ट्रम्प अपने बयानों को बदलते रहते हैं। क्या वह एक विश्वसनीय नेता हैं?...


user

Ashok Bajpai

Rtd. Additional Collector P.C.S. Adhikari

1:55
Play

Likes  191  Dislikes    views  3818
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जैसा कि मैं कहना चाहूंगा हम अपने बयानों को बदलते रहते क्या एक व्यक्ति पर बैठता है उसके ऊपर गद्दी पर बैठे बाद अनेक प्रकार की विचारधारा आती है और क्यों पर अनेक लोगों की जिम्मेदारी आ गई है जिसके कारण जनता को कैसे किस तरीके से साफ सुथरा रखने की जिम्मेदारी रहती है वाला भोजपुरी सेक्सी और काम को प्रधान बनने वाला व्यक्ति कौन है

jaisa ki main kehna chahunga hum apne bayanon ko badalte rehte kya ek vyakti par baithta hai uske upar gaddi par baithe baad anek prakar ki vichardhara aati hai aur kyon par anek logo ki jimmedari aa gayi hai jiske karan janta ko kaise kis tarike se saaf suthara rakhne ki jimmedari rehti hai vala bhojpuri sexy aur kaam ko pradhan banne vala vyakti kaun hai

जैसा कि मैं कहना चाहूंगा हम अपने बयानों को बदलते रहते क्या एक व्यक्ति पर बैठता है उसके ऊपर

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  143
WhatsApp_icon
play
user

Ravi Sharma

Advocate

2:00

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे प्रारंभ से ही अज्ञान है कि ट्रंप अपने विवादित बयानों के कारण सुर्खियों में बने रहते हैं तथा जिस प्रकार की उनकी कार्यशैली है वह बहुत बड़े व्यवसाई तो हो सकते हैं परंतु एक विश्वसनीय नेता नहीं हो सकते उन्होंने जनाधार कमाया अपनी आक्रामक राजनीति के बलबूते पर परंतु आज के समय में ऐसे मुहाने पर खड़े हैं जहां एक तरफ कुआं है तथा एक तरफ खाई है वह चाहते हैं कि पाकिस्तान के साथ अपने रिश्ते मजबूत करें साथ ही साथ और भारत के साथ BF सगे भाई की तरह व्यवहार करते हैं कभी पूरा पाकिस्तान के ऊपर आर्थिक परेशानी प्रतिबंध लगाते हैं कभी उसे दोबारा से आर्थिक फंडिंग करते हैं यह सब इन चीजों को दर्शाती है कि ट्रंप एक विश्वसनीय नेता हो नेता जो उदाहरण था वह प्रस्तुत नहीं कर पा रहे हैं तथा अंतर्राष्ट्रीय मंच पर विशेष कर यूरोपियन यूनियन देशों में उनको एक अच्छा तथा एक विश्वसनीय नेता का पर

mujhe prarambh se hi agyan hai ki trump apne vivaadit bayanon ke karan surkhiyon mein bane rehte hain tatha jis prakar ki unki karyashaili hai vaah bahut bade vyavasai toh ho sakte hain parantu ek viswasniya neta nahi ho sakte unhone janadhar kamaya apni aakraman raajneeti ke balbute par parantu aaj ke samay mein aise muhane par khade hain jaha ek taraf kuan hai tatha ek taraf khai hai vaah chahte hain ki pakistan ke saath apne rishte majboot kare saath hi saath aur bharat ke saath BF sage bhai ki tarah vyavhar karte hain kabhi pura pakistan ke upar aarthik pareshani pratibandh lagate hain kabhi use dobara se aarthik funding karte hain yah sab in chijon ko darshatee hai ki trump ek viswasniya neta ho neta jo udaharan tha vaah prastut nahi kar paa rahe hain tatha antarrashtriya manch par vishesh kar european union deshon mein unko ek accha tatha ek viswasniya neta ka par

मुझे प्रारंभ से ही अज्ञान है कि ट्रंप अपने विवादित बयानों के कारण सुर्खियों में बने रहते ह

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  171
WhatsApp_icon
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जिस देश के राष्ट्रपति हैं अमरीका अमरीका का हमेशा से ही एक बुजुर्ग जो रहा है वह एक सफल व्यापारी करा है जैसी व्यापारी होता है उसका कोई ना अपना होता है ना कोई पराया होता है उसका तो स्वयं ही एकमात्र उद्देश्य होता है वही वही अमेरिका के सिद्धांत है और वही उनके राष्ट्रपति ट्रंप के सिद्धांत है अब तक के सिद्धांतों को देखिए आप या अमेरिका के मूल सिद्धांतों को दी कि अमीर का ऊपरी मन से तो पाकिस्तान को यह कहता है कि आप आतंकवादियों को रोकिए और दूसरी तरफ पाकिस्तान को सपोर्ट करता था अभी का नहीं कभी नहीं चाहता कि भारत इस गति से विकास करें भारत एशिया में 11 महा शक्ति के रूप में उभर कर आए इसलिए वह पाकिस्तान को सहायता करता रहता है पाकिस्तान कितने पीछे से पर्दे के पीछे से साहित्य की युद्ध में भी भारतीय जब भारत और पाकिस्तान की युद्ध हुए तब भी अमेरिका ने हमेशा पाकिस्तान का सपोर्ट किया तो इस प्रकार से ही तो परियों परियों के स्वभाव में ही है देख अभी एक बात पर स्थिर नहीं रहते वे तो उस बात को करते हैं जिससे उनको लाभ हो रहा हूं उनको और उनके देश को लाभ हो रहा हूं वही उनका यही उनका सिद्धांत है यही उनके विचार है हां बूम महा शक्ति के रूप में दबाव से डालते हैं कि अमरीका वालों का एक वह है पिछले युद्ध में मुझे याद है पाकिस्तान से जब यह दुआ तो तो अमेरिका ने भारत पर दबाव बनाया था उस समय केवल हमारे पारंपरिक मित्र रूस नहीं हमारी सहायता की थी रूस और इजराइल हमारे वफादार मित्र हैं

