मादक पदार्थ कौन हैं? उन्हें किस तरह की मानसिक समस्याएं हैं?...


play
user

Dr. Sarwat Jabeen

Career Counselor

0:48

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इसमें अलग-अलग कैसे कुछ लोग हैं अपनी शॉप से लेते हैं कुछ है जो अपनी परेशानियों को दूर करने के लिए करते हैं कुछ ऐसे हैं जो देखते हैं कि शादी में लोग ले रहे हैं तो फॉलो करते हैं अलग-अलग क्राइटेरिया है हल्का नशा लेने वाले के अलग-अलग कि वह किस लिए उसकी तरफ बढ़े हैं वह उनका अपना फिजिकल लाई और कभी तो ऐसा देखा गया है कि वही लोग इन वर्ल्ड होते हैं जो बहुत ज्यादा सोशल लाइफ से परेशान रहते हैं वही ज्यादा ऐड हो जाते हैं

isme alag alag kaise kuch log hai apni shop se lete hai kuch hai jo apni pareshaniyo ko dur karne ke liye karte hai kuch aise hai jo dekhte hai ki shadi mein log le rahe hai toh follow karte hai alag alag criteria hai halka nasha lene waale ke alag alag ki vaah kis liye uski taraf badhe hai vaah unka apna physical lai aur kabhi toh aisa dekha gaya hai ki wahi log in world hote hai jo bahut zyada social life se pareshan rehte hai wahi zyada aid ho jaate hain

इसमें अलग-अलग कैसे कुछ लोग हैं अपनी शॉप से लेते हैं कुछ है जो अपनी परेशानियों को दूर करने

Romanized Version
Likes  117  Dislikes    views  1510
WhatsApp_icon
8 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr. PRAVINA MISHRA

REHABILITATION PSYCHOLOGIST

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी बिलकुल बिलकुल पर्सनैलिटी डिसऑर्डर न्यू सुपर हीरो की चोरी दिन नहीं होता है उनकी अपराधी प्रवृत्ति होने पर यदि वह कुछ गलत काम करता हो या किसी को टॉर्चर करता है ऐसी स्थिति में यदि उसको डांटा था और वह शर्मिंदा कि ना करें यदि वह तो ऐसी स्थिति में उनके आगे जाकर इस तरह की समस्या हो सकती है

ji bilkul bilkul personality disorder new super hero ki chori din nahi hota hai unki apradhi pravritti hone par yadi wah kuch galat kaam karta ho ya kisi ko torture karta hai aisi sthiti mein yadi usko danta tha aur wah sarminda ki na karein yadi wah toh aisi sthiti mein unke aage jaakar is tarah ki samasya ho sakti hai

जी बिलकुल बिलकुल पर्सनैलिटी डिसऑर्डर न्यू सुपर हीरो की चोरी दिन नहीं होता है उनकी अपराधी प

Romanized Version
Likes  40  Dislikes    views  486
WhatsApp_icon
user

Manisha Jethwani

Psychologist

1:59
Play

Likes  17  Dislikes    views  173
WhatsApp_icon
user

Dr. Sanjeev Tripathi

Clinical Psychologist

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मादक पदार्थ होते हैं उन सभी के मादक पदार्थ जो है वर्तमान समस्याएं उनके कारण होती है तो किसी भी तरह का लंबे समय तक किया जाए वह बहुत ज्यादा मात्रा में किया जा सकता है

maadak padarth hote hain un sabhi ke maadak padarth jo hai vartaman samasyaen unke kaaran hoti hai toh kisi bhi tarah ka lambe samay tak kiya jaye wah bahut zyada matra mein kiya ja sakta hai

मादक पदार्थ होते हैं उन सभी के मादक पदार्थ जो है वर्तमान समस्याएं उनके कारण होती है तो किस

