आधार के बिना एक महिला को अस्पताल से इलाज से वंचित किया गया और उसकी मृत्यु हो गई। क्या हम आधार से हर चीज़ ़ को जोड़ने को बहुत ज़्यादा ही तूल दे र है हैं?...


user

User

Teacher

0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपने सवाल किया है आधार के बिना एक महिला को अस्पताल से इलाज से वंचित किया गया और उसकी मृत्यु हो गई क्या माधार से हर चीज को जोड़ने को बहुत ज्यादा ही तूल दे रहे हैं तो दोस्त ऐसा है क्या तो नहीं होना चाहिए था आधार की वजह से उसको इलाज से वंचित नहीं किया जाना चाहिए था और आधार से हर चीज को जोड़ना तो बेवजह तूल देने के बराबर ठीक है आधार ने बहुत सारी चीजों में प्रगति तलाई है जिस व्यक्ति को उसका लाभ मिलना चाहिए उसको ही मिले ऐसी आधार से इसका लाभ मिला है लेकिन अगर 9 की स्थिति में तो पता नहीं होना चाहिए कि उसको किसी भी से वंचित हो जाना पड़े ऐसा भी नहीं होना चाहिए थैंक यू

apne sawaal kiya hai aadhar ke bina ek mahila ko aspatal se ilaj se vanchit kiya gaya aur uski mrityu ho gayi kya madhar se har cheez ko jodne ko bahut zyada hi tool de rahe hain toh dost aisa hai kya toh nahi hona chahiye tha aadhar ki wajah se usko ilaj se vanchit nahi kiya jana chahiye tha aur aadhar se har cheez ko jodna toh bewajah tool dene ke barabar theek hai aadhar ne bahut saari chijon me pragati talai hai jis vyakti ko uska labh milna chahiye usko hi mile aisi aadhar se iska labh mila hai lekin agar 9 ki sthiti me toh pata nahi hona chahiye ki usko kisi bhi se vanchit ho jana pade aisa bhi nahi hona chahiye thank you

अपने सवाल किया है आधार के बिना एक महिला को अस्पताल से इलाज से वंचित किया गया और उसकी मृत्य

Romanized Version
Likes  28  Dislikes    views  552
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपने सवाल दिख गया है आधार के बिना एक महिला को अस्पताल से इलाज से वंचित किया गया और उसकी मृत्यु हो गई क्या हम आधार से हर चीज को जोड़ने को बहुत ज्यादा ही तोड़ दिया है तो दोस्त ऐसा है कि ऐसा नहीं होना चाहिए था आधार की वजह से उसको इलाज से वंचित नहीं किया जाना चाहिए और आधार से हर चीज को जोड़ना तो बेवजह तूल देने के बराबर ठीक है आधार ने बहुत सारे पारदर्शिता लाई है जिस व्यक्ति को उसका लाभ मिलना चाहिए उसको ही मिले ऐसी आधार से अलार्म मिला है लेकिन अगर 9 की स्थिति में हो तो ऐसा नहीं होना चाहिए कि उसको किसी चीज से वंचित हो जाना पड़े ऐसा भी नहीं होना चाहिए थैंक यू

apne sawaal dikh gaya hai aadhar ke bina ek mahila ko aspatal se ilaj se vanchit kiya gaya aur uski mrityu ho gayi kya hum aadhar se har cheez ko jodne ko bahut zyada hi tod diya hai toh dost aisa hai ki aisa nahi hona chahiye tha aadhar ki wajah se usko ilaj se vanchit nahi kiya jana chahiye aur aadhar se har cheez ko jodna toh bewajah tool dene ke barabar theek hai aadhar ne bahut saare pardarshita lai hai jis vyakti ko uska labh milna chahiye usko hi mile aisi aadhar se alarm mila hai lekin agar 9 ki sthiti me ho toh aisa nahi hona chahiye ki usko kisi cheez se vanchit ho jana pade aisa bhi nahi hona chahiye thank you

अपने सवाल दिख गया है आधार के बिना एक महिला को अस्पताल से इलाज से वंचित किया गया और उसकी मृ

