CPM की रिताब्रत बनर्जी ने सुभाष चंद्र बोस के जन्मदिन को "देशप्रेम दिवस" घोसित किये जाने और अवकाश दिए जाने की माँग की है, क्या आप सहमत हैं? क्यों?...


play
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

0:47

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन मुझे लगता है सी टीम की जिस महिला लीडर ने इस तरह की मांग को रखा है मुझे लगता है बहुत ही जायज़ मांगों सरकार को ऐसे मांगो विचार करना चाहिए मैं तो इतना कहना चाहूंगा बेचारी नहीं करना चाहिए उस को अमल में भी लाना चाहिए जिस तरह से हमने इतिहास के बारे में पढ़ा है सुभाष चंद्र बोस के बारे में बताएं जिस तरह से उनका योगदान हमारे देश की स्वतंत्रता में रहा है जिस तरह से उन्होंने उस दिन की जो विश्वसनीयता थी उनका जो देश प्रेम था वह Dulhania था हम सब जानते हैं इसके बारे में बहुत सारा पड़ा है तो मुझे लगता है कि अगर देख देशप्रेम सुभाष चंद्र बोस के जन्मदिन पर देश प्रेम दिवस मनाने की याद देशभक्ति दिवस मनाने की घोषणा की जाती सरकार की तरफ से तो बहुत ही सराहनीय कदम होगा

lekin mujhe lagta hai si team ki jis mahila leader ne is tarah ki maang ko rakha hai mujhe lagta hai bahut hi jayaz maangon sarkar ko aise mango vichar karna chahiye main toh itna kehna chahunga bechari nahi karna chahiye us ko amal mein bhi lana chahiye jis tarah se humne itihas ke bare mein padha hai subhash chandra bose ke bare mein bataye jis tarah se unka yogdan hamare desh ki swatantrata mein raha hai jis tarah se unhone us din ki jo visvasaniyata thi unka jo desh prem tha vaah Dulhania tha hum sab jante hain iske bare mein bahut saara pada hai toh mujhe lagta hai ki agar dekh deshprem subhash chandra bose ke janamdin par desh prem divas manane ki yaad deshbhakti divas manane ki ghoshana ki jaati sarkar ki taraf se toh bahut hi sarahniya kadam hoga

लेकिन मुझे लगता है सी टीम की जिस महिला लीडर ने इस तरह की मांग को रखा है मुझे लगता है बहुत

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  115
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए सर मैं ऐसे किसी पर ईमान से बिल्कुल सहमत नहीं हूं और 23 जनवरी को सुभाष चंद्र बोस जी की जन्म तिथि उनका जन्म दिवस होता है तो उनके यूनिवर्सिटी है सुभाष चंद्र बोस की उसे आज देश प्रेम दिवस या पर पैरा टीचर्स डे के रुप में मनाने की बात कही है और ऐसा कहा है कि उसने एक मास्टर हॉलिडे भी घोषित किया जाए YouTube होता है यह रिश्ता बता गांधी जी ने उठाया है जो हाल फिलाल सीपीआई से एक्सप्रेस किए गए हैं उन्होंने सुभाष चंद्र बोस की जो हीरोइन तेल बनाने की विधि और उनकी बहादुरी की कहानी है वह बताएं कि कैसे वह ब्रिटिश रूल के दौरान हाउस रेस से निकल कर भाग गए थे और कैसे वहां से वह जर्मनी अफगानिस्तान जपान यह सब जगह घूम आए तो उन्होंने गवर्नमेंट से डिमांड की है कि वह 23 जनवरी को पेट्रोल-डीजल दिन के रूप में मनाया था कि वह सो गोटन Hero जो हमारे भूले हुए और जो यह स्वतंत्रता दिलवाने में हमारे सहायक तुमको याद करा सके पर मुझे ऐसा लगता है कि कोई भी महान व्यक्ति अगर वह आज जिंदा होते तो वह नहीं चाहते कि उनका जन्म तिथि और उनकी पुण्यतिथि को एक छुट्टी के रूप में मनाया जाए क्योंकि जो भी हमारी यह पुराने जो हमारी यह महान देशभक्त है यह सब काम करने में बिलीव करते थे छुट्टी मतलब आप घर पर बैठोगे और एक 2 साल तो आपको याद रहेगा कि सुभाष चंद्र बोस जी का जन्मदिन था इसे छुट्टी है धीरे-धीरे आप गुस्से को छुट्टी के रूप में याद रखोगे और उसका जो जो उसका ग्राउंड था जो उसकी बेसिक एसेंस थी वह सारी गुम हो जाएगी तो मुझे लगता कि छुट्टी करनी चाहिए उस दिन बल्कि कुछ अच्छा काम किया जाए स्कूल वगैरह में कोई फंक्शन करवाया जाए बारे में बच्चों को बताया जा सके ताकि बच्चों को जान सके बजाएं की छुट्टी करवा दी और घर बैठाया जाए

