वेट ट्रेनिंग में कहा जाता है कि हमें 30 मिनट से पहले एक अच्छा भोजन करना चाहिए। दूसरी तरफ योग प्रशिक्ष कौन का सुझाव है कि योग अभ्यास से 2 या 3 घंटे पहले कुछ खाना चाहिए। ऐसा क्यों?...


user

Aparesh

Yoga Instructor

0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वेट ट्रेनिंग से आधे घंटे पहले आपने अंडा केला फ्रूट जूस का ही सेवन करना चाहिए और वह इसलिए करना चाहिए कि वे ट्रेनिंग करते वक्त आपको ज्यादा से ज्यादा एनर्जी और ताकत की जरूरत पड़ती है और वही योगा के 2 दिन 2 घंटे पहले आपने इसलिए नहीं खाना चाहिए क्योंकि योगा में काफी आसन ऐसे होते हैं जिसमें आगे झुकना पीछे झुकना पीछे बैंड करना इस वजह से आपके डाइजेस्टिव ट्रैक्ट में प्रॉब्लम आ सकता है और डाइजेशन में तकलीफ हो सकती है इसलिए योगा करने के 2 दिन 2 घंटे पहले से आप में कुछ नहीं खाना चाहिए

wait training se aadhe ghante pehle aapne anda kela fruit juice ka hi seven karna chahiye aur vaah isliye karna chahiye ki ve training karte waqt aapko zyada se zyada energy aur takat ki zarurat padti hai aur wahi yoga ke 2 din 2 ghante pehle aapne isliye nahi khana chahiye kyonki yoga mein kaafi aasan aise hote hain jisme aage jhukna peeche jhukna peeche band karna is wajah se aapke digestive tract mein problem aa sakta hai aur digestion mein takleef ho sakti hai isliye yoga karne ke 2 din 2 ghante pehle se aap mein kuch nahi khana chahiye

वेट ट्रेनिंग से आधे घंटे पहले आपने अंडा केला फ्रूट जूस का ही सेवन करना चाहिए और वह इसलिए क

Romanized Version
Likes  47  Dislikes    views  531
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Kumar Ajit

Yoga Trainer (पतंजलि योग समिति योग शिक्षक)

3:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए तो किसी वेट ट्रेनिंग के बारे में हमें यह तो अर्थ है कि मुझे ठीक-ठीक जानकारी नहीं है कि वह तो क्या है लेकिन आप कह रहे कि वे ट्रेनिंग में कहा जाता है कि 30 मिनट से पहले अच्छा भोजन करना चाहिए तो अच्छा भोजन का यहां पर यह तात्पर्य भी हो सकता है कि शरीर को जब हम योगाभ्यास के लिए जाते हैं या करते हैं तो शरीर को इस प्रकार से उसमें शरीर के एनर्जी बहुत लॉस होता है और एनर्जी लॉस भी होता है और एनर्जी बनता भी है आप लोग सिर्फ लॉस की बात नहीं करते कोशिकाएं नष्ट होती है और कम मिस्टर बंटी ज्यादा है तो उसे में एनर्जी की डिमांड ज्यादा रहता है हो जाता है शरीर में जो आज के रूप में हम जब प्राण शक्ति शक्ति के रूप में जो पूरा नाम लेते हैं अंदर उसके दिमाग में ज्यादा रहता है इसलिए शरीर को कमजोरी महसूस ना हो इस दृष्टि से भी ऑफ हो सकता है कहते हो कि कुछ लिक्विड हो गया पसीना से टॉक्सिन अगर अभी बाहर निकलते रहते हैं शरीर से पानी ज्यादा पसीना के माध्यम से निकलता है तो वह कम हो जाता है इसलिए वह चाहते हैं लेकिन जो सुबह हराया लिक्विड विशेष अपाचे खा लें तो अच्छा रहेगा इस दृष्टि से हो सकता है वह बता रहे हो और जो योग प्रशिक्षक किसकी बात कर रहे हैं कि उनका सुझाव है 2 से 3 घंटे पहले कुछ करना चाहिए बिल्कुल दो से तीन घंटा भी पहले सुपास बहुत सुपाच्य आप खा कर के कुछ सरल आसन और प्राणायाम ही कर सकते हैं अब मैं तो कहूंगा आपको कि कम से कम 3:30 4 घंटा किस मतलब खाना खाने के बाद योगाभ्यास शुरू करना चाहिए कि भोजन का जोर बचने की प्रक्रियाएं हैं उसमें भी तो एक के शरीर का एनर्जी उधर काम कर रहा होता है वही एक ऐसी सिस्टम जो भोजन को पचाने के लिए काम कर रहा होता है हम उसमें प्राणायाम करने लगे अभ्यास करने लगे क्रियात्मक तो एनर्जी सिस्टम तो वही है और भोजन को पचाने में भी लगा हुआ है उधर आप दूसरी क्रियाएं करने लगे तो उसमें भी एनर्जी लग रहा है एक बात और दूसरी बात कि जब हम आप खाना खाए हुए रहे तो कुछ ऐसे आसन होते हैं जिस पर मरने में उधर भाग के पास से मरने वगैरा होते हैं उसमें कुछ है तो बढ़ेंगे आप पर दबाव पड़ेगा योजना सेवा में रहते हैं गलत प्रभाव भी पड़ सकता है इसलिए भोजन पचाने के बाद करना ज्यादा अच्छा रहेगा ललित 334 के 3:30 4 घंटे के बाद करना ज्यादा उपयुक्त रहेगा और जो आप कह रहे हैं कि वेट ट्रेनिंग में 30 मिनट पहले कहा जाता है उसकी हमें पूरी जानकारी नहीं है ऐसा क्यों कहते हैं हमने अपने गुरुजनों से स्वामी रामदेव जी महाराज जी से भी सुना है कि 3:30 4 घंटा के बाद योगाभ्यास

