माइक्रोसॉफ्ट भारतीय भाषाओं में ईमेल आईडी देगा। यह हमारी सहायता कैसे कर सकता है?...


play
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:25

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां देखे अच्छी बात है अगर माइक्रोसॉफ्ट जो है वह भारत की सभी भाषाओं में जो है अब ईमेल ID प्रोवाइड करने वाला है क्योंकि कई लोग हैं जिनको इंग्लिश पढ़ने नहीं आते हो या इंग्लिश हमको समझ नहीं आता तो उन लोगों को उन लोगों के लिए मुझे लगता आसानी होगा वह आराम से जो है चीजें एक्सचेंज कर पाएंगे और मेल सर्विस का जो है अच्छे से फायदा उठाते उठा पाएंगे

haan dekhe achi baat hai agar microsoft jo hai vaah bharat ki sabhi bhashaon mein jo hai ab email ID provide karne vala hai kyonki kai log hain jinako english padhne nahi aate ho ya english hamko samajh nahi aata toh un logo ko un logo ke liye mujhe lagta aasani hoga vaah aaram se jo hai cheezen exchange kar payenge aur male service ka jo hai acche se fayda uthate utha payenge

हां देखे अच्छी बात है अगर माइक्रोसॉफ्ट जो है वह भारत की सभी भाषाओं में जो है अब ईमेल ID प्

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  9
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

.

Hhhgnbhh

1:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो Microsoft नहीं है कदम उठाया है मुझे लगता है भारत के लिए बहुत ही अच्छा कदम है जिसे मैं आपको बताना चाहती हूं कि आजकल हमें पता है कि हमारे पास पूर्व जनरेशन जो गरीब लोग हैं वह काफी ज्यादा है तूने से काफी रहोगे तो पढ़ नहीं पाते हो जिन को हिंदी लिखनी आती है या हिंदी पढ़ना आता है दे दो इंग्लिश मीडियम स्कूल में जाना नहीं सपोर्ट कर पाते हैं उन जैसे लोगों को जब भी फोन करते हैं तो वह अपने फोन को भी हिंदी से हम लोग इंग्लिश में टाइप कर लेते तो हमें इससे ज्यादा फर्क नहीं पड़ेगा पर मैं अपने फोन की टाइपिंग वगैरा भी सब हिंदी में ही रखते हैं ऐसा क्यों क्यों नहीं हिंदी समझ में आती है तो जवाब आपको अकाउंट बनाने आप अपनी ID बनानी अगर वह भी आप हिंदी में बना सकेंगे तो मुझे लगता है उनके लिए एक वरदान से कम नहीं होगा क्योंकि अगर आप आज देखें तो हर चीज इतनी ज्यादा डिजिटल हो गया हर चीज ज्यादा ऑनलाइन होने शुरू हो गई है कि इस समय पर अगर कोई भी व्यक्ति होता है वह आप मान लीजिए कोई सब्जीवाला चुनाव या कोई वॉचमैन चूना हो सबको ID चाहिए होती है ताकि वह

jo Microsoft nahi hai kadam uthaya hai mujhe lagta hai bharat ke liye bahut hi accha kadam hai jise main aapko bataana chahti hoon ki aajkal hamein pata hai ki hamare paas purv generation jo garib log hain vaah kaafi zyada hai tune se kaafi rahoge toh padh nahi paate ho jin ko hindi likhani aati hai ya hindi padhna aata hai de do english medium school mein jana nahi support kar paate hain un jaise logo ko jab bhi phone karte hain toh vaah apne phone ko bhi hindi se hum log english mein type kar lete toh hamein isse zyada fark nahi padega par main apne phone ki typing vagera bhi sab hindi mein hi rakhte hain aisa kyon kyon nahi hindi samajh mein aati hai toh jawab aapko account banane aap apni ID banani agar vaah bhi aap hindi mein bana sakenge toh mujhe lagta hai unke liye ek vardaan se kam nahi hoga kyonki agar aap aaj dekhen toh har cheez itni zyada digital ho gaya har cheez zyada online hone shuru ho gayi hai ki is samay par agar koi bhi vyakti hota hai vaah aap maan lijiye koi sabjivala chunav ya koi watchman chuna ho sabko ID chahiye hoti hai taki vaah

जो Microsoft नहीं है कदम उठाया है मुझे लगता है भारत के लिए बहुत ही अच्छा कदम है जिसे मैं आ

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  16
WhatsApp_icon
user

Ridhima

Mass Communications Student

0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिखेगी कोई सीक्रेट नहीं है कि भारत में कई सारी लैंगुएज बोले जाते हैं हमारे एक ऐसा देश है जहां हर का हर एक स्टेट में कितने सारे अलग-अलग भाषाएं बोले जाते ठीक है और हिंदी हमारी मातृभाषा है पर फिर भी हमारे स्टेट में बहुत सारे अलग-अलग भाषा बोले जाते हैं और यह सब जानते हैं इंटरनेशनल एयरपोर्ट है और जब यह गलत माइक्रोसॉफ्ट अगर ऐसे भाषाओं में ईमेल ID देगा तो बहुत हेल्पफुल रहेगा उन लोगों के लिए जो वर्नाकुलर लेंगुएज ज्यादा जानते हैं और इंग्लिश और हिंदी नहीं जानते तो यह उनके लिए भी एक एयरपोर्ट बनेगा कि कि फिर उन लोग भी यह सब टेक्नोलॉजी का अच्छी तरह कैसे यूज कर सकते हैं

dikhegi koi secret nahi hai ki bharat mein kai saree lainguej bole jaate hain hamare ek aisa desh hai jaha har ka har ek state mein kitne saare alag alag bhashayen bole jaate theek hai aur hindi hamari matrubhasha hai par phir bhi hamare state mein bahut saare alag alag bhasha bole jaate hain aur yah sab jante hain international airport hai aur jab yah galat microsoft agar aise bhashaon mein email ID dega toh bahut helpful rahega un logo ke liye jo vernacular language zyada jante hain aur english aur hindi nahi jante toh yah unke liye bhi ek airport banega ki ki phir un log bhi yah sab technology ka achi tarah kaise use kar sakte hain

दिखेगी कोई सीक्रेट नहीं है कि भारत में कई सारी लैंगुएज बोले जाते हैं हमारे एक ऐसा देश है ज

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  24
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!