मोदी जी अगर विदेश दौरे के पैसे भारत की छोटी मोटी कंपनियों में इन्वेस्ट करते रोज़गार बढ़ते?...


user

Harvinder kaur

Municipal councillor

2:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मोदी जी ने पिछले 6 सालों में इतने विदेशी दौरे किए हैं मेरे पास इस वकत उसका आंकड़ा तो नहीं है कि उनके ऊपर कितना खर्च आया है पर और विदेश यात्रा पर करोड़ों रुपए का बजट खर्च आ जाता है जहां को जाना है जहां से विदेशी दौरे से हमें फायदा हो रहा है हमारे देश के लिए रोजगार बनते हैं रोजगार बढ़ने के लिए कंपनियां आती है तो हमें जाना जरूरी है उसके लिए कितना भी पैसा जो टीवी से एनडीटीवी से और न्यूज़ पेपर के माध्यम से जहां तक लगता है कि मोदी जी की जितनी भी विदेशी यात्राएं रही हैं वह तकरीबन सफर में कहीं से भी हमें इनवास तक नहीं मिले हैं जो पैसा पहुंचाने में हमने खर्च किया है उसे हम अपने ही देश में छोटे-छोटे रोजगार सृजन कर सकते थे स्वर लोगों को आसानी से लोन मिल जाता उसे वह छोटे-छोटे रोजगार पैदा खुद से तो सकते थे अपनी इन्वेस्टमेंट करते अपने रोजगार बढ़ाते इससे तो वही संतु में है कुछ बार बैंकों में देखा है कि जो छोटे बच्चे आते हैं नए बच्चे अपने वह लेकर कि मैंने यह छोटी दुकान खोली है या मुझे अपना कोई स्वरोजगार शुरू करना है तो बैंक मैनेजर मुझे कई बार देखा है कि उसे ध्यान से बात भी नहीं करते और उनको इतनी सारी फॉर्मेलिटीज बता देते हैं दुबारा आते ही नहीं है मोदी सरकार को चाहिए था कि वह इन चीजों पर ध्यान दो बच्चे हैं छोटे बच्चे हैं अपना अपना कोई कारोबार शुरू करना चाहते हैं तो उनको इस दी लोन मिल जाते और वो अपना काम शुरू कर जाते उनकी रीपेमेंट क्यूटम्स एंड कंडीशन है उनको और इजी बनाया जाता तो इसे हमारा अच्छा होता कि भारत में कंपनियां कंपनियों के इंतजार ना करके हम खुद से

modi ji ne pichle 6 salon me itne videshi daure kiye hain mere paas is waqt uska akanda toh nahi hai ki unke upar kitna kharch aaya hai par aur videsh yatra par karodo rupaye ka budget kharch aa jata hai jaha ko jana hai jaha se videshi daure se hamein fayda ho raha hai hamare desh ke liye rojgar bante hain rojgar badhne ke liye companiya aati hai toh hamein jana zaroori hai uske liye kitna bhi paisa jo TV se NDTV se aur news paper ke madhyam se jaha tak lagta hai ki modi ji ki jitni bhi videshi yatraen rahi hain vaah takareeban safar me kahin se bhi hamein inavas tak nahi mile hain jo paisa pahunchane me humne kharch kiya hai use hum apne hi desh me chote chote rojgar srijan kar sakte the swar logo ko aasani se loan mil jata use vaah chote chote rojgar paida khud se toh sakte the apni investment karte apne rojgar badhate isse toh wahi santu me hai kuch baar bankon me dekha hai ki jo chote bacche aate hain naye bacche apne vaah lekar ki maine yah choti dukaan kholi hai ya mujhe apna koi swarojgar shuru karna hai toh bank manager mujhe kai baar dekha hai ki use dhyan se baat bhi nahi karte aur unko itni saari formalities bata dete hain dubara aate hi nahi hai modi sarkar ko chahiye tha ki vaah in chijon par dhyan do bacche hain chote bacche hain apna apna koi karobaar shuru karna chahte hain toh unko is di loan mil jaate aur vo apna kaam shuru kar jaate unki repayment kyutams and condition hai unko aur easy banaya jata toh ise hamara accha hota ki bharat me companiya companion ke intejar na karke hum khud se

मोदी जी ने पिछले 6 सालों में इतने विदेशी दौरे किए हैं मेरे पास इस वकत उसका आंकड़ा तो नहीं

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  109
KooApp_icon
WhatsApp_icon
18 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!