अधिकतम सामाजिक लाभ का सिद्धान्त क्या है?...


user
2:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो गई सब कुछ नहीं अधिकतम सामाजिक लाभ का सिद्धांत क्या है देखिए अधिकतम सामाजिक लाभ का ही मतलब मतलब अर्थ यही है कि जो भी कार्य किया जाए वह समाज के हित में और उसको समाज उस कार्य समाज को लाभ हो या यह फिर कार्य सरकार द्वारा किया जाए या फिर समाज के किसी वर्ग विशेष द्वारा किया जाए ठीक है तो उसे अधिकतम सामाजिक लाभ करते हैं और इसमें सरकार द्वारा जिससे कि त्याग मतलब की आपने जो नागरिक होते देश सुन पर जो कर लगाया जाता है इसकी रोड टैक्सी टैक्सी टैक्सी और वस्तुओं पर टैक्स लगता है ठीक है और मौके पर टैक्स लगता है तो सब जगह हम पर टैक्स लगता है तो इसका क्या कर देती है समाज को अधिकतम मैडम लाम लिखते समय समाज में जितने भी डाल करता है वह इन चीजों का फायदा उठाते हैं तो इनको छूट मिल जाती है तो इनको अधिक लाभ मिलता है तो इसे अधिकतम सरकार द्वारा करता क्या लाभ मिलता है और और त्याग है और दोस्तों को फ्री में देना मतलब सरकार द्वारा कोई भी क्या करना है छूट देना या किस वर्ग से ज्यादा जनता के लिए कार्य करना तो इसे अधिकतम सामाजिक लाभ करते हैं तो इस प्रकार से इसमें समाज को अधिक लाभ प्राप्त होता है इसे अधिकतम सामाजिक लाभ कहते हैं लोग दान करते हैं उसका वीडियो पढ़ने के लिए आप सबको समझ में आएगा अगर आपको इसके बारे में और कुछ पूछना हो तो पूछ सकते कृपया को जरूर मिलेगा कथन

hello gayi sab kuch nahi adhiktam samajik labh ka siddhant kya hai dekhiye adhiktam samajik labh ka hi matlab matlab arth yahi hai ki jo bhi karya kiya jaaye vaah samaj ke hit me aur usko samaj us karya samaj ko labh ho ya yah phir karya sarkar dwara kiya jaaye ya phir samaj ke kisi varg vishesh dwara kiya jaaye theek hai toh use adhiktam samajik labh karte hain aur isme sarkar dwara jisse ki tyag matlab ki aapne jo nagarik hote desh sun par jo kar lagaya jata hai iski road taxi taxi taxi aur vastuon par tax lagta hai theek hai aur mauke par tax lagta hai toh sab jagah hum par tax lagta hai toh iska kya kar deti hai samaj ko adhiktam madam lama likhte samay samaj me jitne bhi daal karta hai vaah in chijon ka fayda uthate hain toh inko chhut mil jaati hai toh inko adhik labh milta hai toh ise adhiktam sarkar dwara karta kya labh milta hai aur aur tyag hai aur doston ko free me dena matlab sarkar dwara koi bhi kya karna hai chhut dena ya kis varg se zyada janta ke liye karya karna toh ise adhiktam samajik labh karte hain toh is prakar se isme samaj ko adhik labh prapt hota hai ise adhiktam samajik labh kehte hain log daan karte hain uska video padhne ke liye aap sabko samajh me aayega agar aapko iske bare me aur kuch poochna ho toh puch sakte kripya ko zaroor milega kathan

हेलो गई सब कुछ नहीं अधिकतम सामाजिक लाभ का सिद्धांत क्या है देखिए अधिकतम सामाजिक लाभ का ही

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  159
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Riya

Volunteer

0:17

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बात करेंगे अधिकतम सामाजिक लाभ का सिद्धांत जो है इंसान है या नहीं होता है

baat karenge adhiktam samajik labh ka siddhant jo hai insaan hai ya nahi hota hai

बात करेंगे अधिकतम सामाजिक लाभ का सिद्धांत जो है इंसान है या नहीं होता है

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  14
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
अधिकतम सामाजिक लाभ का सिद्धांत ; adhiktam samajik labh ka siddhant ; अधिकतम सामाजिक लाभ के सिद्धांत ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!