क्या IRS अधिकारी अपनी नौकरी से खुश हैं? IAS और IPS के साथ तुलना करने पर क्या उन्हें पहचान की कमी महसूस नहीं होती?...


user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

1:00
Play

Likes  590  Dislikes    views  6892
WhatsApp_icon
19 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

P Narahari (IAS)

IAS Officer-2001Batch-MP Cadre

1:37

Likes  20  Dislikes    views  1355
WhatsApp_icon
user

Ashok Bajpai

Rtd. Additional Collector P.C.S. Adhikari

1:14
Play

Likes  135  Dislikes    views  2126
WhatsApp_icon
user

Sir Anil

Director - Pratigya IAS Acadmey Bhopal

0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

चाहे वो आईआरएस ओ साहित्य सोचा कि अपनी-अपनी छत में कोई भी नहीं रहता है सभी करते हैं कर्तव्य भारतीय सिविल सर्विसेस के नाते सभी को पद के अनुसार कार्य प्रदान की गई सभी की गर्मी

chahen vo IRS O sahitya socha ki apni apni chhat me koi bhi nahi rehta hai sabhi karte hain kartavya bharatiya civil services ke naate sabhi ko pad ke anusaar karya pradan ki gayi sabhi ki garmi

चाहे वो आईआरएस ओ साहित्य सोचा कि अपनी-अपनी छत में कोई भी नहीं रहता है सभी करते हैं कर्तव्य

Romanized Version
Likes  49  Dislikes    views  420
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  661  Dislikes    views  9447
WhatsApp_icon
user

Ansh jalandra

Motivational speaker & criminal lawyer

0:32
Play

Likes  150  Dislikes    views  2957
WhatsApp_icon
user

Kishan Pal Singh

Director @Bright Future

0:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुड्डी क्योंकि जब बात करते इंडिया नहीं कर पाती है और जो ऑलरेडी पहले से वह कर्मचारी आईपीएस ऑफिसर कर रहे हैं उतना ज्यादा होता है कि इनको भर्ती बोर्ड भी कबूतर उनको काफी घंटे तक काम करने का इंतजार करता रहता है तो दोनों बहुत कम होता है और कभी कभी नहीं होती है लेकिन मोस्ट होता है

guddi kyonki jab baat karte india nahi kar pati hai aur jo already pehle se vaah karmchari ips officer kar rahe hain utana zyada hota hai ki inko bharti board bhi kabootar unko kafi ghante tak kaam karne ka intejar karta rehta hai toh dono bahut kam hota hai aur kabhi kabhi nahi hoti hai lekin most hota hai

गुड्डी क्योंकि जब बात करते इंडिया नहीं कर पाती है और जो ऑलरेडी पहले से वह कर्मचारी आईपीएस

Romanized Version
Likes  60  Dislikes    views  1076
WhatsApp_icon
user

Anil Kumar Jha

Director, RA Institute,Gwalior

0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए काम तो काम होता है यह अपने ऊपर है कि अपन मेडल को लेकर चलते हैं यह तो हिंदुस्तान अपने भारत की अपने देश की सेवा है देश सेवा है तो देश सेवा के पूरे तन मन धन से तन मन से करना चाहिए और यह तो केवल अपना उसको बढ़ावा देने के लिए नोटिस मिलते हैं कि आप उसे अच्छे से काम करें और आपको भी मेडल मिल पाए

dekhie kaam toh kaam hota hai yeh apne upar hai ki apan medal ko lekar chalte hain yeh toh Hindustan apne bharat ki apne desh ki seva hai desh seva hai toh desh seva ke poore tan man dhan se tan man se karna chahiye aur yeh toh keval apna usko badhawa dene ke liye notice milte hain ki aap use acche se kaam karein aur aapko bhi medal mil paye

देखिए काम तो काम होता है यह अपने ऊपर है कि अपन मेडल को लेकर चलते हैं यह तो हिंदुस्तान अपने

