क्या पुरुषों और महिलाओं को बड़ा बर कि तनख़्वाह देना चाहिए?...


user

vivek sharma

BANK PO| Astrologer | Mutual Fund Advisor। Career Counselor

1:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न है क्या पुरुषों और महिलाओं को बराबर की तनखा देना चाहिए तो इसका जवाब ना देना चाहूंगा नहीं पुरुषों और महिलाओं को बराबर की तनखा नहीं देना चाहिए अभी तो जो व्यक्ति जितनी तनखा के लिए जरूर करता है जिसका जैसा टैलेंट है उसको उसके हिसाब से देना चाहिए अगर लड़की जाना टैलेंट है तो उसको जनार्दन का मिलना चाहिए यदि लड़का करता नाते इंटेलिजेंट है उसको उसमें कलर ज्यादा है काम करने का उसका जज्बा ज्यादा है उसको मिलना चाहिए अगर कोई भी एक जिसमें क्वालिफिकेशन उसके अंदर क्षमता है जाना है उसको अगर हम आगे नहीं बढ़ाएंगे उसको मोटिवेशन नहीं देंगे ताकि रूप में तो फिर कंपनी देश समाज आगे नहीं बढ़ सकता इसलिए जिसका जिस तरह का टैलेंट है जिस तरह का उसका कार्य प्रणाली है इतनी अच्छी कार्यप्रणाली है उसको उतना ही अच्छा नवाजा जाना चाहिए इसमें किसी भी तरह के लिंग भेद नहीं होना चाहिए

namaskar aapka prashna hai kya purushon aur mahilaon ko barabar ki tankha dena chahiye toh iska jawab na dena chahunga nahi purushon aur mahilaon ko barabar ki tankha nahi dena chahiye abhi toh jo vyakti jitni tankha ke liye zaroor karta hai jiska jaisa talent hai usko uske hisab se dena chahiye agar ladki jana talent hai toh usko Janardan ka milna chahiye yadi ladka karta naate Intelligent hai usko usme color zyada hai kaam karne ka uska jajba zyada hai usko milna chahiye agar koi bhi ek jisme qualification uske andar kshamta hai jana hai usko agar hum aage nahi badhaenge usko motivation nahi denge taki roop me toh phir company desh samaj aage nahi badh sakta isliye jiska jis tarah ka talent hai jis tarah ka uska karya pranali hai itni achi Karya Pranali hai usko utana hi accha navaja jana chahiye isme kisi bhi tarah ke ling bhed nahi hona chahiye

नमस्कार आपका प्रश्न है क्या पुरुषों और महिलाओं को बराबर की तनखा देना चाहिए तो इसका जवाब ना

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  150
WhatsApp_icon
29 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Manish Bhargava

Trainer/ Mentor in Delhi education deptt.

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है क्या पुरुषों और महिलाओं को बराबर तुम खाद देना चाहिए लिखी थी कार्य बराबर है तो निश्चित रूप से तनख्वाह बराबर होनी चाहिए यदि काम कम या ज्यादा है तो उस सबसे तंका की जा सकती है दोनों से बराबर काम एक ही समय में एक ही माहौल में बराबर कर लिया जा रहा है तो निश्चित रूप से उनकी बराबर तनखा होनी चाहिए तनखा कम या ज्यादा हो सकती है काम के अनुसार पद के अनुसार या जो भी कुछ आउटपुट है उसके अनुसार यदि काम बराबर है तो निश्चित रूप से बराबर ही सैलरी होना चाहिए

aapka prashna hai kya purushon aur mahilaon ko barabar tum khad dena chahiye likhi thi karya barabar hai toh nishchit roop se tankhvaah barabar honi chahiye yadi kaam kam ya zyada hai toh us sabse tanka ki ja sakti hai dono se barabar kaam ek hi samay me ek hi maahaul me barabar kar liya ja raha hai toh nishchit roop se unki barabar tankha honi chahiye tankha kam ya zyada ho sakti hai kaam ke anusaar pad ke anusaar ya jo bhi kuch output hai uske anusaar yadi kaam barabar hai toh nishchit roop se barabar hi salary hona chahiye

आपका प्रश्न है क्या पुरुषों और महिलाओं को बराबर तुम खाद देना चाहिए लिखी थी कार्य बराबर है

Romanized Version
Likes  98  Dislikes    views  2163
WhatsApp_icon
user

Chandraprakash Joshi

Ex-AGM RBI & CEO@ixamBee.com

0:60
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जहां पर है जिम सेक्टर में बराबरी है वहां पर तो बराबर सैलरी ऑलरेडी मिलती है जैसे गवर्नमेंट सेक्टर में आप कोई भी कॉमन सर्विस स्टेशन चाहिए चाहे वह मन हो या मैं उनकी सैलरी में कोई अंतर नहीं है बराबर सैलरी मिलती है लेकिन जिन सेक्टर्स में सैलरी मिलती है आपके कंप्यूटर हंसी और आपकी एबिलिटी के मैसेज पर तो वहां पर आप कैसे बराबर कर पाएंगे फॉर example प्राइवेट सेक्टर में वहां पर किसी की भी सैलरी कॉल नहीं होती है सैलरी आपकी वेरी करती है आपकी परफॉर्मेंस के मैसेज पर तो वहां पर यह डिप्रेशन आना नहीं है अगर जो परफॉर्म करती हैं देखिए चंदा कोचर हे शिखा शर्मा है भोजपुरी लेडीस बड़े-बड़े कंपनी की सीईओ हैं तो उन्हें कोई कम सैलरी नहीं मिलती है दूसरे सीईओ से लेकिन वहां तक पहुंचने के लिए फोटो करना ही पड़ेंगे और उसमें आप की दहाड़ वर्क एबिलिटी इन शेयर इट इस अभी कुछ काम करता है यह कोई मुद्दा नहीं है कि औरतों को आदमियों के बराबर चरखा मिलनी चाहिए

jahan par hai gym sector mein barabari hai wahan par toh barabar salary already milti hai jaise government sector mein aap koi bhi common service station chahiye chahen vaah man ho ya main unki salary mein koi antar nahi hai barabar salary milti hai lekin jin sectors mein salary milti hai aapke computer hansi aur aapki ability ke massage par toh wahan par aap kaise barabar kar payenge for example private sector mein wahan par kisi ki bhi salary call nahi hoti hai salary aapki very karti hai aapki performance ke massage par toh wahan par yah depression aana nahi hai agar jo perform karti hain dekhiye chanda kochar hai shikha sharma hai bhojpuri ladies bade bade company ki ceo hain toh unhe koi kam salary nahi milti hai dusre ceo se lekin wahan tak pahuchne ke liye photo karna hi padenge aur usme aap ki dahad work ability in share it is abhi kuch kaam karta hai yah koi mudda nahi hai ki auraton ko adamiyo ke barabar charkha milani chahiye