Romanized Version
Likes  40  Dislikes    views  540
WhatsApp_icon
user

SWETA SUREKA

Life Coach

1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेंटल प्रॉब्लम बोलना सही नहीं होगा बस हम उनसे आज काल की परिस्थितियां सही नहीं होगी क्योंकि आज यह सभी जानते हैं कि कोई भी बच्चा जब पैदा होता है वह अपराधी नहीं होता है आई तो उनकी यादों को आसपास की परिस्थितियां ठीक नहीं थी जिसके कारण उन लोग इस रास्ते पर आए या उनका बचपन की उनका मेंटल कंडीशनिंग ऐसा किया गया है वही जो मैंने कहा कि बोल बोल के तो हम लोग खत्म हो जाता है मेंटल कुछ ऐसे भी लोग होते हैं कि जिनका मेंटल कंडीशन ठीक नहीं होता जिसके कारण उन लोगे अपराध का रास्ता चुन लेते हैं तो ब्लॉग ग्रुप वन मोटर कौशल तुम लोग को सही और गलत का उतना समझ ही नहीं होता है और हम लोग नहीं बोल सकते हैं कि सब अपराधी मेंटली होते हैं या सब मेंटली इल लोग अपराधी होते हैं ऐसा नहीं है बहुत सारे पात्र होते हैं जिनके कारण कोई भी अगर अपराध के रास्ते पर चलता है तो सोनी बहुत सारी चीजें

mental problem bolna sahi nahi hoga bus hum unse aaj kaal ki paristhiyaann sahi nahi hogi kyonki aaj yeh sabhi jante hain ki koi bhi baccha jab paida hota hai wah apradhi nahi hota hai I toh unki yaadon ko aaspass ki paristhiyaann theek nahi thi jiske kaaran un log is raste par aaye ya unka bachpan ki unka mental Conditioning aisa kiya gaya hai wahi jo maine kaha ki bol bol ke toh hum log khatam ho jata hai mental kuch aise bhi log hote hain ki jinka mental condition theek nahi hota jiske kaaran un loge apradh ka rasta chun lete hain toh blog group van motor kaushal tum log ko sahi aur galat ka utana samajh hi nahi hota hai aur hum log nahi bol sakte hain ki sab apradhi mentally hote hain ya sab mentally eil log apradhi hote hain aisa nahi hai bahut saare patra hote hain jinke kaaran koi bhi agar apradh ke raste par chalta hai toh sony bahut saree cheezen

मेंटल प्रॉब्लम बोलना सही नहीं होगा बस हम उनसे आज काल की परिस्थितियां सही नहीं होगी क्योंकि

Romanized Version
Likes  98  Dislikes    views  1311
WhatsApp_icon
user

Dr. Pallavee Trivedi

REHABILITATION PSYCHOLOGIST

1:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अरे क्रिमिनल को मानसिक बीमारी ऐसा नहीं कह सकते वैसे तो नॉर्मल और जो बीमार लोग हैं उनके बीच में बहुत बहुत पतली देखा है ऐसा मैं अगर कहूं तो हम लोग को भी कुछ ना कुछ मतलब जल्दी अकोमोडेशन के साथ जोड़ते हैं तो कहते हैं वह तो बहुत सारा पड़ा था वह फट गया और उसने वह टाइम कर दिया ऐसा ही है जैसा भी नहीं हम लोग नहीं कह सकते क्योंकि कुछ लोग जानबूझकर भी नहीं करते उनको भी चीज से आनंद आता है ऐसा भी हम कह सकते हैं तो कहीं ना कहीं बहुत सारी तरह की मानसिक समस्या है अलग-अलग तरीके के टाइम के लिए ज़िम्मेदार हम किसी भी क्रिमिनल को एक लेबल के अंदर नहीं ला सकते अलग-अलग मानसिक समस्याएं और अलग-अलग उसके रिजल्ट कहीं ना कहीं के तौर पर प्रॉब्लम हो सकता है

