ऐसा क्यों है की बॉलीवुड में बायोलॉजीपिक फिल्में बनाने में अचानक वृद्धि क्यों हो रही है?...


user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न ऐसा क्यों है कि अब बॉलीवुड में बायोलॉजी पिक फिल्में बनाने में अचानक वृद्धि क्यों होने लगी है अब पूछना बायोपिक वॉलपेपर लगता है किसी रियल पर्सन के जीवन पर आधारित विशेष बहुत सारी फिल्में बनती रही हैं बॉलीवुड में हमेशा से और पाया गया कि जो जीवित लोग हैं जिन्होंने जीवन में कुछ महत्वपूर्ण कार्य किया है उपलब्धि हासिल की है तो उनके जीवन और संघर्ष को के प्रति लोगों में एक आकर्षण होता है लोग उनके जीवन के बारे में विस्तार से जानना चाहते हैं कि का आकर्षण हैं क्योंकि उन्हें अपने जीवन में जो सफलता अर्जित की है विपरीत परिस्थितियों में रहकर भी कई बार उनको सफलता मिली है तो लोगों की रूचि होती है पहला कारण की है दूसरा कारण यह है कि लुक काल्पनिक कहानियों से कुछ नया चाहते हैं कुछ अलग हटके यही कारण है कि बॉलीवुड में जो बायोपिक कहलाते हैं उनके बदले में अचानक फिर अब देखते हैं कि यह जीजू ब्वॉय पिक है इनको भी बहुत सफलता ही नहीं किसी की एम एस धोनी दि अनटोल्ड स्टोरी है या मिल्खा सिंह के जीवन पर आधारित भाग मिल्खा भाग हूं अभी हाल ही में तानाजी पर जो फिल्म बनी थी वह की बहुत ही सफल रही उन लोगों की एक रुचि उस दिशा में आती और इस कारण से अचानक से खराब बॉलीवुड जानते हैं भेड़ चाल है उसमें जो चीज चलने लगती है उसके पीछे पीछे भागने लगते हैं वह निरंतर और उस कारण से अच्छी बात यह है कि नए लोग जीवन संघर्षों से हमारा परिचय हो रहा है और एक प्रेरणादायक फिल्में बन रही हैं

aapka prashna aisa kyon hai ki ab bollywood me biology pic filme banane me achanak vriddhi kyon hone lagi hai ab poochna Biopic wallpaper lagta hai kisi real person ke jeevan par aadharit vishesh bahut saari filme banti rahi hain bollywood me hamesha se aur paya gaya ki jo jeevit log hain jinhone jeevan me kuch mahatvapurna karya kiya hai upalabdhi hasil ki hai toh unke jeevan aur sangharsh ko ke prati logo me ek aakarshan hota hai log unke jeevan ke bare me vistaar se janana chahte hain ki ka aakarshan hain kyonki unhe apne jeevan me jo safalta arjit ki hai viprit paristhitiyon me rahkar bhi kai baar unko safalta mili hai toh logo ki ruchi hoti hai pehla karan ki hai doosra karan yah hai ki look kalpnik kahaniyan se kuch naya chahte hain kuch alag hatake yahi karan hai ki bollywood me jo Biopic kehlate hain unke badle me achanak phir ab dekhte hain ki yah jiju bway pic hai inko bhi bahut safalta hi nahi kisi ki M S dhoni di untold story hai ya milkha Singh ke jeevan par aadharit bhag milkha bhag hoon abhi haal hi me tanaji par jo film bani thi vaah ki bahut hi safal rahi un logo ki ek ruchi us disha me aati aur is karan se achanak se kharab bollywood jante hain bhed chaal hai usme jo cheez chalne lagti hai uske peeche peeche bhagne lagte hain vaah nirantar aur us karan se achi baat yah hai ki naye log jeevan sangharshon se hamara parichay ho raha hai aur ek preranadayak filme ban rahi hain

आपका प्रश्न ऐसा क्यों है कि अब बॉलीवुड में बायोलॉजी पिक फिल्में बनाने में अचानक वृद्धि क्य

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  154
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!