जहां पर है जिम सेक्टर में बराबरी है वहां पर तो बराबर सैलरी ऑलरेडी मिलती है जैसे गवर्नमेंट

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  296
WhatsApp_icon
play
user

Dr Asha B Jain

Dip in Naturopathy, Yoga therapist Pranic healer, Counselor

1:11

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कि क्या पुरुष और महिलाओं को बराबर की तनखा देनी चाहिए बिल्कुल ही देनी चाहिए अगर वह ऑफिसर लेवल पर काम कर रही हैं और एक लड़का भी 10 घंटे जॉब कर रहा है ऑफिस में लड़की भी सेम पोस्ट पर 10 घंटे जॉब कर रहे हैं तो क्या डिफरेंस है दोनों में कोई भी डिफरेंस नहीं है दोनों को बराबर तनखा मिलना चाहिए और मजदूर वर्ग में जो महिलाएं हैं और पुरुष हैं लड़का है या लड़की है तो उसका डिटेल में पुरुष में भी 10 घंटे काम कर रहा है 10 घंटे काम कर रही है पर वह मजबूरी में ऐसा हो जाता है कि मैं इतना नहीं दे पाती है जितना ऑफिशल वर्क है ऑफिस में बैठकर जॉब करते हैं जैसे कि 2 महिलाएं हैं तो सही है लड़का और लड़की का तो उसमें कोई डाउट ही नहीं है कि पुरुषों महिलाओं में मेंटल स्टेट में कोई कमी है दोनों एक जैसे एक पोस्ट पर काम कर रहे हैं तो तनखा भी एक जैसी ही होनी चाहिए

aapka prashna hai ki kya purush aur mahilaon ko barabar ki tankha deni chahiye bilkul hi deni chahiye agar vaah officer level par kaam kar rahi hain aur ek ladka bhi 10 ghante job kar raha hai office mein ladki bhi same post par 10 ghante job kar rahe hain toh kya difference hai dono mein koi bhi difference nahi hai dono ko barabar tankha milna chahiye aur majdur varg mein jo mahilaye hain aur purush hain ladka hai ya ladki hai toh uska detail mein purush mein bhi 10 ghante kaam kar raha hai 10 ghante kaam kar rahi hai par vaah majburi mein aisa ho jata hai ki main itna nahi de pati hai jitna official work hai office mein baithkar job karte hain jaise ki 2 mahilaye hain toh sahi hai ladka aur ladki ka toh usme koi doubt hi nahi hai ki purushon mahilaon mein mental state mein koi kami hai dono ek jaise ek post par kaam kar rahe hain toh tankha bhi ek jaisi hi honi chahiye

आपका प्रश्न है कि क्या पुरुष और महिलाओं को बराबर की तनखा देनी चाहिए बिल्कुल ही देनी चाहिए

Romanized Version
Likes  70  Dislikes    views  1650
WhatsApp_icon
user

Ahana Bhardwaz

Life Coach | Author

0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विश्व की महिलाओं के बराबर जानकारी दें और महिलाओं को पुरुषों के बराबर कंकाली नहीं अगर आप लोग इसको हटाया जाए किसी से कम नहीं है तो फिर क्यों ग्रुप से बाहर क्यों पुरुषों के साथ सही नहीं है तो सुकून मिलता है कुछ नहीं कुछ नहीं कुछ भी नहीं

vishwa ki mahilaon ke barabar jaankari de aur mahilaon ko purushon ke barabar kankali nahi agar aap log isko hataya jaaye kisi se kam nahi hai toh phir kyon group se bahar kyon purushon ke saath sahi nahi hai toh sukoon milta hai kuch nahi kuch nahi kuch bhi nahi

विश्व की महिलाओं के बराबर जानकारी दें और महिलाओं को पुरुषों के बराबर कंकाली नहीं अगर आप लो

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  271
WhatsApp_icon
user

कांति नेगी

अध्यापिका,ज्योतिष,वास्तुशास्त्री,अडवाइजर

0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या पुरुषों और महिलाओं को बराबर तनखा देनी चाहिए कैसे सवाल कर रहे हैं आप और कौन सी सदी में रह रहे हैं वह जमाना गया जब पुरुषों और महिलाओं में लिंग भी किया जाता था आज संविधान में दोनों को बराबर हक दिए हैं और अपनी क्वालिफिकेशन के अनुसार अपने अनुभव के अनुसार उनको बराबर तनखा लेने का पूरा पूरा हक है

kya purushon aur mahilaon ko barabar tankha deni chahiye kaise sawaal kar rahe hain aap aur kaun si sadi mein reh rahe hain vaah jamana gaya jab purushon aur mahilaon mein ling bhi kiya jata tha aaj samvidhan mein dono ko barabar haq diye hain aur apni qualification ke anusaar apne anubhav ke anusaar unko barabar tankha lene ka pura pura haq hai

क्या पुरुषों और महिलाओं को बराबर तनखा देनी चाहिए कैसे सवाल कर रहे हैं आप और कौन सी सदी मे

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  813
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा क्या पुरुषों और महिलाओं को बराबर की तनखा देनी चाहिए भाई इस देश में महिला और पुरुषों को ही जगह सम्मान तो मिलता नहीं है तो कथन का गठन तू मिलेगी और दूसरी बात और एक और एक लड़की काम कुछ और करती है लड़का को चोर करता है उनका एक जैसी कहां मिल जाएगी अब मान के चलो कोई एडवोकेटर कोई बहन की चपरासी दोस्त अंकित जेसिका मिल जाएगी हम पोजीशन पर सैमी के समय पर वह यह जॉइनिंग कर लिया जैसे आपकी कल हुई है उसकी पर सोई है तो उसे तो ज्यादा ही मिलेगा ना आपको कब मिलेगा फरार मैं तो बिल्कुल से मिलना चाहिए ठीक है थैंक यू

aapne poocha kya purushon aur mahilaon ko barabar ki tankha deni chahiye bhai is desh me mahila aur purushon ko hi jagah sammaan toh milta nahi hai toh kathan ka gathan tu milegi aur dusri baat aur ek aur ek ladki kaam kuch aur karti hai ladka ko chor karta hai unka ek jaisi kaha mil jayegi ab maan ke chalo koi edavoketar koi behen ki chaprasi dost ankit jessica mil jayegi hum position par saimi ke samay par vaah yah joining kar liya jaise aapki kal hui hai uski par soi hai toh use toh zyada hi milega na aapko kab milega farar main toh bilkul se milna chahiye theek hai thank you

