अवसाद में गिरने के कुछ कारण क्या हैं?...


user

Dr.Namrata Suryawanshi

Clinical Psychologist

0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डिप्रेशन में लिखा है कि लोग अपनी आवश्यकता फुलफिल नहीं कर पाते जब वह अपनी आवश्यकता नहीं होती है तो व्यक्ति डिप्रेशन में चले जाता है कि मैं यह काम करना चाहता था और नहीं कर पाया और मैं बहुत सारी प्रॉब्लम सुरती है डिप्रेशन के लिए घर घर घर की समस्या हो सकती है और उसके अपने अपना वह जो जो चाहा वह नहीं हो पाता है कई बार हम बचत सोचा कि मैं अच्छी जॉब करूं उसको अच्छी जॉब नहीं मिल पाती है तब वह डिप्रेशन में चले जाता है कि मेरे पास सारी बहुत सारी क्वालिफिकेशन है और मैं नहीं कर पा रहा हूं मेरे पास सब कुछ है फिर भी नेट में कोई जॉब नहीं मिल पा रही है ऐसे ऐसे सेटिंग व्यक्ति डिप्रेशन में चला जाता है

depression mein likha hai ki log apni avashyakta fulfil nahi kar paate jab vaah apni avashyakta nahi hoti hai toh vyakti depression mein chale jata hai ki main yah kaam karna chahta tha aur nahi kar paya aur main bahut saree problem shurti hai depression ke liye ghar ghar ghar ki samasya ho sakti hai aur uske apne apna vaah jo jo chaha vaah nahi ho pata hai kai baar hum bachat socha ki main achi job karu usko achi job nahi mil pati hai tab vaah depression mein chale jata hai ki mere paas saree bahut saree qualification hai aur main nahi kar paa raha hoon mere paas sab kuch hai phir bhi net mein koi job nahi mil paa rahi hai aise aise setting vyakti depression mein chala jata hai

डिप्रेशन में लिखा है कि लोग अपनी आवश्यकता फुलफिल नहीं कर पाते जब वह अपनी आवश्यकता नहीं होत

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  68
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Arvind K. Bharti

Theoretical Psychologist

1:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डिप्रेशन का कारण सबसे ज्यादा यह हो गया है कि हमारा जो रहन-सहन है हमारे रहन-सहन में बदलाव आ गया है हमारे चंदन बदलाव यह है कि हमें मतलब भावनाओं को समझ में यह भावनाओं को किसी और दूसरे की भावनाओं को समझने में या अपने दोनों की किसी और को समझाने में यह प्रॉब्लम आ जाएगी हम उनसे सही समझ में नहीं बना पा रहे हैं इस कारण से हम लोग जरा डिप्रेसिव हो गए हैं अकेला अकेलापन हमें ज्यादा आ गया है मतलब लोगों के साथ मिलजुल के नहीं रह सकते हैं और ज्यादातर यह चाहता हर कोई आदमी चाहे कोई मैं उसे जरा जरा जो है अगर कोई जीत है और इसी कारण से लौट जाओगे आज के कि हर कोई अपने बिल्कुल प्राइवेट कहना चाह रहा है कोई किसी के साथ में परिवार के साथ में मां बाप के साथ में हो तो है श्याम थोड़ा घोषित है कि हम लोगों के साथ डिप्रेशन से कम इन कारण क्या होगा कि हम अलग है ना चाहे हम अलग हो गई हो

depression ka karan sabse zyada yah ho gaya hai ki hamara jo rahan sahan hai hamare rahan sahan mein badlav aa gaya hai hamare chandan badlav yah hai ki hamein matlab bhavnao ko samajh mein yah bhavnao ko kisi aur dusre ki bhavnao ko samjhne mein ya apne dono ki kisi aur ko samjhane mein yah problem aa jayegi hum unse sahi samajh mein nahi bana paa rahe hain is karan se hum log zara depressive ho gaye hain akela akelapan hamein zyada aa gaya hai matlab logo ke saath miljul ke nahi reh sakte hain aur jyadatar yah chahta har koi aadmi chahen koi main use zara zara jo hai agar koi jeet hai aur isi karan se lot jaoge aaj ke ki har koi apne bilkul private kehna chah raha hai koi kisi ke saath mein parivar ke saath mein maa baap ke saath mein ho toh hai shyam thoda ghoshit hai ki hum logo ke saath depression se kam in karan kya hoga ki hum alag hai na chahen hum alag ho gayi ho

डिप्रेशन का कारण सबसे ज्यादा यह हो गया है कि हमारा जो रहन-सहन है हमारे रहन-सहन में बदलाव आ

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  78
WhatsApp_icon
user

Vinita Yadav

Psychologist

1:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एडमिशन होने का मुझे कारण हो सकता है कोई देसी की कोई और क्वेश्चन हो सकती है या आप अगर बच्चा कोई मैसेज हो तो वह सकता है बबली हो रहा है या उसका जो भी शामिल है वहां पर सिचुएशन ऐसी है सामने एजुकेशन हो सकती है क्या कोई काम हो सकता है जिसके इसकी वजह से बच्चे को उस समय आ गया है इसके अलावा हो सकते हैं वह दिखाओ के तेल ग्रुप है वहां पर दोगुनी हो रहा है इससे पहले मेरे कारण नहीं होता बच्चों के साथ चैटिंग चैटिंग मत दे देते हुए इसके बाद तीसरा कारण हो सकता है बच्चों का अगर कॉलेज कलेक्शन है तो अगर कोई ऐसी सिचुएशन आ रही है जिसमें बच्चा हैंडल करता रहा और उसको सामने कोई सपोर्ट नहीं यहां पर खुश अगर कोई और सपोर्ट नहीं मिलने के साथ-साथ उसके तो वह कैसे इतना ज्यादा हो रहा है देखो तक नहीं कर पा रहे हैं अपनी प्रॉब्लम को उसके बाद उसके सामने कभी ना जा रही है साथ में इन सबके बाद होने के बाद अगर रहते-रहते उसको डिप्रेशन होता है कैसे हो जाए इसके बाद अगर हम देखें तो मुझे टेंशन होने की और इनको को करने के लिए अलग-अलग तरीके होते हैं सबके मिलाकर देखा जाए तो अगर आप किसी सरकार या किसी से निकलती है उसको अगर वह तो उसने आपके साथ बात कर रहा है कोई व्यक्ति आपसे इंटर कर रहा है ज्यादा तो वहां पर आप तो लाइट बोल सकते हैं जो डिप्रेशन

admission hone ka mujhe karan ho sakta hai koi desi ki koi aur question ho sakti hai ya aap agar baccha koi massage ho toh vaah sakta hai bubbly ho raha hai ya uska jo bhi shaamil hai wahan par situation aisi hai saamne education ho sakti hai kya koi kaam ho sakta hai jiske iski wajah se bacche ko us samay aa gaya hai iske alava ho sakte hain vaah dikhaao ke tel group hai wahan par doguni ho raha hai isse pehle mere karan nahi hota baccho ke saath chatting chatting mat de dete hue iske baad teesra karan ho sakta hai baccho ka agar college collection hai toh agar koi aisi situation aa rahi hai jisme baccha handle karta raha aur usko saamne koi support nahi yahan par khush agar koi aur support nahi milne ke saath saath uske toh vaah kaise itna zyada ho raha hai dekho tak nahi kar paa rahe hain apni problem ko uske baad uske saamne kabhi na ja rahi hai saath mein in sabke baad hone ke baad agar rehte rehte usko depression hota hai kaise ho jaaye iske baad agar hum dekhen toh mujhe tension hone ki aur inko ko karne ke liye alag alag tarike hote hain sabke milakar dekha jaaye toh agar aap kisi sarkar ya kisi se nikalti hai usko agar vaah toh usne aapke saath baat kar raha hai koi vyakti aapse inter kar raha hai zyada toh wahan par aap toh light bol sakte hain jo depression

