उदासी, तनाव और अवसाद से बाहर आने का सबसे अच्छा तरीका क्या है?...


play
user

Likes  180  Dislikes    views  2464
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

1:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उदासी तनाव और अवसाद से बाहर आने का सबसे अच्छा तरीका क्या है आपका तो अच्छा है लेकिन उसके लिए क्या करना होगा पता है आपको कुछ कामकाज करने पर करने हो गए ठीक है जैसे कि आप अकेले रहते हो तो सब से बात करें दोस्तों के साथ मिलना छोड़ दिया तो मुझसे बात करें उनसे ठीक है अपनी मनपसंद कार्य करें काम करके करिए ठीक है काम काज के रिश्तो में सुधार लाइए रोज एक्सरसाइज मेडिटेशन करिए योगा करियरप्राइम करीब भरपूर भरपूर भोजन करें नकारात्मक सोच बदलनी है और उसके लिए मेडिटेशन बहुत दिन आपको कहा दोस्तों के साथ रही फैमिली में रही है ठीक है भरपूर नींद लें जल्दी सुना और जल्दी उठके रात को 10:00 बजे सो जाइए सुबह 5:00 बजे उठ जाइए ठीक है तो यह सारी चीजें करने से उदासी तनाव और अवसाद अवसाद डिप्रेशन से बाहर आने की सबसे आसान और अच्छे तरीके हैं यह कम से कम आप ने ओके नाइस करोगे तो आपको रिजल्ट मिलना स्टार्ट हो जाएगा आपको खुद को अच्छा महसूस होगा कि हां मुझे अच्छा महसूस हो रहा है ठीक है ओके गुड नाइट टेक केयर

udasi tanaav aur avsad se bahar aane ka sabse accha tarika kya hai aapka toh accha hai lekin uske liye kya karna hoga pata hai aapko kuch kaamkaaj karne par karne ho gaye theek hai jaise ki aap akele rehte ho toh sab se baat kare doston ke saath milna chod diya toh mujhse baat kare unse theek hai apni manpasand karya kare kaam karke kariye theek hai kaam kaaj ke rishto mein sudhaar laiye roj exercise meditation kariye yoga kariyarapraim kareeb bharpur bharpur bhojan kare nakaratmak soch badalni hai aur uske liye meditation bahut din aapko kaha doston ke saath rahi family mein rahi hai theek hai bharpur neend le jaldi suna aur jaldi uthake raat ko 10 00 baje so jaiye subah 5 00 baje uth jaiye theek hai toh yah saree cheezen karne se udasi tanaav aur avsad avsad depression se bahar aane ki sabse aasaan aur acche tarike hain yah kam se kam aap ne ok nice karoge toh aapko result milna start ho jaega aapko khud ko accha mehsus hoga ki haan mujhe accha mehsus ho raha hai theek hai ok good night take care

उदासी तनाव और अवसाद से बाहर आने का सबसे अच्छा तरीका क्या है आपका तो अच्छा है लेकिन उसके लि

