मेरी ज़िंदगी में बहुत सारी समस्याएँ हैं - घर, पैसा, परिवार - हर जगह बस मुसीबतें। मैं इन से निजात कैसे पाऊँ?...


play
user

Dr.Rinita Jain

Consultant psychologist

1:08

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारी जिंदगी में कोई भी समस्या मुसीबत तब तक की है जब तक हम उन्हें मुसीबत बना कर रखें हम उनके बारे में सोचते रहते हैं लेकिन समस्याओं से बाहर निकलने के लिए कुछ करते नहीं हर व्यक्ति की किस्मत एक जैसी नहीं होती कि बैठे बैठे घर पैसा परिवार का सुख मिल जाए लेकिन समस्या है तो समाधान निश्चित सबसे पहले अपनी ताकत और कमजोरियों को समझें कमजोरियों पर नियंत्रण रखने की कोशिश करें लक्ष्य निर्धारण करें अपनी सारी ताकत लक्ष्य प्राप्ति में लगा दे धीरे-धीरे ही सही लेकिन आप अपनी मंजिल तक जरूर पहुंचेंगे लक्ष्य के साथ पहचान है पहचान के साथ घर कैसा परिवार का सुख अगर आपको अपनी ताकत कमजोरियों को पहचानने में दिक्कत है तब अनुभवी व्यक्ति या व्यवसायिक पर ले सकते हैं जो आपकी जिंदगी को दिशा देने में मदद कर सकते हैं

hamari zindagi mein koi bhi samasya musibat tab tak ki hai jab tak hum unhe musibat bana kar rakhen hum unke bare mein sochte rehte hain lekin samasyaon se bahar nikalne ke liye kuch karte nahi har vyakti ki kismat ek jaisi nahi hoti ki baithe baithe ghar paisa parivar ka sukh mil jaaye lekin samasya hai toh samadhan nishchit sabse pehle apni takat aur kamzoriyo ko samajhe kamzoriyo par niyantran rakhne ki koshish kare lakshya nirdharan kare apni saree takat lakshya prapti mein laga de dhire dhire hi sahi lekin aap apni manjil tak zaroor pahunchenge lakshya ke saath pehchaan hai pehchaan ke saath ghar kaisa parivar ka sukh agar aapko apni takat kamzoriyo ko pahachanne mein dikkat hai tab anubhavi vyakti ya vyavasayik par le sakte hain jo aapki zindagi ko disha dene mein madad kar sakte hain

हमारी जिंदगी में कोई भी समस्या मुसीबत तब तक की है जब तक हम उन्हें मुसीबत बना कर रखें हम उन

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  463
WhatsApp_icon
9 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Vikas Singh

Political Analyst

1:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपकी जिंदगी में बहुत समस्या है घर पैसा परिवार मैं आपको बताना चाहता हूं कि दुनिया में कोई भी ऐसा इंसान नहीं है जो परेशान नहीं है जिसके जीवन में समस्या नहीं है आपके पास तो छोटी समस्या है आप आपने शायद वह गाना नहीं सुना होगा कि दुनिया में कितना गम है मेरा गम कितना कम कम है लोगों का गम देखा तो मैं अपना गम भूल गया जब आप जैसे लोगों यह शब्द बोलेंगे कि मेरे पास बहुत समस्या है देखिए आप घबराइए मत समस्या समस्या का समाधान ढूंढना पड़ता है समस्या का सामना करना पड़ता है अगर आपका जीवन मनुष्य का जीवन आपको मिला है तो आप समस्या के साथ लड़ाई लड़ी है समस्या का समाधान निकालिए और मुझसे मुसीबतों से मुसीबतों का सामना करिए आपका जन्म इसलिए धरती पर हुआ है आप जो आप जैसे लोग अगर घबरा जाएंगे अपनी समस्या से तो दुनिया कैसे चलेगी दुनिया नहीं आपका हॉटस्पॉट को मजबूत होना पड़ेगा आपको अपने हौसले मजबूत करने होंगे और समाज के लिए भी कुछ कार्य करना होगा आप अगर हौसले बुलंद करके आप समस्याओं समस्याओं का समाधान ढूंढने के चक्कर में पढ़ोगे तो आपको समस्या का समाधान बहुत आसानी से मिल जाएगा और आप आगे बढ़ो गे आप घबराइए मत आप सकारात्मक सोच के माध्यम से कार्य करिए आपको सफलता अवश्य मिलेगी 1 दिन आपके पास बहुत पैसा होगा आपके घर में खुशहाली होगी और आपका परिवार बहुत सुखी परिवार होगा आप अपनी समस्याओं का समाधान करने के बाद जो गरीब लोग हैं उनके लिए कुछ कार्य करिए और आप जैसे लोगों की जरूरत है जब सभी सवा सौ करोड़ देशवासी मिलजुल कर कार्य करेंगे तभी हमारी देश की गरीबी खत्म होगी तभी हमारे देश को विकसित देश बोला जाएगा धन्यवाद