dekhiye toh kisi wait training ke bare mein hamein yah toh arth hai ki mujhe theek theek jaankari nahi hai ki vaah toh kya hai lekin aap keh rahe ki ve training mein kaha jata hai ki 30 minute se pehle accha bhojan karna chahiye toh accha bhojan ka yahan par yah tatparya bhi ho sakta hai ki sharir ko jab hum yogabhayas ke liye jaate hain ya karte hain toh sharir ko is prakar se usme sharir ke energy bahut loss hota hai aur energy loss bhi hota hai aur energy baata bhi hai aap log sirf loss ki baat nahi karte koshikayen nasht hoti hai aur kam mister bunty zyada hai toh use mein energy ki demand zyada rehta hai ho jata hai sharir mein jo aaj ke roop mein hum jab praan shakti shakti ke roop mein jo pura naam lete hain andar uske dimag mein zyada rehta hai isliye sharir ko kamzori mehsus na ho is drishti se bhi of ho sakta hai kehte ho ki kuch liquid ho gaya paseena se toxin agar abhi bahar nikalte rehte hain sharir se paani zyada paseena ke madhyam se nikalta hai toh vaah kam ho jata hai isliye vaah chahte hain lekin jo subah haraya liquid vishesh apache kha le toh accha rahega is drishti se ho sakta hai vaah bata rahe ho aur jo yog parshikshak kiski baat kar rahe hain ki unka sujhaav hai 2 se 3 ghante pehle kuch karna chahiye bilkul do se teen ghanta bhi pehle supas bahut supachya aap kha kar ke kuch saral aasan aur pranayaam hi kar sakte hain ab main toh kahunga aapko ki kam se kam 3 30 4 ghanta kis matlab khana khane ke baad yogabhayas shuru karna chahiye ki bhojan ka jor bachne ki prakriyaen hain usme bhi toh ek ke sharir ka energy udhar kaam kar raha hota hai wahi ek aisi system jo bhojan ko pachane ke liye kaam kar raha hota hai hum usme pranayaam karne lage abhyas karne lage kriyatmak toh energy system toh wahi hai aur bhojan ko pachane mein bhi laga hua hai udhar aap dusri kriyaen karne lage toh usme bhi energy lag raha hai ek baat aur dusri baat ki jab hum aap khana khaye hue rahe toh kuch aise aasan hote hain jis par marne mein udhar bhag ke paas se marne vagera hote hain usme kuch hai toh badhenge aap par dabaav padega yojana seva mein rehte hain galat prabhav bhi pad sakta hai isliye bhojan pachane ke baad karna zyada accha rahega lalit 334 ke 3 30 4 ghante ke baad karna zyada upyukt rahega aur jo aap keh rahe hain ki wait training mein 30 minute pehle kaha jata hai uski hamein puri jaankari nahi hai aisa kyon kehte hain humne apne gurujanon se swami ramdev ji maharaj ji se bhi suna hai ki 3 30 4 ghanta ke baad yogabhayas

