यह आरक्षण का मुद्दा हिंदुस्तान में कब खत्म होगा और कैसे होगा और यह आरक्षण खत्म होना चाहिए या नहीं होना चाहिए मुझे इसके बारे में जानकारी दीजिए?...


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है यह लक्षण का मुद्दा हिंदुस्तान में कब खत्म होगा और कैसे होगा जय आरक्षण खत्म होना चाहिए या नहीं इसके बारे में बताएं देखें हमारे देश का जो संविधान बनाया था बीआर अंबेडकर जी की अगुवाई में उनके मार्गदर्शन से उसमें जो दलित समाज का उसके लिए आरक्षण की योजना की व्यवस्था की गई थी और व्यवस्था उन्होंने कुछ समय के लिए गई थी उसके बाद जैसे-जैसे समय बढ़ता गया जो राजनीतिक पार्टियां थी वह अपनी सुविधा के लिए और अपना वोट बैंक को मजबूत करने के लिए उस आरक्षण के पीरियड को बढ़ाते हैं और अब हालात यह है कि इसमें गिरजा राशन के ऊपर कोई भी पार्टी कोई बड़ा फैसला लेगी जी नजर नहीं आ रहा है क्योंकि जो राजनीतिक पार्टी है सभी राजनीतिक दल हैं उनके पास एक ऐसा मुद्दा है जिसे दलित समाज के जो बूट है वह पीछे जा सकते हैं इसलिए लगता नहीं है कि निकट भविष्य में समाप्त होगा और जिसके कारण इसका एक जो दुष्परिणाम यही निकलता है कि दर्शन के कारण सरकार जो संस्थाएं हैं अपने सरकारी आधारित है उनको निजी निजी काम किया है अभी विश्व में कहीं नजर नहीं आता कि जो यह जावे समय को खत्म होगा धन्यवाद

aapka sawaal hai yah lakshan ka mudda Hindustan me kab khatam hoga aur kaise hoga jai aarakshan khatam hona chahiye ya nahi iske bare me bataye dekhen hamare desh ka jo samvidhan banaya tha br ambedkar ji ki aguvaii me unke margdarshan se usme jo dalit samaj ka uske liye aarakshan ki yojana ki vyavastha ki gayi thi aur vyavastha unhone kuch samay ke liye gayi thi uske baad jaise jaise samay badhta gaya jo raajnitik partyian thi vaah apni suvidha ke liye aur apna vote bank ko majboot karne ke liye us aarakshan ke period ko badhate hain aur ab haalaat yah hai ki isme giraja raashan ke upar koi bhi party koi bada faisla legi ji nazar nahi aa raha hai kyonki jo raajnitik party hai sabhi raajnitik dal hain unke paas ek aisa mudda hai jise dalit samaj ke jo boot hai vaah peeche ja sakte hain isliye lagta nahi hai ki nikat bhavishya me samapt hoga aur jiske karan iska ek jo dushparinaam yahi nikalta hai ki darshan ke karan sarkar jo sansthayen hain apne sarkari aadharit hai unko niji niji kaam kiya hai abhi vishwa me kahin nazar nahi aata ki jo yah jaave samay ko khatam hoga dhanyavad

आपका सवाल है यह लक्षण का मुद्दा हिंदुस्तान में कब खत्म होगा और कैसे होगा जय आरक्षण खत्म हो

Romanized Version
Likes  55  Dislikes    views  1838
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!