Romanized Version
Likes  64  Dislikes    views  1231
WhatsApp_icon
user

PRAMOD KUMAR

Retired IFS Officer | Advisor to TRIFED

4:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा क्या एक आईआरएस अधिकारी आप नौकरी में घुसे और आईएएस आईपीएस के साथ छोड़ने का नौकरी अलग अलग होती है और मेरे स्कोर समिति जिम्मेदारी अलग अलग होता है हमें पहचाना होता तो आपका पहचान आप किसी नौकरी में कर सकते नौकरी से आपका पहचान ज्यादा नहीं बनता की पहचान बनेगा के कार्यशैली से आपके डेडीकेशंस आपका ईमानदारी से और सत्यनारायण जी को देखिए आप सुंदर पिचाई को देखिए इस मंच में होगी प्राइवेट सेक्टर में पूरा विश्व में उनका नाम चर्चित है प्रतिष्ठित ऑफिस उसको देखिए प्रतिष्ठित डॉक्टर को देखिए प्रतिष्ठित इलियास को देखिए तो आपके काम से आपका पे चल बनता है ना कि को चर्बी से बनता है इस आईएएस आईपीएस में ऐसे भी लोग हैं जिनको कोई जानता नहीं वैसे नौकरी करके चले जाते हैं और जहां तक आपका नौकरी का सवाल एआईआरएफ वीडियो सर्विस से जुड़े हुए सरकार का सीधा रेवन्यू जाता है उसका पूरा पुलिस विभाग जो है आईपीएस पुलिस का काम देखते हैं लॉन्ड्री का ऐसा कम दिखते आईएएस का एग्जाम लिस्ट का रूप होता है उनका कार्यकाल 3 वर्ष होती है उसका जरूर बहुत ज्यादा मेरे डीजे की मिलते हैं 8:00 बजे शुरू से लेकर एकदम स्टिकर चार्ज रिपेल के पास डिस्ट्रिक्ट डिस्ट्रिक्ट कोऑर्डिनेटर चुप रहते तो बहुत ज्यादा चांसेस मिलता है उनका पहचान के लिए जो कि दूसरे अधिकारी को मिल नहीं पाते क्योंकि कलेक्टर को एक अहम भूमिका निभाते पुस्तिका सरकार का प्रतिनिधि रूप जिले में सभी प्रकार का नियम क्रियान्वित करते हैं उसके बाद और जब सही बोलते हैं तो कोई भी विभाग में जा सकते हैं ओके ब्रदर सचिव कर भी जा सकते हैं उनका जो जॉब वैराइटीज बहुत ही विभिन्न प्रकार का होता है इसीलिए सभी का फर्स्ट प्लेस आईएस है जरूर से आपको अच्छा दोस्त मिल जाएगा या आपका अच्छा प्रार्थना मिल जाएगा आपको पहचान बनाने के लिए फिर भी है क्या आपका पहचान बनाने के लिए आपका खुद का महीना जब यह क्या सोचते हो ऐसा यह सब सो जाते नौकरी करके चले जाते किसी को पता भी नहीं चलता चलता कुछ आईएएस अफसर से जिनको नामा सुने उनके चीफ इलेक्शन कमिश्नर सारे परिवर्तनशील आए थे उन्होंने इलेक्शंस में पुलिस और किरण का नाम है पुलिस सर्विस बहुत ही अच्छे इनकम टैक्स कमिश्नर का नाम और सुनाओ जोक इनकम टैक्स में बहुत अच्छा काम की इंडियन फॉरेस्ट सर्विस वो सभी सर इसमें एक ही टाइप का होता है एक-एक डिपार्टमेंट में आपको सीनियर पोस्ट हो जाते हो तो आपका हम जिम्मेदारी होती है उसी जिम्मेदार के साथ काम काम करते हो जिसके लिए आपको भेजा था यार पब्लिक सर्विस फॉर पब्लिक का बात सुनते हो उनको प्रॉब्लम सॉल्व करते हो और सरकार के साथ अच्छे तालमेल रखकर विकास कार्य में आवाज में पढ़ाते हो इससे आपका पहचान बनता है आप कितने स्कोर स्कोर कितना से शुरू हो कभी पुष्कर का पहचान जो बनता है वहां पर काम से बनता है ना क्या बस सर्विस से बनते समय 2018 पर देता है और सभी सर्विस आईएस को छोड़ के भाग बहुत खड़ा होता है पुलिस पुलिस पुलिस जनरल स्टोर रूप में काम करते हैं और प्रशासन के अधिकारी कोई भी बुला सकते तो जरूर है कि उनका थोड़ा पहचान बनाने का प्लेटफार्म पर ज्यादा वाइट है स्पेक्ट्रम ज्यादा हुआ है फिर भी आपको बिना काम करोगे तो आपको कोई पहचान करें धन्यवाद

