क्या मैं बिना डॉक्टर को देखे खुद से अवसाद से बाहर निकल सकता हूँ यदि हाँ, तो कैसे?...


user

Jagandeep Sandhu

Clinical Psychologist

3:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

स्टेशन से बाहर आने के लिए अगर आपको जाना पड़ेगा आपको प्रिंट आउट करने के लिए आपको कोई इंसान चाहिए जरूरी नहीं है कि वह साइकॉलजिस्ट डॉ उपलब्ध हो सकते हैं पहले तो आपको जानना है आपको खुद के बारे में जानना है कि आपको आपका कॉल चाइल्ड मालूम चल जाएगा कौन से ऑलवेज गुड टो कंसल्ट साइकॉलजिस्ट प्रश्न और इन राइटिंग मगर आप अपने आप को समझने से बदल सकता है और क्यों और क्यों है और सबसे बेस्ट आफ मेडिसिंस आफ किस्सा क्या किसके पास जाएंगे किसी साल कॉलेज के पास जाएंगे आपको बहुत सिर्फ बात करने के लिए और सा क्या करेंगे ऑपरेशन दे देंगे आप कुछ टाइम के लिए काम करती है बट असल में यह एक बिजनेस है और एक फोटो और डिप्रेशन डिप्रेशन स्पेसिफिक लेकर सो जाते हैं जब आप सोते हैं आपका दिमाग खराब नहीं होता आप सोते रहते हैं सारा टाइम और आप उस जितना टाइम सो रहे हैं आप डिप्रेशन से बाहर जब उठेंगे तो सबसे अच्छी सबसे अच्छी और अपनी जिंदगी में कुछ ऐसा करें एक लाइफ में आपको एक कंडीशन होना चाहिए कमीशन ऑफ इंडिया लाइफ में आ गया मेरे क्या हॉबी है और इससे भी इंपोर्टेंट चीज है लववंशी का टाइम स्पेंड कर एक बार होना चाहिए जवाब डाइनिंग टेबल पर या कभी भी किसी भी जगह पर बैठ कर आप अपने फ्रेंड से या अपने लवली फैमिली मेंबर से बाहर आप रोज रोज डे आउट करेंगे अपनी प्रॉब्लम जरूर जरूर आपको आपके रोज क्या सारे दिन में क्या हुआ है अब शाम को करवाना हौसला रख ले शामली को तो आपको डिप्रेशन होने की सांसद बहुत कम है और आपको रियलिस्टिक होना है अब कभी भी अपनी लाइफ बुक दूसरों के साथ कंपेयर नहीं करना भी तो एवरीवन इज द स्टूडेंट और कोई अलग अलग में इंटरफेयर करने लग जाता अपने अपने लिए अंधेरी स्टेशन रखने लगते हैं अपने आप से ज्यादा इतना नहीं करना चाहते हो आप एक सोसाइटी किया शामली प्रसिद्ध की वजह से वह करते हैं तो आप खुद को प्रेशराइज करें कुत्ते बहुत ज्यादा हार्ड हो रहे हो ऑपरेशन होता तो करूंगी आपको लोगों से बात करने से बात कर ले बात करो कभी-कभी टेक मत करो दूसरा इंसान मेरे बारे में क्या सोचेंगे कि सूख जाएंगे तू सबसे अच्छी कि आप अपनी चीजों को वेंट आउट करो