Romanized Version
Likes  370  Dislikes    views  4137
WhatsApp_icon
user

Dr. Swatantra Jain

Psychotherapist, Family & Career Counsellor and Parenting & Life Coach

8:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उदासी तनाव और अवसाद से बाहर आने का सबसे अच्छा तरीका क्या है यह प्रश्न मेरे हिसाब से सबसे अच्छा तरीका है हंसना मुस्कुराना नोकिया क्या कहां से तनाव कम हो रहा है आपके चेहरे पर आई हुई जो कटिहार वह कम हो रही है नहीं किया तो करके देखो जब भी आप उदास होते हो तो अपने आप को याद दिला कर देखो कि आप हंसने से आपकी उदासी खत्म हो जाएगी जब भी डिप्रेशन में हो तो साथियों के साथ मिलकर अपने आप से डरते ऐसा आदमी हूं तो फिर मैं कैसे हंसी भरतार में तो हंसी आती नहीं है ठीक है नहीं आती मान लिया आप अपने आपको याद तो दिला सकते हो ओके किसी को क्या दीजिए किसी को कह दे कि जब भी आप डिप्रेशन में हो आपको हाथ में दम नहीं सोच रहा तो वह हटा दे हमको लेकिन एक बात तो आपको करनी पड़ेगी उनके याद दिलाने से हंसना पड़ेगा उनके मार्केट को हल्के से मुस्कुराओ जोर से मत कर और जोर से उठा के मार के आ परदेसी अपने आप को देखे दर्पण में देखें अपने चेहरे को देखकर कितना फर्क पड़ता है गाय भी नहीं हो जाएगी आपके मेरा सर आपकी मर्जी आप का डिप्रेशन आपका तनाव आपकी उदासी क्यों की उदासी क्यों देती है देखो भले आप आर्टिफिशियल बनावटी हंसी आपके शरीर पता नहीं पता ना क्या बनावटी हंसी से वही प्रतिक्रिया करेगा कैसे होती है शरीर में चेस्ट के हारमोंस बढ़ने बंद हो जाएंगे जैसे ही आपका शरीर में खुशी के हारमोंस बनने शुरू हो जाएंगे मर जाएंगे जब याद आएंगे और खुशी के साथ में जो हारमोंस होते हैं वह बहुत कम हो जाते हैं तो उसका एक मात्र इलाज है खुशी के हारमोंस को बढ़ाना हर किसी की हर मौज करेंगे जब आप ग्रुप ज्वाइन करने के चुटकुले चुटकुले चिड़िया को देखें तो यह तुरई हंसी की बात इसके इलावा आप क्या कर सकते हैं कर सकते हैं कि जिस चीज से आपको अच्छा थोड़ा तनाव के बारे में ज्यादा मत सोचिए अपने मन की बात नहीं होती जब दूसरे की बात होती है आपकी बात नहीं होती एक दूसरे कुछ कह देते हैं आप उसका जवाब नहीं दे सकते आप तनाव में आ जाते हो दुखी होते हैं जब कोई आपके ऊपर विपदा पड़े अचानक कुछ मुसीबत आ जाए अचानक कोई ट्रेजेडी हो जाए अचानक कोई लॉस हो जाए आर्थिक शारीरिक मानसिक कोई भी आप किसी भी भयंकर उदासी से गुजर रहे तू टेंपरेरी अस्थाई तौर पर यह उदासी है तनाव या अवसाद स्वाभाविक है कि नहीं चलना चाहिए जरूरी है इसलिए उन परेशानियों से बाहर निकलना और निकालना जरूरी है तो ज्यादा चल रहा है उस्ताद का पीरियड तो आपके पास तभी से जाए ताकि आपको कोई प्रॉब्लम हुई आप सोचते हैं कि हो जाएगा हो जाएगा हो जाएगा ठीक आप जाते नहीं है डॉक्टर साहब जाते हैं जब बात बिगड़ जाता है बहुत ज्यादा गंभीर हो जाता है विश्वकप डॉक्टर के पास भी ज्यादा विकल्प नहीं रहते तो अगर अपने आपको बताना चाहते हो अपने परिवार वालों को जॉब एजुकेशन में उन को बचाना चाहते हो तो यह फॉर्म आपको अपना नहीं पड़ेगा लाइफस्टाइल बदली है जैसा भी है उस परिस्थितियों को स्थितियों को स्वीकारने की कोशिश करिए क्योंकि जब तक हम नहीं खाते हैं नेगेटिव नेगेटिव लोगों को नेगेटिव आना तब तक हम डिप्रेशन में रहते हैं जैसे यह मैंने देखा स्वीकार लिया उसको किसी को भी को स्वीकार कर लिया वैसे कुछ सुनने से कुछ नहीं होगा मैं बहुत बार कह चुकी हूं कि आपको लाइफ टाइम बदलना होगा ज्यादा चका फ्लाइट बदलेंगे बदलेंगे तो दवाई जल्दी छूट जाएगी चुनाव आपके पास है आपको लगातार उदासी चाहिए तनाव चाहिए अब साथ चाहिए या हंसी चाहिए खुशी चाहिए खुशी चाहिए तो खुशी के हारमोंस बदलाव के हारमोंस काम करो उसका एकमात्र तरीका है उसका दूसरा मात्र तरीका है और आपको नहीं आती आती तो दूसरे को मौका दीजिए दूसरे से कह कर रखें कुछ ग्रुप ज्वाइन करके रखिए मुस्कुराइए आर्टिफिशियल उदासी को अपने शहर से निकाल दो देखो कई बार हमें लगता है कि हम जानबूझकर उदास रहने की कोशिश करते मतलब हम को दिखाने के लिए इंप्रेस करने के लिए घर वालों को ब्लैकमेल करने के लिए घर वालों को थोड़ा सा अक्षर में डालने के लिए हम ज्यादा देर उदासी शो करते हैं ज्यादा तनाव शो करते हैं ज्यादा डिप्रेशन शो करते हैं ताकि घरवाले आपके अगर है फिर मैं कह रही हूं कि मैं ऐसा नहीं कह रही कि ऐसा हमेशा होता है क्योंकि कुछ लोगों के साथ होता है तो ऐसा है तो आप यह बनावटी और तनाव को अपने ऊपर हावी मत होने दीजिए क्योंकि अभी तो बनावटी है फिर आपकी आदत पड़ जाए जो भयंकर रूप ले सकती है तो मैं जो भी आप से बाहर निकले दांत बाहर निकलने की कोशिश लगातार करते रहे और कोशिश करने का तरीका