aapne poocha kya ek IRS adhikari aap naukri me ghuse aur IAS ips ke saath chodne ka naukri alag alag hoti hai aur mere score samiti jimmedari alag alag hota hai hamein pehchana hota toh aapka pehchaan aap kisi naukri me kar sakte naukri se aapka pehchaan zyada nahi banta ki pehchaan banega ke karyashaili se aapke dedikeshans aapka imaandaari se aur satyanarayana ji ko dekhiye aap sundar pichai ko dekhiye is manch me hogi private sector me pura vishwa me unka naam charchit hai pratishthit office usko dekhiye pratishthit doctor ko dekhiye pratishthit iliyas ko dekhiye toh aapke kaam se aapka pe chal banta hai na ki ko charbi se banta hai is IAS ips me aise bhi log hain jinako koi jaanta nahi waise naukri karke chale jaate hain aur jaha tak aapka naukri ka sawaal AIRF video service se jude hue sarkar ka seedha revenue jata hai uska pura police vibhag jo hai ips police ka kaam dekhte hain laundry ka aisa kam dikhte IAS ka exam list ka roop hota hai unka karyakal 3 varsh hoti hai uska zaroor bahut zyada mere DJ ki milte hain 8 00 baje shuru se lekar ekdam sticker charge ripel ke paas district district coordinator chup rehte toh bahut zyada chances milta hai unka pehchaan ke liye jo ki dusre adhikari ko mil nahi paate kyonki collector ko ek aham bhumika nibhate pustika sarkar ka pratinidhi roop jile me sabhi prakar ka niyam kriyanwit karte hain uske baad aur jab sahi bolte hain toh koi bhi vibhag me ja sakte hain ok brother sachiv kar bhi ja sakte hain unka jo job vairaitij bahut hi vibhinn prakar ka hota hai isliye sabhi ka first place ias hai zaroor se aapko accha dost mil jaega ya aapka accha prarthna mil jaega aapko pehchaan banane ke liye phir bhi hai kya aapka pehchaan banane ke liye aapka khud ka mahina jab yah kya sochte ho aisa yah sab so jaate naukri karke chale jaate kisi ko pata bhi nahi chalta chalta kuch IAS officer se jinako nama sune unke chief election commissioner saare parivartanshil aaye the unhone elections me police aur kiran ka naam hai police service bahut hi acche income tax commissioner ka naam aur sunao joke income tax me bahut accha kaam ki indian forest service vo sabhi sir isme ek hi type ka hota hai ek ek department me aapko senior post ho jaate ho toh aapka hum jimmedari hoti hai usi zimmedar ke saath kaam kaam karte ho jiske liye aapko bheja tha yaar public service for public ka baat sunte ho unko problem solve karte ho aur sarkar ke saath acche talmel rakhakar vikas karya me awaaz me padhate ho isse aapka pehchaan banta hai aap kitne score score kitna se shuru ho kabhi pushkar ka pehchaan jo banta hai wahan par kaam se banta hai na kya bus service se bante samay 2018 par deta hai aur sabhi service ias ko chhod ke bhag bahut khada hota hai police police police general store roop me kaam karte hain aur prashasan ke adhikari koi bhi bula sakte toh zaroor hai ki unka thoda pehchaan banane ka platform par zyada white hai spectrum zyada hua hai phir bhi aapko bina kaam karoge toh aapko koi pehchaan kare dhanyavad

आपने पूछा क्या एक आईआरएस अधिकारी आप नौकरी में घुसे और आईएएस आईपीएस के साथ छोड़ने का नौकरी

Romanized Version
Likes  738  Dislikes    views  7476
WhatsApp_icon
user

Debidutta Swain

IAS Aspirant | Life Motivational Speaker,Daily Story Teller

0:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए ऐसे स्टूडेंट्स ऑफिस एग्जाम के लिए देता है तो दिमाग लगाता रहता है कि उसको एडमिशन को सही ढंग से पालन करने से चलकर मेहनत करना है बैलेंस कॉर्पोरेट मिले आईपीएल में नहीं आया रे स्पीड में हर किसी को अपनी अपनी अंदाज की रिस्पेक्ट करता रहता है वह सब इसमें वो अपने काम के हिसाब से सलमान को बातें यहां पर सलमान और पहचानता है

dekhiye aise students office exam ke liye deta hai toh dimag lagaata rehta hai ki usko admission ko sahi dhang se palan karne se chalkar mehnat karna hai balance corporate mile IPL mein nahi aaya ray speed mein har kisi ko apni apni andaaz ki respect karta rehta hai vaah sab isme vo apne kaam ke hisab se salman ko batein yahan par salman aur pahachanta hai

देखिए ऐसे स्टूडेंट्स ऑफिस एग्जाम के लिए देता है तो दिमाग लगाता रहता है कि उसको एडमिशन को स

