क्या आपको लगता है कि एक औसत छात्र UPSC परीक्षा को क्लीयर कर सकता है (जैसा कि हम केवल टॉपर्स को इस परीक्षा में क्रैक करते हुए देखते हैं)?...


user

Deepak Tiwari

Freelance Writer And Poet, Working As Journalist

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

औसत छात्र और टॉपर फर्क होता है जो टॉपर होता है निश्चित ही वह मेहनत करता है और सच छात्र से ज्यादा मेहनत करता है यही वजह है कि अपने जीवन में एक मुकाम हासिल कर पाता है जो औसत छात्र हैं उनके लिए जिंदगी के दूसरे मायने हैं मुकाम दूसरे हैं वह से हासिल कर पाते हैं इससे कोई फर्क नहीं पड़ता आप जिस व्यक्ति परीक्षा दे रहे हो यूपीएससी की उस समय अगर आप प्रॉपर से भी अच्छी मेहनत करते हो तो आप भी कर सकते हो भले ही आप अपने विद्यार्थी जीवन में औसत छात्र रहे हो इसलिए पूरा फोकस अपनी परीक्षा की तैयारी पर रखी है और अपने लक्ष्य पर ध्यान रखिए

ausat chatra aur topper fark hota hai jo topper hota hai nishchit hi vaah mehnat karta hai aur sach chatra se zyada mehnat karta hai yahi wajah hai ki apne jeevan me ek mukam hasil kar pata hai jo ausat chatra hain unke liye zindagi ke dusre maayne hain mukam dusre hain vaah se hasil kar paate hain isse koi fark nahi padta aap jis vyakti pariksha de rahe ho upsc ki us samay agar aap proper se bhi achi mehnat karte ho toh aap bhi kar sakte ho bhale hi aap apne vidyarthi jeevan me ausat chatra rahe ho isliye pura focus apni pariksha ki taiyari par rakhi hai aur apne lakshya par dhyan rakhiye

औसत छात्र और टॉपर फर्क होता है जो टॉपर होता है निश्चित ही वह मेहनत करता है और सच छात्र स

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  147
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Rakhi Saxena

Working Woman And Counseller

3:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां बिल्कुल क्यों नहीं कर सकते आप भले ही कोई बात नहीं लेकिन उसके बाद भी आप जो हैं अगर उस क्राइटेरिया फॉर क्लियर कर लेते हैं जो यूपीएससी के लिए जरूरी है पंच के मामले में तो फिर आप उसके बाद अगर आपका मन बनता है कि नहीं मुझे बिल पे करना आपको क्या पहनना चाहिए होते हैं बच्चे उनका जो पास उसे आपकी जो मेहनत है वह तो है ही लेकिन आपका लक्ष्य है आपका भाग्य आपकी किस्मत वह भी इन चीजों में बहुत मायने रखती है अगर यह एग्जांप्रेप आप अपनी फ्रेंड से पूरी मेहनत कर सकते हैं ठीक है हंड्रेड परसेंट अपना दे सकते लेकिन आप देखेंगे उसके बाद फिर भी कोई एक या दो नंबर की वजह से ही रह जाते हैं उसका कारण यही होता है कि एकदम कि कहीं ना कहीं तैयारी की 12 नंबर कोई बहुत बड़ी बात उनकी तैयारी जो है वो कहीं ना कहीं ठीक ही थी लेकिन कहीं ना कहीं किस्मत ने उनका साथ नहीं दिया तो अगर आप यह फेसबुक हैक करना चाहते हैं अभी के स्टूडेंट हैं कोई प्रॉब्लम में अपनी एक बार कुंडली भी किसी जो किसी को दिखाई और देखिए कि आपकी कुंडली में गवर्नमेंट जॉब का यह किसी अच्छे चौक का योग है क्योंकि यह चीज हंड्रेड परसेंट होती है जो व्यक्ति को करते हैं उनके कुंडली के कार्य दिखाने लगते हैं अगर ऐसा कुछ है और आप एप्लीकेशन बनते हैं और अगर आपने पूरी भी मेहनत करी फोकस किया तो आप यकीन मानिए हंड्रेड परसेंट आपको कर लेंगे आपका भाग्य आपका इंतजार करना है लेकिन उसके लिए कोशिश तो आपको करनी पड़ेगी कभी कुछ नहीं होता

haan bilkul kyon nahi kar sakte aap bhale hi koi baat nahi lekin uske baad bhi aap jo hain agar us criteria for clear kar lete hain jo upsc ke liye zaroori hai punch ke mamle me toh phir aap uske baad agar aapka man banta hai ki nahi mujhe bill pe karna aapko kya pahanna chahiye hote hain bacche unka jo paas use aapki jo mehnat hai vaah toh hai hi lekin aapka lakshya hai aapka bhagya aapki kismat vaah bhi in chijon me bahut maayne rakhti hai agar yah egjamprep aap apni friend se puri mehnat kar sakte hain theek hai hundred percent apna de sakte lekin aap dekhenge uske baad phir bhi koi ek ya do number ki wajah se hi reh jaate hain uska karan yahi hota hai ki ekdam ki kahin na kahin taiyari ki 12 number koi bahut badi baat unki taiyari jo hai vo kahin na kahin theek hi thi lekin kahin na kahin kismat ne unka saath nahi diya toh agar aap yah facebook hack karna chahte hain abhi ke student hain koi problem me apni ek baar kundali bhi kisi jo kisi ko dikhai aur dekhiye ki aapki kundali me government job ka yah kisi acche chauk ka yog hai kyonki yah cheez hundred percent hoti hai jo vyakti ko karte hain unke kundali ke karya dikhane lagte hain agar aisa kuch hai aur aap application bante hain aur agar aapne puri bhi mehnat kari focus kiya toh aap yakin maniye hundred percent aapko kar lenge aapka bhagya aapka intejar karna hai lekin uske liye koshish toh aapko karni padegi kabhi kuch nahi hota

हां बिल्कुल क्यों नहीं कर सकते आप भले ही कोई बात नहीं लेकिन उसके बाद भी आप जो हैं अगर उस क

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  488
WhatsApp_icon
user

Anil Ramola

Yoga Instructor | Engineer

0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा नहीं है कि केवल जो टॉपर रहते हैं अपने एग्जाम में वही काम कर पाते पाते

aisa nahi hai ki keval jo topper rehte hain apne exam me wahi kaam kar paate paate

ऐसा नहीं है कि केवल जो टॉपर रहते हैं अपने एग्जाम में वही काम कर पाते पाते

Romanized Version
Likes  394  Dislikes    views  2855
WhatsApp_icon
user

Rajesh Kumar Saxena

Assistant Professor

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इसमें औसत छात्र का कोई भी रोल नहीं है यूपीएससी की परीक्षा यदि आप सही से तैयारी कर रहे हैं तो चाहे आप किसी भी तरीके के स्टूडेंट हूं और आपका बड़ा हुआ पेपर में आ जाता है और आपके नॉलेज के ऊपर बेस्ड क्वेश्चंस मिल जाते हैं तो आप उस पेपर को क्रश कर लेंगे

isme ausat chatra ka koi bhi roll nahi hai upsc ki pariksha yadi aap sahi se taiyari kar rahe hain toh chahen aap kisi bhi tarike ke student hoon aur aapka bada hua paper me aa jata hai aur aapke knowledge ke upar based questions mil jaate hain toh aap us paper ko crush kar lenge

इसमें औसत छात्र का कोई भी रोल नहीं है यूपीएससी की परीक्षा यदि आप सही से तैयारी कर रहे हैं

Romanized Version
Likes  30  Dislikes    views  709
WhatsApp_icon
user

Ekta Jain

Educator, Author, Motivational speaker

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा किसने कह दिया कि केवल टॉपर्स यूपीएससी को क्लियर करते हैं ज्यादातर औसतन बच्चे की औसत छात्र ही यूपीएससी क्लियर करते हैं ऐसी बहुत सारी एग्जांपल्स आपको मिल जाएंगे जो अपने करियर में फैली और तक को जन्मे झेला है उसे क्लियर किया है इच्छाशक्ति की जरूरत है टाइम कैसा है आपकी इच्छा कितनी है जी को प्राप्त करने के लिए इंपॉर्टेंट है ऐसा कुछ भी नहीं है यह एक टॉपर ही यूपीए से प्यार कर सकता है यह कौशल छात्र अपनी दृढ़ इच्छाशक्ति के साथ ही 65 ईयर बिल्कुल कर सकता है

aisa kisne keh diya ki keval toppers upsc ko clear karte hain jyadatar ausatan bacche ki ausat chatra hi upsc clear karte hain aisi bahut saari egjampals aapko mil jaenge jo apne career me faili aur tak ko janme jhela hai use clear kiya hai ichchhaashakti ki zarurat hai time kaisa hai aapki iccha kitni hai ji ko prapt karne ke liye important hai aisa kuch bhi nahi hai yah ek topper hi UPA se pyar kar sakta hai yah kaushal chatra apni dridh ichchhaashakti ke saath hi 65 year bilkul kar sakta hai

ऐसा किसने कह दिया कि केवल टॉपर्स यूपीएससी को क्लियर करते हैं ज्यादातर औसतन बच्चे की औसत छा

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  112
WhatsApp_icon
user

Janki Soori Gour

Counselling Psychologist

2:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका क्वेश्चन है क्या आपको लगता है कि कौशल छात्र यूपीएससी परीक्षा को क्लियर कर सकता है जैसा कि हम केवल टॉपर्स को इस परीक्षा में चेक करते हुए देखें ऑफ लेबल का बच्चे क्लियर कर सकता आप जो देखे ही आपका नजरिया है कि टॉपर्स को शायद आप ध्यान से नहीं देखे बहुत सारे समय से बच्चे होते हैं जो 12वीं फेल होते हैं एक बार या छोटे क्लास में फेल होते हैं उनका मांस प्रशिक्षण में सही नहीं होता परसेंटेज सही नहीं होता हिंदी मीडियम सब पढ़े होते हैं और वापस नहीं होते हैं लेकिन उनको सामाजिक अनुभव बहुत ज्यादा होता है प्रेक्टिकल अनुभव बहुत ज्यादा होता है ठीक है वह हर गतिविधियों को सीखते हुए अपने एक्सपीरियंस को लेते हुए वह यूपीएससी के एग्जाम में बैठते हैं और वह वहां जाकर यूपीएससी क्लियर कर लेते हैं ठीक है अगर मानते टॉपर्स अगर आप लेकर चलते की टॉपर से क्लियर करते हैं तो टॉपर्स क्लियर करते हैं मेंस क्लियर हो सकता है सॉरी क्लियर हो सकता है मैं भी क्लियर हो जाएगा लेकिन आपका इंटरव्यू में जाकर आपका जो बेस है वहां फंस जाएगा क्योंकि इंटरव्यू सबसे मेन चीज होता और वहां हमें लगता है कि वहां वही जवाब दे सकता सही जिसको प्रेक्टिकल अनुभव सामाजिक तौर पर बुरे से बुरे परिस्थितियों को समझने और संभालने की क्षमता हो उसके अंदर वह भी बहुत शांति तरीके से तो यह वही कर सकता है जो समाज में बहुत सारी परिस्थितियों का फेस किया हुआ है वह हर हालात में जिंदगी को देखा है नजदीकी से तो ऐसे लोग भी इंटरव्यू क्लियर कर पाते हैं तो आप इंटरव्यू के लिए करने के बाद तब समझ में आता है कि वहां पर पढ़ना भी जरूरी है और आपको प्रेक्टिकल अनुभव भी जरूरी है तो यह जो दोनों चीज के लिए कर सकता हूं एक औसत लेवल का बच्चा ही ज्यादातर क्लियर करता है आप फिर से देखना यूपीएससी के जितने न्यूज़ है उसको आप देखना जरूरी नहीं कि टॉपर सीख लिया करी आपके दिमाग में तुझे यह डर हटा दीजिए और दूसरी बात है कि इसके लिए कोई मायने नहीं रखता कि आपको ग्रेजुएशन में फर्स्ट लेवल पर हो तो आप ही फॉर्म भर सकते नहीं इसे नंबर से मिनट से परसेंटेज से कोई लेना देना नहीं है एक औसत लेवल का बच्चा भी बैठ सकता है वहां पर एग्जाम्स में यूपीएससी के एग्जाम में हर तरह के बच्चे बैठते हैं और सक्सेस वही होता है जो दोनों जिंदगी अच्छी होती हैं जो पढ़ाई को भी बाग गंभीरता से लेते हैं आप प्रेक्टिकल अनुभव भी हो सामाजिक तौर पर की किस परिस्थिति में कैसे फैसले लेना चाहिए जो समाज के लिए हित में हो और हमारे डिपार्टमेंट के लिए भी हित में हो ऐसी परिस्थिति में जो सही फैसला ले पाता है जिसके पास समझ है देखने की समझ है करने की समझ है और सब की बातों को लेकर चलने की समझ गई इसमें सक्सेसफुल होता है ठीक है 3 तारीख चीजों को नजर में अपना होता सिर्फ टॉपर्स होने से कोई इसमें आपको शक नहीं मिलेगा

