पेट की चर्बी कम करना ज़्यादा मुश्किल क्यों होता है?...


user

Radha Mohan

Yoga & Naturopathy Expert

6:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों से पेट की चर्बी कम करना ज्यादा मुश्किल क्यों होता है देखिए दोस्तों में बात बिल्कुल सही है कि यदि एक बार हमारे पेट पर चर्बी जमना स्टार्ट हो जाती है मेरी साइड डिपॉजिट होना प्रारंभ हो गया है तो फिर से कम करना बड़ा मुश्किल होता है ऐसा नहीं है किसको कम यही नहीं जा सकता डेफिनेटली हम को कम कर सकते हैं लेकिन उसके लिए पैशंस की आवश्यकता होती है धैर्य की आवश्यकता होती है और इसमें टाइम भी लगता है तुम ऐसा क्यों होता है पेट पर चर्बी क्यों जमती इसके पीछे क्या कारण है आइए जानते हैं जो हमें नियमित रूप से कोई लाभ होना फास्ट फूड जंक फूड का सेवन करते हैं ऐसा भोजन करते हैं जो यह लीड आईएस नहीं होता है बाहर का खाना जो तामसिक प्रवृत्ति का होता है जो वरिष्ठ होता है जब हम नियमित रूप से इसका सेवन करते हैं तो यह हमारे स्टमक में जाकर एसिड की मात्रा को बढ़ा देता है यदि आपको चाय को फिर कोल्ड ड्रिंक्स का सेवन करते हैं तो इनमें भी कुछ ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो हमारे डाइजेशन के लिए बहुत ही नुकसानदायक होते हैं इन सभी हमारे शरीर में स्टमक में एसिड कीमत बढ़ती है जब आप नियमित रूप से डिब्बाबंद पैकिंग वाली चीजों का उपभोग करते हैं ऐसी चीजें जो प्रोसेस ओके आ रही है जो किसी फैक्ट्री में बन रही है तो इस प्रकार की खाद्य वस्तुओं को ज्यादा से प्रिजर्वेटिव होते हैं जो हमारे शरीर के लिए हार्मफुल होते हैं 74 जब हम उनका सेवन करते हैं तो आज ही हमारे शरीर में एसिड की मात्रा को बढ़ा देते हैं दोस्तों जैसा कि हम सभी जानते हैं कि यदि हमारे शरीर में वात पित्त और कफ में से किसी भी एक की प्रवृत्ति ज्यादा हो जाती है तो फिर हमारे शरीर में बहुत सारे लोग आना प्रारंभ कर देते हैं तो जब एसिड की मात्रा बढ़ती है तो फिर बहुत सारे टॉक्सिक जमा होने लगते हैं क्योंकि इससे हमारे खाने का तो सही तरह से पाचन हो नहीं पाता है तो फिर एसिड रिफ्लक्स होने लगता है इस चमक से आगे हमारा जो भोजन है बिना पचा हुआ जब इंटेस्टाइन में पहुंचता है तो वहां पर विश का पूरी तरह से पहचान नहीं हो पाता है भोसड़ी टॉक्सिंस हमारी आंखों की अंदर की लहर पर जमा होने लगते हैं दूषित पदार्थ जमा होने लग जाते हैं जिससे हमारे जो मलकिन इसका निकली है वह कमजोर पड़ जाती है और इसका असर यह होता है कि यह सारे टॉक्सिन हमारे ब्लड में घुलना