station se bahar aane ke liye agar aapko jana padega aapko print out karne ke liye aapko koi insaan chahiye zaroori nahi hai ki vaah psychologist Dr. uplabdh ho sakte hain pehle toh aapko janana hai aapko khud ke bare mein janana hai ki aapko aapka call child maloom chal jaega kaunsi always good toe Consult psychologist prashna aur in writing magar aap apne aap ko samjhne se badal sakta hai aur kyon aur kyon hai aur sabse best of medisins of kissa kya kiske paas jaenge kisi saal college ke paas jaenge aapko bahut sirf baat karne ke liye aur sa kya karenge operation de denge aap kuch time ke liye kaam karti hai but asal mein yah ek business hai aur ek photo aur depression depression specific lekar so jaate hain jab aap sote hain aapka dimag kharab nahi hota aap sote rehte hain saara time aur aap us jitna time so rahe hain aap depression se bahar jab uthenge toh sabse achi sabse achi aur apni zindagi mein kuch aisa kare ek life mein aapko ek condition hona chahiye commision of india life mein aa gaya mere kya hobby hai aur isse bhi important cheez hai lavvanshi ka time spend kar ek baar hona chahiye jawab dining table par ya kabhi bhi kisi bhi jagah par baith kar aap apne friend se ya apne lovely family member se bahar aap roj roj day out karenge apni problem zaroor zaroor aapko aapke roj kya saare din mein kya hua hai ab shaam ko karwana hausla rakh le shamili ko toh aapko depression hone ki saansad bahut kam hai aur aapko realistic hona hai ab kabhi bhi apni life book dusro ke saath compare nahi karna bhi toh everyone is the student aur koi alag alag mein intarafeyar karne lag jata apne apne liye andheri station rakhne lagte hain apne aap se zyada itna nahi karna chahte ho aap ek society kiya shamili prasiddh ki wajah se vaah karte hain toh aap khud ko presharaij kare kutte bahut zyada hard ho rahe ho operation hota toh karungi aapko logo se baat karne se baat kar le baat karo kabhi kabhi take mat karo doosra insaan mere bare mein kya sochenge ki sukh jaenge tu sabse achi ki aap apni chijon ko went out karo

स्टेशन से बाहर आने के लिए अगर आपको जाना पड़ेगा आपको प्रिंट आउट करने के लिए आपको कोई इंसान

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  164
WhatsApp_icon
11 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Mohan Chandra

PSYCHOLOGIST

0:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल डिप्रेशन से बाहर निकल सकते हैं उसके लिए आपको जीवन में सकारात्मक विचारों का होना आवश्यक है जीवन में अगर आपके जीवन में सकारात्मक विचार ऑपरेशन से बाहर निकल सकते हो

bilkul depression se bahar nikal sakte hain uske liye aapko jeevan mein sakaratmak vicharon ka hona aavashyak hai jeevan mein agar aapke jeevan mein sakaratmak vichar operation se bahar nikal sakte ho

बिल्कुल डिप्रेशन से बाहर निकल सकते हैं उसके लिए आपको जीवन में सकारात्मक विचारों का होना आव

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  122
WhatsApp_icon
user

Pankaj Kumar Soni

Psychiatric Nursing (Tutor)

1:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अखिलेश डिप्रेशन से बिना डॉक्टर के पास गए हुए हम कितने से चेक करने के लिए हमारे पास बहुत सारी अलग-अलग टाइपिफीज होती है जिस दिन का यूज करके वह कर सकते जैसे कि वसंत हैप्पी एनिवर्सरी में अपने माइंड को किस चीजों के जैसे कोई प्रॉपर वर्क को उस पर कॉल करके अपने माई को डाउनलोड कर सकते हैं और उस पर डाइवर्ट करने से क्या होगा कि जो हमारे अंदर से डिप्रेशन होगा वह धीरे-धीरे करके महाराज कुछ टाइम लगातार यह प्रैक्टिस करते रहेंगे उसे मेडिटेशन से अच्छे तो शॉट आउट कर सकते हैं डिप्रेशन से बाहर आ सकते हैं और दूसरी चीजें प्रसन्न होते हैं सब के अलग-अलग होती है जो भी जिनकी आबादी 29 के कोडिंग 220 को तो वाइट करवाते हमें चैट करना जाकिर भी बैठक और जल्दी से पेटेंट होगा वह आसानी से टोकन कटेगा डिटेल

akhilesh depression se bina doctor ke paas gaye hue hum kitne se check karne ke liye hamare paas bahut saree alag alag taipifij hoti hai jis din ka use karke vaah kar sakte jaise ki vasant happy enivarsari mein apne mind ko kis chijon ke jaise koi proper work ko us par call karke apne my ko download kar sakte hain aur us par Divert karne se kya hoga ki jo hamare andar se depression hoga vaah dhire dhire karke maharaj kuch time lagatar yah practice karte rahenge use meditation se acche toh shot out kar sakte hain depression se bahar aa sakte hain aur dusri cheezen prasann hote hain sab ke alag alag hoti hai jo bhi jinki aabadi 29 ke coding 220 ko toh white karwaate hamein chat karna zakir bhi baithak aur jaldi se patent hoga vaah aasani se token katega detail