aapki zindagi mein bahut samasya hai ghar paisa parivar main aapko bataana chahta hoon ki duniya mein koi bhi aisa insaan nahi hai jo pareshan nahi hai jiske jeevan mein samasya nahi hai aapke paas toh choti samasya hai aap aapne shayad vaah gaana nahi suna hoga ki duniya mein kitna gum hai mera gum kitna kam kam hai logo ka gum dekha toh main apna gum bhool gaya jab aap jaise logo yah shabd bolenge ki mere paas bahut samasya hai dekhiye aap ghabaraiye mat samasya samasya ka samadhan dhundhana padta hai samasya ka samana karna padta hai agar aapka jeevan manushya ka jeevan aapko mila hai toh aap samasya ke saath ladai ladi hai samasya ka samadhan nikaliye aur mujhse musibaton se musibaton ka samana kariye aapka janam isliye dharti par hua hai aap jo aap jaise log agar ghabara jaenge apni samasya se toh duniya kaise chalegi duniya nahi aapka hotspot ko majboot hona padega aapko apne hausale majboot karne honge aur samaj ke liye bhi kuch karya karna hoga aap agar hausale buland karke aap samasyaon samasyaon ka samadhan dhundhne ke chakkar mein padhoge toh aapko samasya ka samadhan bahut aasani se mil jaega aur aap aage badho gay aap ghabaraiye mat aap sakaratmak soch ke madhyam se karya kariye aapko safalta avashya milegi 1 din aapke paas bahut paisa hoga aapke ghar mein khushahali hogi aur aapka parivar bahut sukhi parivar hoga aap apni samasyaon ka samadhan karne ke baad jo garib log hain unke liye kuch karya kariye aur aap jaise logo ki zarurat hai jab sabhi sava sau crore deshvasi miljul kar karya karenge tabhi hamari desh ki garibi khatam hogi tabhi hamare desh ko viksit desh bola jaega dhanyavad

आपकी जिंदगी में बहुत समस्या है घर पैसा परिवार मैं आपको बताना चाहता हूं कि दुनिया में कोई भ

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  377
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भाई आपको हम अपने निजी जीवन के एक अनुभव के बारे में बताते हैं मेरी भी जीवन में बहुत सारी समस्याएं थी घर पैसा परिवार हर जगह बस मुसीबत मुसीबत दिखाई देती थी इन समस्याओं से निजात कैसे पाएं इस कल आज तक कोई नहीं दिखता था लेकिन हम अपने अनुभवों से आपको यह जरूर बता सकते हैं कि 2 सबसे आसान तरीके हैं सबसे सरल उपाय है इस समस्या से मुक्त होने का सबसे पहला अपनी इच्छाओं पर नियंत्रण रखना यानी कि जो हमारी सामर्थ्य शक्ति है जो हमारी ताकत है जो हमारी क्षमता है जो मेरे पास संसाधन है उसके आधार पर ही अपनी इच्छाओं का निर्धारण करना अर्थात यानी मेरे पास ₹10 है हम ₹50 के खर्चे की योजना बना लेंगे तो निश्चित रूप से वह ₹40 हम कहां से लाएं उसके लिए तो कष्ट संघर्ष दुख दर्द अवसाद सब कुछ सहना पड़ेगा दूसरा सरल उपाय अपेक्षाओं का त्याग हम जीवन में बहुत अपेक्षा रखते हैं सिर्फ अपने आप से ही नहीं बल्कि यों कहें कि अपने आप से ज्यादा अन्य से रखने लगते हैं अपने रिश्ते से अपने नाते से अपने आसपास के लोगों से अपने काम से अपने संसाधनों से हम इतनी अपेक्षा रखते हैं और वह जब पूरी नहीं होती है तो हम अवसाद ग्रस्त हो जाते हैं और दूसरों पर आ जाते हैं किस कारण से नहीं दबाव के कारण से यह नहीं हुआ तो जब हम अपेक्षाओं का त्याग करना सीख जाएंगे और इच्छा और अपेक्षा दोनों में नियंत्रण स्थापित कर लेंगे दोनों में संतुलन स्थापित कर लेंगे तो हम विश्वास के साथ कह सकते हैं कि आप बहुत सारे दुखों और अवसादो से मुक्त हो जाएंगे और आप अपने आप में संतुष्ट और खुश रहना शुरू कर

