क्या खाना खाने के बीच में पानी नहीं पीना चाहिए? ऐसा करने से क्या होता है?...


user
0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां जरूर हमें भोजन के बीच बीच में पानी नहीं पीना चाहिए ऐसा करने से हमारा पाचन तंत्र है वह प्रभावित होता है हमारी आदमी है वह मंद पड़ जाती है अगर विशेष परिस्थितियों में थोड़ा बहुत पानी अगर दो-चार घूंट पानी पीना पड़ता है तो मैं गर्म पानी पीना चाहिए

haan zaroor hamein bhojan ke beech beech me paani nahi peena chahiye aisa karne se hamara pachan tantra hai vaah prabhavit hota hai hamari aadmi hai vaah mand pad jaati hai agar vishesh paristhitiyon me thoda bahut paani agar do char ghunt paani peena padta hai toh main garam paani peena chahiye

हां जरूर हमें भोजन के बीच बीच में पानी नहीं पीना चाहिए ऐसा करने से हमारा पाचन तंत्र है वह

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  166
WhatsApp_icon
14 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी अगर आप खाना खा रहे हैं उसके बीच अगर पानी पीते हैं तो हमारे खाने के साथ जो डाइजेशन ऑरेंज जूस रहता है वह पानी मिलने के बाद दुआ जूस वहां से निकल जाता है और खाना पूरा हजम नहीं हो पाता है तो कृपया खाने के बाद ही पानी का सेवन कीजिए जिससे आपका पेट और शरीर अच्छा रहेगा और खाना भी सही ढंग से हजम हो पाएगा धन्यवाद

ji agar aap khana kha rahe hain uske beech agar paani peete hain toh hamare khane ke saath jo digestion orange juice rehta hai vaah paani milne ke baad dua juice wahan se nikal jata hai aur khana pura hajam nahi ho pata hai toh kripya khane ke baad hi paani ka seven kijiye jisse aapka pet aur sharir accha rahega aur khana bhi sahi dhang se hajam ho payega dhanyavad

जी अगर आप खाना खा रहे हैं उसके बीच अगर पानी पीते हैं तो हमारे खाने के साथ जो डाइजेशन ऑरेंज

Romanized Version
Likes  52  Dislikes    views  1105
WhatsApp_icon
user

Pratima Tripathi

Yog Guru & Beauty Expert.

0:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

खाना खाते समय में पानी नहीं पीना चाहिए कि पहला तो है कि जब हम खाना खाते हैं उससे बातें तो पानी पीते पानी पीते समय मारी जो नासिका से श्वास लेते हो छोटे कंठ पर दो चलती है तो उसमें से जब खाना हमारा हमारा आहार नली पर जाता था जब पानी पी लेते हैं तो पहली बात तो हार मिली से हमारा पानी पानी जैसी दूसरी तरफ जाती है तुम्हारा खाना सीधे पर जाने के बाद रचने की क्रिया चाय पानी पीने के बाद वह खाना कैसे पचता है इसलिए खाना खाते समय पानी पीना चाहिए याद रखिया खाने के आधे घंटे बाद अगर पानी पीते हैं तो आपका योगिनी सिस्टम और डाइजेशन बहुत बेस्ट रहेगा

khana khate samay me paani nahi peena chahiye ki pehla toh hai ki jab hum khana khate hain usse batein toh paani peete paani peete samay mari jo nasika se swas lete ho chote kanth par do chalti hai toh usme se jab khana hamara hamara aahaar nali par jata tha jab paani p lete hain toh pehli baat toh haar mili se hamara paani paani jaisi dusri taraf jaati hai tumhara khana sidhe par jaane ke baad rachne ki kriya chai paani peene ke baad vaah khana kaise pachta hai isliye khana khate samay paani peena chahiye yaad rakhiya khane ke aadhe ghante baad agar paani peete hain toh aapka yogini system aur digestion bahut best rahega

खाना खाते समय में पानी नहीं पीना चाहिए कि पहला तो है कि जब हम खाना खाते हैं उससे बातें तो