अखिलेश डिप्रेशन से बिना डॉक्टर के पास गए हुए हम कितने से चेक करने के लिए हमारे पास बहुत सा

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  154
WhatsApp_icon
user

Priyanka

Psychologist

1:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या बिना डॉक्टर की पर आप डिप्रेशन से नहीं कर सकते हैं लेकिन उसके लिए जानना जरूरी है कि आप साथ कौन से लेवल का है आपका प्रसाद हुआ कि आप माइल है तो आप कुछ तरीकों से कुछ इसे करके लाइफ स्टाइल चेंज करके एक्सरसाइज करके अच्छे सॉन्ग सुनकर मैं पति शंकर के साइड से दूर रहके थॉट सॉरी प्लीज करके ए पॉजिटिव से तो उन तरीकों से आप अपने प्रश्न खत्म कर सकते हैं लेकिन अगर आपको मोटरिया हाय डिप्रेशन है तो आपको साइकोलॉजिस्ट कि ऑफिस आकृति की जरूरत जरूर पड़ेगी अब चॉइस आपकी है क्या आप साइकोथैरेपिस्ट्स कॉलेज के पास जाते हैं या फिर आप साइट इसके पास जाते हैं कि दवाइयां लेना पसंद करते हैं थेरेपी लेना पसंद करते हैं तो लेकिन थैरेपीज आपको लॉन्ग टर्म तक अच्छा रिजल्ट देगी और दवाइयां कि जब तक चलती रहेगी तब तक आपको आराम रहेगा तो और पैटर्न तो आप को चेंज करना ही पड़ेगा वीर मॉडिफिकेशन करना ही पड़ेगा फूड जो आप खा रहे हैं मुझे करना पड़ेगा लाइफ स्टाइल चेंज करनी पड़ेगी 2 तारीख को से आप बाहर निकल सकते लेकिन पहले यह जानना जरूरी कितने प्रश्न कौन से लेवल का है थैंक यू

kya bina doctor ki par aap depression se nahi kar sakte hai lekin uske liye janana zaroori hai ki aap saath kaun se level ka hai aapka prasad hua ki aap mile hai toh aap kuch trikon se kuch ise karke life style change karke exercise karke acche song sunkar main pati shankar ke side se dur rehke thought sorry please karke a positive se toh un trikon se aap apne prashna khatam kar sakte hai lekin agar aapko motriya hi depression hai toh aapko psychologist ki office akriti ki zarurat zaroor padegi ab choice aapki hai kya aap saikothairepists college ke paas jaate hai ya phir aap site iske paas jaate hai ki davaiyan lena pasand karte hai therapy lena pasand karte hai toh lekin thairepij aapko long term tak accha result degi aur davaiyan ki jab tak chalti rahegi tab tak aapko aaram rahega toh aur pattern toh aap ko change karna hi padega veer modification karna hi padega food jo aap kha rahe hai mujhe karna padega life style change karni padegi 2 tarikh ko se aap bahar nikal sakte lekin pehle yah janana zaroori kitne prashna kaun se level ka hai thank you

क्या बिना डॉक्टर की पर आप डिप्रेशन से नहीं कर सकते हैं लेकिन उसके लिए जानना जरूरी है कि आप

Romanized Version
Likes  48  Dislikes    views  969
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

होती है कि मुझे अपनी गैलरी अपनी बात समझे लव कुश रहो अपने आप से प्यार करोगे तो आप

hoti hai ki mujhe apni gallery apni baat samjhe love kush raho apne aap se pyar karoge toh aap