dekhiye sir main aise kisi par iman se bilkul sahmat nahi hoon aur 23 january ko subhash chandra bose ji ki janam tithi unka janam divas hota hai toh unke university hai subhash chandra bose ki use aaj desh prem divas ya par paira teachers day ke roop mein manane ki baat kahi hai aur aisa kaha hai ki usne ek master holiday bhi ghoshit kiya jaaye YouTube hota hai yah rishta bata gandhi ji ne uthaya hai jo haal filal cpi se express kiye gaye hai unhone subhash chandra bose ki jo heroine tel banane ki vidhi aur unki bahaduri ki kahani hai vaah bataye ki kaise vaah british rule ke dauran house race se nikal kar bhag gaye the aur kaise wahan se vaah germany afghanistan japan yah sab jagah ghum aaye toh unhone government se demand ki hai ki vaah 23 january ko petrol diesel din ke roop mein manaya tha ki vaah so gotan Hero jo hamare bhule hue aur jo yah swatantrata dilwane mein hamare sahayak tumko yaad kara sake par mujhe aisa lagta hai ki koi bhi mahaan vyakti agar vaah aaj zinda hote toh vaah nahi chahte ki unka janam tithi aur unki punyatithi ko ek chhutti ke roop mein manaya jaaye kyonki jo bhi hamari yah purane jo hamari yah mahaan deshbhakt hai yah sab kaam karne mein believe karte the chhutti matlab aap ghar par baithoge aur ek 2 saal toh aapko yaad rahega ki subhash chandra bose ji ka janamdin tha ise chhutti hai dhire dhire aap gusse ko chhutti ke roop mein yaad rakhoge aur uska jo jo uska ground tha jo uski basic essence thi vaah saree gum ho jayegi toh mujhe lagta ki chhutti karni chahiye us din balki kuch accha kaam kiya jaaye school vagera mein koi function karvaya jaaye bare mein baccho ko bataya ja sake taki baccho ko jaan sake bajaye ki chhutti karva di aur ghar baithaya jaaye

देखिए सर मैं ऐसे किसी पर ईमान से बिल्कुल सहमत नहीं हूं और 23 जनवरी को सुभाष चंद्र बोस जी क

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  120
WhatsApp_icon
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे अगर CPMT जो लीडर है व्रत व्रत व्रत व्रत व्रत बनर्जी अगर उन्होंने सुभाष चंद्र को उसके जन्मदिन को देश प्रेम दिवस घोषित कर दिया और उस दिन अवकाश देने की मांग की है तो इसके पीछे जरुर कोई रीज़न होगा वह वह सुभाष चंद्र बोस की जो है वह इतना करते हैं तो वह दिन अवकाश है देना मैं नहीं समझता कि कोई चाहे कोई जरुरी काम होगा क्योंकि अगर वह उतना ही प्रेम करते हैं तो उस दिन अगर वर्किंग डे होगा तो मैं समझता हूं कि वह ज्यादा खुश होंगे वह जहां कहां मैं कहीं भी होंगे अपने देश की प्रगति के लिए कामना करते होंगे और ऊपर से सब देखते होंगे कि कैसा चल रहा है तो मैं समझूंगा क्या करूं दिन बाद चेक दे रखा जाए तो ज्यादा अच्छा काम होगा कि सारे लोग जो है वह दिन काम करेना के घर पर बैठ कर आराम करें