प्रारंभ हो जाता है बहुत सारे हैं जिनके अनगिनत ऐसे कोलेस्ट्रॉल का बढ़ना कोलेस्ट्रॉल बढ़ जाता है तुम्हारे हाथ के लिए बहुत नुकसानदायक होता है ब्लॉक किए जाने पर आरंभ हो जाते हैं किडनी लीवर और लंच में बहुत सारे इन्फेक्शन होना प्रारंभ कर देते हैं स्टमक इंटेस्टाइन को सारी प्रॉब्लम आनी शुरू हो जाती है तो कहने का मतलब यह है कि जब हम इस प्रकार का भोजन नियमित रूप से करते रहते हैं तो हमारा सही प्रकार से डाइजेशन हो नहीं पाता है कॉन्स्टिपेशन बना रहता है गैस्ट्रिक प्रॉब्लम बनी रहती है तो यह जब ऐसा होता है तो फिर तो एक्स्ट्रा जो सेट है जिसका हमारे शरीर में कोई काम नहीं रह जाता परंतु फिर भी इस प्रकार के भोजन का सेवन करने से यह सारा एक्स्ट्रा फैट है यह हमारे एडमिन पार्ट्स पर जमता रहता है डिपॉजिट होता रहता है हमारे पेट का साइज बढ़ जाता है कमर का साइज बढ़ जाता है और वह सारी प्रॉब्लम आना प्रारंभ हो जाती है तो यह कुछ ऐसे कारण था जिसकी वजह से ऐसी प्रॉब्लम ऐसी समस्या आती है तो जब भी हम अपने मोटापा को कम करने की बात करते हैं या फैट को कम करने की बात करते हैं फिर दूस करने की बात करते हैं तो हमारा सबसे पहला ध्यान हमारी डाइट पर जाना चाहिए आपसे कितनी दवाइयां ले लीजिए कितना कुछ कर लीजिए यदि लेकिन आपने अपने वजन पर कंट्रोल नहीं किया है कि अपने अच्छी डाइट का सेवन नहीं किया तो फिर आपका मोटापा निरंतर बढ़ता ही जाएगा कभी कम नहीं होगा मोटापा सिर्फ और सिर्फ तभी कम हो सकता है जब आप अपनी डाइट को कंट्रोल करें इस प्रकार की डाइट लेनी है हमें शुद्ध सात्विक और हल्का भोजन आपको खाना है अधिक से अधिक आपको फ्रेश फ्रूट और वेजिटेबल को अपने खाने में शामिल करना है फाइबर की मात्रा को बढ़ाना है जब फाइबर की मात्रा अपने भोजन में शामिल करते हैं तो आपके शरीर डिटॉक्सिफाई बनता है जो मल के निष्कासन की प्रक्रिया है वह तेज होती है तो जितने भी फ्रूट से उनका आप डायरेक्टर झूम कर सकते हैं अब शाम को दूसरों को डायरेक्ट है मोटे अनाज का सेवन करें मोटी दालों का इस्तेमाल करें खाने में जो तीन जहर माने जाते हैं सफेद जहर आयुर्वेद के अनुसार उनको आप बिल्कुल बंद करें चीनी मैदा नमक चीनी की जगह मिश्री या फिर गुड़ का सेवन कर सकते हैं मैदा की जगह आप आटे का सेवन करें और जो नमक आप इस्तेमाल करते हैं वाइट नमक जिसे हम ट्रिपल रिफाइंड कहते हैं वह हमारे शरीर के लिए बहुत नुकसानदायक होता है उसकी जगह आप चंद नमक का सेवन कर सकते हैं तो जब आप इन तीनों चीजों को चेंज करते हैं साथ-साथ इस प्रकार की डाइट को ऑफ मॉडिफाई करते हैं तो फिर आपकी जो पेट की चर्बी है फैट है वह धीरे-धीरे रिलीज होना प्रारंभ हो जाता है लेकिन उसका यह अचानक से नहीं होगा आप ही सोचिए कि आपके जो शरीर पर सेट कितने दिनों में बड़ा है जैसे 6 महीने लगेंगे साल भर लगा होगा डेट साल लोगों को लगा होगा तो उसको रिड्यूस होने में भी लगभग उतना ही टाइम लगेगा ऐसा नहीं है कि 1 साल भर में आपको पेट पर चर्बी चढ़ गई है और फिर आप यह चाहे कुछ को 1 महीने में कम कर ले ऐसा बिल्कुल भी पॉसिबल नहीं है लिस्ट जितना टाइम आप को वेट गेन करने में लगा है तो धीरे-धीरे आप उतना ही टाइम आपको वे टो रिड्यूस करने में लगेगा यह ने जल प्रोसेस होता है शरीर का यदि आप इसमें किसी प्रकार की मेडिसिन का सेवन करते हैं मोटापा कम करने के लिए तो सिर्फ वह उसको सारे साइड इफेक्ट होते हैं आपका कुछ समय के लिए वेट कम थोड़े ही हो सकता है परंतु उसके बहुत सारे साइड इफेक्ट होते हैं और जैसे आप इन दवाओं का सेवन बंद करते हैं वापस आपका वेट बढ़ जाता है तो आप इसकी जड़ को पकड़े हैं कि मोटापा क्यों हो रहा है पेट क्यों जमा हो रहा है वह इस प्रकार के खाने की वजह से हो रहा है तुझे वापिस प्रकार के खाने को बंद करेंगे और नेचुरल डाइट पर आएंगे तो धीरे-धीरे आपका जो बेटे को सुनना प्रारंभ कर देगा साथ ही साथ आर यू का भी अभ्यास करें कुछ ऐसे आसन है जो हमारी फैट को कम करते हैं हमारे जो पेट पर चर्बी उसको कम कर सकते हैं ऐसा ताड़ आसन का अभ्यास करें भुजंग आसन का अभ्यास कर सकते हैं चक्रासन उष्ट्रासन है उत्तानपादासन पश्चिमोत्तानासन है पवनमुक्तासना तुझे विष्णु का अभ्यास करते हैं सही प्रकार से तो इससे भी आपकी जो सेट है वह रिड्यूस होता है उसे प्राणायाम कर सकते हैं अनुलोम विलोम प्राणायाम आप करें अनुलोम विलोम प्राणायाम जवाब करते हैं तो इससे आपके शरीर में सूर्य और चांद नाड़ी का बैलेंस स्थापित होता है और आपकी जितने भी दूषित पदार्थ हैं वह सारे शरीर से बाहर होते हैं जितने भी गाड़ियां हैं उनके शुद्धि होती है जैसा कि हम सब जानते हैं नाड़ी शोधन प्राणायाम इसको इसीलिए कहा जाता है कि हमारे शरीर की इंटरनल से डिटॉक्सिफिकेशन होता है जब आप सही तरह से अपनी डाइट का पालन करते हैं अच्छी डाइट लेते हैं जैसे मैंने आपको यहां पर बताया और उस जब इसके साथ-साथ आप आसनों का और प्राणायाम का जो अभ्यास करते हैं तो डेफिनेटली आप अपने पेट की चर्बी को कम कर सकते हैं इसमें किसी भी प्रकार की कोई शंका नहीं है परंतु जैसा मैंने कहा आपको उसमें पेसेंस और धैर्य रखने की आवश्यकता है धन्यवाद