आपने पूछा क्या पुरुषों और महिलाओं को बराबर की तनखा देनी चाहिए भाई इस देश में महिला और पुरु

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  106
WhatsApp_icon
user
0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जंगली सवाल के जवाब में मैं आपसे ही कहना चाहूंगा मुझे नहीं पता आप के जमाने में है लेकिन आज के समय में महिलाओं पुरुषों के बराबर ही सैलरी मिलती है चाहे वो प्राइवेट फॉर्म ऑफ गवर्नमेंट सेक्टर के फॉर्म सॉल्व की पोजीशन डेजिग्नेशन सिम है तो सैलरी भी सिम ही मिलती है ईमेल महिलाओं को छुट्टी ज्यादा मिलती है मतलब अगर प्रेगनेंट हैं या फिर कोई सरकारी है तो उन्हें छुट्टी भी गवर्नमेंट की तरफ से दी जाती है वह प्राइवेट सेक्टर में हूं चाय में चक्कर में तो है वह कि आपको जवाब मिल गया होगा अगर जवाब अच्छा लगा हो तो लाइक सेट कीजिएगा और मुझे इंस्टाग्राम पर फॉलो करना मत भूलिए गा मैंने अपने इंस्टाग्राम का हैंडल इस एप्स के प्रोफाइल में दे रखा है

jungli sawaal ke jawab mein main aapse hi kehna chahunga mujhe nahi pata aap ke jamane mein hai lekin aaj ke samay mein mahilaon purushon ke barabar hi salary milti hai chahen vo private form of government sector ke form solve ki position dejigneshan sim hai toh salary bhi sim hi milti hai email mahilaon ko chhutti zyada milti hai matlab agar pregnant hain ya phir koi sarkari hai toh unhe chhutti bhi government ki taraf se di jaati hai vaah private sector mein hoon chai mein chakkar mein toh hai vaah ki aapko jawab mil gaya hoga agar jawab accha laga ho toh like set kijiega aur mujhe instagram par follow karna mat bhuliye ga maine apne instagram ka handle is apps ke profile mein de rakha hai

जंगली सवाल के जवाब में मैं आपसे ही कहना चाहूंगा मुझे नहीं पता आप के जमाने में है लेकिन आज

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  299
WhatsApp_icon
user

Karishma

Professor

0:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां पुरुष या महिला को बराबर की तनख्वाह देना चाहिए क्योंकि अभी हम दोनों का काम बराबर का है तो दोनों की तनख्वाह भी बराबर होनी चाहिए

ji haan purush ya mahila ko barabar ki tankhvaah dena chahiye kyonki abhi hum dono ka kaam barabar ka hai toh dono ki tankhvaah bhi barabar honi chahiye

जी हां पुरुष या महिला को बराबर की तनख्वाह देना चाहिए क्योंकि अभी हम दोनों का काम बराबर का

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  7
WhatsApp_icon
user
0:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब बिल्कुल देना चाहिए तनख्वाह सैलरी जेंडर के बेसिस पर नहीं क्वालिफिकेशन और किस ब्रिटिश के बेसिस पर होना चाहिए

jab bilkul dena chahiye tankhvaah salary gender ke basis par nahi qualification aur kis british ke basis par hona chahiye

जब बिल्कुल देना चाहिए तनख्वाह सैलरी जेंडर के बेसिस पर नहीं क्वालिफिकेशन और किस ब्रिटिश के

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  34
WhatsApp_icon
user

Anukrati

Journalism Graduate

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां बिल्कुल मुझे लगता है कि पुरुषों और महिलाओं को बराबर वेतन मिलना चाहिए आज हर क्षेत्र में महिला या पुरुष समान रूप से कार्य कर रहे हैं उन की परवरिश समान है उन की शिक्षा समान है उनकी जिम्मेदारी अभी समान ही है फिर उन्हें वेतन भी सामान ही मिलना चाहिए आपकी कंपनी के बड़े पदों पर राजनीति में शिक्षा में तकनीकी में रिसर्च सेंटर में आर्मी में और भी हर जगह महिलाओं को महिलाएं पुरुष के समकक्ष पदों पर और उच्च पदों पर अपनी सेवाएं दे रही हैं पुरुषों के समान हर क्षेत्र में व शारीरिक और मानसिक दोनों की तरफ से अपना योगदान देती है फिर क्यों उन्हें पुरुषों की तुलना में कम आंका जाए जिस पथ पर वह है उस पद की जिम्मेदारी और अहमियत के आधार पर ही वेतन मिलना चाहिए ना कि पुरुषों के साथ उनकी तुलना करके

ji haan bilkul mujhe lagta hai ki purushon aur mahilaon ko barabar vetan milna chahiye aaj har kshetra mein mahila ya purush saman roop se karya kar rahe hain un ki parvarish saman hai un ki shiksha saman hai unki jimmedari abhi saman hi hai phir unhe vetan bhi saamaan hi milna chahiye aapki company ke bade padon par raajneeti mein shiksha mein takniki mein research center mein army mein aur bhi har jagah mahilaon ko mahilaye purush ke samkaksh padon par aur ucch padon par apni sevayen de rahi hain purushon ke saman har kshetra mein va sharirik aur mansik dono ki taraf se apna yogdan deti hai phir kyon unhe purushon ki tulna mein kam aanka jaaye jis path par vaah hai us pad ki jimmedari aur ahamiyat ke aadhaar par hi vetan milna chahiye na ki purushon ke saath unki tulna karke

जी हां बिल्कुल मुझे लगता है कि पुरुषों और महिलाओं को बराबर वेतन मिलना चाहिए आज हर क्षेत्र

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  13
WhatsApp_icon
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

1:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां मेरे हिसाब से तो रोशन महिलाओं को बराबर की तनख्वाह देनी चाहिए वीडियो 3 मिनट ग्राफ जो है यह बहुत साल से होता जा रहा है और अब समय आ चुका है कि हम पुरुष और महिलाओं को प्रोफेशनल लेवल पर एक ही तरह का सम्मान देश जो की पिक्चर की तनख्वाह देंगे तुमको एक तरह का सम्मान मिलेगा उसी की अग्रिम देखा जाए तो जितना काम पुरस्कर्ते उतना ही कम महिला करती है सरकारी जॉब में सरकारी नौकरियों में भी औरतों को बराबर की तनख्वाह नहीं मिलती है और प्राइवेट जॉब्स में भी प्राइवेट नौकरियों में भी औरतों को बराबर की तनख्वाह नहीं मिलती है और तूने चीज का बहुत प्रेक्टिस किया है कि हमें भी बराबर की तनख्वाह मिलनी चाहिए कि जो हम आउटपुट देते हैं वही वही पुरुष हाउसफुल देते हैं फिर घर में दिखाई जाए तो महिलाएं से काम ही नहीं करती अगर हम संध्या कुछ कर देखा जाएगा किसी किसी को दिखाया जाए आई सी आई सी बैंक के सी वाली को मिला है तो मेरे हिसाब से उन्हें और सभी महिलाओं को बराबर की तनख्वाह मिलने चाहिए इससे सोसाइटी में बराबर की भावना होगी इससे सोसाइटी में पुरुष और महिलाओं के बीच में अंतर नहीं होगा जो की बहुत ही अच्छी बात है

haan mere hisab se toh roshan mahilaon ko barabar ki tankhvaah deni chahiye video 3 minute graph jo hai yah bahut saal se hota ja raha hai aur ab samay aa chuka hai ki hum purush aur mahilaon ko professional level par ek hi tarah ka sammaan desh jo ki picture ki tankhvaah denge tumko ek tarah ka sammaan milega usi ki agrim dekha jaaye toh jitna kaam puraskarte utana hi kam mahila karti hai sarkari job mein sarkari naukriyon mein bhi auraton ko barabar ki tankhvaah nahi milti hai aur private jobs mein bhi private naukriyon mein bhi auraton ko barabar ki tankhvaah nahi milti hai aur tune cheez ka bahut practice kiya hai ki hamein bhi barabar ki tankhvaah milani chahiye ki jo hum output dete hain wahi wahi purush housefull dete hain phir ghar mein dikhai jaaye toh mahilaye se kaam hi nahi karti agar hum sandhya kuch kar dekha jaega kisi kisi ko dikhaya jaaye I si I si bank ke si wali ko mila hai toh mere hisab se unhe aur sabhi mahilaon ko barabar ki tankhvaah milne chahiye isse society mein barabar ki bhavna hogi isse society mein purush aur mahilaon ke beech mein antar nahi hoga jo ki bahut hi achi baat hai

हां मेरे हिसाब से तो रोशन महिलाओं को बराबर की तनख्वाह देनी चाहिए वीडियो 3 मिनट ग्राफ जो है

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  15
WhatsApp_icon
user
0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको सवाल है क्या पुरुष और महिलाओं को बराबर की तनखा देनी चाहिए हां यह सही है क्योंकि काम काम इंर्पोटेंट होता है चाय उसे लेडीस करें या फिर उस करें मतलब काम तो बराबर कर रहे हैं जाओ महिला हो या पुरुष हो अगर वह काम बराबर कर रहे हैं तो उनके लिए तनख्वाह भी समान होनी चाहिए ना की अलग-अलग होनी चाहिए

aapko sawaal hai kya purush aur mahilaon ko barabar ki tankha deni chahiye haan yah sahi hai kyonki kaam kaam important hota hai chai use ladies kare ya phir us kare matlab kaam toh barabar kar rahe hain jao mahila ho ya purush ho agar vaah kaam barabar kar rahe hain toh unke liye tankhvaah bhi saman honi chahiye na ki alag alag honi chahiye

आपको सवाल है क्या पुरुष और महिलाओं को बराबर की तनखा देनी चाहिए हां यह सही है क्योंकि काम क

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  2
WhatsApp_icon
user

Er Jaisingh

Mathematics Solution, 1:00PM TO 2:00PM

2:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए संविधान के भाग 4 अनुच्छेद 39 घा के अनुसार समान कार्य के लिए समान वेतन महिला हो या पुरुष लेकिन क्योंकि सरकारी जहां सेवाएं हैं शासकीय सेवा हैं शासकीय नौकरियों में यदि कोई भी लेडीज हो या पुरुषों उनके लिए समान वेतन ही दिया जाता है एक ही पद के लिए चुन प्राइवेट सेक्टर सोते हैं कंपनी होती है तो उन लोगों में वो उतना पैसा बराबर का पैसा नहीं दे पाते हैं वह लोग यह कहते हैं कि महिला है शक्ति या ताकत या सक्षम कार्य करने की क्षमता कम रखती है फ्री होना कम वेतन दिया जाता है जो कि गलत है और दिया जाता है एक मजबूरी है तो हम लोग उस कार्य को करते हैं पहले डिसाइड कर देते हैं क्या आपको इतना वेतन मिलेगा जब पहली उसने बता दिया है तो आप करना चाहे तो करे नहीं करना चाह नहीं करें कि पहले नहीं बताता गुमराह करता कोई कंपनी तो बात अलग थी इसलिए पहले बता दिया उसने क्या आपको इतना वेतन मिलेगा भले ही एक पता है और आपको पुलिस को इतना भी तन मिलेगा इसमें भले ही पद है लेकिन छुट्टियां भी तो देखते हैं मेटरनिटी लीव है और भी छुट्टी कहां देते हैं महिलाओं के लिए इसी तरह से सरकार में भी मिलती है यदि सास की सेवा है तो मेटरनिटी लीव भी मिलती है उसमें तो यह सब जो है प्राइवेट और गवर्नमेंट सेक्टर की बात अलग अलग है गवर्नमेंट सेक्टर में एक ही वेतन मिलता है एक पद के सैंपल के लिए यहां छोटे से काम पर देख लीजिए कोई मिस्त्री का काम करता है इसका चिनाई का काम करता है नित्य काम करता है तो उसको ज्यादा पैसे दिए जाते हैं ₹500 और लेडीस महिला यदि उसका काम करती है बेलदारी का काम करती है तो उसको कम दिए जाते हैं पुरुष दिलदारियां काम करता तो उसको ज्यादा दिए जाते तो हर जगह सही चल रहा है सब चलता रहेगा क्योंकि उसमें कोई बात नहीं होती है यह हमारा क्राइटेरिया