bhai aapko hum apne niji jeevan ke ek anubhav ke bare mein batatey hain meri bhi jeevan mein bahut saree samasyaen thi ghar paisa parivar har jagah bus musibat musibat dikhai deti thi in samasyaon se nijat kaise paen is kal aaj tak koi nahi dikhta tha lekin hum apne anubhavon se aapko yah zaroor bata sakte hain ki 2 sabse aasaan tarike hain sabse saral upay hai is samasya se mukt hone ka sabse pehla apni ikchao par niyantran rakhna yani ki jo hamari samarthya shakti hai jo hamari takat hai jo hamari kshamta hai jo mere paas sansadhan hai uske aadhaar par hi apni ikchao ka nirdharan karna arthat yani mere paas Rs hai hum Rs ke kharche ki yojana bana lenge toh nishchit roop se vaah Rs hum kahaan se laye uske liye toh kasht sangharsh dukh dard avsad sab kuch sahna padega doosra saral upay apekshaon ka tyag hum jeevan mein bahut apeksha rakhte hain sirf apne aap se hi nahi balki yo kahein ki apne aap se zyada anya se rakhne lagte hain apne rishte se apne naate se apne aaspass ke logo se apne kaam se apne sansadhano se hum itni apeksha rakhte hain aur vaah jab puri nahi hoti hai toh hum avsad grast ho jaate hain aur dusro par aa jaate hain kis karan se nahi dabaav ke karan se yah nahi hua toh jab hum apekshaon ka tyag karna seekh jaenge aur iccha aur apeksha dono mein niyantran sthapit kar lenge dono mein santulan sthapit kar lenge toh hum vishwas ke saath keh sakte hain ki aap bahut saare dukhon aur avasado se mukt ho jaenge aur aap apne aap mein santusht aur khush rehna shuru kar

भाई आपको हम अपने निजी जीवन के एक अनुभव के बारे में बताते हैं मेरी भी जीवन में बहुत सारी सम

Romanized Version
Likes  63  Dislikes    views  1149
WhatsApp_icon
user

Norang sharma

Social Worker

1:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों मैं नौरंग शर्मा आज बात करने जा रहा हूं जिंदगी में बहुत सारी प्रॉब्लम है घर पैसा परिवार हर जगह बस मुसीबतें इन सब से आप कैसे निजात पाने देखिए अगर समस्याएं हमारे सामने नहीं आएंगे तो हमें महसूस ही नहीं होगा कि हम इस दुनिया में जिंदा है तो यह तो कहीं ना कहीं आप के जिंदा होने का सबूत है कि आप के सामने वह और समस्याओं को ना आप गेंद की तरह से लेना सीखो क्रिकेट देखते हैं ना आप आप देखते हैं कि कोई जो बॉलिंग करवाने वाला खिलाड़ी है वह आपको गेंद फेंक रहा है तो आपको बस उस पर चौके छक्के तो लगानी है लेकिन आप हर बार उसे इतना घबरा जाते हैं कि खुद ही विकेट छोड़ देती हैं कि लो भाई मुझे आउट कर लो तो देखिए जितनी भी मुसीबतें हैं ना वह आपको एक मौका देती हैं कि आप उस पर चौक आया छक्का मार सकते हैं तो यह तो आप पर डिपेंड करता है ना कि आप कितने अच्छे बैट्समैन बनना चाहते हैं आप थोड़ा टुकटुक करके खेलना शुरू तो करिए यह समस्याएं आपको किसी खेल जैसी नजर आएंगी तो मेरा आपसे निवेदन इतना ही है किन समस्याओं से घबराइए मत बल्कि आप दुनिया में आए ही इसीलिए है ताकि आप अपनी और दूसरों की सारी प्रॉब्लम को का हल्ला सके उसका कुछ सॉल्यूशन ला सके आपका मकसद यही है तो फिर जब आपका काम ही यही है तो फिर उस काम से घबराना कैसा है खतरों के खिलाड़ी भी बन सकते हैं और अगर आप उन से घबरा गए क्या आप उनसे अपने कदम पीछे हटा लिए तो फिर आपने उधर बनकर रह जाएंगे तो बनी एक ऐसा खिलाड़ी जिसे हर कोई अपनी टीम में शामिल करना चाहिए जो जिसके साथ भी हो उसे मैच को जीत वादी धन्यवाद