udasi tanaav aur avsad se bahar aane ka sabse accha tarika kya hai yah prashna mere hisab se sabse accha tarika hai hansana muskurana nokia kya kahan se tanaav kam ho raha hai aapke chehre par I hui jo katihar vaah kam ho rahi hai nahi kiya toh karke dekho jab bhi aap udaas hote ho toh apne aap ko yaad dila kar dekho ki aap hasne se aapki udasi khatam ho jayegi jab bhi depression mein ho toh sathiyo ke saath milkar apne aap se darte aisa aadmi hoon toh phir main kaise hansi bhartaar mein toh hansi aati nahi hai theek hai nahi aati maan liya aap apne aapko yaad toh dila sakte ho ok kisi ko kya dijiye kisi ko keh de ki jab bhi aap depression mein ho aapko hath mein dum nahi soch raha toh vaah hata de hamko lekin ek baat toh aapko karni padegi unke yaad dilaane se hansana padega unke market ko halke se muskurao jor se mat kar aur jor se utha ke maar ke aa pardesi apne aap ko dekhe darpan mein dekhen apne chehre ko dekhkar kitna fark padta hai gaay bhi nahi ho jayegi aapke mera sir aapki marji aap ka depression aapka tanaav aapki udasi kyon ki udasi kyon deti hai dekho bhale aap artificial banavati hansi aapke sharir pata nahi pata na kya banavati hansi se wahi pratikriya karega kaise hoti hai sharir mein chest ke hormones badhne band ho jaenge jaise hi aapka sharir mein khushi ke hormones banne shuru ho jaenge mar jaenge jab yaad aayenge aur khushi ke saath mein jo hormones hote hai vaah bahut kam ho jaate hai toh uska ek matra ilaj hai khushi ke hormones ko badhana har kisi ki har mauj karenge jab aap group join karne ke chutkule chutkule chidiya ko dekhen toh yah turai hansi ki baat iske alawa aap kya kar sakte hai kar sakte hai ki jis cheez se aapko accha thoda tanaav ke bare mein zyada mat sochiye apne man ki baat nahi hoti jab dusre ki baat hoti hai aapki baat nahi hoti ek dusre kuch keh dete hai aap uska jawab nahi de sakte aap tanaav mein aa jaate ho dukhi hote hai jab koi aapke upar vipada pade achanak kuch musibat aa jaaye achanak koi tragedy ho jaaye achanak koi loss ho jaaye aarthik sharirik mansik koi bhi aap kisi bhi bhayankar udasi se gujar rahe tu tempareri asthai taur par yah udasi hai tanaav ya avsad swabhavik hai ki nahi chalna chahiye zaroori hai isliye un pareshaniyo se bahar nikalna aur nikalna zaroori hai toh zyada chal raha hai ustad ka period toh aapke paas tabhi se jaaye taki aapko koi problem hui aap sochte hai ki ho jaega ho jaega ho jaega theek aap jaate nahi hai doctor saheb jaate hai jab baat bigad jata hai bahut zyada gambhir ho jata hai vishwacup doctor ke paas bhi zyada vikalp nahi rehte toh agar apne aapko bataana chahte ho apne parivar walon ko job education mein un ko bachaana chahte ho toh yah form aapko apna nahi padega lifestyle badli hai jaisa bhi hai us paristhitiyon ko sthitiyo ko swikarane ki koshish kariye kyonki jab tak hum nahi khate hai Negative Negative logo ko Negative aana tab tak hum depression mein rehte hai jaise yah maine dekha sweekar liya usko kisi ko bhi ko sweekar kar liya waise kuch sunne se kuch nahi hoga main bahut baar keh chuki hoon ki aapko life time badalna hoga zyada chaka flight badalenge badalenge toh dawai jaldi chhut jayegi chunav aapke paas hai aapko lagatar udasi chahiye tanaav chahiye ab saath chahiye ya hansi chahiye khushi chahiye khushi chahiye toh khushi ke hormones badlav ke hormones kaam karo uska ekmatra tarika hai uska doosra matra tarika hai aur aapko nahi aati aati toh dusre ko mauka dijiye dusre se keh kar rakhen kuch group join karke rakhiye muskuraiye artificial udasi ko apne shehar se nikaal do dekho kai baar hamein lagta hai ki hum janbujhkar udaas rehne ki koshish karte matlab hum ko dikhane ke liye impress karne ke liye ghar walon ko blackmail karne ke liye ghar walon ko thoda sa akshar mein dalne ke liye hum zyada der udasi show karte hai zyada tanaav show karte hai zyada depression show karte hai taki gharwale aapke agar hai phir main keh rahi hoon ki main aisa nahi keh rahi ki aisa hamesha hota hai kyonki kuch logo ke saath hota hai toh aisa hai toh aap yah banavati aur tanaav ko apne upar haavi mat hone dijiye kyonki abhi toh banavati hai phir aapki aadat pad jaaye jo bhayankar roop le sakti hai toh main jo bhi aap se bahar nikle dant bahar nikalne ki koshish lagatar karte rahe aur koshish karne ka tarika

