आयुर्वेदिक मालिश क्या है?...


user

Bhavesh Ahir

Naturopath

0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पंचकर्म में यह अभ्यंगम जो होता है वह शरीर को डिटॉक्स करने के लिए किया जाता है उसमें दो प्रकार के होते पहले पेशेंट को थोड़ा-थोड़ा उसको पढ़ा जाता है 7 दिन के लिए होता है कि हम करते हैं जिसको हम कहते हैं तो क्या होता है जिसको देखकर किया जाता है तो उसको रिटर्न करने के लिए जाते हैं

panchkarm me yah abhyangam jo hota hai vaah sharir ko detox karne ke liye kiya jata hai usme do prakar ke hote pehle patient ko thoda thoda usko padha jata hai 7 din ke liye hota hai ki hum karte hain jisko hum kehte hain toh kya hota hai jisko dekhkar kiya jata hai toh usko return karne ke liye jaate hain

पंचकर्म में यह अभ्यंगम जो होता है वह शरीर को डिटॉक्स करने के लिए किया जाता है उसमें दो प्र

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  72
WhatsApp_icon
18 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Dr Snehal Kadam

Ayurvedic Consultant

1:15

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आयुर्वेदिक अभ्यंगम मसाज होता है फुल बॉडी का मसाज होता है या फिर लोकल जहां पर भी तकलीफ है वहां का भी मिलता है इससे पहले भी बताया था वही चीज है किसी भी चीज को अगर आप ही लगाते हो कुछ भी स्नेहा लगाते हो तो वह वेकेशन का काम करता है बॉडी में दूसरी कुछ भी अगर लगाओगे ऑयल बगैरा अपना करोगे तो उसके ऊपर कोई भी पास नहीं होंगे वापस जब भी होता है यह गम होता है तो उसमें हम पहले गलत पान मतलब जीत दिलाते तो इंटरनली भी इसमें अपन होता है और एक्सटर्नली भी अध्ययन करवाया जाता है दूसरा काम स्टार्ट नहीं होने चाहिए बॉडी में और तीसरी बार जब तक हुए पौधे से मसाज के बाद जनरल टीम करना होता है अगर ना होता है पुस्तक हुआ डॉगी के साथ भाग से उसकी जगह पर छोड़कर और स्टमक में आ जाए जिससे हम बाहर निकाल सकते इसलिए मजाक किया जाता है

ayurvedic abhyangam Massage hota hai full body ka Massage hota hai ya phir local jahan par bhi takleef hai wahan ka bhi milta hai isse pehle bhi bataya tha wahi cheez hai kisi bhi cheez ko agar aap hi lagate ho kuch bhi sneha lagate ho toh vaah vacation ka kaam karta hai body mein dusri kuch bhi agar lagaoge oil bagaira apna karoge toh uske upar koi bhi paas nahi honge wapas jab bhi hota hai yah gum hota hai toh usmein hum pehle galat pan matlab jeet dilate toh intaranali bhi isme apan hota hai aur eksatarnali bhi adhyayan karvaya jata hai doosra kaam start nahi hone chahiye body mein aur teesri baar jab tak hue paudhe se Massage ke baad general team karna hota hai agar na hota hai pustak hua doggy ke saath bhag se uski jagah par chhodkar aur stomach mein aa jaaye jisse hum bahar nikaal sakte isliye mazak kiya jata hai

आयुर्वेदिक अभ्यंगम मसाज होता है फुल बॉडी का मसाज होता है या फिर लोकल जहां पर भी तकलीफ है व