Romanized Version
Likes  63  Dislikes    views  615
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लगता कि यह कोई कमी उनको महसूस होती है मुझे बिल्कुल नहीं लगता कि कोई कमी महसूस होती है क्योंकि आईआरएस ऑफीसर की बहुत सीनियर लेवल की पोस्ट थी और उनको भी एक ऐसी पावर होती है जस्टिफिकेशन की और ने नाश्ते में बसों की स्कूटी कर रहे हैं और पब्लिक ओरिएंटेड करें तो मुझे नहीं लगता कि कुछ प्रॉब्लम होनी चाहिए एनसीआरटी कॉन्प्लेक्स पिलर इंटीरियर होने की जरूरत नहीं है यार ऑफिस मैंने देखी है मेरी इन्फेक्शन देवी है काफी काबिल होते हैं और अच्छे होते हैं और कौन सी डेंट होते हैं शुरू में आपको फीलिंग हुई थी कि मुझे चाहिए तो अभी सो गया तो कुछ महीने बाद कुछ अब तुम चली जाती आप अपने करियर में शुरू हो जाते हैं सबका अच्छा करो

lagta ki yah koi kami unko mahsus hoti hai mujhe bilkul nahi lagta ki koi kami mahsus hoti hai kyonki IRS officer ki bahut senior level ki post thi aur unko bhi ek aisi power hoti hai jastifikeshan ki aur ne naste mein bason ki scooty kar rahe hain aur public oriented karen toh mujhe nahi lagta ki kuch problem honi chahiye ncert kanpleks pillar interior hone ki zaroorat nahi hai yaar office maine dekhi hai meri infection devi hai kafi kaabil hote hain aur acche hote hain aur kaun si dent hote hain shuru mein aapko feeling hui thi ki mujhe chahiye toh abhi so gaya toh kuch mahine baad kuch ab tum chali jaati aap apne career mein shuru ho jaate hain sabka accha karo

लगता कि यह कोई कमी उनको महसूस होती है मुझे बिल्कुल नहीं लगता कि कोई कमी महसूस होती है क्यो

Romanized Version
Likes  236  Dislikes    views  4881
WhatsApp_icon
user

Dinesh Mishra

Theosophists | Accountant

3:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या आईआरएस अधिकारी अपनी नौकरी से खुश रहें आईएएस आईपीएस के साथ तुलना करने पर क्या उन्हें पहचान की कमी महसूस नहीं होती देखिए आईआरएस अधिकारी जिसका कि आई आर आर एस पद के लिए चार्टर के लिए सिलेक्शन हुआ है वह अपनी सीमा से खुश है और आईएएस आईपीएस की तुलना की जाए तो आईपीएस को एक ड्रेस ड्रेस ड्रेस कोड दिया जाता है और आईएएस को की कोई ड्रेस नहीं हुआ करती है तो यह सुनिश्चित रहे आईपीएस और आईएएस मैं यह अंतर है आप प्रश्न यह है आईएएस अपनी कोई ड्रेस चाहता है अथवा नहीं आईएसपी पहचान उसकी कक्ष में झांकी व बैठा करता है उसके बाहर नेम प्लेट पर अंकित होती है दूध जिस वाहन से आईएएस भ्रमण करता है वहां उसकी पहचान लिखी होती है

kya IRS adhikari apni naukri se khush rahein IAS ips ke saath tulna karne par kya unhe pehchaan ki kami mahsus nahi hoti dekhiye IRS adhikari jiska ki I rss rss s pad ke liye charter ke liye selection hua hai vaah apni seema se khush hai aur IAS ips ki tulna ki jaaye toh ips ko ek dress dress dress code diya jata hai aur IAS ko ki koi dress nahi hua karti hai toh yah sunishchit rahe ips aur IAS main yah antar hai aap prashna yah hai IAS apni koi dress chahta hai athva nahi ISP pehchaan uski kaksh mein jhanki v baitha karta hai uske bahar name plate par ankit hoti hai doodh jis vaahan se IAS bhraman karta hai wahan uski pehchaan likhi hoti hai

क्या आईआरएस अधिकारी अपनी नौकरी से खुश रहें आईएएस आईपीएस के साथ तुलना करने पर क्या उन्हें

Romanized Version
Likes  94  Dislikes    views  494
WhatsApp_icon
user

नरसिंह भाटी"कवि नीशू बीकानेरी"।

समाजसेवी,कवि,राजनीतिज्ञ प्रदेश महामंत्री प्र.मंत्री मन की बात राजस्थान।

1:57
Play

Likes  8  Dislikes    views  136
WhatsApp_icon
user

Prakrati

Student, Teacher, Poetess, Writer, Reader, Explorer, Dreamer, Science Person, Literature Lover