aapka question hai kya aapko lagta hai ki kaushal chatra upsc pariksha ko clear kar sakta hai jaisa ki hum keval toppers ko is pariksha me check karte hue dekhen of lebal ka bacche clear kar sakta aap jo dekhe hi aapka najariya hai ki toppers ko shayad aap dhyan se nahi dekhe bahut saare samay se bacche hote hain jo vi fail hote hain ek baar ya chote class me fail hote hain unka maas prashikshan me sahi nahi hota percentage sahi nahi hota hindi medium sab padhe hote hain aur wapas nahi hote hain lekin unko samajik anubhav bahut zyada hota hai practical anubhav bahut zyada hota hai theek hai vaah har gatividhiyon ko sikhate hue apne experience ko lete hue vaah upsc ke exam me baithate hain aur vaah wahan jaakar upsc clear kar lete hain theek hai agar maante toppers agar aap lekar chalte ki topper se clear karte hain toh toppers clear karte hain mains clear ho sakta hai sorry clear ho sakta hai main bhi clear ho jaega lekin aapka interview me jaakar aapka jo base hai wahan fans jaega kyonki interview sabse main cheez hota aur wahan hamein lagta hai ki wahan wahi jawab de sakta sahi jisko practical anubhav samajik taur par bure se bure paristhitiyon ko samjhne aur sambhalne ki kshamta ho uske andar vaah bhi bahut shanti tarike se toh yah wahi kar sakta hai jo samaj me bahut saari paristhitiyon ka face kiya hua hai vaah har haalaat me zindagi ko dekha hai najdiki se toh aise log bhi interview clear kar paate hain toh aap interview ke liye karne ke baad tab samajh me aata hai ki wahan par padhna bhi zaroori hai aur aapko practical anubhav bhi zaroori hai toh yah jo dono cheez ke liye kar sakta hoon ek ausat level ka baccha hi jyadatar clear karta hai aap phir se dekhna upsc ke jitne news hai usko aap dekhna zaroori nahi ki topper seekh liya kari aapke dimag me tujhe yah dar hata dijiye aur dusri baat hai ki iske liye koi maayne nahi rakhta ki aapko graduation me first level par ho toh aap hi form bhar sakte nahi ise number se minute se percentage se koi lena dena nahi hai ek ausat level ka baccha bhi baith sakta hai wahan par exams me upsc ke exam me har tarah ke bacche baithate hain aur success wahi hota hai jo dono zindagi achi hoti hain jo padhai ko bhi bagh gambhirta se lete hain aap practical anubhav bhi ho samajik taur par ki kis paristhiti me kaise faisle lena chahiye jo samaj ke liye hit me ho aur hamare department ke liye bhi hit me ho aisi paristhiti me jo sahi faisla le pata hai jiske paas samajh hai dekhne ki samajh hai karne ki samajh hai aur sab ki baaton ko lekar chalne ki samajh gayi isme successful hota hai theek hai 3 tarikh chijon ko nazar me apna hota sirf toppers hone se koi isme aapko shak nahi milega

आपका क्वेश्चन है क्या आपको लगता है कि कौशल छात्र यूपीएससी परीक्षा को क्लियर कर सकता है जैस

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  72
WhatsApp_icon
user

Meena Varma

Professor/Career Advice

1:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सवाल क्या आपको लगता है कि कौशल कौशल मतलब कि एकदम मीडियम बच्चा होता है बहुत ज्यादा है क्योंकि माना जाता है कि ऐसा कुछ नहीं है अगर वह मेहनत करेगा इच्छाशक्ति है उस पर मेहनत करेगा तो उसे छात्र भी जो है वह भी एवरेज स्टूडेंट होता है वह भी स्कूल को प्राप्त कर सकता है यूपीएससी के एग्जाम की परीक्षा में पास हो सकता है कोई भी ऑफिस में अगर वह मेहनत करेगा उसे मेहनत थोड़ी ज्यादा करनी पड़ेगी क्योंकि टॉप के जो बच्चे होते हैं उन्हें शायद इतना नहीं करना पड़ेगा को करना पड़ेगा मेहनत करेगा तो मेहनत का फल जरूर यूपीएससी की परीक्षा होती है उसमें लग भी साथ देता है ऐसा जरूरी नहीं है कि कितने बजे जाते हैं यह देखा हुआ है खुद मैंने बहुत जगह देखा है जो बच्चे टॉपर होते हैं वह भी रह जाते हैं इसके तो इंटरव्यू में रह जाते हैं तो ऐसा कुछ नहीं है अब औसत बच्चा भी इसको क्लियर कर सकता है

sawaal kya aapko lagta hai ki kaushal kaushal matlab ki ekdam medium baccha hota hai bahut zyada hai kyonki mana jata hai ki aisa kuch nahi hai agar vaah mehnat karega ichchhaashakti hai us par mehnat karega toh use chatra bhi jo hai vaah bhi average student hota hai vaah bhi school ko prapt kar sakta hai upsc ke exam ki pariksha me paas ho sakta hai koi bhi office me agar vaah mehnat karega use mehnat thodi zyada karni padegi kyonki top ke jo bacche hote hain unhe shayad itna nahi karna padega ko karna padega mehnat karega toh mehnat ka fal zaroor upsc ki pariksha hoti hai usme lag bhi saath deta hai aisa zaroori nahi hai ki kitne baje jaate hain yah dekha hua hai khud maine bahut jagah dekha hai jo bacche topper hote hain vaah bhi reh jaate hain iske toh interview me reh jaate hain toh aisa kuch nahi hai ab ausat baccha bhi isko clear kar sakta hai

सवाल क्या आपको लगता है कि कौशल कौशल मतलब कि एकदम मीडियम बच्चा होता है बहुत ज्यादा है क्यों

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  107
WhatsApp_icon
user

Laljee Gupta

Career Counsellor

0:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल यूपीएससी की परीक्षा में नॉर्मल छात्र भी कंप्लीट कर सकता है देर इस नॉट आउट हम आपको बताएं ग्रेजुएशन लेवल पर थर्ड डिवीजन पास स्टूडेंट बी आई एस की परीक्षा को पास किया है जब कंपलीट करेगा आगे दौड़ते हुए लोगों को देखेगा तो अभी उनका पीछा करेगा और जैसे ही मौका मिलेगा आगे निकल जाएगा आपने कछुआ और खरगोश की बात सुना इज द मीनिंग ऑफ कंपटीशन पहले आप प्रेस में तो आओ लाइन में तो ओके

bilkul upsc ki pariksha me normal chatra bhi complete kar sakta hai der is not out hum aapko bataye graduation level par third division paas student be I S ki pariksha ko paas kiya hai jab complete karega aage daudte hue logo ko dekhega toh abhi unka picha karega aur jaise hi mauka milega aage nikal jaega aapne kachua aur khargosh ki baat suna is the meaning of competition pehle aap press me toh aao line me toh ok

बिल्कुल यूपीएससी की परीक्षा में नॉर्मल छात्र भी कंप्लीट कर सकता है देर इस नॉट आउट हम आपको

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  104
WhatsApp_icon
user

Ansh jalandra

Motivational speaker

0:36
Play

Likes  113  Dislikes    views  1587
WhatsApp_icon
user

निर्मला विश्नोई

अध्यापिका व समाज सेवा

1:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है कि क्या गोत्र है जो यूपीएससी क्लियर कर सकता है तो हां बिल्कुल कर सकते हैं यह आप की मेहनत और लगन पर निर्भर है और आप में कुछ भी हासिल करने का जिद और जुनून है तो आप कुछ भी कर सकते हो और यूपीएससी टॉपर होते हैं ना वह सभी आयु क्लियर नहीं करते यह एक भ्रांति फैली हुई है हमारे समाज में कि जो उनको ज्यादा इंटेलिजेंट होते हैं या जो टॉपर व्यक्ति है वही आईएएस आईपीएस बनते हैं नहीं यह बिल्कुल भी नहीं है बिल्कुल औसत दर्जे के दो मतलब पासिंग मार्क तक वाली स्टूडेंट भी आईएएस आईपीएस एग्जाम है जो क्लियर करते हैं इसको क्लियर करने के लिए आपको बस जिद और जुनून होना चाहिए और आपकी उम्र क्या है आपने ग्रेजुएशन कर लिया है मैं तो आप अभी से उसकी तैयारी शुरू कर सकते हैं अगर आप टेंथ लेवल में इलेवंथ में भी हो तो भी आप एनसीईआरटी की बुक्स पढ़ सकते हैं इधर-उधर आप मतलब कहीं से भी अपने मित्र के मिलते हैं जो इस का सिलेबस डाउनलोड करके ले लीजिए और उसके पॉइंट वाइज है जो आप कर दीजिए और कोई दिक्कत है किसी भी प्रकार की कोई समस्या नहीं होती है बस आपकी मेहनत और लगन होनी चाहिए आप कुछ भी कर सकते हो

aapka sawaal hai ki kya gotra hai jo upsc clear kar sakta hai toh haan bilkul kar sakte hain yah aap ki mehnat aur lagan par nirbhar hai aur aap me kuch bhi hasil karne ka jid aur junun hai toh aap kuch bhi kar sakte ho aur upsc topper hote hain na vaah sabhi aayu clear nahi karte yah ek bhranti faili hui hai hamare samaj me ki jo unko zyada Intelligent hote hain ya jo topper vyakti hai wahi IAS ips bante hain nahi yah bilkul bhi nahi hai bilkul ausat darje ke do matlab passing mark tak wali student bhi IAS ips exam hai jo clear karte hain isko clear karne ke liye aapko bus jid aur junun hona chahiye aur aapki umar kya hai aapne graduation kar liya hai main toh aap abhi se uski taiyari shuru kar sakte hain agar aap tenth level me eleventh me bhi ho toh bhi aap ncert ki books padh sakte hain idhar udhar aap matlab kahin se bhi apne mitra ke milte hain jo is ka syllabus download karke le lijiye aur uske point wise hai jo aap kar dijiye aur koi dikkat hai kisi bhi prakar ki koi samasya nahi hoti hai bus aapki mehnat aur lagan honi chahiye aap kuch bhi kar sakte ho

आपका सवाल है कि क्या गोत्र है जो यूपीएससी क्लियर कर सकता है तो हां बिल्कुल कर सकते हैं यह

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  83
WhatsApp_icon
user

Rakesh Kumar Sharma

Director - The Smile Institute for UPSC & JUDICIARY

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप यूपीएससी का इतिहास देख लीजिए जितने भी स्टूडेंट्स हैं वहीं अधिकतर औसत बच्चे ही हैं जिनका 1112 ग्रेजुएशन में मार्क्स काम आया है अरे जाएगा सेकंड विनर और कुछ है जो कि टॉपर्स भी है और अगर ऐसा होता कि दो पंछी सिर्फ यूपीएससी गायक कर सकते हैं तो यूपीएससी में सभी बच्चे टॉपर ही होते कॉलेज टॉपर लेकिन ऐसा नहीं है

aap upsc ka itihas dekh lijiye jitne bhi students hain wahi adhiktar ausat bacche hi hain jinka 1112 graduation me marks kaam aaya hai are jaega second winner aur kuch hai jo ki toppers bhi hai aur agar aisa hota ki do panchhi sirf upsc gayak kar sakte hain toh upsc me sabhi bacche topper hi hote college topper lekin aisa nahi hai

आप यूपीएससी का इतिहास देख लीजिए जितने भी स्टूडेंट्स हैं वहीं अधिकतर औसत बच्चे ही हैं जिनका

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  218
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

0:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने कहा क्या एक नाम और छात्र यूपीएससी की परीक्षा ट्रैक कर सकता है यूपीएससी की परीक्षा ट्रैक करने के लिए नाम और टॉपर इन दोनों में कोई मतभेद नहीं है जिसने भी प्रॉपर चेरी की जिसने भी विषय के कंसेप्ट क्लियर करें जिसने भी स्टडी अप्लाई गेम टाइम मैनेजमेंट किया है और नीमच को पूरी तरह से डिजाइन किया है वह चित्र कर सकता है जो यष्टि bot.top कर सकता है वह एग्जाम को वितरित कर सकता है इससे डरने की नहीं बल्कि उसे फाइट करने की जरूरत होती है

aapne kaha kya ek naam aur chatra upsc ki pariksha track kar sakta hai upsc ki pariksha track karne ke liye naam aur topper in dono me koi matbhed nahi hai jisne bhi proper cherry ki jisne bhi vishay ke concept clear kare jisne bhi study apply game time management kiya hai aur neemuch ko puri tarah se design kiya hai vaah chitra kar sakta hai jo yashti bot top kar sakta hai vaah exam ko vitrit kar sakta hai isse darane ki nahi balki use fight karne ki zarurat hoti hai

आपने कहा क्या एक नाम और छात्र यूपीएससी की परीक्षा ट्रैक कर सकता है यूपीएससी की परीक्षा ट्र

Romanized Version
Likes  425  Dislikes    views  7229
WhatsApp_icon
user

Rakesh Tiwari

Life Coach, Management Trainer

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है क्या आपको लगता है कि कौशल छात्र यूपीएससी परीक्षा को क्लियर कर सकता है जैसा कि हम केवल टॉपर्स इस परीक्षा में 1 छात्र कवि यूपीएससी परीक्षा क्लियर कर सकता है क्योंकि क्लियर करने का है और वह एक औरत सामान्य विद्यार्थी को भी उतने ही अवसर देता है एकता पर विद्यार्थी अगर एक औसत दर्जे की विद्यार्थी के अंदर समर्पण इच्छाशक्ति और संकल्प शक्ति है वही कारण बनी है इस परीक्षा में छोड़ देता नहीं है हम जिस तरह से अपनी प्राथमिकता और अपने मूल लक्ष्य का निर्धारण करते हैं वह व्यक्ति को सफल या असफल बनाता है उसके प्रति हमारी गंभीरता कितनी अलग को प्राप्त करने की वह हमें सफल और सफल बनाता है और ऐसा करने के लिए एक सामान्य औसत दर्जे का विद्यार्थी और उच्च श्रेणी का विद्यार्थी दौरान विद्यार्थियों के लिए समान अवसर आता है लक्ष्य के प्रति गंभीरता समर्पण प्राथमिकता और निरंतरता हार और जीत अंतर पैदा करती है सफलता और असफलता में अंतर पैदा करती है

aapka prashna hai kya aapko lagta hai ki kaushal chatra upsc pariksha ko clear kar sakta hai jaisa ki hum keval toppers is pariksha me 1 chatra kavi upsc pariksha clear kar sakta hai kyonki clear karne ka hai aur vaah ek aurat samanya vidyarthi ko bhi utne hi avsar deta hai ekta par vidyarthi agar ek ausat darje ki vidyarthi ke andar samarpan ichchhaashakti aur sankalp shakti hai wahi karan bani hai is pariksha me chhod deta nahi hai hum jis tarah se apni prathamikta aur apne mul lakshya ka nirdharan karte hain vaah vyakti ko safal ya asafal banata hai uske prati hamari gambhirta kitni alag ko prapt karne ki vaah hamein safal aur safal banata hai aur aisa karne ke liye ek samanya ausat darje ka vidyarthi aur ucch shreni ka vidyarthi dauran vidyarthiyon ke liye saman avsar aata hai lakshya ke prati gambhirta samarpan prathamikta aur nirantarata haar aur jeet antar paida karti hai safalta aur asafaltaa me antar paida karti hai

आपका प्रश्न है क्या आपको लगता है कि कौशल छात्र यूपीएससी परीक्षा को क्लियर कर सकता है जैसा

Romanized Version
Likes  323  Dislikes    views  3714
WhatsApp_icon
user

Mukund

Counselor & Coach

5:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या आपको लगता है कि एक औसत छात्र यूपीएससी परीक्षा को क्लियर कर सकता है जैसा कि हम केवल टॉपर्स को इस परीक्षा ट्रैक करते देखने हैं बहुत-बहुत बढ़िया सभा मेरा सलाम आपको जिस ने सवाल किया है आप बहुत समझदार इंसान हैं बहुत प्रैक्टिकली ठीक है आपकी बात सोलह आने सच है देखा हमने है कि केवल टॉपर लोग बिल्कुल 16 ने 100% अब आते हैं आपके सवाल पर यह चैलेंज है और मेरे पास उदाहरण भी है जो टॉपर नहीं थे उन्होंने भी यूपीएससी निकाली है पर उन्होंने अपने आपका बिल्कुल कायाकल्प कर लिया काया क्लब कैसे अगर और 10वीं 12वीं में ऐसे ही उन्हें टाइम पास कर लिया उसके बाद उन्होंने बिल्कुल अपने आपको जैन जोड़ के 24 घंटे तक के निकाला आपके सवाल का जवाब क्या हमें लगता है कि औसतन की एवरेज बिल्कुल सर बिल्कुल उसका जो कटा है वह है 12वीं अगर उन्होंने 12वीं के बाद जो भी जहां पर भी दाखिला लिया उस दिन से उन्होंने शुरू नहीं किया अपनी बेटी की तैयारी बहुत मुश्किल है हां कोई जगह पीएचडी पर पीएचडी कैसे होता है जी 3 साल ग्रेजुएशन कम से कम 2 साल उसका नाम क्या पोस्ट ग्रेजुएशन मेरे ख्याल से तो 7 साल हो गए हो 3 साल यानी कि 28 साल तक वह बन सकता है 28 मिनट 30 साल तक यह मैं क्यों लेकर आ रहा हूं भाई साहब पीएचडी का मतलब है वह किसी ना किसी विषय में बिल्कुल गहराई तक घुस गए और पूरी उम्मीद है कि उस विषय में वह अच्छा बोल सकते हैं और उस विषय के जो दिग्गज है वह कहां यार इस लड़के ने ना या इस लड़की ने इस पर काफी अध्ययन किया वह 28 साल की उम्र में एक डेढ़ साल लगा दे उन निकाल सकते क्योंकि वह पिछले 10 साल से पढ़ाई कर रहे हैं उनको वोट आउट ऑफ टच नहीं है तो यह जरूरी नहीं है कि 12वीं के बाद तैयारी हो यह जरूरी है कि आप उस समय पढ़ाई कर रहे हो उसे 1 साल पहले तक पढ़ाई कर रहे हो तो लोग काम करना शुरू कर देते हैं फिर एक दिन उनको लगता है मैं 23 साल का हूं मैं कहीं कुछ कर रहा हूं मैं भी आईयूपीएसी देता हूं पढ़ाई की आदत नहीं है फूट गई है तो कैसे तो आपके सवाल का जवाब बिल्कुल औषध छात्र बिल्कुल यूपीएससी निकाल सकता है अगर और दृढ़ संकल्प दृढ़ निश्चय करके एक प्लान बनाकर सही समय में शुरू करके और रियलिस्टिक गोल अभी एक जनाब ने सवाल किया है मैं 18 को 21 तक बन सकता हूं क्यों भाई आपको 21 तक बनना जरूरी है 25 तक बनी है ना तो आपको क्या लगता है जो 21 पर बनता है बनता नहीं है 2222 वाला बनता है और जो बच्चे साला बनता है उन्हें कोई फर्क है यही फरक है जो बारिश वाला बनता है वह रिटायर होता है जो बच्चे वाला लगता है पहले रिटायर होता है ठीक है ना और 22 वाला जब रिटायर होता है उसका आधा जो है मोर ओर लेस 32 वाले से थोड़ा ऊपर होता है मैं होता है ना सर तो फर्क क्या है दोनों कलेक्टर से शुरू होते दोनों आगे जाकर डीएम बनते हैं तो मुझे तो नहीं समझ आया जो लक्ष्य है उनको घर नहीं रखे तो यह 3 साल ग्रेजुएशन 2 साल पोस्ट ग्रेजुएशन 5 साल में आप यूपीएससी निकाल सकते हैं औसत छात्र यह 5 साल आपको पागल होना पड़ेगा जुनून जो आपको जानते हैं वह कहने यार कहां से कहां हो हटके चला आया यार यह क्या बात है मतलब तो पागल हो गया बिल्कुल पागल होना जरूरी है बेस्ट ऑफ लक आपको अभी भी डाउट है ना जो लड़के मेरे क्लास के छात्र हैं किसी लड़की पर उनका दिल आ जाता है टिकट क्यों आता किसी को नहीं आ गए और वह पागलों की तरह पीछे पड़ जाते हैं यहां तक कि उसको इंग्लिश में एक्टिव है और अब तो क्रिमिनल ऑफेंस टॉकिंग एस डी ए एल के आईडी जेसीबी व औषध छात्र जब तक पागल नहीं होगा बहुत मुश्किल

kya aapko lagta hai ki ek ausat chatra upsc pariksha ko clear kar sakta hai jaisa ki hum keval toppers ko is pariksha track karte dekhne hain bahut bahut badhiya sabha mera salaam aapko jis ne sawaal kiya hai aap bahut samajhdar insaan hain bahut practically theek hai aapki baat solah aane sach hai dekha humne hai ki keval topper log bilkul 16 ne 100 ab aate hain aapke sawaal par yah challenge hai aur mere paas udaharan bhi hai jo topper nahi the unhone bhi upsc nikali hai par unhone apne aapka bilkul kayakalp kar liya kaaya club kaise agar aur vi vi me aise hi unhe time paas kar liya uske baad unhone bilkul apne aapko jain jod ke 24 ghante tak ke nikaala aapke sawaal ka jawab kya hamein lagta hai ki ausatan ki average bilkul sir bilkul uska jo kata hai vaah hai vi agar unhone vi ke baad jo bhi jaha par bhi dakhila liya us din se unhone shuru nahi kiya apni beti ki taiyari bahut mushkil hai haan koi jagah phd par phd kaise hota hai ji 3 saal graduation kam se kam 2 saal uska naam kya post graduation mere khayal se toh 7 saal ho gaye ho 3 saal yani ki 28 saal tak vaah ban sakta hai 28 minute 30 saal tak yah main kyon lekar aa raha hoon bhai saheb phd ka matlab hai vaah kisi na kisi vishay me bilkul gehrai tak ghus gaye aur puri ummid hai ki us vishay me vaah accha bol sakte hain aur us vishay ke jo diggaj hai vaah kaha yaar is ladke ne na ya is ladki ne is par kaafi adhyayan kiya vaah 28 saal ki umar me ek dedh saal laga de un nikaal sakte kyonki vaah pichle 10 saal se padhai kar rahe hain unko vote out of touch nahi hai toh yah zaroori nahi hai ki vi ke baad taiyari ho yah zaroori hai ki aap us samay padhai kar rahe ho use 1 saal pehle tak padhai kar rahe ho toh log kaam karna shuru kar dete hain phir ek din unko lagta hai main 23 saal ka hoon main kahin kuch kar raha hoon main bhi IUPC deta hoon padhai ki aadat nahi hai foot gayi hai toh kaise toh aapke sawaal ka jawab bilkul awasadhi chatra bilkul upsc nikaal sakta hai agar aur dridh sankalp dridh nishchay karke ek plan banakar sahi samay me shuru karke aur realistic gol abhi ek janab ne sawaal kiya hai main 18 ko 21 tak ban sakta hoon kyon bhai aapko 21 tak banna zaroori hai 25 tak bani hai na toh aapko kya lagta hai jo 21 par banta hai banta nahi hai 2222 vala banta hai aur jo bacche sala banta hai unhe koi fark hai yahi farak hai jo barish vala banta hai vaah retire hota hai jo bacche vala lagta hai pehle retire hota hai theek hai na aur 22 vala jab retire hota hai uska aadha jo hai mor aur less 32 waale se thoda upar hota hai main hota hai na sir toh fark kya hai dono collector se shuru hote dono aage jaakar dm bante hain toh mujhe toh nahi samajh aaya jo lakshya hai unko ghar nahi rakhe toh yah 3 saal graduation 2 saal post graduation 5 saal me aap upsc nikaal sakte hain ausat chatra yah 5 saal aapko Pagal hona padega junun jo aapko jante hain vaah kehne yaar kaha se kaha ho hatake chala aaya yaar yah kya baat hai matlab toh Pagal ho gaya bilkul Pagal hona zaroori hai best of luck aapko abhi bhi doubt hai na jo ladke mere class ke chatra hain kisi ladki par unka dil aa jata hai ticket kyon aata kisi ko nahi aa gaye aur vaah paagalon ki tarah peeche pad jaate hain yahan tak ki usko english me active hai aur ab toh criminal offense talking S d a el ke id JCB va awasadhi chatra jab tak Pagal nahi hoga bahut mushkil

