अवसाद के च कर से कोई कैसे बाहर निकलता है?...


play
user

Chandni Gupta

RCI Psychologist & Counselor

1:14

Likes  18  Dislikes    views  244
WhatsApp_icon
9 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Taanya Nagi

Founder & Facilitator, Holistic Healing Centre, New Delhi

0:48
Play

Likes  10  Dislikes    views  167
WhatsApp_icon
user

Deepinder Sekhon

Mental Health Care

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कि आपको अब खुद में आत्मविश्वास खूब होना चाहिए मगर उसके साथ-साथ आपको सपोर्ट सिस्टम की बहुत ज्यादा जरूरत है तो जब हमारे पास बच्चे आते हैं डिसऑर्डर वालेया पेरेंट्स आते हैं जिनके बच्चों को डिसऑर्डर है तो सबसे पहला हमारा लक्ष्य ही होता है कि बच्चे की सही फेस 3 और कॉन्फिडेंस के साथ साथ हम उनकी सपोर्ट सिस्टम पर काम करते हैं क्योंकि अकेला तो इंसान नहीं रहता ना इंसान एक सोसाइटी में रहता है फैमिली में रहता है इसलिए फैमिली की सपोर्ट स्कूल की सपोर्ट के बच्चे स्कूल में है टीचर्स की सपोर्ट तो इसको खोल कम्युनिटी सपोर्ट में क्यों नहीं अकेला इंसान नहीं कर सकता है आपको सब की सपोर्ट की जरूरत है उस प्रॉब्लम में से निकलने की

ki aapko ab khud mein aatmvishvaas khoob hona chahiye magar uske saath saath aapko support system ki bahut zyada zarurat hai toh jab hamare paas bacche aate hain disorder valeya parents aate hain jinke baccho ko disorder hai toh sabse pehla hamara lakshya hi hota hai ki bacche ki sahi face 3 aur confidence ke saath saath hum unki support system par kaam karte hain kyonki akela toh insaan nahi rehta na insaan ek society mein rehta hai family mein rehta hai isliye family ki support school ki support ke bacche school mein hai teachers ki support toh isko khol community support mein kyon nahi akela insaan nahi kar sakta hai aapko sab ki support ki zarurat hai us problem mein se nikalne ki

कि आपको अब खुद में आत्मविश्वास खूब होना चाहिए मगर उसके साथ-साथ आपको सपोर्ट सिस्टम की बहुत

Romanized Version
Likes  34  Dislikes    views  463
WhatsApp_icon
user

Dr. Sanjeev Tripathi

Clinical Psychologist

0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेडिसन लोगों को शेयर करने से भी कई बार लोग अपने गाना पर तनाव से बाहर आते हैं कितने बार आते हैं अगर आपको लगता

medicine logo ko share karne se bhi kai baar log apne gaana par tanaav se bahar aate hain kitne baar aate hain agar aapko lagta

मेडिसन लोगों को शेयर करने से भी कई बार लोग अपने गाना पर तनाव से बाहर आते हैं कितने बार आते

Romanized Version
Likes  34  Dislikes    views  496
WhatsApp_icon
user

Niharika Ghosh

Clinical Psychologist

1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जनरल किसी को देख कर कोई प्रोफेशनल कंफर्म करना पड़ेगा जो इससे आगे निकल के फोटो देखने को क्लिक करें उसमें हम अपने जो भी हो भी हैं जो भी हम पसंद करते हैं कि जो करने की उनको भी हम शामिल करें

general kisi ko dekh kar koi professional confirm karna padega jo isse aage nikal ke photo dekhne ko click karein usme hum apne jo bhi ho bhi hain jo bhi hum pasand karte hain ki jo karne ki unko bhi hum shaamil karein

जनरल किसी को देख कर कोई प्रोफेशनल कंफर्म करना पड़ेगा जो इससे आगे निकल के फोटो देखने को क्ल