dekhie samvidhan ke bhag 4 anuched 39 gha ke anusaar saman karya ke liye saman vetan mahila ho ya purush lekin kyonki sarkari jaha sevayen hain shaaskiye seva hain shaaskiye naukriyon mein yadi koi bhi ladies ho ya purushon unke liye saman vetan hi diya jata hai ek hi pad ke liye chun private sector sote hain company hoti hai toh un logo mein vo utana paisa barabar ka paisa nahi de paate hain wah log yeh kehte hain ki mahila hai shakti ya takat ya saksham karya karne ki kshamta kam rakhti hai free hona kam vetan diya jata hai jo ki galat hai aur diya jata hai ek majburi hai toh hum log us karya ko karte hain pehle decide kar dete kya aapko itna vetan milega jab pehli usne bata diya hai toh aap karna chahe toh kare nahi karna chah nahi karein ki pehle nahi batata gumrah karta koi company toh baat alag thi isliye pehle bata diya usne kya aapko itna vetan milega bhale hi ek pata hai aur aapko police ko itna bhi tan milega ismein bhale hi pad hai lekin chhutiyan bhi toh dekhte hain metaraniti leave hai aur bhi chhutti kahaan dete hain mahilaon ke liye isi tarah se sarkar mein bhi milti hai yadi saas ki seva hai toh metaraniti leave bhi milti hai usme toh yeh sab jo hai private aur government sector ki baat alag alag hai government sector mein ek hi vetan milta hai ek pad ke sample ke liye yahan chote se kaam par dekh lijiye koi mistiri ka kaam karta hai iska chinai ka kaam karta hai nitya kaam karta hai toh usko zyada paise diye jaate hain Rs aur ladies mahila yadi uska karti hai beldari ka kaam karti hai toh usko kam diye jaate hain purush dildariyan kaam karta toh usko zyada diye jaate toh har jagah sahi chal raha hai sab chalta rahega kyonki usme koi baat nahi hoti hai yeh hamara criteria

देखिए संविधान के भाग 4 अनुच्छेद 39 घा के अनुसार समान कार्य के लिए समान वेतन महिला हो या पु

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  27
WhatsApp_icon
user

Janak

An Enthusiastic Entrepreneur.

0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां जी हां पुरुष और महिलाओं को बराबर की तनख्वा देनी चाहिए किन को एक विलेन कब देनी चाहिए इनकम एक ही कुल सैलरी देनी चाहिए क्योंकि ऐसा नहीं है कि जब पुरुष काम करते थे कि ज्यादा मेहनत कर दिया और महिलाएं जब काम करती है तो कम काम करती है कम मेहनत कर दिया ऐसा नहीं है दोनों ही कुली काम करते हैं दोनों के पास इक्वल राइट्स है इस इक्वल इनकम का मालिक का अगर वसीम पोस्ट पर हो तो और भी कई इंस्टिट्यूशन में हो सकते हैं कहां पर भी काम कर सकते हैं अगर उनकी पोस्ट से मैं करूंगा काम से मैं तो उन्हें एक ही तू कल इनकम मिलनी चाहिए

haan ji haan purush aur mahilaon ko barabar ki tanakhwa deni chahiye kin ko ek villain kab deni chahiye income ek hi kul salary deni chahiye kyonki aisa nahi hai ki jab purush kaam karte the ki zyada mehnat kar diya aur mahilaye jab kaam karti hai toh kam kaam karti hai kam mehnat kar diya aisa nahi hai dono hi kuli kaam karte hain dono ke paas equal rights hai is equal income ka malik ka agar wasim post par ho toh aur bhi kai instityushan mein ho sakte hain kahaan par bhi kaam kar sakte hain agar unki post se main karunga kaam se main toh unhe ek hi tu kal income milani chahiye

हां जी हां पुरुष और महिलाओं को बराबर की तनख्वा देनी चाहिए किन को एक विलेन कब देनी चाहिए इन

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  117
WhatsApp_icon
user

Raj Shah

Aspiring engineer

0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आजकल हम फेमिनिज्म की बात करते हैं और फेमिनिज्म एक अच्छी चीज है पर ज्यादा फेमिनिस्ट होना भी गलत बात है हम बहुत सारे किस स्टेट चुके हैं जहां पुरुषों ने भी बहुत कुछ जला हुआ है पुरुष और महिला दोनों को बराबर की तनख्वा देनी चाहिए जब वह काम बराबर से कर रहे हैं पर मैटरनिटी लीव मिलनी चाहिए और उनका बगैर काटना नहीं चाहिए बाकी तो काम अगर बराबर हो तो पुरुष और स्त्री दोनों को एक समान पर मिलना चाहिए

aajkal hum feminism ki baat karte hai aur feminism ek achi cheez hai par zyada feminist hona bhi galat baat hai hum bahut saare kis state chuke hai jaha purushon ne bhi bahut kuch jala hua hai purush aur mahila dono ko barabar ki tanakhwa deni chahiye jab vaah kaam barabar se kar rahe hai par maitaraniti leave milani chahiye aur unka bagair kaatna nahi chahiye baki toh kaam agar barabar ho toh purush aur stree dono ko ek saman par milna chahiye

आजकल हम फेमिनिज्म की बात करते हैं और फेमिनिज्म एक अच्छी चीज है पर ज्यादा फेमिनिस्ट होना भी