क्या आपको लगता है कि एक औसत छात्र यूपीएससी परीक्षा को क्लियर कर सकता है जैसा कि हम केवल टॉ

Romanized Version
Likes  476  Dislikes    views  5309
WhatsApp_icon
play
user

Pradeep Mishra

UPSC Aspirant

1:18

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आईपीसी में देखे किसी का कॉपीराइट होली खान इज द टॉपर रहेगा वहीं आ सकता है इतना दर्द करने के लिए 2017 सिविल सर्विस एग्जाम टॉपर हिमांशु कौशिक जिन्होंने फर्स्ट ईयर क्या हुआ था कि उन्होंने क्लियर किया है और वह इंजीनियरिंग में उभरे थे उनका दोनों का क्लॉक था तो बताऊंगा कि मैं बहुत ही पढ़ाई में बहुत व्यस्त था और कपूर के जुने दावत की बात करनी है तो वह भी पैसों में बहुत ही आवश्यक है उन्होंने कम से कम कोई बहुत याद आए थे और उन्होंने क्लियर किया यूपीएससी तो आप भी डिसाइड नहीं कर सकते हैं ऐसा कुछ नहीं है कि आप तो इंसान है क्या बता सकते कि नहीं कर सकते हैं पढ़ाई कर सकते हैं

ipc mein dekhe kisi ka copyright holi khan is the topper rahega wahi aa sakta hai itna dard karne ke liye 2017 civil service exam topper himanshu kaushik jinhone first year kya hua tha ki unhone clear kiya hai aur vaah Engineering mein ubhre the unka dono ka clock tha toh bataunga ki main bahut hi padhai mein bahut vyast tha aur kapur ke june daawat ki baat karni hai toh vaah bhi paison mein bahut hi aavashyak hai unhone kam se kam koi bahut yaad aaye the aur unhone clear kiya upsc toh aap bhi decide nahi kar sakte hai aisa kuch nahi hai ki aap toh insaan hai kya bata sakte ki nahi kar sakte hai padhai kar sakte hain

आईपीसी में देखे किसी का कॉपीराइट होली खान इज द टॉपर रहेगा वहीं आ सकता है इतना दर्द करने के

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  237
WhatsApp_icon
user

Dinesh Kumar Rathi

CEO at DK Rathi Classes

0:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर ऐसा होता तो फिर तो आप उठा कर देखेंगे आप बोलिए 700 स्टूडेंट हो आप स्टूडेंट में अगर आप देखेंगे 10 15 20 स्टूडेंट मंडी के टॉपर है लेकिन मैं तेरी मानता हूं लेकिन तो एक ही है क्योंकि बाकी जो कैंडिडेट है वह तो एमबी बाकी इंजीनियर एंड एवरेज स्टूडेंट है जो उसको तैयारी कर रहा है अब दूसरी जगह चले जाइए पॉलीटिकल साइंस 8 क्लास है उसको हिंदी में कितने मिलेंगे या जो आईआईटी के वो कितने मिलेंगे पांच से सात वचन तो आपको कम रेट में 20% वोट मिलेगा

agar aisa hota toh phir toh aap utha kar dekhenge aap bolie 700 student ho aap student mein agar aap dekhenge 10 15 20 student mandi ke topper hai lekin main teri manata hoon lekin toh ek hi hai kyonki baki jo candidate hai vaah toh MB baki engineer and average student hai jo usko taiyari kar raha hai ab dusri jagah chale jaiye political science 8 class hai usko hindi mein kitne milenge ya jo IIT ke vo kitne milenge paanch se saat vachan toh aapko kam rate mein 20 vote milega

अगर ऐसा होता तो फिर तो आप उठा कर देखेंगे आप बोलिए 700 स्टूडेंट हो आप स्टूडेंट में अगर आप द

Romanized Version
Likes  72  Dislikes    views  1201
WhatsApp_icon
user

Debidutta Swain

IAS Aspirant | Life Motivational Speaker,Daily Story Teller

0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकेटों पर कोई वाला गेम पर नहीं रहता है एक साधारण से छात्रा बाद में टपस बनता है अगर आप अच्छी महीना तुला गद्दे के नीचे की प्रिपरेशन के होंगे तो कहीं आप कल की टोटल परसों का वह कल आप हम पर होंगे तो आपको ही टप्पर को मत देखिए आप भी तत्पर है यह बात को सचिन कुछ टाइम के बाद आपके नंबर पर में आएगा आपके नाम न्यूज़ मीडिया में आएंगे यह बात को दिमाग

viketon par koi vala game par nahi rehta hai ek sadhaaran se chatra baad mein tapas baata hai agar aap achi mahina tula gadde ke niche ki preparation ke honge toh kahin aap kal ki total parso ka vaah kal aap hum par honge toh aapko hi tappar ko mat dekhiye aap bhi tatpar hai yah baat ko sachin kuch time ke baad aapke number par mein aayega aapke naam news media mein aayenge yah baat ko dimag

विकेटों पर कोई वाला गेम पर नहीं रहता है एक साधारण से छात्रा बाद में टपस बनता है अगर आप अच्

Romanized Version
Likes  78  Dislikes    views  980
WhatsApp_icon
user

Prachi Mishra

UPSC Coach

2:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डियर फ्रेंड आपका प्रश्न है क्या आपको लगता है कि एक औसत छात्र यूपीएससी परीक्षा को क्लियर कर सकता है जैसा कि हम केवल टॉपर्स को इस परीक्षा में कैद करते हुए देखते हैं फ्रेंड मैं आपको बताना चाहूंगी कि यहां ऐसे बहुत सारे क्वेश्चन युवाओं के मन में उठते हैं और इससे यह प्रश्न अत्यधिक महत्वपूर्ण भी है इसे फालतू नहीं कहा जा सकता है क्योंकि यूपीएससी एक साधारण परीक्षा नहीं है वह राज्य स्तर की परीक्षा नहीं है इसलिए यूपीएससी के लिए जैसा कि कहा गया है कि हमेशा टॉपर्स ही क्रैक करते दिखे ऐसी कोई बात नहीं है ऐसी कोई मेंटालिटी हमें बनाकर नहीं रखनी चाहिए कि एक औसत छात्र यूपीएससी परीक्षा को क्लियर नहीं कर सकता है क्योंकि आपको पता है कि कोई भी चीज असंभव नहीं है इस दुनिया में कुछ भी इंपॉसिबल नहीं है बल्कि इंपॉसिबल में भी आई एम पॉसिबल पर रहता है तू अजब इंपॉसिबल शब्द को हम्मा इंपॉसिबल करके देखते हैं तो लगता है कि हां सब कुछ कुछ भी असंभव नहीं है सब कुछ संभव है बस आपका नजरिया अलग होना चाहिए आपकी मेहनत करने का ढंग अलग होना चाहिए आप किसी की कॉपी मत करिए अगर आप एवरेज स्टूडेंट है तब भी आप किसी की कॉपी मत करिए अपने तरीके से आप तैयारी करिए ठीक है मैं मानती हूं कि आपको पहली बार में सफलता नहीं मिलेगी परंतु अगर आप सच्चे मन से उससे जुड़े हैं तो आपको सफलता जरूर मिलेगी पर हां इसके लिए आपको मेहनत अत्यधिक करने की आवश्यकता है अपने दिमाग को केंद्रित करने की अत्यधिक आवश्यकता को पड़ेगी आपको एक-दो साल तक बिल्कुल सन्या समझ लीजिए आपको सन्यासी बनना पड़ेगा इस परीक्षा के लिए यह परीक्षा इतनी आसान नहीं है जितना कि लोग कहते हैं कि नहीं हम शाम आईएस क्रैक कर लेंगे हम आईएस ट्रैक्टर लेंगे इतनी आसान भी नहीं है यह परीक्षा इसलिए इसे खेल में मत लीजिए आपका भी आपके हाथ में हैं अपने समय का सदुपयोग करिए और बिल्कुल अच्छे रहेंगे से परीक्षा दीजिए आप जरुर सफल होंगे

dear friend aapka prashna hai kya aapko lagta hai ki ek ausat chatra upsc pariksha ko clear kar sakta hai jaisa ki hum keval toppers ko is pariksha mein kaid karte hue dekhte hain friend main aapko batana chahungi ki yahan aise bahut saare question yuvaon ke man mein uthte hain aur isse yah prashna atyadhik mahatvapurna bhi hai ise faltu nahi kaha ja sakta hai kyonki upsc ek sadhaaran pariksha nahi hai vaah rajya sthar ki pariksha nahi hai isliye upsc ke liye jaisa ki kaha gaya hai ki hamesha toppers hi crack karte dikhe aisi koi baat nahi hai aisi koi mentalaity hamein banakar nahi rakhni chahiye ki ek ausat chatra upsc pariksha ko clear nahi kar sakta hai kyonki aapko pata hai ki koi bhi cheez asambhav nahi hai is duniya mein kuch bhi Impossible nahi hai balki Impossible mein bhi I M possible par rehta hai tu ajab Impossible shabd ko hamma Impossible karke dekhte hain toh lagta hai ki haan sab kuch kuch bhi asambhav nahi hai sab kuch sambhav hai bus aapka najariya alag hona chahiye aapki mehnat karne ka dhang alag hona chahiye aap kisi ki copy mat kariye agar aap average student hai tab bhi aap kisi ki copy mat kariye apne tarike se aap taiyari kariye theek hai maanati hoon ki aapko pehli baar mein safalta nahi milegi parantu agar aap sacche man se usse jude hain toh aapko safalta zaroor milegi par haan iske liye aapko mehnat atyadhik karne ki avashyakta hai apne dimag ko kendrit karne ki atyadhik avashyakta ko padegi aapko ek do saal tak bilkul sanya samajh lijiye aapko sanyaasi banna padega is pariksha ke liye yah pariksha itni aasaan nahi hai jitna ki log kehte hain ki nahi hum shaam ias crack kar lenge hum ias tractor lenge itni aasaan bhi nahi hai yah pariksha isliye ise khel mein mat lijiye aapka bhi aapke hath mein hain apne samay ka sadupyog kariye aur bilkul acche rahenge se pariksha dijiye aap zaroor safal honge

डियर फ्रेंड आपका प्रश्न है क्या आपको लगता है कि एक औसत छात्र यूपीएससी परीक्षा को क्लियर कर

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  160
WhatsApp_icon
user

Raushan Priya

Director at PERFECTION IAS

1:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यूपीएससी के टॉपर की लिस्ट निकालेंगे और यूपी में पास किए हुए लोगों की लिस्ट निकालेंगे तो आपको पूरी लिस्ट निकालेंगे तो आप ध्यान देंगे कि 70 से ज्यादा 70% से अधिक लोग जो यूपीएससी परीक्षा में सफल हुए हैं वह सारे के सारे औसत लेवल के ही थे 8:30 पर्सेंट 20 से 30% लोग ही ऐसे हैं जो किताब आ जा चुके हैं फिर बाद में टॉप किया है उन्होंने 70 परसेंट छोटा पर सब को मिलेंगे या 70% जिन्होंने क्वालीफाई किया यूपी को फाइनली सिलेक्टेड हैं वह सारे के सारे आपको एड्रेस जबल कहीं मिलेंगे आप चीन के भी एग्जाम कल देख लो सारे के सारे ऑफिस लेवल के स्टूडेंट्स तो इसलिए अपने आप को दी मोटिवेट बिल्कुल ना करें आप यदि औसत लेवल पर चाहते हैं तो निश्चित रूप से पैसे की तैयारी प्रारंभ करें और इंफॉर्मेशन तैयारी कैसे करनी है उसके लिए कौन-कौन सी बुक्स पढ़नी है कितने आवास के स्टडी करनी चाहिए यह सवाल क्वेश्चन जितने एक्सीडेंट है उनके मन में रहता है तो आप हमारे ध्यान से दिए हुए हैं सारे 6 स प्लस आंसर दिया है हमें तो लगता है कि नहीं लेटेस्ट मुझे पूछना चाहिए तो आप पूछ सकते हो हमारे आंसर्स मिलने का

upsc ke topper ki list nikalenge aur up me paas kiye hue logo ki list nikalenge toh aapko puri list nikalenge toh aap dhyan denge ki 70 se zyada 70 se adhik log jo upsc pariksha me safal hue hain vaah saare ke saare ausat level ke hi the 8 30 percent 20 se 30 log hi aise hain jo kitab aa ja chuke hain phir baad me top kiya hai unhone 70 percent chota par sab ko milenge ya 70 jinhone qualify kiya up ko finally selected hain vaah saare ke saare aapko address jabal kahin milenge aap china ke bhi exam kal dekh lo saare ke saare office level ke students toh isliye apne aap ko di motivate bilkul na kare aap yadi ausat level par chahte hain toh nishchit roop se paise ki taiyari prarambh kare aur information taiyari kaise karni hai uske liye kaun kaun si books padhani hai kitne aawas ke study karni chahiye yah sawaal question jitne accident hai unke man me rehta hai toh aap hamare dhyan se diye hue hain saare 6 s plus answer diya hai hamein toh lagta hai ki nahi latest mujhe poochna chahiye toh aap puch sakte ho hamare ansars milne ka

