क्या किसी रिश्ते में धर्म का बदला जाना सही है या किसी को अपने धर्म का ही रहना चाहिए?...


user
2:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह दो लोगों की आपसी सहमति पर निर्भर है कि वह 2 लोग किस प्रकार रहना चाहते हैं अगर दोनों के रिश्ते में धर्म का कोई मायने नहीं है जो अन्य वचन ध्यान जो होता है वह ऐसी कोई ऑडिशन नहीं है वशिष्ठ लोगों ने बनाई है वह इसका कारण यह है कि धर्म जो है वास्तव में संस्कृति जैसे अगर बोलोगे कि संस्कृति में रह सकते हैं तो ज्यादा अच्छा है अब दोनों के अलग अलग संस्कृति में रहेंगे तो अलग अलग संस्कृति के लोग जुड़ जाएंगे रिश्ता तो बना लेंगे लेकिन रहने का तरीका अलग होगा तो उसे कठिनाई आती है जैसे एक लोग हैं वह कुछ और खाते हैं खाना पीना उनका अलग है और 1 लोग हैं उनका खाना पीना लगे तो अगर वह एक साथ रहेंगे तो क्या होगा एक को चाहिए मसलन एक नॉनवेज चाहिए को चाहिए तो क्या होगा दूसरे खाने बनेंगे तो अलग अलग से किस धर्म से की संस्कृति से धर्म से कोने में नहीं कहूंगा तो संस्कृति से अगर इस तरीके से जुड़े होंगे तो दोनों चीजों के लिए व्यापक करेंगे और जरूरी नहीं है कि किसी भी धर्म विशेष का कोई है उसके लिए भी होती है लेकिन अगर सामान्य रूप से मैं बता रहा हूं और तुम जो बात है उसके अनुसार तुम लोग क्या करेंगे वह अपना खर्चा बचा सकते हैं और एक तरह से रह सकते हैं तो यह सोच विचार का फर्क होता है जो हमारी संस्कृति के अंदर रहने के कारण हमने आ ही जाता है इसलिए कहा जाता है कि हमें धर्म परिवर्तन नहीं करना चाहिए भी अपनी धर्म में शादी करो या अपने धर्म में ही रिश्तेदार नाते बनाए रखो क्योंकि होती है भगवान को मारने का तरीका ढेर सारी आते और अगर भाई नहीं आते तो आता नहीं लगती अच्छा लगता है तो बस यही कारण है वैसे बाकी जो है डिपेंड करता है आप लोगों परम धर्म बदलना कोई जरूरी नहीं है जरूरी नहीं है बदल सकते हैं आप अपनी सुविधानुसार और कोई जरूरी नहीं है बॉउंडेशन

yah do logo ki aapasi sahmati par nirbhar hai ki vaah 2 log kis prakar rehna chahte hain agar dono ke rishte me dharm ka koi maayne nahi hai jo anya vachan dhyan jo hota hai vaah aisi koi audition nahi hai vashistha logo ne banai hai vaah iska karan yah hai ki dharm jo hai vaastav me sanskriti jaise agar bologe ki sanskriti me reh sakte hain toh zyada accha hai ab dono ke alag alag sanskriti me rahenge toh alag alag sanskriti ke log jud jaenge rishta toh bana lenge lekin rehne ka tarika alag hoga toh use kathinai aati hai jaise ek log hain vaah kuch aur khate hain khana peena unka alag hai aur 1 log hain unka khana peena lage toh agar vaah ek saath rahenge toh kya hoga ek ko chahiye maslan ek nonveg chahiye ko chahiye toh kya hoga dusre khane banenge toh alag alag se kis dharm se ki sanskriti se dharm se kone me nahi kahunga toh sanskriti se agar is tarike se jude honge toh dono chijon ke liye vyapak karenge aur zaroori nahi hai ki kisi bhi dharm vishesh ka koi hai uske liye bhi hoti hai lekin agar samanya roop se main bata raha hoon aur tum jo baat hai uske anusaar tum log kya karenge vaah apna kharcha bacha sakte hain aur ek tarah se reh sakte hain toh yah soch vichar ka fark hota hai jo hamari sanskriti ke andar rehne ke karan humne aa hi jata hai isliye kaha jata hai ki hamein dharm parivartan nahi karna chahiye bhi apni dharm me shaadi karo ya apne dharm me hi rishtedar naate banaye rakho kyonki hoti hai bhagwan ko maarne ka tarika dher saari aate aur agar bhai nahi aate toh aata nahi lagti accha lagta hai toh bus yahi karan hai waise baki jo hai depend karta hai aap logo param dharm badalna koi zaroori nahi hai zaroori nahi hai badal sakte hain aap apni suvidhanusar aur koi zaroori nahi hai baundeshan

यह दो लोगों की आपसी सहमति पर निर्भर है कि वह 2 लोग किस प्रकार रहना चाहते हैं अगर दोनों के

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  136
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!