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  14
WhatsApp_icon
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां मैं बिल्कुल समय सब्जी पुरुषों और महिलाओं को एकदम बराबर की तनख्वा देनी चाहिए सभी लोगों को चाहे वह चाहे को फिजिकल मानसरोवर को मेहनत जो है वह दोनों करते हैं औरों के जैसा क्या भाई 10 दिन से मिले तो आ जाएगा और जेंट्स को ज्यादा तंग कर देगा कि जैसे कि आप देख सकते हैं कि कहीं मल्टीनेशनल कंपनी जो है उनकी सीईओ लेडीस भी हैं मैक्सिमम को तो यह सब जो है तो छोटे लोगों से जो वर्षा मजदूर झाड़ू काम वाले होते हैं वह लोग जो ज्यादा तंग खो देते हो जो मैं समझता हूं कि गलत है और उनको दोनों को बराबर तन को देना चाहिए क्योंकि काम दोनों बराबर का ही करते हैं

ji haan main bilkul samay sabzi purushon aur mahilaon ko ekdam barabar ki tanakhwa deni chahiye sabhi logo ko chahen vaah chahen ko physical maansarovar ko mehnat jo hai vaah dono karte hain auron ke jaisa kya bhai 10 din se mile toh aa jaega aur gents ko zyada tang kar dega ki jaise ki aap dekh sakte hain ki kahin multinational company jo hai unki ceo ladies bhi hain maximum ko toh yah sab jo hai toh chote logo se jo varsha majdur jhadu kaam waale hote hain vaah log jo zyada tang kho dete ho jo main samajhata hoon ki galat hai aur unko dono ko barabar tan ko dena chahiye kyonki kaam dono barabar ka hi karte hain

जी हां मैं बिल्कुल समय सब्जी पुरुषों और महिलाओं को एकदम बराबर की तनख्वा देनी चाहिए सभी लोग

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  44
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां पुरुष और महिलाओं को बराबर की तनखा देनी चाहिए यदि दोनों के पोस्ट बराबर है तो दोनों की तनखा भी बराबर ही होनी चाहिए

haan purush aur mahilaon ko barabar ki tankha deni chahiye yadi dono ke post barabar hai toh dono ki tankha bhi barabar hi honi chahiye

हां पुरुष और महिलाओं को बराबर की तनखा देनी चाहिए यदि दोनों के पोस्ट बराबर है तो दोनों की त

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  74
WhatsApp_icon
user

Sefali

Media-Ad Sales

0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी मुझे लगता है पुरुषों और महिलाओं को बराबर की तनख्वाह मिलने चाहिए| अगर उनका जॉब रोल सेम है, प्रोडक्टिविटी लेवल सेम है, मेहनत भी दोनों ही कर रहे हैं, तो क्यों नहीं और दोनों को इक्वल स्टेज दिया जाए, जो अपॉर्चुनिटी है दोनों को ही दी जाए कि वह अपना अपना बेस्ट कर सके, बेस्ट परफॉर्म कर सके और दोनों को इक्वल फ्लैट लेवल पे जज किया जाए, ना के किसी बाईस कंडीशन पे, ना कोई चीज को मैनली परफॉर्मेंस के सिवा कुछ चीज नोटिस में ही नहीं आना चाहिए, जहां हम इसकी बात कर रहे हैं,बराबरी की बात करें, इक्वलिटी की बात कर रहे हैं, तो हां अगर दोनों एक ही लेवल पर है तो क्यों नहीं दोनों को मिलनी ही चाहिए |

ji mujhe lagta hai purushon aur mahilaon ko barabar ki tankhvaah milne chahiye agar unka job roll same hai productivity level same hai mehnat bhi dono hi kar rahe hain toh kyon nahi aur dono ko equal stage diya jaaye jo opportunity hai dono ko hi di jaaye ki vaah apna apna best kar sake best perform kar sake aur dono ko equal flat level pe judge kiya jaaye na ke kisi baaisa condition pe na koi cheez ko mainli performance ke siva kuch cheez notice mein hi nahi aana chahiye jaha hum iski baat kar rahe hain barabari ki baat kare Equality ki baat kar rahe hain toh haan agar dono ek hi level par hai toh kyon nahi dono ko milani hi chahiye

जी मुझे लगता है पुरुषों और महिलाओं को बराबर की तनख्वाह मिलने चाहिए| अगर उनका जॉब रोल सेम

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  12
WhatsApp_icon
user

Ridhima

Mass Communications Student

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जरूर से पुरुषों और महिलाओं को बराबर की तनखा देना चाहिए क्योंकि यह पहले का सोच था कि मैं ज्यादा सुपीरियर जीव ज्यादा डोमिनेंट है पर आजकल के देखो तो दोनों ही कल है दोनों जन एक जैसा काम करते हैं और 220 दे दे डिजाइन पर मिलना चाहिए एम सालवी मिलना चाहिए तो यह डिस्क्रिमिनेशन यूनिवर्सिटी गेस्ट बेस्ड ऑन सेक्स की जस्ट बिकॉज़ कि वह एक फीमेल है उसको कम देना चाहिए आखिरी बहुत ही गलत बात रहता है इसलिए यह सेंचुरी में जबकि सब बोलते लकी मैन एंड वूमेन आर इक्वल

zaroor se purushon aur mahilaon ko barabar ki tankha dena chahiye kyonki yah pehle ka soch tha ki main zyada Superior jeev zyada dominant hai par aajkal ke dekho toh dono hi kal hai dono jan ek jaisa kaam karte hain aur 220 de de design par milna chahiye M salvi milna chahiye toh yah discrimination university guest based on sex ki just because ki vaah ek female hai usko kam dena chahiye aakhiri bahut hi galat baat rehta hai isliye yah century mein jabki sab bolte lucky man and women R equal

जरूर से पुरुषों और महिलाओं को बराबर की तनखा देना चाहिए क्योंकि यह पहले का सोच था कि मैं ज्

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  11
WhatsApp_icon
user

.

Hhhgnbhh

1:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां मेरे हिसाब से बिल्कुल पुरुषों और महिलाओं को बराबर की तनख्वाह देनी चाहिए| हम आज ऐसे जमाने में रह रहे हैं, जहां महिलाएं पुरुषों से पीछे नहीं है,बल्कि काफी कामों के अंदर उनसे आगे हैं| मेरे हिसाब से हमें यह दोनों चीजें दिमाग में रखनी चाहिए कि, कुछ काम ऐसे होते हैं जो पुरुष अच्छे से कर सकता है और कुछ काम ऐसे होते तो महिलाएं ज्यादा अच्छे से कर सकती है| ऐसा नहीं कि जो काम पुरुष अच्छे से कर सकते हैं, वेह महिलाएं नहीं कर सकती| काफी महिलाएं वह काम , पुरुषों से भी ज्यादा आचे से कर सकती हैं| पर हम लोगों ने अपने दिमाग में छवि ही बना ली, तो यह काम तो पुरुषों का ही है और यह काम तो महिलाओं का ही है| इसी कारणवश जब महिलाएं, पुरुषों वाले काम करने की कोशिश करती है, तो वह हम उन्हें कम तनख्वाह देते हैं| पर यह जो छवि हमने अपने दिमाग में बना रखी है,यह बिल्कुल ही गलत छवि है| हमें इसे हटा कर आगे बढ़ना चाहिए और पुरुष और महिलाओं के अंदर बिना किसी डिफरेंस के, बिना भेदभाव करें, उन्हें इक्वल रखके करना चाहिए| हमें ना यह देखना चाहिए की , वह पुरुष या महिलाए हैं ,बल्कि हमें उनकी काबिलियत पर उन्हें तनख्वाह देनी चाहिए| ना कि उनके जेंडर पे हमें उन्हें तनख्वाह देनी चाहिए|

