बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा मोदी जी को देश का बाप बताना क्या ठीक है?...


user
1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए अग्रेसिव रूप में यदि हम किसी व्यक्ति को लगातार प्रश्न पर प्रश्न पर प्रश्न पर प्रश्न करते रहते हैं तो वह अग्रेसिव हो जाता है और संबित पात्रा ने यह जो बात कही है कि मोदी जी देश के बाप हैं तो यह गलत कही है मैं इसका समर्थन नहीं करता हूं दूसरी बात यह है कि संबित पात्रा ने जो बात गई अपने ह्रदय से नहीं किए हम कभी-कभी ऐसा होता है हम आवेश में आकर आपको भी गुस्सा आता हुआ मुझे भी गुस्सा आता है थर्ड पर्सन को भी आवेश आता होगा तो आवेश में आकर कोई व्यक्ति कुछ कह जाता है लेकिन मैं मानता हूं मुझे मानना चाहिए आपको भी मानना चाहिए कि संबित पात्रा को इस पर पुनर्विचार करना चाहिए ऐसा नहीं है कि कोई किसी का वह एक संवैधानिक सीट पर बैठे हुए मोदी जी हां यदि हम सोचे लिया इनफॉर्मल तरीके से देखा जाए तो एक मोदी जी को भी आदर्श मानना चाहिए कि वह मुझे अपने आप पर घमंड है कि मैं ऐसा भारतीय हूं कि जिस भारत की डोर जो एक सुरक्षित हाथों में और मेरा विश्वास है आप को भी मैं विश्वास दिलाता हूं कि जब तक मोदी जी देश के प्रधान सेवक बन के रहेंगे देश हित में काम करेंगे और विश्व शक्ति की राह पर है धन्यवाद

dekhiye aggressive roop me yadi hum kisi vyakti ko lagatar prashna par prashna par prashna par prashna karte rehte hain toh vaah aggressive ho jata hai aur sambit patra ne yah jo baat kahi hai ki modi ji desh ke baap hain toh yah galat kahi hai main iska samarthan nahi karta hoon dusri baat yah hai ki sambit patra ne jo baat gayi apne hriday se nahi kiye hum kabhi kabhi aisa hota hai hum aavesh me aakar aapko bhi gussa aata hua mujhe bhi gussa aata hai third person ko bhi aavesh aata hoga toh aavesh me aakar koi vyakti kuch keh jata hai lekin main maanta hoon mujhe manana chahiye aapko bhi manana chahiye ki sambit patra ko is par punarvichar karna chahiye aisa nahi hai ki koi kisi ka vaah ek samvaidhanik seat par baithe hue modi ji haan yadi hum soche liya informal tarike se dekha jaaye toh ek modi ji ko bhi adarsh manana chahiye ki vaah mujhe apne aap par ghamand hai ki main aisa bharatiya hoon ki jis bharat ki door jo ek surakshit hathon me aur mera vishwas hai aap ko bhi main vishwas dilata hoon ki jab tak modi ji desh ke pradhan sevak ban ke rahenge desh hit me kaam karenge aur vishwa shakti ki raah par hai dhanyavad

देखिए अग्रेसिव रूप में यदि हम किसी व्यक्ति को लगातार प्रश्न पर प्रश्न पर प्रश्न पर प्रश्न

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  85
KooApp_icon
WhatsApp_icon
11 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!