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए हमको एग्जाम डेट है चाहे वह यूपीएससी हो जाए जय हो लेट हो गया कोई भी हो हम हमेशा टॉप तो नहीं करते ठीक है कुछ एक रैंकिंग का अंतर होता है कि भाई ठीक है आप इतने में नहीं आ पाए तो इतने में आ गए लेकिन आपने वह कठिन एग्जाम पास किया आपसे कुछ लोग तो आप से ऊपर पहुंच गए पहचान की कमी अधिकारी तो वह भी है उसी लेवल के अधिकारी हैं काफी अच्छा लेवल होता है यह रिश्ता ऐसा नहीं है और जहां ऐसे लोग हैं जिनको एडमिनिस्ट्रेशन में ही जाना है तो वह दुबारा देता है ऐसे बहुत से जिन्होंने क्लियर किया है उनमें से बहुत से हैं पिछले प्रयासों में ir6 है या और कुछ निकले पद प्राप्त किए थे लेकिन करना नहीं तो आदत नहीं है ठीक है अगर आप आईआरएस ऑफीसर बन गया तो छोटी पूछनी है वही फेरन पोस्ट इसमें कोई नहीं होगा और जिसने उसे तो कभी नहीं होगा तो दोबारा प्यार करता है

dekhiye hamko exam date hai chahen vaah upsc ho jaaye jai ho late ho gaya koi bhi ho hum hamesha top toh nahi karte theek hai kuch ek ranking ka antar hota hai ki bhai theek hai aap itne me nahi aa paye toh itne me aa gaye lekin aapne vaah kathin exam paas kiya aapse kuch log toh aap se upar pohch gaye pehchaan ki kami adhikari toh vaah bhi hai usi level ke adhikari hain kaafi accha level hota hai yah rishta aisa nahi hai aur jaha aise log hain jinako administration me hi jana hai toh vaah dubara deta hai aise bahut se jinhone clear kiya hai unmen se bahut se hain pichle prayaso me ir6 hai ya aur kuch nikle pad prapt kiye the lekin karna nahi toh aadat nahi hai theek hai agar aap IRS officer ban gaya toh choti puchani hai wahi fern post isme koi nahi hoga aur jisne use toh kabhi nahi hoga toh dobara pyar karta hai

देखिए हमको एग्जाम डेट है चाहे वह यूपीएससी हो जाए जय हो लेट हो गया कोई भी हो हम हमेशा टॉप त

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  100
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज मैं पी नरहरि साहब के अच्छा बोला आज ऑफिस यूपीएससी के कैंडिडेट धनी होते हैं और उसके बाद से उनके कुछ भी हो लेकिन सही चुनाव में एक आईएएस ऑफिसर की भी उतना ही काबिल और काबिलियत माने जाते हैं जितना एक आईएएस ऑफिसर के होते हैं लेकिन सबकी अपनी अलग-अलग हैं लेकिन सभी होते हैं तो कोई ना खुश नहीं होता है इंडियन रिवेन्यू सर्विस अपने आपको एक ग्रेट के अवसर पर लाना बहुत बड़ी बात है तू कभी भी उनके अंदर बोल तुलना वाली महेश बातें नहीं आती हैं और सारे ही यूपीएससी के ऑफिसर्स खुश होते हैं क्योंकि इतनी बड़ी टॉप एग्जाम को निकालने का जो लोग होते हैं करते हैं और काफी बड़ी इज्जत मिलते हैं और जनता का बहुत बड़ा सपोर्ट होता है देश का होता है तो हमारे लिए कोई भी पोस्ट कोई मतलब दुखत के लिए चाहे कोई समस्या को नहीं हर जगह हमारे को शो करें

aaj main p narhari saheb ke accha bola aaj office upsc ke candidate dhani hote hain aur uske baad se unke kuch bhi ho lekin sahi chunav mein ek IAS officer ki bhi utana hi kaabil aur kabiliyat maane jaate hain jitna ek IAS officer ke hote hain lekin sabki apni alag alag hain lekin sabhi hote hain toh koi na khush nahi hota hai indian revenue service apne aapko ek great ke avsar par lana bahut badi baat hai tu kabhi bhi unke andar bol tulna waali mahesh batein nahi aati hain aur saare hi upsc ke officers khush hote hain kyonki itni badi top exam ko nikalne ka jo log hote hain karte hain aur kafi badi izzat milte hain aur janta ka bahut bada support hota hai desh ka hota hai toh hamare liye koi bhi post koi matlab dukhat ke liye chahen koi samasya ko nahi har jagah hamare ko show kare