namaskar doston se pet ki charbi kam karna zyada mushkil kyon hota hai dekhiye doston me baat bilkul sahi hai ki yadi ek baar hamare pet par charbi jamana start ho jaati hai meri side deposit hona prarambh ho gaya hai toh phir se kam karna bada mushkil hota hai aisa nahi hai kisko kam yahi nahi ja sakta definetli hum ko kam kar sakte hain lekin uske liye patience ki avashyakta hoti hai dhairya ki avashyakta hoti hai aur isme time bhi lagta hai tum aisa kyon hota hai pet par charbi kyon jamti iske peeche kya karan hai aaiye jante hain jo hamein niyamit roop se koi labh hona fast food junk food ka seven karte hain aisa bhojan karte hain jo yah lead ias nahi hota hai bahar ka khana jo tamasik pravritti ka hota hai jo varishtha hota hai jab hum niyamit roop se iska seven karte hain toh yah hamare stomach me jaakar acid ki matra ko badha deta hai yadi aapko chai ko phir cold drinks ka seven karte hain toh inmein bhi kuch aise tatva paye jaate hain jo hamare digestion ke liye bahut hi nukasanadayak hote hain in sabhi hamare sharir me stomach me acid kimat badhti hai jab aap niyamit roop se dibbaband packing wali chijon ka upbhog karte hain aisi cheezen jo process ok aa rahi hai jo kisi factory me ban rahi hai toh is prakar ki khadya vastuon ko zyada se prijarvetiv hote hain jo hamare sharir ke liye harmful hote hain 74 jab hum unka seven karte hain toh aaj hi hamare sharir me acid ki matra ko badha dete hain doston jaisa ki hum sabhi jante hain ki yadi hamare sharir me vaat pitt aur cough me se kisi bhi ek ki pravritti zyada ho jaati hai toh phir hamare sharir me bahut saare log aana prarambh kar dete hain toh jab acid ki matra badhti hai toh phir bahut saare toxic jama hone lagte hain kyonki isse hamare khane ka toh sahi tarah se pachan ho nahi pata hai toh phir acid riflaks hone lagta hai is chamak se aage hamara jo bhojan hai bina pacha hua jab intestine me pahuchta hai toh wahan par wish ka puri tarah se pehchaan nahi ho pata hai bhosdi taksins hamari aakhon ki andar ki lahar par jama hone lagte hain dushit padarth jama hone lag jaate hain jisse hamare jo malkin iska nikli hai vaah kamjor pad jaati hai aur iska asar yah hota hai ki yah saare toxin hamare blood me ghulna prarambh ho jata hai bahut saare hain jinke anaginat aise cholesterol ka badhana cholesterol badh jata hai tumhare hath ke liye bahut nukasanadayak hota hai block kiye jaane par aarambh ho jaate hain KIDNEY liver aur lunch me bahut saare infection hona prarambh kar dete hain stomach intestine ko saari problem aani shuru ho jaati hai toh kehne ka matlab yah hai ki jab hum is prakar ka bhojan niyamit roop se karte rehte hain toh hamara sahi prakar se digestion ho nahi pata hai constipation bana rehta hai gastric problem bani rehti hai toh yah jab aisa hota hai toh phir toh extra jo set hai jiska hamare sharir me koi kaam nahi reh jata parantu phir bhi is prakar ke bhojan ka seven karne se yah saara extra fat hai yah hamare admin parts par jamata rehta hai deposit hota rehta hai hamare pet ka size badh jata hai kamar ka size badh jata hai aur vaah saari problem aana prarambh ho jaati hai toh yah kuch aise karan tha jiski wajah se aisi problem aisi samasya aati hai toh jab bhi hum apne motapa ko kam karne ki baat karte hain ya fat ko kam karne ki baat karte hain phir dus karne ki baat karte hain toh hamara sabse pehla dhyan hamari diet par jana chahiye aapse kitni davaiyan le lijiye kitna kuch kar lijiye yadi lekin aapne apne wajan par control nahi kiya hai ki apne achi diet ka seven nahi kiya toh phir aapka