संगीत क्या है?...


user

Norang sharma

Social Worker

2:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो दोस्तों वोकल पर सुन रहे मेरे सभी बुद्धिजीवी श्रोताओं को मेरा बहुत-बहुत प्यार भरा नमस्कार आज का सवाल है संगीत क्या है व्हाट इज म्यूजिक तो दोस्तों संगीत कैसी सुव्यवस्थित धनिया होती हैं जिनका आपके शरीर पर आपके मन पर एक गहरा इंपैक्ट पड़ता है और एक गहरा असर देखने को मिलता है क्योंकि तमाम तरीके की भावनाएं हमारे दिल में चलती रहती हैं हमारे मन में भावुकता के तमाम ऐसे पल आते हैं जब हम अलग-अलग मूड से गुजरते हैं कभी हम दुखी हो जाते हैं कभी हम मायूस हो जाते हैं कभी एक्साइटेड हो जाते हैं कभी बहुत खुश हो जाते हैं तो एक तरह से संगीत हमारे मूड को सीधे तौर पर इफेक्ट करता है इसलिए आप की जितनी भी भावनाएं हैं उन सब को अभिव्यक्ति देने का काम अगर कोई कर सकता है तो वह संगीत करता है इसलिए जैसा संगीत आप सुनते हैं वैसा ही आपका जीवन बनता है वैसे ही आपकी लाइफ बन जाती है अब आप कहेंगे कि कुछ लोग सैड सॉन्ग सुनते रहते हैं इसका क्या रीजन है तो दोस्तों सैड सॉन्ग सुनने से भी आप थोड़ी देर के लिए रिलैक्स फील कर सकते हैं क्योंकि एक तरह से आपके मन में दबी कुचली जो भावनाएं हैं या दुखी जो भावनाएं हैं दुख की भावनाएं उन्हें भी आप तरीके से बाहर निकाल सकते हैं संगीत सुनकर तो फिर जब वह भावनाएं एक तरह से अभिव्यक्त हो जाती हैं जाहिर हो जाती हैं तो फिर उसका बुरा असर आपके शरीर पर आपके मन पर नहीं पड़ता इसलिए संगीत को आत्मा का भोजन माना गया है क्योंकि शरीर को बेहतर बनाने के लिए तो हम वॉकआउट कर सकते हैं रनिंग कर सकते हैं एक्सरसाइज कर सकते हैं अपने माइंड को शांत करने के लिए हम किताबें पढ़ सकते हैं वर्क पहेलियों को हल कर सकते हैं लेकिन अपनी आत्मा को स्ट्रांग करने के लिए अपनी आत्मा को मजबूत बनाने हमें संगीत का सहारा लेना होता है इसलिए संगीत को अपनी जीवन का एक अनिवार्य और अटूट हिस्सा बनाएं और आप देखेंगे कि आप अपने काम को बेहतर तरीके से कर पाएंगे कि जवाब धीमा संगीत सुनते हुए अपने काम को करते हैं तो आप अपने काम में पहले से भी कहीं ज्यादा क्रिएटिव बनते हैं और उसका असर आपकी परफॉर्मेंस पर भी पड़ता है धन्यवाद

hello doston vocal par sun rahe mere sabhi buddhijeevi shrotaon ko mera bahut bahut pyar bhara namaskar aaj ka sawaal hai sangeet kya hai what is music toh doston sangeet kaisi suvyavasthit dhania hoti hain jinka aapke sharir par aapke man par ek gehra impact padta hai aur ek gehra asar dekhne ko milta hai kyonki tamaam tarike ki bhaavnaye hamare dil me chalti rehti hain hamare man me bhavukata ke tamaam aise pal aate hain jab hum alag alag mood se gujarate hain kabhi hum dukhi ho jaate hain kabhi hum maayus ho jaate hain kabhi excited ho jaate hain kabhi bahut khush ho jaate hain toh ek tarah se sangeet hamare mood ko sidhe taur par effect karta hai isliye aap ki jitni bhi bhaavnaye hain un sab ko abhivyakti dene ka kaam agar koi kar sakta hai toh vaah sangeet karta hai isliye jaisa sangeet aap sunte hain waisa hi aapka jeevan banta hai waise hi aapki life ban jaati hai ab aap kahenge ki kuch log sad song sunte rehte hain iska kya reason hai toh doston sad song sunne se bhi aap thodi der ke liye relax feel kar sakte hain kyonki ek tarah se aapke man me dabi kuchli jo bhaavnaye hain ya dukhi jo bhaavnaye hain dukh ki bhaavnaye unhe bhi aap tarike se bahar nikaal sakte hain sangeet sunkar toh phir jab vaah bhaavnaye ek tarah se abhivyakt ho jaati hain jaahir ho jaati hain toh phir uska bura asar aapke sharir par aapke man par nahi padta isliye sangeet ko aatma ka bhojan mana gaya hai kyonki sharir ko behtar banane ke liye toh hum walkout kar sakte hain running kar sakte hain exercise kar sakte hain apne mind ko shaant karne ke liye hum kitaben padh sakte hain work paheliyon ko hal kar sakte hain lekin apni aatma ko strong karne ke liye apni aatma ko majboot banane hamein sangeet ka sahara lena hota hai isliye sangeet ko apni jeevan ka ek anivarya aur atut hissa banaye aur aap dekhenge ki aap apne kaam ko behtar tarike se kar payenge ki jawab dheema sangeet sunte hue apne kaam ko karte hain toh aap apne kaam me pehle se bhi kahin zyada creative bante hain aur uska asar aapki performance par bhi padta hai dhanyavad

