवाल जिनके उत्तर आपके पास ना हूं जो कि सच्चाई यह है कि इंटरव्यू पैनल आपको हर संभव सामान्य बनाने का प्रयास करता है और आपकी मानसिक दक्षता और चरित्र की दृढ़ता को पड़ता है सच तो यह भी है कि जब आप साक्षात्कार तक पहुंच जाते हैं तब आपके ज्ञान नहीं बल्कि दृष्टिकोण और अभिरुचि को परखा जाता है चुनौती दी जाती है साक्षात्कार इम्तिहान नहीं होता इसलिए उस समय तनाव नहीं होना चाहिए यह आपके लिए एक अवसर होता है जब आप पांच विद्वान और अनुभवी लोगों के साथ बातचीत करते हैं दृष्टिकोण आपको आत्मविश्वास और खुलकर बातचीत करने में मदद करता है अगला भ्रम है कि उम्मीदवारों को टॉपर्स का अनुसरण करना चाहिए सच्चाई यह है कि इस इम्तिहान के लिए कोई शॉर्टकट नहीं है आप सभी टॉपर्स को सुनें पढ़ें आखिर आप इस नतीजे पर पहुंचेंगे कि कड़ी मेहनत और केवल कड़ी मेहनत ही आपको सफलता दिला सकती है उम्मीदवार को अपना खुद का एक टाइम टेबल सारणी और योजना बनाकर उसके अनुसार ही चलना होता है अगला भ्रम है कि उम्मीदवारों को घंटों पढ़ना होता है यह ब्रह्म शायद सबसे ज्यादा समय से चला आ रहा भ्रम है यह संभव नहीं है कि कोई लगातार घंटों पढ़ाई कर सकें दरअसल पढ़ाई गुणवत्ता युक्त होनी चाहिए ना कि घंटों लंबी यदि आप ध्यानपूर्वक पढ़ें तो 4 से 5 घंटे प्रतिदिन पर्याप्त होते हैं ऐसे भी लोग हैं जिन्होंने नौकरी करते हुए इस इम्तिहान को पास किया है और कुछ ऐसे भी हैं जिन्होंने नौकरी छोड़ दी और अपना पूरा ध्यान इस इम्तिहान की तैयारी पर लगाया आप भी अपनी क्षमता अनुसार बुद्धिमानी से जैसा उचित हो वैसा करें सबसे बड़ी भ्रांति तो यह है कि साधारण शैक्षिक योग्यता वाला इस इम्तिहान में सफल नहीं हो सकता एक और भ्रम है कि आपको अंग्रेजी बोल सारे और भाषा का अच्छा ज्ञान हो तभी आप इस इम्तिहान में सफल हो सकते हैं यह धर्म क्षेत्रीय भाषा बोलने वालों में अधिक है उन्हें याद रखना चाहिए कि यह इंतिहान उनके ज्ञान का उनकी सोच का इम्तिहान है ना कि उस माध्यम का जिसमें उन्होंने लिखना और पढ़ना सीखा है 22 क्षेत्रीय भाषाओं में दिया जा सकता है और तो और यदि बात में लिखित इंतिहान इंग्लिश में दिया है तो आप इंटरव्यू हिंदी में भी दे सकते हैं इंटरव्यू पैनलिस्ट आपके उत्तर की गंभीरता और गहराई को देखते हैं ना कि आप किस भाषा में उत्तर देने में सक्षम हैं सरल और समझ में आने वाली भाषा को वरीयता दी जाती है अगला भ्रम यह है कि वही उम्मीदवार ऐसे इंतिहान में सफल होता है जो अमीर और शहरी होता है इसके विपरीत समय कई उदाहरण मिल जाएंगे जहां गरीब और सामान्य घरों के बच्चों ने जिनके माता-पिता ज्यादा पढ़े लिखे भी नहीं थे उन्होंने भी सफलता हासिल की अंत में हमें ध्यान रखना चाहिए कि एक सुलझी हुई अनुशासित तैयारी हमें इस इम्तिहान में सफलता दिला सकती है धन्यवाद