आज मैं पी नरहरि साहब के अच्छा बोला आज ऑफिस यूपीएससी के कैंडिडेट धनी होते हैं और उसके बाद स

Romanized Version
Likes  97  Dislikes    views  692
WhatsApp_icon
user

Poonamgupta

housewife

0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां आर्यस अधिकारी अपनी नौकरी से खुश और आईएएस और आईपीएस के साथ तुलना करने पर उन्हें कोई उन्हें उनकी पहचान में कोई कमी नहीं होती है क्योंकि वह भी वही एग्जाम दिए होते हैं जो आईएएस आईपीएस देते हैं बस उनको अलग खेत में ही भेजा जाता है और इसमें इसमें चिंतन करने की कोई जरूरत नहीं है

haan aryas adhikari apni naukri se khush aur IAS aur ips ke saath tulna karne par unhe koi unhe unki pehchaan mein koi kami nahi hoti hai kyonki vaah bhi wahi exam diye hote hain jo IAS ips dete hain bus unko alag khet mein hi bheja jata hai aur isme isme chintan karne ki koi zaroorat nahi hai

हां आर्यस अधिकारी अपनी नौकरी से खुश और आईएएस और आईपीएस के साथ तुलना करने पर उन्हें कोई उन्

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  291
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह को शाम को अच्छा नहीं लग रहा है कि कोई भी आई है से कोई भी आईपीएस है कोई भी आएगा जो अपना होता है वही काम करता है अपना बताइए का कितना होता है आईपीएस बनेगा तो किस बात का कोई भी fs100c का पहचान एक बार बोलता

yah ko shaam ko accha nahi lag raha hai ki koi bhi I hai se koi bhi ips hai koi bhi aayega jo apna hota hai wahi kaam karta hai apna bataiye ka kitna hota hai ips banega toh kis baat ka koi bhi fs100c ka pehchaan ek baar bolta

यह को शाम को अच्छा नहीं लग रहा है कि कोई भी आई है से कोई भी आईपीएस है कोई भी आएगा जो अपना

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  110
WhatsApp_icon
user

Ravi Raj Milan

सर्वेन्ट पब्लिक

6:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आईआरएस सुनाइए आईपीएस आज की डेट में लोग अच्छे पत्र जाते हैं अच्छी शिक्षा ग्रहण करते हैं उनका अच्छा अचार विचार होता है उनकी अच्छी सोच होती है हमेशा अच्छा काम करना चाहते हैं क्यों क्योंकि वह एक ऐसी प्रतिष्ठित जगह पर पहुंच जाते हैं जिस जगह पर उन्हें मान-सम्मान और पैसा सभी कुछ मिलता है लेकिन कुछ लोग होते हैं जो लोग कहते हैं उनको नए सपने दिखाते हैं नए-नए क्रियाकलाप करा दें जिससे कि उनकी सोच पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है जबकि वह जब किसी समय पर एग्जाम दे रहे हो उस समय उनकी सोच इतनी अच्छी होती है इतनी अच्छी होती है कि जितने कि एक देश को निर्माण करने में जैसे व्यक्तियों की जरूरत होती है वैसे ही व्यक्ति होते हैं लेकिन सभी को नहीं कह रहा हूं कुछ लोग होते हैं हमेशा लड़ते रहते हैं लड़के हैं लड़ते लड़ते लड़ते लड़ते हैं लेकिन आज के समय में खराब लोगों की संख्या ज्यादा है अच्छे लोगों की संख्या कम है इसलिए अच्छे लोगों को हमेशा संघर्ष करना पड़ता है हमेशा विरोध झेलना पड़ता है जबकि उनके घर परिवार सभी लोग होते हैं उनको तारीख तक करते हैं बोलते हैं वह कुछ चंद लोग होते हैं जिनके ऊपर हमारे यहां की अर्थव्यवस्था और जो आज की डेट में सुचारू रूप से चल पा रही है उन लोगों की वजह से और चकोर के वजह से कभी नहीं चल पाएगी अभी बस इतना ही वे हमेशा चोरी करते हैं कौन भगा देता नहीं होता नहीं मालूम नहीं मालूम होता बैंक अधिकारी को नहीं मालूम होता है ऐसे ही 50 करोड रुपए आज आप ₹100000 का लोन लेने जाते हैं तो लोन दिलाने के लिए लाइन लगी रहती कि हम आपको लेकिन उसके बीच में कहीं ना कहीं वह मनी भी खत्म होती कि ₹100000 हम सब दिल आएंगे जब हम आपको ₹10000 आपसे ले ₹10000 लेता है इसमें ₹500000000 किसको देता है हर स्तर पर पैसे बहुत चिंता है आप क्या सोचते हो एक सरकारी आदमी जिसकी तनख्वाह 50025 साल में नौकरी लग जाएगी साल में लग जाएगी 20 साल में नौकरी 40 साल नौकरी करें 40 साल नौकरी करने का मुख्य अवयव क्या 1248 480 महीने में 12 चक्का कितने महीने आप यहां नौकरी करेगा और उसकी तनख्वाह जो लिख होटल लिक्विडेशन आफ सैलरीज को मिली होगी उस सैलरी में मात्र 25% उनके घर से निकाल दिया उनको उनके हाथ में रख दीजिए के लिए रास्ता में गांव के अलावा उनके पास में जो भी संपत्ति निकल आती है सरकारी कहीं से तो लाए कहां से अच्छे लोगों को काम करने नहीं देते और जो लोग अच्छे होते हुए भी इसीलिए वह लोग अपना नाक मुंह कान बंद कर लेता है उसको सिर्फ मानते हैं मंदिर में घंटा बजाने वाला व्यक्ति एक राज्य का मुख्यमंत्री बन जाता है और सारे आई उसके ऊपर आई एस आई आर एस आईपीएस सभी के ऊपर जाकर बैठता है क्या सोच होगी उस और वह सब उसके अधीन काम करते हैं कहीं ना कहीं उन लोगों को प्रिंट महसूस होता है इसीलिए वह किसी भी प्रकार के कार्यों में हस्तक्षेप नहीं करते बहुत ज्ञान उठाएं का बहुत ज्ञान है ऐसे ही नहीं बनता कोई आदेश सोचना चाहिए और जो बगैर पढ़े लिखे होते हैं वह उनसे ज्ञान लेना भी नहीं चाहते पूछता भी नहीं चाहते हैं वह सिर्फ आदेश देना चाहते क्यों क्योंकि वह राज्य के मुख्यमंत्री और उनको वह फॉलो करना पड़ता है यह उनकी विडंबना है इसलिए वह कभी भी किसी प्रकार का सजेशन देना ही नहीं पसंद करते वह सिर्फ आदेश का पालन करते हैं और जो लोग फॉलो नहीं करते हैं उनके साथ क्या होता है या आप देख सकते हो एक आईएस अपना रिजाइन तक देने के लिए तैयार है वह आप समझ सकते हैं

