किस मानसिक विकार के कारण कोई व्यक्ति कभी गलत नहीं मानता, आसानी से झूठ बोलता है और बड़ा अहंकार करता है?...


play
user

Shovana Ray

Project Scientist, Wildlife Institute of India

0:51

Likes  19  Dislikes    views  198
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Deepinder Sekhon

Mental Health Care

0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कोई भी मेंटल डिसऑर्डर आप ले लीजिए कोई भी किसी को आप सबसे पहले तो वह डिनायल में जाता है ना कि मुझे यह तो सो डर है ही नहीं नहीं यह तो मेरे साथ कुछ गलत हो रहा है क्या मेरे पर किसी ने कुछ जादू कर दिया या कुछ टोना कर दिया कुछ ऐसा कहती है कि जो सैनिक यही तो करते हैं और लोग भी नहीं है मानते घर वाले भी यह नहीं मानते कि एक आदमी को बाइपोलर डिसऑर्डर हो सकता है कि जो सैनिक हो सकता है तुम को लगता है कि नहीं इसके साथ किसी ने कुछ गलत ही किया

koi bhi mental disorder aap le lijiye koi bhi kisi ko aap sabse pehle toh vaah denial mein jata hai na ki mujhe yah toh so dar hai hi nahi nahi yah toh mere saath kuch galat ho raha hai kya mere par kisi ne kuch jadu kar diya ya kuch tona kar diya kuch aisa kehti hai ki jo sainik yahi toh karte hain aur log bhi nahi hai maante ghar waale bhi yah nahi maante ki ek aadmi ko bipolar disorder ho sakta hai ki jo sainik ho sakta hai tum ko lagta hai ki nahi iske saath kisi ne kuch galat hi kiya

कोई भी मेंटल डिसऑर्डर आप ले लीजिए कोई भी किसी को आप सबसे पहले तो वह डिनायल में जाता है ना

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  418
WhatsApp_icon
user

Dr. Sanjeev Tripathi

Clinical Psychologist

1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मटका सट्टा मेन प्रॉब्लम जो है वह पैरानॉइड डिसऑर्डर है जरा नजदीक पर्सनैलिटी डिसऑर्डर प्रॉब्लम है जिसमें लोग अपने आप को मानसिक रूप से बीमार नहीं मानते थे वर्ल्ड सो रहे क्या की बीमारी होती है उसमें उसको दूसरों से हमेशा तैयार रहती है और उसको अनुसार ही लगता है कि लोगों के खिलाफ उसकी बातें करने की साजिश कर रहे हैं और की नहीं जाती है और दूसरे की क्यों प्रॉब्लम है नाल्को बताइए जिसमें 2 मिनट होता है

matka satta main problem jo hai wah paranoid disorder hai jara nazdeek personality disorder problem hai jisme log apne aap ko mansik roop se bimar nahi maante the world so rahe kya ki bimari hoti hai usme usko dusro se hamesha taiyaar rehti hai aur usko anusaar hi lagta hai ki logo ke khilaf uski batein karne ki sajish kar rahe hain aur ki nahi jati hai aur dusre ki kyon problem hai nalco bataye jisme 2 minute hota hai

मटका सट्टा मेन प्रॉब्लम जो है वह पैरानॉइड डिसऑर्डर है जरा नजदीक पर्सनैलिटी डिसऑर्डर प्रॉब्