Romanized Version
Likes  490  Dislikes    views  5912
WhatsApp_icon
user

Dr.Shaikh Feroz Ahemad

Ayurvedic Doctor

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुस्कान पिक्चर पांच कैटेगरी के अलग-अलग चलाते हैं जो मर गए हैं जो मसल्स टाइट हो गए हैं उनके अंदर अकड़न जैसी अगर कुछ आती है जिसकी वजह से जो है अपना हर वक्त जो करना चाहिए वह नहीं हो पा रहा है उसके लिए दिक्कत हो रही है पेन हो रहा है तो मत भेजो है और उसके अंदर जो भी आ गई है वह लूज हो जाती है और वर्कआउट करते हैं

muskaan picture paanch category ke alag alag chalte hain jo mar gaye hain jo muscles tight ho gaye hain unke andar akadan jaisi agar kuch aati hai jiski wajah se jo hai apna har waqt jo karna chahiye vaah nahi ho paa raha hai uske liye dikkat ho rahi hai pen ho raha hai toh mat bhejo hai aur uske andar jo bhi aa gayi hai vaah loose ho jaati hai aur workout karte hain

मुस्कान पिक्चर पांच कैटेगरी के अलग-अलग चलाते हैं जो मर गए हैं जो मसल्स टाइट हो गए हैं उनके

Romanized Version
Likes  34  Dislikes    views  480
WhatsApp_icon
user

Dr. Avdesh Yadav

Ayurvedic Doctor

0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आयुर्वेदिक मालिश बोले तो जनरल कुछ मेडिकेटेड ऑयल किसे करते हैं हमारे तो कुछ मेडिकेटेड जो ऑयल शुगर होते हैं उनका बॉडी के बॉडी को पार्टिकुलर में बोले तो अपन की तरफ मालिश की जाती है

ayurvedic maalish bole toh general kuch medicated oil kise karte hain hamare toh kuch medicated jo oil sugar hote hain unka body ke body ko particular mein bole toh apan ki taraf maalish ki jaati hai

आयुर्वेदिक मालिश बोले तो जनरल कुछ मेडिकेटेड ऑयल किसे करते हैं हमारे तो कुछ मेडिकेटेड जो ऑय

Romanized Version
Likes  28  Dislikes    views  400
WhatsApp_icon
user

Yogendra Solanki

Ayurvedic Massage Therapist

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आयुर्वेदिक मसाज लक्ष्मण होता है कृष्णा होती है शिरोधारा म चंद्र ग्रहण कब होता है ₹20 का

ayurvedic Massage lakshman hota hai krishna hoti hai shirodhara main chandra grahan kab hota hai Rs ka

आयुर्वेदिक मसाज लक्ष्मण होता है कृष्णा होती है शिरोधारा म चंद्र ग्रहण कब होता है ₹20 का

Romanized Version
Likes  118  Dislikes    views  1512
WhatsApp_icon
user

Dr. Sandeep Shah

Ayurvedic Doctor

1:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

9:00 आयुर्वेदिक मसाज का तरीका होता है अभी अंग बॉडी के अंदर जो आपको हाथ से टच करके ज्वाइन लगाया जाता है वह अध्ययन कहलाता है यह हम आयुर्वेदिक तेल से करते हैं जिस तरह की जरूरत लगे इन सामान्य तौर पर तिल का तेल इस्तेमाल किया जाता है अभ्यंग आयुर्वेदिक जो एक थेरेपी है मसाज की इसमें कभी भी प्रेशर नहीं लगाते हैं यह 2 तरीके से करते हैं अनुलोम मन और विलोम तरीके से शुद्धि क्रिया के लिए अलग तरीके से मसाज होती है आयुर्वेदिक पंचकर्म सेंटर में वैसा फॉलो करते हैं और एक जनरल डे टुडे लाइफ के अंदर एक अनुलोम तरीके से होती है आयुर्वेदिक तेल की मसाज वाला तरीके से करते हैं इस तरीके से संवाहन करते हुए पेड़ों से जग्गू तेल अंदर जाती है इसकी उनके अंदर तो वह एक नेचुरल डिटॉक्सिकेट लेकर आती है 5 मिनट लगती है शरीर के अंदर एक-एक लेयर के अंदर घुसने के लिए आयुर्वेद के हिसाब से शरीर के अंदर सात धातु की सा प्लेयर है रस रक्त मांस मेद अस्थि मज्जा शुक्र हर पांच-पांच मिनट कर लेते हैं अब एक-एक ईयर के अंदर जाने के लिए तो टोटल मिलाकर 35 मिनट होते हैं तो कोई भी तेल अध्ययन करते हैं आयुर्वेदिक तेल से तो 35 मिनट तक लगभग 3 अंदर घुसता है या फिर आप दूसरा शतक 35 मिनट तक आप अंकल कैसे लगाते हैं आयुर्वेदिक तेल अपने शरीर के ऊपर तो वो शरीर के साथ तो धातु में जाकर छुट्टी करने डिटॉक्सिकेट लेकर आती है थैंक यू

