गुजरात विधानसभा चुनाव में AAP ने 29 सीटों पर चुनाव जीतने में असफल र है हैं, इस पर आप क्या कहना चाहते हैं?...


play
user

Sa Sha

Journalist since 1986

0:29

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुजरात में आम आदमी पार्टी ने कुल 33 उम्मीदवारों को उतारा था पर ज्यादातर उम्मीदवार अपनी जमानत तक नहीं बचा पाए और उनकी जमानत जप्त हो गई छोटा उदयपुर से चुनाव लड़ रहे पार्टी के उम्मीदवार अर्जुन भाई वेरा सिंह को सबसे ज्यादा 4:30 हजार वोट मिले सूरजपुर में अकबर भाई मुल्तानी को सबसे कम महज 265 वोट मिले

gujarat mein aam aadmi party ne kul 33 ummidwaron ko utara tha par jyadatar ummidvar apni jamanat tak nahi bacha paye aur unki jamanat japt ho gayi chota udaipur se chunav lad rahe party ke ummidvar arjun bhai vera Singh ko sabse zyada 4 30 hazaar vote mile Surajpur mein akbar bhai multani ko sabse kam mahaj 265 vote mile

गुजरात में आम आदमी पार्टी ने कुल 33 उम्मीदवारों को उतारा था पर ज्यादातर उम्मीदवार अपनी जमा

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  26
WhatsApp_icon
8 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुजरात में आप की सरकार आम आदमी की सरकार असफल रही 29 सीट पर जनता सब समझती है क्योंकि आपका दिल्ली में भी देखे हैं केजरीवाल किस टाइप का काम करते करते हैं उसने एक इश्क एक समय में उसने बोला कि लोकपाल बिल पास करेंगे जो अभी तक आप सफल रही और इवन फार्मूला लगाया वह उसमें असफल रहे बहुत सारे ऐसे काम है जिसमें से केजरीवाल की सरकार हो सफल रहे यह सिर्फ मुद्दों वाले मुद्दों पर नहीं बात करके इधर उधर की बात करते हैं इसमें केजरीवाल में दिक्कत क्या है कि वह कहां अच्छे काम को सपोर्ट नहीं करते हैं अच्छे काम के अलावा जो फालतू की चीजें होती उस पर यह ज्यादा ध्यान देते हैं अपने आप जैसा के जानते हैं कि हिंदी से राम सर्जिकल स्ट्राइक हुई थी पाकिस्तान के खिलाफ तो इसने अब केजरीवाल ने ग्रुप के तौर पर देश की जनता सवाल मांगा था तो देश की जनता सब समझती है कौन काम कर रहा है कोई काम नहीं कर दूसरी बात यह है केजरीवाल सिर्फ यह बोला गया था स्टार्टिंग में कि मैं एक आम जनता के लिए आया हूं जनता के लिए आया हूं मैं स्पेशल स्पेशल ट्रीटमेंट नहीं लूंगा लेकिन प्लीज़ में केजरीवाल ने फिर से इस गेम के द्वारा फसाया गया एवं एवं इलेक्ट्रॉनिक मशीन पर भी सवाल खड़े किए हैं वोटिंग मशीन पर सवाल खड़े किए हैं चुनाव चुनाव आयोग ने आपकी फीस देने के बावजूद भी ईवीएम से कोई छेड़छाड़ नहीं कर सकता है फिर भी केजरीवाल की सरकार ने ईवीएम पर सवाल उठाया और और जनता को गुमराह करने का कोशिश किया है चुनाव आयोग के डिसीजन के बावजूद उसके आदेश के बावजूद भी केजरीवाल की सरकार मानने को तैयार नहीं है यह जनता के साथ खिलवाड़ कर रहे जनता सब समझती है गुजरात गुजरात की जनता पढ़ी लिखी है गुजरात की जनता युवा हैं सभी समझते हैं कौन काम के लायक हैं कौन नहीं है आपकी सरकार सिर्फ मुद्दों के पास

