UPSC के इच्छुक अभ्यर्थी किस तरह से नौकरी करते हैं और अपने कार्य जीवन का अध्ययन करते हैं?...


play
user

Kinjalk Pancholi

Entrepreneur educator

1:45

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अति महत्वपूर्ण प्रश्न है क्योंकि कई सारे जो एक्सीडेंट है वह जॉब में हैं और अपने जॉब के साथ करो तैयारी करना चाहते हैं जो कि एक बहुत ही अच्छी बात है परंतु उनका चयन शेर उतना ही बन जाता है क्योंकि जॉब जॉब की भी अपनी जवाबदारी होती है और समय उसमें लगता है तो उस समय नियोजन ही उनके लिए सब ठीक है और नियमित रूप से अगर वह शरीर में से 2 घंटे निकाल पाते हैं तो उससे वह शुरुआत करें और जॉब में है उनके लेकिन अगर वह जहां भी जॉब कर रहे हैं वहां पर उनको अगर कुछ समय निकाल पाए तो वह गाना चाहिए कि जो नशा आए उसके बच्चे हैं कौन की आंधी निगम का लंच ब्रेक है या जो भी उनको टाइम जहां से भी चला सकते हैं अपने ऑफिस टाइमिंग में सेक्स वहां पर वह अपनी पढ़ाई लंबी चोटी के बारे में पता ही नहीं हुआ है या जाने का टाइम नहीं हुआ है और और उसमें काफी समय अपनों को करें उसकी खोपड़ी और उसके बाद ऑफिस के बाद तो नियमित रूप से एक घंटा दो घंटा घर से निकाल पाए तो इस तरह से जो भी नियमित रूप से कुछ महीने तक तैयारी करेंगे तो निश्चित ही उनके काम को काफी सफलता

ati mahatvapurna prashna hai kyonki kai saare jo accident hai vaah job mein hai aur apne job ke saath karo taiyari karna chahte hai jo ki ek bahut hi achi baat hai parantu unka chayan sher utana hi ban jata hai kyonki job job ki bhi apni javabdari hoti hai aur samay usme lagta hai toh us samay niyojan hi unke liye sab theek hai aur niyamit roop se agar vaah sharir mein se 2 ghante nikaal paate hai toh usse vaah shuruat kare aur job mein hai unke lekin agar vaah jaha bhi job kar rahe hai wahan par unko agar kuch samay nikaal paye toh vaah gaana chahiye ki jo nasha aaye uske bacche hai kaun ki aandhi nigam ka lunch break hai ya jo bhi unko time jaha se bhi chala sakte hai apne office timing mein sex wahan par vaah apni padhai lambi choti ke bare mein pata hi nahi hua hai ya jaane ka time nahi hua hai aur aur usme kaafi samay apnon ko kare uski khopdi aur uske baad office ke baad toh niyamit roop se ek ghanta do ghanta ghar se nikaal paye toh is tarah se jo bhi niyamit roop se kuch mahine tak taiyari karenge toh nishchit hi unke kaam ko kaafi safalta

अति महत्वपूर्ण प्रश्न है क्योंकि कई सारे जो एक्सीडेंट है वह जॉब में हैं और अपने जॉब के साथ

Romanized Version
Likes  65  Dislikes    views  841
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

3:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यूपी यूपी सिक्के जो कहीं गेट होते हैं वह किस तरह से नौकरी करते हैं अपने कार्यों का चयन करते हैं योग करने से पहले क्या चीज कहीं ना कहीं रोजगार में व्यस्त होता है डॉक्टरी पेशे में इंजीनियरिंग और मैनेजमेंट के पेशे में बैंकिंग के क्षेत्र में अध्यापन के क्षेत्र में छोटे-मोटे कार्यों में भी वह अपने जीवन सुचारु रुप से जेसीबी जी रहा है उसे जीने की कोशिश करता है इसका घटाएं रिक्शा चालक का बेटा एक मिल सकता है एक किसान की बेटी आईएस बन सकती है एक फल बेचने वाले का पुत्र आईएस बन सकता है तो बताइए चक्का अपना जीवन जीने का एक तरीका था जिन्होंने संघर्ष जीवन जिया कठोरता से जीवन जिया और जीवन में अपने लक्ष्य को प्राप्त किया तो क्या वह आईएस बनने के बाद या सिविल सर्विस में आने के बाद अपनी गरीबी दूर कर लेंगे उन्हें गरीबी दूर करने के लिए नहीं चुना गया उन्हें देश की गरीबी दूर करने के लिए चुना गया क्योंकि उनको उनकी सैलरी से उनका जीवन में सुधार आएगा परिवहन में बदलाव आएगा माता-पिता के जीवन के संघर्ष के दिन दूर होंगे और पुत्र को सम्मान उन्हें आदर उन्हें स्थान देगा क्योंकि जो कुछ भी मिला है वह अपने माता-पिता के अथक प्रयास के बाद मिले एक बेटा या बेटी डिवाइस बनती है तो माता-पिता के खून पसीने का फल उसे मिलता है लेकिन अगर वही बेटा बेटी मेरी जिंदगी के 25 सालों में मुझे क्या मिला जो कुछ किया मैंने किया का पुन मां बाप के दिल पर क्या आप सोचें और अब वर्तमान जीवन में उनका हमेशा अध्ययन करते रहते हैं वैसी कारणों से वह दूसरों के जीवन में भी बदलाव लाने की कोशिश करते हैं नौकरी यूपीएससी से पहले हुई पेशी के बाद व्यक्तिगत जीवन यूपी यूपी के बाद बहुत कुछ निर्भर करता है इंसान की सोच वर्तमान प्रवृत्ति पर एक सोच नहीं रखते शक की प्रवृत्ति एक जैसी नहीं होती एक जैसी नहीं होती इसलिए इन बातों पर विचार करने की जरूरत होती है

up up sikke jo kahin gate hote hai vaah kis tarah se naukri karte hai apne karyo ka chayan karte hai yog karne se pehle kya cheez kahin na kahin rojgar mein vyast hota hai doctari peshe mein Engineering aur management ke peshe mein banking ke kshetra mein adhyapan ke kshetra mein chote mote karyo mein bhi vaah apne jeevan suruchi roop se JCB ji raha hai use jeene ki koshish karta hai iska ghataye riksha chaalak ka beta ek mil sakta hai ek kisan ki beti ias ban sakti hai ek fal bechne waale ka putra ias ban sakta hai toh bataye chakka apna jeevan jeene ka ek tarika tha jinhone sangharsh jeevan jiya kathorata se jeevan jiya aur jeevan mein apne lakshya ko prapt kiya toh kya vaah ias banne ke baad ya civil service mein aane ke baad apni garibi dur kar lenge unhe garibi dur karne ke liye nahi chuna gaya unhe desh ki garibi dur karne ke liye chuna gaya kyonki unko unki salary se unka jeevan mein sudhaar aayega parivahan mein badlav aayega mata pita ke jeevan ke sangharsh ke din dur honge aur putra ko sammaan unhe aadar unhe sthan dega kyonki jo kuch bhi mila hai vaah apne mata pita ke athak prayas ke baad mile ek beta ya beti device banti hai toh mata pita ke khoon pasine ka fal use milta hai lekin agar wahi beta beti meri zindagi ke 25 salon mein mujhe kya mila jo kuch kiya maine kiya ka pun maa baap ke dil par kya aap sochen aur ab vartaman jeevan mein unka hamesha adhyayan karte rehte hai vaisi karanon se vaah dusro ke jeevan mein bhi badlav lane ki koshish karte hai naukri upsc se pehle hui pepsi ke baad vyaktigat jeevan up up ke baad bahut kuch nirbhar karta hai insaan ki soch vartaman pravritti par ek soch nahi rakhte shak ki pravritti ek jaisi nahi hoti ek jaisi nahi hoti isliye in baaton par vichar karne ki zarurat hoti hai

यूपी यूपी सिक्के जो कहीं गेट होते हैं वह किस तरह से नौकरी करते हैं अपने कार्यों का चयन करत

Romanized Version
Likes  34  Dislikes    views  1044
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!