9 00 ayurvedic Massage ka tarika hota hai abhi ang body ke andar jo aapko hath se touch karke join lagaya jata hai vaah adhyayan kehlata hai yah hum ayurvedic tel se karte hain jis tarah ki zaroorat lage in samanya taur par til ka tel istemal kiya jata hai abhyang ayurvedic jo ek therapy hai Massage ki isme kabhi bhi pressure nahi lagate hain yah 2 tarike se karte hain anulom man aur vilom tarike se shudhi kriya ke liye alag tarike se Massage hoti hai ayurvedic panchkarm center mein waisa follow karte hain aur ek general day today life ke andar ek anulom tarike se hoti hai ayurvedic tel ki Massage vala tarike se karte hain is tarike se sanvahan karte hue pedon se jaggu tel andar jaati hai iski unke andar toh vaah ek natural ditaksiket lekar aati hai 5 minute lagti hai sharir ke andar ek ek layer ke andar ghusne ke liye ayurveda ke hisab se sharir ke andar saat dhatu ki sa player hai ras rakt maans med asthi majja shukra har paanch paanch minute kar lete hain ab ek ek year ke andar jaane ke liye toh total milakar 35 minute hote hain toh koi bhi tel adhyayan karte hain ayurvedic tel se toh 35 minute tak lagbhag 3 andar ghuste hai ya phir aap doosra shatak 35 minute tak aap uncle kaise lagate hain ayurvedic tel apne sharir ke upar toh vo sharir ke saath toh dhatu mein jaakar chhutti karne ditaksiket lekar aati hai thank you

9:00 आयुर्वेदिक मसाज का तरीका होता है अभी अंग बॉडी के अंदर जो आपको हाथ से टच करके ज्वाइन ल

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  151
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बेताबी है जो पंचकर्म होता है ना उसी ने यह तस्वीर देख कर बताता भी मतलब पढ़ाई होता है वह सब देखना पड़ता है किस तरह से पता होता है इसमें आप लोग जब वह कोई सेकेंड लगता है दर्द होता तो उसमें तेल का मालिश उठते हैं तो आप अधिकतर देखते हैं तेल का मालिश जो करते हैं वह ऊपर से नीचे करते हैं लेकिन हमारे ऊपर करवाते हैं उससे क्या होता है कि जो अगर गैस साथ का भरा हुआ है इधर उधर तो वह सिमट के आपकी सोच के द्वारा जिसको हवा बनकर हवा छोड़ना द्वारा कुछ दर्द भरा

betabi hai jo panchkarm hota hai na usi ne yeh tasveer dekh kar batata bhi matlab padhai hota hai wah sab dekhna padta hai kis tarah se pata hota hai ismein aap log jab wah koi second lagta hai dard hota toh usmein tel ka maalish uthte hain toh aap adhiktar dekhte hain tel ka maalish jo karte hain wah upar se neeche karte hain lekin hamare upar karwaate hain usse kya hota hai ki jo agar gas saath ka bhara hua hai idhar udhar toh wah simat ke aapki soch ke dwara jisko hawa bankar hawa chhodna dwara kuch dard bhara

बेताबी है जो पंचकर्म होता है ना उसी ने यह तस्वीर देख कर बताता भी मतलब पढ़ाई होता है वह सब

Romanized Version
Likes  42  Dislikes    views  571
WhatsApp_icon
user

Dr.S.Kumar

Ayurvedic Doctor

0:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आयुर्वेद मसला में बैठा हूं मैन मदन होता है तेल लगा कर के चुम्मा लिया जाता अनुसार यात्रा

ayurveda masala mein baitha hoon man madan hota hai tel laga kar ke chumma liya jata anusaar yatra