एडमिशन होने का मुझे कारण हो सकता है कोई देसी की कोई और क्वेश्चन हो सकती है या आप अगर बच्चा

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  106
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न है अवसाद में गिरने के कुछ कारण क्या है देखिए व्यक्ति अवसाद से ग्रसित तब होता है जब कहीं ना कहीं उसका ना विश्वास कमजोर होता है यदि व्यक्ति को विश्वास अपने पर नहीं है तो वह कहीं ना कहीं इस तरह की चीजों में गिर जाता है सबसे पहले अपने आप का विश्वास मजबूत करें दूसरा कभी भी दूसरे व्यक्ति से इतना प्रभावित हुए कि आपके अंदर अवसाद पैदा हो जाए धन्यवाद

namaskar aapka prashna hai avsad me girne ke kuch karan kya hai dekhiye vyakti avsad se grasit tab hota hai jab kahin na kahin uska na vishwas kamjor hota hai yadi vyakti ko vishwas apne par nahi hai toh vaah kahin na kahin is tarah ki chijon me gir jata hai sabse pehle apne aap ka vishwas majboot kare doosra kabhi bhi dusre vyakti se itna prabhavit hue ki aapke andar avsad paida ho jaaye dhanyavad

नमस्कार आपका प्रश्न है अवसाद में गिरने के कुछ कारण क्या है देखिए व्यक्ति अवसाद से ग्रसित त

Romanized Version
Likes  102  Dislikes    views  2695
WhatsApp_icon
user

Amit Kumar

Counselling Psychologist

1:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो एवरीवन मैं अमित काउंसलिंग साइकोलॉजिस्ट डिप्रेशन यानी अवसाद के प्रमुख कारण बता रहा हूं बेसिकली डिप्रेशन जीवन की नकारात्मक घटना या कोई इवेंट थकान का अनुभव ऊर्जा की कमी नींद में कठिनाई का अनुभव कर नकारात्मक self-concept फीलिंग आत्महत्या का विचार बार-बार आना एकाग्रता में घटना ही कुंठा बार-बार फेल होना परिवार में किसी चाहने वाली की मृत्यु हो जाना सेल्फ स्टीम की कमी हो प्लेसमेंट हेल्पलेसनेस करियर प्रॉब्लम कल क्लियर शूज निकाल लेना आनंद की कमी अभिरुचि की कमी और भी बहुत से जैविक मनोवैज्ञानिक व्यवहारिक और संज्ञानात्मक कारण है डिप्रेशन की निराशा बहुत ज्यादा सोचना एंड जेनेटिकल फैक्टर भी अवसाद के प्रमुख कारण है

hello everyone main amit kaunsaling psychologist depression yani avsad ke pramukh karan bata raha hoon basically depression jeevan ki nakaratmak ghatna ya koi event thakan ka anubhav urja ki kami neend mein kathinai ka anubhav kar nakaratmak self concept feeling atmahatya ka vichar baar baar aana ekagrata mein ghatna hi kuntha baar baar fail hona parivar mein kisi chahne wali ki mrityu ho jana self steam ki kami ho placement helplessness career problem kal clear shoes nikaal lena anand ki kami abhiruchi ki kami aur bhi bahut se Jaivik manovaigyanik vyavaharik aur sangyaanaatmak karan hai depression ki nirasha bahut zyada sochna and jenetikal factor bhi avsad ke pramukh karan hai

हेलो एवरीवन मैं अमित काउंसलिंग साइकोलॉजिस्ट डिप्रेशन यानी अवसाद के प्रमुख कारण बता रहा हूं

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  114
WhatsApp_icon
user

Yogesh Kumar

Psychologist

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अवसाद डिप्रेशन डिप्रेशन के कारण व्यक्ति का अपना अलग अलग हो सर आजकल तो अभी चलते सहायता मेरे पास 1 लड़कियों की शादी पेंट में चल रही है उसकी शादी नहीं हुई है तो वह डिप्रेशन में है थोड़ा सा स्माइल डिप्रेशन बोल सकते उसको सारी कंडीशन होती हैं लाइफ में अपलोड करना भूल जाते हैं पर्सन टो पर्सन अलग-अलग भी जाने से

avsad depression depression ke karan vyakti ka apna alag alag ho sir aajkal toh abhi chalte sahayta mere paas 1 ladkiyon ki shadi paint mein chal rahi hai uski shadi nahi hui hai toh vaah depression mein hai thoda sa smile depression bol sakte usko saree condition hoti hain life mein upload karna bhool jaate hain person toe person alag alag bhi jaane se

अवसाद डिप्रेशन डिप्रेशन के कारण व्यक्ति का अपना अलग अलग हो सर आजकल तो अभी चलते सहायता मेरे

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  87
WhatsApp_icon
user

Dr Avtar Singh Ph.D.

Retired Scientist and Spiritual Counselor

4:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है अवसाद में गिरने के कुछ कारण क्या है अवसाद अर्थात डिप्रेशन डिप्रेशन में जाने के जो कारण होते हैं कई कारण हो सकते हैं पहला कारण है अगर बचपन में कोई आपको किसी ने अब यूज़ किया हो चाहे वह फिजिकली हो सेक्सुली हो इमोशनली हो उसके कारण भी कईयों को लेटर लाइफ में जो किसी से आपने उसको शेयर नहीं किया अंदर ही अंदर दबा हुआ है तो वह क्या होता है कि डिप्रेशन का काजल बन जाता है कई ऐसा भी बताया जाता है कि कुछ मेडिसिन भी ऐसी होती है जिनके कारण लोगों को डिप्रेशन देने लगता है तो जो भी मेडिकेशन ऑफ करें दवाइयां ले उसमें आपको देखना चाहिए के कुछ कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स होते हैं ऐसे जो है वह कई जो है उसके पिंपल की दवाइयां जो होती है वह भी ऐसा करती हैं और एंटीवायरल ड्रग्स भी कई होती है उनके कारण भी आदमी को डिप्रेशन हो जाता है और जिंदगी में जिनके द्वंद बहुत होते हैं तो उनके कारण उसमें भी हो जाता है उनको समझ नहीं आता कि व्यक्तिगत कंप्लीट चाहिए करूं या वह करूं या घर में कोई जगड़े है आपके मम्मी डैडी के झगड़े हैं या भाई भाई के बीच में वह है बड़ा भाई आपको तंग करता है तो उसके कारण वीडियो मेन बात आती है कि जो आपको ड्रेस या टेंशन हो तो हुआ आपको अगर उसने किसी से शेयर नहीं किया और आपके अंदर रिप्रेस्ड रिक्वेस्ट फीलिंग जरा की दबी हुई फीलिंग रह गई तो धीरे-धीरे आपका मन नहीं करेगा मैं किसी से मिलूंगा तो गुमसुम रहने लग जाओगे यह सारे जो है उसके समझो डिप्रेशन शुरू हो गया है और कई बार कई ओके जिंदगी में ऐसा भी होता है जिनको आप प्यार करते हैं वह छोड़ कर चला जाए कहीं हमने देखा है लड़का लड़की लव र बिलव्ड जब एक दूसरे को धोखा दे देते हैं तो उनमें से एक जो है वह कई बार जो है वह हो जाता है डिप्रेशन में चला जाता है कई बार किसी की मम्मी डैडी की डेथ हो जाती है वह भी देखे हमने बच्चे डिप्रेशन में क्योंकि वह फिर वह अपनी फीलिंग्स एक्सप्रेस नहीं कर पाते किसी को जो रिश्तेदार संबंधी है वह जो है वह कई बार नहीं सुनते और कई लोग तो कहते हैं कि यह जेनेटिकल भी कईयों में होता है जिनके मां बाप हमें इस टाइप की प्रॉब्लम हो तो संतान में भी होने का थोड़ा डर होता है तो कई कारण हो सकते हैं कई बार कईयों को होता है कि नई जॉब स्टार्ट करनी है और कई लोगों को हमने देखा है मैरिज के कारण भी मेरे पास एक आते थे उनको मैरिज के कारण भी मैरिज जी के कारण भी जो हो जाता है और कईयों को जो है पढ़ाई जो है उसमें बहुत ज्यादा डिप्रेशन होता है क्योंकि वह लोग जो है ठीक से पढ़ नहीं पाते हैं उनमें योग्यता नहीं होती इतनी के अच्छे नंबर ले सके और बिल्कुल वीडियो कर से भी नीचे होते हैं तो भी कई लोग डिप्रेशन में चले जाते हैं और ए हमने यह भी देखा है जो एक के सामने देखा रिटायरमेंट के बाद जो है वह बड़ा ऑफिसर था तो उसको घर पर रहना पड़ा तो जब वह बहुत सीरियस डिप्रेशन में चला गया तो कईयों की व्यक्तिगत प्रॉब्लम से भी हो सकती हैं कईयों को मेंटल इलनेस के कारण हो सकता है इस तरह से इसके कई कारण हो सकते हैं आपको यह देखना है कि आपने कौन सी बातें ऐसी हैं जो आपने छुपा कर रखी है हिडन है आपकी कोई ना कोई आपका दोस्त हो मित्र हो जिस पर आप पर आपको विश्वास हो उनके साथ शेयर कर सकते हैं जैसे ही शेयर करेंगे या फिर आप काउंसलिंग कॉलेज के पास साइकोलॉजिकल काउंसलर जो होते हैं उनके पास जाओ हल्की-फुल्की दवाई भी लेनी पड़े तो ले सकते हैं सवाल साधिके यह कारण है जब हम इन कारणों का निवारण करेंगे तो अवसाद से बच सकते हैं ओके ऑल द बेस्ट गॉड ब्लेस यू