haan mere hisab se bilkul purushon aur mahilaon ko barabar ki tankhvaah deni chahiye hum aaj aise jamane mein reh rahe hai jaha mahilaye purushon se peeche nahi hai balki kaafi kaamo ke andar unse aage hai mere hisab se hamein yah dono cheezen dimag mein rakhni chahiye ki kuch kaam aise hote hai jo purush acche se kar sakta hai aur kuch kaam aise hote toh mahilaye zyada acche se kar sakti hai aisa nahi ki jo kaam purush acche se kar sakte hai veh mahilaye nahi kar sakti kaafi mahilaye vaah kaam purushon se bhi zyada ache se kar sakti hai par hum logo ne apne dimag mein chhavi hi bana li toh yah kaam toh purushon ka hi hai aur yah kaam toh mahilaon ka hi hai isi karanvash jab mahilaye purushon waale kaam karne ki koshish karti hai toh vaah hum unhe kam tankhvaah dete hai par yah jo chhavi humne apne dimag mein bana rakhi hai yah bilkul hi galat chhavi hai hamein ise hata kar aage badhana chahiye aur purush aur mahilaon ke andar bina kisi difference ke bina bhedbhav kare unhe equal rakhke karna chahiye hamein na yah dekhna chahiye ki vaah purush ya mahilaye hai balki hamein unki kabiliyat par unhe tankhvaah deni chahiye na ki unke gender pe hamein unhe tankhvaah deni chahiye

हां मेरे हिसाब से बिल्कुल पुरुषों और महिलाओं को बराबर की तनख्वाह देनी चाहिए| हम आज ऐसे जमा

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  18
WhatsApp_icon
user
0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पुरुष और महिला में कोई डिफरेंस नहीं है ठीक है मुझे लगता है दोनों को पैसा देना चाहिए और जैसे देखिए इतना महिला आगे भर रहा है आजकल हर फिल्म में तो मुझे लगते कहना लोग बहुत इमोशनल है और बहुत स्ट्रॉन्ग है तो मुझे लगता है दोनों को सेमी देना चाहिए थैंक यू

purush aur mahila mein koi difference nahi hai theek hai mujhe lagta hai dono ko paisa dena chahiye aur jaise dekhiye itna mahila aage bhar raha hai aajkal har film mein toh mujhe lagte kehna log bahut emotional hai aur bahut strong hai toh mujhe lagta hai dono ko semi dena chahiye thank you

पुरुष और महिला में कोई डिफरेंस नहीं है ठीक है मुझे लगता है दोनों को पैसा देना चाहिए और जैस

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां पुरुषों और महिलाओं को बराबर की तनख्वाह देनी चाहिए लेकिन इस बात पर डिपेंड करता है कि वह किस सेक्टर में काम कर रहे हैं अगर हम कॉरपोरेशन सेक्टर की बात करें तो वहां पर महिलाओं को पुरुषों को बराबर की सैलरी मिलती है और उनके पद के हिसाब से उनको सैलरी मिलती है उनके काम के हिसाब से उनको सैलरी मिलती है ना कि उनके महिला या पुरुष होने के हिसाब से और बाकी बात करें तो मजदूरी की तो वहां पर जो मजदूर महिलाएं होती हैं वह कम कम कर पाती हैं पुरुषों के मुकाबले तो इसलिए उनको वह कम सैलरी जाती है यानी कि आतंकवादी जाती है पुरुषों के मुकाबले तो यह उस जगह पर एक ही डिपेंड करता है कि वह कहां काम करते हैं ना कि इस बात पर कि उनको तनख्वाह बराबर मिल रही है कि नहीं

ji haan purushon aur mahilaon ko barabar ki tankhvaah deni chahiye lekin is baat par depend karta hai ki vaah kis sector mein kaam kar rahe hain agar hum corporation sector ki baat kare toh wahan par mahilaon ko purushon ko barabar ki salary milti hai aur unke pad ke hisab se unko salary milti hai unke kaam ke hisab se unko salary milti hai na ki unke mahila ya purush hone ke hisab se aur baki baat kare toh mazdoori ki toh wahan par jo majdur mahilaye hoti hain vaah kam kam kar pati hain purushon ke muqable toh isliye unko vaah kam salary jaati hai yani ki aatankwadi jaati hai purushon ke muqable toh yah us jagah par ek hi depend karta hai ki vaah kahaan kaam karte hain na ki is baat par ki unko tankhvaah barabar mil rahi hai ki nahi

जी हां पुरुषों और महिलाओं को बराबर की तनख्वाह देनी चाहिए लेकिन इस बात पर डिपेंड करता है कि

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  181
WhatsApp_icon
user
Play

Likes    Dislikes    views  26
WhatsApp_icon
user
0:51
Play

Likes    Dislikes    views  16
WhatsApp_icon
user

amitkul

CA student,pursuing bcom too

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा तो मैं पूरी तरह से सहमत नहीं हो सकता कि पुरुष और महिलाओं को आतंकवादी बराबर की देनी चाहिए मैं यही कहूंगा की तनख्वाह जो है काबिलियत पर देनी चाहिए जो जितना काबिल है जो जितना अच्छे से काम कर रहा है तनख्वाह सिर्फ उसी माध्यम पर देनी चाहिए यह बिल्कुल नहीं देखना चाहिए कि वह पुरुष है कि महिला बराबर तनख्वाह अगर महिला उतनी काबिल है तो उसे भी बराबर तनख्वाह मिलेगी ऐसा हमारे मैनेजमेंट की सोच होनी चाहिए पर इसलिए जो सोचे कि दोनों काबिल है पर पुरुष को फिर भी ज्यादा तनख्वाह दी जा रही है यह सोच रखना थोड़ी गलत बात है तनख्वाह सिर्फ और सिर्फ काबिलियत के दम पर दिए जाए तो ही जायज है