आयुर्वेद मसला में बैठा हूं मैन मदन होता है तेल लगा कर के चुम्मा लिया जाता अनुसार यात्रा

Romanized Version
Likes  24  Dislikes    views  874
WhatsApp_icon
user

Anil Kumar

Ayurveda Specialist

0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

से लेकर 4 तक पूरा-पूरा कोलकाता से जो सब कुछ दूर हो जाता है

se lekar 4 tak pura pura kolkata se jo sab kuch dur ho jata hai

से लेकर 4 तक पूरा-पूरा कोलकाता से जो सब कुछ दूर हो जाता है

Romanized Version
Likes  28  Dislikes    views  610
WhatsApp_icon
user

Dinesan Namboodiri

Ayurvedic Doctor

0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आयुर्वेदिक मालिश मतलब आयुर्वेदिक ऑयल रेट है उसे गर्म करके पूरा शरीर पर लगा जगाता है एक घंटा लगता है उसके लिए अर्थराइटिस स्पॉन्डलोसिस जॉइंट पेन उसके लिए

ayurvedic maalish matlab ayurvedic oil rate hai use garam karke pura sharir par laga jagata hai ek ghanta lagta hai uske liye arthritis spandalosis joint pen uske liye

आयुर्वेदिक मालिश मतलब आयुर्वेदिक ऑयल रेट है उसे गर्म करके पूरा शरीर पर लगा जगाता है एक घंट

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  496
WhatsApp_icon
user

Dr.Pradeep

Ayurvedic Doctor

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आयुर्वेदिक सेक्सी लिखी होती है होती है या ब्लड सरकुलेशन वगैरह नहीं होता है तो कुछ उल्टा टाइम हो गया बैक पेन हो गया भाई बहन हो गया या इंपॉर्टेंट होती है

ayurvedic sexy likhi hoti hai hoti hai ya blood sarakuleshan vagairah nahi hota hai toh kuch ulta time ho gaya back pen ho gaya bhai behen ho gaya ya important hoti hai

आयुर्वेदिक सेक्सी लिखी होती है होती है या ब्लड सरकुलेशन वगैरह नहीं होता है तो कुछ उल्टा टा

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  283
WhatsApp_icon
user

Himansu Vaidya

Ayurvedic Doctor

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बेटा भी जो पंचकर्म होता है ना उसी में यह तो आज भी दिक्कत आज का भेद मतलब पढ़ाई होता है वह सब देखना पड़ता है किस तरह से पता होता है इसमें आप लोग ज्यादा कोई सेकेंड लगता है दर्द होता तो उसमें तेल का मालिश उठते हैं तो आप अधिकतर देखते हैं तेल का मालिश जो करते हैं वह ऊपर से नीचे करते हैं लेकिन हमारे ऊपर करवाते हैं उससे क्या होता है कि जो अगर गैस साथ का भरा हुआ है इधर उधर तो वह सिमट के आपकी सोच के द्वारा जिसको हवा बोलते हैं हवा छोड़ना द्वारा कुछ दर्द भरा

beta bhi jo panchkarm hota hai na usi mein yeh toh aaj bhi dikkat aaj ka bhed matlab padhai hota hai wah sab dekhna padta hai kis tarah se pata hota hai ismein aap log zyada koi second lagta hai dard hota toh usmein tel ka maalish uthte hain toh aap adhiktar dekhte hain tel ka maalish jo karte hain wah upar se neeche karte hain lekin hamare upar karwaate hain usse kya hota hai ki jo agar gas saath ka bhara hua hai idhar udhar toh wah simat ke aapki soch ke dwara jisko hawa bolte hain hawa chhodna dwara kuch dard bhara

बेटा भी जो पंचकर्म होता है ना उसी में यह तो आज भी दिक्कत आज का भेद मतलब पढ़ाई होता है वह स

