पाकिस्तान ने 145 भारतीय मछुआरों को रिहा किया है, भारत को इस भाव को किस तरह से लेना चाहिए?...


play
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

0:56

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे लगता है कि जो कदम पाकिस्तान ने 145 मछुआरों को छोड़कर उठाया तो मुझे लगता है कि हां बिल्कुल यह सारा नहीं करें मैं पाकिस्तान की तरफ से अगर कुछ इस तरह की नई सेट होते तो जो कम पाकिस्तान अच्छा करता है मैं कहता हूं उस की सराहना होनी चाहिए और लेकिन जो काम गलत करता है तो उसकी खेल उसके खिलाफ बोलना भी चाहिए उसको कंडोम भी करना चाहिए जो अभी 145 में शाहरुख को छोड़ने के बाद एक पाकिस्तानी किया तो मुझे लगता है कि अच्छा कदम है हमें सबकी इस कदम की सराहना करनी चाहिए लेकिन इसके अलावा बहुत सारे ऐसे काम होते हैं जो पाकिस्तान ने किया तो मुझे लगता है कि अगर वह एक अच्छा ही करता है तो सब राही वाले काम जरूर पाकिस्तान करता है तो एक अच्छा वाला जो काम है वह सब राय वाले काम को नहीं रख सकता है जिस तरह से उन्होंने कुलभूषण जाधव की फैमिली के साथ किया तो मुझे लगता है कि वह अब मान भी है और बहुत गलत था ऐसा नहीं करना चाहिए था क्या पाकिस्तान उसे अदर कंट्री कोई भी हो

mujhe lagta hai ki jo kadam pakistan ne 145 machhuaron ko chhodkar uthaya toh mujhe lagta hai ki haan bilkul yah saara nahi kare main pakistan ki taraf se agar kuch is tarah ki nayi set hote toh jo kam pakistan accha karta hai kahata hoon us ki sarahana honi chahiye aur lekin jo kaam galat karta hai toh uski khel uske khilaf bolna bhi chahiye usko condom bhi karna chahiye jo abhi 145 mein shahrukh ko chodne ke baad ek pakistani kiya toh mujhe lagta hai ki accha kadam hai hamein sabki is kadam ki sarahana karni chahiye lekin iske alava bahut saare aise kaam hote hain jo pakistan ne kiya toh mujhe lagta hai ki agar vaah ek accha hi karta hai toh sab rahi waale kaam zaroor pakistan karta hai toh ek accha vala jo kaam hai vaah sab rai waale kaam ko nahi rakh sakta hai jis tarah se unhone kulbhushan jadhav ki family ke saath kiya toh mujhe lagta hai ki vaah ab maan bhi hai aur bahut galat tha aisa nahi karna chahiye tha kya pakistan use other country koi bhi ho

मुझे लगता है कि जो कदम पाकिस्तान ने 145 मछुआरों को छोड़कर उठाया तो मुझे लगता है कि हां बिल

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  144
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आप अभी पाकिस्तान ने फ्राइडे को ही 144 भारतीय मछुआरों को रिहा किया वाघा बॉर्डर से जो सारे मछुआरे थे यह गुजरात से बिलॉन्ग करते थे गुजरात के थे और इन्हें अरेस्ट किया गया था पाकिस्तान के द्वारा अलग अलग ओकेजंस पर पिछले 2 से 3 साल के बीच में जो भी गलती से वहां पहुंच गए थे अगर हम बात करें कि भारत को इस भाव को किस तरह से लेना चाहिए किस भाव से इस बात को देना चाहिए तो मैं यह कहूंगा कि इन मछुआरों की कोई गलती नहीं थी उन्होंने कोई क्राइम नहीं किया और उनका हक था वापस आ देश में आना और कम था ऐसा नहीं है कि वह भाड़ के लोगों को सिर्फ जेल में डाल दे जाएंगे और अगर वह छोड़ेंगे तो हम पाकिस्तान के खत्म हो जाएंगे मुझे एसा नहीं लगता स्क्रीन पाकिस्तानी मछुआरों ने कुछ गलती नहीं की है हां अगर को यादव के बारे में उनको छोड़ दे तो शायद हम पाकिस्तान के लिए थोड़ा नरम हो जाए मेरे हिसाब से बट इन मछुआरों को छोड़ना तो उनको छोड़ना ही था कि इन की कोई गलती नहीं है यह जुर्म नहीं किया यह गलती से वहां पहुंचे हैं तो इन को छोड़ने के लिए मुझे लगता नहीं कि भारत को कुल को थैंक यू भी बोलना चाहिए क्योंकि वही मैं फिर कहूंगी कि यह गलती से वहां पहुंचे थे और अभी 18 जनवरी को जनवरी में और भी मछुआरा से जो पाकिस्तान ने कहा है कि वह छोड़ेंगे उन्हें तो अच्छा है फंक्शन कुछ अच्छा काम कर रहा है तू पर भारत को इसको लेकर न्यूट्रल ही रहना चाहिए क्योंकि इन मछुआरों की कोई गलती नहीं है और इन्हे बस उन्होंने गलती से पहुंच गए तो इन लोगों को उन्होंने पकड़ लिया अब तो उनको छोड़ना तो उनको था कि आज नहीं तो कल