उदासी तनाव और अवसाद से बाहर आने का सबसे अच्छा तरीका क्या है यह प्रश्न मेरे हिसाब से सबसे अ

Romanized Version
Likes  132  Dislikes    views  1107
WhatsApp_icon
user
0:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उदासी तनाव और अवसाद से बाहर आने का सबसे अच्छा तरीका है मन को शांत रखना एकाग्र चित्त होने के क्या कारण है तो निश्चित हम देखेंगे कोई ऐसे कारण रहे हैं जो हम पूर्ण नहीं कर पा रहे हैं यह हमारे भाग्य में नहीं है यह हमें प्राप्त नहीं हो रही है तो हमारा मन उदास तनाव और अवसाद अवसाद से परिपूर्ण हो जाएगा और इससे बचने के लिए हमें किसी और कार्य में ऐसे कार्य जो हमारे मन को अच्छा लगता हो जिससे हमारे लक्ष्य की प्राप्ति हो और जो सही हो उस मार्केट की और अपने आप को लगा लेना चाहिए जिससे हमारा मन उदासी तनाव और अवसाद से बाहर आए और हम अपने लक्ष्य की प्राप्ति कर सकें

udasi tanaav aur avsad se bahar aane ka sabse accha tarika hai man ko shaant rakhna ekagra chitt hone ke kya karan hai toh nishchit hum dekhenge koi aise karan rahe hain jo hum purn nahi kar paa rahe hain yah hamare bhagya mein nahi hai yah hamein prapt nahi ho rahi hai toh hamara man udaas tanaav aur avsad avsad se paripurna ho jaega aur isse bachne ke liye hamein kisi aur karya mein aise karya jo hamare man ko accha lagta ho jisse hamare lakshya ki prapti ho aur jo sahi ho us market ki aur apne aap ko laga lena chahiye jisse hamara man udasi tanaav aur avsad se bahar aaye aur hum apne lakshya ki prapti kar sakein

उदासी तनाव और अवसाद से बाहर आने का सबसे अच्छा तरीका है मन को शांत रखना एकाग्र चित्त होने क

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  170
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!