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  97
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Gyan Ranjan Maharaj

Founder & Director - Kashyap Yogpith

1:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

90 क्वेश्चन नहीं क्या खाना खाने के बीच में पानी नहीं पीना चाहिए देखिए खाना खाने के बीच में पानी तो नहीं पीना चाहिए लेकिन अगर खाना खाने में दिक्कत चल रही है निकलने में तो बाबू गर्म पानी को एक-एक ₹4 में ले सकते हैं और आप खाना खाने के साथ-साथ बीच पानी आप ले रहे ज्यादा मात्रा में कोई गैस का गैस की समस्या आपको बन रही है पेट संबंधी समस्या भी हो सकती आप इसलिए ऐसा नहीं करना है बीच-बीच में एकता नहीं है खाना खाने के बीच की सफाई नहीं लेना लेना लेना भी चाहते हैं तो बहुत ज्यादा मात्रा में नहीं ले सकते लेकिन ना लें तो अच्छा है ऐसे में जनरल सुभानते खाना खाने के घंटे के बाद आप अगर नॉर्मल पानी अगर मान लेते तो फायदा करेगा इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा धन्यवाद

90 question nahi kya khana khane ke beech mein paani nahi peena chahiye dekhiye khana khane ke beech mein paani toh nahi peena chahiye lekin agar khana khane mein dikkat chal rahi hai nikalne mein toh babu garam paani ko ek ek Rs mein le sakte hain aur aap khana khane ke saath saath beech paani aap le rahe zyada matra mein koi gas ka gas ki samasya aapko ban rahi hai pet sambandhi samasya bhi ho sakti aap isliye aisa nahi karna hai beech beech mein ekta nahi hai khana khane ke beech ki safaai nahi lena lena lena bhi chahte hain toh bahut zyada matra mein nahi le sakte lekin na le toh accha hai aise mein general subhanate khana khane ke ghante ke baad aap agar normal paani agar maan lete toh fayda karega isse koi fark nahi padega dhanyavad

90 क्वेश्चन नहीं क्या खाना खाने के बीच में पानी नहीं पीना चाहिए देखिए खाना खाने के बीच में

Romanized Version
Likes  28  Dislikes    views  949
WhatsApp_icon
user

Akash Mishra

Yoga Expert | Author | Naturopathist | Acupressure Specialist |

1:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अब कुछ नहीं क्या खाना खाने के बीच में पानी नहीं पीना चाहिए और ऐसा करने से क्या होता है खाना खाने के बीच में पानी कुल यदि आपको किसी ऐसे प्रकार के भोजन का सेवन करने से काफी सुस्त है अभी सुखा हुआ है कड़ा है तब आपको भोजन का सेवन नहीं करना चाहिए बाकी यदि आप भोजन कर रहे हैं ऐसा भोजन है जो आसानी से जा रहा है आपके इसोफागस और वह कल क्या बेटी के अंदर उसे नीचे हमसे जा रहा है तो आपको इतना ज्यादा जो है पानी पीने की आवश्यकता नहीं है तो आप अपने भोजन के साथ आधा गिलास पानी रखें और जब आवश्यकता हो तो तुमसे पैसे आएंगे ऐसा करने से क्या होता है लेकिन यदि भोजन के बीच में पानी पिएंगे जब हम भोजन करते हैं तो विभिन्न प्रकार के ऐसे ऐसे करके हम भोजन के बीच में पानी पीते रहेंगे हो जाएंगे भोजन नहीं करना चाहिए धन्यवाद

ab kuch nahi kya khana khane ke beech mein paani nahi peena chahiye aur aisa karne se kya hota hai khana khane ke beech mein paani kul yadi aapko kisi aise prakar ke bhojan ka seven karne se kaafi sust hai abhi sukha hua hai kada hai tab aapko bhojan ka seven nahi karna chahiye baki yadi aap bhojan kar rahe hain aisa bhojan hai jo aasani se ja raha hai aapke isofagas aur vaah kal kya beti ke andar use niche humse ja raha hai toh aapko itna zyada jo hai paani peene ki avashyakta nahi hai toh aap apne bhojan ke saath aadha gilas paani rakhen aur jab avashyakta ho toh tumse paise aayenge aisa karne se kya hota hai lekin yadi bhojan ke beech mein paani piyenge jab hum bhojan karte hain toh vibhinn prakar ke aise aise karke hum bhojan ke beech mein paani peete rahenge ho jaenge bhojan nahi karna chahiye dhanyavad