dekhiye aap abhi pakistan ne friday ko hi 144 bharatiya machhuaron ko riha kiya bagha border se jo saare machuaare the yah gujarat se Belong karte the gujarat ke the aur inhen arrest kiya gaya tha pakistan ke dwara alag alag okejans par pichle 2 se 3 saal ke beech mein jo bhi galti se wahan pohch gaye the agar hum baat kare ki bharat ko is bhav ko kis tarah se lena chahiye kis bhav se is baat ko dena chahiye toh main yah kahunga ki in machhuaron ki koi galti nahi thi unhone koi crime nahi kiya aur unka haq tha wapas aa desh mein aana aur kam tha aisa nahi hai ki vaah bhad ke logo ko sirf jail mein daal de jaenge aur agar vaah chodenge toh hum pakistan ke khatam ho jaenge mujhe aisa nahi lagta screen pakistani machhuaron ne kuch galti nahi ki hai haan agar ko yadav ke bare mein unko chod de toh shayad hum pakistan ke liye thoda naram ho jaaye mere hisab se but in machhuaron ko chhodna toh unko chhodna hi tha ki in ki koi galti nahi hai yah jurm nahi kiya yah galti se wahan pahuche hain toh in ko chodne ke liye mujhe lagta nahi ki bharat ko kul ko thank you bhi bolna chahiye kyonki wahi main phir kahungi ki yah galti se wahan pahuche the aur abhi 18 january ko january mein aur bhi machuaara se jo pakistan ne kaha hai ki vaah chodenge unhe toh accha hai function kuch accha kaam kar raha hai tu par bharat ko isko lekar neutral hi rehna chahiye kyonki in machhuaron ki koi galti nahi hai aur inhe bus unhone galti se pohch gaye toh in logo ko unhone pakad liya ab toh unko chhodna toh unko tha ki aaj nahi toh kal

देखिए आप अभी पाकिस्तान ने फ्राइडे को ही 144 भारतीय मछुआरों को रिहा किया वाघा बॉर्डर से जो

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  137
WhatsApp_icon
user

.

Hhhgnbhh

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे को ऐसा लगता है, कि जो पाकिस्तान ने हमारे यहां के काफी मछुआरों को छोड़ा है| यह चीज करना उनके लिए काफी सही था| क्योंकि यह उन्हें पहले कर देना चाहिए था| यह वह मछुआरे हैं| जो गुजरात से गलती से या किसी और हमारे बॉर्डर से गलती से दूसरी तरफ पहुंच गए| और यह इन्हें बागा बॉर्डर से छोड़ा गया है| तो यह काम उन्हें आज से पहले कर देना चाहिए था| अगर उन्होंने आज भी करा है| तो उसे यही दिखता है| कि वे भारत से बुरे संबंध नहीं चाहते| वह यह नहीं चाहते कि भारत और उनके बीच के जो संबंध है, और खराब हो| तो मेरे हिसाब से उन्होंने जो चीज़ करी है| वह सही है| हो सकता है, कि जो कुल भूषण जी वाला जो चीज हुई थी | जो उनके परिवार वालों को अच्छे से नहीं ट्रीट किया गया था तो हो सकता है ये उसके लिए थोड़ा सा हो की भारत ज्यादा रियेक्ट ना करें| तो हाँ यह जो चीजें हैं| इससे इतना तो साफ साफ पता चलता है| कि जो पाकिस्तान है, अगर वह यह ऐसा ना चाहता हो, कि उसके भारत से उसके अच्छे संबंध हो| तो यह चीज ना करता| तो कहीं ना कहीं वे यही चाहता है कि भारत से उसके अच्छे संबंध रहे हैं|

