भारत कनाडा के प्रधान मंत्री जस्टिन ट्रूडो के साथ अशिष्ट क्यों है?...


play
user

Awdhesh Singh

Former IRS, Top Quora Writer, IAS Educator

0:38

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे ऐसा लगता है कि यह जो हमारी डिप्लोमेसी है उसकी कमजोरी है और इसकी जो है वह दूरदर्शिता की कमी है क्योंकि कनाडा जो है वह विश्व के सबसे जो डेवलप्ड कंट्री से उसमें एक है और मैं समझता हूं कि वहां के प्रधानमंत्री हमारे यहां पर एक हफ्ते के दौरे पर हैं और उनके साथ उनको जो हमें रिस्पांस देना चाहिए था और जिस तरीके से उनके साथ में हमें पेश आना चाहिए था हम लोग उस तरीके से पेश नहीं आ रहे हैं और मैं तो कम से कम व्यक्तिगत तौर पर इस से संतुष्ट नहीं हूं कि हमको जो है उनके प्रधानमंत्री के साथ इस तरीके से बिहेव करना चाहिए था जैसा किया जा रहा है

mujhe aisa lagta hai ki yeh jo hamari diplomacy hai uski kamjori hai aur iski jo hai wah doordarshita ki kami hai kyonki canada jo hai wah vishwa ke sabse jo developed country se usamen chahiye ek hai aur main samajhata hoon ki wahan ke pradhanmantri hamare yahan par ek hafte ke daure par hain aur unke saath unko jo hume response dena chahiye tha aur jis tarike se unke saath mein hume pesh aana chahiye tha hum log us tarike se pesh nahi aa rahe hain aur main to kum se kum vyaktigat taur par is se santusht nahi hoon ki hamko jo hai unke pradhanmantri ke saath is tarike se behave karna chahiye tha jaisa kiya ja raha hai

मुझे ऐसा लगता है कि यह जो हमारी डिप्लोमेसी है उसकी कमजोरी है और इसकी जो है वह दूरदर्शिता क

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  318
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Shubham

Software Engineer in IBM

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

DJ मुझे नहीं लगता है कि भारत ने कनाडा के प्राइम मिनिस्टर के साथ कोई अशिष्ट व्यवहार किया है जो कि नहीं करना चाहिए था ऐसा कुछ भी नहीं है देखे इस इशू को जितना मीडिया में उछाला है और इस पर जितना आलोचना हो रही है उतनी नहीं होनी चाहिए ऐसा कुछ भी नहीं हुआ है यह सिर्फ मनगढ़ंत कहानियां बन रही है अगर मोदी जी ने उनका वेलकम नहीं किया इसका मतलब यह नहीं है कि उन्होंने कोई प्रोटोकॉल तोड़ा है कभी-कभी व्यस्त होने के कारण जरूरी नहीं है कि हम हर लीडर का स्वागत करें या उनसे मिल पाए ऐसा बिल्कुल भी जरूरी नहीं है तो इसलिए उन्होंने कोई प्रोटोकॉल नहीं तोड़ा वह अभी कर्नाटक के इलेक्शन में बिजी हैं इसलिए वह उनका स्वागत करने नहीं जा पाया तो उन्होंने अपने जगह एक कैबिनेट मिनिस्टर को भेजा उनका स्वागत करने के लिए तो मुझे नहीं लगता कि कोई स्वागत में कमी हुई है या फिर कुछ ऐसा हुआ है जिसको इश्क बनाया जा रहा है पहली चीज यह है और दूसरी चीज आप यह समझें कि जब 2016 भारत के प्रधानमंत्री कनाडा गए थे विजिट पर तब वहां के प्रधानमंत्री कनाडा के प्रधानमंत्री भी उसे नहीं मिलने आए मतलब उन्होंने उनका स्वागत नहीं किया तब तो कोई इशू नहीं बना इस बात का और ना ही मीडिया ने इस बात को इतना उछाला और ना ही मोदी जी ने इसको माइंड किया और उसके बाद भी नागिन 2 कंट्रीस के बीच में जो दोस्ती है उसमें कमी आई तो मुझे नहीं लगता कि हमारी मीडिया को या फिर आम जनता को इस बात को इतना सोचना चाहिए और जिस तरीके से अभी कैलेडियम प्राइम मिनिस्टर दो धोरे कर रहे हैं और उन्होंने जो स्पीच दिया उसको देखते हुए लगता नहीं है कि उन्होंने इस बात को माइंड किया है और जो am फैसले हुए हैं 2 दिन में वह काफी अच्छे हैं जैसे लगभग 666 न्यू कॉन्ट्रैक्ट लगभग 1 बिलियन डॉलर का साइन हुआ है तो मुझे नहीं लगता है कि कोई माइंड किया गया इस बात को या फिर जो प्राइम मिनिस्टर उनको उन्होंने इस बात को ज्यादा माइंड किया है ऐसा कुछ भी नहीं है तो हमें नहीं सोच