Romanized Version
Likes  30  Dislikes    views  538
WhatsApp_icon
user

Sefali

Media-Ad Sales

1:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आधार कार्ड जरूरी है| हर फिनांसिअल या फिर आपके जो भी सिक्योरिटी से जुड़े हुए जितने भी, चाहे बैंक डिटेल्स हो, पैन कार्ड डिटेल्स हो| वह सब के मामले में बिल्स हो आधार बहुत जरुरी है| मगर कुछ जगहों पर, जैसे हॉस्पिटल की अभी बात आई| हॉस्पिटल में मेरे हिसाब से ऐसा नहीं कि इमरजेंसी वार्ड्स में घुसने से पहले आपका आधार कार्ड दिखाकर घुसना है| ये हॉस्पिटल कि गलती है जिसने ये किया है| कि बिना आधार के हम इलाज नहीं करेंगे| तो ये जो माइंड सेट है| तो ये जो कुछ कुछ इंस्टीट्यूट है जिस भी हॉस्पिटल ने ये किया है| उन्होंने क्रिएट किया की बिना आधार के हम इमरजेंसी में भी जो केसेस उनको हम हैंडल नहीं करेंगे| तो ये लॉजिकल नहीं है| ये गलत तरह से वह पोटरेट करने की कोशिश कर रहे है| और यह जो किया है बहुत ही गलत है| और आधार ऐसे मामलों में भी यूज़ होता है| शायद ही किसी को पता हो| हाँ इलाज के बाद आपको बिलिंग के टाइम पर आधार चाहिए| तो दिखा सकते है| ऐसा नहीं कि इमरजेंसी वार्ड्स में घुसने से पहले आपको आधार कार्ड दिखाना है|

aadhaar card zaroori hai har finansial ya phir aapke jo bhi Security se jude hue jitne bhi chahen bank details ho pan card details ho vaah sab ke mamle mein bills ho aadhaar bahut zaroori hai magar kuch jagaho par jaise hospital ki abhi baat I hospital mein mere hisab se aisa nahi ki emergency vards mein ghusne se pehle aapka aadhaar card dikhakar ghusna hai ye hospital ki galti hai jisne ye kiya hai ki bina aadhaar ke hum ilaj nahi karenge toh ye jo mind set hai toh ye jo kuch kuch institute hai jis bhi hospital ne ye kiya hai unhone create kiya ki bina aadhaar ke hum emergency mein bhi jo cases unko hum handle nahi karenge toh ye logical nahi hai ye galat tarah se vaah potret karne ki koshish kar rahe hai aur yah jo kiya hai bahut hi galat hai aur aadhaar aise mamlon mein bhi use hota hai shayad hi kisi ko pata ho haan ilaj ke baad aapko billing ke time par aadhaar chahiye toh dikha sakte hai aisa nahi ki emergency vards mein ghusne se pehle aapko aadhaar card dikhana hai

आधार कार्ड जरूरी है| हर फिनांसिअल या फिर आपके जो भी सिक्योरिटी से जुड़े हुए जितने भी, चाहे

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  152
WhatsApp_icon
play
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

1:01

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन मुझे लगता है कि आधार को हर चीज से जुड़ने पर ज्यादा तो नहीं दिया था जा रहा लेकिन सबसे बड़ी समस्या यह है कि एक महिला को इलाज अस्पताल में इलाज का मना इसलिए कर दिया क्योंकि उसके पास आधार से हो नहीं पाया वह आधार से रजिस्टर्ड नहीं थी तो मुझे लगता है इससे शर्मनाक बात हमारे समाज के लिए और उस हॉस्पिटल के लिए कोई नहीं हो सकती पर लोन डॉक्टर के लिए कोई नहीं हो सकती जिन्होंने आधार कार्ड ना होने की वजह से इस महिला के इलाज के लिए मना कर दिया दूसरा मुझे लगता है करके यह मैटर हुआ है वह डेफिनेटली वहां के लोकल एडमिनिस्ट्रेशन की निगाहों में आया होगा और सरकार के भी फंक्शन में होगा मुझे लगता है सरकार बिल्कुल इस पर बहुत बड़ा एक्शन लेगी और अब आने वाले समय में देखेंगे इस तरह की जो कठिनाई होती है उसको तुरंत पाबंदी भी लगेगी और जिस जिस अस्पताल ने यह काम किया है तो w उसका लाइसेंस तो मैं नहीं दूंगा रात 2:00 बजे डॉक्टर से सही बोलते उनके खिलाफ सबसे सख्त कार्रवाई होता कि आने वाले समय में इस तरह की किसी भी बात को या किसी भी काम को करने से शोभा सिंह