dekhe agar CPMT jo leader hai vrat vrat vrat vrat vrat banerjee agar unhone subhash chandra ko uske janamdin ko desh prem divas ghoshit kar diya aur us din avkash dene ki maang ki hai toh iske peeche zaroor koi region hoga vaah vaah subhash chandra bose ki jo hai vaah itna karte hain toh vaah din avkash hai dena main nahi samajhata ki koi chahen koi zaroori kaam hoga kyonki agar vaah utana hi prem karte hain toh us din agar working day hoga toh main samajhata hoon ki vaah zyada khush honge vaah jaha kahaan main kahin bhi honge apne desh ki pragati ke liye kamna karte honge aur upar se sab dekhte honge ki kaisa chal raha hai toh main samjhunga kya karu din baad check de rakha jaaye toh zyada accha kaam hoga ki saare log jo hai vaah din kaam karena ke ghar par baith kar aaram karen

देखे अगर CPMT जो लीडर है व्रत व्रत व्रत व्रत व्रत बनर्जी अगर उन्होंने सुभाष चंद्र को उसके

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  154
WhatsApp_icon
user

.

Hhhgnbhh

0:60
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां मेरे हिसाब से ऐसा बिल्कुल होना चाहिए| उनके जन्म दिवस को एक देश प्रेम दिवस घोषित कर देना चाहिए| और उस दिन छुट्टी होनी चाहिए| क्योंकि होता क्या है| कि जो छोटे बच्चे होते, आजकल की जो न्यू जनरेशन होती है| वह इतना ज्यादा हिस्ट्री में इंटरेस्ट नहीं ले पाते हैं| उन्हें जादा रोमांचक नहीं लगती है हिस्ट्री| तो अगर ऐसे किसी दिन की छुट्टी होती है| या ऐसा कुछ होता है| कि हाँ एक फेस्टिवल मनाया जा रहा है| ऐसा किसी ने किसी दिन को ऐसा नाम घोषित कर दिया गया है| तो हाँ यह जरूर जानने की कोशिश जरूर करते छोटे बच्चे की ऐसा क्यों हुआ है? या ऐसा क्यों रखा गया है? तो उन्हें भी पता चल पाएगा कि सुभाष चंद्र बोस जी ने क्या उन्होंने हमारे देश के लिए काम करा था| वह कितने जादा निडर थे| और उन्हें कितना कुछ हमारे देश को दिया है| तो मेरे हिसाब से यह बहुत ज्यादा अच्छी चीज़ होगी| यह बहुत बड़ा सम्मान होता है, जो उनको मिलना चाहिए| क्योंकि उन्होंने भारत को हमेशा प्राउड ही कराया है| भारत का सर उन्होंने हमेशा गर्व से ऊंचा ही करा है|

haan mere hisab se aisa bilkul hona chahiye unke janam divas ko ek desh prem divas ghoshit kar dena chahiye aur us din chhutti honi chahiye kyonki hota kya hai ki jo chote bacche hote aajkal ki jo new generation hoti hai vaah itna zyada history mein interest nahi le paate hain unhe zyada romanchak nahi lagti hai history toh agar aise kisi din ki chhutti hoti hai ya aisa kuch hota hai ki haan ek festival manaya ja raha hai aisa kisi ne kisi din ko aisa naam ghoshit kar diya gaya hai toh haan yah zaroor jaanne ki koshish zaroor karte chote bacche ki aisa kyon hua hai ya aisa kyon rakha gaya hai toh unhe bhi pata chal payega ki subhash chandra bose ji ne kya unhone hamare desh ke liye kaam kara tha vaah kitne zyada nidar the aur unhe kitna kuch hamare desh ko diya hai toh mere hisab se yah bahut zyada achi cheez hogi yah bahut bada sammaan hota hai jo unko milna chahiye kyonki unhone bharat ko hamesha proud hi karaya hai bharat ka sir unhone hamesha garv se uncha hi kara hai