gujarat mein aap ki sarkar aam aadmi ki sarkar asafal rahi 29 seat par janta sab samajhti hai kyonki aapka delhi mein bhi dekhe hain kejriwal kis type ka kaam karte karte hain usne ek ishq ek samay mein usne bola ki lokpal bill paas karenge jo abhi tak aap safal rahi aur even formula lagaya vaah usme asafal rahe bahut saare aise kaam hai jisme se kejriwal ki sarkar ho safal rahe yah sirf muddon waale muddon par nahi baat karke idhar udhar ki baat karte hain isme kejriwal mein dikkat kya hai ki vaah kahaan acche kaam ko support nahi karte hain acche kaam ke alava jo faltu ki cheezen hoti us par yah zyada dhyan dete hain apne aap jaisa ke jante hain ki hindi se ram surgical strike hui thi pakistan ke khilaf toh isne ab kejriwal ne group ke taur par desh ki janta sawaal manga tha toh desh ki janta sab samajhti hai kaun kaam kar raha hai koi kaam nahi kar dusri baat yah hai kejriwal sirf yah bola gaya tha starting mein ki main ek aam janta ke liye aaya hoon janta ke liye aaya hoon main special special treatment nahi lunga lekin please mein kejriwal ne phir se is game ke dwara phasaya gaya evam evam electronic machine par bhi sawaal khade kiye hain voting machine par sawaal khade kiye hain chunav chunav aayog ne aapki fees dene ke bawajud bhi evm se koi chedchad nahi kar sakta hai phir bhi kejriwal ki sarkar ne evm par sawaal uthaya aur aur janta ko gumrah karne ka koshish kiya hai chunav aayog ke decision ke bawajud uske aadesh ke bawajud bhi kejriwal ki sarkar manne ko taiyar nahi hai yah janta ke saath khilwad kar rahe janta sab samajhti hai gujarat gujarat ki janta padhi likhi hai gujarat ki janta yuva hain sabhi samajhte hain kaun kaam ke layak hain kaun nahi hai aapki sarkar sirf muddon ke paas

गुजरात में आप की सरकार आम आदमी की सरकार असफल रही 29 सीट पर जनता सब समझती है क्योंकि आपका द

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  27
WhatsApp_icon
user

amitkul

CA student,pursuing bcom too

0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुजरात चुनाव में जो है विधानसभा गुजरात विधानसभा चुनाव में जो आपने एडवांटेज 29 सीट हारे हैं साइड से बात है कि क्योंकि जो इलेक्शन की जो टाइपिंग होती है उसमें जो आम आदमी पार्टी का बिल्कुल ही शिकार नहीं होता वह दिखाई दे रहा था अरविंद केजरीवाल जी को यहां पर गुजरात में दिखाई नहीं दे रहे थे बल्कि मोदी जी और मोदी नरेंद्र मोदी जी और राहुल गांधी को बहुत जोरों शोरों से मेहनत करके जनता से बात करके पूरी तरह वोट बटोरने की कोशिश कर रहे थे पर अरविंद केजरीवाल क्या चीज ऐसी कोई कोशिश दिखाई नहीं दे रही थी दो साइड से बातें की आम आदमी पार्टी को जनता वोट नहीं देना चाहेगी

gujarat chunav mein jo hai vidhan sabha gujarat vidhan sabha chunav mein jo aapne advantage 29 seat hare hai side se baat hai ki kyonki jo election ki jo typing hoti hai usme jo aam aadmi party ka bilkul hi shikaar nahi hota vaah dikhai de raha tha arvind kejriwal ji ko yahan par gujarat mein dikhai nahi de rahe the balki modi ji aur modi narendra modi ji aur rahul gandhi ko bahut joron shoron se mehnat karke janta se baat karke puri tarah vote batorane ki koshish kar rahe the par arvind kejriwal kya cheez aisi koi koshish dikhai nahi de rahi thi do side se batein ki aam aadmi party ko janta vote nahi dena chahegi