aapka prashna hai avsad me girne ke kuch karan kya hai avsad arthat depression depression me jaane ke jo karan hote hain kai karan ho sakte hain pehla karan hai agar bachpan me koi aapko kisi ne ab use kiya ho chahen vaah physically ho seksuli ho emotionally ho uske karan bhi kaiyon ko letter life me jo kisi se aapne usko share nahi kiya andar hi andar daba hua hai toh vaah kya hota hai ki depression ka kajal ban jata hai kai aisa bhi bataya jata hai ki kuch medicine bhi aisi hoti hai jinke karan logo ko depression dene lagta hai toh jo bhi medication of kare davaiyan le usme aapko dekhna chahiye ke kuch kartikosteraids hote hain aise jo hai vaah kai jo hai uske pimple ki davaiyan jo hoti hai vaah bhi aisa karti hain aur entivayaral drugs bhi kai hoti hai unke karan bhi aadmi ko depression ho jata hai aur zindagi me jinke dwand bahut hote hain toh unke karan usme bhi ho jata hai unko samajh nahi aata ki vyaktigat complete chahiye karu ya vaah karu ya ghar me koi jagade hai aapke mummy daddy ke jhagde hain ya bhai bhai ke beech me vaah hai bada bhai aapko tang karta hai toh uske karan video main baat aati hai ki jo aapko dress ya tension ho toh hua aapko agar usne kisi se share nahi kiya aur aapke andar request feeling zara ki dabi hui feeling reh gayi toh dhire dhire aapka man nahi karega main kisi se milunga toh gumsum rehne lag jaoge yah saare jo hai uske samjho depression shuru ho gaya hai aur kai baar kai ok zindagi me aisa bhi hota hai jinako aap pyar karte hain vaah chhod kar chala jaaye kahin humne dekha hai ladka ladki love r beloved jab ek dusre ko dhokha de dete hain toh unmen se ek jo hai vaah kai baar jo hai vaah ho jata hai depression me chala jata hai kai baar kisi ki mummy daddy ki death ho jaati hai vaah bhi dekhe humne bacche depression me kyonki vaah phir vaah apni feelings express nahi kar paate kisi ko jo rishtedar sambandhi hai vaah jo hai vaah kai baar nahi sunte aur kai log toh kehte hain ki yah jenetikal bhi kaiyon me hota hai jinke maa baap hamein is type ki problem ho toh santan me bhi hone ka thoda dar hota hai toh kai karan ho sakte hain kai baar kaiyon ko hota hai ki nayi job start karni hai aur kai logo ko humne dekha hai marriage ke karan bhi mere paas ek aate the unko marriage ke karan bhi marriage ji ke karan bhi jo ho jata hai aur kaiyon ko jo hai padhai jo hai usme bahut zyada depression hota hai kyonki vaah log jo hai theek se padh nahi paate hain unmen yogyata nahi hoti itni ke acche number le sake aur bilkul video kar se bhi niche hote hain toh bhi kai log depression me chale jaate hain aur a humne yah bhi dekha hai jo ek ke saamne dekha retirement ke baad jo hai vaah bada officer tha toh usko ghar par rehna pada toh jab vaah bahut serious depression me chala gaya toh kaiyon ki vyaktigat problem se bhi ho sakti hain kaiyon ko mental illness ke karan ho sakta hai is tarah se iske kai karan ho sakte hain aapko yah dekhna hai ki aapne kaun si batein aisi hain jo aapne chupa kar rakhi hai hidden hai aapki koi na koi aapka dost ho mitra ho jis par aap par aapko vishwas ho unke saath share kar sakte hain jaise hi share karenge ya phir aap kaunsaling college ke paas saikolajikal counselor jo hote hain unke paas jao halki fulki dawai bhi leni pade toh le sakte hain sawaal sadhike yah karan hai jab hum in karanon ka nivaran karenge toh avsad se bach sakte hain ok all the best god bless you

आपका प्रश्न है अवसाद में गिरने के कुछ कारण क्या है अवसाद अर्थात डिप्रेशन डिप्रेशन में जाने

Romanized Version
Likes  55  Dislikes    views  624
WhatsApp_icon
user

Naina Gupta

Rehabilitation Psychologist

0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फीलिंग है कौन फील करते हैं इसमें क्या अपने पास में बहुत ज्यादा फेल फेल फेल करते हैं हम जो हमने कोई गोल सेट किया था 12 दिन में आता चला जाता है कि नहीं कर पाएंगे

feeling hai kaun feel karte hain ismein kya apne paas mein bahut zyada fail fail fail karte hain hum jo humne koi gol set kiya tha 12 din mein aata chala jata hai ki nahi kar payenge

फीलिंग है कौन फील करते हैं इसमें क्या अपने पास में बहुत ज्यादा फेल फेल फेल करते हैं हम जो

Romanized Version
Likes  30  Dislikes    views  495
WhatsApp_icon
user

Safal Sharma

Motivational Speaker

0:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ज्यादा से ज्यादा लोग डिप्रेशन में ही रहते हैं क्योंकि पहले के मुकाबले समय अभी बदल गया है पहले हम एक परिवार में इतनी जॉइंट फैमिली में रहते थे लोग मिलजुलकर रहते थे लोग कनेक्टेड से तो इस वजह से जमानत कनेक्शन ज्यादा से तो हमारी बात करने के लिए बहुत सारे लोग होते थे हमको सिडनी टेस्ट में रहते थे आप क्या है जो परिवार छोटे हो गए हैं जिस परिवार में कम लोग हैं और लोग बातें शेयर नहीं कर पाते अंदर की बजाय अंदर की अपने खुद के बारे में सोचने की जगह बाहर दूसरों से कम करना मेरे पास यह चीज हो वह चीज हो बाहर की तरफ जाता है मुझे को कहा कि तुम कहोगे तो मुझे डिप्रेशन में आओगे

zyada se zyada log depression mein hi rehte hain kyonki pehle ke muqable samay abhi badal gaya hai pehle hum ek parivar mein itni joint family mein rehte the log miljulakar rehte the log connected se toh is wajah se jamanat connection zyada se toh hamari baat karne ke liye bahut saare log hote the hamko sidni test mein rehte the aap kya hai jo parivar chote ho gaye hain jis parivar mein kam log hain aur log batein share nahi kar paate andar ki bajay andar ki apne khud ke bare mein sochne ki jagah bahar dusro se kam karna mere paas yah cheez ho vaah cheez ho bahar ki taraf jata hai mujhe ko kaha ki tum kahoge toh mujhe depression mein aaoge