jis desh ke rashtrapati hain america america ka hamesha se hi ek bujurg jo raha hai vaah ek safal vyapaari kara hai jaisi vyapaari hota hai uska koi na apna hota hai na koi paraaya hota hai uska toh swayam hi ekmatra uddeshya hota hai wahi wahi america ke siddhant hai aur wahi unke rashtrapati trump ke siddhant hai ab tak ke siddhanto ko dekhiye aap ya america ke mul siddhanto ko di ki amir ka upari man se toh pakistan ko yah kahata hai ki aap aatankwadion ko rokiye aur dusri taraf pakistan ko support karta tha abhi ka nahi kabhi nahi chahta ki bharat is gati se vikas kare bharat asia mein 11 maha shakti ke roop mein ubhar kar aaye isliye vaah pakistan ko sahayta karta rehta hai pakistan kitne peeche se parde ke peeche se sahitya ki yudh mein bhi bharatiya jab bharat aur pakistan ki yudh hue tab bhi america ne hamesha pakistan ka support kiya toh is prakar se hi toh pariyon pariyon ke swabhav mein hi hai dekh abhi ek baat par sthir nahi rehte ve toh us baat ko karte hain jisse unko labh ho raha hoon unko aur unke desh ko labh ho raha hoon wahi unka yahi unka siddhant hai yahi unke vichar hai haan boom maha shakti ke roop mein dabaav se daalte hain ki america walon ka ek vaah hai pichle yudh mein mujhe yaad hai pakistan se jab yah dua toh toh america ne bharat par dabaav banaya tha us samay keval hamare paramparik mitra rus nahi hamari sahayta ki thi rus aur israel hamare vafaadar mitra hain

जिस देश के राष्ट्रपति हैं अमरीका अमरीका का हमेशा से ही एक बुजुर्ग जो रहा है वह एक सफल व्या

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  374
WhatsApp_icon
user

Abhay Pratap

Advocate | Social Welfare Activist

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जिस राष्ट्र की महिमा पूरे विश्व में फैली हो उसके राष्ट्रीय अध्यक्ष की बातों में विश्वसनीयता ना होना या होना दोनों ही जरूरतों के हिसाब से बदल सकते हैं और ट्रक जैसे महान लोग इसमें चतुर और ज्ञानी

jis rashtra ki mahima poore vishwa mein faili ho uske rashtriya adhyaksh ki baaton mein visvasaniyata na hona ya hona dono hi jaruraton ke hisab se badal sakte hain aur truck jaise mahaan log isme chatur aur gyani

जिस राष्ट्र की महिमा पूरे विश्व में फैली हो उसके राष्ट्रीय अध्यक्ष की बातों में विश्वसनीयत

Romanized Version
Likes  102  Dislikes    views  1107
WhatsApp_icon
user

Vatsal

Engineering Student

1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब से लोरेन ट्रंप वहां के राष्ट्रपति बने हैं अमेरिका के तब से वह विवादों का सामना करते हैं हर बात पर उनकी विभाग रहते हैं चुनाव से पहले भी ज्यादातर लोगों का सर्वे वगैरह नहीं मानना था कि रिप्लाई देंगे लेकिन नहीं हो पाया आज के समय में आप परिस्थितियां जितने भी ऑनलाइन सोशल मीडिया पर भारी विरोध का सामना होता है या अन्य धर्म का विरोध करते हैं तू इस बात में कोई दो राय नहीं है कि अभी तक के कार्यकाल के दौरान ओबामा से बहुत हद तक सर्वश्रेष्ठ थे और आगे पता लगेगा कि और

jab se loren trump wahan ke rashtrapati bane hai america ke tab se vaah vivadon ka samana karte hai har baat par unki vibhag rehte hai chunav se pehle bhi jyadatar logo ka survey vagera nahi manana tha ki reply denge lekin nahi ho paya aaj ke samay mein aap paristhiyaann jitne bhi online social media par bhari virodh ka samana hota hai ya anya dharm ka virodh karte hai tu is baat mein koi do rai nahi hai ki abhi tak ke karyakal ke dauran obama se bahut had tak sarvashreshtha the aur aage pata lagega ki aur

जब से लोरेन ट्रंप वहां के राष्ट्रपति बने हैं अमेरिका के तब से वह विवादों का सामना करते हैं

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  17
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!