namaskar doston main naurang sharma aaj baat karne ja raha hoon zindagi mein bahut saree problem hai ghar paisa parivar har jagah bus musibatein in sab se aap kaise nijat paane dekhiye agar samasyaen hamare saamne nahi aayenge toh hamein mehsus hi nahi hoga ki hum is duniya mein zinda hai toh yah toh kahin na kahin aap ke zinda hone ka sabut hai ki aap ke saamne vaah aur samasyaon ko na aap gend ki tarah se lena sikho cricket dekhte hain na aap aap dekhte hain ki koi jo bowling karwane vala khiladi hai vaah aapko gend fenk raha hai toh aapko bus us par choake chakke toh lagani hai lekin aap har baar use itna ghabara jaate hain ki khud hi wicket chod deti hain ki lo bhai mujhe out kar lo toh dekhiye jitni bhi musibatein hain na vaah aapko ek mauka deti hain ki aap us par chauk aaya chakka maar sakte hain toh yah toh aap par depend karta hai na ki aap kitne acche batsman banna chahte hain aap thoda tuktuk karke khelna shuru toh kariye yah samasyaen aapko kisi khel jaisi nazar aayengi toh mera aapse nivedan itna hi hai kin samasyaon se ghabaraiye mat balki aap duniya mein aaye hi isliye hai taki aap apni aur dusro ki saree problem ko ka halla sake uska kuch solution la sake aapka maksad yahi hai toh phir jab aapka kaam hi yahi hai toh phir us kaam se ghabrana kaisa hai khataron ke khiladi bhi ban sakte hain aur agar aap un se ghabara gaye kya aap unse apne kadam peeche hata liye toh phir aapne udhar bankar reh jaenge toh bani ek aisa khiladi jise har koi apni team mein shaamil karna chahiye jo jiske saath bhi ho use match ko jeet wadi dhanyavad

नमस्कार दोस्तों मैं नौरंग शर्मा आज बात करने जा रहा हूं जिंदगी में बहुत सारी प्रॉब्लम है घर

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  382
WhatsApp_icon
user

Raj Bahadur

Study Please Subscribe On YouTube

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए हर किसी के पास मुसीबत और दिक्कत होती है आप सोच रहे हैं आपके ही पास है आप गांव घर से बाहर तो निकल लिए तब आपको पता चलेगा कि संसार में कितने लोगों को दुख है और कितने लोगों को सुख हैं पर मैं आपसे ही कहना चाहूंगा कि आप मेहनत करके अपने दुख को सुख में परिवर्तित कर सकते हो

dekhiye har kisi ke paas musibat aur dikkat hoti hai aap soch rahe hain aapke hi paas hai aap gaon ghar se bahar toh nikal liye tab aapko pata chalega ki sansar mein kitne logo ko dukh hai aur kitne logo ko sukh hain par main aapse hi kehna chahunga ki aap mehnat karke apne dukh ko sukh mein parivartit kar sakte ho

देखिए हर किसी के पास मुसीबत और दिक्कत होती है आप सोच रहे हैं आपके ही पास है आप गांव घर से