ज्यादा से ज्यादा लोग डिप्रेशन में ही रहते हैं क्योंकि पहले के मुकाबले समय अभी बदल गया है प

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  134
WhatsApp_icon
user

Pratishtha Trivedi

Clinical Psychologist

0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कई कारण हो सकते देखे कई बार होता है उसकी मात्रा हमारे दिमाग में कम हो जाती है तो डिप्रेशन होता है जब लोग चुप के थ्रू करते हैं और वह उससे उबर नहीं पाते हैं किसी भी कारण से या तो वेजिटेरियन सूप बहुत लंबे तक लंबे समय तक चलते हैं हो सकता है अगर किसी की किसी की विचारधारा या सोचने का तरीका

kai karan ho sakte dekhe kai baar hota hai uski matra hamare dimag mein kam ho jaati hai toh depression hota hai jab log chup ke through karte hain aur vaah usse ubar nahi paate hain kisi bhi karan se ya toh vegetarian soup bahut lambe tak lambe samay tak chalte hain ho sakta hai agar kisi ki kisi ki vichardhara ya sochne ka tarika

कई कारण हो सकते देखे कई बार होता है उसकी मात्रा हमारे दिमाग में कम हो जाती है तो डिप्रेशन

Romanized Version
Likes  36  Dislikes    views  554
WhatsApp_icon
user

Niharika Ghosh

Clinical Psychologist

0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिल्ली सल्तनत की जो बचपन में अगर कीपैड फोन में हो रही है उसको बहुत काम पर तो नहीं किया गया या उसके बीवी बच्चे कितने दिन के बाद बच्चा बड़ा होने के बाद डिप्रेशन होने की ज्यादा जानते हो क्यों क्योंकि हमारा स्टेशन टो शोपिंग कितना डेट नहीं है

delhi sultanate ki jo bachpan mein agar keypad phone mein ho rahi hai usko bahut kaam par toh nahi kiya gaya ya uske biwi bacche kitne din ke baad baccha bada hone ke baad depression hone ki zyada jante ho kyon kyonki hamara station to shopping kitna date nahi hai

दिल्ली सल्तनत की जो बचपन में अगर कीपैड फोन में हो रही है उसको बहुत काम पर तो नहीं किया गया

Romanized Version
Likes  28  Dislikes    views  602
WhatsApp_icon
user

Dr. Sanjeev Tripathi

Clinical Psychologist

1:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बायोसाइकोसोशल तीनों कारण बायोसाइकोसोशल में दिखाइए लाइव स्ट्रीम ऐसे बोलते हैं दिल नहीं कर पा रहा है उधर से चला गया है उस समय हुई घटना हुई है उपचार बताएं आज की परिस्थितियां पर जो बदलाव आया भूकंप आया है असामाजिक जून को होता है

bayosaikososhal tatvo kaaran bayosaikososhal mein dikhaaiye live stream aise bolte hain dil nahi kar pa raha hai udhar se chala gaya hai us samay hui ghatna hui hai upchaar bataye aaj ki paristhiyaann par jo badlav aaya bhukamp aaya hai asamajik june ko hota hai

बायोसाइकोसोशल तीनों कारण बायोसाइकोसोशल में दिखाइए लाइव स्ट्रीम ऐसे बोलते हैं दिल नहीं कर प

Romanized Version
Likes  41  Dislikes    views  481
WhatsApp_icon
play
user

Likes  173  Dislikes    views  2566
WhatsApp_icon
user

Loveleena Singh

Rehabilitation Psychologist

0:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कभी बायोलॉजिकल कारण होते हैं मतलब आपके शरीर से रिलेटेड आपके दिमाग में कुछ बनना बंद हो गए हैं और कंपनी लग गई हूं तुम्हारी वजह नहीं है बट वो आपके अंदर भी ऊपर जाइए और कभी-कभी और कुछ एक्सटर्नल मतलब बाहर के कट्टे को 1 दिन हो गया जो आप को कंट्रोल नहीं है जो बाहर एक चैनल की गति देते हो क्या मतलब की आदत हो गई है और आप इस पर तो मुझे यह आपको अगर जला दिया है तो आप उसे जाकर कॉल भी किया

kabhi biological karan hote hain matlab aapke sharir se related aapke dimag mein kuch banna band ho gaye hain aur company lag gayi hoon tumhari wajah nahi hai but vo aapke andar bhi upar jaiye aur kabhi kabhi aur kuch external matlab bahar ke katte ko 1 din ho gaya jo aap ko control nahi hai jo bahar ek channel ki gati dete ho kya matlab ki aadat ho gayi hai aur aap is par toh mujhe yah aapko agar jala diya hai toh aap use jaakar call bhi kiya

कभी बायोलॉजिकल कारण होते हैं मतलब आपके शरीर से रिलेटेड आपके दिमाग में कुछ बनना बंद हो गए ह

Romanized Version
Likes  47  Dislikes    views  498
WhatsApp_icon
user

Dr. Nitya Prakash

Clinical Psychologist

3:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे लगता है इस समय के हिसाब से एक अलग तरीके की चीजें आती हैं अभी जो टाइम है इसे ऑल अबाउट द कंजूमर जहां पर हम लोग आमीन आईडेंटिटी है कि हम इतनी सारी चीजें हैं हम एक कार रेस में है इतनी जल्दी सब कुछ चेंज हो रहा है मगर आज एक टेक्नोलॉजी दूसरी नई टेक्नोलॉजी तुम मुझे लगता है जिस टाइम इज द बेबी ऑफ पार्ट टाइम जॉब एवरीथिंग हर चीज बहुत जल्दी जल्दी जल्दी जल्दी बदल रहा है और उसी तरीके से हमारे ह्यूमन नेचर हमारा ह्यूमन रिलेशनशिप भी पतंजलि था कि हम अलग रह सकते थे दूसरों के साथ अपने पैरंट्स के साथ फोन नहीं था लेकिन फिर भी बहुत ट्रस्ट था लेकिन आज इतनी बात करके भी इतना कौन छोटा है तो टाइम द डिफरेंट स्टाइल के दौरान में जो जो चीज मेनिफेस्टो रही है ह्यूमन माइंड में भी तो हमें उस चीज को समझना है कि वह रियालिटी है मैं कितना कनफ्लिक्ट है इतना और लोगों में यूनो नाश्ते सूजन है जिसे कहते हैं कि कुछ ज्यादा ही आप अपने आप से जो अब तक सो गए हो इतना टेक्नोलॉजी होते वक्त लोग एक दूसरे से कितना डिस्टेंस हो गए हैं कितना अकेलापन है आजकल जबकि हर जगह देखो तो इतने कॉफी शॉप से 3 मार्च ने दरख़्तों मेनी थिंग्स ओं लोनलीनेस वेरी-वेरी प्रबल नथिंग जस्ट अ नेचर ऑफ़ इकोनॉमिक्स इकोनॉमिक्स देखना है कि आज क्या है कॉलेज रिलीज रिलीज कौन से हम लोग इतने कम टॉयलेट हो गए हैं कि सारी चीजें कहीं ना कहीं पॉलिटिकल कि मैं तो यह सारी चीजें जुड़ी हुई है एक दूसरे से हमको अलग अलग नहीं देख सकते हैं और हम उसी के पास है और यही हमें समझना जो हमारे साथ हो सबके साथ भी होता है लेकिन कुछ लोग कुछ लोग याद आते हैं जैसे कि जो गरीब है वह ज्यादा बाल मेरे पर है उनकी जो समस्याएं हैं वह बहुत ज्यादा प्रॉब्लम अलग है जो जिससे उनकी भी अलग प्रॉब्लम थी लेकिन है तो यही कहूंगी कि बहुत कांपलेक्स है लेकिन इसमें हमें सिंपलीसिटी ढूंढना है और अभी आएगा तो हम एक दूसरे को समझ पाएंगे कि जो मैं महसूस कर रही हूं कहीं ना कहीं कोई और भी कर रहा है तो मुझे लगता है क्योंकि यह कॉन्प्लेक्स है तो उसे सिंपल करना इतना मुश्किल मौलवी मीट यू नॉट सेंसटिविटी टेस्ट विकेट के लिए और दूसरों के लिए तो आप हमको नहीं ब्लेम कर सक क्योंकि हम लोगों ने ही कहीं ना कहीं क्रिएट किया है तो बतिया विक इन केक रिस्पांसिबिलिटी एंड जींस फॉर अपडेटव्यू 90247 व्हाट शुड बी द पॉपुलर ज्ञान

