क्या मंदिरों को लाउडस्पीकर्ज़ इस्तेमाल करने के लिए परमिशन लेनी ज़रूरी होनी चाहिए?...


play
user

Mo.Azhar Shaikh

Social Worker

0:34

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

और बड़की वर्कर वीरानियां की रियल लाइफ

aur badaki worker viraniyan ki real life

और बड़की वर्कर वीरानियां की रियल लाइफ

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  478
WhatsApp_icon
10 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Harpal Singh

Journalist

0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल सही और करूंगा लेकिन अब जोश पिक लगाते एक दुश्मनों की बिल्कुल अगर ज्यादा हो सके ना कोई

bilkul sahi aur karunga lekin ab josh pic lagate ek dushmano ki bilkul agar zyada ho sake na koi

बिल्कुल सही और करूंगा लेकिन अब जोश पिक लगाते एक दुश्मनों की बिल्कुल अगर ज्यादा हो सके ना क

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  695
WhatsApp_icon
user
0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे साथ से मंदिर में लाउडस्पीकर होना ही नहीं चाहिए किसी पुराने सामान और उसको कैसे लगाए जाते अलार्म सिस्टम नहीं होता था तो उनको उठाने के लिए और करने के लिए किसी का भी काम कर दो

mere saath se mandir mein loudspeaker hona hi nahi chahiye kisi purane saamaan aur usko kaise lagaye jaate alarm system nahi hota tha toh unko uthane ke liye aur karne ke liye kisi ka bhi kaam kar do

मेरे साथ से मंदिर में लाउडस्पीकर होना ही नहीं चाहिए किसी पुराने सामान और उसको कैसे लगाए जा

Romanized Version
Likes  30  Dislikes    views  461
WhatsApp_icon
user
0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमको से कोई भी धर्म हो उनको अपने अंदर बजाना चाहिए बाहर नहीं बजाना चाहिए और मंदिर के अंदर यदि पूजा भी करते हैं तो शांति से होती है तो ज्यादा बढ़िया रहती है और हम भी अपने पूजा पाठ करते हैं तो उसको थोड़ी धीमी आवाज में ही करते तो अच्छा रहता है इसी तरह केवल मंदिरों मस्जिदों गुरुद्वारा हो तब मैं यदि धीमी आवाज में बात करी जाए धीमी आवाज में लोड स्पीकर लगाए जाए उसमें कोई हर्ज नहीं है मुंह से दूसरे को किसी को दिक्कत नहीं होनी चाहिए पर

hamko se koi bhi dharm ho unko apne andar bajana chahiye bahar nahi bajana chahiye aur mandir ke andar yadi puja bhi karte hain toh shanti se hoti hai toh zyada badhiya rehti hai aur hum bhi apne puja path karte hain toh usko thodi dheemi awaaz mein hi karte toh accha rehta hai isi tarah keval mandiro masjidon gurudwara ho tab main yadi dheemi awaaz mein baat kari jaaye dheemi awaaz mein load speaker lagaye jaaye usme koi harz nahi hai mooh se dusre ko kisi ko dikkat nahi honi chahiye par

हमको से कोई भी धर्म हो उनको अपने अंदर बजाना चाहिए बाहर नहीं बजाना चाहिए और मंदिर के अंदर य

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  166
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या मंदिरों को लाउडस्पीकर इस्तेमाल करने के लिए परमिशन लेनी जरूरी होनी चाहिए देखी थी सबसे पहले तो मैं खुश हूं कि किसी भी तरह का भूमि प्रदूषण हमारे लिए हमारे स्वास्थ्य ठीक नहीं है उसके बाद चाहे वह कोई पार्टी फंक्शन हो चाहे मंदिर हो चम मस्जिद हो या कोई भी हो एक बात बताइए हम जब जोर जोर से बोल कर क्यों नहीं करते हैं भगवान मेरी यह मुराद पूरी कर दे या अल्लाह मेरी मुराद पूरी कर दी है यह मुझे अंतरात्मा को संत कबीर ने लिखा था कौन सी मुझे याद नहीं कुछ काकर पाथर जोड़ के तमूरा लिया बनाए का पहला भाग दे क्या बहरा हुआ खुदाय जोड़कर मंदिर मस्जिद बना के ऊपर बा इतना लंबा पुरुष पढ़ाते आरती भजन कोई जान किसी तरह का कोई भगवान तू वैसे मत रखना उसमें स्पीकर तत्वों की हद होती है सबकी सहमति बंद करना