यूपीएससी के टॉपर की लिस्ट निकालेंगे और यूपी में पास किए हुए लोगों की लिस्ट निकालेंगे तो आप

Romanized Version
Likes  142  Dislikes    views  3324
WhatsApp_icon
user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या आपको लगता है कि कौशिक छात्रवृत्ति परीक्षा को क्लियर कर सकता है जैसा कि हम आपस की सुरक्षा में प्ले करके देखिए ऐसा कुछ नहीं है अगर और विद्यार्थी अपनी लगन और हिम्मत और साहस को जोड़ लें और बंदरी का आत्मविश्वास पैदा कर ले मुझे कुछ कर दिया था मैं हंड्रेड परसेंट लिख कर दो वह सफल हो सकते हैं उसके कार्यों में निरंतरता होनी थी और उसके अंदर ही काट विश्वास होना चाहिए उसको सेलबस का सही ज्ञान होना चाहिए उससे उससे निवेश को बेहतरीन ढंग का होना चाहिए और यह सारी चीजें और करता है निबंध अच्छा लगता है एंड लैंग्वेज में हिंदी का इंग्लिश का कोई भी रीजनल लैंग्वेज सब्जेक्ट लेता है उस पर बेहतरीन की मांग है तो निश्चित तौर और स्टूडेंट की कर सकता है और वह जो टावर तो होते उनके अंदर टैलेंट होता वहां पर टॉपर की सेटिंग में जा सकता है

kya aapko lagta hai ki kaushik chhatravriti pariksha ko clear kar sakta hai jaisa ki hum aapas ki suraksha me play karke dekhiye aisa kuch nahi hai agar aur vidyarthi apni lagan aur himmat aur saahas ko jod le aur bandari ka aatmvishvaas paida kar le mujhe kuch kar diya tha main hundred percent likh kar do vaah safal ho sakte hain uske karyo me nirantarata honi thi aur uske andar hi kaat vishwas hona chahiye usko syllabus ka sahi gyaan hona chahiye usse usse nivesh ko behtareen dhang ka hona chahiye aur yah saari cheezen aur karta hai nibandh accha lagta hai and language me hindi ka english ka koi bhi regional language subject leta hai us par behtareen ki maang hai toh nishchit taur aur student ki kar sakta hai aur vaah jo tower toh hote unke andar talent hota wahan par topper ki setting me ja sakta hai

क्या आपको लगता है कि कौशिक छात्रवृत्ति परीक्षा को क्लियर कर सकता है जैसा कि हम आपस की सुरक

Romanized Version
Likes  354  Dislikes    views  3495
WhatsApp_icon
user

Dr. P. N. Jha

TOPPERS IAS app. Sr.Facuty, IAS Coaching.

9:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

निरुत्तर को बहुत ध्यान पूर्वक सुनिए गा और सोचेगा सबको प्रश्न है यह एक बहुत ही गंभीर प्रश्न है तैयारी करने से पहले हम अपने आप को मानते हैं कि क्या हम एक-एक औषध छात्र हैं या फिर हम नीट टॉपर से सबसे पहले मैं आपको यह बताना चाहूंगा कि टोपस की परिभाषा क्या है क्या क्या टोपस की परिभाषा में आपने ऐसे छात्रों को शामिल किया है जिनके मार्क्स क्लास में सबसे अधिक आते हैं इनको सिटी लेवल पर सबसे अधिक आते हैं उनके नाम का ख्वाबों में छपते हैं या वह कोई बहुत पड़े प्लेटफार्म से किसी गीत संगीत तिबेट एलोकेशंस आदि जैसे बड़े जो इवेंट्स होते हैं उसमें वह वाला स्थान पाते हैं या कई एक्स्ट्रा करिकुलर इसमें उनके नाम आते हैं उनके फोटोग्राफ सकते हैं अगर आप ऐसे ही विद्यार्थियों को ग्राफ्ट आपस में मानते हैं तो मेरे ख्याल से जो आपका जो आकलन है बिल्कुल गलत है और सब का मतलब क्या होता है उसका मतलब है एक ऐसा विद्यार्थी जो कि सीखने की क्षमता रखता हूं शिखा हो या ना सिखाओ यह दूसरा प्रश्न है सीखने की क्षमता रखता है और दूसरी बात चीजों को जोड़कर समझने की प्रवृत्ति उसमें हो जैसे अगर देश में अगर गरीबी होगी तो जाहिर सी बात है कि जो किसान का नहीं वो अपने बच्चे को स्कूल नहीं भेजेंगे वह चाहेंगे कि वह उनके खेत में काम करने के लिए उनके पास में इतने पैसे नहीं है कि वह ₹500 पर मजदूर खर्चा करें और अपने खेत खलियान का काम करें इसलिए वह चाहेंगे कि उनके बच्चे उनका हाथ बताएं ऐसे में जब उनके बच्चे हाथ नहीं तो बच्चे स्कूल नहीं जा पाएंगे और कहीं न कहीं की शिक्षा प्रभावित होगी शिक्षा प्रभावित हुई और बाद के वर्षों में उन्हें रोजगार में भी दिक्कत होगी तो गरीबी किस प्रकार से शिक्षा को और रोजगार को प्रभावित करती है यह अगर समझने की क्षमता में बड़े आराम से समझ लेते हैं इसी प्रकार के ऐसे हजारों मुद्दे हैं उनको अगर जोड़कर आप समझते हैं तो आप एक औसत छात्र तो जरूर है लेकिन आप कोई भी चुनौती को स्वीकार करने के लिए तैयार है और छात्र वह होता है कि जैसे 13 है वह प्लेन पैसेंजर को भी कैरी कर सकता है वह प्लेन एक डिफेंस के मिशन पर भी जा सकता है कहीं जाकर बंदी गिरा सकता है एक प्लेन माल माल वाहक के रूप में भी काम कर सकता है जरूरत पड़ने पर दूसरे देशों में जाकर बिल्कुल लो हमारे शरणार्थियों उठा सकता है वहां पर के विद्यार्थियों को उठा सकता है उसमें सीट लगाओ ना लगा हो ऐसे में कई बार किए हैं और प्लीज एक्सप्लेन है तो यह अगर एक छात्र हैं उसको लिखने की पढ़ने की अपने विचारों को रखने की चीजों को जोड़कर समझने की क्षमता है अभी लोग दान लगा हुआ देश में क्यों लगा हुआ है कैसे लगा हुआ है क्या कारण है अगर इसको समझते हैं भले आप के टॉपर्स नहीं हुआ आपके मासी की कीमत कोई पैमाना नहीं है कहीं ग्रेडिंग सिस्टम है कहीं मार्क्स तो मैं इसी विश्वविद्यालय में जो कि वह कॉपी बार-बार टीचर को शक ना करना पड़े इसलिए अधिक से अधिक मास की जाते हैं बहुत सारे विश्वविद्यालय में अप्रत्यक्ष नियम है कि किसी विद्यार्थी को खेलना किया जाए कई बार कुछ ऐसे टीचर सोते हैं जो आपने बिल्कुल ही वही पोस्ट होते हैं और वह अपने ईगो पर लेकर विद्यार्थियों के आंसर्स बुक को करें करते हैं और जानबूझकर और ईगो के कारण भी विद्यार्थियों को कम नंबर प्राप्त होता है से बहुत सारे हर विश्वविद्यालय में इस तरह के प्रोफ़ेसर सोते हैं टीचर सोते हैं जिन पर विद्यार्थियों का पाला पड़ता है जो विद्यार्थियों को उनके आंसर बुक पर ना देख कर उनके व्यवहार पर उनके संस्कार पर नंबर भी देते हैं तो यह कोई नई बात नहीं है पुरानी है और यह इससे निपटने में भी काफी समय लगेगा इसके लिए काफी टेक्नोलॉजिकल एडवांसमेंट्स आवश्यकता है हमने परसेंटेज सिगरेट सिस्टम किया भोज विश्वविद्यालय में और ब्रिटिश कम करने के बाद स्थिति और भी खराब हो गई क्योंकि उसमें यह भी पता नहीं चलता है कि आप बी प्लस ग्रेड का ए प्लस ग्रेड के ए ग्रेड में आने वाले कमजोर कौन हैं और मेधावी कौन है यह भी एक बड़ी चुनौती है और सीजीपीए कोई बहुत मायने नहीं रखता आलोक ग्रेट से बात करते हैं तो ब्रेड के आधार पर ही फिक्स कर दिया ताकि देश परदेश मोर थन 55% आफ तो इस तरीके से जीने न दिया गया बी प्लस मोदी 55% माल तो इस तरीके से ब्लीडिंग का सिस्टम हो या परसेंटेज कस्टम विद्यार्थी के मैदा का आकलन करने में आज भी असमर्थ इसलिए अपने दिमाग से बिल्कुल भी निकाल दे की टॉपर कौन है और आसिफ कौन है उसे भी जाति किसी भी चुनौती को लेने के लिए तैयार होता है उसके ऊपर में यह निर्भर करता है कि आखिर वह किस प्रकार के इस दशा में जीवों को लेने के लिए तैयार हो अब उसके पास में अगर संसाधन है तो वह तैयारी करना यूपीएससी की तैयारी करेगा जाहिर सी बात है एक बार यूपीसी कर ले आप लेफ्ट होता है वह डेढ़ सौ 2 वर्षों का होता है तैयारी करनी होती इस जर्मिनेशन देने होते हैं बहुत सारे पैसे खर्च होते हैं और वजन कितना होता है इस बीच में नौकरी नहीं लगने का 1 युवाओं को पर में एक मनोवैज्ञानिक संकट भी उत्पन्न होता है परिवार के लोग या अन्य संबंधी भीम विश्वास धीरे-धीरे कम करने लग जाते हैं और अगर एक दो बार अगर कोई असफल हो जाता है तो लगता है कि यह बिल्कुल ही काम के लायक नहीं है यह सही विद्यार्थी नहीं है तो जब किलो का बोबा यूपीएससी ने भी चार बार देने की पांच बार देने की सिस्टम को बना रखा है कि का जनरल कैटेगरी के बच्चे भी 405 बाद दे सकते हैं अगर इस तरह की चीजें अगर बनी हुई है तो जाहिर सी बात है कि पीसी में एक ऐसा फार्मूला देखा गया होगा कि लोग तीसरी बार चौथी बारी अपाचे और पास करते हैं लेकिन समाज में मरने के लिए तैयार नहीं तो हम टॉपर्स और औषध की बात ना करें हम इस पर ध्यान दें कि हम किस प्रकार तैयारी करें कि हमारा जो एग्जामिनेशन है वह भजन हमसर पर जब भी देखा जाता है कि जो टॉपर सोते हैं जिनके जो लाइव रेट्स में आते हैं जो हाइपररियलिटी के शिकार होते हैं और कई ऐसे बच्चे होते हैं जो टॉपर्स के चेहरों को देखकर कोचिंग स्वीट्स में जाते हैं और बिल्कुल बुरी तरीके से बोलो कि वापस आते हैं ऐसे बच्चे जिनके पास में पैसे नहीं होते बड़ा मुश्किल से संसाधनों को जुगाड़ करके पैसे को जुगाड़ करके इस सूट में पढ़ने जाते हैं और सब बच्चे होते हैं और वह एक के टॉपर्स के रूप में सामने आते हैं 1201 का स्थान आता है और जैसे स्थान आता है वह 25 सदी के सूट के ऊपर पोस्टर बॉय बन जाते हैं हर जगह सारे सूट के पोस्ट सोनी का नाम होता है और यह कहते हुए पाए जाते हैं मैंने यहां पढ़ना मुझे बहुत सो लिया सर बहुत अच्छे ढंग से पढ़ाई और इनके मार्गदर्शन में मैंने यूपीएससी क्लियर किया यह कैसे संभव है कि 25 से 30 औसतन सूट कम से कम इसमें वह पोस्टर बॉय बनते हैं और वह परीक्षा पास करने के बाद ऐसे बच्चे पैसे लेकर और इतना ही नहीं कई लोगों ने तो इतना हर्ट किया हुआ है की परीक्षा पास के बाद वह सूट से कहते हैं कि मैं आपके साथ मिलकर बाद बनाऊंगा और उसका 50% आप मुझे देंगे तो ऐसे ऐसे भी क्रियाकलाप चलते रहते हैं इससे विद्यार्थी को और भी एक के डेमोरलाइजिंग इफेक्ट होता है उनको लगता है कि यह लोग तो इतने बड़े हैं इतने प्रभावशाली हैं इतने वोकल हैं कितने प्रकार से वह अपने आप को रख पाते क्या हम इस द करके हीरोइंस में आप आएंगे तो इससे आप को डरने की आवश्यकता नहीं यह जीवन का एक फेस है एक चरण है सबकुछ से गुजर ना होता है जब तक का कोई फिल्म सेक्सी फिल्म कोई पता नहीं था अर्जुन कोई पता नहीं था कि वह जीत पाएंगे कि नहीं जीत पाएंगे महाभारत में जब तक हम अपनी क्षमताओं पर जब तक हम उसका सामना आत्मज्ञान नहीं करते आत्म विश्लेषण नहीं करते तब तक हमें प्राप्त पता नहीं होता कि हम क्या करने वाले हैं और किस तरह की चुनौतियों से इसमें कार्टून पढ़ने वाले के लिए आवश्यकता उसके बीच के भेद को बिना समझे बिना अपनी तैयारी को जारी रखें और एक रणनीति एक कुशल नेतृत्व बनाकर अपने आप को परीक्षा के लिए तैयार रख कर जल्दी-जल्दी परीक्षा को पास करने के लिए मेरी शुभकामनाएं