हेलो दोस्तों वोकल पर सुन रहे मेरे सभी बुद्धिजीवी श्रोताओं को मेरा बहुत-बहुत प्यार भरा नमस्

Romanized Version
Likes  113  Dislikes    views  2990
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Lucky Gujral

MUSIC TEACHER

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

संगीत की बात करें तो संगीत वह है जिसमें गायन वादन और नृत्य तीनों का समावेश होता या तीनों सम्मिलित रूप से एक जगह पर होते हैं और संगीत से मनुष्य के मन को अच्छा लगता है और से संगीत से भगवान की आराधना ईश्वर आराधना क्या भगवान के सबसे नजदीक जाने का सबसे अगर सीधा और सुलभ साधन है तो वह है संगीत अगर मेरी मेरा वीडियो मेरा आंसर अगर आपको पसंद है तो मुझे फॉलो करें धन्यवाद

sangeet ki baat kare toh sangeet vaah hai jisme gaayan vaadan aur nritya tatvo ka samavesh hota ya tatvo sammilit roop se ek jagah par hote hain aur sangeet se manushya ke man ko accha lagta hai aur se sangeet se bhagwan ki aradhana ishwar aradhana kya bhagwan ke sabse nazdeek jaane ka sabse agar seedha aur sulabh sadhan hai toh vaah hai sangeet agar meri mera video mera answer agar aapko pasand hai toh mujhe follow kare dhanyavad

संगीत की बात करें तो संगीत वह है जिसमें गायन वादन और नृत्य तीनों का समावेश होता या तीनों स

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  85
WhatsApp_icon
user

Arpit Kumar Mishra

Vocalist, Ghazal, Bhajan &classical

1:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गीत राज्य एवं नृत्य के मिलने से संगीत बनता है यह तीनों विधायक अलग-अलग है गीत का मतलब है गायन से वाद्य मतलब वादन यानी बजाने से किसी भी इंस्ट्रूमेंट को बजाने से अमृतवाणी डांस करने से नृत्य करने से नाचने से तो यह विधायक आपस में मिलने से संगीत बनता है और यह तीनों विधायक अलग अलग है और अगर यह अकेले ही इनको गाया बजाया जाए ना चार्जर तो भी संगीत ही कहलाएगा गायन सब प्रधान होता है सर प्रथम प्रधान होता है उसके बाद गायन के हिसाब से मदन किया जाता है जो आप कह रहे हैं उसके हिसाब से वजन होगा और गायन एवं माध्यम के हिसाब से उसके रिकॉर्डिंग डांस होगा धन्यवाद

geet rajya evam nritya ke milne se sangeet banta hai yah tatvo vidhayak alag alag hai geet ka matlab hai gaayan se vadhya matlab vaadan yani bajane se kisi bhi instrument ko bajane se amritwani dance karne se nritya karne se nachane se toh yah vidhayak aapas me milne se sangeet banta hai aur yah tatvo vidhayak alag alag hai aur agar yah akele hi inko gaaya bajaya jaaye na charger toh bhi sangeet hi kehlaega gaayan sab pradhan hota hai sir pratham pradhan hota hai uske baad gaayan ke hisab se madan kiya jata hai jo aap keh rahe hain uske hisab se wajan hoga aur gaayan evam madhyam ke hisab se uske recording dance hoga dhanyavad

गीत राज्य एवं नृत्य के मिलने से संगीत बनता है यह तीनों विधायक अलग-अलग है गीत का मतलब है गा

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  100
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गीतों मध्यम तथा नृत्य एवं संगीत अनुच्छेद संगीत के लिए ऐसा कहा गया है कि गायन वादन और नृत्य इन तीनों को सम्मिलित रूप से संगीत कहा गया है अर्थात गायन वादन और नृत्य तीनों एक साथ प्रस्तुत किए जाएं तो उसे संगीत कहा जाएगा

geeton madhyam tatha nritya evam sangeet anuched sangeet ke liye aisa kaha gaya hai ki gaayan vaadan aur nritya in tatvo ko sammilit roop se sangeet kaha gaya hai arthat gaayan vaadan aur nritya tatvo ek saath prastut kiye jayen toh use sangeet kaha jaega

गीतों मध्यम तथा नृत्य एवं संगीत अनुच्छेद संगीत के लिए ऐसा कहा गया है कि गायन वादन और नृत्य

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  101
WhatsApp_icon
user
0:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रश्न है संगीत का अर्थ क्या है इसका उत्तर है संगीत सात सुरों का मेल है जो कि हम लोग सात सुरों में गाते हैं सारे गाने

prashna hai sangeet ka arth kya hai iska uttar hai sangeet saat suron ka male hai jo ki hum log saat suron mein gaate hai saare gaane

प्रश्न है संगीत का अर्थ क्या है इसका उत्तर है संगीत सात सुरों का मेल है जो कि हम लोग सात स

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  331
WhatsApp_icon
play
user

Gulnaz

लेवल 1 (बिगिनर)

0:17

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

संगीत ध्वनि की एक कला है समय में जो विचार व्यक्त करता है और महत्वपूर्ण रूपों में भावनाओं जैसे के ताल स्वर और रंगों के एलिमेंट हार्मोन इसे संगीत कहा जाता है

sangeet dhwani ki ek kala hai samay mein jo vichar vyakt karta hai aur mahatvapurna roopon mein bhavnao jaise ke taal swar aur rangon ke element hormone ise sangeet kaha jata hai

संगीत ध्वनि की एक कला है समय में जो विचार व्यक्त करता है और महत्वपूर्ण रूपों में भावनाओं ज

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  13
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
संगीत क्या ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!