होती है कि मुझे अपनी गैलरी अपनी बात समझे लव कुश रहो अपने आप से प्यार करोगे तो आप

Romanized Version
Likes  125  Dislikes    views  1370
WhatsApp_icon
user

Niharika Ghosh

Clinical Psychologist

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इसका समय यह बोलूंगी बोलते कि हम ने ली है दवाई ऐसा कुछ करो कि मैं कुछ ऐसा कि मुझे दवाई लेने पाकिस्तान दवाई भी ठीक करेगी हमें कभी-कभी जब तक उसको नहीं तो हम कितना दूर कितना बजे इन चीफ ऑफ मॉडल

iska samay yeh bolungi bolte ki hum ne li hai dawai aisa kuch karo ki main kuch aisa ki mujhe dawai lene pakistan dawai bhi theek karegi humein kabhi kabhi jab tak usko nahi toh hum kitna dur kitna baje in chief of model

इसका समय यह बोलूंगी बोलते कि हम ने ली है दवाई ऐसा कुछ करो कि मैं कुछ ऐसा कि मुझे दवाई लेने

Romanized Version
Likes  29  Dislikes    views  626
WhatsApp_icon
user

Ms. Kamna Yadav

Clinical Psychologist

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखो कहीं एपिसोड जिंदगी में लोगों के ऐसे होते हैं जो अंडा एनोड डिप्रेशन जाते हैं तो एक ही महीने के लास्ट करता है और वह अपने आप ठीक हो जाता है सो यह अंडर-19 डिप्रेशन हर इंसान अपनी लाइफ में एक बार जाता है राइट बट अगर वह डिप्रेशन आपको अकेला कोई ट्रेन फॉर एग्जांपल कोई घर में है तो उसकी वजह से खोजने की जरूरत है अजय भाई वह कभी ठीक नहीं हो पाएगा और आप उस चीज पर भाजपा पर भी नहीं निकल पाओगे अगर आप अभी ठीक हो गए थोड़ा टाइम कि वह वापस दोबारा

dekho kahin episode zindagi mein logo ke aise hote hain jo anda anode depression jaate hain toh ek hi mahine ke last karta hai aur vaah apne aap theek ho jata hai so yah under 19 depression har insaan apni life mein ek baar jata hai right but agar vaah depression aapko akela koi train for example koi ghar mein hai toh uski wajah se khojne ki zarurat hai ajay bhai vaah kabhi theek nahi ho payega aur aap us cheez par bhajpa par bhi nahi nikal paoge agar aap abhi theek ho gaye thoda time ki vaah wapas dobara

देखो कहीं एपिसोड जिंदगी में लोगों के ऐसे होते हैं जो अंडा एनोड डिप्रेशन जाते हैं तो एक ही

Romanized Version
Likes  37  Dislikes    views  563
WhatsApp_icon
play
user

Mr. Ravi Shankar Raina

Clinical Psychologist

1:04

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल बिना की जरूरत होती है मेडिसिंस की भी जरूरत होती है क्योंकि हमारे बॉडी में तो नींद में हमारे वह ज्यादा होने लगते हैं लेकिन बिना मेडिसिन वही मेडिसिंस को उसको बैलेंस करती है तो हम एकदम फिट रहते हैं लेकिन हां बिना मेडिसिंस के भी हम डिप्रेशन पर निजात पा सकते हैं या बाहर निकल सकते हैं अपने इंडियन में गीता में भी कहा गया है अपने इंडियन कल्चर पतंजलि लेकर आइए तब योगा मेडिटेशन और डिबेटिंग सबसे इंपोर्टेंट डिग्रेडिंग योगा मेडिटेशन यह सारी चीजें अगर हम करेंगे तो हम बिना मेडिसिन से भी डिप्रेशन से बाहर निकलते यह करके कभी हमारे हारमोंस को बैलेंस करती है

bilkul bina ki zarurat hoti hai medisins ki bhi zarurat hoti hai kyonki hamare body mein toh neend mein hamare vaah zyada hone lagte hain lekin bina medicine wahi medisins ko usko balance karti hai toh hum ekdam fit rehte hain lekin haan bina medisins ke bhi hum depression par nijat paa sakte hain ya bahar nikal sakte hain apne indian mein geeta mein bhi kaha gaya hai apne indian culture patanjali lekar aaiye tab yoga meditation aur debating sabse important degrading yoga meditation yah saree cheezen agar hum karenge toh hum bina medicine se bhi depression se bahar nikalte yah karke kabhi hamare hormones ko balance karti hai