upsc ke bare me ekdam hai yah duniya ki sabse mushkil prashaasnik seva ka intihan hai isme safal hona ek ya do prayaso me sambhav nahi hai aur ki anvarat prayas ke baad hi sambhav hai humne mulakat ki hai aur kuch IRS afsaron se jinhone is bharam ko nirmul siddh kiya pehla bahu prachalit bharam toh yah hai ki sakshatkar lene waale aapse bahut kathin sawaal poochhte hain aise sawaal jinke uttar aapke paas na hoon jo ki sacchai yah hai ki interview panel aapko har sambhav samanya banane ka prayas karta hai aur aapki mansik dakshata aur charitra ki dridhta ko padta hai sach toh yah bhi hai ki jab aap sakshatkar tak pohch jaate hain tab aapke gyaan nahi balki drishtikon aur abhiruchi ko parkha jata hai chunauti di jaati hai sakshatkar imtihan nahi hota isliye us samay tanaav nahi hona chahiye yah aapke liye ek avsar hota hai jab aap paanch vidhwaan aur anubhavi logo ke saath batchit karte hain drishtikon aapko aatmvishvaas aur khulkar batchit karne me madad karta hai agla bharam hai ki ummidwaron ko toppers ka anusaran karna chahiye sacchai yah hai ki is imtihan ke liye koi shortcut nahi hai aap sabhi toppers ko sunen padhen aakhir aap is natije par pahunchenge ki kadi mehnat aur keval kadi mehnat hi aapko safalta dila sakti hai ummidvar ko apna khud ka ek time table sarni aur yojana banakar uske anusaar hi chalna hota hai agla bharam hai ki ummidwaron ko ghanto padhna hota hai yah Brahma shayad sabse zyada samay se chala aa raha bharam hai yah sambhav nahi hai ki koi lagatar ghanto padhai kar sake darasal padhai gunavatta yukt honi chahiye na ki ghanto lambi yadi aap dhyanapurvak padhen toh 4 se 5 ghante pratidin paryapt hote hain aise bhi log hain jinhone naukri karte hue is imtihan ko paas kiya hai aur kuch aise bhi hain jinhone naukri chhod di aur apna pura dhyan is imtihan ki taiyari par lagaya aap bhi apni kshamta anusaar budhhimani se jaisa uchit ho waisa kare sabse badi bhranti toh yah hai ki sadhaaran shaikshik yogyata vala is imtihan me safal nahi ho sakta ek aur bharam hai ki aapko angrezi bol saare aur bhasha ka accha gyaan ho tabhi aap is imtihan me safal ho sakte hain yah dharm kshetriya bhasha bolne walon me adhik hai unhe yaad rakhna chahiye ki yah intihan unke gyaan ka unki soch ka imtihan hai na ki us madhyam ka jisme unhone likhna aur padhna seekha hai 22 kshetriya bhashaon me diya ja sakta hai aur toh aur yadi baat me likhit intihan english me diya hai toh aap interview hindi me bhi de sakte hain interview Panelist aapke uttar ki gambhirta aur gehrai ko dekhte hain na ki aap kis bhasha me uttar dene me saksham hain saral aur samajh me aane wali bhasha ko variyata di jaati hai agla bharam yah hai ki wahi ummidvar aise intihan me safal hota hai jo amir aur shahri hota hai iske viprit samay kai udaharan mil jaenge jaha garib aur samanya gharon ke baccho ne jinke mata pita zyada padhe likhe bhi nahi the unhone bhi safalta hasil ki ant me hamein dhyan rakhna chahiye ki ek suljhi hui anushasit taiyari hamein is imtihan me safalta dila sakti hai dhanyavad

यूपीएससी के बारे में एकदम है यह दुनिया की सबसे मुश्किल प्रशासनिक सेवा का इंतिहान है इसमें

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  138
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!