mujhe lagta hai is samay ke hisab se ek alag tarike ki cheezen aati hain abhi jo time hai ise all about the consumer jaha par hum log amin identity hai ki hum itni saree cheezen hain hum ek car race mein hai itni jaldi sab kuch change ho raha hai magar aaj ek technology dusri nayi technology tum mujhe lagta hai jis time is the baby of part time job everything har cheez bahut jaldi jaldi jaldi jaldi badal raha hai aur usi tarike se hamare human nature hamara human Relationship bhi patanjali tha ki hum alag reh sakte the dusro ke saath apne Parents ke saath phone nahi tha lekin phir bhi bahut trust tha lekin aaj itni baat karke bhi itna kaun chota hai toh time the different style ke dauran mein jo jo cheez Menifesto rahi hai human mind mein bhi toh hamein us cheez ko samajhna hai ki vaah reality hai kitna kanaflikt hai itna aur logo mein uno naste sujan hai jise kehte hain ki kuch zyada hi aap apne aap se jo ab tak so gaye ho itna technology hote waqt log ek dusre se kitna distance ho gaye hain kitna akelapan hai aajkal jabki har jagah dekho toh itne coffee shop se 3 march ne darakhton many things on lonlines very very prabal nothing just a nature of economics economics dekhna hai ki aaj kya hai college release release kaunsi hum log itne kam toilet ho gaye hain ki saree cheezen kahin na kahin political ki main toh yah saree cheezen judi hui hai ek dusre se hamko alag alag nahi dekh sakte hain aur hum usi ke paas hai aur yahi hamein samajhna jo hamare saath ho sabke saath bhi hota hai lekin kuch log kuch log yaad aate hain jaise ki jo garib hai vaah zyada baal mere par hai unki jo samasyaen hain vaah bahut zyada problem alag hai jo jisse unki bhi alag problem thi lekin hai toh yahi kahungi ki bahut complex hai lekin isme hamein simpalisiti dhundhana hai aur abhi aayega toh hum ek dusre ko samajh payenge ki jo main mehsus kar rahi hoon kahin na kahin koi aur bhi kar raha hai toh mujhe lagta hai kyonki yah kanpleks hai toh use simple karna itna mushkil maulavi meat you not sensativiti test wicket ke liye aur dusro ke liye toh aap hamko nahi blame kar suck kyonki hum logo ne hi kahin na kahin create kiya hai toh batiya weak in cake responsibility and jeans for apadetavyu 90247 what should be the popular gyaan

मुझे लगता है इस समय के हिसाब से एक अलग तरीके की चीजें आती हैं अभी जो टाइम है इसे ऑल अबाउट

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user

DR SURI

Rehabilitation Psychologist

0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिटिया का आज के दौर में जो सबसे बड़ा योगदान है वह छोरी चाहिए और उसमें कुछ मैटर बोल कर दी होती है या कुछ और निकाल दी होती

bitiya ka aaj ke daur mein jo sabse bada yogdan hai wah chhori chahiye aur usme kuch matter bol kar di hoti hai ya kuch aur nikaal di hoti

बिटिया का आज के दौर में जो सबसे बड़ा योगदान है वह छोरी चाहिए और उसमें कुछ मैटर बोल कर दी ह

Romanized Version
Likes  76  Dislikes    views  968
WhatsApp_icon
user

Pushpendra Sharma

Clinical Psychologist

0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उन्होने बहुत सारी वजह है लेकिन सबसे बड़ी वजह होती है वहां भी अलार्म

unhone bahut saree wajah hai lekin sabse badi wajah hoti hai wahan bhi alarm

उन्होने बहुत सारी वजह है लेकिन सबसे बड़ी वजह होती है वहां भी अलार्म

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  651
WhatsApp_icon
user

Ms. Kamna Yadav

Clinical Psychologist

1:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डिप्रेशन के काफी ऑनलाइन पॉलिसी जो होती है उसके गिरोह कारण है अलग-अलग होते हैं पहला जेनेटिक हो सकता है अगर फैमिली में हमारे किसी को कोई साइकोटिक प्रॉब्लम रही है या साइकल प्रॉब्लम नहीं है तो उसकी वजह से भी हमारे को होता है प्रॉब्लम हो सकती है दूसरा आजकल जो साइकोसोशल डॉक्टर भेजो लाइफस्टाइल पाते हैं वह भी बहुत ज्यादा करते जो हमारा वॉक और पर्सनल लाइफ बैलेंस कहीं लोग मानते ही नहीं कर पाते कहीं बार रिलेशनशिप इसकी वजह से डिप्रेशन तमसो सकते हैं कहीं बाहर करियर को लेकर नेगेटिव सेंटेंस हो सकते हैं तो उसके अलग-अलग कारण ने दोषी खुली जो साइकोसोशल सॉफ्टवेयर प्लस जेनेटिकली भी बायोलॉजिकली भी कुछ राज होते हैं जेनेटिक अगर हम जींस वाइफ कार्य कर रहे होते तो मिली यह साफ होता है जो आपको सेट कर सकते हैं डिप्रेशन में कहीं लोगों को पॉज विटामिन डिप्रेशन भी होता है कि रिटायरमेंट के बाद उनको डिप्रेशन पसंद आने लग जाते हैं तो यह भी बहुत कॉमनली फाउंड होता है

depression ke kaafi online policy jo hoti hai uske giroh karan hai alag alag hote hain pehla genetic ho sakta hai agar family mein hamare kisi ko koi psychotic problem rahi hai ya cycle problem nahi hai toh uski wajah se bhi hamare ko hota hai problem ho sakti hai doosra aajkal jo psychosocial doctor bhejo lifestyle paate hain vaah bhi bahut zyada karte jo hamara walk aur personal life balance kahin log maante hi nahi kar paate kahin baar Relationship iski wajah se depression tamaso sakte hain kahin bahar career ko lekar Negative sentence ho sakte hain toh uske alag alag karan ne doshi khuli jo psychosocial software plus jenetikli bhi bayolajikli bhi kuch raj hote hain genetic agar hum jeans wife karya kar rahe hote toh mili yah saaf hota hai jo aapko set kar sakte hain depression mein kahin logo ko pause vitamin depression bhi hota hai ki retirement ke baad unko depression pasand aane lag jaate hain toh yah bhi bahut commonly found hota hai

डिप्रेशन के काफी ऑनलाइन पॉलिसी जो होती है उसके गिरोह कारण है अलग-अलग होते हैं पहला जेनेटिक