देखिए तो किसी वेट ट्रेनिंग के बारे में हमें यह तो अर्थ है कि मुझे ठीक-ठीक जानकारी नहीं है

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  215
WhatsApp_icon
user

Girijakant Singh

Founder/ President Yog Bharati Foundation Trust

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने हम से प्रश्न किया है कि वे ट्रेनिंग में कहा जाता है कि हमें 30 मिनट पहले एक अच्छा भोजन करना चाहिए और दूसरी तरफ से योग प्रशिक्षक सुझाव देते हैं कि योगाभ्यास के दो-तीन घंटे पहले भोजन नहीं करना चाहिए अभी खाली पेट योगाभ्यासी सलाह देते हैं बहुत अच्छा प्रश्न है तो सबसे पहले मैं बता दूं कि मैं बेटे नहीं हूं तो ऐसा वह क्यों कहते हैं तो क्यों उसके पीछे क्या रीजन रहता है यह तो आपको वेट ट्रेन अभी अच्छा बेहतर बता सकते हैं लेकिन खाली पेट कम करना चाहिए इसके बारे में मैं थोड़ा सा आपको बता सकता हूं क्योंकि अगर हम भोजन करते हैं खाना खाए हुए होते हैं और हम योग करने लगते हैं तो कि हमारा शरीर के अंग प्रथम उस भोजन को पचाने में लगे होते हैं अगर हम वहीं पर स्ट्रेस डालते हैं बॉडी पर उनको दूसरी तरफ काम करने के लिए लगाते हैं अंगों को अगर योगाभ्यास करते हैं तो पाचन तंत्र खराब हो जाता है वह डिस्टर्ब हो जाता है उससे हमको गैस्ट्रिक समस्या होती है गुस्सा जाती है पाचन तंत्र बिगड़ जाता है कब्ज की समस्या हो जाती है और पेट दर्द भी होगा अगर आपने खाना खाने के तुरंत बाद एक आभास किया है तो चुकी है इसीलिए सलाह दी जाती थी खाना खाने के पहले दिन 4 घंटे पहले या खाना खाने के बाद करना चाहिए खाना खाकर बाकी मुझे इसका जवाब नहीं देना चाहिए ताकि मुखर्जी की जरूरत पड़ती है इनका जाता है तो इसीलिए ज्यादा खाना आराम से कर सकते होंगे शायद इसीलिए कहते हैं

aapne hum se prashna kiya hai ki ve training mein kaha jata hai ki hamein 30 minute pehle ek accha bhojan karna chahiye aur dusri taraf se yog parshikshak sujhaav dete hai ki yogabhayas ke do teen ghante pehle bhojan nahi karna chahiye abhi khaali pet yogabhyasi salah dete hai bahut accha prashna hai toh sabse pehle main bata doon ki main bete nahi hoon toh aisa vaah kyon kehte hai toh kyon uske peeche kya reason rehta hai yah toh aapko wait train abhi accha behtar bata sakte hai lekin khaali pet kam karna chahiye iske bare mein main thoda sa aapko bata sakta hoon kyonki agar hum bhojan karte hai khana khaye hue hote hai aur hum yog karne lagte hai toh ki hamara sharir ke ang pratham us bhojan ko pachane mein lage hote hai agar hum wahi par stress daalte hai body par unko dusri taraf kaam karne ke liye lagate hai angon ko agar yogabhayas karte hai toh pachan tantra kharab ho jata hai vaah disturb ho jata hai usse hamko gastric samasya hoti hai gussa jaati hai pachan tantra bigad jata hai kabz ki samasya ho jaati hai aur pet dard bhi hoga agar aapne khana khane ke turant baad ek aabhas kiya hai toh chuki hai isliye salah di jaati thi khana khane ke pehle din 4 ghante pehle ya khana khane ke baad karna chahiye khana khakar baki mujhe iska jawab nahi dena chahiye taki mukherjee ki zarurat padti hai inka jata hai toh isliye zyada khana aaram se kar sakte honge shayad isliye kehte hain

आपने हम से प्रश्न किया है कि वे ट्रेनिंग में कहा जाता है कि हमें 30 मिनट पहले एक अच्छा भोज

Romanized Version
Likes  154  Dislikes    views  2204
WhatsApp_icon
play
user

Shankar

Yogi By Passion .