अब कुछ नहीं क्या खाना खाने के बीच में पानी नहीं पीना चाहिए और ऐसा करने से क्या होता है खान

Romanized Version
Likes  175  Dislikes    views  1929
WhatsApp_icon
play
user

Narendar Gupta

प्राकृतिक योगाथैरिपिस्ट एवं योगा शिक्षक,फीजीयोथैरीपिस्ट

1:24

Likes  116  Dislikes    views  1029
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Amit Agrawal Rishiyog

Yoga Acupressure Expert

1:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका पर्स में क्या खाना खाने के बीच में पानी नहीं पीना चाहिए और ऐसा करने से क्या होता है कि खाना खाने के बीच में पानी नहीं पीना चाहिए अगर आपको जरूरत होती है तो एक एक घूंट पानी का सेवन किया जाता है अगर आपको उसी स्थिति में गले में रुकावट महसूस हो रही है लेकिन ऐसा नहीं है कि पानी आपको पेट भर गया पानी ज्यादा मात्रा में पी सकते हैं उससे आपके पाचन क्रिया को नुकसान होता है ऐसा करने से क्या होता है की पाचन क्रिया को आपको नुकसान होता है जो भी इंटेस्टाइनल पार्ट में जो भी आपको खाने के बचाने के लिए जूसिस्ट सिगरेट होते हैं वह डायलॉग फॉर में हो जाते हैं उससे आपका खलनायक की पाचन प्रक्रिया बिगड़ जाती है और आपका कॉन्स्टिपेशन गैस्ट्राइटिस एससीवीटी ऐसी समस्याएं लंबे समय के बाद यह लंबे समय तक बनी रहती है इसलिए कोशिश करिए खाने के साथ दो-चार घूंट पानी बस बीच में लिया जा सकता है खाने खाने के कम से कम डेढ़ घंटे बाद खूब पानी पी सकते हैं

aapka purse mein kya khana khane ke beech mein paani nahi peena chahiye aur aisa karne se kya hota hai ki khana khane ke beech mein paani nahi peena chahiye agar aapko zarurat hoti hai toh ek ek ghunt paani ka seven kiya jata hai agar aapko usi sthiti mein gale mein rukavat mehsus ho rahi hai lekin aisa nahi hai ki paani aapko pet bhar gaya paani zyada matra mein p sakte hain usse aapke pachan kriya ko nuksan hota hai aisa karne se kya hota hai ki pachan kriya ko aapko nuksan hota hai jo bhi intestainal part mein jo bhi aapko khane ke bachane ke liye jusist cigarette hote hain vaah dialogue for mein ho jaate hain usse aapka khalnayak ki pachan prakriya bigad jaati hai aur aapka constipation Gastritis SCVT aisi samasyaen lambe samay ke baad yah lambe samay tak bani rehti hai isliye koshish kariye khane ke saath do char ghunt paani bus beech mein liya ja sakta hai khane khane ke kam se kam dedh ghante baad khoob paani p sakte hain

आपका पर्स में क्या खाना खाने के बीच में पानी नहीं पीना चाहिए और ऐसा करने से क्या होता है क