mere ko aisa lagta hai ki jo pakistan ne hamare yahan ke kaafi machhuaron ko choda hai yah cheez karna unke liye kaafi sahi tha kyonki yah unhe pehle kar dena chahiye tha yah vaah machuaare hain jo gujarat se galti se ya kisi aur hamare border se galti se dusri taraf pohch gaye aur yah inhen bauga border se choda gaya hai toh yah kaam unhe aaj se pehle kar dena chahiye tha agar unhone aaj bhi kara hai toh use yahi dikhta hai ki ve bharat se bure sambandh nahi chahte vaah yah nahi chahte ki bharat aur unke beech ke jo sambandh hai aur kharab ho toh mere hisab se unhone jo cheez kari hai vaah sahi hai ho sakta hai ki jo kul bhushan ji vala jo cheez hui thi jo unke parivar walon ko acche se nahi treat kiya gaya tha toh ho sakta hai ye uske liye thoda sa ho ki bharat zyada riyekt na kare toh haan yah jo cheezen hain isse itna toh saaf saaf pata chalta hai ki jo pakistan hai agar vaah yah aisa na chahta ho ki uske bharat se uske acche sambandh ho toh yah cheez na karta toh kahin na kahin ve yahi chahta hai ki bharat se uske acche sambandh rahe hain

मेरे को ऐसा लगता है, कि जो पाकिस्तान ने हमारे यहां के काफी मछुआरों को छोड़ा है| यह चीज करन

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  165
WhatsApp_icon
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विजय हाल ही में अभी पाकिस्तान ने 145 भारतीय मछुआरों को जो है वह रिहा किया है अपने भारत को इसको बहुत ही पॉजिटिव ले लेना चाहिए और पाकिस्तान के जो रिलेशन अपनी और बिल्डर बनने की ओर ध्यान देना चाहिए तो मैंने सेट करने वाली बातें अच्छी बातें तो यह हो सकता है कि पाकिस्तान की तरफ से एक पहल है वह कि वह भारत के साथ आपने जो रिलेशन है वह सुधारना चाहता है

vijay haal hi mein abhi pakistan ne 145 bharatiya machhuaron ko jo hai vaah riha kiya hai apne bharat ko isko bahut hi positive le lena chahiye aur pakistan ke jo relation apni aur builder banne ki aur dhyan dena chahiye toh maine set karne wali batein achi batein toh yah ho sakta hai ki pakistan ki taraf se ek pahal hai vaah ki vaah bharat ke saath aapne jo relation hai vaah sudharna chahta hai

विजय हाल ही में अभी पाकिस्तान ने 145 भारतीय मछुआरों को जो है वह रिहा किया है अपने भारत को

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  122
WhatsApp_icon
user

Anukrati

Journalism Graduate

0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पाकिस्तान और भारत अरेबियन सी में जिसमें स्पष्ट रुप से परिभाषित समुद्री सीमा नहीं होती है दूसरे देश से मछली पकड़ने वाले नाविकों के सदस्य को नियमित रूप से गिरफ्तार करते हैं लंबी और धीमी नौकरशाही और कानूनी प्रक्रिया के चलते मच्छीमार आमतौर पर गुडविल जस्टिस के दौरान जारी होने तक कई महीनों तक जेल में रहते हैं हालांकि मछुआरों को वैसे भी जारी कर दिया होता इस समय या कुलभूषण जाधव घटना के लिए भारी आलोचना के बाद उठाया गया एक कदम हो सकता है हमें इस घटना को सद्भावना या गुडविल के संकेत के रूप में लेना चाहिए लेकिन यह नहीं भूलना चाहिए कि पाकिस्तान के कार्य रणनीतिक भी है

pakistan aur bharat arabian si mein jisme spasht roop se paribhashit samudri seema nahi hoti hai dusre desh se machli pakadane waale navikon ke sadasya ko niyamit roop se giraftar karte hain lambi aur dheemi naukarshahi aur kanooni prakriya ke chalte macchimar aamtaur par goodwill justice ke dauran jaari hone tak kai mahinon tak jail mein rehte hain halaki machhuaron ko waise bhi jaari kar diya hota is samay ya kulbhushan jadhav ghatna ke liye bhari aalochana ke baad uthaya gaya ek kadam ho sakta hai hamein is ghatna ko sadbhavana ya goodwill ke sanket ke roop mein lena chahiye lekin yah nahi bhoolna chahiye ki pakistan ke karya rannitik bhi hai

पाकिस्तान और भारत अरेबियन सी में जिसमें स्पष्ट रुप से परिभाषित समुद्री सीमा नहीं होती है द

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  91
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!