niruttar ko bahut dhyan purvak suniye jaayega aur sochega sabko prashna hai yah ek bahut hi gambhir prashna hai taiyari karne se pehle hum apne aap ko maante hain ki kya hum ek ek awasadhi chatra hain ya phir hum neet topper se sabse pehle main aapko yah batana chahunga ki topas ki paribhasha kya hai kya kya topas ki paribhasha me aapne aise chhatro ko shaamil kiya hai jinke marks class me sabse adhik aate hain inko city level par sabse adhik aate hain unke naam ka khwabon me chupte hain ya vaah koi bahut pade platform se kisi geet sangeet tibet elokeshans aadi jaise bade jo events hote hain usme vaah vala sthan paate hain ya kai extra karikular isme unke naam aate hain unke photograph sakte hain agar aap aise hi vidyarthiyon ko graft aapas me maante hain toh mere khayal se jo aapka jo aakalan hai bilkul galat hai aur sab ka matlab kya hota hai uska matlab hai ek aisa vidyarthi jo ki sikhne ki kshamta rakhta hoon shikha ho ya na sikhao yah doosra prashna hai sikhne ki kshamta rakhta hai aur dusri baat chijon ko jodkar samjhne ki pravritti usme ho jaise agar desh me agar garibi hogi toh jaahir si baat hai ki jo kisan ka nahi vo apne bacche ko school nahi bhejenge vaah chahenge ki vaah unke khet me kaam karne ke liye unke paas me itne paise nahi hai ki vaah Rs par majdur kharcha kare aur apne khet khaliyan ka kaam kare isliye vaah chahenge ki unke bacche unka hath bataye aise me jab unke bacche hath nahi toh bacche school nahi ja payenge aur kahin na kahin ki shiksha prabhavit hogi shiksha prabhavit hui aur baad ke varshon me unhe rojgar me bhi dikkat hogi toh garibi kis prakar se shiksha ko aur rojgar ko prabhavit karti hai yah agar samjhne ki kshamta me bade aaram se samajh lete hain isi prakar ke aise hazaro mudde hain unko agar jodkar aap samajhte hain toh aap ek ausat chatra toh zaroor hai lekin aap koi bhi chunauti ko sweekar karne ke liye taiyar hai aur chatra vaah hota hai ki jaise 13 hai vaah plane passenger ko bhi carry kar sakta hai vaah plane ek defence ke mission par bhi ja sakta hai kahin jaakar bandi gira sakta hai ek plane maal maal vahak ke roop me bhi kaam kar sakta hai zarurat padane par dusre deshon me jaakar bilkul lo hamare sharnarthiyon utha sakta hai wahan par ke vidyarthiyon ko utha sakta hai usme seat lagao na laga ho aise me kai baar kiye hain aur please explain hai toh yah agar ek chatra hain usko likhne ki padhne ki apne vicharon ko rakhne ki chijon ko jodkar samjhne ki kshamta hai abhi log daan laga hua desh me kyon laga hua hai kaise laga hua hai kya karan hai agar isko samajhte hain bhale aap ke toppers nahi hua aapke maasi ki kimat koi paimaana nahi hai kahin grading system hai kahin marks toh main isi vishwavidyalaya me jo ki vaah copy baar baar teacher ko shak na karna pade isliye adhik se adhik mass ki jaate hain bahut saare vishwavidyalaya me apratyaksh niyam hai ki kisi vidyarthi ko khelna kiya jaaye kai baar kuch aise teacher sote hain jo aapne bilkul hi wahi post hote hain aur vaah apne ego par lekar vidyarthiyon ke ansars book ko kare karte hain aur janbujhkar aur ego ke karan bhi vidyarthiyon ko kam number prapt hota hai se bahut saare har vishwavidyalaya me is tarah ke professor sote hain teacher sote hain jin par vidyarthiyon ka pala padta hai jo vidyarthiyon ko unke answer book par na dekh kar unke vyavhar par unke sanskar par number bhi dete hain toh yah koi nayi baat nahi hai purani hai aur yah isse nipatane me bhi kaafi samay lagega iske liye kaafi technological edavansaments avashyakta hai humne percentage cigarette system kiya bhoj vishwavidyalaya me aur british kam karne ke baad sthiti aur bhi kharab ho gayi kyonki usme yah bhi pata nahi chalta hai ki aap be plus grade ka a plus grade ke a grade me aane waale kamjor kaun hain aur medhavi kaun hai yah bhi ek badi chunauti hai aur CGPA koi bahut maayne nahi rakhta alok great se baat karte hain toh bread ke aadhar par hi fix kar diya taki desh pardesh mor than 55 of toh is tarike se jeene na diya gaya be plus modi 55 maal toh is tarike se bleeding ka system ho ya percentage custom vidyarthi ke maida ka aakalan karne me aaj bhi asamarth isliye apne dimag se bilkul bhi nikaal de ki topper kaun hai aur asif kaun hai use bhi jati kisi bhi chunauti ko lene ke liye taiyar hota hai uske upar me yah nirbhar karta hai ki aakhir vaah kis prakar ke is dasha me jivon ko lene ke liye taiyar ho ab uske paas me agar sansadhan hai toh vaah taiyari karna upsc ki taiyari karega jaahir si baat hai ek baar UPC kar le aap left hota hai vaah dedh sau 2 varshon ka hota hai taiyari karni hoti is germination dene hote hain bahut saare paise kharch hote hain aur wajan kitna hota hai is beech me naukri nahi lagne ka 1 yuvaon ko par me ek manovaigyanik sankat bhi utpann hota hai parivar ke log ya anya sambandhi bhim vishwas dhire dhire kam karne lag jaate hain aur agar ek do baar agar koi asafal ho jata hai toh lagta hai ki yah bilkul hi kaam ke layak nahi hai yah sahi vidyarthi nahi hai toh jab kilo ka boba upsc ne bhi char baar dene ki paanch baar dene ki system ko bana rakha hai ki ka general category ke bacche bhi 405 baad de sakte hain agar is tarah ki cheezen agar bani hui hai toh jaahir si baat hai ki pc me ek aisa formula dekha gaya hoga ki log teesri baar chauthi baari apache aur paas karte hain lekin samaj me marne ke liye taiyar nahi toh hum toppers aur awasadhi ki baat na kare hum is par dhyan de ki hum kis prakar taiyari kare ki hamara jo examination hai vaah bhajan hamsar par jab bhi dekha jata hai ki jo topper sote hain jinke jo live rates me aate hain jo haiparariyaliti ke shikaar hote hain aur kai aise bacche hote hain jo toppers ke chehron ko dekhkar coaching sweets me jaate hain aur bilkul buri tarike se bolo ki wapas aate hain aise bacche jinke paas me paise nahi hote bada mushkil se sansadhano ko jugaad karke paise ko jugaad karke is suit me padhne jaate hain aur sab bacche hote hain aur vaah ek ke toppers ke roop me saamne aate hain 1201 ka sthan aata hai aur jaise sthan aata hai vaah 25 sadi ke suit ke upar poster boy ban jaate hain har jagah saare suit ke post sony ka naam hota hai aur yah kehte hue paye jaate hain maine yahan padhna mujhe bahut so liya sir bahut acche dhang se padhai aur inke margdarshan me maine upsc clear kiya yah kaise sambhav hai ki 25 se 30 ausatan suit kam se kam isme vaah poster boy bante hain aur vaah pariksha paas karne ke baad aise bacche paise lekar aur itna hi nahi kai logo ne toh itna heart kiya hua hai ki pariksha paas ke baad vaah suit se kehte hain ki main aapke saath milkar baad banaunga aur uska 50 aap mujhe denge toh aise aise bhi kriyakalap chalte rehte hain isse vidyarthi ko aur bhi ek ke demorlaijing effect hota hai unko lagta hai ki yah log toh itne bade hain itne prabhavshali hain itne vocal hain kitne prakar se vaah apne aap ko rakh paate kya hum is the karke Heron's me aap aayenge toh isse aap ko darane ki avashyakta nahi yah jeevan ka ek face hai ek charan hai sabkuch se gujar na hota hai jab tak ka koi film sexy film koi pata nahi tha arjun koi pata nahi tha ki vaah jeet payenge ki nahi jeet payenge mahabharat me jab tak hum apni kshamataon par jab tak hum uska samana atmagyan nahi karte aatm vishleshan nahi karte tab tak hamein prapt pata nahi hota ki hum kya karne waale hain aur kis tarah ki chunautiyon se isme cartoon padhne waale ke liye avashyakta uske beech ke bhed ko bina samjhe bina apni taiyari ko jaari rakhen aur ek rananiti ek kushal netritva banakar apne aap ko pariksha ke liye taiyar rakh kar jaldi jaldi pariksha ko paas karne ke liye meri subhkamnaayain

निरुत्तर को बहुत ध्यान पूर्वक सुनिए गा और सोचेगा सबको प्रश्न है यह एक बहुत ही गंभीर प्रश्न