Romanized Version
Likes  368  Dislikes    views  4786
WhatsApp_icon
user

Radha Mohan

Yoga & Naturopathy Expert

4:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों कैसे हैं क्या खाना खाने के बीच में पानी नहीं पीना चाहिए ऐसा करने से क्या होता है दोस्तों यदि आप खाना खाने के बीच में पानी का सेवन करते हैं तो इस टाइप की इनडाइजेशन की प्रॉब्लम हो सकती है आपका जो डाइजेशन सिस्टम खराब हो सकता है खाना पचाने की जो हमारी कैपेसिटी है जिसे हम आयुर्वेद के अनुसार जठराग्नि कहते हैं जब अग्नि प्रदीप्त होती है बढ़ती है कोई हमारा दिल्ली से समाचार बना रहता है खाने को पचाने की हमारी अच्छी तरह से क्षमता बढ़ जाती है लेकिन जब जठराग्नि मंद पड़ जाती है कमजोर हो जाती है तो फिर हमारे आने का सही तरह से पहचान नहीं हो पाता और जवाब बीच-बीच में खाने का बीच में पानी का सेवन करते हैं तो इस नंबर से जठराग्नि मंद पड़ जाती है कमजोर हो जाती है और इसके कारण हमारे खाने का पाचन नहीं होता है इसे दोस्तों आपको एक उदाहरण के माध्यम से भी समझ सकते हैं कि क्यों नहीं हमें खाना खाने के बीच में पानी पीना चाहिए उसका प्रोग्राम राइस लीजिए और उसमें लगभग 2 लीटर वाले पतीले में आप उसको डालकर उस पर 1 लीटर पानी मिलाकर आप उसको कॉल करिए आप कितनी देर तक गोयल करेंगे आप बोल करते रहिए करते रहे लेकिन आपका पानी तो खोलता रहेगा लेकिन कभी भी नहीं सकेंगे एक रीजन है दोस्तों दोनों का एक अनुपात निश्चित मात्रा में होना आवश्यक है क्योंकि यहां पर पानी की मात्रा ज्यादा हो गई है और जो चावल है वह कम रह गए हैं उनका अनुपात जब दोस्तों गड़बड़ आएगा तो फिर आप कितना भी बॉईल कीजिए पानी चोर भले ही उबलता रहेगा चलता रहेगा परंतु चावल कभी भी नहीं सकेंगे तो सेम यही विज्ञान हमारे डाइजेशन सिस्टम में काम करता है जिसका पहला रीज़न तो मैंने बताया कि जब भी आप बीच में पानी का सेवन करते हैं तो आपकी जो जठराग्नि है वह मंद पड़ जाती है जो मेटाबॉलिज्म रेट है वह लो हो जाती है जिसकी वजह से आपका इनडाइजेशन की प्रॉब्लम होने लगती है दूसरा कारण यह है कि जवाब बीच में पानी पीते हैं तो वह एक्सेस मात्रा में आपके स्टमक में पहुंच जाता है क्योंकि जब भी हम भोजन करते हैं तो प्राकृतिक रूप से उस खाने को पचाने के लिए जो पानी होना चाहिए वह ऑलरेडी भोजन में होता है और जब हम पानी का बिजनेस में सेवन करते हैं तो एक्सेस हो जाता है और एक्सेस पानी हमारे स्टमक में होना इसका मतलब यह है कि इन डाइजेशन के प्रोग्राम जैसा कि हमने अभी बात करी एग्जांपल पर जगह चावल और पानी को जवाब मिला तो पानी एक्सेस हो गया तो चावल का उभरना कम हो गया या फिर बिल्कुल भी नहीं मिले तो सेम यही साइंस हमारे आज तक में काम करती है जब हम खाना खाते हैं और बीच में पानी पीने लगते हैं तो बिल्कुल भी पानी पीना नहीं चाहिए बीच-बीच में इसके लिए एक और बात आपको से ध्यान रखनी चाहिए अभी खाना खाने के पहले आपको पानी पीना है तो फिर वह लगभग 1 घंटे पहले ही पानी किया और खाना खाने के बीच में तो आप बिल्कुल भी नहीं किया 1 फेस में पानी पी सकते हैं या जब आपके कोई निवाला आपका गले में अटक जाता है तो उसको जस्ट गले से नीचे उतारने के लिए एक-एक करके पानी पिया जा सकता है एक घूंट के लिए परंतु ज्यादा पानी आपको नहीं पीना है जैसा मैंने कहा इस तरह के नुकसान आपको होंगे और भोजन करने के बाद भी यदि आप पानी पिए तो फिर लगभग 1 घंटे बाद पानी का सेवन करें और वह भी हल्के गुनगुने पानी का सेवन करें जब आप ऐसा करते हैं तो आपको जो डाइजेशन सिस्टम में बहुत अच्छी तरह से काम करता है लीवर द्वारा जूही पाचक रसों का भोजन किया जाता है वह भोजन पर बहुत ही अच्छे से काम करता है और जब पानी का आदि का सेवन करते हैं तो जो वाचक रहते वह भी ज्यादा काम नहीं कर पाते हैं ऐसे लिख माता बनने लगती है ऐसे गैस्ट्रिक प्रॉब्लम हो जाती है और पोस्टर शारीरिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है भोजन आपको नहीं पता है तो फिर टॉक्सिंस के रूप में आपके स्टमक में जम जाता है फिर जो इंटेस्टाइन वाला जो हो रही है वहां पर ही टॉकिंग जमने लगता है और भी आने की परेशानी का सामना करना पड़ सकता है तो एक निष्कर्ष के रूप में भी हम बात करें तो आपको खाना खाने के पहले यदि पानी पीना है तो आप 1 घंटे पहले पानी पीजिए खाना खाने के बीच में को पानी नहीं पीना है और खाना खाने के लास्ट में आप पानी पिए हैं तो फिर 1 घंटे बाद पानी पीने से शरीर के लिए बहुत अच्छा है आपके लिए बहुत ही अच्छा हुआ करता है एक दवाई की तरह काम करता है और इससे आपकी डाइजेशन बहुत ही अच्छा बना रहता ही नहीं बन पाती धन्यवाद