IRS sunaiye ips aaj ki date me log acche patra jaate hain achi shiksha grahan karte hain unka accha achaar vichar hota hai unki achi soch hoti hai hamesha accha kaam karna chahte hain kyon kyonki vaah ek aisi pratishthit jagah par pohch jaate hain jis jagah par unhe maan sammaan aur paisa sabhi kuch milta hai lekin kuch log hote hain jo log kehte hain unko naye sapne dikhate hain naye naye kriyakalap kara de jisse ki unki soch par bahut bura prabhav padta hai jabki vaah jab kisi samay par exam de rahe ho us samay unki soch itni achi hoti hai itni achi hoti hai ki jitne ki ek desh ko nirmaan karne me jaise vyaktiyon ki zarurat hoti hai waise hi vyakti hote hain lekin sabhi ko nahi keh raha hoon kuch log hote hain hamesha ladte rehte hain ladke hain ladte ladte ladte ladte hain lekin aaj ke samay me kharab logo ki sankhya zyada hai acche logo ki sankhya kam hai isliye acche logo ko hamesha sangharsh karna padta hai hamesha virodh jhelna padta hai jabki unke ghar parivar sabhi log hote hain unko tarikh tak karte hain bolte hain vaah kuch chand log hote hain jinke upar hamare yahan ki arthavyavastha aur jo aaj ki date me sucharu roop se chal paa rahi hai un logo ki wajah se aur chakor ke wajah se kabhi nahi chal payegi abhi bus itna hi ve hamesha chori karte hain kaun bhaga deta nahi hota nahi maloom nahi maloom hota bank adhikari ko nahi maloom hota hai aise hi 50 crore rupaye aaj aap Rs ka loan lene jaate hain toh loan dilaane ke liye line lagi rehti ki hum aapko lekin uske beech me kahin na kahin vaah money bhi khatam hoti ki Rs hum sab dil aayenge jab hum aapko Rs aapse le Rs leta hai isme Rs kisko deta hai har sthar par paise bahut chinta hai aap kya sochte ho ek sarkari aadmi jiski tankhvaah 50025 saal me naukri lag jayegi saal me lag jayegi 20 saal me naukri 40 saal naukri kare 40 saal naukri karne ka mukhya avyav kya 1248 480 mahine me 12 chakka kitne mahine aap yahan naukri karega aur uski tankhvaah jo likh hotel liquidation of sailrij ko mili hogi us salary me matra 25 unke ghar se nikaal diya unko unke hath me rakh dijiye ke liye rasta me gaon ke alava unke paas me jo bhi sampatti nikal aati hai sarkari kahin se toh laye kaha se acche logo ko kaam karne nahi dete aur jo log acche hote hue bhi isliye vaah log apna nak mooh kaan band kar leta hai usko sirf maante hain mandir me ghanta bajane vala vyakti ek rajya ka mukhyamantri ban jata hai aur saare I uske upar I S I R S ips sabhi ke upar jaakar baithta hai kya soch hogi us aur vaah sab uske adheen kaam karte hain kahin na kahin un logo ko print mehsus hota hai isliye vaah kisi bhi prakar ke karyo me hastakshep nahi karte bahut gyaan uthaye ka bahut gyaan hai aise hi nahi banta koi aadesh sochna chahiye aur jo bagair padhe likhe hote hain vaah unse gyaan lena bhi nahi chahte poochta bhi nahi chahte hain vaah sirf aadesh dena chahte kyon kyonki vaah rajya ke mukhyamantri aur unko vaah follow karna padta hai yah unki widambana hai isliye vaah kabhi bhi kisi prakar ka suggestion dena hi nahi pasand karte vaah sirf aadesh ka palan karte hain aur jo log follow nahi karte hain unke saath kya hota hai ya aap dekh sakte ho ek ias apna resign tak dene ke liye taiyar hai vaah aap samajh sakte hain