DJ mujhe nahi lagta hai ki bharat ne canada ke prime minister ke saath koi ashisht vyavhar kiya hai jo ki nahi karna chahiye tha aisa kuch bhi nahi hai dekhe is issue ko jitna media mein uchala hai aur is par jitna aalochana ho rahi hai utani nahi honi chahiye aisa kuch bhi nahi hua hai yah sirf managdhant kahaniya ban rahi hai agar modi ji ne unka welcome nahi kiya iska matlab yah nahi hai ki unhone koi protocol toda hai kabhi kabhi vyast hone ke karan zaroori nahi hai ki hum har leader ka swaagat kare ya unse mil paye aisa bilkul bhi zaroori nahi hai toh isliye unhone koi protocol nahi toda vaah abhi karnataka ke election mein busy hain isliye vaah unka swaagat karne nahi ja paya toh unhone apne jagah ek cabinet minister ko bheja unka swaagat karne ke liye toh mujhe nahi lagta ki koi swaagat mein kami hui hai ya phir kuch aisa hua hai jisko ishq banaya ja raha hai pehli cheez yah hai aur dusri cheez aap yah samajhe ki jab 2016 bharat ke pradhanmantri canada gaye the visit par tab wahan ke pradhanmantri canada ke pradhanmantri bhi use nahi milne aaye matlab unhone unka swaagat nahi kiya tab toh koi issue nahi bana is baat ka aur na hi media ne is baat ko itna uchala aur na hi modi ji ne isko mind kiya aur uske baad bhi nagin 2 kantris ke beech mein jo dosti hai usme kami I toh mujhe nahi lagta ki hamari media ko ya phir aam janta ko is baat ko itna sochna chahiye aur jis tarike se abhi kailediyam prime minister do dhore kar rahe hain aur unhone jo speech diya usko dekhte hue lagta nahi hai ki unhone is baat ko mind kiya hai aur jo am faisle hue hain 2 din mein vaah kaafi acche hain jaise lagbhag 666 new contracts lagbhag 1 billion dollar ka sign hua hai toh mujhe nahi lagta hai ki koi mind kiya gaya is baat ko ya phir jo prime minister unko unhone is baat ko zyada mind kiya hai aisa kuch bhi nahi hai toh hamein nahi soch

DJ मुझे नहीं लगता है कि भारत ने कनाडा के प्राइम मिनिस्टर के साथ कोई अशिष्ट व्यवहार किया है

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  71
WhatsApp_icon
user

Vatsal

Engineering Student

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह बिल्कुल सही बात है कि भारत का रवैया कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो के खिलाफ थोड़ा अशिष्ट रहा है लेकिन उसका कोई कारण है कि कनाडा के प्रधानमंत्री मिस्टर 20:00 बज चुके थे और उनकी यात्रा BF खत्म हो चुकी है तो 5 दिन के बाद उनकी पहली मुलाकात हुई है भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से हम सब जानते हैं कि नरेंद्र मोदी जो है वह विदेशी मेहमान का कितने अच्छे से स्वागत करते हैं कई बार प्रोटोकॉल का उल्लंघन करके वह खुद एयरपोर्ट कौन को लेने गए हैं लेकिन यहां पर 5 दिन बाद उनसे मुलाकात होती है 5 दिन बाद भी अलग की 6 अग्रीमेंट साइन हुए हैं लेकिन उसके बाद भी तो जॉइंट कॉन्फ्रेंस हुई है दोनों में उसमें साफ संदेशा दिया नरेंद्र मोदी जी ने कि जो भी पॉलिटिकल फायदे के लिए रंजन का गलत इस्तेमाल करते हैं यह सरप्राइज मन की भावना रखते हैं उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए यह रवि शर्मा कनाडा के प्रधानमंत्री के लिए

yeh bilkul sahi baat hai ki bharat ka ravaiya canada ke pradhanmantri justin trudeau ke khilaf thoda ashisht raha hai lekin uska koi kaaran hai ki canada ke pradhanmantri mister 20:00 baj chuke the aur unki yatra BF khatam ho chuki hai to 5 din ke baad unki pehli mulakat hui hai bhartiya pradhanmantri narendra modi ji se hum sab jante hain ki narendra modi jo hai wah videshi mehmaan ka kitne acche se swaagat karte hain kai baar protocol ka ullanghan karke wah khud airport kaun ko lene gaye hain lekin yahan par 5 din baad unse mulakat hoti hai 5 din baad bhi alag ki 6 agreement sign hue hain lekin uske baad bhi to joint conference hui hai dono mein usamen chahiye saaf sandesha diya narendra modi ji ne ki jo bhi political fayde ke liye ranjan ka galat istemal karte hain yeh surprise man ki bhavna rakhate hain unke khilaf kadi karyawahi honi chahiye yeh ravi sharma canada ke pradhanmantri ke liye

यह बिल्कुल सही बात है कि भारत का रवैया कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो के खिलाफ थोड़ा

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  16
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!