हां मेरे हिसाब से ऐसा बिल्कुल होना चाहिए| उनके जन्म दिवस को एक देश प्रेम दिवस घोषित कर देन

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  111
WhatsApp_icon
user

Anukrati

Journalism Graduate

1:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नेताजी हमारे देश के महान स्वतंत्रता संग्रामी थे अंग्रेजों से भारत को आजाद कराने के लिए नेताजी ने कई कठिन प्रयास किए नेताजी एक संपन्न परिवार से थे सिविल सर्विस छोड़ने के बाद उन्होंने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस को ज्वाइन कर लिया परंतु वह गांधीजी के अहिंसा वादी विचारों से सहमत नहीं थे लेकिन दोनों का मकसद एक ही था भारत की अंग्रेजों से आजादी सबसे पहले गांधी जी को राष्ट्रपिता कहकर नेताजी नहीं संबोधित किया था नेताजी का मानना था कि स्वतंत्रता के लिए राजनीतिक गतिविधियों के साथ ही सैन्य सहयोग और कूटनीति की भी जरुरत होती है उन्होंने आजाद हिंद फौज का पूर्ण गठन किया और महिलाओं के लिए रानी झांसी रेजिमेंट गठन किया नेताजी अपनी आजाद हिंद फौज के साथ 1944 में बर्मा गए उन्होंने वही अपना प्रसिद्ध नारा दिया तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आजादी दूंगा नेताजी के बारे में कहा जाता है कि वह एक दूरदर्शी और अपनी देश की भाषा देश को प्रेम करने वाले व्यक्ति थे नेताजी भविष्यदृष्टा थे वे जानते थे कि जिस देश की अपनी राष्ट्रभाषा नहीं होती वह दुनिया के सामने खड़ा नहीं हो सकता उनके कार्य और व्यक्तित्व अधिकतर हिंदी में होते थे नेताजी के बारे में यह सारी बातें जानने के बाद मुझे लगता है कि सीपीएम की बनर्जी मांग रही है

netaji hamare desh ke mahaan swatantrata sangrami the angrejo se bharat ko azad karane ke liye netaji ne kai kathin prayas kiye netaji ek sampann parivar se the civil service chodne ke baad unhone bharatiya rashtriya congress ko join kar liya parantu vaah gandhiji ke ahinsa wadi vicharon se sahmat nahi the lekin dono ka maksad ek hi tha bharat ki angrejo se azadi sabse pehle gandhi ji ko rashtrapita kehkar netaji nahi sambodhit kiya tha netaji ka manana tha ki swatantrata ke liye raajnitik gatividhiyon ke saath hi sainya sahyog aur kootneeti ki bhi zaroorat hoti hai unhone azad hind fauj ka purn gathan kiya aur mahilaon ke liye rani jhansi regiment gathan kiya netaji apni azad hind fauj ke saath 1944 mein burma gaye unhone wahi apna prasiddh naara diya tum mujhe khoon do main tumhe azadi dunga netaji ke bare mein kaha jata hai ki vaah ek doordarshi aur apni desh ki bhasha desh ko prem karne waale vyakti the netaji bhavishyadrishta the ve jante the ki jis desh ki apni rashtrabhasha nahi hoti vaah duniya ke saamne khada nahi ho sakta unke karya aur vyaktitva adhiktar hindi mein hote the netaji ke bare mein yah saree batein jaanne ke baad mujhe lagta hai ki CPM ki banerjee maang rahi hai

नेताजी हमारे देश के महान स्वतंत्रता संग्रामी थे अंग्रेजों से भारत को आजाद कराने के लिए नेत

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  147
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!