1:57

Likes  64  Dislikes    views  808
WhatsApp_icon
user

Dhananjay Janardan Suryavanshi

Founder & Director - Yogeej Meditation

1:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब हम खाना खाते हैं तो खाना दो यार 1 घंटे तक अपने जेठा में स्टमक में रहता है जहां पर उसके ऊपर ग्राइंडिंग हाइड्रोक्लोरिक एसिड रिक्रिएशन पाचक रस वगैरह में हो जाता है उसका बोला उस पर मिस हो जाता है अच्छी तरह से वह मिक्स हो जाता था तो इसके लिए अपने स्तनों को दो या आधे घंटे लगते हैं उसके बाद वह जो कल तेरा तो पूरा स्मॉल इंटेस्टाइन में चला जाता है जब वह स्माल इंटेस्टाइन में चला जाएगा तो रिवर्जिनेशन नहीं बताया नहीं कि अगर उसके बाद 30 मिनट के बाद अगर खाना खाने के बाद हम कोई आता नहीं आपको चैटिंग करते हैं तो शायद एसिडिटी बढ़ सकती है बर्निंग सेंसेशन हो सकता है एसिडिटी बढ़ती है और कभी-कभी अपना खाना इनडायरेक्ट होकर बाहर भी निकल आ सकता है तो सिर्फ टिकने और जब हम खाना खाते तो पूरा ब्लड डाइजेस्टिव सिस्टम की तरफ जाता है बाकी किसी स्टेशन में ब्लड फ्लो बहुत कम रहता है तो वहां पर हम टीचिंग एंड लर्निंग ऑफ मसल्स नहीं कर सकते इसलिए खाना खाने के बाद 2 से 3 घंटे के बाद हम योगा या कुछ भी हो एक्सरसाइज करना चाहिए कि ब्लड सरकुलेशन अच्छी तरह से पूरे शरीर में हो जाए

jab hum khana khate hai toh khana do yaar 1 ghante tak apne jetha mein stomach mein rehta hai jaha par uske upar grinding hydrochloric acid recreation paachak ras vagera mein ho jata hai uska bola us par miss ho jata hai achi tarah se vaah mix ho jata tha toh iske liye apne stanon ko do ya aadhe ghante lagte hai uske baad vaah jo kal tera toh pura small intestine mein chala jata hai jab vaah small intestine mein chala jaega toh rivarjineshan nahi bataya nahi ki agar uske baad 30 minute ke baad agar khana khane ke baad hum koi aata nahi aapko chatting karte hai toh shayad acidity badh sakti hai burning senseshan ho sakta hai acidity badhti hai aur kabhi kabhi apna khana indirect hokar bahar bhi nikal aa sakta hai toh sirf tikne aur jab hum khana khate toh pura blood digestive system ki taraf jata hai baki kisi station mein blood flow bahut kam rehta hai toh wahan par hum teaching and learning of muscles nahi kar sakte isliye khana khane ke baad 2 se 3 ghante ke baad hum yoga ya kuch bhi ho exercise karna chahiye ki blood sarakuleshan achi tarah se poore sharir mein ho jaaye

जब हम खाना खाते हैं तो खाना दो यार 1 घंटे तक अपने जेठा में स्टमक में रहता है जहां पर उसके