बिल्कुल बिना की जरूरत होती है मेडिसिंस की भी जरूरत होती है क्योंकि हमारे बॉडी में तो नींद

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  487
WhatsApp_icon
user

Dr. Sanjeev Tripathi

Clinical Psychologist

1:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल मैं आपको बताया कि डिप्रेशन की लेवल पर होता है माइल मॉडल सीबी एडिट लेस फूड फूड फूड को मैंने बताया कि 3 4 उसके तरीके अपनी लाइफ स्टाइल बैटल करें अपना रूटीन बेहतर करें और अपनी और अपने आप को जोड़ें योगा मेडिटेशन था आप अपने आपको अपनी क्रिएटिविटी पोस्ट के साथ सपोर्ट के साथ नाम से बातचीत करना अपने आप की दुआ करेंगे

bilkul main aapko bataya ki depression ki level par hota hai mile model CB edit less food food food ko maine bataya ki 3 4 uske tarike apni life style battle karein apna routine behtar karein aur apni aur apne aap ko joden yoga meditation tha aap apne aapko apni creativity post ke saath support ke saath naam se batchit karna apne aap ki dua karenge

बिल्कुल मैं आपको बताया कि डिप्रेशन की लेवल पर होता है माइल मॉडल सीबी एडिट लेस फूड फूड फूड

Romanized Version
Likes  37  Dislikes    views  528
WhatsApp_icon
user

Jeesur Charan Das

Psychologist & Psychotherapist

1:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपने आप से नहीं होता कि सब चीज अपने आप से कोई नहीं कर सकता तो फिर कोई काम शिकस्त पूनम दवाई देकर शारीरिक रूप से और अलग-अलग शरीर का अंग बना देते हैं उसका साइड इफेक्ट है उसका कहना है कि लोगों को तो बात किचन का साइड इफेक्ट होता है साइकेट्रिक डरते चलते तुलसी लिए यह जो सब प्रॉब्लम है सहायता चाहिए मदद चाहिए ताकि उसका जो जड़ कारण है उसको पहले पकड़े और जड़ कारण जो है परमेश्वर दिखा देते हैं क्योंकि परमेश्वर को एक एक चीज बनाना तो खुद बनाए हमको तुम तो मालूम है कौन जगह में क्या प्रॉब्लम हो दिखा तू परमेश्वर के साथ रिश्ता शोषण होता है वह परमानेंट सलूशन नहीं होती तो हम भी नहीं करते और परमिशन तो दिखा देते हैं चुकंदर भी ठीक हो जाता है उसको भी उसको पर को दिखा देते देते शायद उसको बचा जाता है तो ठीक हो जाती

apne aap se nahi hota ki sab cheez apne aap se koi nahi kar sakta toh phir koi kaam SHIKAST poonam dawai dekar sharirik roop se aur alag alag sharir ka ang bana dete hain uska side effect hai uska kehna hai ki logo ko toh baat kitchen ka side effect hota hai saiketrik darte chalte tulsi liye yah jo sab problem hai sahayta chahiye madad chahiye taki uska jo jad karan hai usko pehle pakde aur jad karan jo hai parmeshwar dikha dete hain kyonki parmeshwar ko ek ek cheez banana toh khud banaye hamko tum toh maloom hai kaun jagah me kya problem ho dikha tu parmeshwar ke saath rishta shoshan hota hai vaah permanent salution nahi hoti toh hum bhi nahi karte aur permission toh dikha dete hain chukandar bhi theek ho jata hai usko bhi usko par ko dikha dete dete shayad usko bacha jata hai toh theek ho jaati

अपने आप से नहीं होता कि सब चीज अपने आप से कोई नहीं कर सकता तो फिर कोई काम शिकस्त पूनम दवाई