lekin mujhe lagta hai ki aadhaar ko har cheez se judne par zyada toh nahi diya tha ja raha lekin sabse badi samasya yah hai ki ek mahila ko ilaj aspatal mein ilaj ka mana isliye kar diya kyonki uske paas aadhaar se ho nahi paya vaah aadhaar se registered nahi thi toh mujhe lagta hai isse sharmnaak baat hamare samaj ke liye aur us hospital ke liye koi nahi ho sakti par loan doctor ke liye koi nahi ho sakti jinhone aadhaar card na hone ki wajah se is mahila ke ilaj ke liye mana kar diya doosra mujhe lagta hai karke yah matter hua hai vaah definetli wahan ke local administration ki nigaahon mein aaya hoga aur sarkar ke bhi function mein hoga mujhe lagta hai sarkar bilkul is par bahut bada action legi aur ab aane waale samay mein dekhenge is tarah ki jo kathinai hoti hai usko turant pabandi bhi lagegi aur jis jis aspatal ne yah kaam kiya hai toh w uska license toh main nahi dunga raat 2 00 baje doctor se sahi bolte unke khilaf sabse sakht karyawahi hota ki aane waale samay mein is tarah ki kisi bhi baat ko ya kisi bhi kaam ko karne se shobha Singh

लेकिन मुझे लगता है कि आधार को हर चीज से जुड़ने पर ज्यादा तो नहीं दिया था जा रहा लेकिन सबसे

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  171
WhatsApp_icon
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हरियाणा के सोनीपत जिले में घटना हुई जो वाइफ थी दो लेडी थी वह कारगिल K10 की वाइफ थी और उसका बेटा उसे बहुत ही क्रिटिकल हालत में हॉस्पिटल लेकर आया और उस बेटे के मुताबिक की हॉस्पिटल में उनसे हद आधार कार्ड मांगा और आधार कार्ड उनके पास और ऑप्शन नहीं था तो उसने कॉपी दिखाई लेकिन हॉस्पिटल 3D ने मना कर दिया उसे एडमिट करने से पहले डी की डेथ हो गई दूसरी तरफ हॉस्पिटल कह रहा है कि ऐसा कुछ नहीं है उन्होंने ऐसा कोई आधार कार्ड वगैरह नहीं मांगा फोटो कमेंट के लिए इंपोर्टेंट होता है लेकिन उन्होंने लेकिन लड़का अपनी मां को लेकर ही नहीं आया ऐसा हॉस्पिटल वालों ने कहा अगर सच में कोई घटना हुई और आधार कार्ड की वजह से वह महिला की मृत्यु हो गई तू सच में आधार कार्ड को हंसी से जोड़ना कुछ ज्यादा ही तू बोल दे रहा है क्योंकि ऐसे अपने आप आधार कार्ड लेकर नहीं घूम सकते सिचुएशन में माने क्या फोन से अपना आधार कार्ड और तक पहुंच सकते लेकिन ऐसी जब किसी मां की तबीयत खराब और बेटा उसे ऐसे हॉस्पिटल लेकर आए तो इतनी हिम्मत नहीं होती कि आप अपना आधार कार्ड दिखा सके उस समय पर कोई गलत है पर आधार कार्ड जरूरी भी है अपनी आइडेंटिटी के लिए लेकिन इतना उसको बढ़ावा देना मेरे हिसाब से गलत है अगर वह किसी की मौत का कारण बन जाए तो