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  453
WhatsApp_icon
user

Dr.Shrivastava Sumit

Ayurvedic Doctor | Ayush Doctor

0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

2 शरीर के संग जैसे हमारी तरफ इन बॉडी में मालिश करने से

2 sharir ke sang jaise hamari taraf in body mein maalish karne se

2 शरीर के संग जैसे हमारी तरफ इन बॉडी में मालिश करने से

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  353
WhatsApp_icon
user

Dr Heema Nanwati

Ayurvedic Doctor

1:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मालिनी अगर आप पूछेंगे तो आप यंग में फैल जाता है हर एक व्यक्ति के अनुरूप उसके दोष के अनुसार कोई लिए जाते हैं ऋतिक सीजन के हिसाब से ऋतु की हिसाब से अधिक तेल लिया जाता है और उस मालिश की जाती है मालिश करने के लिए तरीका बताया गया है कि किस तरह से मालिश करनी चाहिए बलम अनु अनु निरीक्षण में आने की आपकी जो बाल है बाल का कनेक्शन है इलेक्शन में मालिश करनी चाहिए अभी मतलब सिर्फ तेल की मालिश ऐसे ही माना जाता है लेकिन तेल की मालिश किस सीजन में कैसे कभी कितनी देर के लिए करनी चाहिए आयुर्वेदिक मालिश नहीं करना चाहती है बुखार है सर्दी खांसी है कभी मालिश नहीं करना चाहिए आपको कौन-कौन से प्रकार की बीमारी है और बाकी पेंचवेली

malini agar aap puchhenge toh aap young mein fail jata hai har ek vyakti ke anurup uske dosh ke anusaar koi liye jaate hain ritik season ke hisab se ritu ki hisab se adhik tel liya jata hai aur us maalish ki jati hai maalish karne ke liye tarika bataya gaya hai ki kis tarah se maalish karni chahiye balma anu anu nirikshan mein aane ki aapki jo baal hai baal ka connection hai election mein maalish karni chahiye abhi matlab sirf tel ki maalish aise hi mana jata hai lekin tel ki maalish kis season mein kaise kabhi kitni der ke liye karni chahiye ayurvedic maalish nahi karna chahti hai bukhar hai sardi khansi hai kabhi maalish nahi karna chahiye aapko kaun kaun se prakar ki bimari hai aur baki penchaveli

मालिनी अगर आप पूछेंगे तो आप यंग में फैल जाता है हर एक व्यक्ति के अनुरूप उसके दोष के अनुसार

Romanized Version
Likes  30  Dislikes    views  607
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका परिचय आयुर्वेदिक मालिश क्या है विजय आयुर्वेद में चिकन भी होता है इसलिए का मतलब मालिश करना और जॉर्जिया उजागर के तेल की मालिश की जाती है तो वह लोग बस मन करता है और दोषों का शमन करता है यह उपयुक्त होते हैं

aapka parichay ayurvedic maalish kya hai vijay ayurveda mein chicken bhi hota hai isliye ka matlab maalish karna aur georgia ujagar ke tel ki maalish ki jaati hai toh vaah log bus man karta hai aur doshon ka shaman karta hai yah upyukt hote hain

आपका परिचय आयुर्वेदिक मालिश क्या है विजय आयुर्वेद में चिकन भी होता है इसलिए का मतलब मालिश