namaskar doston kaise hai kya khana khane ke beech mein paani nahi peena chahiye aisa karne se kya hota hai doston yadi aap khana khane ke beech mein paani ka seven karte hai toh is type ki inadaijeshan ki problem ho sakti hai aapka jo digestion system kharab ho sakta hai khana pachane ki jo hamari capacity hai jise hum ayurveda ke anusaar jathragni kehte hai jab agni pradipta hoti hai badhti hai koi hamara delhi se samachar bana rehta hai khane ko pachane ki hamari achi tarah se kshamta badh jaati hai lekin jab jathragni mand pad jaati hai kamjor ho jaati hai toh phir hamare aane ka sahi tarah se pehchaan nahi ho pata aur jawab beech beech mein khane ka beech mein paani ka seven karte hai toh is number se jathragni mand pad jaati hai kamjor ho jaati hai aur iske karan hamare khane ka pachan nahi hota hai ise doston aapko ek udaharan ke madhyam se bhi samajh sakte hai ki kyon nahi hamein khana khane ke beech mein paani peena chahiye uska program rice lijiye aur usme lagbhag 2 litre waale patile mein aap usko dalkar us par 1 litre paani milakar aap usko call kariye aap kitni der tak goyal karenge aap bol karte rahiye karte rahe lekin aapka paani toh kholta rahega lekin kabhi bhi nahi sakenge ek reason hai doston dono ka ek anupat nishchit matra mein hona aavashyak hai kyonki yahan par paani ki matra zyada ho gayi hai aur jo chawal hai vaah kam reh gaye hai unka anupat jab doston gadbad aayega toh phir aap kitna bhi bail kijiye paani chor bhale hi ubalta rahega chalta rahega parantu chawal kabhi bhi nahi sakenge toh same yahi vigyan hamare digestion system mein kaam karta hai jiska pehla region toh maine bataya ki jab bhi aap beech mein paani ka seven karte hai toh aapki jo jathragni hai vaah mand pad jaati hai jo metabolism rate hai vaah lo ho jaati hai jiski wajah se aapka inadaijeshan ki problem hone lagti hai doosra karan yah hai ki jawab beech mein paani peete hai toh vaah access matra mein aapke stomach mein pohch jata hai kyonki jab bhi hum bhojan karte hai toh prakirtik roop se us khane ko pachane ke liye jo paani hona chahiye vaah already bhojan mein hota hai aur jab hum paani ka business mein seven karte hai toh access ho jata hai aur access paani hamare stomach mein hona iska matlab yah hai ki in digestion ke program jaisa ki humne abhi baat kari example par jagah chawal aur paani ko jawab mila toh paani access ho gaya toh chawal ka ubharana kam ho gaya ya phir bilkul bhi nahi mile toh same yahi science hamare aaj tak mein kaam karti hai jab hum khana khate hai aur beech mein paani peene lagte hai toh bilkul bhi paani peena nahi chahiye beech beech mein iske liye ek aur baat aapko se dhyan rakhni chahiye abhi khana khane ke pehle aapko paani peena hai toh phir vaah lagbhag 1 ghante pehle hi paani kiya aur khana khane ke beech mein toh aap bilkul bhi nahi kiya 1 face mein paani p sakte hai ya jab aapke koi nivala aapka gale mein atak jata hai toh usko just gale se niche utarane ke liye ek ek karke paani piya ja sakta hai ek ghunt ke liye parantu zyada paani aapko nahi peena hai jaisa maine kaha is tarah ke nuksan aapko honge aur bhojan karne ke baad bhi yadi aap paani piye toh phir lagbhag 1 ghante baad paani ka seven kare aur vaah bhi halke gungune paani ka seven kare jab aap aisa karte hai toh aapko jo digestion system mein bahut achi tarah se kaam karta hai liver dwara juhi paachak rason ka bhojan kiya jata hai vaah bhojan par bahut hi acche se kaam karta hai aur jab paani ka aadi ka seven karte hai toh jo vachak rehte vaah bhi zyada kaam nahi kar paate hai aise likh mata banne lagti hai aise gastric problem ho jaati hai aur poster sharirik pareshaniyo ka samana karna padta hai bhojan aapko nahi pata hai toh phir taksins ke roop mein aapke stomach mein jam jata hai phir jo intestine vala jo ho rahi hai wahan par hi talking jamne lagta hai aur bhi aane ki pareshani ka samana karna pad sakta hai toh ek nishkarsh ke roop mein bhi hum baat kare toh aapko khana khane ke pehle yadi paani peena hai toh aap 1 ghante pehle paani PGA khana khane ke beech mein ko paani nahi peena hai aur khana khane ke last mein aap paani piye hai toh phir 1 ghante baad paani peene se sharir ke liye bahut accha hai aapke liye bahut hi accha hua karta hai ek dawai ki tarah kaam karta hai aur isse aapki digestion bahut hi accha bana rehta hi nahi ban pati dhanyavad