motapa nirantar badhta hi jaega kabhi kam nahi hoga motapa sirf aur sirf tabhi kam ho sakta hai jab aap apni diet ko control kare is prakar ki diet leni hai hamein shudh Satvik aur halka bhojan aapko khana hai adhik se adhik aapko fresh fruit aur vegetable ko apne khane me shaamil karna hai fiber ki matra ko badhana hai jab fiber ki matra apne bhojan me shaamil karte hain toh aapke sharir ditaksifai banta hai jo mal ke nishkasan ki prakriya hai vaah tez hoti hai toh jitne bhi fruit se unka aap director jhoom kar sakte hain ab shaam ko dusro ko direct hai mote anaaj ka seven kare moti daalon ka istemal kare khane me jo teen zehar maane jaate hain safed zehar ayurveda ke anusaar unko aap bilkul band kare chini maida namak chini ki jagah mishri ya phir good ka seven kar sakte hain maida ki jagah aap aate ka seven kare aur jo namak aap istemal karte hain white namak jise hum triple Refined kehte hain vaah hamare sharir ke liye bahut nukasanadayak hota hai uski jagah aap chand namak ka seven kar sakte hain toh jab aap in tatvo chijon ko change karte hain saath saath is prakar ki diet ko of madifai karte hain toh phir aapki jo pet ki charbi hai fat hai vaah dhire dhire release hona prarambh ho jata hai lekin uska yah achanak se nahi hoga aap hi sochiye ki aapke jo sharir par set kitne dino me bada hai jaise 6 mahine lagenge saal bhar laga hoga date saal logo ko laga hoga toh usko reduce hone me bhi lagbhag utana hi time lagega aisa nahi hai ki 1 saal bhar me aapko pet par charbi chad gayi hai aur phir aap yah chahen kuch ko 1 mahine me kam kar le aisa bilkul bhi possible nahi hai list jitna time aap ko wait gain karne me laga hai toh dhire dhire aap utana hi time aapko ve toe reduce karne me lagega yah ne jal process hota hai sharir ka yadi aap isme kisi prakar ki medicine ka seven karte hain motapa kam karne ke liye toh sirf vaah usko saare side effect hote hain aapka kuch samay ke liye wait kam thode hi ho sakta hai parantu uske bahut saare side effect hote hain aur jaise aap in dawaon ka seven band karte hain wapas aapka wait badh jata hai toh aap iski jad ko pakde hain ki motapa kyon ho raha hai pet kyon jama ho raha hai vaah is prakar ke khane ki wajah se ho raha hai tujhe vaapas prakar ke khane ko band karenge aur natural diet par aayenge toh dhire dhire aapka jo bete ko sunana prarambh kar dega saath hi saath R you ka bhi abhyas kare kuch aise aasan hai jo hamari fat ko kam karte hain hamare jo pet par charbi usko kam kar sakte hain aisa taad aasan ka abhyas kare bhujang aasan ka abhyas kar sakte hain chakrasan ushtrasan hai uttanapadasan pashchimottanasan hai pavanamuktasana tujhe vishnu ka abhyas karte hain sahi prakar se toh isse bhi aapki jo set hai vaah reduce hota hai use pranayaam kar sakte hain anulom vilom pranayaam aap kare anulom vilom pranayaam jawab karte hain toh isse aapke sharir me surya aur chand naadi ka balance sthapit hota hai aur aapki jitne bhi dushit padarth hain vaah saare sharir se bahar hote hain jitne bhi gadiyan hain unke shudhi hoti hai jaisa ki hum sab jante hain naadi sodhan pranayaam isko isliye kaha jata hai ki hamare sharir ki internal se ditaksifikeshan hota hai jab aap sahi tarah se apni diet ka palan karte hain achi diet lete hain jaise maine aapko yahan par bataya aur us jab iske saath saath aap aasanon ka aur pranayaam ka jo abhyas karte hain toh definetli aap apne pet ki charbi ko kam kar sakte hain isme kisi bhi prakar ki koi shanka nahi hai parantu jaisa maine kaha aapko usme pesens aur dhairya rakhne ki avashyakta hai dhanyavad