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  104
WhatsApp_icon
user

Janhwee Mall

Teacher (B.com)

3:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्वेश्चन से आया कि क्या बिना डॉक्टर के खुद को आप और 7 से बाहर निकाल सकते हैं तो देखिए कभी-कभी क्या होता है इससे दिया ऐसी हो जाती है कि हमें डॉक्टर से मिलना है पड़ जाता है कि जो भी यह हमारा ब्रेन का आपको पता है कि हमारे ब्रेन में भी एक चींटी की तरह होता है वह क्या होता है कि जब ज्यादा हम लोग डिप्रेशन वगैरह में जाते हैं तो कब उसे यह देखा जाता है कि उन्हीं खोडर होने लगता है हम भूलने लगते हैं अजीज हमारे अंदर चिड़चिड़ापन आ जाती हैं अजीब सारी सिम्टम्स दिखाई देते हैं तो ऐसे जब बहुत ज्यादा प्रॉब्लम हो जाती है तो हमें डॉक्टर से मिलना ही पड़ता है लेकिन हम समानता यह प्रयास करें कि माली जी और साथ तो हमारी जिंदगी का हिस्सा सबके दिल में सुख और दुख आते हैं तो क्यों आगे नहीं आएगा हम यह तो नहीं पता है ना कि साल भर बाद 2 साल बाद दिया हमारे जिंदगी में कभी कम नहीं आएगा यह में टेंशन मिलेगा तो हम बेहतर है कि हम खुद को समझने का प्रयास करें खुद को परिवर्तन करते या खुद के नजरिए को नजरियों में परिवर्तन कर दें क्योंकि हमें जिंदगी संघर्ष का नाम है संघर्ष ही जिंदगी है तो हमें फाइट करनी है तो क्या हम भविष्य में कभी भी ऐसी दिक्कत ही आएगी तो हम डॉक्टर से मिलकर इसका सलूशन निकाल लेंगे डॉक्टर कुछ दवा देगा कुछ समय के लिए उसे ठीक कर देगा लेकिन फिर वह भी मारिया स्टार्टिंग हो सकती है हो सकता है कि डॉक्टर ने दवा दिया आप ठीक हुए और कुछ समय पश्चात जाके थोड़ा सा भी आपको प्रेशर किसी ने दिया टॉर्चस किया तो फिर वही मारी अशफाक हो जाती है मेरे साथ खुद भी ऐसा हुआ था कि मैं जब यह शिकार हुई थी तो मैंने भी कोई डॉक्टर उसको दीवाना दिखाया वह लोगों ने दवा लिखा हमने खाया पिया लेकिन हुआ फिर क्या कि फिर थोड़े दिनों बाद कोई थोड़ा सा कोई बात कह दिया मैंने सीरियस लेकर बैठी है उसके बाद फिर वह सिंपल दिखाई देने लगे वह चीजें हम आने लगी तो क्या सलूशन हो नहीं था कि हम उस चीज को डॉक्टर के टेबलेट से हल करें सुलेशन यह था कि हम खुद को कैसे चेक करें खुद को परिवर्तित कैसे करें खुद से उसका सलूशन कैसे ढूंढे हम उस चीज को इग्नोर करना सीख लिया होता है सबके साथ होता है कि लोगों को लगता है कि यह चीज नहीं एक मैसेज का महत्व एक भिखारी के लिए पैसों की मौत होती है एक प्यासे के लिए पानी की मौत होती है तो वह महत्व है 1 किलो का होता है लेकिन क्या है कि हमने चीजों पर ध्यान हटाकर दूसरी चीजों पर ध्यान लगा लिया कि आप उन चीजों पर ध्यान ही नहीं देना बहुत कम ध्यान देना इन चीजों पर ध्यान देंगे वक्त के साथ में खुद को परिवर्तित कर देंगे वह सारी चीजें मायने रखती है सिस्टम डॉक्टर सुकू सलूशन ना समझ जाएगा लेकिन हां इस कल प्रॉब्लम आ पहुंचा ना होने लगती हैं तो ऐसे में जब देश आजाद की प्रॉब्लम आती है तब वह टेबलेट की अफसर और सकता आपको पड़ सकती है डॉ सट्टा को पढ़ सकती है और कोशिश करिएगा कि जिंदगी जीने का प्रयास करेगा ज्यादा पैसे ना कमाने का यह दादा मोह माया में फसने का अब एक हैप्पी जीवन जीने का प्रयास करिएगा कि जीवन हमें मिला है तो हम खुश में ढंग से जिले