नमस्कार दोस्तों कैसे हैं क्या खाना खाने के बीच में पानी नहीं पीना चाहिए ऐसा करने से क्या ह

Romanized Version
Likes  246  Dislikes    views  1911
WhatsApp_icon
play
user

Chitranjan kumar Singh

Yog Guru (God Gift Yoga &Nature Cure Centre)

1:48

Likes  32  Dislikes    views  271
WhatsApp_icon
user
1:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भोजन ग्रहण करते समय बिल्कुल पानी नहीं पीना चाहिए अगर आपके गले में अटकता है तो आप एक दो घूट ले सकते हैं एक या दो गिलास तीन गिलास ऐसा बिल्कुल ना करें क्योंकि इससे क्या होता है हमारे पेट के अंदर जितना भी भोजन पचता है वह सब पाचक रस से पता है हमारे पेट के अंदर कई प्रकार के इंजॉय होते हैं जो हमारे भोजन को पचाने में सहायक होते हैं तो जब हम ज्यादा पानी पिएंगे तो यह पतले हो जाएंगे पतले होने से फिर भोजन अच्छे ढंग से नहीं बच पाएगा इसलिए हमें खाने के बीच में बिल्कुल पानी नहीं लेना है जितना हमारे यह पात्र क्लास गाड़ी रहेंगे हमारा भोजन अच्छे ढंग से बचेगा और जब आप खाना खाने तो कम से कम आधा या 1 घंटे बाद फिर आप पानी पी सकते हैं आप अपने आप नेचुरल प्यास लगती है उसके बाद आप पानी पी सकते हैं एक गिलास दो जितनी भी आपको प्यास लगती है यह तरीका सबसे सही है आपके पेट के लिए आपके स्वास्थ्य के लिए

