मुझे स्टेज पर बोलने से डर लगता है, क्या करें? ...


user

Dr. Swatantra Jain

Psychotherapist, Family & Career Counsellor and Parenting & Life Coach

7:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मिक्स वेज पर्वत स्टेज पर बोलने से डर लगता है तो इसमें विश्वास की कमी है यह आप बहुत से बहुत से बच्चे हैं लोग हैं बड़े भी हैं जिनको स्टेज बोलने से डर लगता है जो कभी स्टेज पर गए नहीं जो स्टेज पर जो बोलते हैं उनका मजाक तो उड़ा सकते लेकिन खुल जाते हैं तो फिर उनके खुश हो जाते हैं तो घबराओ नहीं कोई खास परेशानी की बात नहीं है इसमें वेस्टेज पर डर लगता है तो उसका उपाय आप कष्ट करके बोलने का मन है तो स्टेज पहले अपने छोटे ग्रुप में बोलना सीख अपने घर में पोयम सुनाओ कहानी सुनाओ पहले घर में अपने भाई बहनों को अपने माता-पिता को पानी सेनानी पत्रिका का गाना अगर आता तो सुनाओ फिर उनसे एप्रिसिएशन मिले तो और बड़े ग्रुप कुछ ना क्लास में पूजा करते हो वह बोलो सुनाओ टीचर्स पोस्ट है तो सब कुछ में आप नीचे मत रखो हाथ खड़ा करो सुनाओ पहली बार मजाक नहीं कर सकते क्योंकि बच्चों के साथ मजाक उड़ाते हैं जिन्होंने कोई भी उसको उसको अदर वाइज मत लो उसको आज मैं मैन को दिखा कर रहूंगा यह आप कैसे हटाने चाहिए भावना होनी चाहिए कि मैं बोलके रहूंगा जिस का डर लगता है उसको प्लीज करो करता क्या डर क्यों लगता है कि हम एक तो जब हम स्टेट में घूमते हैं हमारी भाषा पर विश्वास नहीं होता हमारी बाकी जो हम बनाते हो सही से नहीं बनती हम उतार-चढ़ाव ठीक नहीं करते तो पहले पढ़ना सीखो बोल बोल कर कैसे पढ़ते हैं अगर पढ़ने में अच्छा है खराब है और उनको समझ में आता है कुछ तो उसको रिकवर करो जो पढ़ते हैं उसको रिकॉर्ड करो मोबाइल आपके पास आजकल तो मोबाइल में सोल्डर होता है तो अपनी आवाज को रिकॉर्ड करो और फिर उसको खुद चल कर देखो कंचन के देखोगे तो पता लगेगा कि वह कितना इंटरेस्ट है कितना प्रभावशाली है तो बोल कर करोगे उससे प्रेक्टिस होगी बोलने की दिखा पर बेशक पहले लिखा है पढ़ो कहीं से कोई पैराग्राफ पढ़ो हिंदी की किताब में इंग्लिश की किताब में हिंदी का सपना अपनी भाषा में उसके बाद अंग्रेजी की बात करेंगे तो हिंदी में बुक पढ़ो कोई अच्छी किताब भी अच्छा एक पैराग्राफ पाच मिनट से ज्यादा तेरे 2 मिनट का पढ़ो 3 मिनट का प्रचार का प्रयोग पास कपड़े पढ़ कर सुनाओ अपनी टीचर को सुनाओ अपने आप ही क्लास में जो 4 बच्चे उसको सुनाओ लड़के सिर्फ किताबी चटर्जी और उससे यह जज करो कि जो और बच्चे पढ़ते हैं अच्छा बच्चा प्रकाश को जो सबसे होशियार बच्चा