Romanized Version
Likes  207  Dislikes    views  3235
WhatsApp_icon
user

Dhananjay Kumar

government

1:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यूपीएससी मूल्य सूत्र यदि देखा जाए तो कुछ प्रॉब्लम है उसको छोड़ कर के जो बीज का जो रैंक्स है वह बृजेश पेंट की क्लियर करते हैं आपका ध्यान नहीं देते हैं जितनी भी हिंदी माध्यम से पढ़ने वाले छात्र हैं आप उनका देख लें वह सभी एवरेज स्प्रिंट होते हैं ना हो आर्थिक रूप से संपन्न होते हैं क्योंकि उनको समय देना पड़ता है यह कैसी का प्रोफेशन में तो कुछ साल जल्दी लग जाएं तो मतलब पारिवारिक कोई कहना उत्पन्न हो इसका ध्यान रखते हुए और आपको मैं बताना चाहता हूं आप कतई ऐसा ना सोचे कि जो टॉपर सोते हैं आईआईटी और मेडिकल का वही यूपीएस केयर करते हैं ऐसा कतई ना सोचे ईपीसी शेयर करने का अंदर एक जज्बा अंदर एक्ट्रेस अंदर एक मेंटालिटी होना चाहिए फिर आप क्लियर करेंगे अगर वाइस नहीं कर सकते मेरे नजर में 2002 2 यात्री में जो टॉपर हुए आलोक रंजन झा मैं उनका हिस्ट्री बताता हूं आपको वह हमारे पड़ोस के गांव से हैं तो मैं उनके बारे में जानता हूं वह दसवीं पास किया उन्होंने थर्ड डिवीजन से इंटरव्यू थर्ड डिवीजन से ग्रेजुएशन कोई बहुत अच्छा कॉलेज में नहीं पढ़ रहे थे नॉरमल कॉलेज में वह भी सेकंड डिवीजन जैसे तैसे पास किया और उन्होंने यहां यूपीएससी टॉप रैंक हासिल किया तू अलग चीज है एकता ही नहीं है कि जो टॉपर सोते हैं वही करते हैं आपका दिन मंगलमय हो

upsc mulya sutra yadi dekha jaaye toh kuch problem hai usko chhod kar ke jo beej ka jo ranks hai vaah brijesh paint ki clear karte hain aapka dhyan nahi dete hain jitni bhi hindi madhyam se padhne waale chatra hain aap unka dekh le vaah sabhi average sprint hote hain na ho aarthik roop se sampann hote hain kyonki unko samay dena padta hai yah kaisi ka profession me toh kuch saal jaldi lag jayen toh matlab parivarik koi kehna utpann ho iska dhyan rakhte hue aur aapko main batana chahta hoon aap katai aisa na soche ki jo topper sote hain IIT aur medical ka wahi UPS care karte hain aisa katai na soche epc share karne ka andar ek jajba andar actress andar ek mentalaity hona chahiye phir aap clear karenge agar voice nahi kar sakte mere nazar me 2002 2 yatri me jo topper hue alok ranjan jha main unka history batata hoon aapko vaah hamare pados ke gaon se hain toh main unke bare me jaanta hoon vaah dasavi paas kiya unhone third division se interview third division se graduation koi bahut accha college me nahi padh rahe the normal college me vaah bhi second division jaise taise paas kiya aur unhone yahan upsc top rank hasil kiya tu alag cheez hai ekta hi nahi hai ki jo topper sote hain wahi karte hain aapka din mangalmay ho

यूपीएससी मूल्य सूत्र यदि देखा जाए तो कुछ प्रॉब्लम है उसको छोड़ कर के जो बीज का जो रैंक्स ह

Romanized Version
Likes  37  Dislikes    views  456
WhatsApp_icon
user

professor Govind Tripathi

Professor(P.hd in mathematics)/Social worker

2:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक आवश्यक छात्र यूपीएससी की परीक्षा क्लियर कर सकता है इसमें कोई कठिनाई नहीं है लेकिन जो यूपीएससी परीक्षा की तैयारी कर रहा है कौशल छात्र तक उसके अंदर कितनी लग्न है यूपीएससी परीक्षा को क्लियर करने का सबसे सटीक तरीका है लगन कठिन परिश्रम और अपने लक्ष्य की पूर्ति के लिए तब तक लगे रहना जब तक आप उसमें सफलता नहीं प्राप्त कर लेते हैं ऐसे अनेकों उदाहरण हैं दो-तीन स्टूडेंट से जो दसवीं क्लास में थर्ड डिवीजन पास में है 12वीं में सेकंड डिवीजन पास हुए हैं उसके बाद ग्रेजुएशन में उछल डिवीजन पास हुए लेकिन बाद में उनकी मेहनत और लगन और कठिन परिश्रम रंग रंग लाया उन्होंने आईएस क्लियर किया फिर से फेस क्लियर किया और बाद में आईएसआई के स्थान पर पहुंचे वैसे यह नहीं है कि एक आफत छात्रवृत्ति परीक्षा में नहीं क्लियर कर सकता अवश्य कर सकता है उसको अपने लक्ष्य पूर्ति तक लगातार मेहनत करते रहना हुआ है करते रहना चाहिए और यूपीएससी की परीक्षा में कोई ऐसा बॉउंडेशन भी नहीं है कि आप कितने पर्सेंट मार्क्स लाएंगे तभी आप यूपीएससी का फॉर्म भर सकते हैं ऐसा नहीं है सिंपल किसी भी छात्र को जो हॉस्टल पास है वह यूपीएससी की परीक्षा दे सकता है और उसके बाद अपनी लगा रो मेहनत से सफल हो सकता है यूपीएससी की परीक्षा को क्लियर करने का सबसे सटीक तरीका लगन मेहनत कठिन परिश्रम है धन्यवाद

ek aavashyak chatra upsc ki pariksha clear kar sakta hai isme koi kathinai nahi hai lekin jo upsc pariksha ki taiyari kar raha hai kaushal chatra tak uske andar kitni lagn hai upsc pariksha ko clear karne ka sabse sateek tarika hai lagan kathin parishram aur apne lakshya ki purti ke liye tab tak lage rehna jab tak aap usme safalta nahi prapt kar lete hain aise anekon udaharan hain do teen student se jo dasavi class me third division paas me hai vi me second division paas hue hain uske baad graduation me uchhal division paas hue lekin baad me unki mehnat aur lagan aur kathin parishram rang rang laya unhone ias clear kiya phir se face clear kiya aur baad me isi ke sthan par pahuche waise yah nahi hai ki ek afat chhatravriti pariksha me nahi clear kar sakta avashya kar sakta hai usko apne lakshya purti tak lagatar mehnat karte rehna hua hai karte rehna chahiye aur upsc ki pariksha me koi aisa baundeshan bhi nahi hai ki aap kitne percent marks layenge tabhi aap upsc ka form bhar sakte hain aisa nahi hai simple kisi bhi chatra ko jo hostel paas hai vaah upsc ki pariksha de sakta hai aur uske baad apni laga ro mehnat se safal ho sakta hai upsc ki pariksha ko clear karne ka sabse sateek tarika lagan mehnat kathin parishram hai dhanyavad

एक आवश्यक छात्र यूपीएससी की परीक्षा क्लियर कर सकता है इसमें कोई कठिनाई नहीं है लेकिन जो यू

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  103
WhatsApp_icon
user
0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह जरूरी नहीं है कि सिर्फ टॉप पर ही बच्चे यूपीएससी को करे करते हैं हमने पिछले कई सालों में देखा है कि जो अवरेज बच्चे होते और सब बच्चे होते हैं वह भी काफी यूपीएससी को करे करते हैं हम आपको यह भी बता दो यूपीएससी का रिजल्ट है वह हमेशा एवरेज ही रहता है कभी 55 परसेंट कभी 56 परसेंट कभी सता 1% से 8% से ज्यादा बहुत कम यूपीएससी में बच्चों को नंबर प्राप्त होते हैं तो कवरेज बच्चे भी यूपीएससी कोकरे कर सकते हैं कोई बड़ी बात नहीं है

yah zaroori nahi hai ki sirf top par hi bacche upsc ko kare karte hain humne pichle kai salon me dekha hai ki jo avarej bacche hote aur sab bacche hote hain vaah bhi kaafi upsc ko kare karte hain hum aapko yah bhi bata do upsc ka result hai vaah hamesha average hi rehta hai kabhi 55 percent kabhi 56 percent kabhi sata 1 se 8 se zyada bahut kam upsc me baccho ko number prapt hote hain toh coverage bacche bhi upsc kokre kar sakte hain koi badi baat nahi hai

यह जरूरी नहीं है कि सिर्फ टॉप पर ही बच्चे यूपीएससी को करे करते हैं हमने पिछले कई सालों में

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  134
WhatsApp_icon
user

Gayatri Soni

IAS Lover

1:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है कि क्या एक औसत छात्र जी यूपीएससी की परीक्षा क्लियर कर सकता है जैसा कि हम लोगों ने देखा की ठोकर से इस परीक्षा करते हैं तो ऐसा बिल्कुल नहीं है कि सिर्फ तो फिर से परीक्षा क्लियर कर सकते हैं आपने देखा होगा जो कि मैं हमेशा क्लास में पिक्चर रहते हैं वह भी इतना अच्छा परफॉर्मेंस करते हैं कि वह इतनी मेहनत करते हैं कि वह भी अपने लाइफ में बहुत कुछ है क्यों कर जाते हैं तो सब में एक अलग प्रकार की क्षमता होती है बस क्षमता को पहचानने की जरूरत है कोई भी यूपीएससी की परीक्षा को की लिख कर सकता है जरूरी है तो सिर्फ कॉन्फिडेंस और हार्ड वर्किंग हार्ड वर्क है तथा कॉन्फिडेंस है तो आप कोई भी परीक्षा पास करते क्या कर सकते हो कुछ भी नामुमकिन नहीं है सब कुछ पॉसिबल है कुछ भी इंपॉसिबल नहीं है सब कुछ हासिल किया जा सकता है यदि आप मैरिड संकल्प है तो आप कुछ भी कर सकते हैं धन्यवाद

aapka sawaal hai ki kya ek ausat chatra ji upsc ki pariksha clear kar sakta hai jaisa ki hum logo ne dekha ki thokar se is pariksha karte hain toh aisa bilkul nahi hai ki sirf toh phir se pariksha clear kar sakte hain aapne dekha hoga jo ki main hamesha class me picture rehte hain vaah bhi itna accha performance karte hain ki vaah itni mehnat karte hain ki vaah bhi apne life me bahut kuch hai kyon kar jaate hain toh sab me ek alag prakar ki kshamta hoti hai bus kshamta ko pahachanne ki zarurat hai koi bhi upsc ki pariksha ko ki likh kar sakta hai zaroori hai toh sirf confidence aur hard working hard work hai tatha confidence hai toh aap koi bhi pariksha paas karte kya kar sakte ho kuch bhi namumkin nahi hai sab kuch possible hai kuch bhi Impossible nahi hai sab kuch hasil kiya ja sakta hai yadi aap married sankalp hai toh aap kuch bhi kar sakte hain dhanyavad

आपका सवाल है कि क्या एक औसत छात्र जी यूपीएससी की परीक्षा क्लियर कर सकता है जैसा कि हम लोगो

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  172
WhatsApp_icon
user

Rashmi Gupta

Professor

2:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी भी परीक्षा को क्लियर करने के लिए यह बहुत आवश्यक नहीं है कि आपका पर हो बहुत सारे बहुत इंटेलिजेंट हो टॉपर स्टूडेंट्स ऐसे होते हैं जो कई बार अपने मार्ग से भटक जाते हैं जिनके अंदर बहुत सारे दूसरों के गुणों की कमी होती है एक यूपीएससी परीक्षा पास करने के लिए आपको बहुत ज्यादा इंटेलिजेंट होने के अलावा या वह होना इतना आवश्यक नहीं अगर आप एक औसत स्टूडेंट भी है और से छात्र भी हैं तो भी आप यह परीक्षा को क्लियर कर सकते हैं यदि आपके अंदर दूसरे अन्य कोड हो जैसे कि लगन मेहनत धर्य और कभी न थकने वाला कभी ना थकने वाला परिश्रम करने की योग्यता आपको अपना लक्ष्य पता होना चाहिए अगर आप अपने लक्ष्य को फोकस करते हुए दिन में प्रतिदिन 12 से 14 घंटे की स्टडी करते हैं अपने दिमाग को आप मेडिटेशन करते हैं अपने दिमाग को अब संतुलित रख पाते हैं और आप कल से नहीं डरते हैं आप अपना कर्म कीजिए फल से मत डरिए अगर आप कर्म करेंगे मेहनत करेंगे तो आपको उसका फल अवश्य ही मिलेगा और फल से यह भी मत अगर आपको फल नेगेटिव मिलता है तो आपके मन में यह डर कभी नहीं होना चाहिए कि अगर मैं पास नहीं हुआ या मैंने क्वालीफाई नहीं किया तो क्या होगा अगर आपने मेहनत की है और आपको तब भी अगर नतीजा नहीं मिलता तो आप यह विचार कीजिए और यह मान के चली थी कहीं ना कहीं आप से कोई ना कोई चूक हुई है लेकिन मैं यह बिल्कुल नहीं मानती कि केवल टॉप अशीष परीक्षा को ट्रैक कर सकते हैं एक औसत छात्र भी इस परीक्षा को क्लियर कर सकता है बशर्ते उसके अंदर लगन का जज्बा हो

kisi bhi pariksha ko clear karne ke liye yah bahut aavashyak nahi hai ki aapka par ho bahut saare bahut Intelligent ho topper students aise hote hain jo kai baar apne marg se bhatak jaate hain jinke andar bahut saare dusro ke gunon ki kami hoti hai ek upsc pariksha paas karne ke liye aapko bahut zyada Intelligent hone ke alava ya vaah hona itna aavashyak nahi agar aap ek ausat student bhi hai aur se chatra bhi hain toh bhi aap yah pariksha ko clear kar sakte hain yadi aapke andar dusre anya code ho jaise ki lagan mehnat dharya aur kabhi na thakane vala kabhi na thakane vala parishram karne ki yogyata aapko apna lakshya pata hona chahiye agar aap apne lakshya ko focus karte hue din me pratidin 12 se 14 ghante ki study karte hain apne dimag ko aap meditation karte hain apne dimag ko ab santulit rakh paate hain aur aap kal se nahi darte hain aap apna karm kijiye fal se mat dariye agar aap karm karenge mehnat karenge toh aapko uska fal avashya hi milega aur fal se yah bhi mat agar aapko fal Negative milta hai toh aapke man me yah dar kabhi nahi hona chahiye ki agar main paas nahi hua ya maine qualify nahi kiya toh kya hoga agar aapne mehnat ki hai aur aapko tab bhi agar natija nahi milta toh aap yah vichar kijiye aur yah maan ke chali thi kahin na kahin aap se koi na koi chuk hui hai lekin main yah bilkul nahi maanati ki keval top ashish pariksha ko track kar sakte hain ek ausat chatra bhi is pariksha ko clear kar sakta hai basharte uske andar lagan ka jajba ho