kya mandiro ko loudspeaker istemal karne ke liye permission leni zaroori honi chahiye dekhi thi sabse pehle toh main khush hoon ki kisi bhi tarah ka bhoomi pradushan hamare liye hamare swasthya theek nahi hai uske baad chahen vaah koi party function ho chahen mandir ho chamm masjid ho ya koi bhi ho ek baat bataye hum jab jor jor se bol kar kyon nahi karte hain bhagwan meri yah murad puri kar de ya allah meri murad puri kar di hai yah mujhe antaraatma ko sant kabir ne likha tha kaun si mujhe yaad nahi kuch kakar pathar jod ke tamura liya banaye ka pehla bhag de kya behra hua khuday jodkar mandir masjid bana ke upar ba itna lamba purush padhate aarti bhajan koi jaan kisi tarah ka koi bhagwan tu waise mat rakhna usme speaker tatvon ki had hoti hai sabki sahmati band karna

क्या मंदिरों को लाउडस्पीकर इस्तेमाल करने के लिए परमिशन लेनी जरूरी होनी चाहिए देखी थी सबसे

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  143
WhatsApp_icon
user

Sunish Mishra

Journalist

0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इतने के ऊपर नीचे नीचे मंदिर में बैठे हुआ या मस्जिद में हुआ एक नदी बेतवा की शादी नहीं करनी तो हाल में दिया गया है क्या

itne ke upar niche neeche mandir mein baithe hua ya masjid mein hua ek nadi betavaa ki shadi nahi karni toh haal mein diya gaya hai kya

इतने के ऊपर नीचे नीचे मंदिर में बैठे हुआ या मस्जिद में हुआ एक नदी बेतवा की शादी नहीं करनी

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  43
WhatsApp_icon
user

Raman Pathak

Journalist

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमें रोजमर्रा की जीवन जीना पड़ता है और किसी भी उम्र के साथ-साथ हमारी गहरी और सांसारिक जीवन व्यतीत होता है डिटेल बताए तो वर्तमान समय में लोगों सहन नहीं कर पाते इंडियन गवर्नमेंट की जो चैनल है चैनल के हिसाब से एक की आवाज में यूज करते हैं अगला टॉप डिस्टर्ब नहीं कर सकते हैं जरूरी जरूरी जरूरी है

hamein rozmarra ki jeevan jeena padta hai aur kisi bhi umr ke saath saath hamari gehri aur sansarik jeevan vyatit hota hai detail bataye toh vartaman samay mein logo sahan nahi kar paate indian government ki jo channel hai channel ke hisab se ek ki awaaz mein use karte hain agla top disturb nahi kar sakte hain zaroori zaroori zaroori hai

हमें रोजमर्रा की जीवन जीना पड़ता है और किसी भी उम्र के साथ-साथ हमारी गहरी और सांसारिक जीवन

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  76
WhatsApp_icon
user

Gopal Parassar

Journalist

0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखे खत जो जो भारत सरकार ने इस पावन बनाया हुआ है इस बनाया हुआ संतानों नहीं सकते हैं इसके लिए बहुत जरूरी है कि हर परमिशन लेनी चाहिए कि नीचे आम लाउडस्पीकर बजाते हैं

likhe khat jo jo bharat sarkar ne is paavan banaya hua hai is banaya hua santano nahi sakte hain iske liye bahut zaroori hai ki har permission leni chahiye ki niche aam loudspeaker bajaate hain

लिखे खत जो जो भारत सरकार ने इस पावन बनाया हुआ है इस बनाया हुआ संतानों नहीं सकते हैं इसके ल