पड़ता है कि आप उसके जैसा पढ़ पा रहे हो चुप के समाचार सुनाओ हिंदी में तो हिंदी में जो समाचार बोलते हैं क्या आप उनकी तरह बोल पा रहे हो गीता पढ़ने आपको सिर्फ अगर आप पढ़ना अच्छी तरह सीख जाओगे उसने कहा उतार है कहां चला गया काम जब मैं का नीचे बोले टन कितने आम तौर पर जब हम पहली बार स्टेज पर चढ़ने दे एकदम बस बोलते जाते बोलते जाते डर के मारे शर्म के मारे से पूछ कर मेरे कांटेक्ट हो जाते हैं तो होगा कि पहले बुक पढ़ो उसको रिकॉर्ड करो फिर कुछ ना कुछ उनके अच्छा लग रहा है पर बहुत डर लग रहा है नहीं लग रहा है तू उसको इंप्रूव करो ऐसी पढ़ी-लिखी देखो आप बोलकर पढ़ोगे चाहे किताब से देखा तो आपको बोलने का कम से कम ठीक करने का अभ्यास होगा उसके बाद फिर आप बिना देखे बिना किताब के देखे अपने आप कुछ बोलने का याद करके बोलो यह दिवाली का प्रस्ताव भी बोलो चाहे गए थे बोलो चाहे स्कूल पर बोलो चाहे अपने आप पर बोलो चाहे अपने देश पर बोलो अपने देश के बारे में लिखो अपने गांव के बारे में लिखो अपने शहर के बारे में लिखो लिस्ट स्कूल के बारे में लिखो कुछ भी लिखो और उसको याद करो फिर पढ़ो फिर बोलो याद करके तुम्हारा कॉन्फिडेंस बने क्योंकि स्टेज पर जब तुम बोलते हैं तो बिना देखे बोलते हैं तो अच्छा लगता है तो उसको याद करो और फिर कोई भूल जाओ कोई सेंटेंस हुए दांत बीएसपी डराना है तो राधा तो ऐसे कर करके धीरे-धीरे आपकी यादों का प्रेक्टिस करो प्रेक्टिस टुडे को बंद करनी पड़ेगी अब तो करना पड़ेगा करना पड़ेगा लेकिन इस बार जरूर मिलेगा आपको धीरे-धीरे आप इतने अच्छे स्टीकर हो जाओगे आपको पता ही गांधीजी जो इस देश के सबसे महान डिस्ट्रिक्ट में बोलने से कितना डरते थे कितना से कुछ आते थे और वकील बन गए फिर बोल कर बन के तो बोल नहीं पड़ता है जब गांधी जी जैसे व्यक्ति इतने बुरे स्पीकर बन सकते हैं जो बचपन में इतनी शर्म आती है तो आप ऐसे ऐसे बहुत से व्यक्ति जिसकी के बहुत अच्छे बने लेकिन पहले बात है पजेशन करते थे पहले भाषण में आते थे से कुछ आते थे विश्वास नहीं तो हमको दृष्टि से भूल पाएंगे तो हमें भूल पाओगे ना बोलो शाबाश पढ़ाई पर ध्यान दो अपने घर में सुनाओ अपने दोस्त को सुना कोई बात नहीं मजाक उड़ाने तब तो आप भी अपने में जाकर पहली बार है ठीक है ना बोल रहा था कि मैं लूंगा फिर कोई जादू कैसे कैसे पटाए कैसे ठीक है अभी गलत कभी भी टाइम आएगा चड्डी बॉडी का बच्चा बोलो क्योंकि आप भी मजाक कर दो यार हमारा भी टाइम आएगा तो मजाक को मजाक में मत ले मैं अंदर ही अंदर अपनी प्रैक्टिस करते रहो 1 दिन अच्छे बन जाओगे जल्दी सारी शुभकामनाएं