Romanized Version
Likes  72  Dislikes    views  740
WhatsApp_icon
user

C B Pathak

Ayurvedic Doctor

1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी वह अलग अलग रोगी को अलग-अलग जरूरत के अनुसार में साफ किया जाता है अब उसमें जैसे किसी को महानारायण तेल की मालिश की जरूरत पड़ सकती है किसी को सरसों के तेल की मालिश कर सकती आप उसका दो मुख काम है शरीर के भीतर जो आजकल लोग बोलते हैं ग्रीटिंग डिग्री शिक्षकों से डॉक्टर लोग बोलते हैं नागिन का नशा बढ़ जाता है लक्ष्मी खटखट करता है क्यों नहीं बोलते हैं कि आपका गिरीश खत्म हो गया है तू अब शरीर में जो तेलंग प्रवेश करवाना खेल में जो है चिकना पल पैदा करने का कितना तन शरीर के अंदर में पैदा हो मांसपेशियों में और हड्डियों में इसके लिए की जाने वाली प्रक्रिया है और इसमें क्या है अलग-अलग तरह के तेल का मालिश किया जाता है अलग-अलग तरह के टेंपरेचर तक जरूरत के अनुसार रोगी की जरूरत और रोगी के शरीर के अनुसार उसका निर्णय किया जाता है

vikee wah alag alag rogi ko alag alag zaroorat ke anusaar mein saaf kiya jata hai ab usmein jaise kisi ko mahanarayan tel ki maalish ki zaroorat pad sakti hai kisi ko sarson ke tel ki maalish kar sakti aap uska do mukh kaam hai sharir ke bheetar jo aajkal log bolte hain Greeting degree shikshakon se doctor log bolte hain nagin ka nasha badh jata hai laxmi khat-khar karta hai kyon nahi bolte hain ki aapka girish khatam ho gaya hai tu ab sharir mein jo telang pravesh karwana khel mein jo hai chikna pal paida karne ka kitna tan sharir ke andar mein paida ho maspeshiyo mein aur haddiyon mein iske liye ki jaane waali prakriya hai aur ismein kya hai alag alag tarah ke tel ka maalish kiya jata hai alag alag tarah ke temperature tak zaroorat ke anusaar rogi ki zaroorat aur rogi ke sharir ke anusaar uska nirnay kiya jata hai

विकी वह अलग अलग रोगी को अलग-अलग जरूरत के अनुसार में साफ किया जाता है अब उसमें जैसे किसी को

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  162
WhatsApp_icon
user
0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी आयुर्वेद मालिश बहुत ही अच्छी तरह से किया जाता है इसमें आपको कई जड़ी बूटियां लगाई जाती है आपके शरीर पर और उसके अंग मालिश किया जाता है इससे आपका शरीर हेल्थी और बहुत ही मजबूत बन जाता है कई बीमारियों से राहत के लिए भी इसका उपयोग किया जाता है

dekhi ayurveda maalish bahut hi achi tarah se kiya jata hai isme aapko kai jadi butiyan lagayi jaati hai aapke sharir par aur uske ang maalish kiya jata hai isse aapka sharir healthy aur bahut hi mazboot ban jata hai kai bimariyon se rahat ke liye bhi iska upyog kiya jata hai

देखी आयुर्वेद मालिश बहुत ही अच्छी तरह से किया जाता है इसमें आपको कई जड़ी बूटियां लगाई जाती

Romanized Version
Likes  59  Dislikes    views  597
WhatsApp_icon
user

वैध मेहुल मकवाणा

आयुर्वेद कनसल्टन्ट/सेक्सोलोजीस्ट/गायनेकोलोजीस्ट

0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभ्यंग आयुर्वेदा मसाज है वह पंचकर्म तापाची है और उसे पूरी बॉडी रिलैक्स करने में उसका यूज़ होता है उसे कि पीटता हुआ हादसा ओके अभी दर्द को अभ्यंग मसाज करते हैं ना तो वह बाद रिलैक्स हो जाता है किसी के शरीर में वह उनके बच्चे हो जाते हैं वह गांठ हो जाती है तो उनसे उसको बहुत बेनिफिट मिलता है

abhyang ayurveda Massage hai vaah panchkarm tapachi hai aur use puri body relax karne mein uska use hota hai use ki peetta hua hadasaa ok abhi dard ko abhyang Massage karte hain na toh vaah baad relax ho jata hai kisi ke sharir mein vaah unke bacche ho jaate hain vaah ganth ho jaati hai toh unse usko bahut benefit milta hai

अभ्यंग आयुर्वेदा मसाज है वह पंचकर्म तापाची है और उसे पूरी बॉडी रिलैक्स करने में उसका यूज़

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  82
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!