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  478
WhatsApp_icon
user

Karishma

Psychologist

2:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जैसे एक प्रकार का सिजोफ्रेनिया पैरानिया बोलते हैं पैरानॉइड शिजोफ्रेनिया जो लोग इस डिसऑर्डर का शिकार होते हैं जिसको यह परेशानी होती है यह लोग अपने आप को बहुत बड़ा मानते हैं किसी की सुनते नहीं है अगर कोई उसको हेल्प करने की कोशिश करें तो उस पर शक करते हैं बहुत जल्दी से लोगों को कनेक्ट करना और लोगों पर उसके ऑपिनियंस को थोपना या फिर अपने ही बात को कन्वींस करवाना यह लोग बहुत ही ज्यादा पैसे से होते हैं अपने आप को लेकर और ना तो कभी किसी की बात को सहमति से स्वीकार कर सकते हैं ना ही खुद की बात को खड़े रहकर दूसरों पर उसको बहुत ही ज्यादा मुझसे या फिर इतने प्रेशर से वह चीजें रखते हैं कि नहीं जो वह बोल रहे हो भाई सच है उसके इतना महान कोई हो ही नहीं सकता उसको इतना इगो आ जाता है इतना घमंड या फिर उसकी वजह से वह कई कई बार कुछ बोलते कि खुद गड्ढा खोदते और उसमें गिर जाते हैं क्योंकि वह परेशान होते अपनी कुछ ऐसी मानसिक स्थिति होते कि वह अपने आप को ऊंची से एक्सेप्ट करने के लिए ना तो खुद को कनेक्ट कर पाते हैं ना ही दूसरों पर वह इफेक्टिविटी वह चीज रख पाते जबकि हमें पता रहता है कि उसकी तकलीफ क्या है और वही चीज में अपने आप को वास्तविक रूप से स्वीकार करने में असमर्थ होते हैं तब क्या होता है कि जो चीज है उसको सही लगती है उस पर हावी हो जाती है उसी को वह कंटिन्यू करेगा ना ही वह आपकी सलाह मानेगा नहीं उसको फॉलो करने के लिए कन्वींस होता है बंदा वह खुद ही अपने आप में इतना महान साबित कर की कोशिश करता रहता है इतना उसमें गुरूर है वह कुछ है जो आपकी बात क्यों माने उसको ही सब पता रहता है इस तरीके से पीएफ कटता एक तरीके का मानसिक विकार है जिसको सिजोफ्रेनिया पैरालंपिक पर्सनालिटी डिसऑर्डर जिसकी वजह से उसमें इतनी पावरफुल हो जाती है और अपने थॉट प्रोसेस इसकी इतनी गहरी हो जाती है कि वह किसी भी चीज को इस ग्रीनर तो कर नहीं सकते हैं नहीं वह खुद को समझा पाते हैं ना कि वो इस बात कर सकते हो रोशनी को बहुत हो जाता और दूसरों को हमेशा झूठ ही बताता रहता है कि कंडीशन कुछ और होती है वह बताता कुछ और

jaise ek prakar ka sijofreniya pairaniya bolte hain paranoid shijofreniya jo log is disorder ka shikaar hote hain jisko yeh pareshani hoti hai yeh log apne aap ko bahut bada maante hain kisi ki sunte nahi hai agar koi usko help karne ki koshish karein toh us par shak karte hain bahut jaldi se logo ko connect karna aur logo par uske apiniyans ko thopana ya phir apne hi baat ko convince karwana yeh log bahut hi zyada paise se hote hain apne aap ko lekar aur na toh kabhi kisi ki baat ko sehmati se sweekar kar sakte hain na hi khud ki baat ko khade rahkar dusro par usko bahut hi zyada mujhse ya phir itne pressure se wah cheezen rakhte hain ki nahi jo wah bol rahe ho bhai sach hai uske itna mahaan koi ho hi nahi sakta usko itna ego aa jata hai itna ghamand ya phir uski wajah se wah kai kai baar kuch bolte ki khud gaddha khodte aur usme gir jaate hain kyonki wah pareshan hote apni kuch aisi mansik sthiti hote ki wah apne aap ko uchi se except karne ke liye na toh khud ko connect kar paate hain na hi dusro par wah ifektiviti wah cheez rakh paate jabki humein pata rehta hai ki uski takleef kya hai aur wahi cheez mein apne aap ko vastavik roop se sweekar karne mein asamarth hote hain tab kya hota hai ki jo cheez hai usko sahi lagti hai us par havi ho jati hai usi ko wah continue karega na hi wah aapki salah manega nahi usko follow karne ke liye convince hota hai banda wah khud hi apne aap mein itna mahaan saabit kar ki koshish karta rehta hai itna usme gurur hai wah kuch hai jo aapki baat kyon maane usko hi sab pata rehta hai is tarike se pf katataa ek tarike ka mansik vikar hai jisko sijofreniya paralympic personality disorder jiski wajah se usme itni powerful ho jati hai aur apne thought process iski itni gehri ho jati hai ki wah kisi bhi cheez ko is greener toh kar nahi sakte hain nahi wah khud ko samjha paate hain na ki vo is baat kar sakte ho roshni ko bahut ho jata aur dusro ko hamesha jhuth hi batata rehta hai ki condition kuch aur hoti hai wah batata kuch aur

जैसे एक प्रकार का सिजोफ्रेनिया पैरानिया बोलते हैं पैरानॉइड शिजोफ्रेनिया जो लोग इस डिसऑर्डर

Romanized Version
Likes  43  Dislikes    views  2513
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!