गुजरात चुनाव में जो है विधानसभा गुजरात विधानसभा चुनाव में जो आपने एडवांटेज 29 सीट हारे हैं

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  66
WhatsApp_icon
user

Apurva D

Optimistic Coder

0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गौर से देखा जाए तो गुजरात के चुनाव में आम आदमी पार्टी का प्रदर्शन बेहद ही खराब था 29 सीटों पर असफल रहना मतलब उन पर पार्टी की जमानत जप्त होने की नौबत आई है यह कभी ऐसा लगता है कि आम आदमी पार्टी ने सिर्फ नाम के लिए ही बाहर पर लोग खड़े करें जिसे प्रॉब्लम सैंडल करी थी शायद गुजरात के प्रॉब्लम्स को अपना समझा ही नहीं ऐसे ही यहां पर यह मानना गलत नहीं होगा कि गुजरात का चुनाव बीजेपी और कांग्रेस के बीच में ही था प्रसाद विंड केजरीवाल जी ने भी यह चुनाव बिल्कुल भी ज्यादा मेहनत लगा कर नहीं लड़ा है उनसे ज्यादा सीटें तो बरसात और रेडियो को मिली है

gaur se dekha jaaye toh gujarat ke chunav mein aam aadmi party ka pradarshan behad hi kharab tha 29 seaton par asafal rehna matlab un par party ki jamanat japt hone ki naubat I hai yah kabhi aisa lagta hai ki aam aadmi party ne sirf naam ke liye hi bahar par log khade kare jise problem sandal kari thi shayad gujarat ke problems ko apna samjha hi nahi aise hi yahan par yah manana galat nahi hoga ki gujarat ka chunav bjp aur congress ke beech mein hi tha prasad wind kejriwal ji ne bhi yah chunav bilkul bhi zyada mehnat laga kar nahi lada hai unse zyada seaten toh barsat aur radio ko mili hai

गौर से देखा जाए तो गुजरात के चुनाव में आम आदमी पार्टी का प्रदर्शन बेहद ही खराब था 29 सीटों

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  26
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुजरात विधानसभा में आम आदमी पार्टी ने सिर्फ 33 लोगों को ही चुनाव में उतारा था और गुजरात में इतने सालों से बीजेपी की सरकार रही है और इस बार तो कांग्रेस पर बीजेपी के विपक्ष में थी तो आम आदमी पार्टी का गुजरात में कोई भी आना तो असंभव ही था और कोई भी वहां पर जी चाहे आम आदमी पार्टी से तो तो बहुत बड़ी बात होती तो आम आदमी पार्टी का अपने उम्मीदवारों को गुजरात में उतारना बहुत ही अलग बात थी बहुत ही अजीब बात थी यह होना तो संभव ही था परंतु फिर भी आम आदमी पार्टी ने कोशिश की

gujarat vidhan sabha mein aam aadmi party ne sirf 33 logo ko hi chunav mein utara tha aur gujarat mein itne salon se bjp ki sarkar rahi hai aur is baar toh congress par bjp ke vipaksh mein thi toh aam aadmi party ka gujarat mein koi bhi aana toh asambhav hi tha aur koi bhi wahan par ji chahen aam aadmi party se toh toh bahut badi baat hoti toh aam aadmi party ka apne ummidwaron ko gujarat mein utarana bahut hi alag baat thi bahut hi ajib baat thi yah hona toh sambhav hi tha parantu phir bhi aam aadmi party ne koshish ki

गुजरात विधानसभा में आम आदमी पार्टी ने सिर्फ 33 लोगों को ही चुनाव में उतारा था और गुजरात मे

