सिविल सेवा परीक्षा के आकांक्षी के रूप में मैं यह जानना चाहता हूँ कि वे लिखित परीक्षा में किसी उत्तर को अच्छे, औसत या बुरे उत्तर के रूप में कैसे आंकते हैं?...


play
user

Brijesh Singh

Faculty at Supreme IAS Allahabad

2:02

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए सिविल सेवा में जो होता क्वेश्चन के लिए वर्ड लिमिट होती है जैसे आपको ढाई सौ शब्द शब्द ऐसे दिए रहते हैं उसके कोडिंग आपको अपना ऐसा लिखना होता है अच्छा उत्तर लिखने के लिए सबसे जरूरी यह होता है कि प्रश्न क्या पूछा जा रहा है जैसे जो प्रश्न पूछा गया और आपको एक शब्द बाउंड्री है तो जो क्वेश्चन पूछा गया उसके रिकॉर्डिंग आपको आंसर लिखना है ज्यादा आपको भूमिका बहुत बड़ी नहीं बनानी है और फालतू की चीजें जैसे कोई औचित्य नहीं है उस पर उसमें उसको आपको नहीं लिखना है तो जैसे अच्छा आइटम सिविल जब भी होता कि क्वेश्चन में कई क्वेश्चन होते हैं 123 क्वेश्चन पूछे जाते हैं कभी-कभी तो आपको अच्छा नंबर पाने के लिए सारा क्वेश्चन का आंसर देना होता है मतलब एक ही क्वेश्चन में मान लीजिए सबसे पहले पूछा गया कि इसकी परिभाषा बताइए फिर इसके कारण बताइए फिर इसका उद्देश्य क्या है मोदी जी जैसे जन सूचना का अधिकार आ गया कि के बारे में आपको लिखना है सबसे पहले उसके बारे में आप की परिभाषा दीजिए जन सूचना अधिकार कब लागू किया गया इसका उद्देश्य क्या है फिर इसको लागू करने में कौन-कौन सी समस्याएं आ रही हैं जिसका बेनिफिट क्या है तो इस तरह सेंसर जब आप कोई भी क्वेश्चन एक निश्चित शब्द सीमा में और प्रश्न के अनुसार देते हैं तो आपको मैं क्यों नंबर अच्छा नंबर मिलता है इसके रिकॉर्डिंग नहीं देंगे और अपने आप से कुछ छोड़ दिए तो फिर आपको नंबर कब मिलता है या नहीं मिलता है थैंक यू

dekhiye civil seva mein jo hota question ke liye word limit hoti hai jaise aapko dhai sau shabd shabd aise diye rehte hain uske coding aapko apna aisa likhna hota hai accha uttar likhne ke liye sabse zaroori yah hota hai ki prashna kya poocha ja raha hai jaise jo prashna poocha gaya aur aapko ek shabd boundary hai toh jo question poocha gaya uske recording aapko answer likhna hai zyada aapko bhumika bahut badi nahi banani hai aur faltu ki cheezen jaise koi auchitya nahi hai us par usme usko aapko nahi likhna hai toh jaise accha item civil jab bhi hota ki question mein kai question hote hain 123 question pooche jaate hain kabhi kabhi toh aapko accha number paane ke liye saara question ka answer dena hota hai matlab ek hi question mein maan lijiye sabse pehle poocha gaya ki iski paribhasha bataye phir iske karan bataye phir iska uddeshya kya hai modi ji jaise jan soochna ka adhikaar aa gaya ki ke bare mein aapko likhna hai sabse pehle uske bare mein aap ki paribhasha dijiye jan soochna adhikaar kab laagu kiya gaya iska uddeshya kya hai phir isko laagu karne mein kaun kaun si samasyaen aa rahi hain jiska benefit kya hai toh is tarah censor jab aap koi bhi question ek nishchit shabd seema mein aur prashna ke anusaar dete hain toh aapko main kyon number accha number milta hai iske recording nahi denge aur apne aap se kuch chod diye toh phir aapko number kab milta hai ya nahi milta hai thank you

देखिए सिविल सेवा में जो होता क्वेश्चन के लिए वर्ड लिमिट होती है जैसे आपको ढाई सौ शब्द शब्द

Romanized Version
Likes  58  Dislikes    views  772
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!