करवा चौथ व्रत के विषय में समझाएं?...


user

Pt.Sudhakar shukla

🦚Birth kundli Specialist🌹 भारत भाग्य विधाता🚩

2:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को करवा चौथ का व्रत किया जाता है या स्त्रियों का मुख्य त्यौहार होता है अर्थात जिसके पति से उसका जीवन यापन बहुत अच्छा होता है वह सभी लोग करती हैं जिनको पति का सुख मिल रहा होता अर्थात औरतें अपने पति को दिखाते हुए व्रत रखती हैं कि हम आपके लिए पूरा दिन भूखे रह सकते हैं अर्थात एक दूसरे के प्रति आकर्षण बनाने के लिए सुहागिन कार्तिक मास की करवा चौथ को अपने पति के दीर्घायु अर्थात उनके लिए अच्छे काम ना करने के लिए व्रत करती हैं या बहुत दिनों से चला आ रहा है एक पेड़ पर जल से भरा लोटा एवं एक करवे में गेहूं भरकर रखते हैं दीवार पर या कागज पर चंद्रमा उसके नीचे शिव जी पार्वती गणेश कार्तिकेय जी की चित्र वाली फोटो और अर्थात शिव जी के परिवार की फोटो पार्वती जी शंकर जी गणेश जी कार्तिकेय जी इस दिन निर्जल व्रत किया जाता है अर्थात महिलाएं कुछ महिलाएं ऐसी भी होती हैं जो जल भी ग्रहण नहीं करती हो लगभग सभी महिलाएं ऐसा ही करती हैं जहां तक वे बताती हैं पीने वाला हम नहीं जानते चंद्रमा को देखकर अर्घ देते हैं फिर भोजन करते हैं इसमें कथा भी औरतें एक दूसरे से अर्थात एक कहानी होती है वह कहानी एक और एक औरत सभी लोगों को सुनाती है और सभी लोग लगभग को जानती हैं लेकिन बार-बार चुनती हैं एक साहूकार और 7 लड़के एक लड़की थी ऐसे कुछ कहानी होती है जिसमे भाभियों की बात सुनते ही कुछ इस प्रकार के हंसी बैंक अभी उसमें होते हैं तथा दूसरे प्रश्न जय हिंद जय भारत भारत माता की जय वंदे मातरम जय श्री राम

kartik mass ki krishna paksh ki chaturthi ko karva chauth ka vrat kiya jata hai ya sthreeyon ka mukhya tyohar hota hai arthat jiske pati se uska jeevan yaapan bahut accha hota hai vaah sabhi log karti hain jinako pati ka sukh mil raha hota arthat auraten apne pati ko dikhate hue vrat rakhti hain ki hum aapke liye pura din bhukhe reh sakte hain arthat ek dusre ke prati aakarshan banane ke liye suhagin kartik mass ki karva chauth ko apne pati ke dirghayu arthat unke liye acche kaam na karne ke liye vrat karti hain ya bahut dino se chala aa raha hai ek ped par jal se bhara lota evam ek karave me gehun bharkar rakhte hain deewaar par ya kagaz par chandrama uske niche shiv ji parvati ganesh kartikey ji ki chitra wali photo aur arthat shiv ji ke parivar ki photo parvati ji shankar ji ganesh ji kartikey ji is din nirjal vrat kiya jata hai arthat mahilaye kuch mahilaye aisi bhi hoti hain jo jal bhi grahan nahi karti ho lagbhag sabhi mahilaye aisa hi karti hain jaha tak ve batati hain peene vala hum nahi jante chandrama ko dekhkar argh dete hain phir bhojan karte hain isme katha bhi auraten ek dusre se arthat ek kahani hoti hai vaah kahani ek aur ek aurat sabhi logo ko sunati hai aur sabhi log lagbhag ko jaanti hain lekin baar baar chunati hain ek sahukar aur 7 ladke ek ladki thi aise kuch kahani hoti hai jisme bhabhiyon ki baat sunte hi kuch is prakar ke hansi bank abhi usme hote hain tatha dusre prashna jai hind jai bharat bharat mata ki jai vande mataram jai shri ram

कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को करवा चौथ का व्रत किया जाता है या स्त्रियों का मुख्

Romanized Version
Likes  77  Dislikes    views  1921
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!