Romanized Version
Likes  29  Dislikes    views  671
WhatsApp_icon
user

Dr. Mrignayani Agarwal

Clinical Psychologist

1:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मीठी सबसे पहले टू टेक मेडिसिन की जरूरत है अगर वह डिपेंड करता है कि की कंडीशन कौन से लेवल का है वह इसके लिए हमारे पास टेस्ट होते हैं साइकोलॉजिकल टेस्टिंग किया जाता है इसके जरिए हम यह जानते हैं कि नहीं उसका डिप्रेशन का दवाई का लेवल कितना देना है और दवाई जो उसका एक्टिविटी शोडू नहीं है उसके परिवार वालों से बातचीत करनी है कुछ मरीज को बीमारी के बारे में बताना क्यों जरूरी है उसको करने के लिए उसको ठीक करने के लिए वह सब चीजें बताना यह सब

mithi sabse pehle to take medicine ki zarurat hai agar vaah depend karta hai ki ki condition kaun se level ka hai vaah iske liye hamare paas test hote hain saikolajikal testing kiya jata hai iske jariye hum yah jante hain ki nahi uska depression ka dawai ka level kitna dena hai aur dawai jo uska activity shodu nahi hai uske parivar walon se batchit karni hai kuch marij ko bimari ke bare mein bataana kyon zaroori hai usko karne ke liye usko theek karne ke liye vaah sab cheezen bataana yah sab

मीठी सबसे पहले टू टेक मेडिसिन की जरूरत है अगर वह डिपेंड करता है कि की कंडीशन कौन से लेवल क

Romanized Version
Likes  34  Dislikes    views  420
WhatsApp_icon
user

Ms. Sonu Pandey

Rehabilitation Personnel

0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपने आप को खुश रखना चाहिए ऐसे माहौल में नहीं जाना चाहिए जहां पहले ही लोग उदास हो या कोई उदासी वाली बातें कर रहे हो ऐसी कोई घटना हुई हो जहां जा के उनको उनके मन में उदासी वाले या अपने आप को समझने वाले विचार आएं ज्यादा लोगों के साथ अपना जो प्रॉब्लम शेयर करना चाहिए ताकि लोगों का सपोर्ट उनको मिल सके

apne aap ko khush rakhna chahiye aise maahaul mein nahi jana chahiye jaha pehle hi log udaas ho ya koi udasi wali batein kar rahe ho aisi koi ghatna hui ho jaha ja ke unko unke man mein udasi waale ya apne aap ko samjhne waale vichar aaen zyada logo ke saath apna jo problem share karna chahiye taki logo ka support unko mil sake

अपने आप को खुश रखना चाहिए ऐसे माहौल में नहीं जाना चाहिए जहां पहले ही लोग उदास हो या कोई उद

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  479
WhatsApp_icon
user

DR SURI

Rehabilitation Psychologist

0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आकाश के लिए आप लोगों के पैसे नहीं है वह अकेला आता है आपके खामोश मिशन होना ही तो होता है खरीदना है आपको या आप को डिमेंशिया हो रहा है या आपको कब नष्ट हो रहे

akash ke liye aap logo ke paise nahi hai wah akela aata hai aapke khamosh mission hona hi toh hota hai kharidna hai aapko ya aap ko dimenshiya ho raha hai ya aapko kab nasht ho rahe

आकाश के लिए आप लोगों के पैसे नहीं है वह अकेला आता है आपके खामोश मिशन होना ही तो होता है खर

Romanized Version
Likes  82  Dislikes    views  1146
WhatsApp_icon
user

Naren khatri

Student And Social Worker

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है कि अवसाद के चक्कर से कोई कैसे बाहर निकलता है तो हम साथ के चक्कर से अवसाद किस वजह से आया उसकी जड़ों में काम करें किस वजह से हो जाता है फिर आप अवसाद से बाहर निकल सकते हैं मेडिटेशन करें योगा करें डॉक्टर किला राय लें जिससे कि आप में डिप्रेशन से बाहर निकल सकते हैं धन्यवाद

aapka sawaal hai ki avsad ke chakkar se koi kaise bahar nikalta hai toh hum saath ke chakkar se avsad kis wajah se aaya uski jadon mein kaam kare kis wajah se ho jata hai phir aap avsad se bahar nikal sakte hain meditation kare yoga kare doctor kila rai le jisse ki aap mein depression se bahar nikal sakte hain dhanyavad

आपका सवाल है कि अवसाद के चक्कर से कोई कैसे बाहर निकलता है तो हम साथ के चक्कर से अवसाद किस

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  165
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!