question se aaya ki kya bina doctor ke khud ko aap aur 7 se bahar nikaal sakte hain toh dekhiye kabhi kabhi kya hota hai isse diya aisi ho jaati hai ki hamein doctor se milna hai pad jata hai ki jo bhi yah hamara brain ka aapko pata hai ki hamare brain me bhi ek chinti ki tarah hota hai vaah kya hota hai ki jab zyada hum log depression vagera me jaate hain toh kab use yah dekha jata hai ki unhi khodar hone lagta hai hum bhulne lagte hain aziz hamare andar chidchidapan aa jaati hain ajib saari Symptoms dikhai dete hain toh aise jab bahut zyada problem ho jaati hai toh hamein doctor se milna hi padta hai lekin hum samanata yah prayas kare ki maali ji aur saath toh hamari zindagi ka hissa sabke dil me sukh aur dukh aate hain toh kyon aage nahi aayega hum yah toh nahi pata hai na ki saal bhar baad 2 saal baad diya hamare zindagi me kabhi kam nahi aayega yah me tension milega toh hum behtar hai ki hum khud ko samjhne ka prayas kare khud ko parivartan karte ya khud ke nazariye ko najriyon me parivartan kar de kyonki hamein zindagi sangharsh ka naam hai sangharsh hi zindagi hai toh hamein fight karni hai toh kya hum bhavishya me kabhi bhi aisi dikkat hi aayegi toh hum doctor se milkar iska salution nikaal lenge doctor kuch dawa dega kuch samay ke liye use theek kar dega lekin phir vaah bhi maria starting ho sakti hai ho sakta hai ki doctor ne dawa diya aap theek hue aur kuch samay pashchat jake thoda sa bhi aapko pressure kisi ne diya tarchas kiya toh phir wahi mari ashfaq ho jaati hai mere saath khud bhi aisa hua tha ki main jab yah shikaar hui thi toh maine bhi koi doctor usko deewana dikhaya vaah logo ne dawa likha humne khaya piya lekin hua phir kya ki phir thode dino baad koi thoda sa koi baat keh diya maine serious lekar baithi hai uske baad phir vaah simple dikhai dene lage vaah cheezen hum aane lagi toh kya salution ho nahi tha ki hum us cheez ko doctor ke tablet se hal kare suleshan yah tha ki hum khud ko kaise check kare khud ko parivartit kaise kare khud se uska salution kaise dhundhe hum us cheez ko ignore karna seekh liya hota hai sabke saath hota hai ki logo ko lagta hai ki yah cheez nahi ek massage ka mahatva ek bhikhari ke liye paison ki maut hoti hai ek pyaase ke liye paani ki maut hoti hai toh vaah mahatva hai 1 kilo ka hota hai lekin kya hai ki humne chijon par dhyan hatakar dusri chijon par dhyan laga liya ki aap un chijon par dhyan hi nahi dena bahut kam dhyan dena in chijon par dhyan denge waqt ke saath me khud ko parivartit kar denge vaah saari cheezen maayne rakhti hai system doctor suku salution na samajh jaega lekin haan is kal problem aa pohcha na hone lagti hain toh aise me jab desh azad ki problem aati hai tab vaah tablet ki officer aur sakta aapko pad sakti hai Dr. satta ko padh sakti hai aur koshish kariega ki zindagi jeene ka prayas karega zyada paise na kamane ka yah dada moh maya me fasne ka ab ek happy jeevan jeene ka prayas kariega ki jeevan hamein mila hai toh hum khush me dhang se jile

क्वेश्चन से आया कि क्या बिना डॉक्टर के खुद को आप और 7 से बाहर निकाल सकते हैं तो देखिए कभी-

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  83
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!