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  509
WhatsApp_icon
user
2:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरी जिंदगी में बहुत सारी समस्याएं हैं देखें यह जिंदगी है तू समझ जाए तो आती ही रहती है समय से की क्या है आती जाती रहती है तो हमें समस्या और मुसीबतों से नहीं लगाना चाहिए घर ऐसा परिवार हर जगह मुसीबत है ऐसा क्यों कहीं ऐसा होगा कि कहीं आप अंदर से खुद से ज्यादा परेशान होंगे इसलिए आपको हर जगह से पैसा नहीं दिख रही है घर से परेशानी है तब सोच एक ऐसी क्या कमी है जो आप घर से भी परेशान हो तलवार से परेशानी है तो सोचे कि पीड़ित परिवार में या तो आप परिवार को टाइम नहीं दे पाते या परिवार आपको टाइम नहीं दे पाते तो अभी सोचो ना कहां पर कमी हो रही है तो खुद ब खुद निकल जाएगा सूचना हर समस्याओं का हल है पैसा की कमी है तो पैसा की कमी है तो आप सोचिए कोई जरूरी नहीं कोई काम छोटा कोई बड़ा नहीं होता है कुछ भी काम कीजिए जिससे आपको लगे कि हां मतलब हमारे घर में तो पैसा आ सके काम चाहे छोटी बिजनेस सोचा भरी हो जाए हम कोई कंपनी में वर्कर का काम करें यार पढ़े लिखे हो तो सिखा जरा काम पर जाए जिस जिस ढंग के आप हो उसने का आप नौकरी ढूंढ सकते हो कमा सकते हो बृजेश कर सकते हो तो पैसा का प्रमोशन हो जाएगी अगर पहचानो तो देखो कहां पर कमी है आपने क्या कमी है या फैमिली में कमी है तो आप देखो सोचो सब पर गौर करो खुदा खुद रास्ता निकल जाएगा हर समस्या का हल है कभी मुसीबतों से नहीं लगाना चाहिए यह जीवन है समस्या आती जाती रहती है आप हर समस्याओं को हल करो और इतना खुश क्योंकि सामने वाले भी खुश रहो आपको खुद खुश समस्याएं दूर हो जाएगी

meri zindagi mein bahut saree samasyaen hain dekhen yah zindagi hai tu samajh jaaye toh aati hi rehti hai samay se ki kya hai aati jaati rehti hai toh hamein samasya aur musibaton se nahi lagana chahiye ghar aisa parivar har jagah musibat hai aisa kyon kahin aisa hoga ki kahin aap andar se khud se zyada pareshan honge isliye aapko har jagah se paisa nahi dikh rahi hai ghar se pareshani hai tab soch ek aisi kya kami hai jo aap ghar se bhi pareshan ho talwar se pareshani hai toh soche ki peedit parivar mein ya toh aap parivar ko time nahi de paate ya parivar aapko time nahi de paate toh abhi socho na kahaan par kami ho rahi hai toh khud bsp khud nikal jaega soochna har samasyaon ka hal hai paisa ki kami hai toh paisa ki kami hai toh aap sochiye koi zaroori nahi koi kaam chota koi bada nahi hota hai kuch bhi kaam kijiye jisse aapko lage ki haan matlab hamare ghar mein toh paisa aa sake kaam chahen choti business socha bhari ho jaaye hum koi company mein worker ka kaam kare yaar padhe likhe ho toh sikha zara kaam par jaaye jis jis dhang ke aap ho usne ka aap naukri dhundh sakte ho kama sakte ho brijesh kar sakte ho toh paisa ka promotion ho jayegi agar pehchano toh dekho kahaan par kami hai aapne kya kami hai ya family mein kami hai toh aap dekho socho sab par gaur karo khuda khud rasta nikal jaega har samasya ka hal hai kabhi musibaton se nahi lagana chahiye yah jeevan hai samasya aati jaati rehti hai aap har samasyaon ko hal karo aur itna khush kyonki saamne waale bhi khush raho aapko khud khush samasyaen dur ho jayegi

मेरी जिंदगी में बहुत सारी समस्याएं हैं देखें यह जिंदगी है तू समझ जाए तो आती ही रहती है समय