mix veg parvat stage par bolne se dar lagta hai toh isme vishwas ki kami hai yah aap bahut se bahut se bacche hain log hain bade bhi hain jinako stage bolne se dar lagta hai jo kabhi stage par gaye nahi jo stage par jo bolte hain unka mazak toh uda sakte lekin khul jaate hain toh phir unke khush ho jaate hain toh ghabarao nahi koi khas pareshani ki baat nahi hai isme wastage par dar lagta hai toh uska upay aap kasht karke bolne ka man hai toh stage pehle apne chote group me bolna seekh apne ghar me poem sunao kahani sunao pehle ghar me apne bhai bahnon ko apne mata pita ko paani senani patrika ka gaana agar aata toh sunao phir unse eprisieshan mile toh aur bade group kuch na class me puja karte ho vaah bolo sunao teachers post hai toh sab kuch me aap niche mat rakho hath khada karo sunao pehli baar mazak nahi kar sakte kyonki baccho ke saath mazak udate hain jinhone koi bhi usko usko other wise mat lo usko aaj main man ko dikha kar rahunga yah aap kaise hatane chahiye bhavna honi chahiye ki main bolke rahunga jis ka dar lagta hai usko please karo karta kya dar kyon lagta hai ki hum ek toh jab hum state me ghumte hain hamari bhasha par vishwas nahi hota hamari baki jo hum banate ho sahi se nahi banti hum utar chadhav theek nahi karte toh pehle padhna sikho bol bol kar kaise padhte hain agar padhne me accha hai kharab hai aur unko samajh me aata hai kuch toh usko recover karo jo padhte hain usko record karo mobile aapke paas aajkal toh mobile me solder hota hai toh apni awaaz ko record karo aur phir usko khud chal kar dekho kanchan ke dekhoge toh pata lagega ki vaah kitna interest hai kitna prabhavshali hai toh bol kar karoge usse practice hogi bolne ki dikha par beshak pehle likha hai padho kahin se koi Paragraph padho hindi ki kitab me english ki kitab me hindi ka sapna apni bhasha me uske baad angrezi ki baat karenge toh hindi me book padho koi achi kitab bhi accha ek Paragraph paanch minute se zyada tere 2 minute ka padho 3 minute ka prachar ka prayog paas kapde padh kar sunao apni teacher ko sunao apne aap hi class me jo 4 bacche usko sunao ladke sirf kitabi chatterjee aur usse yah judge karo ki jo aur bacche padhte hain accha baccha prakash ko jo sabse hoshiyar baccha padta hai ki aap uske jaisa padh paa rahe ho chup ke samachar sunao hindi me toh hindi me jo samachar bolte hain kya aap unki tarah bol paa rahe ho geeta padhne aapko sirf agar aap padhna achi tarah seekh jaoge usne kaha utar hai kaha chala gaya kaam jab main ka niche bole ton kitne aam taur par jab hum pehli baar stage par chadhne de ekdam bus bolte jaate bolte jaate dar ke maare sharm ke maare se puch kar mere Contact ho jaate hain toh hoga ki pehle book padho usko record karo phir kuch na kuch unke accha lag raha hai par bahut dar lag raha hai nahi lag raha hai tu usko improve karo aisi padhi likhi dekho aap bolkar padhoge chahen kitab se dekha toh aapko bolne ka kam se kam theek karne ka abhyas hoga uske baad phir aap bina dekhe bina kitab ke dekhe apne aap kuch bolne ka yaad karke bolo yah diwali ka prastaav bhi bolo chahen gaye the bolo chahen school par bolo chahen apne aap par bolo chahen apne desh par bolo apne desh ke bare me likho apne gaon ke bare me likho apne shehar ke bare me likho list school ke bare me likho kuch bhi likho aur usko yaad karo phir padho phir bolo yaad karke tumhara confidence bane kyonki stage par jab tum bolte hain toh bina dekhe bolte hain toh accha lagta hai toh usko yaad karo aur phir koi bhool jao koi sentence hue dant bsp darana hai toh radha toh aise kar karke dhire dhire aapki yaadon ka practice karo practice today ko band karni padegi ab toh karna padega karna padega lekin is baar zaroor milega aapko dhire dhire aap itne acche sticker ho jaoge aapko pata hi gandhiji jo is desh ke sabse mahaan district me bolne se kitna darte the kitna se kuch aate the aur vakil ban gaye phir bol kar ban ke toh bol nahi padta hai jab gandhi ji jaise vyakti itne bure speaker ban sakte hain jo bachpan me itni sharm aati hai toh aap aise aise bahut se vyakti jiski ke bahut acche bane lekin pehle baat hai possession karte the pehle bhashan me aate the se kuch aate the vishwas nahi toh hamko drishti se bhool payenge toh hamein bhool paoge na bolo shabash padhai par dhyan do apne ghar me sunao apne dost ko suna koi baat nahi mazak udane tab toh aap bhi apne me jaakar pehli baar hai theek hai na bol raha tha ki main lunga phir koi jadu kaise kaise pataye kaise theek hai abhi galat kabhi bhi time aayega chaddee body ka baccha bolo kyonki aap bhi mazak kar do yaar hamara bhi time aayega toh mazak ko mazak me mat le main andar hi andar apni practice karte raho 1 din acche ban jaoge jaldi saari subhkamnaayain

मिक्स वेज पर्वत स्टेज पर बोलने से डर लगता है तो इसमें विश्वास की कमी है यह आप बहुत से बहुत

Romanized Version
Likes  752  Dislikes    views  10735
KooApp_icon
WhatsApp_icon
30 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!