arre criminal ko mansik bimari aisa nahi keh sakte waise toh normal aur jo bimar log hain unke beech mein bahut bahut patli dekha hai aisa main agar kahun toh hum log ko bhi kuch na kuch matlab jaldi akomodeshan ke saath jodte hain toh kehte hain wah toh bahut saara pada tha wah phat gaya aur usne wah time kar diya aisa hi hai jaisa bhi nahi hum log nahi keh sakte kyonki kuch log janbujhkar bhi nahi karte unko bhi cheez se anand aata hai aisa bhi hum keh sakte hain toh kahin na kahin bahut saree tarah ki mansik samasya hai alag alag tarike ke time ke liye jimmedar hum kisi bhi criminal ko ek lebal ke andar nahi la sakte alag alag mansik samasyaen aur alag alag uske result kahin na kahin ke taur par problem ho sakta hai

अरे क्रिमिनल को मानसिक बीमारी ऐसा नहीं कह सकते वैसे तो नॉर्मल और जो बीमार लोग हैं उनके बीच

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  509
WhatsApp_icon
user

Kankan Sarmah

Psychologist

2:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नशा क्या है पहले तो यह जानना जरूरी करना है क्या है चाहे वह आपका जवाब भी हो सकता है या नशा आजकल के बच्चे में दिखा जाते कि मोबाइल एडिक्शन उसे विटामिन डी जे सही है या फिर जो पोर्न दोनों काफी बहुत देखते हुए एक नशा ही है और कुछ नशा ऐसा भी होता है जिसे क्यों ऐसे ही पागल होते कि मुझे वह चाहिए मुझे चाहिए नशा आपको पहले तो यह डिग्री पे करना जरूरी थी अब किस हिसाब से बोल रहे हो कि एक दूसरे हिसाब से या कोई और दूसरे तरीके से जिसमें नशा तब होते जिसमें आपको लगता है कि यह कनेक्शन मुझे अच्छा लगेगा आई फाइंड कंफर्टेबल जो आपको 1 लीटर मिलता है आपको क्या अच्छा लगता है कि मुझे यह काम करने से मुझे अच्छा लगता है वह जो कि इसका डिसएडवांटेज ऑफ कितना है और इसका एडवांटेजेस कितना है वह सब सब कुछ जानने के बावजूद अगर आप उस काम पर जाते हो जिसमें आपका ओवरऑल ग्रोथ एंड डेवलपमेंट हम पर हो रहा है तो वह आपके लिए एक मिसाल बन जाते हैं इसीलिए तो आपसे अच्छा नहीं है लेकिन उसके बावजूद भी आप ले रहे हो और फिर एक ऐसा टाइम होता है वहीं ऑल डिटेल्स जो आपका ड्रेस में होते हैं तो आप उन पर काबू नहीं हो पाते आप को काबू कर लेते फिर अब उसके हिसाब से चलने के लिए मतलब उनके हिसाब से उसके हिसाब से अब चलने लगते हो तब क्या होते हैं आपके लायक हो जाता 111 नशा ऐसा भी होता है जो हम लोग मेंटल है क्या देने की मेंटल नशा मतलब हम लोग कैसे होते हैं कि मैं अगर यह काम करूंगा तो मुझे अच्छा लगेगा अच्छा लगने का जो हारमोंस होते हैं जो न्यू ट्रांसमीटर हम लोग का वेकेशन होता है ब्रेन में क्या करते हैं अनोखा के बहुत सारे बच्चे होते हैं आजकल हो सब देखते हैं चाहे वह मोबाइल पर हो या घर पे हो या लैपटॉप पर जब भी टाइम मिले डिक्शनरी डिक्शनरी की सेंसिटिविटी नहीं है क्या पीएम मोबाइल मोबाइल गेम्स मोबाइल पर यूट्यूब में यह देखना अच्छा नहीं है