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  410
WhatsApp_icon
user

Chaina Karmakar

Spiritual Healer & Life Coach

1:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सभी की जिंदगी में बहुत सारी समस्याएं होती है घर पैसा परिवार पर यह आपके ऊपर डिपेंड करता है कि आप जिंदगी को किस तरीके से देखते हैं देखा जाए तो कुछ भी नहीं है और अगर देखा जाए सब कुछ है तो इंसान का एटीट्यूड जो है लाइफ डिसाइड करता है कई लोगों को अपनी लाइफ की प्रॉब्लम्स में राई जैसे दिखाई देता है और कई लोगों को पहाड़ जैसा दिखाई देता है आपके सोचने और महसूस करने के ऊपर डिपेंड करता है माइंड बहुत चुकी है यह हमेशा जीवन में जो है वह को ढूंढता है तो आप की ड्यूटी है माइंड को ट्रेन करना कि जीवन में क्या-क्या मिला है ना कि लाख के ट्रक में फसना मोस्ट ऑफ द पीपल लाइट मतलब अभाव अभाव को ही ढूंढते हैं अपने जीवन में क्या मिलता है उसको नहीं ढूंढते हैं तो आप अपने जीवन में एटीट्यूड आफ ग्रिटीट्यूड प्रैक्टिस कीजिए तैलीय और अब खुद सरप्राइस हो जाएंगे क्या आपको जो जो मिला है वह आपके जीवन में जो अभाव है उससे कई गुना ज्यादा है आप एक एक्सपेरिमेंट भी कर सकते हैं एक डायरी ले लीजिए और हर रोज इस में लिखी आपको क्या-क्या मिल रहा है और क्या-क्या मिल रहा है अब देखेंगे आप की डायरी जो है जो मिल रहा है उससे ज्यादा पर जाएगी जो नहीं मिल रहा है जो अभाव है उससे कम इससे आपको मैं आपके माइंड वे स्विच हो जाएगी आपके जीवन में अभिनंदन सारी मुसीबतों से अपने आप अपने कल आएंगे कह रहे थे

sabhi ki zindagi mein bahut saree samasyaen hoti hai ghar paisa parivar par yah aapke upar depend karta hai ki aap zindagi ko kis tarike se dekhte hain dekha jaaye toh kuch bhi nahi hai aur agar dekha jaaye sab kuch hai toh insaan ka attitude jo hai life decide karta hai kai logo ko apni life ki problems mein rai jaise dikhai deta hai aur kai logo ko pahad jaisa dikhai deta hai aapke sochne aur mehsus karne ke upar depend karta hai mind bahut chuki hai yah hamesha jeevan mein jo hai vaah ko dhundhta hai toh aap ki duty hai mind ko train karna ki jeevan mein kya kya mila hai na ki lakh ke truck mein fasana most of the pipal light matlab abhaav abhaav ko hi dhoondhate hain apne jeevan mein kya milta hai usko nahi dhoondhate hain toh aap apne jeevan mein attitude of gritityud practice kijiye tailiya aur ab khud saraprais ho jaenge kya aapko jo jo mila hai vaah aapke jeevan mein jo abhaav hai usse kai guna zyada hai aap ek experiment bhi kar sakte hain ek diary le lijiye aur har roj is mein likhi aapko kya kya mil raha hai aur kya kya mil raha hai ab dekhenge aap ki diary jo hai jo mil raha hai usse zyada par jayegi jo nahi mil raha hai jo abhaav hai usse kam isse aapko main aapke mind ve switch ho jayegi aapke jeevan mein abhinandan saree musibaton se apne aap apne kal aayenge keh rahe the

सभी की जिंदगी में बहुत सारी समस्याएं होती है घर पैसा परिवार पर यह आपके ऊपर डिपेंड करता है

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  480
WhatsApp_icon
user

Rounak Romi Jain

Philosopher - Social Activist

1:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरी जिंदगी में बहुत सारी समस्या है घर पर सब परिवार और हर जगह बस मुसीबतें निजात कैसे पाएं इसके जवाब में मैं आपसे कहना चाहूंगा हर मनुष्य के जीवन में किसने किसी तरह से समस्याएं होती ही है कई लोग आर्थिक परेशानी से पीड़ित हैं कई शारीरिक परेशानी से पीड़ित हैं और कई पारिवारिक समस्याओं से पीड़ित हैं किसी भी तरह की समस्या के समाधान के बारे में में जो चिंतन करने के बाद जो मुझे निष्कर्ष सामने आया है तो वहीं मैं आपसे बांटना चाहूंगा समस्या किसी भी तरह की हो उनका समाधान 3 तरीके से किया जा सकता है सबसे पहले उसकी प्राथमिकताएं तय की जाए कि किस समस्या का समाधान हम स्वयं के स्तर पर कर सकते हैं तू स्वयं जी जान से उस समस्या के समाधान में जुड़ जाए तो एक न एक दिन उसका हमें समाधान मिल ही जाता है कई समस्याएं ऐसी होती है जिसके लिए हमें किसी से परामर्श सहयोग की आवश्यकता होती है यदि हम उसका समाधान अपने परिजनों या मित्रों के साथ अगर मिलकर निकालने का प्रयास करते हैं तो किसी भी सलाह से किसी भी व्यक्ति की सलाह से उसका समाधान आसान हो जाता है क्या मिल सकता है और कुछ समस्याएं हर एक के जीवन में ऐसी होती है जिसके लिए हम स्वयं भी अपने स्तर पर संघर्ष करते हैं जिनका समाधान खोजने के लिए लेकिन नहीं कर पाते तो ऐसी समस्याओं के लिए बेहतर होगा कि उन्हें वक्त पर और ईश्वर पर आस्था रख के उसके चरणों में सौंप दिया जाए समय के साथ ईश्वर उसका समाधान हमारे सामने अवश्य रखेगा ऐसा विश्वास रखें तो इन 3 तरीकों से जो समस्याएं हैं उनके समाधान पाए जा सकते हैं चाहे वह भीतर के समस्याओं आशा है मेरा जवाब आपके लिए उपयोगी होगा

