ध्यान शुरू करने के बाद एक महीने में मेरा वज़न 4 किलो कम क्यों हो गया?...


play
user

Ashish Verma

IAS Officer

1:14

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ध्यान करने से हमारे अंदर कई सारी शक्तियां उत्पन्न होती है कई सारे सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न होती है और इस ऊर्जा में हमारे शरीर को ज्यादा ऊर्जा महसूस होती है इसलिए हमें भोजन के माध्यम से उर्जा लेने की जरूरत ही नहीं महसूस होती और हम पूजन भी करते हैं तो कम करते हैं इसलिए इस वजह से भी हमारा वजन कम होता है और ध्यान करने से हमें अलग ही आनंद उत्पन्न होते हमारे शरीर में जो आनंद हमें भोजन के माध्यम से मिलता है उससे कहीं अधिक ध्यान से मिलने लगता है इसलिए ध्यान से कई सारे रोग भी हमारे दूर हो जाते हैं और अगर आपके अंदर किसी प्रकार का अगर बेकार की साइड साथ क्या शरीर में जमीयत वह भी निकल जाती है और आप अपने शरीर को पूरी तरह स्वस्थ और ताजी मदन ताजगी की तरह महसूस करेंगे इसलिए इससे आप चिंतित ना हो ध्यान करने से कोई सारी बीमारियां दूर हो जाती है तो आपको ध्यान रेगुलर करना ही चाहिए और थोड़ा भोजन में भी आप फ्रूट्स और फलों का यूज बढ़ा दे उसका यूज़ बड़ा इसापुर तो सो जाएंगे सुबह सुबह आप अंकुरित चना और भी अन्य तरह के जैसे भी पदार्थ आता है उसको आप खाएं इस तरह से भी आपकी तरह सकते हैं और आपका वजन मेंटेन में रहेगा

dhyan karne se hamare andar kai saree shaktiyan utpann hoti hai kai saare sakaratmak urja utpann hoti hai aur is urja mein hamare sharir ko zyada urja mehsus hoti hai isliye hamein bhojan ke madhyam se urja lene ki zarurat hi nahi mehsus hoti aur hum pujan bhi karte hain toh kam karte hain isliye is wajah se bhi hamara wajan kam hota hai aur dhyan karne se hamein alag hi anand utpann hote hamare sharir mein jo anand hamein bhojan ke madhyam se milta hai usse kahin adhik dhyan se milne lagta hai isliye dhyan se kai saare rog bhi hamare dur ho jaate hain aur agar aapke andar kisi prakar ka agar bekar ki side saath kya sharir mein jamiyat vaah bhi nikal jaati hai aur aap apne sharir ko puri tarah swasthya aur taazi madan tajgi ki tarah mehsus karenge isliye isse aap chintit na ho dhyan karne se koi saree bimariyan dur ho jaati hai toh aapko dhyan regular karna hi chahiye aur thoda bhojan mein bhi aap Fruits aur falon ka use badha de uska use bada isapur toh so jaenge subah subah aap ankurit chana aur bhi anya tarah ke jaise bhi padarth aata hai usko aap khayen is tarah se bhi aapki tarah sakte hain aur aapka wajan maintain mein rahega

ध्यान करने से हमारे अंदर कई सारी शक्तियां उत्पन्न होती है कई सारे सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!