कई युवा अधिकारी IAS, IPS या IRS में इतने निराश क्यों हो जाते हैं कि वे उस सेवा से इस्तीफा दे देते हैं जो उन्हें इतनी मेहनत के बाद मिली थी?...


user

P Narahari (IAS)

IAS Officer-2001Batch-MP Cadre

1:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो युवा अधिकारी आईएएस आईपीएस एआईआरएस से इस्तीफा देते हैं ऐसे लोगों की तादाद बहुत कम है मैं समझता हूं कि यह एक परसेंट से भी बहुत नीचे हैं जो युवा आईएएस जैसे प्रीमीयर सर्विस में आते हैं निश्चित ही बहुत ही योगी होते हैं और कुछ करने की ललक के साथ में ऐसे सर्विसेस में आते हैं परंतु जो लोग सर्विस छोड़ कर जाते हैं वह या तो व्यवस्था में ही मर्डर नहीं पाते हैं या फिर उन्होंने सेवा भाव से ऐसे प्रशासनिक सेवा में जो आए हैं सेवा भाव छोड़कर कुछ और चीजें देखकर इस सर्विस में जो आए हैं वह एहसास करते हैं कि वह गलत सेवा में आए हैं या फिर गलत कह दिया जवाब में आए हैं ऐसे में वह निराश भोकर कुछ हद तक सेवा छोड़कर चले जाते हैं परंतु अधिकांश थाना अधिकारी युवा अधिकारी जो इस प्रशासनिक सेवा में आते हैं वह सर्विस में रहते हैं हमें यह समझना बहुत जरूरी है कि भारतीय प्रशासनिक सेवा भारतीय पुलिस सेवा जैसे सेवाएं यह सर्विस ओरिएंटेड है हमें सेवा करने के लिए बहुत अच्छा मौका देते हैं ऐसे में यह सेवाएं निश्चित ही बहुत ही उत्कृष्ट श्रेणी के हैं और कम उम्र में जिलों को संभालना तत्पश्चात शासन-प्रशासन के लिए पॉलिसी डिसीजन से लेना इसमें अत्यंत महत्वपूर्ण कार्य करते हैं ऐसे में निश्चित ही यह बहुत ही महत्वपूर्ण है और अधिक से अधिक युवा वर्ग को ऐसे सेवाओं में आना चाहिए काम करना चाहिए शुभकामनाएं

jo yuva adhikari IAS ips AIRS se istifa dete hain aise logo ki tadad bahut kam hai samajhata hoon ki yeh ek percent se bhi bahut niche hain jo yuva IAS jaise primiyar service mein aate hain nishchit hi bahut hi yogi hote hain aur kuch karne ki lalak ke saath mein aise services mein aate hain parantu jo log service chod kar jaate hain wah ya toh vyavastha mein hi murder nahi paate hain ya phir unhone seva bhav se aise prashasnik seva mein jo aaye hain seva bhav chhodkar kuch aur cheezen dekhkar is service mein jo aaye hain wah ehsaas karte hain ki wah galat seva mein aaye hain ya phir galat keh diya jawab mein aaye hain aise mein wah nirash bhokar kuch had tak seva chhodkar chale jaate hain parantu adhikaansh thana adhikari yuva adhikari jo is prashasnik seva mein aate hain wah service mein rehte hain humein yeh samajhna bahut zaroori hai ki bharatiya prashasnik seva bharatiya police seva jaise sevayen yeh service oriented hai humein seva karne ke liye bahut accha mauka dete hain aise mein yeh sevayen nishchit hi bahut hi utkrisht shreni ke hain aur kam umar mein jilon ko sambhaalna tatpashchat shasan prashasan ke liye policy decision se lena ismein atyant mahatvapurna karya karte hain aise mein nishchit hi yeh bahut hi mahatvapurna hai aur adhik se adhik yuva varg ko aise sewaon mein aana chahiye kaam karna chahiye subhkamnaayain

जो युवा अधिकारी आईएएस आईपीएस एआईआरएस से इस्तीफा देते हैं ऐसे लोगों की तादाद बहुत कम है मैं

Romanized Version
Likes  599  Dislikes    views  6141
KooApp_icon
WhatsApp_icon
7 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!