nasha kya hai pehle toh yah janana zaroori karna hai kya hai chahen vaah aapka jawab bhi ho sakta hai ya nasha aajkal ke bacche mein dikha jaate ki mobile addiction use vitamin d je sahi hai ya phir jo porn dono kaafi bahut dekhte hue ek nasha hi hai aur kuch nasha aisa bhi hota hai jise kyon aise hi Pagal hote ki mujhe vaah chahiye mujhe chahiye nasha aapko pehle toh yah degree pe karna zaroori thi ab kis hisab se bol rahe ho ki ek dusre hisab se ya koi aur dusre tarike se jisme nasha tab hote jisme aapko lagta hai ki yah connection mujhe accha lagega I find Comfortable jo aapko 1 litre milta hai aapko kya accha lagta hai ki mujhe yah kaam karne se mujhe accha lagta hai vaah jo ki iska disadvantage of kitna hai aur iska advantages kitna hai vaah sab sab kuch jaanne ke bawajud agar aap us kaam par jaate ho jisme aapka overall growth and development hum par ho raha hai toh vaah aapke liye ek misal ban jaate hai isliye toh aapse accha nahi hai lekin uske bawajud bhi aap le rahe ho aur phir ek aisa time hota hai wahi all details jo aapka dress mein hote hai toh aap un par kabu nahi ho paate aap ko kabu kar lete phir ab uske hisab se chalne ke liye matlab unke hisab se uske hisab se ab chalne lagte ho tab kya hote hai aapke layak ho jata 111 nasha aisa bhi hota hai jo hum log mental hai kya dene ki mental nasha matlab hum log kaise hote hai ki main agar yah kaam karunga toh mujhe accha lagega accha lagne ka jo hormones hote hai jo new transmitter hum log ka vacation hota hai brain mein kya karte hai anokha ke bahut saare bacche hote hai aajkal ho sab dekhte hai chahen vaah mobile par ho ya ghar pe ho ya laptop par jab bhi time mile dictionary dictionary ki sensitivity nahi hai kya pm mobile mobile games mobile par youtube mein yah dekhna accha nahi hai

नशा क्या है पहले तो यह जानना जरूरी करना है क्या है चाहे वह आपका जवाब भी हो सकता है या नशा

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  1724
WhatsApp_icon
user

hema

Clinical Psychologist

1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आ देखें मादक पदार्थ हम उन्हें कहते हैं जो किसी भी तरह से हमारे मानसिक क्षमताओं को प्रभावित करते हमारी सोचने समझने की क्षमताओं को ज्यादा प्रभावित करते हैं और दूसरा हमें उनका नशा जिसे हम कहते हैं हम उनकी आदी हो जाते हैं तो मादक पदार्थ होते नशीले पदार्थ और इनसे होने वाली मानसिक समस्याओं में सबसे पहले तो जो सबसे कॉमन है सबसे पहले डिप्रेशन है फिर उसके बाद ब्राइटनेस सबसे बहुत उन्हें डिसऑर्डर्स हो जाते हैं किसी हल्लुसीनेशंस हैं ऑडिटरी बिच्छू और किसी ना किसी तरह के दिलीप जैन सो जाते हैं जुलूस मल्टीशॉट सो जाते हैं तो यह सारी चीजें बहुत हद तक मानसिक समस्याएं मादक पदार्थों के का नॉटी

aa dekhen maadak padarth hum unhein kehte hain jo kisi bhi tarah se hamare mansik kshamataon ko prabhavit karte hamari sochne samjhne ki kshamataon ko zyada prabhavit karte hain aur doosra humein unka nasha jise hum kehte hain hum unki adi ho jaate hain toh maadak padarth hote nasheele padarth aur inse hone wali mansik samasyaon mein sabse pehle toh jo sabse common hai sabse pehle depression hai phir uske baad brightness sabse bahut unhein disaardars ho jaate hain kisi hallusineshans hain aditari bichhoo aur kisi na kisi tarah ke dilip jain so jaate hain jhullus maltishat so jaate hain toh yeh saree cheezen bahut had tak mansik samasyaen maadak padarthon ke ka naughty

आ देखें मादक पदार्थ हम उन्हें कहते हैं जो किसी भी तरह से हमारे मानसिक क्षमताओं को प्रभावित

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  40
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!