bhojan grahan karte samay bilkul paani nahi peena chahiye agar aapke gale me atakata hai toh aap ek do ghut le sakte hain ek ya do gilas teen gilas aisa bilkul na kare kyonki isse kya hota hai hamare pet ke andar jitna bhi bhojan pachta hai vaah sab paachak ras se pata hai hamare pet ke andar kai prakar ke enjoy hote hain jo hamare bhojan ko pachane me sahayak hote hain toh jab hum zyada paani piyenge toh yah patle ho jaenge patle hone se phir bhojan acche dhang se nahi bach payega isliye hamein khane ke beech me bilkul paani nahi lena hai jitna hamare yah patra class gaadi rahenge hamara bhojan acche dhang se bachega aur jab aap khana khane toh kam se kam aadha ya 1 ghante baad phir aap paani p sakte hain aap apne aap natural pyaas lagti hai uske baad aap paani p sakte hain ek gilas do jitni bhi aapko pyaas lagti hai yah tarika sabse sahi hai aapke pet ke liye aapke swasthya ke liye

भोजन ग्रहण करते समय बिल्कुल पानी नहीं पीना चाहिए अगर आपके गले में अटकता है तो आप एक दो घूट

Romanized Version
Likes  46  Dislikes    views  513
WhatsApp_icon
user

Bhawna

Student

1:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

खाना खाने का पानी नहीं पीना है तो थोड़ा ही पीते खाना खाने के बाद हमें कभी भी पानी नहीं पीना चाहिए क्योंकि जब हम खाना खाते हैं तो एक हमारे को अंदर से पेट में आग ही आग को बुझा दोगे पानी पीने से तो वो आपके शरीर में जो खाना खाया वह काम नहीं कर पाता तो आप जो भी खाना खाया था वह सारी मेहनत खराब हो जाती जो भी खाना खा होता है वह आपके शरीर में आकर नहीं करता क्योंकि खाना खाते हैं गरम गरम गरम पानी पी लो जो खाना खाया को बिल्कुल काम नहीं करता इसलिए आपके शरीर पर कुछ लागू नहीं पाता इसलिए कभी भी खाना खाने के बीच में या बाद में पानी नहीं पीना चाहिए अगर आपको पानी पीने की आदत है भी तो थोड़ा पीछे थोड़ा सा बिल्कुल ही थोड़ा ज्यादा नहीं और खाना खाने के बाद तो बिल्कुल भी नहीं पीना चाहिए वह खाना खाया कभी भी आसान नहीं होगा कुछ लगेगा और आपका शरीर भी ठीक नहीं रहेगा

khana khane ka paani nahi peena hai toh thoda hi peete khana khane ke baad hamein kabhi bhi paani nahi peena chahiye kyonki jab hum khana khate hain toh ek hamare ko andar se pet me aag hi aag ko bujha doge paani peene se toh vo aapke sharir me jo khana khaya vaah kaam nahi kar pata toh aap jo bhi khana khaya tha vaah saari mehnat kharab ho jaati jo bhi khana kha hota hai vaah aapke sharir me aakar nahi karta kyonki khana khate hain garam garam garam paani p lo jo khana khaya ko bilkul kaam nahi karta isliye aapke sharir par kuch laagu nahi pata isliye kabhi bhi khana khane ke beech me ya baad me paani nahi peena chahiye agar aapko paani peene ki aadat hai bhi toh thoda peeche thoda sa bilkul hi thoda zyada nahi aur khana khane ke baad toh bilkul bhi nahi peena chahiye vaah khana khaya kabhi bhi aasaan nahi hoga kuch lagega aur aapka sharir bhi theek nahi rahega