किसी भी परीक्षा को क्लियर करने के लिए यह बहुत आवश्यक नहीं है कि आपका पर हो बहुत सारे बहुत

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  39
WhatsApp_icon
user

Vivekanand Kashyap

🗣️College Student & Advisor

1:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है क्या आपको लगता है एक व्हाट्सएप छात्रवृत्ति परीक्षा को क्लियर कर सकता है जैसा कि हम केवल टॉपर्स को इस परिचालक रेप करते हुए देखते हैं तो मेरा जवाब है ऐसा नहीं है कि केवल टॉपर्स एग्जाम को क्लियर करता है कई औसत स्टूडेंट में इस परीक्षा को ट्रैक कर चुके हैं और टॉप भी कर चुके हैं तो मेरे जवाब को ध्यान से सुनना लास्ट तक यूपीएससी एग्जाम सबसे कठिन गवर्नमेंट एग्जाम माना जाता है इसलिए इंस्पायरन इस परीक्षा की तैयारी कड़ी मेहनत से करते हैं फिर पढ़ाई ही नहीं किसी भी परीक्षा में ओमपाल आने के लिए आत्मविश्वास ही है धीरज की आवश्यकता होती है आवश्यकता ही नहीं सख्त जरूरत होती है मेहनत और आत्मविश्वास के साथ यूपीएससी एग्जाम की तरह और भी कंप्यूटर एग्जाम ट्रैक किए जा सकते हैं इसका जीता जागता उदाहरण है आई चावड़ा जो 8 बार फेल हुए और यहां तक कि उन्हें पढ़ाई करने में बिल्कुल दिलचस्पी नहीं थी एक औसत स्टूडेंट होने के बावजूद उन्होंने यूपीएससी एग्जाम में टॉप किया इस कॉम्पिटेटिव एक्जाम में अगर आईएस वैभव वैभव छाबरा टॉप कर सकते हैं तो आपको खुद पर यकीन हो जाना चाहिए कि अगर ठान लो और मेहनत के साथ तैयारी करो तो कोई भी गवर्नमेंट एग्जाम ट्रैक करना नामुमकिन नहीं है इसलिए आप ए ना सोचे कि बस स्टॉप बस स्टॉप पर सी एग्जाम को क्रैक करते हैं औषध स्टूडेंट में कर सकते हैं और आप भी कर सकते हैं धन्यवाद

aapka sawaal hai kya aapko lagta hai ek whatsapp chhatravriti pariksha ko clear kar sakta hai jaisa ki hum keval toppers ko is parichalak rape karte hue dekhte hain toh mera jawab hai aisa nahi hai ki keval toppers exam ko clear karta hai kai ausat student me is pariksha ko track kar chuke hain aur top bhi kar chuke hain toh mere jawab ko dhyan se sunana last tak upsc exam sabse kathin government exam mana jata hai isliye inspayaran is pariksha ki taiyari kadi mehnat se karte hain phir padhai hi nahi kisi bhi pariksha me ompal aane ke liye aatmvishvaas hi hai dheeraj ki avashyakta hoti hai avashyakta hi nahi sakht zarurat hoti hai mehnat aur aatmvishvaas ke saath upsc exam ki tarah aur bhi computer exam track kiye ja sakte hain iska jita jaagta udaharan hai I chavada jo 8 baar fail hue aur yahan tak ki unhe padhai karne me bilkul dilchaspi nahi thi ek ausat student hone ke bawajud unhone upsc exam me top kiya is competitive exam me agar ias vaibhav vaibhav chhabra top kar sakte hain toh aapko khud par yakin ho jana chahiye ki agar than lo aur mehnat ke saath taiyari karo toh koi bhi government exam track karna namumkin nahi hai isliye aap a na soche ki bus stop bus stop par si exam ko crack karte hain awasadhi student me kar sakte hain aur aap bhi kar sakte hain dhanyavad

आपका सवाल है क्या आपको लगता है एक व्हाट्सएप छात्रवृत्ति परीक्षा को क्लियर कर सकता है जैसा

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  147
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको प्रश्न है कि क्या आपको लगता है कि एक औसत छात्र यूपीएससी परीक्षा को क्लियर कर सकता है जैसा कि हम केवल टॉपर्स को इस परीक्षा में व्यक्त करते हुए देखते हैं अपने अपने सवाल का जवाब क्यों नहीं दे दिया कि औसत छात्र ही यूपीएससी परीक्षा देते हैं और वह सफल किसी भी बच्चे की इंटेलिजेंस ई इस बात पर निर्भर नहीं करती कि वह बहुत स्मार्ट है पढ़ाई को बहुत अधिक समय देता है किसी विषय को बहुत अच्छी तरीके से समझ जाता है बहुत जल्दी समझ जाता है बहुत ही अच्छी बातें हैं जो इंटेलिजेंट की परिभाषा में हम मानते हैं देखते हैं इसके उत्तर में आप को ध्यान रखना चाहिए कि एक औसत बच्चा जिसे आप मान रहे हैं उसने वह सभी विशेषताएं हैं जो एक बुद्धिमान बालक में है जो इंटेलिजेंट कहे जाते हैं जो बुद्धिमान कहीं जाते हैं उनके जीवन को देखिए उनके जीवन के सिस्टम को देखिए कि वह जो पढ़ाई को समय देते हैं अधिकतर बच्चे कम समय देते हैं क्योंकि उन्हें भ्रम हो जाता है या इस बात पर ओवरकॉन्फिडेंट हो जाते हैं कि यह चीज तो हमें आती है या हम कर लेंगे जो उनकी असफलता का बड़ा कारण बनते हैं लेकिन अगर एक औसत बच्चा अपने फिक्स टाइम टेबल के अनुसार शिक्षण के अनुसार एकाग्र चित्त होकर के पढ़ाई में लग रहा है तो निश्चित ही उसकी प्रैक्टिस निरंतर जारी रहेगी और वह अपने विषय वस्तु को अपने पाठ्यक्रम को भली प्रकार समझ पाएगा क्योंकि जो टाइम टेबल तय किया जाता है उसमें इस बात का भी ध्यान रखना पड़ता है कि अब तक जो हमने पड़ा उसको रिवाइज भी कर सकें जब बच्चा रिवाइज करता है तो उसे इस बात का आभास होता है उसे पता चलता है कि उसे कि कौन-कौन सी चीजें कितनी बेहतर आती हैं और कौन-कौन सी चीजें कम आती हैं और कौन-कौन सी चीज है अभी उसे और करनी है तुम किस प्रकार के तीन वर्गीकरण करने के बाद एक औसत कहा जाने वाला बच्चा भी अपनी तैयारी तरीके से और अच्छी प्रकार से कर पाता है इसलिए आपका उत्तर यही है कि आप औसत शब्द भले ही से माल करें लेकिन जब आप नियमित रूप से टाइम टेबल के अनुसार एक पाठ्यक्रम को या उनका डिवाइड करके और तरीके से पड़ेंगे और रिवीजन का समय भी उसमें शामिल होगा और ईवीजन एक बार भी हो सकता है 2 बार भी हो सकता है मिनिमम दो बार तो होना ही चाहिए एक बार तो होता ही है लगभग अक्सर है लेकिन दूसरी बार भी रिलीजन मिनिमम होना चाहिए तीन चार बार हो जाता है इतना समय आपको मिल पाता है आप ऐसा करते हैं इससे बढ़कर और क्या बात होगी तब आप हो औसत नहीं रहेंगे बुद्धिमान होंगे इसलिए आप इस प्रश्न पर विचार ना करें कि मैं यूपीएससी की तैयारी करूंगा और नहीं सफल होगा इस प्रश्न को अपने सामने दीजिए आप सफल होंगे और सफल होने के लिए आप तैयारी करेंगे इस बात को ध्यान रखें धन्यवाद

aapko prashna hai ki kya aapko lagta hai ki ek ausat chatra upsc pariksha ko clear kar sakta hai jaisa ki hum keval toppers ko is pariksha me vyakt karte hue dekhte hain apne apne sawaal ka jawab kyon nahi de diya ki ausat chatra hi upsc pariksha dete hain aur vaah safal kisi bhi bacche ki intelligence E is baat par nirbhar nahi karti ki vaah bahut smart hai padhai ko bahut adhik samay deta hai kisi vishay ko bahut achi tarike se samajh jata hai bahut jaldi samajh jata hai bahut hi achi batein hain jo Intelligent ki paribhasha me hum maante hain dekhte hain iske uttar me aap ko dhyan rakhna chahiye ki ek ausat baccha jise aap maan rahe hain usne vaah sabhi visheshtayen hain jo ek buddhiman balak me hai jo Intelligent kahe jaate hain jo buddhiman kahin jaate hain unke jeevan ko dekhiye unke jeevan ke system ko dekhiye ki vaah jo padhai ko samay dete hain adhiktar bacche kam samay dete hain kyonki unhe bharam ho jata hai ya is baat par ovarakanfident ho jaate hain ki yah cheez toh hamein aati hai ya hum kar lenge jo unki asafaltaa ka bada karan bante hain lekin agar ek ausat baccha apne fix time table ke anusaar shikshan ke anusaar ekagra chitt hokar ke padhai me lag raha hai toh nishchit hi uski practice nirantar jaari rahegi aur vaah apne vishay vastu ko apne pathyakram ko bhali prakar samajh payega kyonki jo time table tay kiya jata hai usme is baat ka bhi dhyan rakhna padta hai ki ab tak jo humne pada usko revise bhi kar sake jab baccha revise karta hai toh use is baat ka aabhas hota hai use pata chalta hai ki use ki kaun kaun si cheezen kitni behtar aati hain aur kaun kaun si cheezen kam aati hain aur kaun kaun si cheez hai abhi use aur karni hai tum kis prakar ke teen vargikaran karne ke baad ek ausat kaha jaane vala baccha bhi apni taiyari tarike se aur achi prakar se kar pata hai isliye aapka uttar yahi hai ki aap ausat shabd bhale hi se maal kare lekin jab aap niyamit roop se time table ke anusaar ek pathyakram ko ya unka divide karke aur tarike se padenge aur revision ka samay bhi usme shaamil hoga aur ivijan ek baar bhi ho sakta hai 2 baar bhi ho sakta hai minimum do baar toh hona hi chahiye ek baar toh hota hi hai lagbhag aksar hai lekin dusri baar bhi religion minimum hona chahiye teen char baar ho jata hai itna samay aapko mil pata hai aap aisa karte hain isse badhkar aur kya baat hogi tab aap ho ausat nahi rahenge buddhiman honge isliye aap is prashna par vichar na kare ki main upsc ki taiyari karunga aur nahi safal hoga is prashna ko apne saamne dijiye aap safal honge aur safal hone ke liye aap taiyari karenge is baat ko dhyan rakhen dhanyavad

आपको प्रश्न है कि क्या आपको लगता है कि एक औसत छात्र यूपीएससी परीक्षा को क्लियर कर सकता है

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  107
WhatsApp_icon
user

Gopal Mishra

Ias Faculty

2:25
Play

Likes  4  Dislikes    views  52
WhatsApp_icon
user

Kumar Raghav

Career Counsellor Cum Motivational Speaker

2:12
Play

Likes  8  Dislikes    views  115
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!