आईआरएस सुनाइए आईपीएस आज की डेट में लोग अच्छे पत्र जाते हैं अच्छी शिक्षा ग्रहण करते हैं उनक

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  118
WhatsApp_icon
user

Pragti Tripathi

upsc Aspirant Motivational Speaker For Small Stages

1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसी कोई बात नहीं है हमारे आय आर एस आईएएस आईपीएस एंड आईएएस सारे रेंज के अधिकारी जो जिनका काम है वह अपने आपको उसी में गौरवपूर्ण समझते हैं ऐसा छोटे बड़े वाली फीलिंग नहीं होती है सिर्फ लोगों की जो अंदर की भावना हीन भावना होती है जो उन अफसरों की नहीं होती है जो जो लोग होते हैं उनके होती है कि आगे सोंगी वह तो बहुत बड़े होते हैं बड़े बहुत बड़े ऑफिसर होते हैं जो आईआरएस होते हैं जो आईएस होते हैं वह छोटे बेंज ऐसा कुछ भी नहीं है सबकी अपनी-अपनी काम करने कि आपका काम करने का तरीका सबका एक होता है अपने तरीके से 100 तक कुछ भी नहीं है और ना ही हमारे अधिकारियों में ऐसा कोई भी मतलब होता है कि छोटा बड़ा समझ के एक दूसरे को हीन भावना ही नजर से देखें ऐसा कुछ नहीं है सबका अपना शेड्यूल है सबका अपना काम है एंड तो अपने पूरी ईमानदारी के साथ सारा जिसको जो भी काम सौंपा गया है मारे देश आप पापा क्या करते हैं

aisi koi baat nahi hai hamare aay R S IAS ips and IAS saare range ke adhikari jo jinka kaam hai vaah apne aapko usi me gauravpurn samajhte hain aisa chote bade wali feeling nahi hoti hai sirf logo ki jo andar ki bhavna heen bhavna hoti hai jo un afsaron ki nahi hoti hai jo jo log hote hain unke hoti hai ki aage songi vaah toh bahut bade hote hain bade bahut bade officer hote hain jo IRS hote hain jo ias hote hain vaah chote benj aisa kuch bhi nahi hai sabki apni apni kaam karne ki aapka kaam karne ka tarika sabka ek hota hai apne tarike se 100 tak kuch bhi nahi hai aur na hi hamare adhikaariyo me aisa koi bhi matlab hota hai ki chota bada samajh ke ek dusre ko heen bhavna hi nazar se dekhen aisa kuch nahi hai sabka apna schedule hai sabka apna kaam hai and toh apne puri imaandaari ke saath saara jisko jo bhi kaam saupaan gaya hai maare desh aap papa kya karte hain

ऐसी कोई बात नहीं है हमारे आय आर एस आईएएस आईपीएस एंड आईएएस सारे रेंज के अधिकारी जो जिनका का

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  128
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!