aisa toh main puri tarah se sahmat nahi ho sakta ki purush aur mahilaon ko aatankwadi barabar ki deni chahiye main yahi kahunga ki tankhvaah jo hai kabiliyat par deni chahiye jo jitna kaabil hai jo jitna acche se kaam kar raha hai tankhvaah sirf usi madhyam par deni chahiye yah bilkul nahi dekhna chahiye ki vaah purush hai ki mahila barabar tankhvaah agar mahila utani kaabil hai toh use bhi barabar tankhvaah milegi aisa hamare management ki soch honi chahiye par isliye jo soche ki dono kaabil hai par purush ko phir bhi zyada tankhvaah di ja rahi hai yah soch rakhna thodi galat baat hai tankhvaah sirf aur sirf kabiliyat ke dum par diye jaaye toh hi jayaj hai

ऐसा तो मैं पूरी तरह से सहमत नहीं हो सकता कि पुरुष और महिलाओं को आतंकवादी बराबर की देनी चाह

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  18
WhatsApp_icon
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे लगता है पुरुषों महिलाओं की सैलरी दोनों की एक गोली होती है मुझे नहीं लगता कोई कंपनी है कोई ऑर्गनाइजेशन दोनों की शैली में किसी भी तरह का भेदभाव करता होगा मैं अगर गवर्मेंट सेक्टर की बात करता हूं तो अगर एक पुरुष और एक महिला की अगर दोनों की रैंक समान है और सामान कार्य कर रहे हैं तो दोनों का समान वेतन होता है दिया दम प्राइवेट सेक्टर की बात करूं तो दोनों को अगर जॉब प्रोफाइल से में डूब सैलरी भी दोनों की शेरनी होती है वह दूसरा ही है कि किसी पलकों पर फोन करने में कितना हार्डवर्क एक पुरुष को करना पड़ता है उतना महिला को करना पड़ता है तो डेफिनेटली दोनों की शैली से होनी चाहिए अगर नहीं है तो यह बहुत गलत है

mujhe lagta hai purushon mahilaon ki salary dono ki ek goli hoti hai mujhe nahi lagta koi company hai koi organisation dono ki shaili mein kisi bhi tarah ka bhedbhav karta hoga main agar government sector ki baat karta hoon toh agar ek purush aur ek mahila ki agar dono ki rank saman hai aur saamaan karya kar rahe hain toh dono ka saman vetan hota hai diya dum private sector ki baat karu toh dono ko agar job profile se mein doob salary bhi dono ki sherni hoti hai vaah doosra hi hai ki kisi palakon par phone karne mein kitna hardwork ek purush ko karna padta hai utana mahila ko karna padta hai toh definetli dono ki shaili se honi chahiye agar nahi hai toh yah bahut galat hai

मुझे लगता है पुरुषों महिलाओं की सैलरी दोनों की एक गोली होती है मुझे नहीं लगता कोई कंपनी है

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  21
WhatsApp_icon
user

Ekta

Researcher and Writer

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी की जिंदगी की अगली की रखवाली करता हम उसकी एंटी ग्रेविटी पर उसके साले डिशेस करीना कि उसकी जनरल

kisi ki zindagi ki agli ki rakhawali karta hum uski anti gravity par uske saale dishes kareena ki uski general

किसी की जिंदगी की अगली की रखवाली करता हम उसकी एंटी ग्रेविटी पर उसके साले डिशेस करीना कि उस

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  16
WhatsApp_icon
user

Vatsal

Engineering Student

1:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह सवाल आज से नहीं बहुत समय से उठ रहा है कि पुरुषों और महिलाओं को एक स्टेटस मिलना चाहिए और क्योंकि इसका मुख्य कारण यह है कि किसी भी काम में जो महिलाएं हैं वह पुरुषों से पीछे नहीं तो हमें उन को एक साथ डिलीट करना चाहिए यदि हम उनसे बराबर का काम ले रहे हैं तो जल्दी कौशिक जेंडर डिफरेंस हमको सैलरी में डिफरेंस नहीं कर सकते हो यह जो सवाल है सबसे पहले आपको बता दूं कि आज के तारीख में यदि स्कोर देखा जाए तो काफी इंप्रूवमेंट हुआ है पूरी तरीके से नहीं कर सकते लेकिन हां काफी कुछ इंप्रूवमेंट हुआ है आप जाकर जगह 100 ट्रीटमेंट मिलता है यह नहीं देखा जाता है महिलाएं पुरुषों काम के पैसे खर्च किया जाता है लेकिन अभी भी कुछ जगह ऐसी एक मेंटलिटी है कि महिलाओं को कम तनखा मिलेगी और जज्बे को पुरुष है तो चाय कामुक नहीं कर रहे हो और उन्हें ज्यादा मिलने की तो एक ही नहीं होनी चाहिए CM स्टेटस दे दी है वसीम सैलरी मिली शायद ही कोई पोजीशन में डिफरेंस हो सकता है

yah sawaal aaj se nahi bahut samay se uth raha hai ki purushon aur mahilaon ko ek status milna chahiye aur kyonki iska mukhya karan yah hai ki kisi bhi kaam mein jo mahilaye hain vaah purushon se peeche nahi toh hamein un ko ek saath delete karna chahiye yadi hum unse barabar ka kaam le rahe hain toh jaldi kaushik gender difference hamko salary mein difference nahi kar sakte ho yah jo sawaal hai sabse pehle aapko bata doon ki aaj ke tarikh mein yadi score dekha jaaye toh kaafi improvement hua hai puri tarike se nahi kar sakte lekin haan kaafi kuch improvement hua hai aap jaakar jagah 100 treatment milta hai yah nahi dekha jata hai mahilaye purushon kaam ke paise kharch kiya jata hai lekin abhi bhi kuch jagah aisi ek mentaliti hai ki mahilaon ko kam tankha milegi aur jajbe ko purush hai toh chai kaamuk nahi kar rahe ho aur unhe zyada milne ki toh ek hi nahi honi chahiye CM status de di hai wasim salary mili shayad hi koi position mein difference ho sakta hai

यह सवाल आज से नहीं बहुत समय से उठ रहा है कि पुरुषों और महिलाओं को एक स्टेटस मिलना चाहिए और

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  17
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!