meri zindagi mein bahut saree samasya hai ghar par sab parivar aur har jagah bus musibatein nijat kaise paen iske jawab mein main aapse kehna chahunga har manushya ke jeevan mein kisne kisi tarah se samasyaen hoti hi hai kai log aarthik pareshani se peedit hai kai sharirik pareshani se peedit hai aur kai parivarik samasyaon se peedit hai kisi bhi tarah ki samasya ke samadhan ke bare mein mein jo chintan karne ke baad jo mujhe nishkarsh saamne aaya hai toh wahi main aapse bantana chahunga samasya kisi bhi tarah ki ho unka samadhan 3 tarike se kiya ja sakta hai sabse pehle uski prathamiktaen tay ki jaaye ki kis samasya ka samadhan hum swayam ke sthar par kar sakte hai tu swayam ji jaan se us samasya ke samadhan mein jud jaaye toh ek na ek din uska hamein samadhan mil hi jata hai kai samasyaen aisi hoti hai jiske liye hamein kisi se paramarsh sahyog ki avashyakta hoti hai yadi hum uska samadhan apne parijanon ya mitron ke saath agar milkar nikalne ka prayas karte hai toh kisi bhi salah se kisi bhi vyakti ki salah se uska samadhan aasaan ho jata hai kya mil sakta hai aur kuch samasyaen har ek ke jeevan mein aisi hoti hai jiske liye hum swayam bhi apne sthar par sangharsh karte hai jinka samadhan khojne ke liye lekin nahi kar paate toh aisi samasyaon ke liye behtar hoga ki unhe waqt par aur ishwar par astha rakh ke uske charno mein saunp diya jaaye samay ke saath ishwar uska samadhan hamare saamne avashya rakhega aisa vishwas rakhen toh in 3 trikon se jo samasyaen hai unke samadhan paye ja sakte hai chahen vaah bheetar ke samasyaon asha hai mera jawab aapke liye upyogi hoga

मेरी जिंदगी में बहुत सारी समस्या है घर पर सब परिवार और हर जगह बस मुसीबतें निजात कैसे पाएं

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  349
WhatsApp_icon
user

Mohan Meena

Teacher M.p

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

संयासी बन जाओ जिससे ना तो घर की समस्या गंध पुष्प पैसे की जरूरत होती है ना परिवार की और उसमें बंद कर अपने धर्म के अनुसार साधना करो जिससे अपना जीवन सफल होगा और दूसरों को ज्ञान दो सत्य मार्ग पर चलना जिससे पैसा घर परिवार सभी समस्याएं और मुसीबतें दूर हो जाती है बस सार्थक बंद कर भगवान ईश्वर की सेवा करो

sanyasi ban jao jisse na toh ghar ki samasya gandh pushp paise ki zarurat hoti hai na parivar ki aur usme band kar apne dharm ke anusaar sadhna karo jisse apna jeevan safal hoga aur dusro ko gyaan do satya marg par chalna jisse paisa ghar parivar sabhi samasyaen aur musibatein dur ho jaati hai bus sarthak band kar bhagwan ishwar ki seva karo

संयासी बन जाओ जिससे ना तो घर की समस्या गंध पुष्प पैसे की जरूरत होती है ना परिवार की और उसम

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  80
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
ग्रिटीट्यूड ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!