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  105
WhatsApp_icon
user

MD HAROON

Teacher

0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपके द्वारा पूछा गया सवाल है क्या मंदिरों को लाउडस्पीकर इस्तेमाल करने के लिए परमिशन लेना जरूरी होनी चाहिए यह बिल्कुल नहीं मंदिर या मस्जिद या भगवान के पूजा का घर होता है इसलिए कभी भी इसकी आवश्यकता नहीं होनी चाहिए क्या आसान देने के लिए या मंदिर में पूजा करने के लिए लाउडस्पीकर का हुकूमत से परमिशन लेना जरूरी है हां अगर कहीं पर तनाव की स्थिति है तो ऐसी सूरत में परमिशन ले लेना जरूरी होता है

aapke dwara poocha gaya sawaal hai kya mandiro ko loudspeaker istemal karne ke liye permission lena zaroori honi chahiye yah bilkul nahi mandir ya masjid ya bhagwan ke puja ka ghar hota hai isliye kabhi bhi iski avashyakta nahi honi chahiye kya aasaan dene ke liye ya mandir me puja karne ke liye loudspeaker ka hukumat se permission lena zaroori hai haan agar kahin par tanaav ki sthiti hai toh aisi surat me permission le lena zaroori hota hai

आपके द्वारा पूछा गया सवाल है क्या मंदिरों को लाउडस्पीकर इस्तेमाल करने के लिए परमिशन लेना ज

Romanized Version
Likes  38  Dislikes    views  517
WhatsApp_icon
user

Shubham

Software Engineer in IBM

1:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए सर अरुण जी हां अगर मैं आपको पसंद नहीं हूं तो मेरे साथ से बिल्कुल जरूरी है क्योंकि अगर ऑब्जेक्शन नहीं पी है फिर भी सर हम लोगों को आसपास के लोगों को से पूछना चाहिए कि उनको कोई दिक्कत है या नहीं आपको पता है जैसे हमारे हिंदुओं में अगर मंदिर में मिलाकर लगाते हैं तो काफी लोगों को दिक्कत होती ह द रिलीजन को दिक्कत होती है जो हिंदू है उनको भी दिक्कत होती है क्योंकि इसमें काफी आवाज आती है और कुछ लोग अपना काम नहीं कर पाते तुम को जो काम करना होता है तो वह कई लोग इन सब चीजों में इंटरेस्ट नहीं रखते हैं तो फिर इन सब चीजों को क्यों सुने तो बिल्कुल हम लोगों को अगर लड़की कर लगाना है और गवर्नमेंट की तरफ जैकसन नहीं भी है फिर भी मुंह का आस पास एक बार पूछ लेना चाहिए भाई कोई दिक्कत है या नहीं मुझे तो ऐसा लगता है कि यह करना सही होगा क्योंकि हम लोग जो हमारे हिंदी न्यूज़ जो भी सच्ची से जबरदस्ती नहीं तो दिक्कत नहीं हूं तुम मेरे साथ से पूछना सही होगा हमारे लिए भी और सामने वाले के

dekhiye sir arun ji haan agar main aapko pasand nahi hoon toh mere saath se bilkul zaroori hai kyonki agar objection nahi p hai phir bhi sir hum logo ko aaspass ke logo ko se poochna chahiye ki unko koi dikkat hai ya nahi aapko pata hai jaise hamare hinduon mein agar mandir mein milakar lagate hain toh kaafi logo ko dikkat hoti h the religion ko dikkat hoti hai jo hindu hai unko bhi dikkat hoti hai kyonki isme kaafi awaaz aati hai aur kuch log apna kaam nahi kar paate tum ko jo kaam karna hota hai toh vaah kai log in sab chijon mein interest nahi rakhte hain toh phir in sab chijon ko kyon sune toh bilkul hum logo ko agar ladki kar lagana hai aur government ki taraf jackson nahi bhi hai phir bhi mooh ka aas paas ek baar puch lena chahiye bhai koi dikkat hai ya nahi mujhe toh aisa lagta hai ki yah karna sahi hoga kyonki hum log jo hamare hindi news jo bhi sachi se jabardasti nahi toh dikkat nahi hoon tum mere saath se poochna sahi hoga hamare liye bhi aur saamne waale ke

देखिए सर अरुण जी हां अगर मैं आपको पसंद नहीं हूं तो मेरे साथ से बिल्कुल जरूरी है क्योंकि अग

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  163
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
permission lena chahiye ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!