Romanized Version
Likes  90  Dislikes    views  1253
WhatsApp_icon
user

Dr.Swatantra Sharma

Yoga Expert & Consultant

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा बिल्कुल नहीं है योगाभ्यास से पहले दो-तीन घंटे पहले खाना आवश्यक नहीं है आप रात्रि जब भोजन करके और भोजन करने के 3 घंटे बाद जब सोते हैं पूरी रात जब आप विश्राम करते हैं सुबह प्रेस इत्यादि होते हैं उसके बाद आप खाली पेट योगाभ्यास करते हैं यह दो-तीन घंटे का समय तो केवल इसके लिए बताया है कि अगर शाम को 5:00 बजे आपको अभ्यास करना है या 5:30 बजे अभ्यास करना है तो आपने दिन का जो भोजन किया है वह थोड़ा पक्ष जाए पेट खाली हो जाए इसके लिए 3:00 से 3:30 घंटे 4 घंटे का समय आपको माना जाता है अन्यथा योगाभ्यास तो खाली पेट ही करना है इसमें यह भ्रम आपको अपने मन से निकाल दें कि योगाभ्यास के पहले दो-तीन घंटे पहले कुछ खाना चाहिए यह अनावश्यक भ्रम है योगाभ्यास के लिए खाली पेट आवेदन

aisa bilkul nahi hai yogabhayas se pehle do teen ghante pehle khana aavashyak nahi hai aap ratri jab bhojan karke aur bhojan karne ke 3 ghante baad jab sote hain puri raat jab aap vishram karte hain subah press ityadi hote hain uske baad aap khaali pet yogabhayas karte hain yah do teen ghante ka samay toh keval iske liye bataya hai ki agar shaam ko 5 00 baje aapko abhyas karna hai ya 5 30 baje abhyas karna hai toh aapne din ka jo bhojan kiya hai vaah thoda paksh jaaye pet khaali ho jaaye iske liye 3 00 se 3 30 ghante 4 ghante ka samay aapko mana jata hai anyatha yogabhayas toh khaali pet hi karna hai isme yah bharam aapko apne man se nikaal de ki yogabhayas ke pehle do teen ghante pehle kuch khana chahiye yah anavashyak bharam hai yogabhayas ke liye khaali pet avedan

ऐसा बिल्कुल नहीं है योगाभ्यास से पहले दो-तीन घंटे पहले खाना आवश्यक नहीं है आप रात्रि जब भो

Romanized Version
Likes  79  Dislikes    views  1130
WhatsApp_icon
user

Anshu Sarkar

Founder & Director, Sarkar Yog Academy

2:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपके सवाल है मुझे इस सवाल का जवाब देते हुए अपार हर्ष होगा क्योंकि आपका सवाल नहीं आता आपका सवाल मैंने कहा जाता है कि हमें 30 मिनट से पहले एक अच्छा भोजन करना चाहिए दूसरी तरफ योग प्रशिक्षक ऐसे कहते हैं कि योग करने का पहले दो-तीन घंटा तक कुछ नहीं करते हैं जो आप खाना खाते के तौर पर कुछ डाइट लेते हैं उसको लेने के बाद करते हैं अब चुप करके अपना अदृश्य शक्ति को बढ़ाते ताकत को बढ़ा सकते हैं जिसके जरिए आपको अलग से कुछ खाने की जरूरत नहीं तो बाहर ही काय के सुंदरता को बढ़ाने के लिए विक्रम करते हैं उसमें पानी हमारे उसका तो हम आपसे विनम्र निवेदन करेंगे अगर आप जिम जाते हैं 3 दिन योगी जी जिंदाबाद

aapke sawaal hai mujhe is sawaal ka jawab dete hue apaar harsh hoga kyonki aapka sawaal nahi aata aapka sawaal maine kaha jata hai ki hamein 30 minute se pehle ek accha bhojan karna chahiye dusri taraf yog parshikshak aise kehte hain ki yog karne ka pehle do teen ghanta tak kuch nahi karte hain jo aap khana khate ke taur par kuch diet lete hain usko lene ke baad karte hain ab chup karke apna adrishya shakti ko badhate takat ko badha sakte hain jiske jariye aapko alag se kuch khane ki zarurat nahi toh bahar hi kya ke sundarta ko badhane ke liye vikram karte hain usme paani hamare uska toh hum aapse vinamra nivedan karenge agar aap gym jaate hain 3 din yogi ji zindabad

आपके सवाल है मुझे इस सवाल का जवाब देते हुए अपार हर्ष होगा क्योंकि आपका सवाल नहीं आता आपका

Romanized Version
Likes  93  Dislikes    views  676
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!