नमस्कार दोस्तों से पेट की चर्बी कम करना ज्यादा मुश्किल क्यों होता है देखिए दोस्तों में बात

Romanized Version
Likes  347  Dislikes    views  3467
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

vivek sharma

BANK PO| Astrologer | Mutual Fund Advisor। Career Counselor

0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उसने आपका पेट की चर्बी कम करने में जाना मुश्किल क्यों होती है उनके शरीर में भी चर्बी जाना होती है उन्हें अलग से बहुत होता है और वह थोड़ी सी चीज में थक जाते हैं तो सबसे पहले क्या कर रही है कि अपने खान पीन को कंट्रोल करिए मैं भूखा रहने के लिए आप से नहीं बोल रहा हूं मैं बोल रहा हूं कि आप साथ में खाना हल्का सुपाच्य खाना खाइए ज्यादा ज्यादा से ज्यादा कच्चा भोजन करिए सारे फल ककड़ी मूली टमाटर इनको पूरी सैलेड बनाकर पूरी थाली भरकर नींबू डालकर काला नमक डालकर खाइए एक समय का खाना दिन में अगर भूख लगती है एक गिलास जूस पी के शाम को खाना खाई है जब आप करेंगे तो आपके अंदर अलका पर आएगा और फिर जब आप पेट की चर्बी कम करने के लिए कुछ भी करेंगे तो आपको अच्छा रहेगा आप बीच में चाहिए छोड़ेंगे नहीं धन्यवाद

usne aapka pet ki charbi kam karne me jana mushkil kyon hoti hai unke sharir me bhi charbi jana hoti hai unhe alag se bahut hota hai aur vaah thodi si cheez me thak jaate hain toh sabse pehle kya kar rahi hai ki apne khan pin ko control kariye main bhukha rehne ke liye aap se nahi bol raha hoon main bol raha hoon ki aap saath me khana halka supachya khana khaiye zyada zyada se zyada kaccha bhojan kariye saare fal kakari muli tamatar inko puri salad banakar puri thali bharkar nimbu dalkar kaala namak dalkar khaiye ek samay ka khana din me agar bhukh lagti hai ek gilas juice p ke shaam ko khana khai hai jab aap karenge toh aapke andar alka par aayega aur phir jab aap pet ki charbi kam karne ke liye kuch bhi karenge toh aapko accha rahega aap beech me chahiye chodenge nahi dhanyavad

उसने आपका पेट की चर्बी कम करने में जाना मुश्किल क्यों होती है उनके शरीर में भी चर्बी जाना

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  448
WhatsApp_icon
play
user

Arvind Kumola

Indian Army

0:39

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए पेट की चर्बी कम करना कोई मुश्किल बात नहीं है पेट की चर्बी कम करने के बहुत सारे साधन है बहुत सारे एक्सप्रेस है आप सेट अप का इस्तेमाल कर सकते हैं मॉर्निंग टाइम पर लगभग 30 से नॉर्मल डाउन टाइम पर 20 से 25 सेटअप और अगर आप धीरे-धीरे रूटीन में करते जाएंगे करते जाएंगे तो 50 से 500 सेटअप मारते रहिए और टाइमर लगा कि आप एक पेड़ पर कितना सेटअप मारते हैं अगर अस लैंड चोट मारते हैं तो एक बार में लगभग 45 स्टेप करना बहुत जरूरी है अब जाके लगेगा कि आप की पेट की चर्बी कम होती जा रही है

dekhiye pet ki charbi kam karna koi mushkil baat nahi hai pet ki charbi kam karne ke bahut saare sadhan hai bahut saare express hai aap set up ka istemal kar sakte hain morning time par lagbhag 30 se normal down time par 20 se 25 setup aur agar aap dhire dhire routine mein karte jaenge karte jaenge toh 50 se 500 setup marte rahiye aur timer laga ki aap ek ped par kitna setup marte hain agar us land chot marte hain toh ek baar mein lagbhag 45 step karna bahut zaroori hai ab jake lagega ki aap ki pet ki charbi kam hoti ja rahi hai

देखिए पेट की चर्बी कम करना कोई मुश्किल बात नहीं है पेट की चर्बी कम करने के बहुत सारे साधन

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  505
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!