haryana ke sonipat jile mein ghatna hui jo wife thi do lady thi vaah kargil K10 ki wife thi aur uska beta use bahut hi critical halat mein hospital lekar aaya aur us bete ke mutabik ki hospital mein unse had aadhaar card maanga aur aadhaar card unke paas aur option nahi tha toh usne copy dikhai lekin hospital 3D ne mana kar diya use admit karne se pehle d ki death ho gayi dusri taraf hospital keh raha hai ki aisa kuch nahi hai unhone aisa koi aadhaar card vagera nahi maanga photo comment ke liye important hota hai lekin unhone lekin ladka apni maa ko lekar hi nahi aaya aisa hospital walon ne kaha agar sach mein koi ghatna hui aur aadhaar card ki wajah se vaah mahila ki mrityu ho gayi tu sach mein aadhaar card ko hansi se jodna kuch zyada hi tu bol de raha hai kyonki aise apne aap aadhaar card lekar nahi ghum sakte situation mein maane kya phone se apna aadhaar card aur tak pohch sakte lekin aisi jab kisi maa ki tabiyat kharab aur beta use aise hospital lekar aaye toh itni himmat nahi hoti ki aap apna aadhaar card dikha sake us samay par koi galat hai par aadhaar card zaroori bhi hai apni identity ke liye lekin itna usko badhawa dena mere hisab se galat hai agar vaah kisi ki maut ka karan ban jaaye toh

हरियाणा के सोनीपत जिले में घटना हुई जो वाइफ थी दो लेडी थी वह कारगिल K10 की वाइफ थी और उसका

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  116
WhatsApp_icon
user

Anukrati

Journalism Graduate

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी नहीं मुझे ऐसा नहीं लगता है कि हम आधार को हर चीज से जोड़ने को बहुत महत्व दे रहे हैं आधार के बिना इलाज से मना कर देना और मृत्यु हो जाना बहुत ही दुखद है इसकी वजह है कि हम आधार को सही इंप्लीमेंट नहीं कर पा रहे हैं अगर हम सही तरह और तरीके से आधार को हर चीज से जुड़ेंगे तो इससे कई चीजें बहुत आसान हो जाएंगी लोगों को इससे कई लाभ होंगे वह कई जगह जीत होने से बच जाएंगे मुझे लगता है यह जो घटनाएं अस्पतालों में हुई है यह उन विभागों की कमी है यह डॉक्टरों को अच्छी तरह से पता होता है कि मर गई इसके लिए ज्यादा जरूरी क्या है इस चीज ही नहीं देखनी चाहिए हाल ही में एक खबर थी कि जोधपुर के पीपाड़ शहर में 10 साल की एक गुमशुदा बच्चे को आधार नंबर के जरिए उसके परिवार तक पहुंचाया गया

ji nahi mujhe aisa nahi lagta hai ki hum aadhaar ko har cheez se jodne ko bahut mahatva de rahe hain aadhaar ke bina ilaj se mana kar dena aur mrityu ho jana bahut hi dukhad hai iski wajah hai ki hum aadhaar ko sahi implement nahi kar paa rahe hain agar hum sahi tarah aur tarike se aadhaar ko har cheez se judenge toh isse kai cheezen bahut aasaan ho jayegi logo ko isse kai labh honge vaah kai jagah jeet hone se bach jaenge mujhe lagta hai yah jo ghatnaye aspataalon mein hui hai yah un vibhagon ki kami hai yah doctoron ko achi tarah se pata hota hai ki mar gayi iske liye zyada zaroori kya hai is cheez hi nahi dekhni chahiye haal hi mein ek khabar thi ki jodhpur ke pipar shehar mein 10 saal ki ek gumshuda bacche ko aadhaar number ke jariye uske parivar tak pahunchaya gaya

जी नहीं मुझे ऐसा नहीं लगता है कि हम आधार को हर चीज से जोड़ने को बहुत महत्व दे रहे हैं आधार

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  182
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!