Romanized Version
Likes  45  Dislikes    views  561
WhatsApp_icon
user

Ms. Sonu Pandey

Rehabilitation Personnel

0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेन कारण है वही हमारे मन में जो विचार बैठे हुए हैं कि अगर हमने किसी चीज में सफलता प्राप्त नहीं की है तो हम गलत हैं यह हमारे उस सफलता या असफलता को देखने का नजरिया है जिसकी वजह से हमारी हीन भावना आ रही है असफलता को इस तरह से सोचे कि यह असर पड़ता हमको एक नया एक्सपीरियंस दे दिया और उस अनुभव के हिसाब से कि हमने यह नया एडमिशन हुआ है कि पीरियंस का नाम की एक और सफलता हुई असफलता तो है पर साथ में यह एक एक्सपीरियंस है कि यह काम करने से हमें यह चीज सफल नहीं हुई तो आगे एक्सपीरियंस देते हैं हमें अनुभव देते हैं जो हमें आगे बढ़ने के लिए एक अच्छा अनुभव देते हैं साथ में सोचना चाहिए

main karan hai wahi hamare man mein jo vichar baithe hue hain ki agar humne kisi cheez mein safalta prapt nahi ki hai toh hum galat hain yah hamare us safalta ya asafaltaa ko dekhne ka najariya hai jiski wajah se hamari heen bhavna aa rahi hai asafaltaa ko is tarah se soche ki yah asar padta hamko ek naya experience de diya aur us anubhav ke hisab se ki humne yah naya admission hua hai ki piriyans ka naam ki ek aur safalta hui asafaltaa toh hai par saath mein yah ek experience hai ki yah kaam karne se hamein yah cheez safal nahi hui toh aage experience dete hain hamein anubhav dete hain jo hamein aage badhne ke liye ek accha anubhav dete hain saath mein sochna chahiye

मेन कारण है वही हमारे मन में जो विचार बैठे हुए हैं कि अगर हमने किसी चीज में सफलता प्राप्त

Romanized Version
Likes  24  Dislikes    views  501
WhatsApp_icon
user

Mr. Ravi Shankar Raina

Clinical Psychologist

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नॉर्मल आपने लोगों के मुंह पर भी सुना होगा कि अरे में बहुत दिक्कत हो या अपने दोस्तों के दोस्त लोग भी बोलते रहते हैं अपने फ्रेंड के लोग भी बोलते रहते क्या इसमें बहुत डिप्रेस्ड होती है डिप्रेशन का कारण यही है कि मैं अपने आपको स्टेट में महसूस करते हैं कि हम लोग तोड़ा जाता जाता है कि मैं डिप्रेशन में हूं ऐसा करते हैं तो कंटिन्यू अगर 6 महीने तक डिप्रेशन किसी चर्चा के अंदर हैं तो हम उसका डिप्रेशन टाइप करते हैं इसलिए थोड़ा-थोड़ा पक्की लाइक नहीं होता है

normal aapne logo ke mooh par bhi suna hoga ki are mein bahut dikkat ho ya apne doston ke dost log bhi bolte rehte hain apne friend ke log bhi bolte rehte kya isme bahut depressed hoti hai depression ka karan yahi hai ki main apne aapko state mein mehsus karte hain ki hum log toda jata jata hai ki main depression mein hoon aisa karte hain toh continue agar 6 mahine tak depression kisi charcha ke andar hain toh hum uska depression type karte hain isliye thoda thoda pakki like nahi hota hai

नॉर्मल आपने लोगों के मुंह पर भी सुना होगा कि अरे में बहुत दिक्कत हो या अपने दोस्तों के दोस

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  530
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बड़े दूध फीमेल मॉडल हो तो हमारा पति परमेश्वर हमारा हिंदुस्तान कैसी होती है नेट में क्या होता है कैसे निकाला जाए क्या हो रहा है जिंदगी हो गई है नौकरी नौकरी नौकरी आएंगे गणित अच्छी नौकरी अच्छी प्यारी

bade doodh female model ho toh hamara pati parmeshwar hamara Hindustan kaisi hoti hai net mein kya hota hai kaise nikaala jaye kya ho raha hai zindagi ho gayi hai naukri naukri naukri aayenge ganit acchi naukri acchi pyaari

बड़े दूध फीमेल मॉडल हो तो हमारा पति परमेश्वर हमारा हिंदुस्तान कैसी होती है नेट में क्या हो

Romanized Version
Likes  87  Dislikes    views  1232
WhatsApp_icon
user
1:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अवसाद में गिरने के देखो एक तो यह जो निकट में मोशंस होता है नाइटी मतलब मेरा मतलब यह है कि चिंता कन्फ्यूज्टिकेट इमोशंस में बहुत सारी चीजें आती है जैसे तुलना करना अपनी किसी और से इनको डीडवाना हाउ टू हैंडल सीरियल नेगेटिव थिंकिंग तुर्की सुधारों का और कुछ लोग ऐसे होते हैं कितना भी अच्छा है उनके मिलते हैं कुछ नहीं होता है और दूसरा आपके आने से और छोटे ना हार्ड होता है पहला ग्रीन होता है लीवर होता है ब्रेन का काम होना होना

avsad mein girne ke dekho ek toh yah jo nikat mein moshans hota hai nighty matlab mera matlab yah hai ki chinta kanfyujtiket emotional mein bahut saree cheezen aati hai jaise tulna karna apni kisi aur se inko didavana how to handle serial Negative thinking turkey sudharo ka aur kuch log aise hote hain kitna bhi accha hai unke milte hain kuch nahi hota hai aur doosra aapke aane se aur chote na hard hota hai pehla green hota hai liver hota hai brain ka kaam hona hona

अवसाद में गिरने के देखो एक तो यह जो निकट में मोशंस होता है नाइटी मतलब मेरा मतलब यह है कि च

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  333
WhatsApp_icon
user
0:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डिप्रेशन एक कॉमन प्रॉब्लम है लेकिन का सामान्य मराठा परिवार का जॉइंट एंड डिस्कवरी निकले हमारा जीवन जीने का तरीका

depression ek common problem hai lekin ka samanya maratha parivar ka joint end discovery nikle hamara jeevan jeene ka tarika

डिप्रेशन एक कॉमन प्रॉब्लम है लेकिन का सामान्य मराठा परिवार का जॉइंट एंड डिस्कवरी निकले हमा

Romanized Version
Likes  31  Dislikes    views  434
WhatsApp_icon
user

Pankaj Kumar Soni

Psychiatric Nursing (Tutor)

0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डिप्रेशन होने के कई सारे कारण शॉर्ट लिस्ट ऑफ कर सकते सोशल कल्चर एंड बिलीव इन आवर एनवायरनमेंट एंड सम टाइम्स एडिक्शन लाइक अल्कोहल और अदर वेरियस टाइप ऑफ़ ड्रग्स एक्स्ट्रा दीदार द मेन रीजन फॉर मेडिटेशन

depression hone ke kai saare karan short list of kar sakte social culture and believe in hour environment and some times addiction like alcohol aur other veriyas type of drugs extra DIDAR the main reason for meditation

डिप्रेशन होने के कई सारे कारण शॉर्ट लिस्ट ऑफ कर सकते सोशल कल्चर एंड बिलीव इन आवर एनवायरनमे