खाना खाने का पानी नहीं पीना है तो थोड़ा ही पीते खाना खाने के बाद हमें कभी भी पानी नहीं पीन

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  183
WhatsApp_icon
user
0:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है क्या खाना खाने के बीच में पानी नहीं पीना चाहिए ऐसा करने से क्या होता है हां मना भी किया गया कहा जाता है कि बेहतर है कि आप खाना खाने से पहले पानी पी ले ओ खाना खाने के आधे घंटे के बाद पानी पीजिए लेकिन लोग सभी चूजे को पानी पिक्चर आ जाए खाना खाते हैं पानी पीते हैं खाते रहते हैं अंदर कुछ खास नहीं है डिलीट हो जाए तो इसलिए बेहतर है कि आप बीच-बीच में पानी लाती है लेकिन कहा गया है कुछ तो खा सकते में कन्हैया किसी रीजन

aapka sawaal hai kya khana khane ke beech me paani nahi peena chahiye aisa karne se kya hota hai haan mana bhi kiya gaya kaha jata hai ki behtar hai ki aap khana khane se pehle paani p le O khana khane ke aadhe ghante ke baad paani PGA lekin log sabhi chuje ko paani picture aa jaaye khana khate hain paani peete hain khate rehte hain andar kuch khas nahi hai delete ho jaaye toh isliye behtar hai ki aap beech beech me paani lati hai lekin kaha gaya hai kuch toh kha sakte me kanhaiya kisi reason

आपका सवाल है क्या खाना खाने के बीच में पानी नहीं पीना चाहिए ऐसा करने से क्या होता है हां

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  441
WhatsApp_icon
user

Harishankar Sen

Rt.Person.

0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब भी भोजन करते हैं फूलों के बीच में कभी भी पानी पिया के पानी आता है तो आपकी पाचन क्रिया संकलित नहीं रहती क्यों गेम 5 अप्रैल के लिए पानी नहीं पीना चाहिए पूजन का समय

jab bhi bhojan karte hain fulo ke beech me kabhi bhi paani piya ke paani aata hai toh aapki pachan kriya sankalit nahi rehti kyon game 5 april ke liye paani nahi peena chahiye pujan ka samay

जब भी भोजन करते हैं फूलों के बीच में कभी भी पानी पिया के पानी आता है तो आपकी पाचन क्रिया स

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  150
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस समय जो बातें खाना खाने के साथ पानी की पर्सनल में है उसमें यह बताया जाता है कि खाना खाने के बीच में पानी पी सकते हैं परंतु खाना पूर्ण होने के बाद पानी नहीं पीना चाहिए 1 घंटे बाद 45 मिनट बाद खाना खाने के बाद पानी पीना चाहिए खाना खाना है खाना खाने के बाद में इसमें तुरंत बाद पानी पी उससे आपके स्वास्थ्य पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा इससे कोई फर्क नहीं पड़ता सर्वोत्तम राजस्थान पत्रिका में छपे एक लेख में निकला था जिसमें लोगों को खाना खाने के काफी देर बाद पानी पिलाया गया और ऐसे लोग जिन्होंने शिवानी दसवीं बारहवीं की

is samay jo batein khana khane ke saath paani ki personal me hai usme yah bataya jata hai ki khana khane ke beech me paani p sakte hain parantu khana purn hone ke baad paani nahi peena chahiye 1 ghante baad 45 minute baad khana khane ke baad paani peena chahiye khana khana hai khana khane ke baad me isme turant baad paani p usse aapke swasthya par koi prabhav nahi padega isse koi fark nahi padta sarvottam rajasthan patrika me chhape ek lekh me nikala tha jisme logo ko khana khane ke kaafi der baad paani pilaaya gaya aur aise log jinhone shivani dasavi baarvi ki

इस समय जो बातें खाना खाने के साथ पानी की पर्सनल में है उसमें यह बताया जाता है कि खाना खान

Romanized Version
Likes  38  Dislikes    views  520
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!