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  18
WhatsApp_icon
user

Vatsal

Engineering Student

0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

निकी गुजरात विधानसभा में आप पार्टी ने अपनी 29 सीटों पर चुनाव के लिए प्रत्याशी खड़े किए थे यह बात आप सरकार को केजरीवाल जी को भी पता थी कि आप का आप का वहां पर कोई अस्तित्व नहीं चुनाव केवल दो पार्टियों के बीच में केवल अपने बाकी कोई चोर चोरी से नहीं मेहनत नहीं की है उन्होंने अपनी उपस्थिति दर्ज कराने के लिए ठोका थोड़ा खेल करने के लिए बनवाने के लिए वहां पर अपनी उपस्थिति जिससे वह खुश होती है कि आपने आपने गुजरात का चुनाव थोड़ा सा लगा है और अभी भी बारिश नहीं हुई है पूरी दिल्ली के अलावा तो इसलिए वह अपने दिल की बात नहीं है

niki gujarat vidhan sabha mein aap party ne apni 29 seaton par chunav ke liye pratyashi khade kiye the yah baat aap sarkar ko kejriwal ji ko bhi pata thi ki aap ka aap ka wahan par koi astitva nahi chunav keval do partiyon ke beech mein keval apne baki koi chor chori se nahi mehnat nahi ki hai unhone apni upasthitee darj karane ke liye thokaa thoda khel karne ke liye banwane ke liye wahan par apni upasthitee jisse vaah khush hoti hai ki aapne aapne gujarat ka chunav thoda sa laga hai aur abhi bhi barish nahi hui hai puri delhi ke alava toh isliye vaah apne dil ki baat nahi hai

निकी गुजरात विधानसभा में आप पार्टी ने अपनी 29 सीटों पर चुनाव के लिए प्रत्याशी खड़े किए थे

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  19
WhatsApp_icon
user

Anukrati

Journalism Graduate

0:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आम आदमी पार्टी की असफलता उसके पिछले चुनाव में जीतने के बाद कार्यों की और सफलता और बड़बोलेपन का नतीजा है जनता को अब कार्य होते हुए देखने चाहिए नेताओं के वादों से जनता बुक चुकी है

aam aadmi party ki asafaltaa uske pichle chunav mein jitne ke baad karyo ki aur safalta aur badabolepan ka natija hai janta ko ab karya hote hue dekhne chahiye netaon ke vaado se janta book chuki hai

आम आदमी पार्टी की असफलता उसके पिछले चुनाव में जीतने के बाद कार्यों की और सफलता और बड़बोलेप

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  18
WhatsApp_icon
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं सोने दी फ़ॉर आपको जो है मेरे को लगता है आपको दिल्ली में ही सीमित रखनी चाहिए और पंजाब पंजाब के पास उनके पास चार लोकसभा सीटें हैं तो मैं समाचार भी बहुत एयरपोर्ट मेट्रो दिल्ली में तो उनकी सरकार है यह सब कहते हैं ना कि जितनी चादर होती है उतने ही पैर फैलाओ उनका पंजाब में थोड़ा बहुत सपोर्ट करते हैं उनको उनको दिल्ली से पंजाब में रहना चाहिए गुजरात मोदी जी का शहर है वह बाकी सब जो है वह गुजरात कांग्रेस और उसके साथ नहीं छोड़ते और अपना वह दिल्ली और पंजाब पर फोकस करें

main sone di far aapko jo hai mere ko lagta hai aapko delhi mein hi simit rakhni chahiye aur punjab punjab ke paas unke paas char lok sabha seaten hain toh main samachar bhi bahut airport metro delhi mein toh unki sarkar hai yah sab kehte hain na ki jitni chadar hoti hai utne hi pair failao unka punjab mein thoda bahut support karte hain unko unko delhi se punjab mein rehna chahiye gujarat modi ji ka shehar hai vaah baki sab jo hai vaah gujarat congress aur uske saath nahi chodte aur apna vaah delhi aur punjab par focus karen

मैं सोने दी फ़ॉर आपको जो है मेरे को लगता है आपको दिल्ली में ही सीमित रखनी चाहिए और पंजाब प

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  20
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!