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  137
WhatsApp_icon
user

Dr. Akhilendra K. Singh

Counselling Psychologist

2:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विद्वेषण बेसिकली एक्सपेक्टिंग डिसऑर्डर है जिसमें व्यक्ति का मूड जो है गुल्लू हो जाता है किसी काम में काम करने का मन नहीं करता है उल्टी होती है औरत जो सेकुलराइजेशन आती उसे अलग अलग से कटेगी संग्राम के कारण की बात करें तो इसके कई कारण हो सकते हैं उसमे तीन चीजे आती है जब मां-बाप लेकर प्रकाशित रहता है तो उस कारण तिथि को है डिप्रेशन उसकी अगली पीढ़ी तब होते हैं जब आपको उत्तर अकाइन्वेंट मिलता है यानी कि कोई इस तरह का शॉपिंग मॉल शॉपिंग लाइसेंस और नेगेटिव प्रेशर ट्रांसमीटर मंत्रालय की वजह से दूसरा कैसे लिखे तीन बार मैंने आपसे काम तो लोग सराह नहीं रहे हैं आप चीजों को पसंद आने की जा रही है आपको रिपब्लिकन नहीं मिल रहा है ठीक है आप जो कर रहे हैं उसके बाद मिल रहा है दिमाग में या उसको 3610 के अंतर्गत ब्लूवुड रहता है कुछ कंडीशन में भी व्यक्ति को डिप्रेशन हो सकता है यह काम करते हैं जिसकी वजह से डिप्रेशन होता है और खाना भी ज्यादा डिप्रेशन का इलाज करता है अगर पसंद है तो व्यक्ति और नेगेटिव तो हो सकते हैं थैंक यू

vidweshan basically eksapekting disorder hai jisme vyakti ka mood jo hai gullu ho jata hai kisi kaam me kaam karne ka man nahi karta hai ulti hoti hai aurat jo sekulraijeshan aati use alag alag se kategi sangram ke karan ki baat kare toh iske kai karan ho sakte hain usme teen chije aati hai jab maa baap lekar prakashit rehta hai toh us karan tithi ko hai depression uski agli peedhi tab hote hain jab aapko uttar akainwent milta hai yani ki koi is tarah ka shopping mall shopping license aur Negative pressure transmitter mantralay ki wajah se doosra kaise likhe teen baar maine aapse kaam toh log sarah nahi rahe hain aap chijon ko pasand aane ki ja rahi hai aapko republican nahi mil raha hai theek hai aap jo kar rahe hain uske baad mil raha hai dimag me ya usko 3610 ke antargat bluvud rehta hai kuch condition me bhi vyakti ko depression ho sakta hai yah kaam karte hain jiski wajah se depression hota hai aur khana bhi zyada depression ka ilaj karta hai agar pasand hai toh vyakti aur Negative toh ho sakte hain thank you

विद्वेषण बेसिकली एक्सपेक्टिंग डिसऑर्डर है जिसमें व्यक्ति का मूड जो है गुल्लू हो जाता है कि

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  107
WhatsApp_icon
user

Ketaki Gokhale

Clinical Psychologist

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डिप्रेशन होने का क्या कारण है और कुछ नहीं होते हैं उनको लगता है कि वह ऐसी चीज को नहीं आए तो अपने ऊपर ले लेते हो तो मैसेज को ही दोष दे रहे हैं

depression hone ka kya karan hai aur kuch nahi hote hain unko lagta hai ki vaah aisi cheez ko nahi aaye toh apne upar le lete ho toh massage ko hi dosh de rahe hain

डिप्रेशन होने का क्या कारण है और कुछ नहीं होते हैं उनको लगता है कि वह ऐसी चीज को नहीं आए त

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  121
WhatsApp_icon
user

Supriya Choudhary

Counselling Psychotherapist

5:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डिप्रेशन का में जो कारण हो सकता है कि एक मां हमारे जमाने में या हमारे और माताओं के जमाने में लोग जॉइंट फैमिली रहते थे तो आकर रोडे टुडे लिविंग में कोई प्रॉब्लम होती थी उनके फैंस के साथ या टीचर के साथ कहीं भी कोई प्रॉब्लम है तो यह सोचा था जाकर क्या किसी मौसी या अंकल या ग्रैंडफादर या किसी से बात कर सकते थे तब लोगों के पास टाइम था सुनने के लिए लेकिन आजकल क्या हो रहा है सब लोग न्यूक्लियर फैमिली सिस्टम में रहते हैं और इसका यह मतलब है कि किसी को कोई प्रॉब्लम है तो वह किसी के पास जा नहीं सकते हैं अपने आप ही वह प्रॉब्लम सो जाना पड़ता है या तो तो सलूशन आसानी से नहीं मिलता लोगों को तो इस कारण वह डिप्रेशन में चले जाते हैं फिर दूसरा है कि आप उनको मोबाइल से इंटरनेट मोबाइल पर हो या टेबलेट पर हो या कंप्यूटर पर हो बहुत आसानी से मिल गया है तो क्लिक बटन पर फेसबुक का प्रोफाइल हो जाता है क्या इंस्टाग्राम में आता हूं 3:00 कर सकते हैं फिर क्या होता है रियल में क्या होता था किसी फ्रेंड के साथ मिलना होता था तो टाइम निकालकर एयरपोर्ट लगाकर कोई और कॉफी शॉप में मिल सकते थे या लंच पर मिल सकते हैं डिनर पर मिलते हैं पैसे लोग एक साथ आते थे फेस्टिवल सेलिब्रेट करना है तो इंस्टाग्राम पर भगवान का पिक्चर लगा दिया और गणेश चतुर्थी हैप्पी दिवाली हैप्पी दुर्गा यहां भी ऑनलाइन में जो कनेक्शन महसूस होता है ₹10 वह वॉल्यूम अन असली उनके बदले पर तो कभी नहीं हो सकता सेम फीलिंग नहीं होगा सेंड कनेक्शन नहीं मिलेगा सिमनेवरलॉक हाफिज में तो कभी नहीं मिलने वाला है तो लाखों की वजह से लोगों को ऐसा नहीं लगता कि कोई और है मेरे साथ मेरा फेस्टिवल सेलिब्रेट करने के लिए या मेरा दुख बांटने के लिए तो यह और एक चीज हो सकता है डिप्रेशन में जाने के लिए टॉप कारू नगर में सोचो जो बोलते हैं यह जो है या फूल का प्रेशर है बहुत बढ़ गया है पहले लोगों को पास जो भी जॉब था उनके पास जितना भी लोग कम आते थे वह पैसे के साथ अपना जिंदगी जी लेते थे ठीक है अगर उनको ₹100 के हिसाब से जीते थे हजार न्यू चश्मा 2000 के हिसाब से जीते थे मगर किसी को अपने फ्रेंड की तरफ देखो मिल रहा है मतलब मुझे यह चाहिए वह चाहिए और मैं जोकर मारी हूं वह मेरे लिए बस नहीं है अगर किसी ने मारुति कार खरीद लिया तो किसी और की तो वह अपने फ्रेंड की तरफ देखे तुम्हारे पास थोड़ी है मुझे भी ऑडी चाहिए जो हर चीज को एडवांस में एम आई का कोशिश कर लिया और अभी ऐसे जॉब में है कि या शायद बहुत से कुछ प्रॉब्लम है या एक्सपेंसेस बहुत बढ़ गए हैं स्कूल का खर्चा बढ़ गया है तो यह इंटर प्रेस अप योर प्रपोजल है कि मैं जो कर रहा हूं या मैं जो कर रही हूं व्हाट इज नॉट ए ना मेरी सहेलियां मेरे फ्रेंड मेरे दोस्त मेरे कॉलीग मेरा भाई मेरा बहन यह लोग जो कमा रहे हैं वह हमसे ज्यादा आई एम नॉट गुड इनफ करके फिर और टॉप कारण मुझे लगता है डिप्रेशन में जाने का 200000 ऑफ ह्यूमन कनेक्टेडनेस क्लॉक ऑफ जेन्युइन इंटरेक्शन सबकुछ ऑनलाइन पर पहुंचकर ना पूरी जिंदगी ऑनलाइन पर लगाना मतलब 27 ऑनलाइन पर ही कनेक्टेड हो फिर पूछा वह मेरे पास नहीं है मेरे पास जो है मैं उसे खुश नहीं हूं तो यह सब कारण होता है मतलब किसी के पास जाकर दुख बाटेंगे अपना मन था स्टोरी बताएंगे वह कुछ यूनिटी नहीं रहा सब भाग दौड़ कर रहे हैं सबको सबको कहीं जाने की जल्दी है सुनने के सुनने के लिए किसी के पास टाइम नहीं है आजकल पैरों के पास भी मां बाप मां और डैडी मम्मी और डैडी के पास भी अपने बच्चों का क्या प्रचार चल रहा है उनके फोन में उनके पहेलियों के साथ या फ्रेंड के साथ क्या हो रहा है बोली है ज्ञान की चर्चा कुछ कहा यह सुनने के लिए भी टाइम नहीं मिलता लोगों को तो कहां जाएंगे अगर लोगों को बात करना है कनेक्टेडनेस फील करना है कहीं पर सुनने के लिए कोई नहीं है ऐसा सिचुएशन हो गया है तो लाखों कनेक्शन कैन बी अ कॉल फॉर डिप्रैशन

depression ka mein jo karan ho sakta hai ki ek maa hamare jamane mein ya hamare aur mataon ke jamane mein log joint family rehte the toh aakar rode today living mein koi problem hoti thi unke fans ke saath ya teacher ke saath kahin bhi koi problem hai toh yah socha tha jaakar kya kisi mausi ya uncle ya grand father ya kisi se baat kar sakte the tab logo ke paas time tha sunne ke liye lekin aajkal kya ho raha hai sab log nuclear family system mein rehte hai aur iska yah matlab hai ki kisi ko koi problem hai toh vaah kisi ke paas ja nahi sakte hai apne aap hi vaah problem so jana padta hai ya toh toh salution aasani se nahi milta logo ko toh is karan vaah depression mein chale jaate hai phir doosra hai ki aap unko mobile se internet mobile par ho ya tablet par ho ya computer par ho bahut aasani se mil gaya hai toh click button par facebook ka profile ho jata hai kya instagram mein aata hoon 3 00 kar sakte hai phir kya hota hai real mein kya hota tha kisi friend ke saath milna hota tha toh time nikalakar airport lagakar koi aur coffee shop mein mil sakte the ya lunch par mil sakte hai dinner par milte hai paise log ek saath aate the festival celebrate karna hai toh instagram par bhagwan ka picture laga diya aur ganesh chaturthi happy diwali happy durga yahan bhi online mein jo connection mehsus hota hai Rs vaah volume an asli unke badle par toh kabhi nahi ho sakta same feeling nahi hoga send connection nahi milega simnevaralak haafiz mein toh kabhi nahi milne vala hai toh laakhon ki wajah se logo ko aisa nahi lagta ki koi aur hai mere saath mera festival celebrate karne ke liye ya mera dukh baantne ke liye toh yah aur ek cheez ho sakta hai depression mein jaane ke liye top karu nagar mein socho jo bolte hai yah jo hai ya fool ka pressure hai bahut badh gaya hai pehle logo ko paas jo bhi job tha unke paas jitna bhi log kam aate the vaah paise ke saath apna zindagi ji lete the theek hai agar unko Rs ke hisab se jeete the hazaar new chashma 2000 ke hisab se jeete the magar kisi ko apne friend ki taraf dekho mil raha hai matlab mujhe yah chahiye vaah chahiye aur main joker mari hoon vaah mere liye bus nahi hai agar kisi ne maaruti car kharid liya toh kisi aur ki toh vaah apne friend ki taraf dekhe tumhare paas thodi hai mujhe bhi audi chahiye jo har cheez ko advance mein M I ka koshish kar liya aur abhi aise job mein hai ki ya shayad bahut se kuch problem hai ya eksapenses bahut badh gaye hai school ka kharcha badh gaya hai toh yah inter press up your proposal hai ki main jo kar raha hoon ya main jo kar rahi hoon what is not a na meri saheliya mere friend mere dost mere colleague mera bhai mera behen yah log jo kama rahe hai vaah humse zyada I M not good enough karke phir aur top karan mujhe lagta hai depression mein jaane ka 200000 of human connectedness clock of genuine interaction sabkuch online par pahuchkar na puri zindagi online par lagana matlab 27 online par hi connected ho phir poocha vaah mere paas nahi hai mere paas jo hai use khush nahi hoon toh yah sab karan hota hai matlab kisi ke paas jaakar dukh batenge apna man tha story batayenge vaah kuch unity nahi raha sab bhag daudh kar rahe hai sabko sabko kahin jaane ki jaldi hai sunne ke sunne ke liye kisi ke paas time nahi hai aajkal pairon ke paas bhi maa baap maa aur daddy mummy aur daddy ke paas bhi apne baccho ka kya prachar chal raha hai unke phone mein unke paheliyon ke saath ya friend ke saath kya ho raha hai boli hai gyaan ki charcha kuch kaha yah sunne ke liye bhi time nahi milta logo ko toh kahaan jaenge agar logo ko baat karna hai connectedness feel karna hai kahin par sunne ke liye koi nahi hai aisa situation ho gaya hai toh laakhon connection can be a call for dipraishan

डिप्रेशन का में जो कारण हो सकता है कि एक मां हमारे जमाने में या हमारे और माताओं के जमाने म

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  150
WhatsApp_icon
user

Sunayana Agrawal

Psychologist

0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सबसे पहले लोग पहले समझते ही नहीं आजकल हर कोई बच्चा बूढ़ा जिसको भी देखो बोलता डिप्रेशन है पर डिप्रेशन एक हमलों के साइकोलॉजी में होता क्लीनिकल डिप्रेशन क्योंकि हमारा डीएसएम 4 5 जो हमारा टेस्टिकल मैनुअल है डायग्नोसिस का उसमें लिखा गया है कि क्यों क्या क्या लक्षण होते हैं वह सब कोई है तो मैं डिप्रेशन में हूं बाद में काफी डिफरेंट डिफरेंट फ्रॉम द केमिकल इक्वेशन फॉर बायोलॉजिकल नींद नहीं आएगी सोने का मतलब कुछ करने वाला न्यूज़ इंटरेस्टिंग लाइक यू

sabse pehle log pehle samajhte hi nahi aajkal har koi baccha budha jisko bhi dekho bolta depression hai par depression ek hamlo ke psychology me hota clinical depression kyonki hamara DSM 4 5 jo hamara testikal manual hai diagnosis ka usme likha gaya hai ki kyon kya kya lakshan hote hain vaah sab koi hai toh main depression me hoon baad me kaafi different different from the chemical equation for biological neend nahi aayegi sone ka matlab kuch karne vala news interesting like you

सबसे पहले लोग पहले समझते ही नहीं आजकल हर कोई बच्चा बूढ़ा जिसको भी देखो बोलता डिप्रेशन है प

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  78
WhatsApp_icon
user

Sargun Bedi

Counselling Psychologist

4:20
Play

Likes  2  Dislikes    views  68
WhatsApp_icon
user

Manju Lata Yadav

Counseling Psychologist

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डिप्रेशन जरूरत की चीजें हैं उन पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए तो फिजूल की बातें हैं उन्हें सोचने से बचना चाहिए जितना हो सके दूसरा यह है कि वे अपनी खुशी के लिए अमेरिकन देना पड़ेगा अगर आप ओवरथिंकिंग को थोड़ा सा अपना अपने दिल के शेड्यूल में है खुश रहने वाली चीजें थोड़ा कॉल करें तो डिप्रेशन से काफी

depression zarurat ki cheezen hain un par zyada dhyan dena chahiye toh fizool ki batein hain unhe sochne se bachna chahiye jitna ho sake doosra yah hai ki ve apni khushi ke liye american dena padega agar aap overthinking ko thoda sa apna apne dil ke schedule mein hai khush rehne wali cheezen thoda call kare toh depression se kafi

डिप्रेशन जरूरत की चीजें हैं उन पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए तो फिजूल की बातें हैं उन्हें सोच

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  112
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
कुछ कारण ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!